यदि आपको कोई फोटो अच्छी लगती हैं, और उन्हें बिना “वाटर मार्क” के और बड़े उपलब्ध आकार में चाहते हैं तो  यहाँ क्लिक कर “संपर्क” कर सकते हैं।

PayPal Acceptance Mark

कुमाऊँ के विभिन्न खूबसूरत स्थल : (कृपया फोटो को डबल क्लिक करके देखें)

Naini-Jageshwar

Lakhu Udiyar-A Place of Ancient Stone Age man made paintings:

Chitai-Golju Temple-Almora:

सेराघाट, बेरीनाग, कोटगाड़ी, सनगाड़ नौलिंग मंदिर

मुकद्दस रमजान का चांद मुबारक !

पूरे एक वर्ष के लंबे इंतजार के बाद बृहस्पतिवार को सरोवरनगरी में शाम करीब 7.45 बजे मुकद्दस रमजान का चांद नजर आया, तो सर्व धर्म की नगरी नैनीताल में इस्लाम धर्म के मानने वाले हर खास-ओ-आम खुशी से फूल उठे। नगर से कैमल्स बैक पहाड़ी की ओर कुछ ही पलों के लिए नजर आए इस्लामी चांद कलेंडर के नौवे माह-ए-रमजान के चांद के दीदार से लोगों की खुशी का वारा-पार न था। इसके साथ ही साफ हो गया कि पहला रोजा शुक्रवार यानी जुमे के रोज से होगा।

About Admin

मेरा जन्म 26 नवंबर 1972 को हुआ था। मैं नैनीताल, भारत में मूलतः एक पत्रकार हूँ। वर्तमान में मार्च 2010 से राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक समाचार पत्र-राष्ट्रीय सहारा में ब्यूरो चीफ के रूप में कार्य कर रहा हूँ। इससे पहले मैं पांच साल के लिए दैनिक जागरण के लिए काम कर चुका हूँ। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग से ‘नए मीडिया’ विषय पर शोधरत हूँ। फोटोग्राफ़ी मेरा शौक है। मैं NIKON COOLPIX P530 और अडोब फोटोशॉप 7.0 के साथ फोटोग्राफी कर रहा हूँ। फोटोग्राफी मेरे लिए दुनियां की खूबसूरती को अपनी ओर से चिरस्थाई बनाने का बहुत छोटा सा प्रयास है। एक फोटो पत्रकार के रूप में मेरी तस्वीरों को नैनीताल राजभवन सहित विभिन्न प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया, तथा उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती मार्गरेट अलवा द्वारा सम्मानित किया गया है। कुछ चित्रों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं। गूगल अर्थ पर चित्र उपलब्ध कराने वाली पैनोरामियो साइट पर मेरी प्रोफाइल को 18.85 Lacs से भी अधिक हिट्स प्राप्त हैं।पत्रकारिता और फोटोग्राफी के अलावा मुझे कवितायेँ लिखना पसंद है। काव्य क्षेत्र में मैंने नवीन जोशी “नवेन्दु” के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मैंने बहुत सी कुमाउनी कवितायेँ लिखी हैं, कुमाउनी भाषा में मेरा काव्य संकलन उघड़ी आंखोंक स्वींड़ प्रकाशित हो चुका है, जो कि पुस्तक के के साथ ही डिजिटल (PDF) फार्मेट पर भी उपलब्ध होने वाली कुमाउनी की पहली पुस्तक है। मेरी यह पुस्तक गूगल एप्स पर भी उपलब्ध है।

यहां है एक पत्रकार, लेखक, कवि एवं छाया चित्रकार के रूप में मेरी रचनात्मकता, लेख, आलेख, छायाचित्र, कविताएं, हिंदी-कुमाउनी के ब्लॉग आदि कार्यों का पूरा समग्र। मेरी कोशिश है कि यहां नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड और वृहद संदर्भ में देश की विरासत, संस्कृति, इतिहास और वर्तमान को समग्र रूप में संग्रहीत करने की….।

मेरे दिल में बसता है, मेरा नैनीताल, मेरा कुमाऊं और मेरा उत्तराखंड

Similar Posts

1 Comment

  1. I feel as you could probably teach a category regarding how to create a great blog. That is fantastic! I must say, what really got me was your design. You certainly learn how to make your website more than just a rant about an issue. Youve caused it to be feasible for people to connect. Good for you, because not that lots of people know very well what theyre doing.

Leave a Reply

Loading...