Crime

शादी के चार माह बाद ही दहेजलोभी पति ने पत्नी को मारपीट कर अचानक दिया तीन तलाक

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रतीकात्मक चित्र

नवीन समाचार, काशीपुर, 29 अगस्त 2021। कानून बनने के बाद भी तीन तलाक के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे। काशीपुर के कुंडा थाना क्षेत्र में दहेज में दो लाख रुपये व बाइक नहीं लाने पर एक दहेजलोभी पति ने अपनी पत्नी को शादी के चार माह बाद ही एक झटके में तीन तलाक दे दिया। पीड़िता ने कुंडा थाना पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार कुंडा थाना क्षेत्र के ग्राम बैलजुड़ी निवासी तकसीस अंजुम पुत्री मौ. युसूफ ने पुलिस को तहरीर देकर कहा कि उसकी शादी इसी साल 8 अप्रैल को ग्राम गुलरिया निवासी जाबिर अली पुत्र जाहिद अली के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही उसका पति जावेद अली दहेज में दो लाख और एक मोटरसाइकिल की मांग करने लगा था। इधर 26 अगस्त की शाम चार बजे उसका पति घर पहुंचा और दहेज की मांग दोहराते हुए तलाक देने की धमकी देने लगा। विरोध करने पर पति ने उसके साथ गाली गलौज करते हुए मारपीट की, और अचानक तीन तलाक बोल दिया। तहरीर के आधार पर पुलिस ने आरोपित पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : एक बच्चे की मां को दहेज में 20 लाख रुपए व कार न देने पर एक साथ दिया तीन तलाक

नवीन समाचार, काशीपुर, 8 अगस्त 2021। शहर में दहेज में 20 लाख रुपये और कार की मांग पूरी न होने पर एक बच्चे की मां को शादी के करीब ढाई साल बाद मारपीट कर न केवल घर से निकालने बल्कि एक साथ तीन तलाक बोलकर संबंध समाप्त करने का मामला प्रकाश मं आया है। पुलिस ने विवाहिता के पिता की तहरीर पर पीड़िता के पति सहित दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपित पक्ष से पूछताछ भी शुरू हो गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार काशीपुर मोहल्ला कटोराताल निवासी व्यक्ति ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर कहा कि उसकी बेटी  का निकाह 15 नवंबर 2018 को हैदराबाद के सिल्वर कैसल टोली चौकी युसूफ टेकरी निवासी व्यक्ति से हुआ था। निकाह के बाद उसकी बेटी को एक पुत्र भी पैदा हुआ। शादी के बाद ही ससुराल वाले पुत्री को प्रताड़ित कर दहेज में 20 लाख रुपये और कार की मांग करने लगे। जुलाई 2020 में ससुरालियों ने उसकी बेटी को घर से बाहर निकाल दिया।

इसके बावजूद गत पांच अगस्त 2021 को आरोपित व उसका भाई उसके घर काशीपुर आये और दहेज की मांग करने लगे। असमर्थता जताने पर उसकी बेटी को तलाक देने की धमकी देता हुआ चला गया। अगले दिन फिर दोनों भाई घर आये और दहेज की मांग करने लगे। इंकार करने पर अताउल्लाह ने बेटी को तीन तलाक दे दिया। पुलिस ने तहरीर के आधार पर धारा 498 (ए), 323, 504 व 3/4 मुस्लिम महिला विवाह संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल निवासी महिला से पति ने फोन पर ‘तीन तलाक’ देकर तोड़ दिया 18 साल पुराना रिश्ता, कर लिया दूसरा निकाह

नवीन समाचार, लखनऊ, 15 जनवरी 2021। दहेज प्रताडना से परेशान होकर मायके में रह रही पत्नी को उसके लखनऊ पति ने मोबाइल फोन पर कॉल कर तीन तलाक दे दिया। पीड़िता ने इस संबंध में कैसरबाग कोतवाली में तहरीर देकर पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पीड़िता का आरोप है कि पति व ससुरालियों ने दहेज में कार की मांगी थी जिसे पूरा न करने पर 18 साल पुरानी शादी को मोबाइल पर महज तीन बार तलाक बोलकर तोड़ दिया। केस दर्ज कर पुलिस पड़ताल कर रही है।

प्रभारी निरीक्षक आनंद प्रकाश शुक्ला के मुताबिक, लालकुआं निवासी नूरी फातिमा का निकाह फरवरी 2002 में सर्वोदयनगर के इमरान अली से हुआ था। पीड़िता का आरोप है कि शादी के कुछ समय बाद ही उसे दहेज की मांग को लेकर प्रताड़ित किया जाने लगा। उसके साथ मारपीट की जाने लगी। परिवार न टूटे इसके लिए नूरी ससुराल पक्ष की प्रताडना को सहती रही। 2017 में इमरान ने उसकी पिटाई कर घर से निकाल दिया। इसके बाद से वह अपने मायके लालकुआं में रहने लगी। परिवार के लोग रिश्तेदारों के जरिए समझौते की कोशिश करते रहे लेकिन सफलता नहीं मिली।

इस दौरान इमरान लगातार उस पर तलाक देने का दबाव बना रहा था। नूरी इसके लिए तैयार नहीं हुई, लेकिन इमरान ने इस महीने की शुरूआत में मोबाइल पर कॉल की। बातचीत के दौरान ही उसने मोबाइल पर ही तीन बार तलाक बोलकर रिश्ता खत्म कर लिया। इसके बाद 9 जनवरी को पीड़िता ने कैसरबाग थाने में तहरीर दी जिस पर दोनों पक्षों को बुलाया गया। समझौता कराने के लिए कोशिश की गई। नूरी के मुताबिक, कोतवाली में ही उसे रिश्तेदारों से पता चला कि इमरान ने दूसरा निकाह कर लिया है। इसकी जानकारी होने पर पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर इमरान, ससुर रमजान अली, सास जुबैदा, जेठ बबलू, देवर अमीन, ननद जीनत और यासमीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें : यार-गद्दार: दोस्त ने पहले तलाक करवाया, फिर दोस्त की पत्नी से बना लिए अवैध संबंध, अब आपत्तिजनक वीडियो-फोटो बनाकर दे रहा धमकी

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 06 दिसंबर 2020। हल्द्वानी के बरेली रोड निवासी एक महिला ने अपने पति के दोस्त पर सहारा देने के नाम पर नजदीकी बढ़ाने और शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। कोतवाली पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार महिला का अपने पति से तलाक हो गया था। इस उसके पति के दोस्त पीयूष खंडेलवाल ने महिला को सहारा देने के नाम पर उससे नजदीकी बढ़ाई। उसकी पति के साथ अनबन होने से लेकर तलाक होने तक वह हमेशा महिला का साथ देता रहा। आरोप है कि महिला का भरोसा जीतने के बाद पीयूष ने तलाकशुदा महिला से शादी करने का झांसा देकर शारीरिक संबंध बना लिए। साथ ही महिला का आपत्तिजनक वीडियो बना लिया और फोटो भी खींच लिए। इधर जब महिला जब शादी करने के लिए कहने लगी तो आरोपी वीडियो और फोटो वायरल करने की धमकी देने लगा। इस पर पीड़िता ने महिला हेल्पलाइन में उसकी शिकायत की और कोतवाली हल्द्वानी में आरोपी के खिलाफ तहरीर दी। कोतवाल संजय कुमार ने बताया कि तहरीर के आधार पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें : निकाह के आठ माह में ही शौहर ने गर्भपात करा दे दिया तीन तलाक, अब ससुर या जेठ के साथ हलाला के लिए बना रहे दबाव !

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 13 नवम्बर 2020। हल्द्वानी के बनभूलपुरा निवासी एक युवती को उसके पति ने निकाह के आठ माह के भीतर ही गर्भ ठहरने पर धोखे से नशीली कोल्ड ड्रिंक पिलाकर गर्भपात करा दिया और कथित तौर पर ‘तीन तलाक’ दे दिया। इसके बाद पति व सास-ससुर उसे घर नहीं आने दे रहे हैं। और घर आने के लिए ससुर या जेठ के साथ हलाला करने का दबाव बना रहे हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार युवती की ससुराल लाइन नंबर 16 कब्रिस्तान गेट में है। आठ महीने पहले ही उसका निकाह हुआ था। निकाह के बाद उसे पता चला कि उसका शौहर उस्मान आए दिन शराब व स्मैक के नशे में चूर रहता है। वहीं उसके ससुराली उसे निकाह के बाद से ही लगातार दहेज के लिए प्रताणित करते थे। इस बीच वह गर्भवती हो गई तो उसकी जेठानी व जेठ आदि ने नशीली कोल्ड ड्रिंक पिलाकर उसका गर्भपात करा दिया। उसने महिला हेल्पलाइन में भी इसकी शिकायत की, पर ससुरालियों ने किसी तरह समझौता करा दिया। लेकिन वह घर पहुंची तो उसे ससुराल में घुसने नहीं दिया। और पति, जेठ व ससुर कहने लगे कि उसे उसके पति ने तीन तलाक दे दिया है। यदि वह दुबारा पति के साथ रहना चाहती है तो उसे ससुर या जेठ से निकाह कर हलाला की रस्म पूरी करनी होगी। इस पर महिला ने महिला आयोग की पूर्व उपाध्यक्ष अमृता लोहनी के साथ हल्द्वानी के सीओ शांतनु पराशर के पास पहुंची। इसके बाद बनभूलपुरा पुलिस ने उसके पति उस्मान, जेठानी शहनाज, जेठ इकराम व ससुर के खिलाफ मारपीट, धमकी, जबरन गर्भपात कराने, दहेज उत्पीडन और 3/4 मुस्लिम महिला अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें : शातिर युवक ने निकाह का झांसा देकर विवाहिता से अवैध संबंध बनाए, उसका तलाक कराया, और अब….

