विज्ञापन सड़क किनारे होर्डिंग पर लगाते हैं, और समाचार समाचार माध्यमों में निःशुल्क छपवाते हैं। समाचार माध्यम कैसे चलेंगे....? कभी सोचा है ? उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.7 मिलियन यानी 1.37 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

July 25, 2024

केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम ने नैनीताल की शत्रु संपत्तियों पर बैठक ली

0
Metropole

-मेट्रोपोल शत्रु संपत्ति में पार्किंग बनाने के लिये मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री से किया था अनुरोध
नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जुलाई 2024 (Nainital-Union Home Ministry on Enemy Properties)। जिला मुख्यालय स्थित नैनीताल क्लब सभागार में मंगलवार को केंद्र सरकार की ओर से शत्रु संपत्ति अभिरक्षक और भारत सरकार के गृह मंत्रालय की टीम ने नगर के मेट्रोपोल होटल तथा अन्य शत्रु संपत्तियों के संबंध में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की।

बताया गया कि नैनीताल की पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय गृह मंत्री भारत सरकार से नई दिल्ली में मुलाकात कर नैनीताल की मेट्रोपोल शत्रु संपत्ति पर राज्य सरकार को पार्किंग बनाए जाने की अनुमति देने का अनुरोध किया था। इसके बाद भारत सरकार और शत्रु संपत्ति अभिरक्षक की टीम ने नैनीताल का दौरा किया, और बैठक ली।

नैनीताल में इतनी हैं शत्रु संपत्तियां (Nainital-Union Home Ministry on Enemy Properties)

(Nainital-Union Home Ministry on Enemy Properties)बैठक में अभिरक्षक शत्रु संपत्ति ने नैनीताल की शत्रु संपत्ति का विवरण और कार्यवाही के बारे में विस्तृत जानकारी ली। जिलाधिकारी वंदना सिंह ने बताया नैनीताल में तीन शत्रु संपत्तियां वर्तमान तक चिन्हित हैं। इनमें मेट्रोपोल हिल्स होटल प्राइवेट लिमिटेड मल्लीताल की 8.72 एकड़ शत्रु संपत्ति है। जिसमें 0.690 एकड़ भूमि पर मेट्रोपोल होटल के पुराने भवन निर्मित है, जो जीर्ण क्षीर्ण अवस्था में हैं।

शेष 1.22 एकड़ भूमि नैनीताल-कालाढूंगी मोटर मार्ग से नीचे की ओर स्थित है। इससे अवैध कब्जा हटा दिया गया है, जबकि 0.050 एकड़ भूमि नैनीताल कालाढूंगी मार्ग पर है। इसमें निर्माण हैं। शेष भूमि खाली है। इस पर नगर पालिका परिषद द्वारा वर्तमान में पार्किंग के रूप में उपयोग किया जा रहा है।

इसके अलावा अयारपाटा के सनी बैक क्षेत्र में 716.81 वर्ग मीटर क्षेत्रफल की शत्रु संपत्ति है। जबकि कोठी नंबर 75 ए काशना ई अहमद काटेज राजभवन रोड तल्लीताल में 381.71 वर्ग मीटर क्षेत्रफल की शत्रु संपत्ति है। डीएम ने कहा कि मेट्रोपोल वाले क्षेत्र में पार्किंग बनाने से पर्यटन नगरी में जाम की समस्या का समाधान होगा। इसके लिये उन्होंने भारत सरकार की टीम को पार्किंग के निर्माण के लिये अवगत कराया। कहा कि पहले चरण में सतह पर पार्किंग बनाई जाएगी।

इस दौरान टीम ने मेट्रोपोल के जीर्ण-शीर्ण भवनों का निरीक्षण भी किया। माना जा रहा है कि टीम केंद्रीय गृह मंत्रालय को इस संबंध में अपनी रिपोर्ट देगी। इसके आधार पर ही यहां पार्किंग के ऑपचारिक निर्माण पर स्थिति स्पष्ट होगी।

बैठक में मुख्य रुप से शत्रु संपत्ति संरक्षक राहुल रमेश नंगारे, सलाहकार कर्नल संजय साह, अपर जिलाधिकारी शिव चरण द्विवेदी, एसपी अपराध हरबंस सिंह, एसडीएम राहुल शाह व प्रमोद कुमार, लोनिवि के अधिशासी अधिकारी रत्नेश सक्सेना आदि मौजूद रहे। (Nainital-Union Home Ministry on Enemy Properties)

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (Nainital-Union Home Ministry on Enemy Properties, Nainital, Union Home Ministry, Metropole Hotel, Metropole Compound, Enemy Properties, Union Home Ministry, Meeting on Enemy Properties in Nainital)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :