News

नगर पालिका नैनीताल में फिर गजब मामला, चेक पालिका के पास, उसे पता ही नहीं और बैंक खाते से निकल गए करीब डेढ़ लाख रुपए

समाचार को यहाँ क्लिक करके सुन भी सकते हैं

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 30 अप्रैल 2022। नैनीताल नगर पालिका में जो न हो जाए, वहीं कम है। यानी यहां कुछ भी हो सकता है। अब यहां ऐसा मामला है, जिसे जो भी सुने तो हतप्रभ रह जाए। हुआ यह है कि नगर पालिका के खाते से तीन चेकों के माध्यम से 1.48 लाख रुपए निकल गए हैं, लेकिन जब पालिका ने बैंक से पड़ताल की तो बताया गया कि यह चेक तो नगर पालिका के पास ही हैं, और पालिका को पता ही नहीं कि चेक उनके पास हैं, फिर भी उन्हीं नंबरों के चेकों से रुपए निकल गए।

बहरहाल नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 420 सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच एसएसआई जगबीर सिंह को सोंपी गई है।

नगर कोतवाल प्रीतम सिंह ने प्रारंभिक जांच व जानकारी के आधार पर बताया कि बीती 23 मार्च व 2 अप्रैल को नगर पालिका के बैंक ऑफ बड़ौदा के बैंक खाते ये एक लाख 48 हजार 300 रुपए 3 चेकों के माध्यम से निकाले गए हैं, और यह धनराशि वाराणसी के खातों में जमा हुई है। जबकि जिन चेकों के माध्यम से यह धनराशि निकली है, वह वास्तव में नगर पालिका के पास हैं। इसका अर्थ यह हो सकता है कि उन्हीं नंबरों के फर्जी चेक बनाकर रुपए निकाले गए।

अब पुलिस को इसी बात की जांच करनी है। नगर कोतवाल ने कहा कि आगे जरूरत पड़ी तो जांच वाराणसी पुलिस को भी हस्तांतरित की जा सकती है। फिलहाल मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। दूसरी ओर नगर पालिका के अधिकारी हमेशा की तरह जवाब न देना पड़े, शायद इसलिए फोन ही नहीं उठा रहे हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ ने 8 सूत्रीय मांगों को लेकर शहरी विकास मंत्री को सोंपा ज्ञापन, आउटसोर्स कर्मियों ने वेतन न मिलने से किया कार्य बंद

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 15 दिसंबर 2021।उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ की नैनीताल नगर पालिका शाखा के सदस्यों ने बुधवार को प्रदेश के शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत को उनके आवास पर एक ज्ञापन सोंपा।

ज्ञापन में नगर पालिका नैनीताल में पर्यावरण मित्रों के 263 पदों के सापेक्ष 197 पद ही भरे होने के कारण हो रही दिक्कतों की जानकारी देते हुए उत्तराखंड सरकार द्वारा पूर्व में स्थानीय निकायों में ढांचा लागू कर समाप्त किए गए पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया सीधी भर्ती से करने की मांग की गई है। इसके अलावा नगरपालिका में रिक्त पड़े लेखाकार तथा कर व राजस्व अधिकारी के पदों पर नियुक्ति करने, नियमितीकरण नियमावली 2013 को संशोधित कर कर्मचारियों की मृत्यु के उपरांत उनके आश्रितों को 1974 की नियमावली का लाभ देने, स्थानीय निकायों के कर्मचारियों को सातवें वेतनमान की सिफारिशों के अनुरूप मकान किराये की दरें पुनरीक्षित करने, उनके बंद पड़े सामूहिक बीमे को दुबारा से लागू करने, निकायों में सफाई कार्य कर रहे स्नातक कर्मचारियों को वरिष्ठता के आधार पर पदोन्नत करने व उनसे सफाई कार्य ना लेने तथा वाल्मीकि समाज के लोगों से उनके आवास खाली नहीं कराने की मांग की गई है।

ज्ञापन देने वालों में अध्यक्ष धर्मेश प्रसाद, महासचिव सोनू सहदेव, महेन्द्र लाल, संजय भगत, अनिल कुमार, अमन टांक, राहुल पुजारी व आशु कुमार आदि लोग मौजूद रहे।

दो माह से वेतन न मिलने के कारण पालिका के आउटसोर्स वाहन चालक कर्मियों ने काम किया बंद
नैनीताल। नैनीताल नगर पालिका में आउट सोर्सिंग के माध्यम से कार्यरत वाहन चालकों एवं हेल्परों ने पिछले 2 माह से वेतन का भुगतान न होने के कारण बुधवार से कार्य बंद कर दिया। उनका कहना था कि बार-बार निवेदन करने के बावजूद उन्हें वेतन का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस कारण वह 15 दिसंबर से कार्य करने में असमर्थ हैं। उन्होने कहा कि वेतन का भुगतान होने पर ही वह सभी कर्मचारी अपने कार्य करने के लिए तैयार होंगे।

उन्होंने कहा कि कुछ वाहन चालक नगर का कूड़ा फेंकने के लिए हल्द्वानी जाते है। इस दौरान उन्हें रास्ते खाने का खर्चा स्वयं ही वहन करना होता है। दो माह से वेतन न मिलने के कारण कभी-कभी उन्हें बिना खाना खाए ही भूखे आना-जाना पड़ता है। उनका वेतन भी मात्र 9 हजार व साढ़े सात हजार है। इस पर नगर पालिका के स्वास्थ्य निरीक्षक कुलदीप कुमार ने कहा कि काम बंद किए जाने के बाद आउटसोर्स एजेंसी को धनराशि भेज दी गई है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पलिका बोर्ड बैठक: समितियों का गठन, टकराव, हंगामा, धरना, यूजर चार्ज व दुकानों के किराये पर निर्णय

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 4 दिसंबर 2021। नैनीताल नगर पालिका बोर्ड की बैठक में शनिवार को समितियों का गठन किया गया। वित्त समिति की अध्यक्षता पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी को दी गई, जबकि स्वास्थ्य समिति की अध्यक्ष गजाला कमाल, पुस्तकालय समिति की रेखा आर्य, कर निर्धारण समिति की प्रेमा अधिकारी, निर्माण समिति के पुष्कर बोरा, शिक्षा समिति की निर्मला चंद्रा, हाट फड़ समिति के राजू टांक तथा फ्लैट समिति के अध्यक्ष की जिम्मेदारी भगवत सिंह रावत को सौपी गयी। बैठक में सीएम की घोषणा के अनुरुप मल्लीताल रामलीला मैदान के समीप मार्केट प्लाजा के निर्माण के लिए सभी सभासदों ने स्वीकृति जतायी साथ ही राजभवन क्षेत्र में प्राकृतिक रुप से बनी झील-जलश्रोत के संरक्षण का प्रस्ताव भी पास किया गया।

इसके अलावा भारत सरकार की ओर से प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एफ्रोर्डेबल रेंटल हाउसिंग स्कीम के मामले न्यूनतम शुल्क पांच सौ रुपये तय किया गया। साथ ही अक्टूबर माह में आई आपदा में हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए सभी सभासदों की ओर से आए प्रस्तावों को जिला प्रशासन के पास स्वीकृति के लिए जल्द भेजने का फैसला लिया गया। बैठक में ठोस कूड़ा अपशिष्ट प्रबंधन के तहत बीपीएल परिवारों से मात्र दस रुपया यूजर चार्च यानी शुल्क लेना तय किया गया।

बैठक में पत्रकारों के प्रेस क्लब को तल्लीताल में कक्ष आवंटन किए जाने के मुद्दे पर भी सभी सभासदों ने अपनी सहर्ष सहमति प्रदान की गई अब जल्दी ही प्रेस क्लब के लिए आवंटित भवन पालिका द्वारा सुपुर्द किया जाएगा। बैठक में सभासद सागर आर्या, सुरेश चंद्र, निर्मला चंद्रा, रेखा आर्या, पुष्कर बोरा, भगवत रावत, गजाला कमाल, मनोज साह जगाती, दीपक बर्गली, सपना बिष्ट, कैलाश रौतेला, दया सुयाल, राजू टांक, मोहन नेगी, प्रेमा अधिकारी व तारा राणा, अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा, अवर अभियंता डीएस मेहरा, स्वास्थ्य अधिकारी डा.जीएस धर्मशक्तू, स्वास्थ्य निरीक्षक कुलदीप कुमार, टीएस सुनील कुमार खोलिया, टीआई हिमांशु चंद्रा, कार्यालय अधीक्षक संजय कनवाल, हरीश मेलकानी, सूरज चौहान, हेम पंत व प्रेम बहगुणा आदि मौजूद रहे।

हंगामे के बाद गैलरी में धरने पर बैठे सभासद
नैनीताल। शनिवार को पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी की अध्यक्षता में आयोजित हुई नगर पालिका परिषद की बोर्ड बैठक में जहां कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों में मुहर लगी वहीं बैठक के दौरान उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब पालिका के अधिकांश सभासदों की ओर से पालिका प्रशासन के अधिकारियों से डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन करने वाली कार्यदायी संस्था के कार्यकाल बढ़ाने के लिए फिलहाल टेंडर न करके उसे ही आगे बढ़ाने की मांग रखी। इस पर पालिका के अधिकारियों व सभासदों के बीच बात नहीं बनी। बाद में गुस्साएं सभासद अपनी कुर्सी छोड़ गैलरी में धरने में बैठ गए। करीब आधे घंटे तक धरने में बैठे रहने के बाद पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी के आग्रह पर वह दुबारा अपनी सीट पर बैठे। बाद में तय किया गया कि इस बारे में शासन स्तर के वार्ता की जाएगी तथा मामले को लेकर विधिक राय भी ली जाएगी।

अधिकारियों पर आरोप
नैनीताल। बोर्ड बैठक में नगर पालिका के सभासदों ने यह भी आरोप लगाया कि पालिका बोर्ड में जो प्रस्ताव पारित हो जाते हैं उन पर पालिका के अधिकारियों की ओर से कार्रवाई बिलंब से की जाती है जिसकी वजह से उन्हें अपने वार्डो के लोगों को जबाब देना भारी पड़ जाता है। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपनी बात को ऊपर व चुने गए जनप्रतिनिधियों की बातों को बिल्कुल भी महत्व नहीं देते जिसकी वजह से उन्हें अपनी मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन तक करना पड़ता है। विभागीय अधिकारी कर्मचारी द्वारा महत्व न दिए जाने पर अक्सर यह स्थिति बनी रहती है।

दुकानों का किराया बढ़ाकर हर माह एक करोड़ का राजस्व प्राप्त करेगी पालिका
नैनीताल। बैठक में पालिका की आय में बढ़ोत्तरी करने के लिए पालिका की सीमा के तहत स्थित दुकानों का किराया सर्किल रेट के आधार पर बाजार दरों के अनुरुप बढ़ाए जाने को भी हरी झंडी दी गयी। तय किया गया कि सर्किल रेट के हिसाब से बाजार दरों में एक प्रतिशत की बढ़ोत्तरी होगी लेकिन यह शुल्क हर माह दुकानदार को जमा करना होगा। पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी के मुताबिक इससे पालिका को हर माह एक करोड का राजस्व मिलेगा। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : आठ दिन बाद खुली नैनीताल नगर पालिका के लेखा विभाग की सील

-कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने वर्ष 2011 से नगर पालिका में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए भविष्य निधि की सुविधा लागू होने के बाद से रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं कराने पर 29 सितंबर को कर दिया था सील

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 7 अक्टूबर 2021। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने आठ दिन बाद नैनीताल नगर पालिका के लेखा विभाग की सील खोल दी है। उल्लेखनीय है कि संगठन ने वर्ष 2011 से नगर पालिका में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए भविष्य निधि की सुविधा लागू होने के बाद से रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं कराने पर गत 29 सितंबर को नगर पालिका के लेखा विभाग को सील कर दिया था।

इसके बाद नगर पालिका ने केंद्र सरकार के अधीन कर्मचारी भविष्य निधि संगठन को कुछ हद तक मांगे गए दस्तावेज उपलब्ध करा दिए और लेखा कार्यालय के बंद होने से कार्य प्रभावित होने का हवाला देते हुए सील खोलने का निवेदन किया था। इस पर बृहस्पवितार शाम आए कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के अधिकारियों ने सील खोल दी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग : केंद्रीय एजेंसी ने सील किया नैनीताल नगर पालिका का लेखा विभाग

-कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने वर्ष 2011 से नगर पालिका में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए भविष्य निधि की सुविधा लागू होने के बाद से रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं कराने पर उठाया कदम

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 29 सितंबर 2021। केंद्र सरकार के अधीन कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने बुधवार को अवकाश के दिन नैनीताल नगर पालिका के लेखा विभाग के कार्यालय में ताले जड़ दिये। कार्यालय के मुख्य द्वार के साथ खिड़कियों पर भी ताले लगाए गए हैं, चेन से बांधा है ओर नोटिस चिपकाए हैं। नोटिस में लिखा गया है कि यह कार्रवाई ईपीएफओ हल्द्वानी के आदेश के तहत ईपीएफ एवं एमपी अधिनियम 1952 की धारा 13 के तहत की गई है।

बुधवार दोपहर अचानक कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के अधिकारी-कर्मचारी नगर पालिका कार्यालय के छापेमारी के अंदाज में धड़धड़ाकर घुसे और उन्होंने वहां मौजूद कर्मचारियों से लेखा विभाग व रिकॉर्ड कक्ष आदि के बारे में जानकारी मांगी। इस बीच उनकी कार्यालय में मौजूद नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा से वार्ता हुई और उन्होंने लेखा विभाग के कार्यालय में ताले डाल दिए।

पूछे जाने पर नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी श्री वर्मा ने बताया कि वर्ष 2011 से ही कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के नियम नगर निकायों पर लागू हुए। संगठन के अधिकारियों की ओर से बताया गया कि उनके द्वारा पूर्व में वर्ष 2018 में भी और अभी हाल में भी वर्ष 2011 से असंगठित क्षेत्र के नगर पालिका में कार्यरत कामगार उपलब्ध कराने वाले ठेकेदारों-संस्थाओं आदि के बारे में जानकारी मांगी थी।

हाल में मिले संगठन के नोटिस पर 2011 से अब तक के रिकॉर्ड तैयार किए जा रहे थे और काफी रिकॉर्ड तैयार भी हो गए थे, अलबत्ता रिकॉर्ड उन्हें भेजे नहीं जा सके थे। इसलिए यह कार्रवाई की गई। आगे संगठन से अनुरोध किया जा रहा है कि यथाशीघ्र प्रपत्र प्राप्त कर कार्यालय को खोलने की अनुपति दी जाए। नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी ने उम्मीद जताई कि पुराने ठेकेदारों की सूची उपलब्ध कराने के साथ बृहस्पतिवार को कार्यालय के ताले खोल दिए जाएंगे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल नगर पालिका के सभासदों ने दिया इस्तीफा

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 23 सितंबर 2021। नैनीताल नगर पालिका के 15 में से 13 निर्वाचित एवं सभी 3 नामित सभासदों ने इस्तीफा दे दिया है। कुमाऊं मंडल के आयुक्त को भेजे गए ज्ञापन में नगर पालिका के निर्वाचित सभासद सागर आर्य, सुरेश चंद्र, सपना बिष्ट, निर्मला चंद्रा, रेखा आर्य, भगवत रावत, गजाला कमाल, मनोज साह जगाती, कैलाश रौतेला, दया सुयाल, राजू टांक, मोहन सिंह नेगी व प्रेमा अधिकारी तथा मनोनीत सभासद मनोज जोशी, तारा राणा व राहुल पुजारी के हस्ताक्षर हैं। केवल दीपक बर्गली व पुष्कर बोरा ने पत्र में हस्ताक्षर नहीं किए हैं।

ज्ञापन में त्यागपत्र देने का कारण नगर पालिका के साथ जिला व पुलिस प्रशासन पर उपेक्षा के साथ ही सीएम को भेजे जाने वाले शिकायती पत्रों पर कार्रवाई न होने का आरोप लगाया गया है। खास बात यह भी है कि उपेक्षा से नाराज सभासदों में सरकार से नामित तीनों सभासदों के साथ सभी भाजपा सभासद शामिल हैं। सभासद मनोज साह जगाती ने कहा कि कुछ सभासद नगर से बाहर हैं, उन्होंने भी इस मुहिम में साथ होने की बात कही है। वहीं नगर पालिका के अध्यक्ष सचिन नेगी का फोन जहां स्विच ऑफ मिला, वहीं अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा ने त्यागपत्र देने की जानकारी से इंकार किया। उन्होंने कहा कि यदि त्यागपत्र दिया गया होगा तो उसे बोर्ड बैठक में रखा जाएगा।

मंडलायुक्त को भेजे पत्र में सभासदों का कहना है कि जनता द्वारा निर्वाचित जनप्रतिनिधि होने के बावजूद नगर पालिका, उत्तराखंड शासन तथा प्रशासन एवं सीएम हेल्प लाइन पर की गई शिकायतों पर संज्ञान नहीं लिया जाता और कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। शिकायतों का समाधान करने की जगह उल्टे तथ्यों को छुपाने की चेष्टा की जाती है। स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस, गांधी जयंती जैसे राष्ट्रीय कार्यक्रमों आदि से संबंधित बैठकों में उन्हें आमंत्रित नहीं किया जाता है।

नैनीताल नगर पालिका के कर अधीक्षक, कर निरीक्षक एवं लेखाकार का स्थानांतरण कर दिया गया है, परंतु इन पदों पर नई तैनातियां नहीं की गई हैं, इससे जनहित के कार्यों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। इससे ऐसा लगता है कि संवैधानिक पद होने के बावजूद नैनीताल नगर पालिका में इस पद की आवश्यकता नहीं है, इसलिए वे तत्काल प्रभाव से जनहित में स्वैच्छिक त्यागपत्र देने को बाध्य हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : खराब आर्थिक स्थिति के बावजूद नगर पालिका बोर्ड ने दिखाया बड़ा दिल, दैनिक वेतनभोगी व आउटसोर्स कर्मियों को भी पहली बार मिलेंगी छुट्टियां

नवीन समाचार, नैनीताल, 02 दिसम्बर 2020। नैनीताल नगर पालिका अपनी कमजोर आर्थिक स्थिति के बावजूद बड़ा दिल दिखाते हुए पहली बार अपने दैनिक वेतन और आउटसोर्स कर्मियों को वर्ष में 14 दिन वेतन सहित अवकाश देगी। साथ ही तल्लीताल क्षेत्र में हाइड्रॉलिक पार्किंग निर्माण करेगी। बुधवार को नगर पालिका की बोर्ड बैठक में रसोई गैस सप्लाई के लिए मल्लीताल लकड़ीटाल क्षेत्र को लीज पर देने और नगर के ई-रिक्शा चलाने के प्रस्तावों पर भी सहमति जताई गई।

बुधवार को पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी की अध्यक्षता में आयोजित बोर्ड बैठक में नामित सभासदों ने उप समितियों की अध्यक्षता की दावेदारी पेश करने पर बोर्ड बैठक में गहमागहमी की स्थिति रही। इस बारे में नगर पालिका के सभासदों से लेकर अधिकारियों में कानूनी जानकारी का अभाव देखा गया। इस पर विधिक राय लेने और तब तक चुनाव करवाकर उपसमितियों का दायित्व देने पर सहमति जताई गई। बैठक में ईओ अशोक वर्मा, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा जीएस धर्मसत्तू, टीएस लता आर्या, एसआई कुलदीप आर्य, लेखाधिकारी राहुल सिंह, कनिष्ठ अभियंता डीएस मेहरा, संजय कनवाल, सभासद मनोज जगाती, कैलाश रौतेला, सागर आर्या, सुरेश चंद्र, गजाला कमाल, मनोज जोशी, राहुल पुजारा, निर्मला चंद्रा, मोहन नेगी, रेखा आर्य, दया सुयाल, प्रेमा अधिकारी, सपना बिष्ट, दीपक बर्गली, पुष्कर बोरा, भगवत रावत व हरीश मेलकानी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 10 वर्ष में पहली बार मिला नगर पालिका नर्सरी विद्यालय की शिक्षिकाओं को दिवाली बोनस, हर्ष

नवीन समाचार, नैनीताल, 2 नवंबर 2019। बड़े-बड़े नामदार जो हजार मिन्नतों के बाद न कर पाए, वह कामदारों ने बिना कहे कर डाला। नैनीताल नगर पालिका परिषद द्वारा संचालित नर्सरी विद्यालय में पिछले 10 वर्ष से संविदा पर कार्यरत शिक्षिकाओं को इस वर्ष पहली बार दीपावली पर बोनस मिला है। इससे इसी वर्ष करीब 6 वर्ष के बाद इन शिक्षिकाओं के मानदेय को रुपए छह हजार से बढ़ाकर नौ हजार रुपए किया गया है। शिक्षिकाओं बीना जोशी व भारती जोशी ने इस पर हर्ष जताते हुए नगर पालिका के वर्तमान प्रशासन, नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी, अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा, लेखाकर राहुल सिंह, ओएस राजेंद्र जोशी तथा नगर पालिका बोर्ड के सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया है। साथ ही विश्वास जताया है कि वर्तमान पालिका बोर्ड एवं प्रशासन उनकी लंबे समय से चली आ रही नियमितीकरण की मांग पर भी कार्रवाई करेंगे।

यह भी पढ़ें : पालिका टीम को हरिनगर में क्षतिग्रस्त मिला सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का बॉयलर

नैनीताल। नगर पालिका की नयी बोर्ड का वार्ड वार सफाई अभियान शुक्रवार को चौथे दिन भी जारी रहा। इस दौरान वार्ड के सदस्यों ने वार्ड संख्या 4 हरीनगर की सभासद रेखा आर्या के नेतृत्व में वार्ड का निरीक्षण कर सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान वार्ड सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का बॉयलर लंबे समय से फटा हुआ मिला। इस दौरान पालिका के कर्मियों ने वार्ड में सफाई अभियान भी चलाया। अभियान में नगर पालिका के भगवत रावत, मनोज साह जगाती, सुरेश चंद्र, प्रेमा अधिकारी, निर्मला चंद्रा, दया सुयाल व गजाला कमाल आदि सभासद तथा नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. धर्मशत्तू, स्वास्थ्य निरीक्षक कुलदीप कुमार, दिनेश कटियार, पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष सुंदर मेहरा, शेखर साह व गिरीश पपनै आदि भी साथ रहे।

पूर्व समाचार :  नैनीताल राजभवन वार्ड में मिला ‘चिराग तले अधेरा’

-राजभवन गेट पर स्थित कैंटीन में होता मिला प्लास्टिक डिस्पोजल का उपयोग, किया 1000 का चालान
-दूसरों को शिक्षा देने वाले नामी कॉलेज परिसर में मिला बचे हुए खाने का दुरुपयोग
-तीसरे दिन राजभवन वार्ड में चला पालिका का सफाई अभियान
नवीन समाचार, नैनीताल, 6 दिसंबर 2018। नैनीताल नगर पालिका बोर्ड कीे ओर से शपथ ग्रहण करने के अगले दिन से ही जारी सफाई जागरूकता अभियान बृहस्पतिवार को तीसरे दिन नगर के वार्ड-3 यानी अयारपाटा वार्ड में जारी रहा। वार्ड की सभासद निर्मला चंद्रा की अगुवाई में चले सफाई अभियान में भगवत रावत, मनोज साह जगाती, सागर आर्या व गजाला कमाल के साथ नगर पालिका के नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. धर्मशत्तू, स्वास्थ्य निरीक्षक कुलदीप कुमार व दिनेश कटियार भी शामिल रहे। इस दौरान पालिका के दल को राजभवन की मौजूदगी वाले नगर के इस सबसे प्रतिष्ठित वार्ड में ‘चिराग तले अधेरा’ जैसी स्थिति देखने को मिली।

पहले राजभवन की कैंटीन में प्लास्टिक की डिस्पोजल सामग्री का प्रयोग किया जाता पकड़ा गया। स्वास्थ्य निरीक्षक कुलदीप कुमार ने बताया कि इस पर कैंटीन संचालक हरिओम का 1000 रुपये का चालान किया गया। वहीं निकट के एक नामी कॉलेज के परिसर में रहने वाले कार्मिकों के द्वारा बचा हुआ खाना डस्टबिन में डालने से बंदरों-लंगूरों द्वारा गंदगी फैलाने की स्थिति दिखाई दी। इस पर कार्मिकों को बचा खाना डस्टबिन की जगह गड्ढा बनाकर कम्पोस्ट खाद बनाने को कहा गया। साथ ही वार्ड वासियों से वार्ड में कूड़ा इधर-उधर फेंकने की जगह केवल पालिका के कूड़ेदानों में ही डालने की गुजारिश की गयी। इस दौरान एलपीएस स्कूल सहित कुछ स्थानों पर सफाई एवं झाड़ियां कटान का कार्य भी किया गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

पूर्व समाचार : दूसरी सुबह भी तड़के ही सफाई अभियान पर उतरे पालिकाध्यक्ष, दूसरे दिन वार्ड 2 शेर का डांडा में सफाई की स्थिति का लिया जायजा

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 दिसंबर 2018। सामान्यतया निर्वाचित सदस्य अपने कार्यकाल के कुछ शुरुआती दिन चुनाव के दौर की थकान निकालने के लिए गुजारते हैं, और कई बार तो उनका कार्यकाल इस तरह उनके पूरे कार्यकाल में बिना कोई काम किये ही गुजर जाता है। लेकिन नैनीताल नगर पालिका में ऐसा नहीं है। यहां नयी बोर्ड शपथ ग्रहण के बाद पहले दिन से ही नये पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी के नेतृत्व में मैदान में सफाई अभियान के साथ उतर गयी है। साथ ही पालिका कर्मियों में भी कार्य के प्रति नया जोश भर दिया है।

इसकी शुरुआत मंगलवार को स्टाफ हाउस वार्ड से हुई थी, जबकि बुधवार को दूसरे दिन भी पालिकाध्यक्ष नेगी वार्ड सदस्यों एवं पालिका कर्मियों को साथ लेकर वार्ड 2 शेर का डांडा में निकले और वार्ड में सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। साथ ही वार्डवासियों को गंदगी न करने के प्रति जागरूक भी किया गया एवं उनसे बेहतर सफाई के लिए सुझाव एवं वार्ड की अन्य समस्याओं के बारे में भी जानकारी ली गयी। बताया गया कि नालों की सफाई को संयुक्त रूप से करने के लिए सिचाई विभाग के अधिकारियों से भी संपर्क किया गया है। अभियान में सभासद मनोज साह जगाती, भगवत रावत, सुरेश आर्य व गजाला खान के साथ ही नगर पालिका के स्वास्थ्य निरीक्षक कुलदीप कुमार, मयंक व हरीश मेलकानी आदि कर्मचारी भी शामिल रहे।

पूर्व समाचार : एक नंबर वार्ड स्टाफ हाउस से की थी शुरुआत

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 दिसंबर 2018। नैनीताल नगर पालिका की पूरी नयी बोर्ड शपथ ग्रहण के बाद पहले दिन से ही नये पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी के नेतृत्व में मैदान में सफाई अभियान के साथ उतर गयी है। साथ ही पालिका कर्मियों में भी कार्य के प्रति नया जोश भर दिया है। मंगलवार को सुबह आठ बजे ही पालिकाध्यक्ष नेगी के नेतृत्व में नगर के एक नंबर यानी स्टाफ हाउस वार्ड में निकले, और स्टाफ हाउस वार्ड में हनुमान मंदिर से शुरू करते हुए रोपवे स्टेशन के पास बिलौरिया तक के क्षेत्र का निरीक्षण कर सफाई अभियान चलाने के लिये रणनीति तय की गयी। साथ ही वार्डवासियों को गंदगी न करने के प्रति जागरूक भी किया गया एवं उनसे बेहतर सफाई के लिए सुझाव भी लिये गये। साथ ही वार्ड की अन्य समस्याओं के बारे में भी जानकारी ली गयी। बताया गया कि सनवाल स्कूल के पास के नाला नंबर 20 की सफाई सोमवार से ही शुरू कर दी गयी है। आगे नालों की सफाई को संयुक्त रूप से करने के लिए सिचाई विभाग के अधिकारियों  से भी संपर्क किया जाएगा। अभियान में स्टाफ हाउस वार्ड के सभासद सागर आर्य ने भी प्रमुख भूमिका निभाई, जबकि मनोज साह जगाती, भगवत सिंह रावत, सुरेश चंद्र व गजाला खान के साथ ही नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. जीएस धर्मशक्तू भी पालिकाकर्मियों के साथ अभियान में शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : ऐतिहासिक नैनीताल नगर पालिका की 10वीं बोर्ड ने कार्यभार ग्रहण किया, यह बोले नवनिर्वाचित अध्यक्ष

नैनीताल, 2 दिसंबर 2018। देश की तीसरी बंगाल प्रेसीडेंसी एक्ट 1942 के तहत अपनी स्थापना के चार वर्ष के अंदर ही 1945 में स्थापित ऐतिहासिक नैनीताल नगर पालिका के अब तक के 10वें व राज्य बनने के बाद पांचवे नगर पालिकाध्यक्ष पद के रूप में सचिन नेगी ने 15 सभासदों के साथ पदभार ग्रहण कर लिया है। पदभार ग्रहण करने के बाद नवनिर्वाचित अध्यक्ष नेगी ने दलगत भावना से ऊपर उठकर और सभी सभासदों को साथ लेकर चलने की बात कही। साथ ही नगर में गंदगी की समस्या को सबसे बड़ी बताते हुए इसके लिए कल सुबह सात बजे से ही वार्ड 1 स्टाफ हाउस से सफाई अभियान शुरू करने की बात कही। साथ ही अपने घोषणा पत्र को पूरा करने का संकल्प भी दोहराया। उन्होंने सोमवार को 11 बजे से नये सदस्यों के साथ बेहतर तालमेल बनाने के लिए अनौपचारिक बैठक करने की बात भी कही।

नैनीताल के नवनिर्वाचित नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी का घोषणा पत्र, ताकि सनद रहे…

इससे पूर्व मल्लीताल फ्लैट्स मैदान पर आयोजित भव्य समारोह में सभी नवनिर्वाचित सदस्यों ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। संयुक्त मजिस्ट्रेट अभिषेक रुहेला ने पालिकाध्यक्ष व सभासद वार्ड नंबर 1 से सागर आर्या, 2 से सुरेश आर्य, 3 से निर्मला, 4 से रेखा आर्य, 5 से पुष्कर बोरा, 6 से भगवत महरा, 7 से गजाला कमाल, 8 से मनोज साह जगाती, 9 से दीपक बर्गली, 1 से सपना बिष्ट, 1 से कैलाश रौतेला, 12 से दया सुयाल, 13 से राजू टाक, 14 से मोहन नेगी व 15 से प्रेमा अधिकारी को को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। पूर्व विधायक सरिता आर्य, डॉ नारायण सिंह जंतवाल, व्यापार मंडल अध्यक्ष किशन नेगी, डॉ सरस्वती खेतवाल, नीरज जोशी, पूर्व पालिकाध्यक्ष मुकेश जोशी, श्यामनारायण, संजय कुमार संजू, गुरु सिंह सभा अध्यक्ष सरदार जोगेंदर सिंह, पूर्व सांसद डॉ महेंद्र पाल, होटल एसोसिएशन अध्यक्ष दिनेश साह, कांग्रेस नेता डा. रमेश पांडेय, जेके शर्मा, हेम आर्य, पालिका ईओ रोहिताश शर्मा, स्वास्थ्य अधिकारी डा. जीएस धर्मशक्तू, कुलदीप कुमार, डीएम मेहरा, कर अधीक्षक लता आर्य, कर निरीक्षक अनुपमा भट्ट, प्रमोद कुमार समेत सहित अनेक अन्य लोग मौजूद रहे। इस दौरान हिमांशु पांडे, सुनील मेहरा व अनुपम कबडवाल सहित अनेक युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पालिकाध्यक्ष के समर्थन में नारेबाजी भी की।

विभिन्न संगठनों सहित अध्यक्ष प्रत्याशियों ने किया अभिनंदन, कम पड़ी फूलमाला

नैनीताल। नगर पालिका के नवनियुक्त नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी एवं सभासदों का स्वागत-अभिनंदन कार्यक्रम काफी लंबा चला। समारोह में नेगी के ही आमंत्रण पर मौजूद रहे अध्यक्ष प्रत्याशी तथा मल्लीताल व्यापार मंडल अध्यक्ष किशन सिंह नेगी, टैक्सी-ट्रेवल एसोसिएशन के अध्यक्ष व प्रत्याशी रहे नीरज जोशी के साथ ही डा. सरस्वती खेतवाल व नलिनी नेगी के साथ तल्लीताल व्यापार मंडल की ओर से विक्की राठौर, पूर्व सांसद डा. महेंद्र पाल, पूर्व विधायक डा. नारायण सिंह जंतवाल व सरिता आर्या, पूर्व पालिकाध्यक्ष श्याम नारायण, मुकेश जोशी व संजय कुमार ‘संजू’, देवभूमि सफाई मजदूर संघ के ओम प्रकाश चौटाला, दिनेश कटियार, निकाय कर्मचारी संघ के प्रमोद कुमार, खीम सिंह राणा व शिवराज नेगी, तिब्बती बाजार की ओर से पेमा गेकिल शिथर व भोटिया मार्केट की ओर से आनंद सिंह खंपा के साथ ही घोड़ा चालक कल्याण समिति, फड़ व्यवसायियों व अंजुमन इस्लामिया के पदाधिकारियों ने भी नये अध्यक्ष व बोर्ड सदस्यों का स्वागत किया। स्वागत का क्रम इतना लंबा चला कि फूल मालाएं कम पड़ी। स्वागत करने वाले अपने फूल भी नहीं लाये थे, इसलिए पहले गले में डाली गयी मालाओं को फिर-फिर पहनाया गया।

पिता हुए भावुक

नैनीताल। समारोह में नवनियुक्त अध्यक्ष सचिन नेगी के पिता प्रेम सिंह नेगी, माता दीपा नेगी व बड़े भाई संदीप नेगी सहित पत्नी-बच्चे एवं अन्य पारिवारिक जन भी मौजूद रहे। इस दौरान सचिन के संबोधन के दौरान खासकर उनके पिता प्रेम सिंह नेगी बेहद भावुक दिखे।

दो सभासद आये नेताओं की वर्दी में

नैनीताल। नैनीताल नगर पालिका के अध्यक्ष एवं 15 सभासदों में से दो सभासद स्टाफ हाउस वार्ड के सागर आर्या और अयारपाटा वार्ड के मनोज जगाती सामान्यतया नेताओं द्वारा प्रयुक्त सफेद कुर्ता-पाजामा व जैकेट में नजर आये। वहीं भाजपा के टिकट पर जीते कैलाश रौतेला गेरुवा रंग का गमझा गले में डाले हुए थे। जबकि अध्यक्ष सहित अन्य अधिकांश प्रत्याशी कमीज व कोट-पैंट में तथा एक-दो को छोड़कर सभी महिला सभासद साड़ी पहनकर शपथ ग्रहण कार्यक्रम में शामिल हुईं।

नैनीताल नगर पालिका के अब तक के पालिकाध्यक्ष

पूर्व पालिकाध्यक्ष रायबहादुर मनोहर लाल साह
पूर्व पालिकाध्यक्ष बालकृष्ण सनवाल
  1. 1941 से 1953 रायबहादुर जसौद सिंह बिष्ट
  2. 1953 से 1964 रायबहादुर मनोहर लाल साह
  3. 1964 से 1971 बाल कृष्ण सनवाल (अधिवक्ता)
  4. 1971 से 1977 किशन सिंह तड़ागी (अधिवक्ता)
  5. 1977 से 1988 प्रशासक
  6. 1988 से 1994 राम सिंह रावत (अधिवक्ता)
  7. 1994 से 1997 प्रशासक
  8. 1997 से 2002 संजय कुमार संजू (अधिवक्ता)
  9. 2002 से 2008 सरिता आर्या (प्रथम महिला पालिकाध्यक्ष)
  10. 2008 से 2013 मुकेश जोशी (पूर्व पालिका सभासद)
  11. 2013 से 2018 श्याम नारायण (पूर्व शिक्षक)

सभासद सपना बिष्ट को छोड़कर पूरी बोर्ड नौसिखिया

नैनीताल। नैनीताल नगर पालिका की नई बोर्ड में सामान्य सीट से लगातार दूसरी बार जीती एकमात्र पूर्व सभासद सपना बिष्ट के अलावा सभी सदस्य नए यानी पहली बार चुने हुए पहुंचे हैं। इस लिये नई बोर्ड केवल एक महिला सभासद को छोड़कर पूरी तरह से नौसिखिया होगी। अलबत्ता नवनियुक्त अध्यक्ष सचिन नेगी ने कहा कि वह पहले ही पालिका के उपनियमों की पुस्तक को मंगाकर उसका अध्ययन करने लगे हैं, इसलिए नियमों की जानकारी का अभाव खलने नहीं देंगे।
साथ ही यह भी दिलचस्प रहा है कि सपना बिष्ट को छोड़कर नगर पालिका के चुनाव में मैदान में आये सभी पूर्व सभासदों के साथ ही उनकी पत्नियों को भी मतदाताओं ने नहीं जिताया। अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़े पूर्व सभासद राजेंद्र परगाई व दीपा मिश्रा के साथ ही पूर्व सभासद डीएन भट्ट, दीप नारायण, नीतू बोहरा, जितेंद्र बिष्ट, किरण साह, पूर्व मनोनीत सभासद राजेश वर्मा व पूर्व सभासद मनोज अधिकारी की पत्नी नीमा अधिकारी आदि सभी चुनाव हार गये। इसलिये नई बोर्ड के लिये उनका कार्यकाल चुनौती के साथ एक अवसर भी होगा। इस चुनाव से भाजपा को गैरभाजपाइयों को वार्डों में टिकट देने का सबक भी मिला है।

बहुत खूब: सभासद मनोज ने शपथ ग्रहण से पहले भी की सफाई

नैनीताल। नगर के अयारपाटा वार्ड से निर्वाचित सभासद मनोज साह जगाती पिछले लंबे समय से रविवार एवं अन्य अवकाश के मौकों पर अपने साथियों के साथ नगर के विभिन्न क्षेत्रों में सफाई अभियान चलाये हुए हैं। इसी कड़ी में रविवार को भी उन्होंने अपने साथियों प्रियांशू प्रसाद, गोविन्द प्रसाद व सुनील चंद्र आदि के साथ अयारपाटा शिव मंदिर से डीएसबी परिसर व लेक व्यू पॉइंट तक सफाई अभियान चलाया और इन स्थानों से करीब 4 कट्टे कूड़ा एकत्र किया। मनोज ने बताया कि इसमें से अधिकांश गंदगी शराब की बोतलों और चिप्स कुरकुरे व मोमो के पैकेट आदि की थी। उन्होंने कहा कि नगर के अधिकांश खूबसूरत स्थानों को युवाओं ने शराब पीने का अड्डा बना दिया है, जो कि बेहद चिंताजनक है। बताया कि वे अब तक 3271 कट्टे कूड़ा नगर के विभिन्न स्थानों से निकाल चुके हैं।

Leave a Reply