News

प्रेमी को दूसरे प्रेमी के हाथों मरवाने की आरोपित विवाहिता को पांच माह बाद भी नहीं मिली जमानत

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, नैनीताल, 03 जून 2020। जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे की अदालत ने प्रेमी के साथ पत्नी की तरह रहने वाली और बाद में प्रेमी का विवाह हो जाने पर अपने दूसरे प्रेमी के जरिये उसकी हत्या करवाने की आरोपित विवाहिता की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। इस प्रकार विवाहिता को पांच माह बाद भी जमानत नहीं मिल पायी है।
बुधवार को जिला न्यायालय में उसकी जमानत अर्जी का विरोध करते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा ने न्यायालय को बताया कि वनभूलपुरा के बड़ी मस्जिद की ठोकर के पास रहने वाली आरोपित आरोपित महिला पहले से विवाहिता होने के बाद अपने पति से अलग मृतक नाजिम अली खान पुत्र रियासत अली खान निवासी इंद्रा नगर गली नंबर तीन हल्द्वानी के साथ पत्नी की तरह रहती थी। इधर मृतक का विवाह तय होने पर उसने खुद से शादी न करने पर मरवाने की धमकी दी थी और एक जनवरी 2020 को नाजिम को शडयंत्रपूर्वक अपने साथ चंदा देवी मंदिर के पास ले गयी जहां उसके दूसरे मित्र राधेश्याम ने नाजिम के मंुह पर गोली चलाकर उसकी हत्या कर दी। इस मामले में राधेश्याम की जमानत अर्जी पहले ही खारिज कर दी है। इस प्रकार करीब पांच माह से जेल में दोनों हत्यारोपितों को आगे भी जेल में ही रहना पड़ेगा।

Leave a Reply

loading...