संघर्षों में उक्रांद प्रत्याशी प्रकाश पांडे का कोई सानी नहीं

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
नैनीताल, 12 नवंबर, 2018। उतराखण्ड राज्य आन्दोलन की शुरुआत मसूरी एवं नैनीताल से उतराखण्ड क्रांति दल के आह्वान पर अगस्त सन् 1994 में हुई। श्री प्रकाश पाण्डे, एडवोकेट, एवं श्री काशी सिंह ऐरी, तत्कालीन अध्यक्ष, उतराखण्ड क्रांति दल रामलीला स्टेज मल्लीताल नैनीताल में आमरण अनशन पर बैठे। उनका स्वास्थ्य दिन पर दिन खराब होने पर भी वे अनशन स्थल पर अविचलित डटे रहे एवं तत्कालीन राज्य सरकार द्वारा आश्वासन मिलने पर ही उन्हें अस्पताल मेंभर्ती कराया गया। वर्तमान में नैनीताल नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी अर्थात अग्रणी उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलनकारी श्री प्रकाश पाण्डे ने पृथक उतराखण्ड राज्य निर्माण के लिए अपने प्राणों की भी चिंता नहीं की। प्रथक उतराखण्ड राज्य निर्माण की अलख जगाने वाला उतराखण्ड क्रांति दल का अमूल्य योगदान अविस्मरणीय है।

उल्लेखनीय है कि नैनीताल में उत्तराखंड क्रांति दल का शुरू से अच्छा जनाधार रहा है। वर्ष 2002 में हुए उत्तराखंड विधानसभा के पहले चुनाव में डा. नारायण सिंह जंतवाल यहां विजयी रहे, लेकिन 2007 में मामूली अंतरों से हारे। आगे 2008 में हुए नैनीताल नगर पालिका के चुनाव में उक्रांद के प्रत्याशी प्रकाश पांडे निर्दलीय मुकेश जोशी से करीब 150 मतों के अंतर से चुनाव हारकर दूसरे स्थान पर रहे। 2013 में उक्रांद के श्याम नारायण ने चुनाव जीतकर फिर उक्रांद की ताकत दिखाई। इस बार 2018 के निकाय चुनाव में भी उक्रांद प्रत्याशी पार्टी की इसी ताकत और अपनी संघर्षशील छवि व अधिवक्ता के पेशे के साथ बुद्धिजीवियों, राज्य आंदोलन से जुड़े सहित सभी वर्गों के समर्थन के बल पर मजबूती से आगे बढ़ रहे हैं।

(नोट : नैनीताल समाचार में हम विभिन्न प्रत्याशियों से जनता को परिचित कराने के लिए यह स्तम्भ शुरू कर रहे हैं। जिन प्रत्याशियों के बारे में हम इस तरह जानकारी जुटा पाएंगे, उनके बारे में भी इसी तरह से जानकारी दी जाएगी। – नवीन समाचार)

Leave a Reply

Loading...
loading...
google.com, pub-5887776798906288, DIRECT, f08c47fec0942fa0

ads

यह सामग्री कॉपी नहीं हो सकती है, फिर भी चाहिए तो व्हात्सएप से 9411591448 पर संपर्क करें..