नवीन समाचार, काशीपुर, 11 नवंबर 2020। शातिर युवक ने अपने घर में किराये पर रहने वाली एक विवाहिता को पहले मीठी-मीठी बातों से रिझाकर अवैध संबंध बना लिए। महिला के पति को इसका पता चला तो निकाह करने का झांसा देकर उसका अपने पति से तलाक करा दिया। और अब इद्दत की मियाद गुजरने के बाद खुद न केवल निकाह से इंकार कर रहा है, वरन उसे किराये के घर से भी निकाल दिया है। युवक के इश्क में धोखा खाकर अपना सब कुछ गंवा बैठी विवाहिता ने अब पुलिस ने युवक के खिलाफ बलात्कार करने का आरोप लगते हुए मुकदमा दर्ज कराया है।
मामला शहर की पाकीजा कॉलोनी कर्बला बस्ती से बावस्ता है। यहां की रहने वालीएक महिला ने कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि उसके पति ने 3 माह पूर्व किराए हेतु लक्ष्मीपुर पट्टी, मझरा में एक मकान किराए पर लिया था। इसी बीच मकान मालिक का पुत्र अक्सर अपने मकान पर आया करता था, और जब उसका पति मजदूरी का कार्य करने घर से चला जाता था, वह उससे भी बातचीत और हंसी-मजाक और झांसे में लेकर प्यारी-प्यारी बातें किया करता था। इसी दौरान मौके का फायदा उठाते हुए उसने उसके साथ जबरदस्ती बलात्कार किया। जब उसने विरोध किया तो उसने कहा कि वह अपने पति से तलाक ले ले। वह उससे शादी कर लेगा। उसके बाद वह अक्सर इसी प्रकार से उसका शारीरिक व मानसिक शोषण करता रहता था।
महिला ने बताया कि एक दिन उसके पति ने उन दोनों को एक साथ देख लिया, और उसे तलाक दे दिया। तलाक देने के बाद जब उसने युवक से उसके साथ निकाह करने के कहा तो उसकी मां और पिता ने उसे दिलासा दिया कि वह पहले 3 महीने 10 दिन की इद्दत पूरी कर ले। उसके बाद उसका निकाह अपने बेटे के साथ कर देंगे। लेकिन अब इद्दत की मियाद गुजरने के बाद युवक तथा उसके परिजन उसका निकाह उसके साथ नहीं कराना चाहते हैं और उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। उसने यह भी बताया कि युवक के माता-पिता ने उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया है। इस तहरीर के आधार पर पुलिस ने युवक, उसके पिता तथा उसकी मां के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

यह भी पढ़ें : पत्नी व दो बच्चों को छोड़कर दूसरे धर्म की महिला के साथ अवैध संबंध बनाकर रह रहा है पति, तलाक भी नहीं देता… पुलिस से गुहार

नवीन समाचार, काशीपुर, 16 अक्टूबर 2020। एक महिला ने अपने पति पर उसे व बच्चों को छोड़कर दूसरे धर्म की महिला के साथ रहने तथा उसे तलाक भी न देने का आरोप लगाते हुए पुलिस से पति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। शहर के मौ. अल्लीखाँ, हजरत नगर, काशीपुर निवासी शहनाज पुत्री शमशाद ने महिला हेल्पलाईन में तहरीर देकर कहा है कि उसका निकाह 23 मई 2013 को जावेद पुत्र मकबूल निवासी ग्राम गढीनेगी, तहसील काशीपुर, जिला उधमसिंहनगर के साथ मुस्लिम रीति रिवाज के अनुसार सम्पन्न हुआ था। जावेद से उसके 6 व 4 वर्ष के दो पुत्र जुनैद व जुबैर हैं। निकाह के लगभग 6 माह के बाद से ही जावेद उसके साथ मारपीट, गाली गलौच, धमकाना व उसका मानसिक व शारिरिक शोषण करने लगा, और उसे बात-बात पर मार-पीट करता और अपने खाने-खर्चे के लिये उसके मायके वालो से पैंसे मांगता रहता था। उसके माता-पिता इस योग्य नहीं थे कि वह उसके पति के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही कर सकें इसीलिये वह सब चुपचाप सहन करती रही। कानूनन उसका पति होने के बावजूद इधर लगभग 1 वर्ष पूर्व से जावेद उसेे छोड़ कर गड्डा कालोनी निवासी दूसरे धर्म की एक अन्य महिला के साथ अवैध सम्बन्ध बनाकर रह रहा हैं। जब भी वह अपने पति से अपने साथ रहने और परवरिश करने को कहती है तो वह उसे गाली-गलौच व मार-पीट कर निकाल देता है और कहता है कि न तो उसकी परवरिश करेगा, और न ही उसे तलाक देगा। उसे ऐसे ही परेशान करता रहेगा। ऐसे में उसने पुलिस से उसके पति जावेद के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है।

यह भी पढ़ें : पहली पत्नी होते हुए दूसरे धर्म की युवती को शादी कर प्रताड़ित करने पर पति गिरफ्तार…

-पीड़िता ससुराल में भोजन न मिलने पर पुलिस से गरीबों के लिए रखा राशन ले जाने को मजबूर, उसे ‘वन स्टॉप सेंटर’ भेजा जा रहा
नवीन समाचार, नैनीताल, 17 अप्रैल 2020। नगर में पहली पत्नी के होते हुए दूसरे धर्म की युवती से शादी करने और फिर पति सहित पूरे परिवार द्वारा प्रताडित किये जाने का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने मामले में पत्नी की तहरीर पर पति एवं पांच ससुरालियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल अशोक कुमार सिंह ने बताया कि मामले में आरोपित मो. आसिफ को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे शनिवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। वहीं पीड़िता ससुरालियों से खाना भी नहीं मिलने पर पुलिस कोतवाली से गरीबों को लॉक डाउन में मिलने वाला राशन ले जाने को मजबूर हो चुकी है। उसे ‘वन स्टॉप सेंटर’ भेजा जा रहा है। वहीं युवक द्वारा दूसरे धर्म की ही एक अन्य महिला को भी इसी तरह अपने जाल में फंसाने की बात भी प्रकाश में आ रही है।
मल्लीताल कोतवाली पुलिस एवं सुंदर विहार, जनकपुरी दिल्ली निवासी पीड़िता से प्राप्त जानकारी के अनुसार जून 2018 में पीड़िता अपने परिवार के साथ नैनीताल घूमने आई थी। इस दौरान वह नगर के नीलम राज होटल में रुकी थी, जिसे नगर के पर्दाधारा मल्लीताल निवासी मो. आसिफ नाम के युवक ने लीज पर लिया था। आसिफ टैक्सी भी चलाता था। उसने पीड़िता व उसके परिवार को नगर के पर्यटन स्थलों की सैर करायी और फिल्मी अंदाज में धीरे-धीरे करीबी बढ़ाते हुए करीब एक साल बाद 28 जून 2019 को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पीड़िता से शादी कर ली और नैनीताल में ससुराल में आकर रहने लगी। पीड़िता का कहना है कि यहां आकर उसे पता चला कि आसिफ पहले से शादीशुदा है। हालांकि वह स्वयं भी पहले से शादीशुदा है, किंतु उसका पहले पति से कोर्ट से तलाक हो चुका है। ससुराल में उसे पति व ससुराली प्रताड़ित करते थे। यहां तक कि अवैध संबंध बनाने का दबाव भी दिया जाता था। इस पर वह करीब छः माह से पुलिस के पास आ रही है, किंतु यहां से समझा-बुझा दिये जाने पर अपनी शादीशुदा जिंदगी को बनाये रखने के लिए वापस चली जाती थी। लेकिन अब बात सहने के स्तर से ऊपर निकल चुकी है। पति की मारपीट से उसका गर्भपात भी हो चुका है। घर वालों द्वारा खाना नहीं देने पर वह कोतवाली से गरीबों को बंट रहा राशन लेने तक को मजबूर हो गई है। मल्लीताल कोतवाल अशोक कुमार, ने बताया कि शुक्रवार को महिला की तहरीर पर उसके पति मो. आसिफ अंसारी, ससुर मो. उरमान, सास, ननद रेशमा और देवर साजिद के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 495, 498 (ए), 323, 504 व 3/4 दहेज अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है। वहीं पीड़िता को विमर्श संस्था के सुपुर्द किया गया है, जहां से उसे फिलहाल वन स्टॉप सेंटर हल्द्वानी में रखा जाएगा और लॉकडाउन के बाद उसे उसके मायके दिल्ली पहुंचाने का इंतजाम किया जाएगा। इधर यह भी पता चला है कि आरोपित दूसरे धर्म की ही एक 35-40 वर्षीया महिला को भी पूर्व में इसी तरह फंसा चुका है। उस महिला के पिता किसी विभाग में कमिश्नर बताये गये हैं।

यह भी पढ़ें : प्यार के नाम पर तीन बच्चों की मां का तलाक करवा दिया, शादी के नाम पर ठुकरा दिया, मारपीट-अभद्रता की, पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

नवीन समाचार, किच्छा, 28 दिसंबर 2019। एक तीन बच्चों की मां ने अपने सहयोगी पर विवाह का आश्वासन देकर दुष्कर्म और मारपीट का आरोप लगाते हुए कोतवाली में तहरीर दी है। महिला का आरोप है कि सहयोगी ने पहले उसके पति से तलाक करवाया और शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद रिश्ते को कानूनी मान्यता देने की बात पर आरोपी मुकर गया और उसने अभद्रता और मारपीट की। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

पीड़िता के अनुसार उसकी नियुक्ति वर्ष 2015 में पर्यवेक्षक के पद पर हुई थी। वहां उसकी मुलाकात एक सहयोगी कर्मचारी से हुई। बताया कि उस समय उसका उसके पूर्व पति से विवाद चल रहा था। आरोपी उससे हमदर्दी रखने लगा। उसने कहा कि अगर महिला अपने पति से तलाक ले ले तो वह उसे अपना लेगा। इसी झांसे में महिला ने पति से तलाक ले लिया और इसका फायदा उठाकर आरोपी ने उससे शारीरिक संबंध बना लिए। विरोध करने पर महिला की मांग भरी और मंगलसूत्र पहना दिया। इसके बाद दोनों पति-पत्नी की तरह रहने लगे। लेकिन जब महिला ने इस रिश्ते को कानूनी शक्ल देने की बात की तो आरोपी दूरियां बनाने लगा। महिला से उसकी मां की संपत्ति अपने नाम करवाने के लिये कहने लगा। महिला ने विभाग में शिकायत की तो उसे निलंबित कर दिया गया। आरोप है कि 14 मार्च को हल्द्वानी कार्यालय में आरोपी ने महिला से अभद्रता की और 19 नवंबर को रिश्ते को स्वीकारने को कहा तो महिला के साथ मारपीट की। पुलिस ने धारा 376, 323, 504 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : पति ने तीन तलाक बोल मारपीट कर घर से निकाला, सास, ससुर, ननद पर भी मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, हरिद्वार, 2 फरवरी 2020। जनपद के लक्सर क्षेत्र के मुंडाखेड़ा खुर्द गांव निवासी अरशद पुत्र रियासत नाम के युवक ने अपनी पत्नी को मारपीट कर और तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया है। पीड़ित महिला ने पुलिस में शिकायत की है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर पति सहित ससुर रियासत, देवर सादिक व ननद मौसम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रुड़की निवासी नसीम ने पुलिस से कहा है कि उसका निकाह सितंबर 2016 में लक्सर कोतवाली क्षेत्र के मुंडाखेड़ा खुर्द गांव निवासी अरशद के साथ हुआ था। इधर 31 जनवरी को अशरद और उसके परिवार के लोगों ने उसे मारपीट कर घायल किया, और पति ने महिला को तीन बार तलाक कहकर घर से निकाल दिया। महिला ने मायके पहुंचकर अपने चाचा के साथ कोतवाली पुलिस से ससुरालियों की शिकायत की। इस पर पुलिस ने कार्रवाई की है।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply