News

महिला दिवस पर महिला तहसीलदार के घर में महिला केयर टेकर के साथ दुस्साहस..

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप https://chat.whatsapp.com/BXdT59sVppXJRoqYQQLlAp से इस लिंक पर क्लिक करके जुड़ें।

नवीन समाचार, चंपावत, 8 मार्च 2020। महिला दिवस पर महिला तहसीलदार के घर में उनकी महिला केयर टेकर के साथ दुस्साहस की घटना प्रकाश में आई है, जिसने महिला दिवस की प्रासंगिकता को और भी बढ़ा दिया है। सवाल उठता है कि क्या उच्च पद प्राप्त सशक्त महिला का घर भी महिलाओं के लिए अब तक क्यों सुरक्षित नहीं है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार चंपावत तहसील की तहसीलदार की महिला केयर टेकर के साथ शनिवार की रात्रि तहसीलदार के नागनाथ मंदिर के पास स्थित आवास पर तीन युवकों ने बंधक बनाकर छेड़छाड़ की। केयर टेकर के लगातार शोर मचाने से युवक भागे। महिला तहसीलदार ने घर पहुंचकर अपनी महिला केयर टेकर को बंधन से मुक्त कराया और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर अज्ञातों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर युवकों की शिनाख्त करने में जुट गई। देर रात्रि पुलिस ने केयर टेकर का मेडिकल परीक्षण भी कराया और केयर टेकर की ओर से दी गई के आधार पर आरोपी अज्ञात युवकों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 354, 376 घ, 452 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस वारदात को नशेडियों की हरकत मान रही है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : कार्यस्थल में महिला कर्मी से शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न का पहला मामला

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 फरवरी 2020। सरोवरनगरी नैनीताल में कार्यस्थल में किसी महिला कर्मी से शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न का पहला मामला प्रकाश में आया है। नगर के बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में तैनात आउटसोर्स महिला कर्मी ने एक कर्मचारी पर शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए पीएमएस से कार्रवाई की मांग की है। वहीं आरोपित कर्मी ने आरोपों से इंकार किया है। हालांकि बाद में पीएमएस ने बैठक कर बातचीत से मामला सुलझा दिया है।
युवती ने पीएमएस को दिये पत्र में कहा है कि एक कर्मचारी द्वारा उसके साथ छेड़छाड़ और मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा है। पूर्व में पीएमएस से मौखिक रूप से इसकी शिकायत की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। इधर, मामला संज्ञान में आने के बाद पीएमएस डॉ. केएस धामी ने बुधवार को अस्पताल कर्मियों के साथ बैठक की और युवती की समस्या को विस्तार से सुना और आरोपी कर्मी से भी पूछताछ की, और भविष्य में पुनरावृत्ति न होने के आश्वासन पर आपसी बातचीत से मामला सुलझा लेने का दावा किया।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस ने 500 टेम्पो चेक कर खोज निकाला नाबालिग छात्रा से छेड़छाड़ का आरोपी टेम्पो चालक

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 28 दिसंबर 2019। नैनीताल पुलिस ने 500 टेम्पो को चेक कर आखिर गत 13 दिसंबर को टयूशन जा रही नाबालिग छात्रा से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी टेम्पो चालक को खोज निकाला है।
उल्लेखनीय है कि गत 13 दिसंबर को अज्ञात टेम्पो चालक द्वारा टेम्पो में टयूशन जा रही छात्रा के साथ लगभग सायं 5ः30 बजे मुखानी से लालकुंआ रोड की ओर जाते हुए छेडखानी की गयी थी। इस सम्बन्ध में छात्रा के परिजनों द्वारा थाना मुखानी में तहरीर दी गयी। भगवान सिंह मेहर थानाध्यक्ष मुखानी द्वारा गम्भीरता से लेते हुये तत्काल थाना मुखानी में धारा 354, 354ए, 363, 323 व 504 भादवि व 7/18 पोक्सो अधिनियम के तहत अज्ञात के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत किया था, तथा आरोपित की गिरफ्तारी हेतु तत्काल महिला उप निरीक्षक मंजू ज्याला के नेतृत्व में कॉन्स्टेबल राजेश कुमार, कॉन्स्टेबल नरेन्द्र राणा की टीम गठित कर गिरफ्तारी हेतु रवाना किया था। पुुलिस टीम द्वारा मामले में हल्द्वानी, मुखानी, काठगोदाम व बनभूलपुरा आदि क्षेत्र से चलने वाले टेम्पो चालकों तथा मुखानी क्षेत्र में लगे समस्त सीसीटीवी कैमरों की बारीकी से चेक किया तथा लगभग 500 से अधिक टेम्पो को चेक किया। घटित घटना में टेम्पो चालक द्वारा नम्बर प्लेट नही होने के कारण पुलिस द्वारा एवं गठित टीम के अनेक प्रयासों से सीसीटीवी की मदद से टेम्पो की गुलाब रंग की सीट कवर से प्रकाश में आये व घटना के बाद से फरार चल आरोपी सनी गुप्ता उर्फ बिट्टू पुत्र भगवान दास निवासी अम्बेडकरनगर बरेली रोड को 27 दिसंबर की रात्रि को गिरफ्तार किया गया।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग: काठगोदाम-लखनऊ एक्सप्रेस में छेड़खानी का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से नीचे फेंका…

नवीन समाचार, बरेली, 27 दिसंबर 2019। काठगोदाम से चलने वाली काठगोदाम-लखनऊ एक्सप्रेस में छेड़खानी का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से फेंकने का मामला सामने आया है। युवक ने ट्रेन की अंतिम बोगी में बैठी युवती को अकेला देखकर उससे छेड़खानी की और इसका विरोध करने पर गुस्साए युवक ने युवती का मोबाइल छीन लिया और उसे चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया। घायल युवती को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती किया है।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

पुलिस के मुताबिक, गुरुवार शाम उत्तर प्रदेश के देवरिया की रहने वाली 20 वर्षीय युवती शाम 4 बजे अपने गांव जाने के लिए लखनऊ जाने वाली काठगोदाम एक्सप्रेस में सवार हुई थी। युवती ने बताया कि जैसे वह ट्रेन पकड़ने के लिए स्टेशन पर पहुंची, ट्रेन चलने लगी। जिस कारण वह ट्रेन की आखिरी बोगी में चढ़ गई। बोगी में युवती के अलावा कोई ओर नहीं था। कुछ देर बाद उसी बोगी में एक युवक भी चढ़ गया। युवती को बोगी में अकेला पाकर युवक उससे जबरन छेड़खानी करने लगा। जिसका लड़की ने विरोध किया। युवती द्वारा विरोध करने पर गुस्साए युवक ने उसका मोबाइल छीन कर उसे चलती ट्रेन से धक्का देकर नीचे फेंक दिया। युवती ट्रेन से गिरकर बेहोश हो गई। होश में आने के बाद युवती ने गांववालों को आपबीती बताई। गांववालों तुरंत पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने गांववालों की मदद से घायल युवती को अस्पताल में भर्ती कराया। वहीं घटना की सूचना मिलते ही रेलवे पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस युवती की शिकायत पर आरोपी युवक की तलाश में जुट चुकी है। पुलिस का कहना है कि वह तुरंत ही आरोपी युवक को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी।

Leave a Reply

Loading...
loading...