Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

दो माह पहले सेना में भर्ती हुआ था बबियाड़ का जवान, प्रशिक्षण के दौरान सेना के स्विमिंग पूल में हुई मौत

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये

-धारी ब्लॉक के जवान देवेंद्र के निधन पर विधायक कैंड़ा ने दु:ख व्यक्त किया
दान सिंह लोधियाल @ नवीन समाचार, धानाचूली (नैनीताल), 12 मई 2019। धारी ब्लॉक के बबियाड़ ग्रामसभा निवासी देवेंद्र सिंह सम्मल पुत्र शिवराज सम्मल जोकि रानीखेत में सेना में भर्ती होने के बाद रानीखेत में प्रशिक्षण ले रहा था । जिसकी स्विमिंग पूल में तैराकी का प्रशिक्षण करने के दौरान शनिवार शाम को डूबने से मौत हो गयी थी। जिसका पोस्टमार्टम करने के पश्चात शव को परिजनों को सौंप दिया गया है। जिसका अंतिम संस्कार सोमवार को उनके पैतृक गांव में होगा । इस घटना की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्रीय विधायक राम सिंह कैंड़ा ने गहरा दुख व्यक्त किया है । उन्होंने कहा कि भगवान इस दुख की घड़ी में उनके परिजनों को इस असहनीय दुख को सहन करने की शक्ति दे। विधायक ने भगवान से मृतक की।आत्मा की शान्ति की कामना की है।

यह भी पढ़ें : खाई में मिला विक्षिप्त, पुलिस ने रेसक्यू कर बचाया

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मार्च 2019। मंगलवार अपराह्न पुलिस ने नगर के बिड़ला चुंगी से करीब 3 किमी दूर कैंची जाने वाले पैदल मार्ग पर एक विक्षिप्त से अधेड़ उम्र के व्यक्ति को खाई से रेसक्यू कर बचाया। पुलिस को पत्रकार प्रशांत दीक्षित के द्वारा खाई में अधेड़ व्यक्ति के होने की सूचना मिली। इस पर तल्लीताल थाना प्रभारी राहुल राठी, उप निरीक्षक मनोज नयाल व अन्य पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे और स्थानीय लोगों व ग्रामीणों की मदद से अधेड़ को खाई से सुरक्षित बाहर निकाला और उपचार के लिए बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। थाना प्रभारी राठी ने बताया कि अधेड़ विक्षिप्त लगता है। फिलहाल वह कुछ भी बोल पाने की स्थिति में नहीं है। उसकी पहचान कराने की कोशिश की जा रही है।

  • image description

यह भी पढ़ें : आंशिक संशोधन के साथ शिल्पकार सभा की पूर्व कार्यकारिणी को मिला एक और कार्यकाल

शिल्पकार सभा के नवनिर्वाचित पदाधिकारी।

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 फरवरी 2019। शिल्पकार सभा की रविवार को नयी कार्यकारिणी के गठन के लिये आयोजित बैठक में सर्वसम्मति से पूर्व कार्यकारिणी को ही आंशिक संशोधन करते हुए यथावत रखा गया। अधिवक्ता भगवत प्रसाद को संरक्षक, पूर्व पालिकाध्यक्ष संजय कुमार ‘संजू’ को अध्यक्ष, अजय लाल को वरिष्ठ उपाध्यक्ष, उषा कन्नौजिया को महिला उपाध्यक्ष, रमेश चंद्रा को महामंत्री, कैलाश आगरकोटी को कोषाध्यक्ष व राजेश लाल को मंत्री मनोनीत किया गया। उल्लेखनीय है कि नयी कार्यकारिणी में रमेश चंद्रा लगातार छठी बार महामंत्री व संजू लगातार दूसरी बार अध्यक्ष चुने गये। बैठक के दौरान शिल्पकार यूथ ब्रिगेड के अध्यक्ष रवींद्र कुमार के पिता स्वर्गीय देव राम के निधन पर श्रद्धांजलि भी व्यक्त की गयी। बैठक में पदाधिकारियों के साथ ही संजय कुमार, देवेंद्र प्रकाश, राजेश लाल, गिरीश आर्य, नारायण राम, जितेंद्र टम्टा, गिरीश आर्य, विनोद कुमार, धर्मेंद्र कुमार, हेम चंद्र, गिरीश चंद्र आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें : 35 वर्ष के शोध अनुभवी प्रो. नेगी बने उत्तराखंड मुक्त विवि के कुलपति

प्रो. ओम प्रकाश सिंह नेगी उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के नए कुलपति प्रो. ओम प्रकाश सिंह नेगी उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के नए कुलपति

नवीन समाचार, देहरादून, 4 फरवरी 2019। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के शोबन सिंह जीना परिसर अल्मोड़ा के भौतिकी विभाग में कार्यरत प्राध्यापक प्रो. ओम प्रकाश सिंह नेगी उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के नए कुलपति होंगे। सोमवार शाम उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने उनकी नियुक्ति कर दी है। उनकी नियुक्ति आगामी तीन वर्ष अथवा अधिवर्षता उम्र पूरी करने तक की अवधि के लिए होगी। प्रो. नेगी को स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर पर 32 वर्ष के शिक्षण, 35 वर्ष का शोध एवं 28 वर्ष का शोध गाइड के रूप में अनुभव है। उनकी दो पुस्तकें तथा प्रकाशित हो चुकी हैं तथा 225 शोध पत्र दुनिया के प्रतिष्ठित जनरलों में प्रकाशित एवं अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठियों में पढ़े गये हैं। वे 1998 में अमेरिकन बायोग्राफिकल इंस्टीट्यूट-यूएसए से मैन ऑफ द इयर का पुरस्कार भी प्राप्त कर चुके हैं।

उनके अधीन आठ छात्र पीएचडी की डिग्री हासिल कर चुके हैं, जबकि पांच वर्तमान में शोधरत हैं। हाई इनर्जी फिजिक्स, क्वांटम फील्ल थ्योरी, रिलेटिविटी एंड ग्रेविटेशन उनके शोध के क्षेत्र हैं, जबकि टेक्योन्स, मोनोपोल्स, ड्योन्स, क्वाटरनियोन, ऑक्टोनियोन्स, हायर डायमेंसनल स्पेस टाइम, क्यूसीडी, सुपर सिमेट्री एवं यूनीफाइड फील्ड्स उनकी पसंद के क्षेत्र हैं। वे इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ मैथमैटिकल फिजिक्स, इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजिक्स टीचर्स, टेन्सोर सोसायटी ऑफ इंडिया तथा इंडियन एसोसिएशन फॉर जनरल रिलेटिविटी एंड ग्रेविटेशन आदि अनेक ख्यातिप्राप्त संस्थाओं से जुड़े हैं तथा जर्मनी, फिनलेंड व चीन आदि देशों की कई बार अकादमिक यात्राएं भी कर चुके हैं। इधर कुमाऊं विवि शिक्षक संघ-कूटा के अध्यक्ष प्रो. ललित तिवारी सहित महासचिव सुचेतन साह, डा. विजय कुमार, डा. शिवांगी चन्याल, डा. दीपक व डा. सोहेल जावेद आदि ने प्रसन्नता व्यक्त की है।

यह भी पढ़ें : सीबीएसई ने 12वीं के सात प्रश्नपत्रों की तारीख बदली, अब इस दिन होंगे परीक्षाएं

नवीन समाचार, रामनगर, 13 जनवरी 2019 । केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) ने 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं से ठीक पहले सात प्रश्नपत्रों की तिथियाँ बदल दी हैं। नए कार्यक्रम के मुताबिक 28 मार्च को होने वाला इंफोर्मेटिक्स प्रैक्टिस और कंप्यूटर साइंस का पेपर अब दो अप्रैल को होगा। इसी प्रकार फिलॉसॉफी, एंटरप्रेन्योरशिप, लाइब्रेरी एंड इंफो साइंस और ह्यूमन राइट्स एंड जेंडर स्टडीज विषय की परीक्षा अब दो अप्रैल के बजाए चार अप्रैल को होगी। इन विषयों के अलावा बाकी विषयों की परीक्षा पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक ही आयोजित की जाएगी। बोर्ड परीक्षाएं सुबह 10:30 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक होंगी, जबकि परिणाम जून के प्रथम सप्ताह में आने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड बोर्ड का परीक्षा कार्यक्रम घोषित, एक मार्च से शुरू होंगी परीक्षाएं

नवीन समाचार, रामनगर, 2 जनवरी 2019 । उत्तराखंड विद्यालय शिक्षा परिषद ने बोर्ड का परीक्षा कार्यक्रम घोषित कर दिया। परीक्षा एक मार्च से शुरू होकर 26 मार्च को खत्म होगी। परिषद की सचिव नीता तिवारी ने परीक्षा कार्यक्रम घोषित किया ।

इंटर की परीक्षा एक मार्च से तथा हाइस्कूल की परीक्षाएं दो मार्च से शुरू होंगी। हाइस्कूल की 25 व इंटर की 26 मार्च को परीक्षा खत्म होगी। प्रयोगात्मक परीक्षा एक फरवरी से 24 फरवरी तक सुबह दस बजे से होगी। इस बार हाइस्कूल परीक्षा में 149950 और इंटर में 124867 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। परीक्षा के लिए प्रदेश में 1313 केंद्र बनाए गए हैं। जिसमे 231 संवेदनशील व 27 अतिसंवेदनशील केंद्र हैं।

यह भी पढ़ें : काशीपुर में जन्मा अजूबा, देखने को उमड़ी भीड़

नवीन समाचार, काशीपुर, 6  जनवरी 2019 । उत्तराखंड के काशीपुर में मुरादाबाद रोड पर स्थित सूद हॉस्पिटल में एक महिला ने दो सिर वाले अजूबे बच्चे को जन्म दिया, जिसे देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। जानकारी के मुताबिक दो सिर के अलावा बच्चे के होंठ कटे थे, और दोनों सिरों में पानी भरा हुआ था। डॉक्टरों ने बच्चे को बचाने की कोशिशें कीं, लेकिन फिर भी नवजात को बचाया नहीं जा सका। पैदा होने के 15 मिनट बाद ही नवजात ने दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद से काशीपुर में चर्चाओं का बाज़ार गर्म है।

बताया गया है कि उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के रहने वाले हरदेव सिंह की पत्नी दीपा गर्भवती थी।हरदेव सिंह पत्नी को लेकर काशीपुर के सूद अस्पताल में पहुंचे। वहां डॉक्टर मीनू सूद ने दीपा का अल्ट्रासाउंड करवाया। उसमें पुष्टि हो गई थी कि दीपा के गर्भ में दो सिर वाला एक नवजात है। पुष्टि होने के बाद प्रसव कराया गया। बच्चे के दो सिर थे। दोनों में पानी भरा हुआ था। इस वजह से बच्चे का जिंदा रहना बेहद मुश्किल था। चिकित्सको ने अद्भुत बच्चे को बचाने के भरसक प्रयास किये किन्तु वो बच न सका। डा.सूद ने बताया है की 1 लाख बच्चों में कभी ऐसा 1 बच्चा किसी कमी की वजह से हो सकता है। ऐसे बच्चों को विज्ञान की भाषा में कंजोइंड बेबी या सिएमिस ट्विन्स कहा जाता है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में लगी अपनी ‘चेलियों’ की फोटो प्रदर्शनी, जरूर जाएं देखने

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, नैनीताल, 29 दिसंबर 2018। नगर में शनिवार को ‘चेली’ संस्था की दो दिवसीय प्रदर्शनी प्रारंभ हुई। नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी ने पूर्व विधायक सरिता आर्या तथा कुमाऊं विवि के प्रो. अतुल जोशी के साथ मल्लीताल अम्मा भोजनालय के पास प्रदर्शनी का औपचारिक शुभारंभ किया। प्रदर्शनी में कुमाऊं के विभिन्न स्थानों की 10 प्रतिभागियों-जूली आर्या, योगेश अधिकारी, जतिन कांडपाल, अलीसा खान, श्रद्धा सिंह, युक्ता वर्मा, गीता साह, गीता जोशी, कविता पाठक, विमला चौबे, यामिनी खन्ना, अदिति खुराना, निहारिका गुसाईं की कुमाऊं की संस्कृति पर आधारित 200 कलाकृतियों को प्रदर्शित किया गया है।
आयोजक किरन तिवारी तथा प्रेमलता गुसाईं के अनुसार पहाड़ की बालिकाओं को बढ़ावा दिए जाने के उद्देश्य से चेली संस्था ने यह कार्यक्रम शुरू किया है। उल्लेखनीय है कुमाउनी शब्द ‘चेली’ का अर्थ ही ‘बेटी’ होता है।

यह भी पढ़ें : इंटरनेशनल मास्टर रहे ढाई लाख ईनामी तीसरी नैनीताल ओपन फिडे रेटिंग चेस टूर्नामेंट के विजेता-उपविजेता

नैनीताल, 3 नवंबर 2018। नगर के जूम लेंड में खेली गयी ढाई लाख के कुल ईनाम वाला तीसरी नैनीताल ओपन फिडे रेटिंग चेस टूर्नामेंट पश्चिमी रेलवे के विजेता एवं उपविजेता दोनों इंटरनेशनल मास्टर हिमल गुसाईं व डीके शर्मा रहे। हिमल 9 राउंड के इस पूरे टूर्नामेंट में अजेय रहे। उन्होंने 8 मैच जीते व एक ड्रा खेला और टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया। वहीं साढ़े सात अंकों के साथ एलआईसी के इंटरनेशनल मास्टर डीके शर्मा दूसरे स्थान पर रहे। वहीं तीसरे स्थान पर सात अंकों के साथ बिहार के आशुतोष कुमार तथा सात अंकों के साथ दिल्ली के ऋषभ जैन, पश्चिम बंगाल के सर्बजीत पॉल, कर्नाटक के ए बालकिशन व नेपाल के तेजेंद्र राज पाठक प्रोग्रेसिव पद्धति के जरिये समान अंक होने के बावजूद क्रमशः चौथे से सातवें स्थान पर रहे। प्रतियोगिता में विभिन्न वर्गों में कुल 45 प्रतिभागियों को ढाई लाख रुपये के नगद पुरस्कार वितरित किये गये।

तीसरी स्थान के लिये भिड़ते उत्तराखंड के सार्थक रावत (सफेद जैकेट में)

<

p style=”text-align: justify;”>इनके अलावा राजस्थान के कांतिलाल, नेपाल के बसंत रावत, उत्तराखंड के तपन रॉय साढ़ें छह अंकों के साथ आठवें से दसवें, महाराष्ट्र के अवधेश प्रताप सिंह, एलआईसी के अविनाश श्रीवास्तव, यूपी के गौरव शर्मा व राजेश कुमार शर्मा, उत्तराखंड के राजेंद्र राणा, बिहार के जीतेंद्र कुमार जवाहर, हरियाणा के राज प्रखर 6 अंक बनाकर 11वें से 20वें स्थान पर रहे। वहीं प्रतियोगिता के प्रदर्शन के आधार पर हरियाणा के विभान साढ़े छह अंकों के साथ 1600 से कम रेटिंग अंकों में पहले, अभवेश प्रताप व मेदांस सक्सेना 6 अंकों के साथ दूसरे व तीसरे तथा अश्विनी सैनी व अभय नारायण 5 अंकों के साथ चौथे व पांचवें स्थान पर, 1400 से कम रेटिंग के वर्ग में बरेली के नीरज रावत साढ़े 6 अंकों के साथ, 1200 से कम रेटिंग के वर्ग में बरेली के ही सरबजीत भारद्वाज साढ़े पांच अंकों के साथ, सर्वश्रेष्ठ अनरेटेड वर्ग में यूपी के मनीश कुमार 5 अंक बनाकर अपने वर्गों में प्रथम रहे। वहीं पौड़ी के सार्थक रावत 6 अं प्राप्त कर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुने गये। इसी तरह महिलाओं में दिल्ली की महक जैन, बुजुर्गों में राजस्थान के केके कुलहरी, अंडर-115 में मुरादाबाद के उत्कर्ष रौथ 6 अंक बनाकर प्रथम रहे, वहीं सर्वेश्रेष्ठ स्कूल टीम का खिताब मुरादाबाद के गांधीनगर पब्लिक स्कूल को 17.5 अंकों के साथ मिला। पुरस्कार वितरण अल्मोड़ा अधिवक्ता संघ के पूर्व जिलाध्यक्ष शेखर लखचौरा, हाईकोर्ट के पूर्व अपर मुख्य स्थाई अधिवक्ता अनिल कुमार जोशी, एनएस पुंडीर ने किया। इस अवसर पर आयोजक संस्था के संरक्षक डीके जोशी, अध्यक्ष संजीव चौधरी, सचिव ईश्वरी दत्त तिवाड़ी, विश्वकेतु वैद्य, कौशल भट्ट, हिमांश बहुगुणा, नवीन जोशी, रोहित गुप्ता, अरुण कुमार साह, विमला तिवाड़ी, मानवेंद्र भाकुनी, दिनेश चंद्रा, चेहराज बिष्ट, समीर कुमार, राजू, विकास मरदान, दिव्यांशु तिवाड़ी, तोषित तिवाड़ी व अनिल कुमार आदि मौजूद रहे।
चित्र परिचयः 03एनटीएल-4ः नैनीताल। प्रतियोगिता के विजेता इंटरनेशनल मास्टर हिमल गुसाई को तीसरी नैनीताल ओपन फिडे रेटिंग चेस टूर्नामेंट की ट्रॉफी भेंट करते मुख्य एवं विशिष्ट अतिथि।

जानें नैनीताल दुग्ध संघ के चुनावों में कौन जीते-कौन हारे

नैनीताल, 2 नवंबर 2018। नैनीताल दुग्ध संघ के चुनावों में कालाढुंगी से भगत सिंह कुमटिया, भीमताल से हेमा देवी, कोटाबाग से शेखर चंद्र और रामगढ़ से मदन सिंह जीना, लालकुआ अनुसूचित सीट से राजेद्र प्रसाद, हल्दूचौड़ की महिला आरक्षित सीट से रश्मि गरजोला व हल्द्वानी की महिला सीट से गीता दुम्का चुनाव जीत गये हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार कालाढुंगी से भगत सिंह कुमटिया को 75 व नीरज देउपा को 33, भीमताल से हेमा देवी को 45 तथा देवेंद्र जीना को 7 व गिरीश चंद्र को 4, कोटाबाग से शेखर जोशी को 50, नवीन सिंह को 44 व कर्णवीर सिंह को 19, लालकुआ से राजेंद्र प्रसाद को 71, प्रकाश चंद्र को 36 व प्रकाश राम को 29, हल्दूचौड़ से रश्मि गरजोला को 59 व दीपा कार्की को 25, हल्द्वानी से गीता दुम्का को 43, बीना नौला को 33 व राधा बेलवाल को 23 तथा रामगढ़ से जीना को 48 व किशन सिंह को 40 वोट मिले।

आपूर्ति विभाग ने नैनीताल के किन व्यवसायिक प्रतिष्ठानों से जब्त किये घरेलू गैस सिलेंडर

खाद्य एवं आपूर्ति विभागों ने इन दिनों त्योहारों के मद्देनजर व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में घरेलू गैस सिलेंडरों के प्रयोग के खिलाफ अभियान छेड़ा हुआ है। जिला पूर्ति अधिकारी तेजबल सिंह ने बताया कि इसी कड़ी में शुक्रवार को मुख्यालय में की गयी छापेमारी में तल्लीताल के पंजाबी ढाबा से दो तथा खाना खजाना व सुनील कुमार के प्रतिष्ठान से एक-एक एवं मल्लीताल के मामू स्वीट्स से दो तथा नैनी रेस्टोरेंट व पंकज ढैला के प्रतिष्ठान से एक-एक यानी कुल 8 घरेलू सिलेंडर बरामद किये हैं।

प्रशांत मिस्टर उत्तराखंड, नितिन मिस्टर कुमाऊं व विनोद मिस्टर नैनीताल चुने गये

मिस्टर उत्तराखंड को पुरस्कृत करते मुख्य अतिथि।

<

p style=”text-align: justify;”>-नैनीताल बाड़ी बिल्डिंग एण्ड फिटनैस एशोसिएशन के तत्वावधान में हुआ आयोजन
नैनीताल, 1 नवंबर 2018। नैनीताल बाड़ी बिल्डिंग एंड फिटनैस एशोसिएशन के तत्वावधान में नगर के शैले हाल में देवी लाल साह मेमोरियल उत्तराखंड क्लासिक बाडी बिल्डिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।
प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले 24 खिलाडियों में से विनोद गोस्वामी मिस्टर नैनीताल चुने गये, वहीं मुन्ना बुधानी द्वितीय तथा दीपक सिंह बधेरा तृतीय स्थान पर रहे। वहीं 25 प्रतिभागियों में से नितिन राठौर मिस्टर कुमाऊं, शुभम मेहरा द्वितीय तथा गौरव भट्ट तृतीय स्थान पर तथा उत्तराखंड मेन्स फिज़ीक प्रतियोगिता में 55 खिलाडियों में आशुतोष सिंह प्रथम, सुरेंद्र असवाल द्वितीय तथा समीर मौर्या तृतीय चयनित हुए। वहीं मिस्टर उत्तराखण्ड प्रतियोगिता 3 प्रतिभागियों में प्रशांत लामा मिस्टर उत्तराखण्ड बने। जबकि दीवान सिंह खोलिया द्वितीय तथा इंदर कुमार तृतीय स्थान पर रहे। इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि आयोजक संस्था के अध्यक्ष रमेश शर्मा तथा पूर्व ओलेम्पियन राजेद्र सिंह रावत ने संयुक्त रूप से किया। संचालन संस्था के संरक्षक सुरेश गुरूरानी तथा सचिव मुकेश पाल ने संयुक्त रूप से किया। पूर्व मिस्टर इंडिया मुकेश ठाकुर, अमित छेत्री, डा. मोहित सनवाल तथा हिमाचल के जग्गी सिंह ने निर्णायक की भूमिका निभाई। कार्यक्रम में पूर्व मिस्टर कुमाऊं प्रो. डीसी पांडेय व बहादुर पाल, पूर्व मिस्टर बरेली एएन सिंह, पूर्व मिस्टर कुमाऊ एनके खोलिया को खेल में उनके योगदान के लिये सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के प्रायोजक एलफिस्टन होटल परिवार की ओर से हरीश साह, ब्रज साह, दीप साह, विक्रम साह द्वारा अतिथियों का स्वागत किया गया। सचिव मुकेश जोशी ने संस्था के उद्देश्य तथा कार्यक्रमों की जानकारी दी, तथा अध्यक्ष गिरीश जोशी ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

प्रशासन को सिर्फ ‘लौह पुरुष’ याद आये, भाजपा-कांग्रेसियों ने तो भुला दिया दोनों ‘लौह पुरुष-लौह महिला’ को

जिला कलक्ट्रेट में कर्मचारियों को ‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ की शपथ दिलाते डीएम।

<

p style=”text-align: justify;”>नैनीताल, 31 अक्तूबर 2018। बुधवार 31 अक्तूबर को ‘लौह पुरुष’ सरदार पटेल की जयंती के साथ ही पाकिस्तान के दो टुकड़े कर देने वाली तथा देश की चार कार्यकालों में व एकमात्र महिला प्रधानमंत्री रहीं ‘लौह महिला’ इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि भी थी। किंतु बदले राजनीतिक हालातों में जिला व मंडल मुख्यालय में लौह पुरुष तो कई जगह याद किये गये, किंतु लौह महिला को कहीं भी सार्वजनिक तौर पर याद किये जाने की सूचना नहीं है। अलबत्ता, निकाय चुनावों में लगे भाजपा कार्यकर्ताओं को भी पिछले वर्षों की तरह ‘राष्ट्रीय एकता दिवस क्रॉस कंट्री दौड़’ और कांग्रेसियों को इंदिरा गांधी को याद करने की फुरसत नहीं दिखाई दी।
लौह पुरुष की जयंती ‘एकता दिवस’ के अवसर पर कमिश्नरी मुख्यायल पर अपर आयुक्त संजय खेतवाल तथा जिला कलेक्ट्रेट मे डीएम विनोद कुमार सुमन ने कर्मचारियों को राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलायी। इस अवसर पर अधिकारियों व कर्मचारियों को संबोधित करते हुये डीएम श्री सुमन ने कहा कि सरदार बल्लभ पटेल का विशाल व्यक्तित्व तथा उनके द्वारा देश की एकता व अखंडता के लिए किये गये कार्यो को सदा ही याद किया जायेगा। आजादी के बाद देश के गृहमंत्री के पद पर आसीन रहते हुये उन्होने रियासतों को देश में एकता के सूत्र मे पिरोते हुये सभी रियासतों का विलय किया। जिससे समग्र भारत उभरकर दुनिया के सामने आया। वहीं अपर आयुक्त श्री खेतवाल ने अपने संबोधन मे कहा स्व. पटेल के आदर्शो एवं उनकी शिक्षाओं को अपनाते हुये हमें राष्ट्र निर्माण में भागेदारी तय करनी होगी। इधर मल्लीताल कोतवाली व तल्लीताल पुलिस थाने में भी इस मौके पर पुलिस कर्मियों ने एकता की शपथ ली। वहीं नैनीताल जिमखाना एवं जिला क्रीड़ा संघ के तत्वावधान में सुबह ‘राष्ट्रीय एकता दिवस क्रॉस कंट्री दौड़’ का आयोजन हुआ, जिसमें विजय सिंह प्रथम, अमन कुमार द्वितीय व सौरभ बधानी तृतीय रहे।

नैनीताल में पिछली बार हुई थी 49वीं, इस बार हुई 47वीं प्रतियोगिता, जानें क्यों ?

-पहली बार फ्लैट्स मैदान में आयोजित हुई शारदा संघ की बाल चित्रकला प्रतियोगिता में दो हजार बच्चों ने भरे कल्पनाओं में रंग

बाल चित्रकला प्रतियोगिता के दौरान शास्त्रीय नृत्य की सुंदर प्रस्तुति देती बालिकाएं।
बाल चित्रकला प्रतियोगिता में अपनी कल्पनाओं में रंग भरते बच्चे।

<

p style=”text-align: justify;”>नैनीताल, 28 अगस्त 2018। नगर की प्राचीन धार्मिक-सामाजिक संस्था शारदा संघ के तत्वावधान में रविवार को 50वीं बाल चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित हुई। सर्दियों की खिली धूप के बीच नैनी झील के पार्श्व में पहली बार फ्लैट्स मैदान में आयोजित हुई प्रतियोगिता में करीब दो हजार बच्चों ने विभिन्न वर्गों में प्रतिभाग किया। इस बार सभी वर्ग के बच्चों को इंद्रधनुष, गुलदस्ता, मेरा परिवार, छोटा भीम, बगीचा, पशु, त्योहार, प्रदूषण, जल संरक्षण, स्वच्छ भारत, सर्कस, दुर्गापूजा, गांव, नैनीताल के ऐतिहासिक भवन, नैनी झील, रामलीला तथा 10 वर्ष बाद का नैनीताल कैसा होगा आदि विषय दिये गये।
इससे पूर्व प्रतियोगिता का शुभारंभ कूर्मांचल नगर सहकारी बैंक के अध्यक्ष विनय साह व नैनीताल बैंक के अध्यक्ष व सीईओ मुकेश शर्मा ने बतौर मुख्य अतिथि रंग-बिरंगे गुब्बारे उड़ाकर किया। इस दौरान शारदा संघ स्थित पं. चंद्रशेखर पंत संगीत विद्यालय की छात्राओं ने शास्त्रीय एवं लोक सांस्कृतिक नृत्यों की शानदार प्रस्तुतियां भी दीं। आगे बताया गया कि 29 व 30 अक्टूबर को प्रतियोगिता की प्रविष्टियों की शारदा संघ के सभागार में प्रदर्शनी लगेगी, तथा 31 अक्तूबर को विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा। इस अवसर पर संस्था के घनश्याम लाल साह, प्रो. डीएस बिष्ट, डा. मनोज बिष्ट, डा. जीएल साह, केएस ह्यांकी, आलोक साह, डीएल साह व जेके शर्मा सहित संस्था के अनेक सदस्य मौजूद रहे। अपने बचपन में प्रतियोगिता के विजेता रहे नगर कोतवाल विपिन चंद्र पंत ने आयोजन के लिए 10 हजार रुपए देने की घोषणा करने के साथ शहीदों, महापुरुषों के चित्र भी विषय के रूप में देने की अपील की। संचालन हेमंत बिष्ट ने किया।

पिछले वर्ष 49वीं इस बार 47वीं हुई प्रतियोगिता

नैनीताल। गत वर्ष 2018 में आयोजित हुई बाल चित्रकला प्रतियोगिता को 49वीं प्रतियोगिता बताया गया था। इस हिसाब से इस वर्ष की प्रतियोगिता 50वीं होनी थी। लेकिन इस बार 50वीं स्वर्ण जयंती प्रतियोगिता नहीं हुई, बल्कि बीच में हुए विवाद व भ्रमपूर्ण स्थिति के कारण बताया ही नहीं गया कि इस वर्ष कौन सी वीं प्रतियोगिता हुई। पूछे जाने पर संस्था के पूर्व अध्यक्ष घनश्याम लाल साह ने बताया कि पहली बार यह प्रतियोगिता 1971 में आयोजित हुई थी। बीच में कुछ वर्षों में व्यवधान भी रहा। पूर्व में नगर में होने वाले शरदोत्सव के आयोजन की धनराशि से इसका भी आयोजन होता था। इसलिए भ्रम की स्थिति रही है। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष के आयोजन के मुख्य अतिथि नगर कांग्रेस अध्यक्ष मारुति नंदन साह ने अगले वर्ष स्वर्ण जयंती वर्ष पर होने वाली प्रतियोगिता को अपने नाना स्वर्गीय हीरा लाल साह के नाम पर कराने के लिए 50 हजार रुपए की राशि संस्था को देने की घोषणा भी की थी। आज श्री साह ने कहा कि जब भी 50वीं यानी स्वर्ण जयंती वर्ष की प्रतियोगिता होगी, इसे वे प्रायोजित करेंगे। बताया गया कि शारदा संघ की स्थापना 1938 में हुई थी एवं 1943 में शारदा संघ नाम दिया गया था।

Loading...

Leave a Reply