News

डीएसबी में छात्र-छात्राओं को अलग बैठाने का फरमान, भड़का संस्कारवान शिक्षा का पैरोकार छात्र संगठन..

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 अगस्त 2019। कुमाऊं विश्वविद्यालय के सर्वप्रमुख डीएसबी परिसर के वाणिज्य विभाग में छात्र एवं छात्राओं को अलग-अलग शिफ्ट की कक्षाओं में पढ़ने की व्यवस्था शुरू हुई है। इस पर छात्र-छात्राओं में संस्कारवान शिक्षा की बात करने वाला छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भड़क गया है। इसे समानता के दौर में विद्यार्थियों, खासकर छात्रों व छात्राओं के बीच विभेद पैदा करने वाला एवं पुरुषवादी सोच वाला कदम बताते हुए शुक्रवार को परिषद के कार्यकर्ताओं ने विरोध दर्ज करा दिया है, और आगे आंदोलन का ऐलान भी कर दिया गया है। इस मुद्दे को लेकर शुक्रवार को विशाल वर्मा, हरीश राणा, पंकज भट्ट, भरत अधिकारी, करन दनाई, रति मेलकानी, पवन कन्याल व करन देव आदि अभाविप कार्यकर्ताओं ने वाणिज्य विभागाध्यक्ष व परिसर अध्यक्ष डा. अतुल जोशी का घेराव भी किया। इधर परिषर के निवर्तमान राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य निखिल बिष्ट ने इसे तुगलकी फरमान बताते हुए कहा कि मुद्दे पर आंदोलन छेड़ा जाएगा।

विभागाध्यक्ष जोशी ने बताया कारण

नैनीताल। डीएसबी परिसर के वाणिज्य विभागाध्यक्ष प्रो. अतुल जोशी ने बताया कि बी कॉम के पहले, तीसरे व पांचवे सेमेस्टरों में 150 से अधिक विद्यार्थी पंजीकृत हैं। अधिक छात्र संख्या के कारण पहले अंग्रेजी के ए से एम तक से नाम शुरू होने वाले विद्यार्थियों को सुबह की 10 से 12 एवं एन से जेड नाम वालों को शाम की एक से तीन बजे की शिफ्ट में पढ़ाने की व्यवस्था की गयी थी। ऐसे में शाम की शिफ्ट में बच्चे नहीं आते थे। इसलिए छात्राओं के लिए सुबह एवं छात्रों के लिए सुबह की शिफ्ट में पढ़ने की व्यवस्था बैठक के बाद लागू की गयी है। विरोध में वाणिज्य विभाग के बजाय कला विभाग के अधिक छात्र आ रहे हैं। आगे पुनः बैठक कर निर्णय पर पुर्नविचार किया जा सकता है।

Leave a Reply

loading...