News

गजब की हिमाकत, आधी रात को नाबालिग को भगाकर उससे शादी करने थाने पहुंच गया आशिक, और फिर जो हुआ….

Saharanpur miscreant arrested with weapon from Dehradun - सहारनपुर का बदमाश  तमंचे के साथ देहरादून से गिरफ्तार, गैंगस्टर का मुकदमा है दर्ज

नवीन समाचार, लालकुआं, 20 जून 2022। नैनीताल जनपद के लालकुआं में एक युवक को नाबालिग किशोरी से आशिकी करना भारी पड़ गया। आधी रात में नाबालिग लड़की को भगाने के बाद युवक शादी करने की इच्छा लेकर गजब की हिमाकत करते हुए अपनी नाबालिग प्रेमिका को साथ लेकर सीधे थाने ही पहुंचा गया। इस पर पुलिस ने उसकी शादी की इच्छा तो पूरी नहीं की, अलबत्ता नाबालिग लड़की को घर से भगाने के आरोप में उस पर मुकदमा दर्ज कर उसे जेल जरूर भेज दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार वाला हल्दूचौड़ के जग्गीबंगर इलाके के रहने वाला युवक पड़ोस में ही रहने वाली अपनी नाबालिग प्रेमिका को आधी रात को बहला-फुसलाकर उसके घर से अपने साथ भगा ले आया। आधी रात में लड़की के परिजनों को जैसे ही इसकी भनक लगी, उन्होंने पहले लड़की की खोजबीन की, लेकिन जब उसका कुछ पता नहीं चला तो वे लालकुआं कोतवाली पहुंचे और पड़ोस में ही रहने वाले युवक पर नाबालिग बेटी को भागकर ले जाने की आशंका व्यक्त की।

पुलिस ने भी नाबालिग को भगाने के आरोप में युवक के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की आधार 363 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस आरोपित युवक और नाबालिग लड़की की तलाश कर ही रही थी कि सुबह होते ही आरोपित युवक अपनी नाबालिग प्रेमिका के साथ थाने पहुंच गया। युवक ने पुलिस को बताया कि वह नाबालिग लड़की से प्यार करता है और उसके साथ शादी करना चाहता है। युवक ने पुलिस से लड़की के साथ शादी करवाने की गुहार भी लगाई, लेकिन पुलिस ने आरोपित को हिरासत में लिया और न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया।

वरिष्ठ उप निरीक्षक बलवंत सिंह कंबोज ने बताया कि फिलहाल आरोपी का नाबालिग को भगाने की धाराओं में चालान किया गया है। पीड़िता का मेडिकल कराने के साथ ही मजिस्ट्रेटगए के समक्ष उसके बयान भी दर्ज कराए हैं। चिकित्सकीय जांच एवं मजिस्ट्रेटी जांच की रिपोर्ट के आधार पर मुकदमे में धाराएं बढ़ाई जाएंगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी: 17 वर्षीय नाबालिग किशोर बिना लाइसेंस स्कूटी पर गैरलाइसेंसी तमंचे व कारतूस से साथ पकड़ा गया

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 30 अप्रैल 2022। टीवी व मोबाइल गेम की दुनिया में जीने वाले बच्चे हथियारों को खिलौना समझने लगे हैं। हल्द्वानी की यातायात नगर पुलिस ने एक 17 वर्षीय नाबालिग किशोर को बिना लाइसेंस के स्कूटी चलाते हुए गैर लाइसैंसी तमंचे व जिंदा कारतूस के साथ पकड़ा। अलबत्ता उसके भविष्य को देखते हुए उसे उसके परिजनों को बुलाकर उनकी काउंसिलिंग कराकर सोंप दिया। अलबत्ता, बिना लाइसेंस के स्कूटी चालाने पर उसके खिलाफ कार्रवाई की गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार यातायात नगर पुलिस चौकी प्रभारी मनोज कुमार, एसआई विकास रावत व आरक्षी पुष्कर रौतेला ने शुक्रवार शाम सतवाल पेट्रोल पंप के पास वाहनों की जांच-के दौरान एक नाबालिग किशोर को शक होने पर पकड़ा। उसने पुलिस टीम को देखकर कुछ दूर पहले ही स्कूटी रोक ली थी और वापस मुड़ने का प्रयास कर रहा था। इसलिए उसे शक होेन पर पकड़ा गया। तलाशी करने पर उसकी स्कूटी की डिक्की में एक 12 बोर का तमंचा, एक जिंदा कारतूस और एक 12 बोर के तमेचे के कारतूस का खोखा बरामद हुआ। पूछताछ में किशोर ने बताया कि वह शौक में अपने दादा स्वर्गीय दादा का तमंचा लेकर घूमता है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अब नैनीताल के एक छात्रावास में भी रैगिंग

Ragging Report 2020: यूजीसी ने रैगिंग को लेकर किया चौंकाने वाला खुलासा- Ragging Report 2020: यूजीसी ने रैगिंग को लेकर किया चौंकाने वाला खुलासा, टॉप  पर यूपी | News24डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 21 अप्रैल 2022। जो व्यवहार हम अपने लिए नहीं चाहते, वही व्यवहार हम मौका मिलने पर दूसरों, खासकर कमजोरों के साथ करने में नहीं झिझकते। हल्द्वानी, अल्मोड़ा व सुयालबाड़ी के बाद अब नगर के तल्लीताल क्षेत्र स्थित डीएसबी परिसर के केनफील्ड हॉल्टल में प्रथम वर्ष के छात्रों के साथ रैगिंग का मामला सामने आया है।

बताया गया है कि छात्रावास में प्रथम वर्ष के छात्रों को वरिष्ठ छात्रों के द्वारा घंटों सिर झुकाकर खड़ा किया जाता है। स्थिति यहां तक खराब है कि प्रथम वर्ष के छात्र इसकी शिकायत छात्रावास अधीक्षक से भी नहीं कर पा रहे हैं। अलबत्ता, एक छात्र ने अपने परिजनों को इसकी सूचना दी। इसके बाद परिजनों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले को लेकर छात्रावास में जांच पड़ताल की और वरिष्ठ छात्रों को फिलहाल उनके भविष्य की खातिर चेतावनी देकर छोड़ दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार केन्फील्ड छात्रावास में बीएससी प्रथम वर्ष के एक छात्र की ओर से उसके पिता द्वारा तल्लीताल थाना पुलिस को जानकारी दी गई कि उनके वरिष्ठ छात्रों के द्वारा उन्हें 1 घंटे से अधिक के समय तक सावधान की मुद्रा में और सिर झुकाकर खड़े रहने को कहा गया। स्वास्थ्य खराब होने के कारण छात्र ने वरिष्ठ छात्रों को ऐसा करने में परेशानी बताई तो एक वरिष्ठ छात्र ने उसे थप्पड़ जड़ दिया।

छात्र इसकी शिकायत वार्डन से करने जा रहा था तो वरिष्ठों ने उसे डरा-धमका दिया। इसके बाद किसी तरह उसने इसकी सूचना अपने परिजनों को दी। इसके बाद छात्र के परिजनों ने चीता मोबाइल को मामले की सूचना दी गई। सूचना के बाद तत्काल होस्टल पहुचे चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा ने छात्रों से पूछताछ की। छात्रावास अधीक्षक डॉ. संतोष कुमार को भी मामले की जानकारी और हिदायत दी गई।

शिवराज राणा ने बताया ने छात्रावास के सभी छात्रों को बताया गया कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार रैंगिंग प्रतिबंधित है। अगर अब कोई भी छात्र रैंगिंग में लिप्त पाया जाएगा तो तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेजा जाएगा। वरिष्ठ छात्रों ने भी भविष्य में ऐसी गलती न करने का आश्वाशन दिया, इसके बाद उन्हें उनके भविष्य को ध्यान में रखते हुए उन्हें चेतावनी देकर छोड़ दिया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जवाहर नवोदय विद्यालय में रैगिंग में शामिल पांच छात्रों पर कार्रवाई, घर भेजा

-कुछ और छात्राओं पर भी कार्रवाई हो सकती है
Action on students accused of ragging in Nainital Suyalbari Navodaya - सुयालबाड़ी  नवोदय में रैगिंग के आरोपित छात्रों पर कार्रवाई, पांच छात्रों को भेजा घरडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 8 अप्रैल 2022। नैनीताल जनपद में अल्मोड़ा-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय गंगरकोट-सुयालबाड़ी में वरिष्ठ व कनिष्ठ छात्रों में मारपीट का मामला गर्माने के बाद 10वीं और 12वीं कक्षा के पांच विद्यार्थियों को विद्यालय से घर भेज दिया गया है। विद्यालय के प्रधानाचार्य राज सिंह ने इसकी पुष्टि की है। बताया है कि अभी कुछ और विद्यार्थियों पर फैसला होना है।

उल्लेखनीय है कि जवाहर नवोदय विद्यालय में कुछ दिन पूर्व नए-कनिष्ठ छात्रों को विद्यालय का अनुशासन सिखाने के नाम पर मारपीट किए जाने का मामला सामने आया था। आरोप था कि पुराने-वरिष्ठ छात्र नए छात्रों को अनुशासन सिखाने के नाम पर उनकी रैगिंग ले रहे थे। नए छात्रों से मैस से खाना मंगवाने के साथ ही अन्य कार्य कराए जा रहे थे। मामला सामने आने के बाद जांच बैठा दी गई थी। इस पर नवोदय विद्यालय समिति के लखनऊ संभाग के असिस्टेंट कमिश्नर पीआर प्रसाद राव ने गत 17 मार्च को विद्यालय पहुंचकर जांच शुरू की।

इस दौरान विद्यालय के प्रधानाचार्य, असिस्टेंट कमिश्नर तथा उप प्रधानाचार्य की टीम ने अभिभावकों के सामने करीब 40 से अधिक विद्यार्थियों की काउंसलिंग की। बाद में आरोपों से घिरे 40 में से करीब 12 विद्यार्थियों के नाम सामने आए। अब लखनऊ संभाग की अनुशासन समिति की जांच रिपोर्ट के आधार पर 10वीं और 12वीं कक्षा के पांच छात्रों पर कार्रवाई कर दी है। उन्हें घर भेज दिया गया है। अलबत्ता उन्हें अभिभावकों के साथ विद्यालय पहुंचकर परीक्षा में शामिल होने और अभिभावकों के साथ ही वापस घर लौटने यानी परीक्षा देने की छूट दी गई है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : धार्मिक स्थल में 15 वर्षीय किशोर के उत्पीड़न का मामला आया सामने, कील लगे डंडे से करते थे पिटाई…

Uttarakhand is on 18th Position in Child abuse - बाल उत्पीड़न मामले में  उत्तराखंड का देश में 18वां स्थाननवीन समाचार, रुद्रपुर, 4 अप्रैल 2022। नेपाली मूल के किशोर के साथ बालाजी मंदिर रुद्रपुर के महंत और उनके पुत्र के द्वारा अगवा कर बंधुवा मजदूरी कराने, उसे कील लगे डंडे से पीटकर प्रताणित करने का मामला आया है। शहर कोतवाल विक्रम राठौर ने बताया कि रविवार को महंत और उनके पुत्र के खिलाफ किशोर को अगवा का बंधुवा मजदूरी करवाने का केस दर्ज कर लिया है। जांच की जा रही है, इसके बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक भरतपुर, चितवन, नेपाल के रहने वाले रोहन बगाले ने बताया कि उसका वर्तमान में 15 साल की उम्र का छोटा भाई वर्ष 2018 में घर से चला गया। वृंदावन में वहएक महंत के संपर्क में आया, जो उसे रुद्रपुर स्थित बालाजी मंदिर में ले आए।

आरोप है कि मंदिर में किशोर के साथ मंदिर के महंत रमेश वशिष्ठ व उनके बेटे अभिषेक वशिष्ठ ज्यादती करते थे। आए दिन उसकी पिटाई करने के साथ उसे खाना भी नहीं दिया जाता था। मंदिर के साथ गौशाला का काम भी करवाते थे और काम न करने पर कील लगी लकड़ी से पीटते थे। इस कारण एक बार उसे गंभीर रूप से घायल होने पर क्लीनिक भी जाना पड़ा। घर जाने की बात कहने पर भी उसे डराया-धमकाया जाता था। लिहाजा पीड़ित की ओर से महंत और उसके पुत्र के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई थी।

इस पर पुलिस ने बचपन बचाओ आंदोलन और चाइल्ड लाइन की टीम की मदद से किशोर को महंत के कब्जे से छुड़वाकर जिला बाल कल्याण समिति के सुपुर्द कर दिया है। जहां काउसंलिंग के बाद जिला बाल कल्याण समिति ने पुलिस से बाल हित उल्लंघन के मामले में जांच कर कानूनी कार्रवाई के लिए पुलिस को निर्देश दिए। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नाबालिग बच्चा ले रहा तीन लाख की बाइक का मजा, पिता भुगत रहा सजा, हालांकि मूल गलती पिता की ही

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मार्च 2022। एक 10वीं कक्षा के करीब 15-16 वर्षीय नाबालिग बच्चे को बाइक देने की सजा उसके पिता को भुगतनी पड़ रही है। हालांकि मूल गलती पिता की भी है। शनिवार को पुलिस घर पहुंची और बाइक को थाने ले आई। इसके बाद पिता ने हर्जाना भुगतकर जान छुड़ाई।

हुआ यह कि शुक्रवार को अनियंत्रित गति से चल रही एक करीब तीन लाख रुपए मूल्य की केटीएम बाइक ने डीएसबी परिसर के पास लगातार दो वाहनों को टक्कर मार दी। इनमें अपने बच्चे को विद्यालय छोड़ने जा रहे उत्तराखंड उच्च न्यायालय के अधिवक्ता आयुष पंत एवं उनके बच्चे को चोट आई तथा उनका वाहन भी क्षतिग्रस्त हुआ। पंत ने तत्काल इसकी लिखित शिकायत पुलिस में की। तल्लीताल थाना पुलिस के चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा ने पता लगाया कि यह बाइक संख्या UK04AG-2564 अजय कुमार निवासी नारायण नगर, नैनीताल की है।

उन्होंने अपने नाबालिग बच्चे को करीब 3 लाख रुपए की यह केटीएम बाइक दी है। मामले में मुकदमा दर्ज होने की नौबत आने पर अजय कुमार ने शनिवार को किसी तरह अधिवक्ता पंत सहित दोनों दुर्घटनाओं के प्रभावितों को नुकसान की भरपाई की और माफी मांगकर अपनी जान छुड़ाई। पुलिस ने अभिभावकों से अपील की है कि अपने नाबालिग बच्चों को इस तरह दोपहिया वाहन चलाने को न दें। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : चार साल की बच्ची से चीज दिलाने के बहाने दुष्कर्म, पांच गुना अधिक उम्र का है आरोपित

सगा भाई 3 साल तक करता रहा छोटी बहन से रेप, अब सता रहा है ये डर - brother  raped younger sister for 3 years jalandhar punjab tsts - AajTak

नवीन समाचार, शक्तिफार्म, 19 दिसंबर 2021। ऊधमसिंह नगर जिले के सितारगंज के निकटवर्ती शक्तिफार्म में 20 वर्षीय युवक द्वारा चार साल की मासूम के साथ बहला-फुसलाकर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने बच्ची के पिता की शिकायत पर मासूम का मेडिकल परीक्षण कराने के बाद आरोपित के खिलाफ दुराचार के आरोप में भारतीय दंड संहिता एवं पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और आरोपित को पकड़ने के लिये जुट गई है। आरोपित घर से फरार बताया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार 18 दिसम्बर को आरेापित शुभम चार साल की बच्ची को चीज दिलाने के बहाने ले गया और अपने घर में बच्ची से दुराचार किया। जब बच्ची के परिजनों को इसका पता चला तो उन्होंने पुलिस में शिकायत की। शक्तिफार्म चौकी प्रभारी संजीत कुमार ने बताया कि मामले में तत्काल मुकदमा दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार करने के लिये टीमें दबिश दे रही है। आरोपित शुभम को कुछ दिन पूर्व पुलिस बैट्री चुराने के मामले में गिरफ्तार कर चुकी है। जेल से रिहा होने के बाद बच्ची से पांच गुना अधिक उम्र के आरोपित ने दुष्कर्म का अपराध किया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : आठ साल की बच्ची से टॉफी खिलाने के बहाने ले जाकर दुष्कर्म

नवीन समाचार, रानीखेत, 11 दिसंबर 2021। अल्मोड़ा जनपद के रानीखेत तहसील की द्वाराहाट विकासखंड के एक गांव में आठ साल की बच्ची से दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। बताया गया है कि बच्ची एक श्रमिक की बेटी है। आरोपित ने बच्ची को टॉफी खिलाने के बहाने घर से ले जाकर दुराचार किया। राजस्व पुलिस ने आरापित को गिरफ्तार कर लिया है। उसके खिलाफ पॉक्सो सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है। घटना से क्षेत्र में रोष है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती 8 दिसंबर को जब आठ वर्षीय बच्ची के माता-पिता मजदूरी करने गए थे, आरोपित बच्ची को टॉफी का लालच देकर अपने घर ले गया, और उसके साथ जबरदस्ती दुष्कर्म किया। शोर मचाने पर उसे डराया धमकाया भी। काफी देर बाद डरी सहमी बच्ची अपने घर पहुंची तो घर पर मौजूद दादी को उसने पूरी आपबीती सुनाई। मजदूरी के बाद घर लौटे माता-पिता घटना की जानकारी पाकर सन्न रह गए। अगले दिन उन्होंने क्षेत्र की राजस्व चौकी में आरोपित के खिलाफ तहरीर दी।

शुरुआती जांच और बच्ची के बयान दर्ज करने के बाद राजस्व पुलिस ने बच्ची का मेडिकल परीक्षण कराया। संबंधित राजस्व उपनिरीक्षक के अनुसार आधार कार्ड में पीड़ित बच्ची की उम्र सात साल 10 माह है। आरोपित के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 323 व 376 तथा पॉस्को अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 3 साल की मासूम बच्ची के साथ 16 साल का किशोर हैवानियत करता मिला, सामने देखकर मां रह गई अवाक….

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 28 नवंबर 2021। शहर में तीन साल की मासूम से एक 16 वर्षीय नाबालिग किशोर द्वारा दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है। आरोपित किशोर घटना के बाद फरार हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस जानकारी लेकर आरोपित की तलाश में जुट गई है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर में पत्नी व बच्चों के साथ किराये पर रहने वाला व्यक्ति काम पर गया हुआ था, और उसकी पत्नी व तीन साल की पुत्री घर पर ही थे। इस बीच कुछ देर के लिए बच्ची की मां कुछ काम से घर के बाहर गई थी, तभी बच्ची को अकेला देख पड़ोस में किराए में रहने वाला 16 साल का किशोर वहां पहुंच गया और दुष्कर्म करने लगा। कुछ देर बाद बच्ची की मां घर पहुंची तो वह बच्ची के साथ दुष्कर्म कर ही रहा था। मासूम बच्ची के साथ हो रही ऐसी हैवानियत देखकर बच्ची की मां अवाक रह गई।

मां के शोर मचाने पर आरोपित फरार हो गया। जबकि बच्ची को गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। सूचना पर कोतवाल विक्रम राठौर, रम्पुरा चौकी प्रभारी अनिल जोशी पुलिस कर्मियों के साथ पहुंचे और घटना की जानकारी ली। साथ ही आरोपित की तलाश शुरू कर दी है। उम्मीद की जा रही है कि उसे जल्द ही पकड़ लिया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply