यह सामग्री कॉपी नहीं हो सकती है, फिर भी चाहिए तो व्हात्सएप से 8077566792 पर संपर्क करें..
 

राष्ट्रीय स्तर के लिए चयनित हुआ उद्घोषक, कवि हेमंत बिष्ट का गीत

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये

गीतकार हेमंत बिष्ट को सम्मानित करते मुख्यमंत्री।

नैनीताल, 7 सितम्बर 2018। नगर के राष्ट्रपति पुरस्कार से पुरस्कृत शिक्षक, उद्घोषक एवं कवि हेमंत बिष्ट के लिखे एवं अपर सचिव रणवीर सिंह चौहान द्वारा गाये गये गीत ‘स्वस्थ देश स्वच्छ देश अपना बनाना है, सही पोषण देश रोशन करके दिखाना है’ को राष्ट्रीय स्तर पर पोषण अभियान के लिए चुन लिया गया है। शुक्रवार को देहरादून में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग उत्तराखंड के लिए तैयार इस गीत को एक कार्यक्रम में लांच किया एवं गीतकार एवं गायक दोनों को सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि बिष्ट इससे पूर्व उत्तराखंड राज्य गीत के अलावा मतदान संचेतना, कई खेल-उल्लास गीत तथा उत्तराखंड की पाठ्य पुस्तकों के लिए गीत-कविताएं आदि लिख चुके हैं। कक्षा चार की पुस्तक बुरांश में ‘नैनीताल की सैर’, कई फिल्मों, एल्बमों तथा नाटकों में भी उनके गीत लोकप्रिय रहे हैं। जबकि रणवीर चौहान का पूर्व में गाया गया ‘नैनीताल सिटी एंथम’ खासा लोकप्रिय रहा। श्री बिष्ट ने बताया कि उनके गीत को राष्ट्रीय स्तर पर चुने जाने की घोषणा मंच से भारत सरकार के संयुक्त सचिव डा. राकेश ने की।

'
'
सुनें गीत : 

यह भी पढ़ें : फ़्रांस तक पहुंचा उत्तराखंड के शिक्षकों-बच्चों का स्वच्छता गीत : कूडा- कचरा साफ करेंगे बापू हम…

-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ फ़्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने मिलकर बनारस के घाट पर सुना गीत 

उत्तराखंड के शिक्षकों द्वारा स्वच्छ भारत अभियान के लिए तैयार किया गया स्वच्छता गीत की गूँज पूरे देश के साथ ही फ्रांस तक पहुंची है। नैनीताल जनपद के शिक्षक डा. देवकी नंदन भट्ट द्वारा लिखे गये और संगीत शिक्षक डा. हरीश चंद्र जोशी द्वारा संगीतबद्ध किये गये इस गीत को हल्द्वानी के विभिन्न स्कूलों में पढ़ने वाले अभय मेहरा, चेतना भट्ट, गौरांशी जोशी, नवेंदु जोशी और दीपिका जोशी ने बनारस के राजाघाट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के समक्ष प्रस्तुत कर पूरे देश का ध्यान खींचने के साथ ही फ्रांस तक अपनी आवाज पहुंचाई है।

यह भी पढ़ें : 

उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व इस गीत को भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के लिए दिल्ली में प्रसिद्ध गजल गायक सतीश बब्बर ने माडल टाउन स्थित बब्बर स्टूडियो में रिकॉर्ड करवाया है। विशेष रूप से स्कूली बच्चों को स्वच्छ भारत अभियान के प्रति जागरूक करने के लिए तैयार किये गये इस गीत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत नदियों की सफाई, भोजन से पहले साबुन से हाथ धोना, योग करने, खुले में शौच नहीं करने, पौलीथीन का प्रयोग न करने और वृक्षारोपण करने आदि विषयों पर विशेष जोर दिया गया है।
यह जानकारी देते हुए सांस्कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केंद्र, नई दिल्ली (संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार) के जिला स्रोत व्यक्ति डा. देवकी नंदन भट्ट ने बताया कि 22 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में आयोजित भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम में इस गीत को प्रस्तुत करके गीत को देश के बच्चों के बीच पहुंचाया गया है। इस कार्यक्रम में गीतकार डा. भट्ट और संगीतकार डा. जोशी को भी संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आमंत्रित किया गया था।
राष्ट्रीय सहारा, देहरादून संस्करण, 15 फरवरी 2018

आगे दूसरे चरण में इस गीत को तेलगु, तमिल, कन्नड, मलियाली, उड़िया, बांग्ला, मराठी, पंजाबी,कश्मीरी सहित देश की सभी क्षेत्रीय भाषाओं में अनुवाद करके रिकॉर्ड किया जाएगा। संस्कृति मंत्रालय की योजना इस गीत को सभी भाषाओं में तैयार करके देश के प्रत्येक विद्यालय और प्रत्येक बच्चे तक पहुंचाने की है। इस गीत का प्रसारण शीघ्र ही आकाशवाणी और दूरदर्शन पर भी किया जाएगा ताकि बच्चों के मन में सफाई के संस्कार बाल्यावस्था से ही विकसित किए जा सकें। गीत की धुन बाल मनोविज्ञान को ध्यान में रखकर की गई है जो कि बहुत ही कर्णप्रिय और लयपूर्ण है।

कूडा- कचरा साफ करेंगे बापू हम।
बीमारी को हाफ करेंगे बापू हम।
गांव-गली अपनी भी चमचम चमकेगी। 
ये सब अपने आप करेंगे बापू हम।
कहना है लोगों ने कुछ तो कहना है।
कहा सुना सब माफ करेंगे बापू हम………………………..
योग करेंगे, रोग हरेंगे, रोज सुबह
मंत्र यही नित जाप करेंगे बापू हम।
कहना है लोगों ने कुछ तो कहना है,
कहा सुना सब माफ करेंगे बापू हम।
कूड़ा-कचरा साफ करेंगे……………………….
खुली जगह में शौच नहीं करने देंगे
कैसे ऐसा पाप करेंगे बापू हम
गांव गली अपनी भी चमचम चमकेगी,
ये सब अपने आप करेंगे बापू हम।
कूड़ा कचरा साफ करेंगे बापू हम……………………….. 
सदियों से मां गंगा गन्दी की हमने 
गंगा का उद्धार करेंगे बापू हम।
गांव गली अपनी भी चमचम चमकेगी, 
ये सब अपने आप करेंगे बापू हम।
कूड़ा कचरा साफ करेंगे बापू हम……………………….. 
भोजन से पहले सब साबुन से धोकर
पावन अपने हाथ करेंगे बापू हम 
कहना है लोगों ने कुछ तो कहना है, 
कहां सुना सब माफ करेंगे बापू हम।
कूड़ा कचरा साफ करेंगे बापू हम……………………….….
क्लीन करेंगे, ग्रीन करेंगे,भारत मां
पालीथीन विहीन करेंगे बापू हम।
गांव गली अपनी भी चमचम चमकेगी,
ये सब अपने आप करेंगे बापू हम।
कूड़ा कचरा साफ करेंगे बापू हम,
बीमारी को हाफ करेंगे बापू हम………………………..
प्रधानमंत्री का सन्देश, 
स्वच्छ रहेगा अपना देश
कोना-कोना साफ करेंगे बापू हम
गांव गली अपनी भी चमचम चमकेगी
ये सब अपने आप करेंगे बापू हम।
कूड़ा कचरा साफ करेंगे बापू हम
बीमारी को हाफ करेंगे बापू हम………………………..

नवीन समाचार

मेरा जन्म 26 नवंबर 1972 को हुआ था। मैं नैनीताल, भारत में मूलतः एक पत्रकार हूँ। वर्तमान में मार्च 2010 से राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक समाचार पत्र-राष्ट्रीय सहारा में ब्यूरो चीफ के रूप में कार्य कर रहा हूँ। इससे पहले मैं पांच साल के लिए दैनिक जागरण के लिए काम कर चुका हूँ। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग से ‘नए मीडिया’ विषय पर शोधरत हूँ। फोटोग्राफ़ी मेरा शौक है। मैं NIKON COOLPIX P530 और अडोब फोटोशॉप 7.0 के साथ फोटोग्राफी कर रहा हूँ। फोटोग्राफी मेरे लिए दुनियां की खूबसूरती को अपनी ओर से चिरस्थाई बनाने का बहुत छोटा सा प्रयास है। एक फोटो पत्रकार के रूप में मेरी तस्वीरों को नैनीताल राजभवन सहित विभिन्न प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया, तथा उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती मार्गरेट अलवा द्वारा सम्मानित किया गया है। कुछ चित्रों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं। गूगल अर्थ पर चित्र उपलब्ध कराने वाली पैनोरामियो साइट पर मेरी प्रोफाइल को 18.85 Lacs से भी अधिक हिट्स प्राप्त हैं।पत्रकारिता और फोटोग्राफी के अलावा मुझे कवितायेँ लिखना पसंद है। काव्य क्षेत्र में मैंने नवीन जोशी “नवेन्दु” के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मैंने बहुत सी कुमाउनी कवितायेँ लिखी हैं, कुमाउनी भाषा में मेरा काव्य संकलन उघड़ी आंखोंक स्वींड़ प्रकाशित हो चुका है, जो कि पुस्तक के के साथ ही डिजिटल (PDF) फार्मेट पर भी उपलब्ध होने वाली कुमाउनी की पहली पुस्तक है। मेरी यह पुस्तक गूगल एप्स पर भी उपलब्ध है। ’ यहां है एक पत्रकार, लेखक, कवि एवं छाया चित्रकार के रूप में मेरी रचनात्मकता, लेख, आलेख, छायाचित्र, कविताएं, हिंदी-कुमाउनी के ब्लॉग आदि कार्यों का पूरा समग्र। मेरी कोशिश है कि यहां नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड और वृहद संदर्भ में देश की विरासत, संस्कृति, इतिहास और वर्तमान को समग्र रूप में संग्रहीत करने की….। मेरे दिल में बसता है, मेरा नैनीताल, मेरा कुमाऊं और मेरा उत्तराखंड

One thought on “राष्ट्रीय स्तर के लिए चयनित हुआ उद्घोषक, कवि हेमंत बिष्ट का गीत

Leave a Reply

Next Post

काशीपुर के गौविषाण किला परिसर को राष्ट्रीय धरोहर घोषित करने के आदेश

Fri Sep 7 , 2018
यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये -राज्य में स्थित प्राचीन स्मारकों व पुरातात्विक क्षेत्रों से अतिक्रमण हटाने व अनधिकृत निर्माणों पर रोक लगाने के निर्देश -इंटेक’ की सलाह से उत्तराखंड के स्मारकों को संरक्षित करने कें लिये छः माह के भीतर नियमावली बनाने को भी कहा ' ' […]
Loading...

Breaking News

ads (1)

सहयोग : श्रीमती रेनू सिंह