Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

रिश्ते तार-तार : कुंवारी मां बनी नाबालिग रेप पीड़िता, बच्चे को छोड़कर दूसरे प्रेमी के साथ भागी

Spread the love

नवीन समाचार, हल्द्वानी/देहरादून, 15 जनवरी 2019। समाज में घटती मानवीयता व बेभरोसे के प्रेमियों के साथ अवैध संबंधों के दो चिंताजनक समाचार सामने आये हैं। पहली घटना राजधानी देहरादून की है। यहां एक 17 वर्षीया नाबालिग किशोरी बलात्कार के बाद मां बनी है। उसके पेट में गर्भ होने की जानकारी मिलने पर उसके बलात्कारी युवक के साथ ही उसकी मां व परिवार ने भी छोड़ दिया है। वहीं दूसरी घटना हल्द्वानी की है, जहां एक नाबालिग कंुवारी किशोरी अपने करीब दो वर्ष के अबोध बच्चे को छोड़कर और अपनी मां के 40 हजार रुपये उड़ाकर दूसरे प्रेमी के साथ भाग गयी है। जबकि उसे गर्भधारण कराने वाला उसका पहला प्रेमी जेल में है।
मोथरोवाला निवासी नाबालिग रेप पीड़िता ने दून महिला अस्पताल में बच्ची को जन्म दिया है। प्रसव के बाद जच्चा-बच्चा दोनों की हालत सामान्य है। उसे साथ लेकर अस्पताल आई युवती के अनुसार रेप पीड़िता के माता-पिता उसे छोड़ चुके हैं। उन्हें कई माह बाद रेप होने की जानकारी मिली। ऐसे में गर्भ गिराना खतरनाक साबित हो सकता था। इसलिये प्रसव कराया।
इधर हल्द्वानी में रामपुर रोड स्थित एक फैक्ट्री में कार्यरत महिला ने कोतवाली में आरोप लगाया है कि उसकी नाबालिग पुत्री अपने ढाई साल के अबोध बच्चे को छोड़कर प्रेमी के साथ चली गई है। आरोप लगाया है कि कुंआरी बेटी उसके बाक्स से 40 हजार रुपये भी लेकर गई है। विरोध करने पर उसने गला भी दबाने का प्रयास किया। बताया कि उसकी बेटी 13 साल की उम्र में मजदूर आलोक मंडल के साथ भाग गई थी। गर्भ ठहरने पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आलोक को दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बेटी ने एक बेटे को जन्म दिया। अब उसका बेटा ढाई साल का हो गया है। इधर कुंवारी मां 16 साल की ही है, और एक इधर अपने अबोध बेटे को छोड़कर दूसरे प्रेमी के साथ आठ जनवरी को भाग गई है। अपने साथ अपने फोटो और कागजात व रुपये भी लेकर गई है। पुलिस का कहना है कि मुकदमा दर्ज होने पर उसका एक और प्रेमी जेल जाएगा।

यह भी पढ़ें : 12 वर्ष की बच्ची चार गुना उम्र के सगे ताऊ द्वारा किये दुष्कर्म से हुई गर्भवती

पेट में दर्द की शिकायत पर अस्पताल में हुई जांच से हुई ढाई माह का गर्भ होने की पुष्टि
नवीन समाचार, नैनीताल, 13 जनवरी 2019। नैनीताल में एक 12 वर्ष की नाबालिग किशोरी के साथ उसके सगे ताऊ के द्वारा दुष्कर्म करने का मामला प्रकाश में आया है। आरोपित की उम्र बच्ची से चार गुना बताई जा रही है। मामला तब प्रकाश में आया, जब बच्ची के पेट में दर्द की शिकायत होने परिजन उसे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लेकर गये, जहां चिकित्सकों ने बच्ची के करीब ढाई माह के गर्भ से होने की जानकारी दी। इस पर परिजन सकते में आ गये, और उन्होंने कोतवाली पुलिस में तहरीर दी। इसके आधार पर कोतवाली पुलिस ने आरोपी ताऊ के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 एवं पॉक्सो अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है, तथा आरोपित की धरपकड़ के लिए पुलिस की टीम उसके घर आंवला, बरेली रवाना हो गयी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मूलतः आंवला तहसील जिला बरेली यूपी का रहने वाला परिवार नगर के मल्लीताल क्षेत्र में बरसों से घूम-घूमकर सामान बेचकर आजीविका चलाता है। इधर बताया गया है कि परिवार की दो भाई-बहनों में छोटी 12 वर्षीया बच्ची करीब ढाई माह पूर्व अपने मूल घर बरेली गई थी। तभी उसके सगे ताऊ ने बहला-फुसलाकर इसके बाद दुष्कर्म किया। इधर तीन-चार दिन पहले से उसके पेट में दर्द हो रहा था, इस पर परिजन उसे जिला अस्पताल में दिखाने आये तो वहां उसके गर्भ से होने की पुष्टि हुई। बच्ची ने भी पूछने पर ताऊ द्वारा उसके साथ दुष्कर्म करने की बात बताई। इसके बाद परिजनों ने कोतवाली में तहरीर दी, जिस पर कोतवाली में आरोपित ताऊ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया। नगर कोतवाल विपिन चंद्र पंत ने बताया कि बच्ची के ढाई माह का गर्भ होने की पुष्टि हुई है। उसका मेडिकल करा लिया गया है। महिला उप निरीक्षक आशा बिष्ट मामले की जांच कर रही हैं, उधर पुलिस की एक टीम आरोपित की तलाश में बरेली रवाना हो गयी है।

नवीन समाचार, किच्छा (उधम सिंह नगर) 12 जनवरी 2019। किच्छा नगर में दो महिलाओं की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। ससुर ने ही रेप के बाद बहु की हत्या की थी, और पत्नी ने उसे ऐसा करते  देख लिया तो आरोपी ने उसे भी मार डाला।  पुलिस और एसओजी की टीम ने आरोपी को रुद्रपुर से गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

एसएसपी बरिन्दरजीत सिंह ने बताया कि 27 दिसंबर की शाम को नगर के एक वार्ड में सास-बहू के शव घर से बरामद हुए थे, जिनकी गला घोंटकर हत्या की गई थी। एसएसपी ने बताया कि मामले में मृतक महिला के पुत्र ने अपने सौतेले पिता के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। शुक्रवार सुबह पुलिस ने आरोपी को रुद्रपुर से गिरफ्तार कर किया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी बताया कि घटना के दिन जब वह शाम को घर पहुंचा तो उसने शराब पी रखी थी। उस समय घर में बहू अकेली थी। नशे में उसने बहू के साथ बलात्कार किया और भेद खुलने के डर से उसने घर में पड़ी प्रेस की तार से बहू की गला दबाकर हत्या कर दी। आरोपी ने बताया कि इस बीच उसकी पत्नी आ गई तो उसने अपनी पत्नी का भी गला घोंट दिया और फरार हो गया।  उसने बताया कि वह इसके बाद जयपुर और भरतपुर गया। इतने दिन वहीं बस अड्डे पर रहा। इसके बाद वह जब रुद्रपुर आया तो उसे पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर उसकी पत्नी के एक जोड़ी कुंडल और बहू का मंगलसूत्र बरामद कर लिया।

टीम में शामिल एसओजी और पुलिस कर्मी हुए पुरस्कृत
सीओ हिमांशु शाह, कोतवाल मोहन चंद पांडे, एसआई सतपाल सिंह पटवाल, नवीन बुधानी, कांस्टेबल इरशाद उल्ला, सुरेश बिष्ट, माधो सिंह, कुलदीप आर्य, एसओजी के प्रभारी उमेश मलिक, प्रकाश भगत, देवेंद्र कन्याल, दिनेश चंद्र, संजय धोनी, महिला कांस्टेबल तारा कोंरगा आरोपी को पकड़ने वाली  टीम में शामिल थे। एसएसपी ने आरोपी को गिरफ्तार करने वाली टीम को ढाई हजार रुपये नगद ईनाम देने की घोषणा की है। कोतवाल मोहन चंद पांडे ने बताया कि अतिरिक्त साक्ष्य जुटाने के लिए आरोपी का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें : 5 साल की बेटी से सगे पिता ने 2 बार किया दुष्कर्म, खुद पत्नी ने लगाया है आरोप

नवीन समाचार, देहरादून, 30 दिसंबर 2018। देहरादून के नेहरू कॉलोनी थाना क्षेत्र की एक महिला ने अपने पति पर पांच साल की बेटी से 2 बार दुष्कर्म करने का सनसनीखेज आरोप लगाया है। महिला की शिकायत पर पुलिस ने बाल कल्याण समिति की सिफारिश पर आरोपी पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। सोमवार को बाल कल्याण समिति की मौजूदगी में बच्ची के बयान कराए जाएंगे, इसके बाद ही आरोपी को गिरफ्तार भी किया जा सकता है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार बाल कल्याण समिति की सदस्यों को एक महिला बीमार हालत में श्रीमहंत अस्पताल में मिली थी। महिला का कहना था कि वह मानसिक रूप से परेशान है, क्योंकि उसके पति ने पांच साल की बेटी से दो बार दुष्कर्म किया है। इस आधार पर महिला की ओर से थाने को तहरीर दी गई। इस पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस के अनुसार प्राथमिक जांच में पता चला है कि महिला पहले भी इस तरह के आरोप लगा चुकी है। ऐसे में मामले में जांच किया जाना बेहद आवश्यक है। वर्तमान में बच्ची भी ठीक से बयान नहीं दे पा रही है। लिहाजा उसके बयान भी बाल कल्याण समिति की मौजूदगी में दर्ज कराए जाएंगे। इसीलिए आरोपी को अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है। 

यह भी पढ़ें : बहु से ससुर ने किया दुष्कर्म, गर्भ में बेटी होने पर कराया जबरन गर्भपात

नवीन समाचार, देहरादून, 27 दिसंबर 2018। एक महिला ने अपने ससुर पर दुष्कर्म और पति पर जबरन गर्भपात कराने का आरोप लगाया है। पुलिस ने महिला की शिकायत पर दोनों के खिलाफ  मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

मामला राजपुर थाना क्षेत्र का है। पुलिस के अनुसार डीएम कार्यालय के पूर्व स्टेनो की पुत्रवधू ने उस पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। महिला का कहना है कि उसकी शादी 2010 में हुई थी। परिवार वाले उसे किसी न किसी बात को लेकर तंग कर रहे थे। इस बीच एक दिन जब उसका पति बाहर गया तो ससुर ने उससे दुष्कर्म किया। जब वह गर्भवती हुई तो ससुराल वालों ने उसके गर्भ का लिंग परीक्षण कराया, जिसमें लड़की होने का पता चला। इस पर पति ने मारपीट की और जबरन गर्भपात कराया। इसके बाद भी एक दिन उसके ससुर ने दोबारा महिला से दुष्कर्म किया। इतना सब कुछ होने के बाद भी महिला शादी बचाने को ससुराल में रह रही थी। लेकिन, जब बात हद से ज्यादा बढ़ गई तो उसने पुलिस से शिकायत कर दी। थानाध्यक्ष राजपुर अरविंद कुमार ने बताया कि पिता पुत्र के खिलाफ  मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

Loading...

Leave a Reply