विज्ञापन सड़क किनारे होर्डिंग पर लगाते हैं, और समाचार समाचार माध्यमों में निःशुल्क छपवाते हैं। समाचार माध्यम कैसे चलेंगे....? कभी सोचा है ? उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.7 मिलियन यानी 1.37 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

July 25, 2024

अल्मोड़ा में 4 वनकर्मियों की मौत पर 3 वनाधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई, घायल वन कर्मियों को एयर एंबुलेंस से एम्स दिल्ली भेजा…

0
Suchana na dene par Jurmama, Karrwai,

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 14 जून, 2024 (Action against 3 forest officers on 4 death Case)। उत्तराखंड के अल्मोड़ा जनपद के बिनसर क्षेत्र में जंगल की आग की चपेट में आकर चार वनकर्मियों की मौत के मामले में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सख्त रुख अपनाया है। इस मामले में तीन अधिकारियों पर गाज गिरी है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बिनसर वन्य जीव अभयारण्य में वनाग्नि से वनकर्मियों के हताहत होने की घटना को अत्यंत पीड़ादायक बताया है और इस पूरे प्रकरण में लापरवाह अधिकारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई कर दी है।

https://deepskyblue-swallow-958027.hostingersite.com/major-forest-fire-accident-4-forest-worker-burnt/

इन अधिकारियों पर हुई कार्रवाई

Action against 3 forest officers on 4 death Case, Uttarakhand cabinet reshuffle Karmchariमुख्यमंत्री ने बताया कि वनाग्नि नियंत्रण हेतु संचालित कार्यों में कोताही बरतने पर प्रभागीय वनाधिकारी अल्मोड़ा एवं वन संरक्षक-उत्तरी कुमाऊं को निलंबित और मुख्य वन संरक्षक-कुमाऊं को मुख्यालय में संबद्ध किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि सरकार वनाग्नि पर नियंत्रण पाने के लिए लगातार गंभीरता से कार्य कर रही है। विभाग के सभी अधिकारी और कार्मिक पूरी सजगता के साथ जारी किए गए निर्देशों का अनुपालन करना सुनिश्चित करें।

एयर एंबुलेंस से भेजा एम्स दिल्ली (Action against 3 forest officers on 4 death Case)

इस कार्रवाई के साथ ही इस घटना में बुरी तरह से झुलसे घायल वन कर्मियों को हवाई सेवा के जरिये एम्स दिल्ली भिजवा दिया गया है। प्रशासनिक जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर अल्मोड़ा के बिनसर क्षेत्र में हुई वन अग्नि में गंभीर रूप से झुलस कर घायल हुए और डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय हल्द्वानी में भर्ती वन कर्मी कृष्ण कुमार (44) और पीआरडी जवान कुंदन सिंह को एयरलिफ्ट करके दिल्ली एम्स भेजा गया। इसके बाद कैलाश भट्ट और भगवत सिंह को भेजा गया।

बता दें कि, कृष्ण कुमार फायर वाचर निवासी भेटुली अल्मोड़ा 82 प्रतिशत जले हैं। इनकी स्थिति चिंंताजनक बनी हुई है। उधर कैलाश भट्ट उम्र (45) दैनिक श्रमिक निवासी घनेली अल्मोड़ा 42% प्रतिशत, कुंदन सिंह (42) पीआरडी जवान निवासी खाखरी 40% जबकि भगवत सिंह (36) चालक निवासी भेटुली आयरपानी 50% प्रतिशत जले हैं।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार शाम को बिनसर अभयारण्य में लगी जंगल की आग बुझाने पहुंचे वन विभाग के एक वन बीट अधिकारी व दो फायर वाचर व एक वन श्रमिक यानी चार लोगों की जिंदा जलकर मौत हो गई थी। जबकि चार अभी भी गंभीर हैं।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (Action against 3 forest officers on 4 death Case, Action, Karrwai, Forest officers, Death of 4 forest workers, Almora, Binsar, AIIMS Delhi, Air Ambulance)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :