Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

कैंसर पीढ़ित को मदद की दरकार, कृपया सहयोग करें…

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये

नवीन समाचार, नैनीताल, 12 जुलाई 2019। चित्र में दिख रहे आनंद सिंह बिष्ट, निवासी जज फार्म, हल्द्वानी नैनीताल के हैं। आनंद को अभी कुछ माह पूर्व से गले का कैंसर है। उनके परिवार में पत्नी तथा 2 बच्चे हैं। पत्नी एक विद्यालय में छोटी-मोटी नौकरी करती है। आनंद ही अपने परिवार की आजीविका का साधन थे लेकिन अपनी बीमारी के चलते बिस्तर पर पड़े हैं। उनका इलाज सुशीला तिवारी चिकित्सालय हल्द्वानी से चल रहा है जिसमें वे अपनी पूरी जमा पूंजी लगा चुके हैं, और अब पारिवारिक स्थिति बड़ी दयनीय है। किराए का मकान, पढ़ने वाले बच्चे, घर का खर्चा, इलाज का खर्चा इस सब की व्यवस्था अकेली उनकी पत्नी को करनी पड़ रही है। अभी उनको कीमोथेरेपी व अन्य इलाज के लिए ही डेढ़ से 2 लाख रुपए की जरूरत है। यह सब खर्चा उनकी पत्नी के उठाना बहुत मुश्किल हो रहा है अतः उनके द्वारा ’हल्द्वानी ऑनलाइन संस्था (सहायता समूह)’ से मदद हेतु अपील की गयी है। संस्था की ओर सबसे विनम्र निवेदन किया गया है कि इस परिवार की मदद हेतु हमेशा की तरह हाथ आगे बढ़ाएं और मिल-जुलकर उनको इस विपत्ति से बाहर निकालें। ’आनंद जी की बैंक डिटेल’ व संस्था का मोबाइल नंबर नीचे दिया गया है। आप किसी भी रूप में उनके लिए अपनी आर्थिक मदद कर सकते हैं।

Bank- Bank Of Baroda
Name- Anand singh
Ac no.-47040100003109
IFSC-BARB0RAMHAL
Branch-Rampur Road,Haldwani
Paytm- 9719101865
Mobile-8958957944(wife)

यह भी पढ़ें : 2 दिन से घर नहीं लौटा प्रतिष्ठित होटल का होटल कर्मी, कहीं मिलने पर सहयोग करें…

गुमशुदा होटल कर्मी कैलाश चंद्र।

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 जुलाई 2019। नगर के प्रतिष्ठित आरिफ कैसल्स होटल में पिछले तीन वर्ष से कार्यरत बताया जा रहा मूलतः सल्ट अल्मोड़ा निवासी व नगर में सात नंबर क्षेत्र में रहने वाला कैलाश चंद्र (26) पुत्र भवानी राम घर नहीं लौटा। बृहस्पतिवार को उसकी मां शांति देवी व छोटा भाई शोबन राम मल्लीताल कोतवाली पहुंचे व प्रभारी कोतवाल अशोक कुमार सिंह को रोते हुए बताया कि वह बुधवार शाम करीब सात बजे होटल से घर जाने के लिए निकला था किंतु घर नहीं पहुंचा। तभी से परिजन उसे हर जगह तलाश रहे हैं, किंतु उसका कोई पता नहीं लग पाया है। बताया कि वह शराब का सेवन भी करता है। उसकी सूचना मल्लीताल कोतवाली में दी जा सकती है। 

यह भी पढ़ें : दिल्ली की एनजीओ ‘सुधारने’ लाई थी, दूसरी बार गुमा दिया बच्चा, हड़कंप, पुलिस करेगी कार्रवाई -संस्था की बड़ी लापरवाही उजागर

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 जुलाई 2019। दिल्ली की एक स्वयं सेवी संस्था-सलाम बालक ट्रस्ट के साथ नैनीताल घूमने आए दल में शामिल एक किशोर लापता हो गया है। ट्रस्ट की ओर से मल्लीताल कोतवाली में किशोर की गुमशुदगी दी गई है। पुलिस ने बच्चे की खोजबीन शुरू कर दी है, लेकिन फिलहाल उसका पता नहीं चल सका है। सूत्रों के अनुसार इसी संस्था का एक किशोर नैनीताल भ्रमण के दौरान सात साल पहले 2012 में भी लापता हो गया था, जोकि अब तक नहीं मिला है।
नगर कोतवाल अशोक कुमार ने बताया कि ट्रस्ट के साथ करीब 70 बच्चों समेत 67 लोगों का दल नैनीताल घूमने आया है। रविवार 30 जून को बच्चों का दल नैनीताल घूमने आया था। इस दौरान ही एक बच्चा ट्रस्ट मल्लीताल नयना देवी मंदिर में दश्राहुल (14) पुत्र श्रीपाल ग्रुप से एकाएक गायब हो गया। इसके बाद ट्रस्ट की ओर से पहुंचे प्रमोद कुमार सिंह समेत अन्य ने बच्चे की खोजबीन शुरू की। देर रात तक राहुल का पता नहीं चल सका। इधर सोमवार को उन्होंने मल्लीताल कोतवाली में तहरीर दी है। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने सातताल पहुंचकर अन्य साथी बच्चों से पूछताछ की। कोतवाल अशोक कुमार सिंह ने पूछे जाने पर बताया कि इस संस्था को सीडब्लूसी यानी बाल कल्याण समिति के माध्यम से घर से भागे, खोये-पाये व अपराधी किस्म के बच्चे संरक्षण एवं सुधार के लिए दिये जाते हैं। संस्था एक बड़े व्यक्ति की देखरेख में 20 बच्चों को लेकर आई थी। पूर्व में भी संस्थ का एक बच्चा राजू (12) वर्ष 2012 में भी नैनीताल से लापता हो गया था, जोकि आज तक नहीं मिल सका। बच्चे के कहीं भाग जाने की संभावना है। इसमें संस्था की गलती है। संस्था के खिलाफ कार्रवाई एवं सीडब्लूसी को लिखा जाएगा।

यह भी पढ़ें : स्कूल से दो दिन बाद भी घर नहीं लौटी नौवीं की छात्रा

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 मई 2019। नैनीताल के एक स्कूल में कक्षा 9 की छात्रा स्कूल से छुट्टी के बाद घर को चली थी, किंतु दो दिन के बाद भी घर नहीं पहुंची है। परिजनों ने मल्लीताल कोतवाली में उसकी गुमशुदगी दर्ज करने को प्रार्थना पत्र दिया, जिस पर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर के मल्लीताल निवासी 15 वर्षीय इकरा परवीन सिद्दकी पुत्री आबिद अली मंगलवार की सुबह रोज की तरह अपने स्कूल मोहन लाल साह बालिका विद्या मंदिर गई थी, लेकिन शाम को घर नहीं लौटी। पता चला कि वह स्कूल से छुट्टी के बाद घर के लिए निकली तो थी, लेकिन घर नहीं पहुंची। इस पर परिजनों ने मल्लीताल कोतवाली में उसकी गुमशुदा होने की सूचना दी। पुलिस ने परिजनों के प्रार्थना पत्र के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मामले में जांच कर रही एसआई भावना बिष्ट ने बताया कि फिलहाल किशोरी के बारे में पता नहीं चल सका है। विश्वास जताया कि जल्द उसकी तलाश कर ली जाएगी।

यह भी पढ़ें : ‘दूसरी बार’ 5 दिन से गायब हल्द्वानी के प्रतिष्ठित व्यवसायी भीमताल में मिले, पुलिस ने किया परिजनों के सुपुर्द

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 19 मई 2019। 5 दिन पूर्व 15 मई की सुबह से लापता हुए हल्द्वानी के प्रतिष्ठित स्टेशनरी प्रतिष्ठान ‘पूरन एंड संस’ के स्वामी 49 वर्षीय संजीव कुमार अग्रवाल को आखिरकार पुलिस ने ढूंढ निकाला है। इसके बाद उन्हें परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है। वे भीमताल के एक होटल में मिले। उन्होंने कहा कि वे घर में हुई अनबन के कारण यहां आ गए थे। उल्लेखनीय है उन्होंने ऐसा पहली नहीं बल्कि दूसरी बार किया है।

बता दें कि मुनगली गार्डन रामपुर रोड निवासी संजीव बीती 15 मई को बिना बताये घर से कहीं चला गया था। देर शाम तक घर न लौटने पर परिजनों को उसकी चिंता सताने लगी। इस पर परिजनों ने उसके मोबाइल फोन पर संपर्क साधने का प्रयास किया तो वह स्विच ऑफ मिला। इसके बाद परिजनों ने पुलिस की शरण ली। पुलिस व्यापारी की तलाश में जुट गई। कोतवाल विक्रम राठौर ने बताया कि रविवार को भीमताल के पास एक बिना नंबर की स्कूटी दिखने की सूचना उन्हें मिली। जिस पर एसआई विनय मित्तल के नेतृत्व में एक टीम भीमताल भेजी गई जहां व्यापारी संजीव कुमार को एक होटल से सकुशल बरामद कर लिया। उसे यहां कोतवाली लाने के साथ ही इसकी सूचना उसके परिजनों को दी गई। उसने पुलिस को बताया कि घर में अनबन होने के चलते वह भीमताल चला गया था। कोतवाली पहुंचे परिजनों को व्यापारी को सौंप दिया गया। पुलिस के अनुसार व्यापारी एक बार पूर्व में भी इसी तरह घर से बिना बताये जा चुका है।

यह भी पढ़ें : सुबह तड़के बिन बताये गायब हुए घर के मुखिया

नवीन समाचार, नैनीताल, 6 अप्रैल 2019। जनपद के ओखलकांडा विकासखंड अंतर्गत ग्राम अधौड़ा में घर के मुखिया का अचानक सुबह मुंह अंधेरे गायब होने का मामला प्रकाश में आया है। गांव के दीप प्रकाश महरा ने पट्टी पदमपुरी के राजस्व उपनिरीक्षक कार्यालय में गुमशुदगी दर्ज कराते हुए कहा है कि उसके पिता दीवान सिंह महरा पुत्र स्वर्गी उमेद सिंह महरा 5 अप्रैल की सुबह तड़के करीब साढ़े चार बजे परिवार के अन्य सदस्यों के उठने से पहले से लापता हो गये हैं। तब से उनका कोई पता नहीं चल पा रहा है। सोशल मीडिया पर भी उन्हें तलाशने की गुहार लगाई जा रही है।

यह भी पढ़ें : ICU में भर्ती 5वीं कक्षा के घायल बच्चे पंकज को मदद की अपील

घायल बच्चे की फाइल फोटो।

नवीन समाचार, नैनीताल, 23 मार्च 2019। बीती 18 मार्च को देर शाम करीब सात बजे नगर के स्टाफ हाउस क्षेत्र का रहने वाला 12 वर्षीय बालक पंकज चंद पुत्र कुंदन चंद्र घर के पास के नाले में गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया था। उसकी पसलियां टूट गयी थीं, तथा मस्तिष्क में भी चोट आई थी। मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में उपचार के बाद उसे उच्च केंद्र के लिए संदर्भित कर दिया गया था। तब से हल्द्वानी के विवेकानंद अस्पताल के आईसीयू में उसका उपचार किया जा रहा है, और परिजनों के अनुसार उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। पंकज नगर के भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय में पांचवी कक्षा का छात्र है। उसके पिता नगर के शेरवानी होटल में कार्यरत हैं और उनका परिवार किराये के घर में रहता है। उसके परिचितों और परिजनों ने उसकी मदद के लिए आम लोगों से गुहार लगाई है। मोबाइल नंबर 7830447858 पर संपर्क करके तथा किशन चंद के एचडीएफसी बैंक के खाता संख्या 08101050001973 आईएफएससी कोड HDFC0000810 पर धनराशि जमा करके मदद की जा सकती है।

यह भी पढ़ें : श्री रामसेवक सभा के सदस्य तीन दिन से गायब, मोबाइल भी बंद

गुमशुदा नवीन जोशी

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 मार्च 2019। नगर के मल्लीताल पंप हाउस क्षेत्र निवासी 35 वर्षीय नवीन जोशी उर्फ़ नब्बू पुत्र केशव दत्त जोशी पिछले तीन दिन से गायब है। नवीन नगर की सबसे प्राचीन व प्रतिष्ठित धार्मिक-सांस्कृतिक संस्था श्रीराम सेवक सभा के भी सक्रिय सदस्य हैं। उनका मोबाइल नंबर भी बंद आ रहा है। नवीन के भाई कमल जोशी ने मल्लीताल कोतवाली में उसकी गुमशुदगी हेतु तहरीर दी है। तहरीर में कहा है कि नवीन 16 मार्च को हल्द्वानी जाने की बात कहकर घर से निकले थे। तब से उनका कोई पता नहीं चल रहा है। मल्लीताल कोतवाली के एचसीपी सत्येंद्र गंगोला को मामले की जांच सोंपी गयी है। सभा के पूर्व अध्यक्ष मुकेश जोशी ‘मंटू’ ने कहा कि नवीन के अचानक इस तरह गायब होने से गहरी चिंता है। उनके परिजनों ने उनके शीघ्र सकुशल घर वापस लौटने की उम्मीद जताई है। ‘नवीन समाचार’ भी अपने पाठकों से कहीं उनके दिखाई देने पर उनके सकुशल घर लौटने में सहयोग करने की अपील करता है।

यह भी पढ़ें : तीन बच्चों के मात्र 39 वर्षीय पिता की दोनों किडनी खराब, मदद की गुहार

सुरेंद्र की फोटो तीन माह पूर्व व अब

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 मार्च 2019। उत्तराखंड प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं एवं स्वास्थ्य जागरूकता की कमी की वजह से लोगों को अपनी बीमारियों का पता ही बहुत देर से लग पाता है। प्रदेश के पौड़ी गढ़वाल जनपद के दूरस्थ ग्राम थापला, जसपुर खाल निवासी सुरेंद्र सिंह (उम्र 39, जन्म तिथि 20 मार्च 1980) पुत्र सुल्तान सिंह को तीन माह पूर्व अचानक पता चला कि उसकी दोनों किडनी खराब हो चुकी हैं। अब चिकित्सकों का कहना है कि वह कहीं से किडनी डोनर लाये और करीब साढ़े छह लाख रुपये खर्च करे तो वह 80 वर्ष तक जी सकता है, अन्यथा उसका जीवन अब गिने-चुने दिन ही शेष है।

सुरेन्द्र की मदद की गुहार

अब तक बिजली का काम करके अपने माता-पिता, पत्नी तथा 8 व 5 साल के पुत्री-पुत्र के परिवार का अकेले पालन-पोषण कर रहे सुरेंद्र के आगे इन परिस्थितियों में अंधेरा ही अंधेरा नजर आ रहा है। ऐसे में उसने किडनी व आर्थिक मदद देने के इच्छुक समाजसेवियों से मदद की गुहार लगाई है।
सुरेंद्र ने बताया कि तीन माह पूर्व पैर में दर्द होने की शिकायत पर वह रामनगर के अस्पताल में खुद को दिखाने आया, तब अचानक उसे पता चला कि उसकी दोनों किडनी केवल 14 फीसद ही बची हैं। तब से वह देहरादून के अस्पतालों में इलाज-हर दूसरे-तीसरे दिन डायलिसिस करवा रहा है। और इस पर करीब एक लाख रुपये खर्च भी हो चुके हैं। आयुष्मान कार्ड से जरूर कुछ मदद मिल रही है, परंतु बिना किडनी प्रत्यावर्तण के उसका सही होना असंभव है। इधर उसके शरीर में हीमोग्लोबिन शून्य प्रतिशत पर पहुंच गया है और दिन प्रति दिन पूरे शरीर में सूजन बढ़ती जा रही है। इच्छुक व्यक्ति उसके निम्न बैंक खाते में मदद कर सकते हैं।

बैंक खाता संख्या: 4203046059, आईएसएससी कोड: SBIN0RRUTGB बैजरो पौड़ी गढ़वाल।
सुरेंद्र व उसकी पत्नी के मोबाइल नंबर: 7302016031, 6939000824
(नवीन समाचार भी अपने पाठकों से सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत सुरेंद्र की मदद की गुहार लगाता है। हम स्वयं भी ऐसे जरूरतमंदों के लिए हमेशा समाचार प्रकाशित कर उनकी बात आगे बढ़ाने सहित हर संभव मदद के लिए हमेशा तत्पर हैं।)

यह भी पढ़ें : नैनीताल के लोकगायक को हृदयाघात, मदद की अपील

नवीन समाचार, 27 दिसंबर 2018। नैनीताल के एक होटल में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करने वाले लोकगायक श्री ठाकुर राम हृदयाघात के शिकार हुए हैं। उनकी आर्थिक स्थिति कमज़ोर है और वो अपने परिवार के एकमात्र कमाने वाले सदस्य हैं। उनकी पत्नी बच्चे गाँव में रहते हैं। नगर के समाजसेवियों की ओर से हल्द्वानी के बृज लाल अस्पताल में भर्ती लोकगायक श्री ठाकुर राम की मदद की अपील की गयी है। श्री ठाकुरजी की सहायता के लिए स्थानीय बैंक ऑफ बड़ौदा मल्लीताल की शाखा में एक खाता खोला गया है जिसका नंबर 06090100008775 और IFSC कोड BARB0NAINIT है। आपसे निवेदन है कि यथाशक्ति इस खाते में मदद की राशि भेजने का प्रयास करें।

नैनीताल की बेटी किरन को इलाज के लिए मदद की दरकार

नैनीताल, 26 सितंबर 2018। मुख्यालय स्थित जीजीआईसी में नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली 16 वर्ष की मेधावी छात्रा किरन के इलाज के लिए उसके पिता कृष्ण पांडे ने आम लोगों से मदद की गुहार लगायी है। बताया गया है कि किरन को पिछले सात वर्षों से रीढ़ की हड्डी में अपनी तरह की अलग बीमारी है। जिसके कारण उसकी रीढ़ की हड्डी मुड़ी हुई है, और इस कारण उसका बांया हिस्सा प्रभावित है। चिकित्सा के क्षेत्र में इस बीमारी को ‘किफोस्कोलोटिक डिफॉरमिटी ऑफ द डॉर्सल स्पाइन विद द बैक एक विद रेडिकुलोपैथी टु राइट अपर लिम्ब’ बताया गया है। इधर उसका उपचार उत्तराखंड उच्च न्यायालय के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति राजीव शर्मा के प्रयासों से पीजीआई चंडीगढ़ में चल रहा है, और उनके प्रयासों से ही आगे 30 अक्टूबर को कई भारतीय और विदेशी चिकित्सकों द्वारा मिलकर उसकी रीढ़ की हड्डी का ऑपरेशन किया जाना तय हुआ है। इस ऑपरेशन में बड़ी धनराशि खर्च होनी है। किरन के पिता नगर के एक स्कूल की गाड़ी चलाते हैं। लिहाजा उन्होंने मदद के लिए गुहार लगायी है। धनराशि उनके यश बैंक के खाता संख्या 8080811049045, IFSC कोड YESBOCMSNOC में जमा करायी जा सकती है।

विस्तृत विवरण एवं मदद के लिए यहां क्लिक करें। 

Loading...

नवीन समाचार

मेरा जन्म 26 नवंबर 1972 को हुआ था। मैं नैनीताल, भारत में मूलतः एक पत्रकार हूँ। वर्तमान में मार्च 2010 से राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक समाचार पत्र-राष्ट्रीय सहारा में ब्यूरो चीफ के रूप में कार्य कर रहा हूँ। इससे पहले मैं पांच साल के लिए दैनिक जागरण के लिए काम कर चुका हूँ। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग से ‘नए मीडिया’ विषय पर शोधरत हूँ। फोटोग्राफ़ी मेरा शौक है। मैं NIKON COOLPIX P530 और अडोब फोटोशॉप 7.0 के साथ फोटोग्राफी कर रहा हूँ। फोटोग्राफी मेरे लिए दुनियां की खूबसूरती को अपनी ओर से चिरस्थाई बनाने का बहुत छोटा सा प्रयास है। एक फोटो पत्रकार के रूप में मेरी तस्वीरों को नैनीताल राजभवन सहित विभिन्न प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया, तथा उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती मार्गरेट अलवा द्वारा सम्मानित किया गया है। कुछ चित्रों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं। गूगल अर्थ पर चित्र उपलब्ध कराने वाली पैनोरामियो साइट पर मेरी प्रोफाइल को 18.85 Lacs से भी अधिक हिट्स प्राप्त हैं।पत्रकारिता और फोटोग्राफी के अलावा मुझे कवितायेँ लिखना पसंद है। काव्य क्षेत्र में मैंने नवीन जोशी “नवेन्दु” के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मैंने बहुत सी कुमाउनी कवितायेँ लिखी हैं, कुमाउनी भाषा में मेरा काव्य संकलन उघड़ी आंखोंक स्वींड़ प्रकाशित हो चुका है, जो कि पुस्तक के के साथ ही डिजिटल (PDF) फार्मेट पर भी उपलब्ध होने वाली कुमाउनी की पहली पुस्तक है। मेरी यह पुस्तक गूगल एप्स पर भी उपलब्ध है। ’ यहां है एक पत्रकार, लेखक, कवि एवं छाया चित्रकार के रूप में मेरी रचनात्मकता, लेख, आलेख, छायाचित्र, कविताएं, हिंदी-कुमाउनी के ब्लॉग आदि कार्यों का पूरा समग्र। मेरी कोशिश है कि यहां नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड और वृहद संदर्भ में देश की विरासत, संस्कृति, इतिहास और वर्तमान को समग्र रूप में संग्रहीत करने की….।मेरे दिल में बसता है, मेरा नैनीताल, मेरा कुमाऊं और मेरा उत्तराखंड

Leave a Reply