Crime

नैनीताल: चुनाव के दौरान महिला कर्मी के आरोपों से शर्मसार हुए कर्मचारी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाार, नैनीताल, 22 जनवरी 2021। कुमाऊं विश्वविद्यालय के शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ के चुनाव के दौरान एक ऐसा मामला प्रकाश में आया, जिससे एक कर्मचारी की हरकतों की वजह चुनाव के दौरान अन्य कर्मचारी भी शर्मसार महसूस करने लगे। हुआ यह कि एक प्रशासनिक भवन में कार्यरत एक महिला कर्मी ने अपने पुरुष सहकर्मी पर छेड़छाड़ व ह्वाट्सएप पर अभद्र संदेश भेजने का आरोप लगाया। उन्होंने इसकी शिकायत एक प्रत्याशी से की। इस पर मामला सार्वजनिक हो गया। इसके बाद अन्य कर्मचारियों ने भी आरोपित कर्मचारी को लताड़ा तथा पीड़िता को आरोपित कर्मचारी तबादला दूसरे अनुभाग में कराने और भविष्य में ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न होने देने का भरोसा दिलाया।

यह भी पढ़ें : युवती से मारपीट के बाद पिता-पुत्र सहित तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज..

नवीन समाचार, नैनीताल, 17 जनवरी 2021। जनपद मुख्यालय नैनीताल के दूरस्थ गांव बेल में एक युवती के साथ मारपीट के मामले में पिता-पुत्र सहित तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव में गत 15 जनवरी को आयोजित जनेऊ संस्कार में पीड़ित युवती अंजू परगांई पुत्री मदन सिंह परगांई को गांव के ही एक युवक ने थप्पड़ मार दिया था। इस पर युवती द्वारा रविवार को दी गई तहरीर पर तल्लीताल थाना पुलिस ने गांव के ही प्रताप सिंह, करन सिंह व गंगा सिंह के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 504 व 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। युवती ने आरोपितों पर मारपीट व गाली गलौच करने तथा जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। थाना प्रभारी विजय मेहता ने बताया कि मामले में एसआई महेश राम को जांच सोंपी गई है। जांच के बाद तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : पूर्व कर्मी की पत्नी ने मेयर पर लगाया जबर्दस्ती अश्लील हरकत करने का सनसनीखेज आरोप

नवीन समाचार, रुड़की, 10 जनवरी 2021। नगर निगम रुड़की के मेयर गौरव गोयल विवादों में फंसते नजर आ रहे है। गत दिनों उन्होंने अपने यहां काम करने वाले जिस व्यक्ति को जेल भिजवाया था, अब उस व्यक्ति की पत्नी ने मेयर अश्लील हरकत करने, हाथ पकड़कर गलत तरह से शरीर को छूने और जेल में बंद पति को जमानत पर छुड़वाने के ऐवज में एक दिन के लिए देहरादून चलने को कहने का सनसनीखेज आरोप लगाते हुए गंगनहर कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर कार्यवाही की मांग की है। पुलिस ने महिला से तहरीर लेकर जांच करने की बात कही है। वहीं इस मामले में मेयर की ओर से कोई स्पष्टीकरण नहीं आया है। यदि मेयर का पक्ष प्राप्त होता है तो उसे भी प्रकाशित किया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पूर्व मेयर के भाई ने मेयर के पूर्व कार्यालय प्रभारी पर घर में घुसकर मारपीट करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था, जिसके बाद उक्त कर्मी को पुलिस ने जेल भेज दिया था। अब जेल गए उस कर्मी की पत्नी ने मेयर गौरव गोयल पर गम्भीर आरोप लगाए हैं। महिला का कहना है कि वास्तव में उस दिन उसके पति मेयर के घर अपना पुराना वेतन मांगने के लिए गए थे। वह और उसकी सास भी साथ में थे। लेकिन मेयर के एक साथी ने उनके पति के साथ गाली गलौच कर दी थी, जिसका पति ने विरोध किया तो पति के साथ मारपीट कर उन्हें पुलिस को सौंप दिया गया। इधर महिला अपने पति की जमानत करवाने का प्रयास कर रही थी। आरोप है कि इसी दौरान मेयर गौरव गोयल ने उसे अपने घर बुलाया। इस पर वह अपनी सास के साथ मेयर के घर गई। घर पहुंचने पर मेयर उसे अलग से बात करने की बात कह अंदर ले गए और उन्होंने अचानक ही उसका हाथ पकड़ लिया और गलत तरीके से उनके शरीर को छूते हुए कहा कि अगर वह अपने पति की जमानत कराना चाहती है, तो उसे उनके साथ एक दिन के लिए देहरादून चलना होगा। महिला का आरोप है कि ऐसा कहकर मेयर उनके साथ जबरदस्ती करने लगे। उसने किसी तरह शोर मचाकर बड़ी मुश्किल से मेयर से खुद को छुड़ाया, और अपनी सास के साथ वापस लौट गई। महिला का कहना है कि वह कभी सोच भी नहीं सकती थी कि मेयर के पद पर बैठा एक जनप्रतिनिधि अपने कर्मचारी की पत्नी पर गंदी नजर रखता है, और परेशानी में उनके साथ ऐसी हरकत कर सकता है। अगर उसे मेयर की ऐसी सोच के बारे में पता होता तो वह उनके पास बुलाने पर कभी नहीं जाती।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : नाबालिग ने पी लिया सेनिटाइजर, गंभीर, नाबालिग शराब पीकर दे रहा था भगा ले जाने की धमकी..

नवीन समाचार, नैनीताल, 01 जनवरी 2020। गैरसेंण चमोली से नगर के तल्लीताल काठबांश में अपनी नानी के घर आई एक 17-18 वर्षीय नाबालिग किशोरी द्वारा सेनिटाइजर पीने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। किशोरी को बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में प्राथमिक उपचार के उपरांत उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए एसटीएच हल्द्वानी रेफर कर दिया गया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती रात्रि करीब साढ़े 9 बजे तल्लीताल थाना पुलिस को 112 पर जेल के पास स्थित कांठबांश में दो पक्षों में शराब पीकर घमासान होने की सूचना मिली। इस पर चीता मोबाइल प्रभारी मुख्य आरक्षी शिवराज राणा ने दोनों पक्षों को समझा बुझा कर घर भेज दिया। भिड़ने का कारण एक स्थानीय नाबालिग द्वारा गैरसेंण चमोली से अपनी नानी के घर आई नाबालिग किशोरी से कथित तौर पर छेड़छाड़ करना था। पुलिस के अनुसार इस दौरान छेड़छाड़ का आरोपित नाबालिग शराब पीकर किशोरी को भगा ले जाने को भी कह रहा था। जबकि लड़की और लड़का पक्ष के लोग एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे थे। लेकिन डांठ पहुंचने तक पुनः सूचना आई कि दुबारा से दोनों पक्ष भिड़ गए हैं। इस पर पुलिस पार्टी दुबारा मौके पर पहुंची। वहां 15-20 लोग आपस में भिड़े हुए थे और हाथापाई भी कर रहे थे। पुलिस ने उन्हें वापस समझा-बुझाकर उनके घर भेजा। तभी जानकारी आई कि किशोरी ने खुद की बदनामी की वजह से सेनिटाइजर पी लिया। उसे तत्काल बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ले जाया गया, जहां से उसे हल्द्वानी रेफर करना पड़ा। अभी भी दोनों पक्षों में समझौते के प्रयास चल रहे हैं। पुलिस का कहना है कि यदि नहीं माने तो शनिवार सुबह मामले में मुकदमा लिख दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : दिलफेंक ‘बड़ा बाबू’ महिला दरोगा से करने लगा अश्लील बातें, साथी सहित गिरफ्तार

नवीन समाचार, काशीपुर, 30 दिसंबर 2020। चरित्र से कमजोर व्यक्ति न अपनी पद-प्रतिष्ठा देखता है न महिलाओं का सम्मान। नगर के सरकारी अस्पताल-एलडी भट्ट उप जिला चिकित्सालय में तैनात प्रधान लिपिक और एक अन्य व्यक्ति ने नगर कोतवाली में तैनात महिला दरोगा से कथित तौर पर अभद्रता की। महिला दरोगा की शिकायत पर प्रारंभिक जांच के उपरांत कोतवाली पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। बताया गया है कि प्रधान लिपिक के खिलाफ पूर्व में भी उसकी नौकरानी ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। हालांकि बाद में दोनों पक्षों में समझौता हो गया था।
पुलिस से प्राप्त जानकारीके अनुसार मंगलवार की रात सरकारी अस्पताल में तैनात प्रधान लिपिक संजीव शर्मा और संजय भल्ला ने कोतवाली में तैनात एक महिला दरोगा से मोबाइल पर अश्लील शब्दों का प्रयोग कर जान से मारने की धमकी दी । साथ ही सरकारी कार्य में बाधा डालने का प्रयास भी किया। महिला दरोगा की तहरीर पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराा 60/20, 354ए 186, 509, 504 व 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें : जूनियर हाईस्कूल में बच्चियों के साथ शिक्षक ने की छेड़छाड़, छेड़छाड़ की कीमत लगाई 15 हजार, अब जांच में कईयों की गर्दन फंसने की उम्मीद..

नवीन समाचार, पौड़ी, 28 दिसम्बर 2020। जनपद पौड़ी गढ़वाल के एक जूनियर हाईस्कूल में शिक्षक द्वारा अपने ही स्कूल की दो छात्राओं के साथ अश्लील हरकत-छेड़छाड़ करने और बाद में मामला रफा-दफा करने के लिए उनके परिवार को 15 हजार रुपए देने का मामला प्रकाश में आया। अब इस मामले में उत्तराखंड के शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने जांच के आदेश दे दिए हैं। अब जांच में आरोपी शिक्षक के साथ ही समझौते का प्रयास करने वाले जनप्रतिनिधियों व विद्यालय के कर्मियों की गर्दन भी फंसने की उम्मीद की जा रही है।
मामला पौड़ी गढ़वाल जनपद के जयहरीखाल विकासखंड के एक गांव का है। जहां जूनियर हाई स्कूल में कार्यरत एक शिक्षक द्वारा शिक्षा के मंदिर में दो छात्राओं के साथ शर्मनाक तरीके से अश्लील हरकत और बदसलूकी की गई। शिकायत मिलने पर स्कूल की प्रधानाचार्या सुमन काला ने खंड शिक्षा अधिकारी और उच्च अधिकारियों को मामले से अवगत करवाया। लेकिन इस बीच शिक्षक की ओर से स्थानीय जनप्रतिनिधियों और स्कूल के कर्मचारियों के माध्यम से पीड़ित छात्राओं के अभिवावकों को मामला खत्म करने के लिए 15000 रुपये दिए गए। लेकिन इधर मामला मीडिया की सुर्खियों में आने के बाद शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने मामले की जांच की जिम्मेदारी माध्यमिक शिक्षा निदेशक आरके कुंवर व अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल महावीर सिंह को सौंप दी है, और जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई करने को कहा है।

यह भी पढ़ें : कथावाचक व्यास पर लगा नाबालिग से छेड़छाड़ का आरोप, बोले आरोप साबित हुए तो खुद ही फांसी पर चढ़ जाएंगे…

नवीन समाचार, लालकुआं (नैनीताल), 05 दिसम्बर 2020। नैनीताल जनपद के बिंदुखत्ता निवासी एक कथावाचक-व्यास, शास्त्री पर नोएडा में झाड़ फूंक, पूजापाठ और टोटके के नाम पर 16 साल की किशोरी से छेड़छाड़ का सनसनीखेज आरोप लगा है। इस मामले में लालकुआं पुलिस ने पॉक्सो एक्ट की धारा 354/718 के तहत जीरो एफआईआर दर्ज कर मामला गौतम बुद्धनगर यूपी को ट्रांसफर कर दिया है। उधर कथावाचक ने आरोपों को पूरी तरह से निराधार बताया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस को दी गई तहरीर में नोएडा निवासी व्यक्ति ने कहा है कि उसकी बेटी की तबीयत खराब होने पर बीते शारदीय नवरात्र के दौरान उसने बिंदुखत्ता शीशम भुजिया निवासी कथावाचक भाष्करानंद तिवारी को तांत्रिक बताते हुए अपने नोएडा स्थित आवास पर बुलाया था। आरोप लगाया है कि इस दौरान घर पर तीन दिन तक हुए अनुष्ठान के दौरान एक दिन तिवारी पूजा पाठ के लिए उनकी बेटी को छत पर ले गये। इसके बाद भी तबियत में सुधार नहीं हुआ। इस बारे में जब बेटी से पूछताछ की गई तो उसने डरते हुए बताया कि पुजारी ने छत पर कोई पूजा-पाठ नहीं की बल्कि आरोपों के अनुसार छत पर उसके साथ छेड़खानी और अश्लीलता की गई। इस बारे में तिवारी का कहना है कि वह निर्दोष हैं। वहीं तांत्रिक नहीं, कथा व्यास हैं। निष्पक्ष जांच होने पर आरोप सिद्ध होने पर कठोर से कठोर सजा भुगतने को तैयार हैं। आरोप सिद्ध होने पर वह खुद ही फांसी पर चढ़ जाएंगे। मैंने इतनी भागवत कथाएं की हैं मगर कोई आरोप नहीं लगे। सत्य हमेशा जीतता है भले ही समय लगे। इस आरोप से मन व्यथित हुआ है। आगे जांच के बाद देखने वाली बात होगी कि कथावाचक को फंसाया जा रहा है, या आरोपों में कोई सच्चाई है। वैसे सूत्रों के अनुसार नाबालिग के स्वास्थ्य में सुधार पर होने पर भी परिवार काफी नाराज है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : तिहाई उम्र की नाबालिग से दुष्कर्म का प्रयास

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 नवम्बर 2020। जिला-मंडल मुख्यालय में एक नाबालिग से पड़ोस में रहने वाले करीब 3 गुनी उम्र के दूर के रिश्तेदार द्वारा दुष्कर्म करने के प्रयास का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने मामले में आरोपित के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर दिया है।
तल्लीताल पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर के अयारपाटा क्षेत्र में किलार्नी कंपाउंड के रहने वाला 38 वर्ष का आरोपित शंकर लाल पुत्र बाली राम ने बृहस्पतिवार देर शाम 14 वर्षीय यानी खुद की तिहाई उम्र की नाबालिग को घर में अकेले पाकर घर में घुस गया। अंदर जाकर उसने लाइट बंद कर दी और दुष्कर्म करने का प्रयास करते हुए उसके कपड़े भी फाड़ दिये। संयोग से इसी समय पड़ोस की एक लड़की वहां आ गई, इस पर आरोपित भाग गया और नाबालिग पीड़िता की अस्मत लुटने से बच गई। शुक्रवार को पीड़िता का परिवार शिकायत लेकर तल्लीताल थाने पहुंचा और तहरीर दी। बताया गया है कि आरोपित पीड़िता का दूर के रिश्ते में जीजा लगता है। इस पर तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने बताया कि पीड़िता के बयानों के आधार पर भारतीय दंड संहिता की धारा 405, 354 व 506 तथा 7/8 पॉक्सो अधिनियम के तहत आरोपित के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किया गया है, तथा मामले की जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी से नैनीताल आते रोडवेज की बस में हुई युवती से छेड़छाड़, अधेड़ को युवती ने जड़ा थप्पड़

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 नवम्बर 2020। बृहस्पतिवार को हल्द्वानी से नैनीताल आ रही रोडवेज की बस में ज्योलीकोट की एक छात्रा से बगल में बैठे हल्द्वानी निवासी 52 वर्षीय अधेड़ जयकिशन पुत्र नंद किशोर ने ताकुला के पास छेड़छाड़ कर दी। इस पर युवती ने अधेड़ को बस में ही थप्पड़ जड़ दिया। मामले की जानकारी लगने पर बस में सवार अन्य सवारियों ने अधेड़ को बस से रास्ते में ही उतारने की मांग कर दी। अलबत्ता, बस चालक के समझाने पर उसे नैनीताल लाकर पुलिस को सोंप दिया गया। यहां कानूनी पचड़े से बचने के लिए युवती ने अधेड़ के खिलाफ कार्रवाई करने से इंकार कर दिया। फिर भी तल्लीताल थाना पुलिस ने आरोपित जय किशन का उत्तराखंड 81 पुलिस एक्ट में चालान किया और लिखित माफीनामा लिखने पर छोड़ा।
प्राप्त जानकारी के अनुसार युवती ज्योलीकोट के पास से अधेड़ के बगल की खाली सीट पर बैठी थी। आगे चलने पर अधेड़ उसके साथ छेड़खानी करने लगा।

यह भी पढ़ें : शराबी युवक ने महिला से की अभद्रता

नवीन समाचार, देहरादून, 15 नवंबर 2020। नगर के तल्लीताल क्षेत्र में शराब के नशे में धुत एक युवक मो. सलीम नशे की हालत में पड़ोस में रहने वाली तल्लीताल बूचड़खाना निवासी विवाहित महिला नगमा के घर के पास पहुंचकर बिना बात गाली गलौज करने लगा। महिला के परिजनों ने जब इसका विरोध किया तो शराबी युवक मारपीट पर उतारू हो गया। इसके बाद लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत किया और युवक के खिलाफ भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 151 के तहत कार्रवाई की। ने पड़ोस में रहने वाली महिला से अभद्रता और गाली-गलौज कर दी।

यह भी पढ़ें : न्यायालय में कार्यरत भाई का रौब दिखाकर महिला व उसकी बेटियों को रात में घर बुलाता है पड़ोसी, पुलिस की भूमिका पर भी सवाल..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 10 नवम्बर 2020। हल्द्वानी में एक व्यक्ति पर न्यायालय में कार्य करने वाले अपने भाई का रौब दिखाकर पड़ोस की महिला व उसकी बेटियों को रात में बुरी नीयत से अपने घर बुलाने का आरोप लगा है। मामले में पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाए गए हैं। कोतवाली पुलिस ने महिला की शिकायत पर आरोपित के खिलाफ छेड़खानी और धमकी देने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। महिला ने पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाए गए हैं।
पुलिस के अनुसार पीड़ित महिला ने आरोप लगाया है कि उसका पड़ोसी शिवकुश सक्सेना 2017 से उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहा है। विवाद होने पर दबाव डालकर वह समझौता करा लेता है। धमकी देता है कि उसका भाई न्यायालय में तैनात है। अपने भाई का रौब दिखाकर वह महिला और उसकी बेटियों के साथ छेड़खानी करता है। बीती 22 सितंबर को आरोपित ने महिला और उसकी बेटियों को उसके पति के सामने ही रात में घर आने के लिए बुरी नियत से बुलाया। महिला ने इसका विरोध किया तो वह गालीगलौज करने लगा। इस मामले में शिकायत करने पर मंडी चौकी पुुलिस ने सुनवाई नहीं की। उल्टे महिला के खिलाफ ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। महिला ने आशंका जताई है कि पड़ोसी उसके और उसकी बेटियों के साथ कोई संगीन वारदात कर सकता है। पुलिस ने इस मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 354, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस मामले में कोतवाल संजय कुमार का कहना है कि इस मामले में महिला के खिलाफ मुकदमा पहले से दर्ज हैं। पुुलिस दोनों मुकदमों की विवेचना करेगी।

यह भी पढ़ें : अब महिला पुलिस कांस्टेबल से छेड़छाड़, महिला के पति नहीं हैं..

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 6 अक्टूबर 2020। महिलाओं के साथ अपराध जारी हैं। महिला पुलिस कर्मी है, तब भी कानून का भय नजर नहीं आ रहा है। 31वीं वाहिनी पीएसी में तैनात एक महिला कांस्टेबल से छेड़छाड़ करने का मामला प्रकाश में आया है। पीड़िता ने पुलिस को तहरीर सौंप कार्रवाई की मांग की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पीड़िता के पति का निधन हो चुका है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार पीड़िता का कहना है कि किसी बात को लेकर कुछ युवकों से उसका पुराना विवाद चल रहा था। बीती शाम वह किसी काम से रुद्रपुर बाजार की ओर आ रही थी। इसी बीच रास्ते में दो-तीन युवकों ने उसका रास्ता रोक लिया और अभद्रता करने लगे। विरोध करने पर उसके साथ छेड़छाड़ की कोशिश की गई। उसके शोर मचाने पर आसपास के लोग एकत्र हुए तो आरोपित फरार हो गए। उसने पुलिस से आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। कोतवाल एनएन पंत ने बताया कि महिला कांस्टेबल की शिकायत की जांच की जा रही है। जांच रम्पुरा चौकी प्रभारी केजी मठपाल को दी गई है। जांच के बाद आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : नैनीताल के छात्र नेता को भारी पड़ा हल्द्वानी की युवतियों से छेड़छाड़ करना..

नवीन समाचार, नैनीताल, 7 सितंबर 2020। डीएसबी परिसर नैनीताल के एक छात्र नेता को हल्द्वानी की सैलानी युवतियों के साथ छेड़खानी करना भारी पड़ गया। युवतियों ने इसका विरोध किया तो छात्र नेता ने बचने की कोशिश में स्वयं को झूठ-मूठ पत्रकार तक बता दिया। बावजूद उसकी एक न चली। युवतियों की शिकायत पर पुलिस छात्र नेता को थाने ले आई। अलबत्ता खाने में छात्र नेता द्वारा माफी मांग लिए जाने केबाद युवतियों का दिल पसीज गया और पुलिस में उसके खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराई। फिर भी पुलिस में छात्र नेता का चालान किया वआगे से ऐसी हरकत ना करने की हिदायत दी, जिस पर छात्र नेता बमुश्किल थाने से निकल पाया।

यह भी पढ़ें : छात्राओं को अश्लील संदेश भेजने पर डिग्री कॉलेज के प्राचार्य के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

गुरु जी कर रहे थे अश्लील मैसेज, छात्राएं पहुंच गईं थाने, मुकदमा दर्ज
-डिग्री कॉलेज कोटाबाग का मामला।
शाकिर अली @ नवीन समाचार, कालाढुंगी, 30 अगस्त 2020। नैनीताल जनपद के कोटाबाग डिग्री कॉलेज की कुछ छात्राओं ने कॉलेज के प्राचार्य पर अश्लील मैसेज मोबाइल पर भेजने व फोन करके अपशब्द बोलने का आरोप लगाया है। थानाध्यक्ष दिनेश नाथ महंत ने बताया कि डिग्री कॉलेज कोटाबाग की छात्राओं की लिखित तहरीर के बाद उनके बयान भी दर्ज किये गए, और प्राचार्य के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज करते हुए मामले की जांच शुरू कर दी गयी है।
इधर, कालाढूंगी थाने पहुंची छात्राओं ने थाने में तहरीर देते हुए बताया कि वह डिग्री कॉलेज कोटाबाग की छात्राएं हैं। वहां के प्राचार्य डा, प्रेम प्रकाश टम्टा कॉलेज की अनेकों छात्राओं को व्हाट्सएप पर अश्लील मैसेज तो करते ही हैं, साथ ही फोन करके भी अपशब्दों का प्रयोग किया जाता है। जिस कारण कॉलेज की सभी छात्राएं भयभीत हैं। उन्होंने बताया कि यह प्राचार्य लगभग एक वर्ष पूर्व यहां स्थानांतरित होकर आए हैं, तभी से छात्राओं को गलत मैसेज करना व फोन कर अपशब्द बोलना जैसी घटना होती रही हैं, लेकिन छात्राएं बदनामी के डर से किसी से कुछ कहने को तैयार नही थीं। अब कुछ छात्राओं ने हिम्मत जुटाकर प्राचार्य के खिलाफ आवाज उठाई और थाने में लिखित तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है।

विद्यार्थियों ने की प्राचार्य के निलंबन की मांग
छात्राओं के साथ अभद्रता का पता चलने पर डिग्री कॉलेज कोटाबाग के सभी विद्यार्थी आक्रोशित हैं। छात्र-छात्राएं छात्र संघ की अगुवाई में ब्लाक कार्यालय में प्राचार्य के निलंबन की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। विद्यार्थियों का कहना है कि जब तक आरोपित प्राचार्य को निलंबित नहीं किया जाता आंदोलन जारी रहेगा। धरने पर छात्र संघ अध्यक्ष रीता बिष्ट, उपाध्यक्ष निशा जोशी, सचिव अक्षय कुमार, कोषाध्यक्ष शैलेंद्र बिष्ट, उपसचिव हरेंद्र राणा सहित ललित जोशी, कमल बोहरा, रजत बधानी, चंदू सनवाल, विनोद जोशी, पुनीत बिष्ट, शिवम पांडे, यशपाल साह, हेमंत कुमार, ललित मोहन जोशी आदि बैठे हैं। उधर कोटाबाग डिग्री कॉलेज के प्राचार्य डा, प्रेम प्रकाश टम्टा से जब बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह सभी को गुड मॉर्निंग और गुड नाइट के मैसेज करते हैं। किसी को कोई गलत मैसेज चला गया हो तो वो उसके लिए क्षमा चाहते हैं, और हर सजा भुगतने को तैयार हैं।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: आधी उम्र के युवक पर पड़ोसी महिला से जबर्दस्ती छेड़खानी का आरोप

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 अगस्त 2020। मंगलवार को मुख्यालय के निकटवर्ती गेठिया, सैनिटोरियम निवासी महिला ने थाना तल्लीताल कल रात्रि पड़ोस में रहने वाले व्यक्ति द्वारा कमरे में घुस कर जबरदस्ती छेड़खानी व मारपीट करने तथा जान से मारने की धमकी देने की सूचना दी है। इस पर थाना तल्लीताल में आरोपित के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 354, 323 व 506 के तहत अभियोग पंजीकृत किया जा रहा है। जानकारी देते हुए तल्लीताल के थाना प्रभारी विजय मेहता ने बताया कि पीड़िता 50 वर्षीय जबकि आरोपित 30 वर्ष का यानी करीब आधी उम्र का बताया गया है।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप https://chat.whatsapp.com/BXdT59sVppXJRoqYQQLlAp से इस लिंक पर क्लिक करके जुड़ें।

यह भी पढ़ें : महिला दिवस पर महिला तहसीलदार के घर में महिला केयर टेकर के साथ दुस्साहस..

नवीन समाचार, चंपावत, 8 मार्च 2020। महिला दिवस पर महिला तहसीलदार के घर में उनकी महिला केयर टेकर के साथ दुस्साहस की घटना प्रकाश में आई है, जिसने महिला दिवस की प्रासंगिकता को और भी बढ़ा दिया है। सवाल उठता है कि क्या उच्च पद प्राप्त सशक्त महिला का घर भी महिलाओं के लिए अब तक क्यों सुरक्षित नहीं है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार चंपावत तहसील की तहसीलदार की महिला केयर टेकर के साथ शनिवार की रात्रि तहसीलदार के नागनाथ मंदिर के पास स्थित आवास पर तीन युवकों ने बंधक बनाकर छेड़छाड़ की। केयर टेकर के लगातार शोर मचाने से युवक भागे। महिला तहसीलदार ने घर पहुंचकर अपनी महिला केयर टेकर को बंधन से मुक्त कराया और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर अज्ञातों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर युवकों की शिनाख्त करने में जुट गई। देर रात्रि पुलिस ने केयर टेकर का मेडिकल परीक्षण भी कराया और केयर टेकर की ओर से दी गई के आधार पर आरोपी अज्ञात युवकों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 354, 376 घ, 452 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस वारदात को नशेडियों की हरकत मान रही है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : कार्यस्थल में महिला कर्मी से शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न का पहला मामला

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 फरवरी 2020। सरोवरनगरी नैनीताल में कार्यस्थल में किसी महिला कर्मी से शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न का पहला मामला प्रकाश में आया है। नगर के बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में तैनात आउटसोर्स महिला कर्मी ने एक कर्मचारी पर शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए पीएमएस से कार्रवाई की मांग की है। वहीं आरोपित कर्मी ने आरोपों से इंकार किया है। हालांकि बाद में पीएमएस ने बैठक कर बातचीत से मामला सुलझा दिया है।
युवती ने पीएमएस को दिये पत्र में कहा है कि एक कर्मचारी द्वारा उसके साथ छेड़छाड़ और मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा है। पूर्व में पीएमएस से मौखिक रूप से इसकी शिकायत की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। इधर, मामला संज्ञान में आने के बाद पीएमएस डॉ. केएस धामी ने बुधवार को अस्पताल कर्मियों के साथ बैठक की और युवती की समस्या को विस्तार से सुना और आरोपी कर्मी से भी पूछताछ की, और भविष्य में पुनरावृत्ति न होने के आश्वासन पर आपसी बातचीत से मामला सुलझा लेने का दावा किया।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस ने 500 टेम्पो चेक कर खोज निकाला नाबालिग छात्रा से छेड़छाड़ का आरोपी टेम्पो चालक

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 28 दिसंबर 2019। नैनीताल पुलिस ने 500 टेम्पो को चेक कर आखिर गत 13 दिसंबर को टयूशन जा रही नाबालिग छात्रा से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी टेम्पो चालक को खोज निकाला है।
उल्लेखनीय है कि गत 13 दिसंबर को अज्ञात टेम्पो चालक द्वारा टेम्पो में टयूशन जा रही छात्रा के साथ लगभग सायं 5ः30 बजे मुखानी से लालकुंआ रोड की ओर जाते हुए छेडखानी की गयी थी। इस सम्बन्ध में छात्रा के परिजनों द्वारा थाना मुखानी में तहरीर दी गयी। भगवान सिंह मेहर थानाध्यक्ष मुखानी द्वारा गम्भीरता से लेते हुये तत्काल थाना मुखानी में धारा 354, 354ए, 363, 323 व 504 भादवि व 7/18 पोक्सो अधिनियम के तहत अज्ञात के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत किया था, तथा आरोपित की गिरफ्तारी हेतु तत्काल महिला उप निरीक्षक मंजू ज्याला के नेतृत्व में कॉन्स्टेबल राजेश कुमार, कॉन्स्टेबल नरेन्द्र राणा की टीम गठित कर गिरफ्तारी हेतु रवाना किया था। पुुलिस टीम द्वारा मामले में हल्द्वानी, मुखानी, काठगोदाम व बनभूलपुरा आदि क्षेत्र से चलने वाले टेम्पो चालकों तथा मुखानी क्षेत्र में लगे समस्त सीसीटीवी कैमरों की बारीकी से चेक किया तथा लगभग 500 से अधिक टेम्पो को चेक किया। घटित घटना में टेम्पो चालक द्वारा नम्बर प्लेट नही होने के कारण पुलिस द्वारा एवं गठित टीम के अनेक प्रयासों से सीसीटीवी की मदद से टेम्पो की गुलाब रंग की सीट कवर से प्रकाश में आये व घटना के बाद से फरार चल आरोपी सनी गुप्ता उर्फ बिट्टू पुत्र भगवान दास निवासी अम्बेडकरनगर बरेली रोड को 27 दिसंबर की रात्रि को गिरफ्तार किया गया।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग: काठगोदाम-लखनऊ एक्सप्रेस में छेड़खानी का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से नीचे फेंका…

नवीन समाचार, बरेली, 27 दिसंबर 2019। काठगोदाम से चलने वाली काठगोदाम-लखनऊ एक्सप्रेस में छेड़खानी का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से फेंकने का मामला सामने आया है। युवक ने ट्रेन की अंतिम बोगी में बैठी युवती को अकेला देखकर उससे छेड़खानी की और इसका विरोध करने पर गुस्साए युवक ने युवती का मोबाइल छीन लिया और उसे चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया। घायल युवती को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती किया है।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

पुलिस के मुताबिक, गुरुवार शाम उत्तर प्रदेश के देवरिया की रहने वाली 20 वर्षीय युवती शाम 4 बजे अपने गांव जाने के लिए लखनऊ जाने वाली काठगोदाम एक्सप्रेस में सवार हुई थी। युवती ने बताया कि जैसे वह ट्रेन पकड़ने के लिए स्टेशन पर पहुंची, ट्रेन चलने लगी। जिस कारण वह ट्रेन की आखिरी बोगी में चढ़ गई। बोगी में युवती के अलावा कोई ओर नहीं था। कुछ देर बाद उसी बोगी में एक युवक भी चढ़ गया। युवती को बोगी में अकेला पाकर युवक उससे जबरन छेड़खानी करने लगा। जिसका लड़की ने विरोध किया। युवती द्वारा विरोध करने पर गुस्साए युवक ने उसका मोबाइल छीन कर उसे चलती ट्रेन से धक्का देकर नीचे फेंक दिया। युवती ट्रेन से गिरकर बेहोश हो गई। होश में आने के बाद युवती ने गांववालों को आपबीती बताई। गांववालों तुरंत पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने गांववालों की मदद से घायल युवती को अस्पताल में भर्ती कराया। वहीं घटना की सूचना मिलते ही रेलवे पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस युवती की शिकायत पर आरोपी युवक की तलाश में जुट चुकी है। पुलिस का कहना है कि वह तुरंत ही आरोपी युवक को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply

loading...