Court News News

महिला अधिवक्ता से साथी अधिवक्ता ने किया ब्लैकमेल कर दुष्कर्म

Nainital News : शासन ने दो और सरकारी अधिवक्ताओं को हटाया, कोर्ट में प्रभावी  पैरवी न करने पर सरकार नाराज - Government removed two more government  advocatesनवीन समाचार, हरिद्वार, 24 नवंबर 2022। देवभूमि उत्तराखंड को ‘देवीभूमि’ बनाने की बात भी हो रही है, लेकिन राज्य में महिला उत्पीड़न के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। यहां हरिद्वार कोतवाली पुलिस ने एक महिला अधिवक्ता के साथ उसके ही साथी पुरुष अधिवक्ता द्वारा दुष्कर्म किए जाने पर अभियोग दर्ज किया गया है। बताया गया है कि मूलतः पीड़िता ने आरोपित के खिलाफ टिहरी जिले के मुनी की रेती थाने में जीरो एफआईआर दर्ज करवाई थी, जिसे यहां स्थानांतरित किया गया है। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी में बस में महिलाओं से अभद्रता कर दो पुलिस कर्मियों ने खाकी को किया शर्मसार

हरिद्वार कोतवाली पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार हरिद्वार के कनखल थाना क्षेत्र की रहने वाली महिला अधिवक्ता के 2 वर्ष पूर्व कनखल निवासी अधिवक्ता अनुराग चौधरी ने एडिट कर कुछ अश्लील फोटो बनाए थे। इनके आधार पर वह उसे ब्लैकमेल कर रहा था। आरोप है कि गत 28 अक्टूबर को अनुराग इन फोटो को उसके परिजनों को भेजने की धमकी देकर उसे शिवपुरी के एक होटल में ले गया और वहां उसके साथ दुष्कर्म किया। यह भी पढ़ें : सनसनीखेज मामला: कोतवाल पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली युवती अन्य पुरुष के साथ होटल से गिरफ्तार

विरोध करने पर गाली-गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी भी दी। प्रारंभिक घटनास्थल शहर कोतवाली का था इसलिए मुनी की रेती पुलिस ने इस मामले को शहर कोतवाली हरिद्वार को स्थानांतरित कर दिया है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक राकेंद्र ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : न्यायिक राजधानी के अस्तित्व को बचाने के लिये हर लड़ाई लड़ने का लिया संकल्प

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 अक्तूबर 2022। जिला बार एसोसिएशन नैनीताल ने मुख्यालय से न्यायिक कोर्ट के स्थानांतरण पर बुधवार को बैठक आयोजित कर कड़ा विरोध दर्ज किया। जिला बार के अध्यक्ष नीरज साह ने कहा कि प्रदेश की न्यायिक राजधानी से छेड़छाड़ किसी हालात में बर्दाश्त नही की जायेगी। सचिव दीपक रुबाली ने कहा कि इस मामले में जिस स्तर तक भी जाना पड़ेगा, जाएंगे। अन्य सभी अधिवक्ताओं ने भी एक स्वर में जिला कार्यकारणी के हर फैसले के समर्थन में हामी भर एकजुट होने का संकल्प जताया। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से दीपावली पर अपने प्रियजनों को शुभकामना संदेश दें मात्र 500 रुपए में… संपर्क करें 8077566792, 9412037779 पर, अपना संदेश भेजें saharanavinjoshi@gmail.com पर… यह भी पढ़ें : सोशल मीडिया पर आए एक वीडियो के बाद तीन पुलिस कर्मियों पर डीआईजी ने की प्रशासनिक कार्रवाई…

उल्लेखनीय है कि नैनीताल जिला मुख्यालय से पिछले दिनों पीसी एक्ट यानी भ्रष्टाचार निवारण अदालत का स्थानांतरण हल्द्वानी कर दिया गया। इसे लेकर अधिवक्ता पिछले कई दिनों से अपना कोट व बैंड उतारकर जिला न्यायलय में रोज प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी को लेकर बुधवार को अधिवक्ता संघ द्वारा बैठक आयोजित की गयी थी। बैठक में सभी अधिवक्ताआंे ने एक स्वर में इस फैसले पर अपना कड़ा विरोध दर्ज किया। यह भी पढ़ें : कलयुगी पिता ने अपनी ही 12 व 14 साल की नाबालिग बेटियों से किया दुष्कर्म का प्रयास, विरोध करने पर पत्नी को पीटा…

बैठक में बार एसोसिएशन के संजय सुयाल, तरुण चंद्रा, उमेश कांडपाल, किरन आर्य, शिवांशु जोशी, गंगा सिंह बोरा, राजेश त्रिपाठी, राजेन्द्र पाठक, हरिशंकर कंसल, अरुण बिष्ट, मनीष मोहन जोशी, महेंद्र पाल, अखिल साह, ओंकार गोस्वामी, अखिल साह, यशवंत बिष्ट, राजेश चंदोला, ज्योति प्रकाश, एमबी सिंह, हरीश भट्ट, एमएस मेर, गिरीश जोशी, प्रताप पडियार, पंकज कुलौरा, बलवंत थलाल, भरत भट्ट, दयाकिशन पोखरिया, गिरीश बहुखंडी, कैलाश जोशी, कैलाश बल्यूटिया, अशोक मौलेखी, प्रकाश पांडेय, पंकज कुमार फैजल साह अनिल हर्नवाल कमल चिलवाल सुभाष जोशी शंकर सिंह चौहान मुकेश कुमार नीलेश भट्ट मनोज लोहनी निखिल बिष्ट अनिल बिष्ट ललित मोहन जोशी संजय त्रिपाठी जगदीश मौलखी संजय कुमार संजू नवीन पंत रवि आर्य अनिल आर्य सुनील कुमार दीपक तिवारी संतोष आगरी हरीश कुमार हितेश पाठक अर्चित गुप्ता अनिल प्रीति साह जयंत नैनवाल मो खुर्शीद गजेंद्र सिंह मेहरा यूनिस खान कमलेश बिष्ट हेमंत आर्या निर्मल कुमार नीरज प्रमोद बहुगुणा अंशुल ह्यांकी हेमंत धुसिया मो अबरार आनंद सिंह कनवाल मो दानिश राजेन्द्र बोरा शारीक अली मो अनीस सौरभ बिष्ट रवि कुमार मोहम्मद अली सरिता बिष्ट स्वाति बोरा मुन्नी आर्या कमला अधिकारी जया आर्या कविता जोशी भारती आर्या अलीजा अली जोया अंसारी हेमा बहुगुणा सिम्मी अली गौतम कुमार आदि मौजूद रहे। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट के ब्रीफ होल्डरों व चतुर्थ श्रेणी कर्मियों से भी कम है जिला कोर्ट के सरकारी अधिवक्ताओं का मानदेय, बढ़ोतरी की उठी मांग

नवीन समाचार, नैनीताल, 17 अक्तूबर 2022। उत्तराखंड के जिला शासकीय अधिवक्ताओं, अपर जिला शासकीय अधिवक्ताओं एवं सहायक जिला शासकीय अधिवक्ताओं के कार्य दिवस, रिटेनरशिप, अपील रिवीजन, कार्यालय व्यय एवं जिला शासकीय अधिवक्ताओं के कार्यालयों में कार्यरत आशुलिपिक एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के मानदेय में बढ़ोत्तरी की मांग तेज हो गई है। उनका कहना है कि उनका मानदेय उच्च न्यायालय के ब्रीफ होल्डरों यानी वाद धारकों से भी कम है। इस बारे में उन्होंने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा है। यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: हल्द्वानी के 2 स्पा सेंटरों से मुक्त कराई गईं 10 युवतियां

कहा है कि उन्हें प्रति कार्य दिवस के हिसाब से ही मानदेय मिलता है, जो कि समस्त विभागों में कार्यरत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को मिलने पाने मासिक वेतन से भी कम है, जबकि विधि परामर्शी निर्देशिका में शासकीय अधिवक्ताओं को टीए-डीए का भुगतान प्रथम श्रेणी के अधिकारी के समान दिये जाने का प्रावधान किया गया है। यह भी पढ़ें : आखिर सफल होती नजर आने लगी श्री नंदा देवी महोत्सव पर शुरू हुई मुहिम…

कहा है कि उच्च न्यायालय के ब्रीफ होल्डरों का ही प्रतिदिन का मानदेय 3000 नियत है। जबकि वर्तमान में शासकीय अधिवक्ताओं को 1600, 1500 एवं 1400 रुपये प्रति दिवस मिलते हैं, इसे बढ़ाकर क्रमशः 3000, 2800 एवं 2500 रूपया प्रति दिवस एवं रिटेनरशिप 10000, 8000 एवं 2000 को बढ़ाकर 20,000 किये जाने की आवश्यकता है। यह भी पढ़ें : सनसनीखेज घटना: खाई में मिले दो नर कंकाल, ऊपर पेड़ पर लड़की के बालों सहित दो….

इसके अलावा शासकीय अधिवक्ताओं को मिलने वाले लेखन सामग्री एवं छपाई, कार्यालय व्यय, कार्यालय फर्नीचर एवं उपकरण कम्प्यूटर हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर के मदों की धनराशि में भी बढ़ोत्तरी किये जाने की मांग की गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल से कुमाऊं मंडल की भ्रष्टाचार को सुनने वाली अदालत हल्द्वानी स्थानांतरित 

-अधिवक्ताओं ने की ‘शोक सभा’, पहाड़ी राज्य की अवधारणा व सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ मंशा पर उठाए सवाल

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 अक्तूबर 2022। उत्तराखंड उच्च न्यायालय के नैनीताल से अन्यत्र स्थानांतरित किए जाने की सुगबुगाहट के बीच अचानक जिला मुख्यालय नैनीताल से एक न्यायिक अदालत हल्द्वानी स्थानांतरित हो गई है। शनिवार को जैसे ही यह जानकारी जिला बार नैनीताल के अधिवक्ताओं को लगी, उन्होंने इस मुद्दे पर अपना बैंड व कोट उतारकर विरोध जताया। कहा कि वह न्यायालय के बाहर जाने का ‘शोक’ मना रहे हैं। यह भी पढ़ें : नैनीताल ब्रेकिंग : रात्रि में खाई में गिरा युवक, सुबह पता चलने पर बचाया, पर हुई मौत

संचालन करते हुए जिला बार के सचिव दीपक रुवाली ने कहा कि जिला न्यायालय से कुमाऊं मंडल के छह जनपदो की एकमात्र पीसी एक्ट की यानी विशेष न्यायाधीश-भ्रष्टाचार निवारण की अदालत का हल्द्वानी स्थानांतरण कर दिया गया है। जबकि विशेष न्यायाधीश-भ्रष्टाचार निवारण के रूप में भ्रष्टाचार के मामलों की सुनवाई जिला न्यायाधीश की अदालत में होती है। लेकिन अब इन मामलों में द्वितीय अपर जिला जज के द्वारा सुना जाएगा। इससे पहले ही एनएच-74 के करोड़ों रुपए के घोटाले के मामले को सुन रही और अब तक गवाहों की गवाही न करा पाई सरकार की भ्रष्टाचार के विरुद्ध रवैये पर भी प्रश्न खड़े होते हैं। इसके अलावा पहाड़ से न्यायालय को मैदानों में भेजना पर्वतीय राज्य की अवधारणा के भी खिलाफ है। यह भी पढ़ें : महिला की मौत मामले में उत्तराखंड में जिस खनन माफिया जफर की तलाश में घुसी थी यूपी पुलिस, उसके साथ हुआ पुलिस का इन्काउंटर

अन्य आक्रोशित अधिवक्ताओं ने कहा कि नैनीताल मुख्यालय से एक-एक कर धीरे-धीरे कर न्यायालयों को हल्द्वानी भेजा जा रहा है। इस कारण उन्हें शोक सभा आयोजित करने को बाध्य होना पड़ा है। कहा कि यदि इसी तरह नैनीताल से न्यायालयों का स्थानांतरण मैदान में किया जाता रहा तो पहाड़ी राज्य के विकास की मूल अवधारणा कभी सफल नही हो पायेगी व यह पहाड़ पर चोट करने सरीखा होगा। इस मामले में अधिवक्ताओं ने प्रदेश के राज्यपाल सहित मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री को भी पत्र लिखा है। कहा कि आने वाली 19 अक्टूबर को जिला बार द्वारा एक बड़ी बैठक आयोजित की गयी है, जिसमें सभी अधिवक्ताओं से राय लेकर आगे कठोर कदम उठाया जायेगा। यह भी पढ़ें : केंद्रीय मंत्री के कार्यक्रम में एक साथ जुटे भाजपा-कांग्रेस के नेता…

इस दौरान जिला बार एसोसिएशन के अध्य्ाक्ष नीरज साह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय सुयाल, मनीष मोहन जोशी, ज्योति प्रकाश, अरुण बिष्ट, राजेन्द्र पाठक, मनीष कांडपाल, उमेश कांडपाल, किरन आर्य, राजेश त्रिपाठी, गंगा सिंह बोरा, ओंकार गोस्वामी, अखिल साह, भानु प्रताप मौनी, देवेंद्र मुनगली, राजेश चंदोला, पुलक अग्रवाल, सुशील शर्मा, नवीन पंत, राम सिंह रौतेला, कैलाश बल्यूटिया, रवि आर्य, संजय कुमार, हरीश भट्ट, दयाकिशन पोखरिया, मुकेश कुमार, पंकज कुमार, राजेन्द्र परगाई, सुभाष जोशी, प्रमोद बहुगुणा, मो. खुर्शीद, गौरव भट्ट, रोहित कुमार, संतोष आगरी, गौरव भट्ट, निर्मल आर्य, सैफ अली, धीरेन्द्र सिजवाली, मो. अनीस, प्रीति साह, पूजा साह, कमला अधिकारी, सरिता बिष्ट, कविता जोशी, जया आर्य, अलीजा अली, सरिता बिष्ट व गौतम कुमार आदि अधिवक्ता मौजूद रहे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : गणेश चतुर्थी पर अधिवक्ताओ को मिली चैंबरों की सौगात

-जिला जज व कमिश्नर ने पहले आवेदक को दिया चैंबर निर्माण का फॉर्म
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 31 अगस्त 2022। गणेश चतुर्थी जिला न्यायालय के अधिवक्ताओ के लिये खुशियां लेकर आयी है। बुधवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेंद्र जोशी व कुमाऊं मंडल के आयुक्त दीपक रावत के हाथों चैंबर हेतु पहला आवेदन फार्म जारी किया गया।

उल्लेखनीय है कि जिला मुख्यालय में दशकों से अधिवक्ता न्यायालय परिसर में चैंबर निर्माण की मांग कर रहे थे। इधर जिला बार की नई कार्यकारिणी ने चैंबरों के निर्माण के प्रयास किए। अध्यक्ष नीरज साह व सचिव दीपक रूवाली ने कहा कि बार के अपने फंड तथा अधिवक्ताओ व उच्च अधिकारियों के सहयोग से चैंबर निर्माण का कार्य संभव हो पाया है। बताया गया कि अब जल्द ही अधिवक्ताओ को चैंबर सौपे जायेंगे।

इस दौरान बार के वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय सुयाल, मनीष मोहन जोशी, तरुण चंद्रा, उमेश कांडपाल, गंगा बोरा, किरन आर्य, मनीष कांडपाल, बीसी पाल, हरिशंकर कंसल, ओमकार गोस्वामी, अखिलेश साह, राजेश चंदोला, भानु प्रताप, प्रदीप परगाई सहित बड़ी संख्या में अधिवक्ता मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अभी जेल में ही रहना पड़ेगा महिला पुलिस कर्मी से दुष्कर्म के आरोपित वकील को

साइबर ठगी गिरोह के सरगना होमगार्ड के बेटे को जेलनवीन समाचार, चम्पावत, 28 अगस्त 2022। एक महिला पुलिस कर्मी से दुष्कर्म के आरोपी टनकपुर बार संघ के पूर्व अध्यक्ष विजय शुक्ला को अभी जेल में ही रहना होगा। शिकायतकर्ता के नहीं पहुंचने के कारण शनिवार को अदालत में शुक्ला की जमानत अर्जी पर सुनवाई नहीं हो सकी। बताया गया कि एससीएसटी एक्ट में मुकदमा होने पर जमानत अर्जी की सुनवाई में आरोप लगाने वाले की उपस्थिति अनिवार्य है।

इस मामले में जिला शासकीय अधिवक्ता विद्याधर जोशी ने बताया है कि जिला एवं सत्र न्यायाधीश कहकशा खान अब दो सितंबर को जमानत अर्जी के प्रार्थनापत्र पर सुनवाई करेंगी।

उन्होंने बताया कि गत 23 जुलाई को चम्पावत जिला अदालत में आत्मसमर्पण करने के बाद से आरोपित अधिवक्ता विजय शुक्ला न्यायिक हिरासत में लोहाघाट जेल में बंद है। ऊधमसिंह नगर जिले की एक महिला पुलिस कर्मी ने उन पर शादी का झांसा देकर वर्ष 2018 से शारीरिक शोषण करने और मामले को बेपर्दा करने पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया था। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बार के आंदोलन को हल्द्वानी बार से मिला पूर्ण समर्थन

-एसडीएम कोर्ट का बहिष्कार दूसरे दिन भी जारी
जिला बार में विरोध प्रदर्शन करते जिला बार के अधिवक्ता।डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 25 अगस्त 2022। अधिवक्ता शिवांशु जोशी के मामले में एसडीएम की कार्यशैली को लेकर नैनीताल बार के आंदोलनरत अधिवक्ताओ का प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी रहा। गुरुवार को भी अधिवक्ताओ ने लगातार दूसरे दिन एसडीएम कोर्ट के बाहर जमकर नारेबाजी करते हुए अपना विरोध दर्ज किया। इस दौरान जिला बार के अधिवक्ताओं के आंदोलन को हल्द्वानी बार की ओर से भी पूर्ण समर्थन मिल गया।

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि जब तक इस मामले का समाधान नही किया जाता तब तक लगातार एसडीएम न्यायायल का विरोध जारी रहेगा। हल्द्वानी बार के पूर्व अध्यक्ष रहे गोविंद बिष्ट ने कहा कि हल्द्वानी बार इस मामले में पूर्णतया नैनीताल बार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। बार के सचिव दीपक रुवाली, पूर्व सचिव व अधिवक्ता मनीष मोहन जोशी आदि ने भी विचार रखे।

इस मौके पर बलवंत सिंह थलाल, ज्योति प्रकाश सिंह बोरा, उपसचिव किरन आर्य, दयाकिशन पोखरिया, एमबी ढैला, गिरीश जोशी, अनिल हर्नवाल, निखिल बिष्ट, शिवांशु जोशी, गिरीश बहुखंडी, दीपक साह, गिरीश खोलिया, नितेंद्र प्रसाद, सुंदर मेहरा, समीर व हेमा आर्य आदि मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अधिवक्ताओ ने किया नैनीताल एसडीएम की कोर्ट के अनिश्चितकालीन बहिष्कार का ऐलान…

-बुधवार को कमिश्नर कोर्ट सहित न्यायालयों में नही किया काम
-प्रशासनिक अधिकारियों व खजान भट्ट के खिलाफ कार्यवाही की की मांग

मंडलायुक्त दीपक रावत को ज्ञापन सोंपते अधिवक्ता।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 अगस्त 2022। जिला बार के अधिवक्ता बुधवार को नैनीताल के उपजिलाधिकारी के विरोध में नारेबाजी कर न्यायिक कार्यो से विरत रहे। इससे पहले जिला बार सभागार में बार की कार्यकारणी ने आपात बैठक कर एक स्वर में नैनीताल के उपजिलाधिकारी के फैसले का विरोध किया।

बताया कि अधिवक्ता व जिला बार के प्रेस सचिव शिवांशु जोशी का भूमि संबंधी वाद सिविल न्यायाधीश्ज्ञ प्रवर खड के न्यायालय में चल रहा है। इसी बीच विपक्षी खजान चंद्र भट्ट ने विवादित भूमि की पैमाइश न करने पर 15 अगस्त को आत्मदाह की धमकी दी थी। इस पर 12 अगस्त को एलआईयू की आत्मदाह की गोपनीय रिपोर्ट में बताया गया कि खजान चंद्र भट्ट किसी अन्य मामले में पहले भी वर्ष 2018 में आत्मदाह की धमकी दे चुका है।

वही एसडीएम ने पत्र पर कार्यवाही करने के बजाय रिपोर्ट पर एक बिना दिनांक का आदेश जारी करते हुए आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दे दिये। इस पर भवाली नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी शाम करीब साढ़े पांच बजे पटवारी, पुलिस बल व खजान भट्ट के साथ एंगल, सब्बल व सीमेंट लेकर अधिवक्ता शिवांशु जोशी के घर पहुंच गये। बार के अध्यक्ष नीरज साह व अधिवक्ता शिवांशु जोशी ने इसका विरोध किया व मामला न्यायालय में होने की जानकारी दी। इस पर खजान चंद्र भट्ट ने केवल पैमाइश करने व किसी भी कीमत पर जमीन कब्जा करने तथा देख लेने की धमकी दी। आगे पैमाइश के प्रयास विफल होने पर अधिशासी अधिकारी भवाली ने 20 अगस्त को नपाई करने का नोटिस शिवांशु जोशी को व्हाट्सएप्प पर दिया।

इसी मामले को लेकर बुधवार को कलेक्ट्रेट परिसर में अधिवक्ताओं ने एसडीएम के खिलाफ जमकर नारेबाजी की व बिना न्यायालय व न्यायिक प्रक्रिया के आदेश देने पर उनकी कोर्ट का अनिश्चितकालीन बहिष्कार करने का एलान किया तथा बुधवार को अधिवक्ता सभी न्यायिक कार्यो से अलग रहे व नारेबाजी करते हुए आयुक्त कार्यालय पहुंचे जहा प्रकरण में आवश्यक कार्यवाही को लेकर कुमाऊ आयुक्त को ज्ञापन सौंपा व मामले में प्रशासनिक अधिकारियों की भूमिका की जांच की मांग की। बताया कि विपक्षी खजान चंद्र भट्ट ने भवाली में कई जगह सरकारी भूमि पर अवैध निर्माण किया गया है। इसकी जांच होनी भी आवश्यक है।

इस दौरान अध्यक्ष नीरज साह, सचिव दीपक रुबाली, हरिशंकर कंसल, बीसी पाल, मनीष जोशी, संजय सुयाल, राजेंद्र कुमार पाठक, तरुण चंद्रा, ओमकार गोस्वामी, शरद साह, एमबी सिंह, अखिल कुमार साह, ज्योति प्रकाश बोरा, पंकज कुलौरा, अखिलेश साह, मनीष बिष्ट, उमेश कांडपाल, पकज कुमार, अनिल बिष्ट, भगवत प्रसाद, भानु प्रताप मौनी, पंकज कुमार, कैलाश जोशी, फैजल साह, सुभाष जोशी, दयाकिशन पोखरिया, सरिता बिष्ट, प्रीति साह, किरन आर्य, मुन्नी आर्य, राजेश त्रिपाठी, कविदयाल, भरत भट्ट, जगदीश मौलेखी, ललित तिवारी, धीरेद्र सिजवाली, शंकर चौहान, कमल चिलवाल, राजेंद्र असवाल, निर्मल, नीरज, राजीव साह, मुकेश कुमार, रवि आर्य, हितेश पाठक, अनिल आर्य, दीपक दानू, प्रमोद तिवारी, नीलेश भट्ट, मोहम्मद अबरार, संतोष आगरी, रोहित साह, मुकेश कुमार, अर्चित गुप्ता, रवि कन्याल व राजेंद्र कुमार आदि अधिवक्ता उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 6 अभियुक्तों को फांसी दिलवाने वाले, पिछले 12 वर्षों से डीजीसी शर्मा को और 5 वर्षों के लिए मिला सेवा विस्तार

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 जुलाई 2022। उत्तराखण्ड शासन ने नैनीताल जनपद के जिला शासकीय अधिवक्ता के पद पर एक बार फिर से सुशील कुमार शर्मा की 5 वर्ष के लिए नियुक्ति करने के आदेश जारी कर दिये हैं। राज्यपाल की स्वीकृति के बाद प्रदेश के न्याय एवं विधि परामर्शी सचिव धनंजय चतुर्वेदी ने इस संबंध में पत्र जारी कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि शर्मा इससे पहले 8 वर्षो तक सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता व पिछले 12 वर्षों से जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी (डीजीसी) के पद पर कार्यरत हैं। उनका ट्रैक रिकॉर्ड शानदार रहा है। उनके द्वारा 6 अभियुक्तों को फांसी की सजा दिलाने के साथ ही सरकार की ओर से करोड़ों रुपए के एनएच-74 घोटाला मामले में ‘स्पेशल प्रोसिक्यूटर’ के रूप में बड़ी भूमिका निभाई है।

उनकी नियुक्ति पर जिला बार एसोसिएशन नैनीताल के अध्य्ाक्ष नीरज साह, सचिव दीपक रुवाली, वरिष्ठ अधिवक्ता बहादुर पाल, राजेंद्र पाठक, डीके मुनगली, राम सिंह रौतेला, हरिशंकर कंसल, अखिलेश साह, संजय सुयाल, तरुण चंद्रा, राजेश त्रिपाठी, शिवांशु जोशी, उमेश कांडपाल, पंकज बोरा, मनीष कांडपाल, पुलक अग्रवाल, हेमा शर्मा, स्वाति परिहार, प्रदीप परगाई, राजू परगाई, अनिल बिष्ट, रवि आर्य, ज्योति प्रकाश, ओंकार गोस्वामी, अरुण बिष्ट, मनीष जोशी, कैलाश जोशी, हरीश भट्ट, कैलाश बल्यूटिया, अखिलेश साह, दीपक तिवारी, अखिल साह ,संजय त्रिपाठी, बीके सांगुड़ी, अनिल जोशी, राजेश चंदोला, पूरन जोशी,

संजय त्रिपाठी, प्रमोद बहुगुणा, पंकज कुमार, सुभाष जोशी, कमल चिलवाल, प्रमोद कुमार, पंकज बिष्ट, प्रमोद तिवाड़ी, दीपक दानू, शंकर चौहान, दयाकिशन पोखरिया, नवीन पंत, पवन सिंह, अशोक मौलेखी, भुवन जोशी, पूरन जोशी, पंकज बोरा, मो. दानिश, प्रमोद, गौरव भट्ट, मो. खुर्शीद, अनिल बिष्ट, मुकेश कुमार, सुंदर मेहरा व संतोष आगरी के साथ ही उत्तराखंड ग्वाल सेवा के संस्थापक अधिवक्ता पंकज कुलौरा सहित संगठन से जुड़े सोहन तिवारी, चंद्रमौलि साह, मोहम्मद अबरार, प्रमोद कुमार पैरी, प्रीति साह, शरत साह, ललित रावत आदि अधिवक्ताओं ने प्रसन्नता व्यक्त की, और श्री शर्मा को बधाई व शुभकामनाएं दी है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: जिला शासकीय अधिवक्ता-सिविल बने पंकज बिष्ट

नवीन समाचार, नैनीताल, 16 जुलाई 2022। जिला न्यायालय के अधिवक्ता पंकज बिष्ट जिला नैनीताल के जिला शासकीय अधिवक्ता-सिविल के पद पर आबद्ध किए गए हैं। प्रदेश के सवि न्याय एवं विधि परामर्शी धनंजय चर्तुवेदी ने इसके आदेश जारी कर दिए है।

इस बाबत अपनी लिखित सहमति एवं अपेक्षित प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने की तिथि से इस पर कार्य कर सकेंगे। मूल रूप से ग्राम भतरौजखान जिला नैनीताल के निवासी पंकज 22 वर्ष से जिला न्यायालय में प्रैक्टिस कर रहे हैं। अब तक घनानंद बर्थवाल इस पर कार्यरत थे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : फर्जी व गलत प्राथमिकी दर्ज होने पर उच्च न्यायालय में राहत के प्रावधानों पर हुई चर्चा…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 जून 2022। उच्च न्यायायालय के अधिवक्ताओं के स्वाध्याय मंडल की बैठक में अधिवक्ताओं ने फर्जी व गलत दर्ज प्राथमिकी दर्ज होने की स्थिति में गिरफ्तारी से बचाव के कानूनी तरीकों पर व्यापक चर्चा की है।

बुधवार को बार सभागार में हुई स्वाध्याय मंडल की बैठक में पंकज पुरोहित, शशिकांत शांडिल्य, दिग्विजय बिष्ट, अविदित नौलियाल राहुल कंसल, भास्कर जोशी, बीबी शर्मा आदि अधिवक्ताओं ने कहा कि इस प्रकार की स्थिति में आरोपित को अनुच्छेद 19 व 21 में व्यापक अधिकार प्राप्त हैं, जिसके लिए वह संविधान के अनुच्छेद 226 में उच्च न्यायालय में गिरफ्तारी से रोक व प्राथमिकी को समाप्त करने के लिए याचिका दायर कर सकता है।

इस सबंध में उच्चतम न्यायालय द्वारा पारित अर्नेश कुमार एवं निहारिका वाले आदेश में दी गयी व्यवस्थाओं का भी उल्लेख किया। बैठक में रवि बिष्ट, कौशल जगाती, विरेंद्र रावत, योगेश पांडे, जयवर्धन कांडपाल, योगेश शर्मा, लोकेंद्र डोभाल, ललित बेलवाल, पान सिंह, नवीन तिवारी, सचिन मेहता, अक्षय लटवाल भुवनेश जोशी राजेश शर्मा, हेम पाठक, भुपेंद्र कोरंगा व बीएस कठायत सहित कई अधिवक्ता मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट बार एसोसिएशन की नई कार्यकारिणी ने किया पदभार ग्रहण

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 7 जून 2022। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के गत 27 मई को चुनाव में विजयी प्रत्याशियों को मंगलवार को बार सभागार में शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया। इस दौरान मुख्य चुनाव अधिकारी योगेश पचौलिया ने विजयी प्रत्याशियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी।

इस मौके पर नवनियुक्त अध्यक्ष प्रभाकर जोशी व सचिव विकास बहुगुणा ने अधिवक्ताओं का आभार व्यक्त करते हुए कहा अधिवक्ताओं के लिए समूह बीमा, महिला अधिवक्ताओं के लिए एक बड़ा कॉमन रूम, बार और बैंच के बीच तालमेल, निर्माणधीन चैंबरों का शीघ्र निर्माण व चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार के माध्यम से समाधान निकाला जाएगा। इस हेतु उन्होंने सभी वरिष्ठ-कनिष्ठ अधिवक्ताओं से सहयोग की अपील की।

इस मौके पर उपाध्यक्ष मोहिंदर सिंह बिष्ट, वरिष्ठ महिला उपाध्यक्ष चरनजीत कौर, कोषाध्यक्ष सिद्धार्थ जैन, पुस्तकालयाध्यक्ष योगेश कुमार शर्मा, कनिष्ठ उपाध्यक्ष प्रशांत जोशी, संयुक्त सचिव प्रशासन मुकेश कपरुवाण, संयुक्त सचिव नवीन बिष्ट, वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य भुवनेश जोशी, रमेश जोशी, सौरभ पांडेय, तनुज सेमवाल व संजीव सिंह तथा कनिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य रजनी सुप्याल लटवाल, कांति राम शर्मा व गौरव कांडपाल के साथ ही

चुनाव संचालन में जुड़े राजेश जोशी, बीएस रावत, तेजस्वना सागर, दीपा आर्या, संगीता भारद्वाज, शिवाली शर्मा, शैलेंद्र नौरियाल, वीके कपरवाण, ललित सामंत, राजेश वर्मा, राजीव भट्ट, केके वर्मा, घनश्याम जोशी, राजीव भट्ट, सुंदर भंडारी, विनय चौहान, सैयद कासिफ जाफरी, संगीता, पंकज, कपिल भारद्वाज, पूर्व अध्यक्ष डॉ. महेंद्र पाल, सैयद नदीम मून, ललित बेलवाल, एमसी पंत, पुष्पा जोशी, विनोद तिवारी, पीएस सौन, त्रिलोचन पांडे व प्रेम कौशल सहित बड़ी संख्या में अधिवक्ता मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : इधर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन की नई कार्यकारिणी को कार्यभार ग्रहण करने की तैयारी, उधर बार काउंसिल पहुंची आपत्तियां…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 6 जून 2022। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के गत 27 मई को हुए चुनाव के बाद मंगलवार 7 जून अपराह्न डेढ़ बजे को नई कार्यकारिणी को कार्यभार हस्तांतरित कराने का कार्यक्रम तय हो गया है। इससे पूर्व बार एसोसिएशन की चुनाव समिति ने मुख्य चुनाव अधिकारी योगेश पचौलिया के समक्ष आई तीन आपत्तियों को संज्ञान लेकर निस्तारित करने का दावा किया। बताया गया कि ‘वन बार-वन वोट’ से संबंधित अध्यक्ष व कोषाध्यक्ष पद प्रत्याशियों शशिकांत शांडिल्य व लता नेगी की आपत्तियां उनके स्तर की नहीं हैं। इन्हें बार काउंसिल ऑफ उत्तराखंड को अग्रेसित किया गया है। वहीं पुस्तकालयाध्यक्ष पद प्रत्याशी पूनम की आपत्ति पर कहा गया कि उन्होंने बार हित में अपनी आपत्ति वापस ले ली है।

दूसरी ओर पुस्तकालयाध्यक्ष पद प्रत्याशी पूनम ने इस बारे में पुनः हाईकोर्ट बार एसोसिएशन चुनाव के मुख्य चुनाव अधिकारी व बार काउंसिल ऑफ उत्तराखंड के अध्यक्ष को भेजे पत्र में कहा है कि आज 6 जून को उनकी आपत्ति पर नामांकन पत्रों की दुबारा से मतगणना की मांग को नकार दिया गया। अलबत्ता पुस्तकालयाध्यक्ष पद के दोनों प्रत्याशियों को कक्ष में बुलाकर मतों के चार्ट की गणना कराई गई, जिसमें पूनम के दो और योगेश के 1 मत बढ़ गये। यानी पूनम के मतों की संख्या 386 से बढ़कर 388 व योगेश की 388 से एक बढ़कर 389 हो गई और योगेश को विजयी घोषित कर दिया गया। इसके अलावा 18 मत अवैध बताए गए। इस प्रकार दोनों को मिले व अवैध घोषित मतों का योग 796 हो गया, जबकि कुल मत 792 ही पड़े थे।

पूनम ने कहा कि उन्होंने आपत्ति वापस नहीं ली, बल्कि चुनाव अधिकारी द्वारा पुनः मतगणना कराने में असमर्थता जताते हुए यहा कार्रवाई नहीं चाहते लिखा। उन्होंने फिर से मतगणना कराने की मांग को दोहराते हुए अन्यथा न्यायालय जाने की बात भी कही है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : एक और प्रत्याशी ने उठाए हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव पर सवाल, और की चुनाव निरस्त कर दुबारा चुनाव कराने की मांग

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 3 जून 2022। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के गत 27 मई को हुए चुनाव की एक और प्रत्याशी ने इस प्रतिष्ठित चुनाव पर न केवल सवाल उठाए हैं, बल्कि चुनाव को निरस्त कर दुबारा चुनाव कराने की मांग की है। अध्यक्ष पद के प्रत्याशी शशिकांत शांडिल्य के बाद अब कोषाध्यक्ष पद की प्रत्याशी लता नेगी ने मुख्य चुनाव अधिकारी को पत्र लिखकर कहा है कि इस चुनाव में 1229 सदस्यों में से 792 ने मतदान किया।

Lata Negi, Tallital - Lawyers in Nainital - Justdialउन्हें जानकारी मिली है कि बार काउंसिल ऑफ उत्तराखंड ने 40 प्रतिशत मतदाता सदस्यों के नाम सूची से हटा दिए थे। इसके बावजूद सूची से हटाए गए सदस्यों को भी मतदान का अधिकार दिया गया। उन्हें यह भी ज्ञात हुआ है कि अन्य बार संघों के कई सदस्यों ने पहले भी मतदान करने के बावजूद इस चुनाव में भी नियमविरुद्ध मतदान किया।

इसलिए 27 मई को हुए चुनाव की सत्यता की जांच की जाए और इसके बाद ही नई कार्यकारिणी को कार्यभार सोंपा जाए। साथ ही चुनाव में अनियमितता पाए जाने पर चुनाव को निरस्त कर दुबारा चुनाव कराया जाए। शिकायती पत्र की प्रति बार काउंसिल ऑफ उत्तराखंड के अध्यक्ष व सचिव एवं बार काउंसिल ऑफ इंडिया को भी भेजी गई हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट बार चुनाव पर फिर सवाल, चुनाव निरस्त कर दुबारा चुनाव कराने की मांग

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 1 जून 2022। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव एक बार फिर विवादो मे आ गए हैं। चुनाव परिणाम आने के अगले दिन दो मतो से पराजित बताई गई पुस्तकालयाध्यक्ष पद की प्रत्याशी पूनम ने इस पद पर दुबारा मतगणना कराने की मांग की थी, जबकि अब अध्यक्ष पद के पराजित प्रत्याशी शशिकांत शांडिल्य ने चुनाव में ‘एक बार-एक वोट’ के नियम का पालन न किए जाने का आरोप लगाते हुए बार के चुनाव को रद्द कर दुबारा से चुनाव कराने की मांग की है। उन्होंने शिकायती पत्र को मुख्य निर्वाचन अधिकारी के साथ ही बार काउंसिल व उत्तराखंड बार काउंसिल के अध्यक्षों को भी भेजा है।

श्री शांडिल्य काकहना है कि बार चुनाव में 1229 में से जिन 793 सदस्यों ने मतदान किया, उनमें से अनेक ने दूसरे बारों के चुनाव में भी मतदान किया है। इसलिए दुबारा से चुनाव कराया जाना चाहिए। साथ ही उन्होंने सदस्यों द्वारा इस तरह नियमविरुद्ध किए गए मतदान की जांच करने और दोषी पाए जाने पर ऐसे सदस्यों के खिलाफ उचित दंडात्मक कार्रवाई किए जाने की मांग भी की है। अन्य ताज़ा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पुलिस द्वारा मारपीट के बाद अधिवक्ता गिरफ्तार, अधिवक्ताओं ने जताया आंदोलन का इरादा

Nainital News : लालकुआं में जमीन विवाद को लेकर पुलिस ने अधिवक्ता को जमकर पीटा, मुकदमा दर्जनवीन समाचार, लालकुआं, 29 मई 2022। सामान्यतया जनता को न्याय दिलाने के लिए अधिवक्ताओं एवं पुलिस का चोली-दामन का साथ माना जाता है, लेकिन बिन्दूखत्ता में एक अधिवक्ता और चौकी प्रभारी एक भूमि विवाद में आमने-सामने आ गए। दोनों में जमकर मारपीट भी हो गई। पुलिस ने अधिवक्ता एवं उनके साथियों पर मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अधिवक्ता के पुत्र की ओर से भी चौकी प्रभारी के विरुद्ध पुलिस में तहरीर दी गई है। इस मामले में राजनीति भी होनी शुरू हो गई है, साथ ही अधिवक्ता आंदोलन की रणनीति बना रहे है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को बिंदूखत्ता के घोड़ानाला क्षेत्र में एक खेत में कब्जे को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है और मामला न्यायालय में है। रविवार में खेत में बोई चरी को काटने और एक पक्ष द्वारा खेत को जोतने के लिए ट्रैक्टर लेकर आने पर दो पक्ष आपस मे भिड़ गए। सूचना मिलने पर बिंदुखत्ता चौकी प्रभारी मनोज कुमार चौधरी भी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे दोनों पक्षों से बातचीत करने लगे।

बताया गया है कि अधिवक्ता षष्टी दत्त जोशी इस बातचीत की वीडियोग्राफी करने लगे। चौकी प्रभारी मनोज कुमार चौधरी ने उन्हें ऐसा करने से रोका तो दोनों के बीच पहले तीखी नोकझोंक और फिर मारपीट हो गई। मारपीट में अधिवक्ता जोशी सहित कुछ ग्रामीण भी चोटिल हो गए। जबकि चौकी प्रभारी जोशी को लेकर कोतवाली लालकुआं पहुंची और उनके साथ ही सुंदर सिंह घुड़दौड़ा सहित एक दर्जन से अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने सहित अन्य आरोपों में भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 504, 506, 332 और 353 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर दिया।

सूचना मिलने पर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्सवादी लेनिनवादी के नेता बहादुर सिंह जंगी के नेतृत्व में भारी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता और क्षेत्र के आधा दर्जन से अधिक अधिवक्ता कोतवाली पहुंचे और उन्होंने जोशी को छोड़ने की मांग की, लेकिन पुलिस नहीं मारी और उन्हें कोतवाली से बाहर कर दिया। इस दौरान अधिवक्ता जोशी के पुत्र मनोज जोशी ने भी कोतवाली में बिंदुखत्ता पुलिस चौकी प्रभारी मनोज कुमार चौधरी के खिलाफ तहरीर देते हुए कहा कि चौकी प्रभारी द्वारा किसी के खेत पर दूसरे व्यक्ति का जबरन कब्जा दिलवाया जा रहा था। इसका अधिवक्ता ने मामला न्यायालय में लंबित होने की बात कहते हुए विरोध किया तो चौकी प्रभारी ने उन्हें लाठी-डंडों से पीटा और उनका मोबाइल भी छीन लिया।

मामले में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार का कहना है कि अधिवक्ता ने ग्रामीणों के साथ मिलकर पुलिस पर हमला किया और मारपीट की, तथा सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाई है। ऐसी गुंडागर्दी किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं की जा सकती है। आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उधर अधिवक्ता मन्नू तुलेरा ने मामले में कहा है कि अधिवक्ता जोशी बेकसूर हैं, उन पर कार्रवाई गलत है। इसकी क्षेत्र के समस्त वकील कड़े शब्दों में निंदा करते हैं। पुलिसिया कार्रवाई के खिलाफ सोमवार को हल्द्वानी जजी न्यायालय में अग्रिम आंदोलन को रणनीति बनाई जाएगी। अन्य ताज़ा नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बार चुनाव में पुस्तकालयाध्यक्ष पद के परिणाम को बताया अवैधानिक, दुबारा मतगणना कराने की उठाई मांग…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 मई 2022। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के शुक्रवार को हुए चुनाव एवं देर रात्रि घेाषित चुनाव परिणाम पर पुस्तकालयाध्यक्ष पद की प्रत्याशी पूनम ने लिखित आपत्ति जताई है। स्वयं को विवादित पुस्तकालयाध्यक्ष बताते हुए उन्होंने बार एसोसिएशन के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखकर दुबारा मतगणना कराने की मांग की है।

उनका कहना है कि मतगणना प्रारंभ होने से पूर्व मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया था कि 16 राउंड की मतगणना में गिनती में कोई भी त्रुटि होने पर उसी राउंड में मतगणना स्थगित कराकर पुनः संशोधित मतगणना कराई जाएगी। मतगणना समापन के बाद किसी भी प्रत्याशी के द्वारा पुनः मतगणना कराए जाने का प्रार्थना पत्र स्वीकार्य नहीं होगा।

मतगणना समाप्त होने के बाद पुस्तकालयाध्यक्ष पद पर उन्हें 5 मतों से विजयी घोषित कर दिया गया। इसके बाद उन्हें बधाई देकर विपक्षी योगेश कुमार शर्मा तथा वह स्वयं अपने प्रतिनिधि के साथ मतगणना स्थल से बाहर चले गए। लेकिन बाद में उनकी उपस्थिति, लिखित सहमति व सूचना के बिना अवैधानिक व नियमविरुद्ध तरीके फिर से मतगणना कराकर पराजित प्रत्याशी को दो मतों से विजयी घोषित कर दिया गया। इसलिए उनकी उपस्थिति में फिर से मतगणना कराई जाए।

इस बारे में पूछे जाने पर बार चुनाव में मुख्य निर्वाचन की अधिकारी भूमिका निभाने वाले योगेश कुमार पचौलिया ने कहा कि अपने दायित्व का निर्वहन पूरा करने के बाद वह अब पद पर नहीं हैं। अलबत्ता अवकाश के बाद आगामी 6 जून को वह बार एसोसिएशन को अपना कार्यभार लौटाएंगे। उस दौरान प्रत्याशी की शिकायत भी रखेंगे। आगे बार एसोसिएशन के चाहने पर ही अपेक्षित कार्रवाई की जाएगी। अन्य ताज़ा नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव परिणाम घोषित…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मई 2022। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के लिए शुक्रवार को मतदान हुआ। चुनाव में एक बार-एक वोट के सिद्धांत का पालन करते हुए कुल 1229 सदस्यों में से 792 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इसके बाद शाम पांच बजे से बार काउंसिल के पर्यवेक्षक की उपस्थिति में दो स्थानों पर मतों की गिनती प्रारंभ हुई और 16 राउंड की मतगणना के बाद देर रात्रि परिणाम घोषित हुए। अध्यक्ष पद पर प्रभाकर जोशी जोशी चुने गए, जबकि निवर्तमान अध्यक्ष अवतार सिंह रावत तीसरे स्थान पर पिछड़ गए, जबकि महासचिव पद पर विकास बहुगुणा लगातार दूसरी बार चुने गए।

परिणाम इस तरह रहे:
विजयी प्रभाकर जोशी 307 को, शशिकांत शांडिल्य को 264 व निवर्तमान अध्यक्ष अवतार सिंह रावत को 211 मत मिले।अध्यक्ष: प्रभाकर जोशी 307
शशिकांत शांडिल्य 264
अवतार सिंह रावत 211
जीत का अंतर 43

वरिष्ठ उपाध्यक्ष
मोहिंदर बिष्ट 413
कौशल शाह जगाती 184
विकास कुमार गुगलानी 164
जीत का अंतर 229 

उपाध्यक्ष महिला
चरनजीत कौर 462
प्रभा नैथानी 307
जीत का अंतर 155

jagranमहासचिव
विकास बहुगुणा 484
सौरभ अधिकारी 302
जीत का अंतर 182

कोषाध्यक्ष
सिद्धार्थ जैन 424
लता नेगी 343
जीत का अंतर 81

वहीं पुस्तकालयाध्यक्ष पद पर योगेश कुमार शर्मा को दुबारा हुई मतगणना में 388 व पूनम को 386 मत मिले, और जीत-हार का अंतर केवल दो वोटों का रहा। इनके अलावा कनिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर प्रशांत जोशी, संयुक्त सचिव प्रशासन पद पर मुकेश कपरुवाण, संयुक्त सचिव पद पर नवीन बिष्ट, वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य के पदों पर भुवनेश जोशी, रमेश जोशी, सौरभ पांडेय, तनुज सेमवाल व संजीव सिंह तथा कनिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य के पदों पर रजनी सुप्याल लटवाल, कांति राम शर्मा व गौरव कांडपाल निर्वाचित हुए हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट बार चुनाव: सभी नामांकन सही, एक नामांकन वापस

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 मई 2022। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव के लिए किए गए सभी नामांकन सही पाए गए हैं। जबकि वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य पद के एक प्रत्याशी चंद्रशेखर जोशी ने नाम वापस लिया है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी योगेश पचौलिया ने बताया कि इसके बाद अध्यक्ष पद हेतु निवर्तमान अध्यक्ष अवतार सिंह रावत, शशिकांत शांडिल्य व प्रभाकर जोशी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष (सामान्य) के लिए कौशल शाह जगाती, मोहिंदर बिष्ट एवं विकास कुमार गुगलानी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष-महिला हेतु प्रभा नैथानी एवं चरनजीत कौर, कनिष्ठ उपाध्यक्ष हेतु एकमात्र प्रशांत जोशी, सचिव पद हेतु सौरभ अधिकारी एवं निवर्तमान सचिव विकास बहुगुणा, संयुक्त सचिव-प्रशासन हेतु मुकेश कुमार कपरुवाण, संयुक्त सचिव (प्रेस) हेतु नवीन बिष्ट, कोषाध्यक्ष पद हेतु सिद्धार्थ जैन, लता नेगी, पुस्तकालयाध्यक्ष पद हेतु योगेश शर्मा व पूनम, वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य पद हेतु भुवनेश जोशी, विनोदानंद बर्थवाल, तनुज सेमवाल, सौरभ पांडे, चंद्रशेखर जोशी, संजीव सिंह, रमेश जोशी, वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य-महिला हेतु शिवांगी गंगवार, कनिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य हेतु अजय कुमार, प्रेम प्रकाश भट्ट, मयंक पांडे, गौरव कांडपाल, यशवंत खाती, किशन सिंह, कांति राम, रजनी सुप्याल, भूपेंद्र प्रसाद, जूनियर कार्यकारिणी सदस्य-महिला हेतु एकमात्र नीती राणा ने नामांकन किया है। आगे बुधवार 25 मई को प्रत्याशियों की आम सभा होगी, जबकि मतदान व मतगणना 27 मई को होगी। चुनाव में 1229 सदस्य मतदान करेंगे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव के लिए पहले दिन 67 दावेदारों ने लिए नामांकन पत्र, जानें किन्होंने और किन पदों के लिए

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 21 मई 2022। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव हेतु नामांकन पत्रों की बिक्री प्रारंभ हो गई है। शनिवा को विभिन्न पदों के लिये कुल 67 नामांकन पत्र बिके। आगे नामांकन पत्र 23 मई तक जमा होंगे।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी योगेश पचौलिया ने बताया कि शनिवार को नामांकन पत्र बिक्री के पहले दिन अध्यक्ष पद हेतु निवर्तमान अध्यक्ष अवतार सिंह रावत, शशिकांत शांडिल्य, प्रभाकर जोशी, हिरेन्द्र रावल व पूरन सिंह ने, वरिष्ठ उपाध्यक्ष-सामान्य के पद के लिए कौशल शाह जगाती, मोहिंदर सिंह बिष्ट एवं विकास कुमार गुगलानी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष महिला के पद हेतु प्रभा नैथानी एवं चरनजीत कौर, कनिष्ठ उपाध्यक्ष पद हेतु भाष्कर जोशी, सुशील वशिष्ठ, प्रशांत जोशी, प्रभात वोहरा व गिरीश जोशी, सचिव पद हेतु सौरभ अधिकारी एवं निवर्तमान सचिव विकास बहुगुणा, संयुक्त सचिव-प्रशासन पद हेतु मुकेश कुमार कपरुवाण व शिवांगी गंगवार,

संयुक्त सचिव-प्रेस हेतु नवीन बिष्ट एवं किसन सिंह, कोषाध्यक्ष पद हेतु सिद्धार्थ जैन, लता नेगी एवं शिवांगी गंगवार, पुस्तकालयाध्यक्ष पद हेतु किशन सिंह, योगेश शर्मा व पूनम, वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य हेतु भुवनेश जोशी, विनोदानंद बर्थवाल, तनुज सेमवाल, सौरभ पांडे, योगेश शर्मा, पूनम, चंद्रशेखर जोशी, संजीव सिंह व रमेश जोशी, वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य-महिला पद हेतु पूनम व शिवांगी गंगवार जबकि कनिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य हेतु अजय कुमार, प्रेम प्रकाश भट्ट, मयंक पांडे, गौरव कांडपाल, आनंद सिंह, यशवंत खाती, किशन सिंह, कांति राम, रजनी सुपलियाल, भूपेंद्र प्रसाद तथा जूनियर कार्यकारिणी सदस्य-महिला हेतु नीती राणा व रीमा राणा ने नामांकन पत्र लिए हैं।

श्री पचौलिया ने बताया कि बार एसोसिएशन के चुनाव हेतु करीब 1200 अधिवक्ताओं की मतदाता सूची जारी की गई है। मतदान में ‘एक बार-एक वोट’ का नियम लागू होगा। इसके अनुसार दूसरे बार संघों के चुनाव में भाग ले चुके अधिवक्ता हाईकोर्ट बार के चुनाव में भाग नहीं ले पाएंगे। यह भी बताया कि अध्यक्ष पद हेतु नामांकन शुल्क 35 हजार, सचिव व वरिष्ठ उपाध्यक्ष के लिये 25 हजार तथा अन्य पदों के लिये इससे कम शुल्क निर्धारित है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड उच्च न्यायालय में अधिवक्ताओं के ड्रेस कोड में पहाड़ी टोपी को शामिल किए जाने के लिए शुरू हुई मुहिम…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 20 मई 2022। उत्तराखंड उच्च न्यायालय में अधिवक्ताओं के ड्रेस कोड में पहाड़ी संस्कृति की परिचायक पहाड़ी टोपी को शामिल किए जाने के लिए उच्च न्यायालय के अधिवक्ता एमसी पंत की ओर से ‘पहाड़ी टोपी मेरी शान’ नाम से एक मुहिम शुरू की गई है।

इस मुहिम के तहत पहले चरण में अधिवक्तााओं को पहाड़ी टोपी पहनने के लिए जागरूक किया जाएगा और दूसरे चरण में उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश व बार काउंसिल के समक्ष प्रत्यावेदन देकर पहाड़ी टोपी को उच्च न्यायालय में अधिवक्ताओं के ड्रेस कोड में शामिल किए जाने की माग की जाएगी।

इस अभियान के संयोजक हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष एमसी पंत ने कहा कि हिमांचल प्रदेश व पंजाब उच्च न्यायालय में वहां की परम्परागत टोपी व पगड़ी तथा दक्षिण भारत के उच्च न्यायालयों में वहां के परंपरागत परिधान पहनने की अनुमति है। उत्तराखंड में पहाड़ी टोपी स्वतंत्रता आंदोलन में एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पं. बद्रीदत्त पांडे के नेतृत्व में हुए कुली बेगार आंदोलन के दौर से उत्तराखण्ड की पहचान रही है। इसलिये उत्तराखंड उच्च न्यायालय में भी पहाड़ी टोपी पहनने की अनुमति मिलनी चाहिये।

उन्होंने बताया कि इस जनजागरण अभियान में हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के निवर्तमान अध्यक्ष अवतार सिंह रावत, पूर्व सांसद डॉ. महेंद्र पाल, पूर्व अध्यक्ष ललित बेलवाल, एसके जैन, विवेक शुक्ला, कमलेश तिवारी, भुवनेश जोशी, सुंदर सिंह भंडारी, उत्तम सिंह भाकुनी, प्रेम कौशल, योगेश पचौलिया, नंदन सिंह कन्याल, मोहम्मद उमर, डॉ. कार्तिकेय हरि गुप्ता, त्रिलोचन पांडे सहित अनेक अधिवक्ता शामिल हैं। आगे अभियान को व्यापक रूप दिया जाएगा। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के नए चुनाव की दुंदुभी बजी, चुनाव अधिकारी मनोनीत

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 मई 2022। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन चुनाव की नई कार्यकारिणी के चुनाव की दुंदुभी बज गई है। चुनाव प्रक्रिया के लिए शुक्रवार को सर्वसम्मति से योगेश पचौलिया को मुख्य चुनाव अधिकारी मनोनीत किया गया।

शुक्रवार को बार एसोसिएशन की आम सभा में वर्तमान अध्यक्ष अवतार सिंह रावत ने अपने एक साल के कार्यकाल का लेखा-जोखा सदन के समक्ष रखा। बताया कि कोविड काल की विषम परिस्थितियों के बावजूद बार अध्यक्ष का कार्यभार ग्रहण करते हुए बार के खाते में जो लगभग 26 लाख रुपये थे, उन्हें यथावत रखा है। उन्होंने महिला अधिवक्ताओं के लिए बनाए गए कॉमन रूम की भी जानकारी दी, जिसका आज शुभारंभ किया गया।

इसके बाद मुख्य चुनाव अधिकारी के नाम के लिए बार के पूर्व महासचिव अधिवक्ता कमलेश तिवारी ने योगेश पचौलिया का नाम प्रस्तावित किया, जिसे सदन ने ध्वनिमत से स्वीकार किया। चुनाव अधिकारी पचौलिया ने बताया कि जल्द ही सदस्यों की जांच कर मतदाता सूची जारी की जाएगी तथा चुनाव संचालन समिति गठित कर चुनाव तिथि की घोषणा की जाएगी। संचालन एसोसिएशन के महासचिव विकास बहुगुणा ने किया।

सभा में डीसीएस रावत, प्रीता भट्ट, पुष्पा जोशी, डॉ. महेंद्र पाल, एमसी पंत, कमलेश तिवारी, राजेश जोशी, गीता परिहार, चरनजीत कौर, प्रभा नैथानी, विजय लक्ष्मी फर्त्याल, डीएस मेहता, शशिकांत, नवीन तिवारी, पीएस बिष्ट, सौरभ अधिकारी, शक्ति प्रताप सिंह, मधु सामंत, भुवनेश जोशी, मोहिंदर बिष्ट, अक्षय लटवाल, ललित सामंत, मेनका त्रिपाठी, श्रुति जोशी, सुशील वशिष्ठ, राजेश शर्मा, घनश्याम जोशी, संजय भट्ट, दीप जोशी, आरएस सम्भल, टीपीएस टाकुली, संदीप तिवारी आदि मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : महिला अधिवक्ता एवं उनके पति से फोन पर अभद्रता, जान से मारने की धमकी

Coronavirus: Government Will Give Five-five Thousand Rupees To 5600  Advocates - Coronavirus: 5600 अधिवक्ताओं को पांच-पांच हजार रुपये देगी सरकार  - Amar Ujala Hindi News Liveडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 27 अप्रैल 2022। नगर में एक महिला अधिवक्ता ने उन्हें व उनके पति को अज्ञात व्यक्ति द्वारा अभद्रता व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए पुलिस में तहरीर दी हैं। इस पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर जांच शुरू कर दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तराखंड उच्च न्यायालय में प्रैक्टिस करने वाली महिला अधिवक्ता ने पुलिस को तहरीर में बताया है कि गत 20 अप्रैल को उसके मोबाइल पर अज्ञात नंबर से फोन आया। न्यायालय में होने के कारण वह फोन नहीं उठा पाईं। बार-बार फोन आने पर फोन रिसीव कर खुद को अधिवक्ता बताते हुए व्यस्त होने की बात कही तो फोन करने वाले अज्ञात व्यक्ति ने गाली-गलौज करने के साथ उन्हें घर से उठा लेने की धमकी दी।

उन्होने यह बात अपने पति को बताई और पति ने उस नंबर पर फोन तो उसने उनके पति को भी जान से मारने की धमकी दी। कोतवाल प्रीतम सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर अज्ञात मोबाइल धारक के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर जांच शुरू कर दी है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : विधायक सरिता ने की पहली 10 लाख की घोषणा जिला बार के नाम

-अधिवक्ताओ के चैंबर निर्माण के लिये विधायक निधि से 10 लाख रुपये देने की घोषणा
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 14 अप्रैल 2022। नैनीताल की नवनिर्वाचित विधायक सरिता आर्य ने गुरुवार को अपनी पहली घोषणा जिला बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं के लिये चैंम्बर निर्माण हेतु दस लाख रुपये देने की की। अंबेडकर जयंती के अवसर पर जिला बार के प्रताप भय्या सभागार में आयोजित कार्यक्रम में अधिवक्ताआंे के बीच पहुंची विधायक सरिता ने बाबा साहब को याद करते हुए कहा कि बाबा साहब ने अधिवक्ता रहते हुए देश के उच्च पदों को सुशोभित किया। वास्तव में अधिवक्ता गरीब वंचितों को न्याय दिलाने के साथ ही समाज को जागरूक भी करते है।

उन्होंने कहा कि अधिवक्ताओं के चैंबर निर्माण के लिये उनसे जो भी बन पड़ेगा वह करेंगी। चैंबर निर्माण में किसी तरह की कमी नही आने देंगी। विदित हो कि वर्षों से जीर्ण शीर्ण हो चुके टिन शेड में चल रहे चैंबरों की जगह अधिवक्ता अपने प्रयासों से बिना सरकारी मदद के चैंबरों का निर्माण करवा रहे हैं।

इस अवसर पर जिला बार के अध्यक्ष नीरज साह, सचिव दीपक रुवाली, वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय सुयाल, कनिष्ठ उपाध्यक्ष तरुण चंद्रा, कोषाध्यक्ष मनीष कांडपाल, प्रेस सचिव शिवांशु जोशी, जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील शर्मा, राजेंद्र पाठक, भगवत प्रसाद, नवीन पंत, पंकज कुमार, सुभाष जोशी, रविशंकर आर्य, शंकर चौहान, अनिल कुमार व बार लिपिक गौतम कुमार आदि मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

‘नवीन समाचार’ पर पूर्व में प्रकाशित अधिवक्ताओं से संबंधित समाचार पढ़ने को यहां क्लिक करें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

3 Replies to “महिला अधिवक्ता से साथी अधिवक्ता ने किया ब्लैकमेल कर दुष्कर्म

  1. प्रभा नैथानी ने महिला उपाध्यक्ष पद पर नही वरिष्ठ महिला कार्यकारिणी पद पर जीत दर्ज की है

Leave a Reply