Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

चार दशक में डेढ़ किमी पीछे खिसक गया पिंडारी ग्लेशियर

यूसैक देहरादून, कुमाऊं विवि, नैनीताल व आईआईएसईआर, कोलकाता का संयुक्त अध्ययन  अध्ययन में रिमोट सेंसिंग के माध्यम से ग्लेशियर की

Read more

Destination Kumaon (कुमाऊं का प्राकृतिक सौंदर्य)

यदि आपको कोई फोटो अच्छी लगती हैं, और उन्हें बिना “वाटर मार्क” के और बड़े उपलब्ध आकार में चाहते हैं

Read more

नैनीताल पैनोरमा

यदि आपको कोई फोटो अच्छी लगती हैं, और उन्हें बिना “वाटर मार्क” के और बड़े उपलब्ध आकार में चाहते हैं

Read more

नैनीताल में पर्यटन

नैनीताल-कुमाऊं में पर्यटन सुविधाएं Hotels in Nainital-Kumaon :  CLick the Links and Directly reach to the concerned Establishments: Kumaon Mandal

Read more

नैनीताल की स्मरणीय सौगातें

यदि आपको कोई फोटो अच्छी लगती हैं, और उन्हें बिना “वाटर मार्क” के और बड़े उपलब्ध आकार में चाहते हैं

Read more

अब केवल 9 दिनों में कीजिए कैलाश मानसरोवर यात्रा

-2012 से की जा रही है यात्रा, हेलीकॉप्टर व हवाई जहाज से नेपाल के रास्ते सुगम तरीके से होगी यात्रा

Read more

देवभूमि के कण-कण में ‘देवत्व’: विश्व हिंदी सम्मेलन के संयोजक व अंतर्राष्ट्रीय पत्रकार डा. अशोक ओझा के हाथों हुआ विमोचन

नैनीताल। अमेरिका में हिंदी के जरिये रोजगार के अवसर विषयक कार्यक्रम के दौरान विश्व हिंदी सम्मेलन के संयोजक, अमेरिकी सरकार

Read more

भद्रकालीः जहां वैष्णो देवी की तरह त्रि-पिंडी स्वरूप में साथ विराजती हैं माता सरस्वती, लक्ष्मी और महाकाली

ॐ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी। दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोस्तुते।। कहते हैं आदि-अनादि काल में सृष्टि की

Read more

झील के साथ ही खूबसूरत झरने भी बन सकते हैं नैनीताल की पहचान

नवीन जोशी, नैनीताल। विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी सरोवरनगरी नैनीताल की वैश्विक पहचान केवल नगर के भीतर के नैनी सरोवर व

Read more

महाशिवरात्रि पर विशेष :यहाँ भी है एक कैलास, जहाँ भी कैलास की तरह खुले में पार्थिव लिंग स्वरूप में विराजते हैं महादेव

-देखने में कैलास पर्वत की तरह ही  है ‘छोटा कैलास’ पर्वत -बड़ी मान्यता है भीमताल विकास खंड की ग्राम सभा

Read more

नैनीताल में विरासत महत्व के भवन

18 नवंबर 1841 में बसे नैनीताल के प्रमुख विरासत महत्व के भवनों में नगर का पहला भवन पिलग्रिम हाउस (1841),

Read more

नैनीताल आएं तो जरूर ले जाएं यहाँ के प्रसिद्ध काष्ठ उत्पाद

-सरोवरनगरी की पहचान हैं चीड़ के ठींठों व ड्रिफ्टवुड से बने कलात्मक उत्पाद नवीन जोशी नैनीताल। सरोवरनगरी आने वाले सैलानी

Read more

साततालः झीलों और अनछुवी प्रकृति का समग्र

On the Way to Sattal प्रकृति प्रेमी सैलानियों को खूब आकर्षित करता है यह पर्यटन स्थल नवीन जोशी,नैनीताल। झीलों के

Read more

किलवरीः ‘वरी’ यानी चिंताओं को ‘किल’ करने (मारने) का स्थान

Forest Rest House Kilbury सरोवरनगरी के निकट एडवेंचर व शांति पसंद सैलानियों के लिए विकसित हो रहा नया पर्यटक स्थल

Read more

‘नैना देवी हिमालयन बर्ड कंजरवेशन रिजर्व’

-वर्ल्ड बर्ड डेस्टिनेशन के रूप में पहले से ही प्रसिद्ध है किलवरी-पंगोट-विनायक ईको-टूरिज्म सर्किट नवीन जोशी, नैनीताल। उत्तराखंड प्रदेश की समृद्ध

Read more
Loading...