यह सामग्री कॉपी नहीं हो सकती है, फिर भी चाहिए तो व्हात्सएप से 8077566792 पर संपर्क करें..
 

अनेक क्षेत्रों में रहा है अध्यक्ष प्रत्याशी डॉ. सरस्वती खेतवाल का योगदान

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नैनीताल, 12 नवंबर 2018। नैनीताल नगर पालिका के भावी अध्यक्ष पद की एक उम्मीदवार डॉ सरस्वती खेतवाल का जन्म बागेश्वर में हुआ था। वह 1975 में कॉलेज की पढ़ाई करने के लिए नैनीताल आयी और बिष्ट भवन में रही। वह अपने कॉलेज के दिनों से नैनीताल में रह रही हैं। उन्होंने 1983 में संस्कृत में डीएसबी से पीएचडी पूरी की। उनकी पीएचडी का विषय “महाकवि पंडित  श्यामवर्ण द्विवेदी का व्यक्तित्त्व एवं कृतित्व” था। वह एक सक्रिय और करिश्माई छात्ररा थीं। वह कॉलेज में महिला छात्रों की स्थितियों में सुधार लाने वाली गतिविधियों में हमेशा शामिल थीं।
कॉलेज के बाद उन्होंने नौकरी न करना चुना। हमेशा से उनकी अभिलाषा जरुरतमंद लोगों की मदद करना था। वह रक्त दान करने वाली नैनीताल में पहली महिलाओं में से एक रहीं। उनका रक्त समूह ‘ओ नेगेटिव’ है, जो उनकी तरह ही दुर्लभ है। उन्होंने नैनीताल में ब्लड बैंक की जरूरत के मुद्दे को उठाया। जब नैनीताल में ब्लड बैंक नहीं था, तब वह ब्लड डोनर्स एसोसिएशन की अध्यक्ष रहीं। उन्होंने नैनीताल के अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने में गरीब लोगों की मदद की। वह गरीब लोगों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए मुफ्त चिकित्सा शिविर और आंख शिविर आयोजित करती रही हैं। वह सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं के माध्यम से, सक्रिय रूप से, लोगों को मुफ्त चिकित्सा का लाभ दिलाने में भी मदद किया करती हैं।
यद्यपि गर्भवती होने के बावजूद उन्होंने सक्रिय रूप से उत्तराखंड आंदोलन में हिस्सा लिया। 1994 में, उन्होंने नए राज्य (उत्तराखंड) के गठन की जरूरत की जागरूकता फैलाने के लिए पूरे राज्य की यात्रा की। आन्दोलन के दौरान, नैनीताल में पुलिस द्वारा की जा रही गोलीबारी को रोकने के लिए उन्होंने अपनी जान की परवाह किये बगैर, पुलिस जत्थे के बीच जाकर गोलीबारी रुकवाने की कोशिश की ताकि निर्दोष छात्रों की जान बचाई जा सके।
वह नैनीताल में कई संगठनों की एक सक्रिय सदस्य हैं। वह नंदा देवी महोत्सव और दुर्गा महोत्सव की आयोजन समितियों का हिस्सा हैं। वह इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी से जुड़ी हुई हैं और विभिन्न संगठनों की ओर से और कभी-कभी अपनी पहल पर भी रक्त शिविर आयोजित कराती हैं। बार-बार उन्होंने नैनीताल में सफाई के मुद्दों को उठाया है। चाहे वह सड़कों की सफाई हो या रात में सड़कों पे रोशनी की कमी हो, उन्होंने प्रसाशन को जनता के सब मुद्दों पर काम करने के लिए बाध्य किया है। उन्होंने नैनीताल के क्षतिग्रस्त होते हुए जल निकासियों (नालियों) पर भी प्रशासन को चेताया है।
लोगों की मदद करने से जुड़े सामाजिक कार्यों के अलावा, वह गरीब और जरूरतमंद बच्चों को शिक्षा में भी मदद करती रही हैं। शिक्षा उनकी सामाजिक कार्य गतिविधियों का मुख्य केंद्र रहा है। वह बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ की भी सदस्य हैं। वह नैनीताल में किशोर न्याय बोर्ड के लिए नियुक्त की गयी सदस्य रही हैं। वहां उन्होंने बच्चों के जीवन में सुधार लाने के लिए, बहुत से बच्चों की मदद की। उन्होंने विभिन्न राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलनों में भी सक्रिय रूप से भाग लिया है। वह हमेशा नैनीताल के लोगों की मदद करने के लिए उपस्थित रही हैं। इसलिए, नैनीताल में सुधार लाने के लिए हम सब नैनीताल वासियों को डॉ. सरस्वती खेतवाल का समर्थन करना चाहिए।


(नोट : नैनीताल समाचार में हम विभिन्न प्रत्याशियों से जनता को परिचित कराने के लिए यह स्तम्भ शुरू कर रहे हैं। जिन प्रत्याशियों के बारे में हम इस तरह जानकारी जुटा पाएंगे, उनके बारे में भी इसी तरह से जानकारी दी जाएगी। – नवीन समाचार)

नवीन जोशी

Leave a Reply

Next Post

संघर्षों में उक्रांद प्रत्याशी प्रकाश पांडे का कोई सानी नहीं

Mon Nov 12 , 2018
यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये      Share on Facebook Tweet it Share on Google Email https://navinsamachar.com/saraswati-khetwal/#YWpheC1sb2FkZXI https://navinsamachar.com/saraswati-khetwal/#SU1HLTIwMTgxMTA नैनीताल, 12 नवंबर, 2018। उतराखण्ड राज्य आन्दोलन की शुरुआत मसूरी एवं नैनीताल से उतराखण्ड क्रांति दल के आह्वान पर अगस्त सन् 1994 में हुई। श्री प्रकाश पाण्डे, एडवोकेट, एवं श्री काशी […]
Loading...

Breaking News