विज्ञापन सड़क किनारे होर्डिंग पर लगाते हैं, और समाचार समाचार माध्यमों में निःशुल्क छपवाते हैं। समाचार माध्यम कैसे चलेंगे....? कभी सोचा है ? उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.7 मिलियन यानी 1.37 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

July 25, 2024

बिना लाइसेंस-बिना डिग्री के चिकित्सकों के चल रहे दो चिकित्सालय सील, 5 पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना

0
Suchana na dene par Jurmama, Karrwai,

नवीन समाचार, रुड़की, 26 मई 2024 (Action onHospital Running without license-Degree)। उत्तराखंड में कई चिकित्सालय फर्जी तरीके से बिना पंजीकरण के चल रहे हैं। उनमें चिकित्सक भी जरूरी योग्यता वाले नहीं हैं। ऐसे चिकित्सालयों पर कार्रवाई करते हुये स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीम ने हरिद्वार जनपद के रुड़की में छापेमारी के दौरान दो चिकित्सालयों को सील करने की कारवाई की है। इसके साथ ही टीम ने चार चिकित्सालयों पर 50-50 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है।

(Action onHospital Running without license-Degree, Section 144 removed from Lalkuan City,प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीम ने ऐसे चिकित्सालयों पर छापेमारी की। इस मामले में रुड़की के सिविल चिकित्सालय के सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि उन्होंने नगर के 6 चिकित्सालयों का निरीक्षण किया। इस दौरान चिकित्सालयों के लाइसेंस और चिकित्सकों की डिग्री आदि की जांच की गई।

बिना डिग्री वाले चिकित्सक कर रहे रोगियों का उपचार (Action onHospital Running without license-Degree)

उन्होंने बताया कि चिकित्सालयों द्वारा चिकित्सकों की कोई डिग्री आदि नहीं दिखाई। इस पर उन्हें 24 घंटे का समय दिया गया। इस पर एक चिकित्सालय को छोड़कर अन्य 5 कोई कागजात नहीं दिखा पाए। सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि इसके बाद आज तहसीलदार रेखा आर्य के नेतृत्व में इन 5 चिकित्सालयों में फिर से छापेमारी की गई, जहां पर पाया गया कि बिना डिग्री वाले चिकित्सक और स्टाफ के लोग रोगियों का उपचार कर रहे हैं।

महिलाओं के प्रसव और ऑपरेशन आदि भी कर रहे थे (Action onHospital Running without license-Degree)

यही नहीं वह महिलाओं के प्रसव और ऑपरेशन आदि भी कर रहे हैं। ऐसे दो चिकित्सालयों को सील किया गया है और इन चिकित्सालयों में भर्ती मरीजों को सिविल चिकित्सालय में शिफ्ट किया गया है। जबकि अन्य चार चिकित्सालयों पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। (Action onHospital Running without license-Degree)

तहसीलदार रेखा आर्य ने बताया कि कार्रवाई अभी जारी है। भविष्य में भी इस प्रकार की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि लोगों की जान से खिलवाड़ करने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जायेगा। इस दौरान अन्य चिकित्सालय संचालकों में भी हड़कंप मचा रहा। (Action onHospital Running without license-Degree)

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (Action onHospital Running without license-Degree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :