उत्तराखंड भी कर रहा है गुजरात चुनाव में भाजपा की मदद

राष्ट्रीय सहारा, 25 नवम्बर 2017

नवीन जोशी, नैनीताल। देश भर की नजरें गुजरात में होने जा रहे विधानसभा चुनावों पर लगी हुई हैं। इस चुनाव में उत्तराखंड भी गुजरात में भाजपा की मदद कर रहा है। उत्तराखंड के चुनिंदा भाजपा नेता ही गुजरात में चुनाव प्रचार के लिए भेजे जा रहे हैं। इन्हीं में से एक, अनुसूचित मोर्चा के उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष मगन लाल शाह के साथ सप्ताह भर के गुजरात प्रवास से वहां की जमीनी हकीकत भांपकर वापस लौटे भाजपा के अनुसूचित मोर्चा के राष्ट्रीय मंत्री दिनेश आर्य का दावा है कि गुजरात में भाजपा की जीत अपने जमीनी कार्यकर्ताओं के बल पर सुनिश्चित है। उल्लेखनीय है कि दिनेश के अलावा सांसद एवं पूर्व सीएम डा. रमेश पोखरियाल निशंक ही गुजरात में अपनी सेवाएं देने गए हैं, जबकि आगे पार्टी के राष्ट्रीय मंत्री तीरथ सिंह रावत गुजरात जाने वाले हैं।

गुजरात में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के साथ चुनाव प्रचार के साथ उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद डा. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’

एक खास बातचीत में दिनेश ने बताया कि गुजरात में भाजपा का न केवल सभी वर्गों में, बल्कि आरक्षण की मांग कर रहे पटेल समुदाय में गहरी पैठ अब भी बरकरार है। हार्दिक पटेल के अनामत आंदोलन के कारण अनुसूचित वर्ग के लोगों में यह संदेश जा रहा है कि कांग्रेस को उनके आरक्षण का हिस्सा खटक रहा है, लिहाजा वे स्वाभाविक तौर पर भाजपा के साथ हो गये हैं।

गुजरात में चुनाव प्रचार के दौरान उत्तराखंड के अनुसूचित मोर्चा के नेता दिनेश आर्य व मगन लाल शाह.

वहीं भाजपा जहां पूरे देश में अभी भी बूथों को मजबूत करने की बात करती है, और बूथों के बल पर पूरे देश में जीत दर्ज कर रही है, वहीं गुजरात में पार्टी का मजबूत संगठन बूथों से भी नीचे पन्ना प्रमुखों के स्तर तक है। पन्ना प्रमुखों को एक बूथ के मतदाताओं की सूची के केवल एक पन्ने यानी 10-15 परिवारों के 40-50 सदस्यों के वोट पार्टी के पक्ष में दिलाने की जिम्मेदारी होती है। दूसरी ओर कांग्रेस के पास गुजरात में न तो नेतृत्व ही है, और न ही निचले स्तर पर कार्यकर्ता ही। कांग्रेस वहां हार्दिक पटेल के साथ केवल मीडिया में जरूर छायी हुई है, जिनका प्रभाव पटेल समुदाय के युवा वर्ग तक सीमित है। ऐसे में कांग्रेस पिछली बार के मुकाबले कुछ सीटें अधिक ले आये तो बहुत है। बताया कि उन्होंने उत्तर गुजरात के सांबरकांठा जिले की गुजरात विस अध्यक्ष रमन लाल बोरा की ईडर सुरक्षित के साथ हिम्मतनगर व प्रांतीज सीटों में जनसंपर्क किया व चुनावी रणनीति की बैठकों में शामिल हुए। हिम्मतनगर से भाजपा के ही विधायक राजेंद्र सिंह चावड़ा विधायक हैं, एवं वे फिर से चुनाव मैदान में हैं, जबकि प्रांतीज से वर्तमान में कांग्रेस के विधायक हैं।

Loading...

नवीन समाचार

मेरा जन्म 26 नवंबर 1972 को हुआ था। मैं नैनीताल, भारत में मूलतः एक पत्रकार हूँ। वर्तमान में मार्च 2010 से राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक समाचार पत्र-राष्ट्रीय सहारा में ब्यूरो चीफ के रूप में कार्य कर रहा हूँ। इससे पहले मैं पांच साल के लिए दैनिक जागरण के लिए काम कर चुका हूँ। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग से ‘नए मीडिया’ विषय पर शोधरत हूँ। फोटोग्राफ़ी मेरा शौक है। मैं NIKON COOLPIX P530 और अडोब फोटोशॉप 7.0 के साथ फोटोग्राफी कर रहा हूँ। फोटोग्राफी मेरे लिए दुनियां की खूबसूरती को अपनी ओर से चिरस्थाई बनाने का बहुत छोटा सा प्रयास है। एक फोटो पत्रकार के रूप में मेरी तस्वीरों को नैनीताल राजभवन सहित विभिन्न प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया, तथा उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती मार्गरेट अलवा द्वारा सम्मानित किया गया है। कुछ चित्रों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं। गूगल अर्थ पर चित्र उपलब्ध कराने वाली पैनोरामियो साइट पर मेरी प्रोफाइल को 18.85 Lacs से भी अधिक हिट्स प्राप्त हैं।पत्रकारिता और फोटोग्राफी के अलावा मुझे कवितायेँ लिखना पसंद है। काव्य क्षेत्र में मैंने नवीन जोशी “नवेन्दु” के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मैंने बहुत सी कुमाउनी कवितायेँ लिखी हैं, कुमाउनी भाषा में मेरा काव्य संकलन उघड़ी आंखोंक स्वींड़ प्रकाशित हो चुका है, जो कि पुस्तक के के साथ ही डिजिटल (PDF) फार्मेट पर भी उपलब्ध होने वाली कुमाउनी की पहली पुस्तक है। मेरी यह पुस्तक गूगल एप्स पर भी उपलब्ध है। ’ यहां है एक पत्रकार, लेखक, कवि एवं छाया चित्रकार के रूप में मेरी रचनात्मकता, लेख, आलेख, छायाचित्र, कविताएं, हिंदी-कुमाउनी के ब्लॉग आदि कार्यों का पूरा समग्र। मेरी कोशिश है कि यहां नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड और वृहद संदर्भ में देश की विरासत, संस्कृति, इतिहास और वर्तमान को समग्र रूप में संग्रहीत करने की….। मेरे दिल में बसता है, मेरा नैनीताल, मेरा कुमाऊं और मेरा उत्तराखंड

Leave a Reply

%d bloggers like this: