Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

जानें नैनीताल, हल्द्वानी, रामनगर, रुद्रपुर, कोटद्वार एवं देहरादून के नगर निकाय चुनावों के एकमात्र ओपीनियन पोल के परिणाम:

Spread the love

नोटः सर्वप्रथम हम साफ कर देना चाहते हैं कि हम किसी एक्जिट पोल के नहीं बल्कि ओपीनियन पोल के परिणाम जारी कर रहे हैं। यह ओपीनियन पोल निकाय चुनाव के लिए नामांकन होने के बाद शुरू किये गये थे। हमारा इन ओपीनियन पोल्स के परिणामों से संतुष्ट होना जरूरी नहीं है। हम इन परिणामों के चुनाव परिणामों के रूप में सही साबित होने का भी किसी तरह का दावा नहीं करते हैं। साथ ही यह भी साफ करते हैं कि यह परिणाम किसी नगर निकाय के संपूर्ण मतदाताओं का प्रतिनिधित्व नहीं करते हैं, बल्कि यह केवल उन लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं जो हमारे पोर्टल पर आये। इस तरह यह केवल उन लोगों के ही ‘ओपीनियन’ यानी विचार भी हो सकते हैं जो कि स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं, और ऑनलाइन रहते हैं। अब यह आपीनियन पोल बंद कर दिये गये हैं। आप स्वयं भी इनके परिणाम देख सकते हैं। संक्षिप्त में परिणाम इस तरह हैं:

1. नैनीताल : नैनीताल के लिए दो ओपीनियन पोल किये गये थे। पहला ओपीनियन पोल नामांकन के पहले 5 दिन तक ही सक्रिय रहा था। इस प्रकार शुरुआती दिनों में यह स्थिति थी :
सरस्वती खेतवाल को 30 प्रतिशत, खजान डंगवाल को 16 प्रतिशत, सचिन नेगी कांग्रेस को 14 प्रतिशत, अरविंद पडियार भाजपा को 14 प्रतिशत, नीरज जोशी-7 प्रतिशत, प्रकाश पांडे उक्रांद को 5 प्रतिशत, राजेंद्र परगाई को 4 प्रतिशत, नोटा यानी किसी को नहीं को 3 प्रतिशत, दीपा मिश्रा को 2 प्रतिशत, किशन नेगी को 1 प्रतिशत और नलिनी नेगी, रईश अहमद अंसारी व संजय साह को एक फीसद से कम मत पड़ रहे थे।
वहीं 30 अक्तूबर से शुरू हुए दूसरे ‘गुप्त’ ओपीनियन पोल के अनुसार भाजपा के अरविंद पडियार को सर्वाधिक 23.39 प्रतिशत, कांग्रेस के सचिन नेगी को 17.29 प्रतिशत, नोटा यानी किसी को नहीं को 14.58 प्रतिशत, उक्रांद के प्रकाश पांडे को 12.37 प्रतिशत, निर्दलीय डा. सरस्वती खेतवाल को 7.12 प्रतिशत, नीरज जोशी को 5.76 प्रतिशत, किशन नेगी को 4.92 प्रतिशत, राजेंद्र परगाई को 3.9 प्रतिशत, अजय साह को 3.56 प्रतिशत, खजान सिंह डंगवाल को 3.39 प्रतिशत, नलिनी नेगी को 1.86 प्रतिशत, दीपा मिश्रा को 1.53 प्रतिशत एवं रईश अहमद अंसारी को 0.33 प्रतिशत एंव संजय साह को 0 प्रतिशत मतदान हुआ है।

अलबत्ता, यदि चुनाव के दिन के रुझानों की बात करें तो निर्दलीय प्रत्याशी किशन नेगी की सर्वाधिक चर्चा रही है, और उनके बाद निर्दलीय प्रत्याशी डा. सरस्वती खेतवाल, कांग्रेस के सचिन नेगी, उक्रांद के प्रकाश पांडे, भाजपा के अरविंद पडियार, निर्दलीय अजय साह के नाम मुकाबले में सुनाई दिये हैं। वहीं निर्दलीय प्रत्याशी राजेंद्र परगांई व खजान डंगवाल का भी कुछ क्षेत्रों में व्यापक प्रभाव दिखाई दिया है। चुनाव प्रचार के काफी दिनों तक मुकाबले से बाहर बताये जा रहे भाजपा व कांग्रेस प्रत्याशियों ने आखिरी एक-दो दिनों में दमदार उपस्थिति दर्ज कराई है।

इन मुद्दों पर किया गया मतदान : 
मुद्दों की बात करें तो सर्वाधिक 17 प्रतिशत मतदाताओं ने नैनीताल नगर के अस्तित्व को बचाने के मुद्दे पर वोट देने, 16 प्रतिशत ने नगर की साफ-सफाई के मुद्दे पर, 14 प्रतिशत ने नैनीताल में पर्यटकों से पहले नगरवासियों की सुविधाओं के कार्यों की जरूरत के मुद्दे पर, 10 प्रतिशत ने नगर के आधार बलियानाला के सुधार कार्यों के मुद्दे पर, 8 प्रतिशत ने नगर में पर्यटक सुविधाओं के विस्तार के मुद्दे पर, 8 प्रतिशत ने ही अपने क्षेत्र में सुविधाओं के विकास के लिए, 7 प्रतिशत ने नगर में अवस्थापना सुविधाओं के विस्तार के मुद्दे पर, 5 प्रतिशत ने नगर पालिका के अधिकारों में वृद्धि के मुद्दे पर, 3 प्रतिशत ने आवारा कुत्तों के आतंक से निजात प्राप्त करने के लिए तथा 1 प्रतिशत ने निजी कार्यों के लिए मतदान करने की बात कही।

इस आधार पर किया गया  मतदान :
वहीं 45 प्रतिशत मतदाताओं ने प्रत्याशी की व्यक्तिगत छवि के आधार पर, 25 प्रतिशत ने प्रत्याशी की प्रशासनिक क्षमताओं के आधार पर, 17 प्रतिशत ने प्रत्याशी के शिक्षा के स्तर को देखकर, 5 प्रतिशत ने प्रत्याशी से निजी संबंधों के आधार पर, 4 प्रतिशत ने दलगत आधार पर और 1 प्रतिशत ने जातिगत आधार पर मतदान करने की बात ओपीनियन पोल में कही।

2. हल्द्वानी का ओपीनियन पोल:
इस ओपीनियन पोल में मतदान करने वालों के अनुसार हल्द्वानी में 61 प्रतिशत मतदाताओं ने भाजपा के जोगेंद्र सिंह रौतेला, 30 प्रतिशत ने कांग्रेस के सुमित हृदयेश को, 3-3 प्रतिशत ने नोटा एवं आप की गीता बल्यूटिया को, 2 प्रतिशत ने उक्रांद के सुशील उनियाल को, 1 प्रतिशत ने सपा के शोएब अहमद को एवं शेष प्रत्याशियों को 1 प्रतिशत से कम मतदाताओं ने अपना मतदान किया है।

3. देहरादून का ओपीनियन पोल:
देहरादून के ओपीनियन पोल के अनुसार यहां भाजपा के सुनील उनियाल गामा को 43 प्रतिशत, कांग्रेस के दिनेश अग्रवाल को 30 प्रतिशत, आप की रजनी रावत को 16 प्रतिशत, बसपा के विभूति भूषण को 7 प्रतिशत, नोटा यानी किसी को नहीं को 4 प्रतिशत तथा अन्य प्रत्याशियों को 1 प्रतिशत से कम मत मिले हैं।

4. कोटद्वार का ओपीनियन पोल:
कोटद्वार के ओपीनियन पोल के अनुसार उक्रांद की उषा सजवाण को सर्वाधिक 31 प्रतिशत, भाजपा की बागी निर्दलीय विभा चौहान को 19 प्रतिशत, कांग्रेस की हेमलता नेगी को 17 प्रतिशत, भाजपा की नीतू रावत को 16 प्रतिशत, निदर्लीय सुधा सती को 11 प्रतिशत, नोटा यानी किसी को नहीं को 3 प्रतिशत, निर्दलीय शशि नैनवाल को 1 प्रतिशत एवं शेष तीन प्रत्याशियों को 1 प्रतिशत से कम मत मिले हैं।

5. रामनगर का ओपीनियन पोल:
रामनगर के ओपीनियन पोल के अनुसार यहां भाजपा की रुचि गिरि शर्मा को सर्वाधिक 71 प्रतिशत, कांग्रेस के मो. अकरम एवं निर्दलीय ममता गोस्वामी को केवल 3 प्रतिशत मत मिले हैं। यहां हम साफ कर दें कि रामनगर के काफी कम संख्या में लोगों ने इस ओपीनियन पोल में वोट दिये।

6. रुद्रपुर का ओपीनियन पोल:
रुद्रपुर के ओपीनियन पोल में आम आदमी पार्टी के राम बाबू ने सर्वाधिक 30 प्रतिशत, भाजपा के रामपाल सिंह ने 27 प्रतिशत, कांग्रेस के नंदलाल ने 10 प्रतिशत और नोटा ने 14 प्रतिशत मत प्राप्त किये। गौरतलब है कि यहां भी कम ही लोगों ने ऑनलाइन मतदान किया।

(यह हमारी ओर  पुनश्च: यह हमारी ओर से पहला प्रयास था। हमने अपनी ओर से परिणामों में पूरी ईमानदारी बरती गयी है। परिणाम पूरी तरह ऑनलाइन मतदान करने वालों पर निर्भर हैं। यह वास्तविक परिणामों से पूरी तरह उलट भी हो सकते हैं। ऐसा हमें भी लगता है। हम इन परिणामों को जारी भी नहीं करना चाहते थे, लेकिन हमारे बहुत से पाठकों की ओर से इन्हें जारी करने की मांग की जा रही थी। इसलिये इन्हें जारी किया जा रहा है। परिणामों को दिल से न लें। धन्यवाद। )

Loading...

Leave a Reply