Crime News

चार दिन पूर्व स्कूटी पर घूमने निकले तीन दोस्त मृत मिले….

नवीन समाचार, कोटद्वार, 12 सितंबर 2022। उत्तराखंड में कोटद्वार के मोहल्ला गोविंद नगर से पिछले चार दिन से लापता चल रहे तीन किशोरों के शव पुलिस ने वन विभाग से मिली सूचना मिलने के बाद सोमवार को खोह नदी में बरामद किए हैं। तीनों किशोर स्कूटी से घूमने निकले थे, लेकिन घर नहीं लौटे। तभी से उनकी तलाश की जा रही थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत मोहल्ला गोविंदनगर निवासी तीन किशोर आर्यन, नमो व रौनक शुक्रवार सुबह करीब पांच बजे एक स्कूटी से निकले थे। इन तीनों को उस दिन कुंभीचौड़ क्षेत्र में स्कूटी पर जाते देखा गया था, लेकिन तब से उनका कुछ भी पता नहीं चला था। इस पर परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। इसके बाद से पुलिस क्षेत्र में सीसीटीवी खंगाल कर तीनों की तलाश कर रही थी। सीसीटीवी फुटेज में इस बात की पुष्टि हुई थी कि तीनों गाड़ीघाट होते हुए कुंभीचौड़ की ओर गए। लेकिन, उसके बाद उनकी लोकेशन का पता नहीं चल पा रहा था।

इधर सोमवार को वन विभाग की सूचना पर पुलिस ने कोटद्वार दूगड्डा मार्ग पर कोटद्वार से करीब छह किलोमीटर आगे खोह नदी के तट पर तीनों युवकों के शव बरामद किए। साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग पर पुलिया के नीचे से उनकी स्कूटी भी बरामद की। माना जा रहा है कि मार्ग पर स्कूटी दुर्घटनाग्रस्त हो गई होगी और तीनों स्कूटी सहित पुल से नीचे जा गिरे होंगे। 10 सितंबर को हुई बारिश से स्कूटी भी पुल के ठीक नीचे आ गई होगी और तीनों युवकों के शव नदी के तेज बहाव में मौके से करीब 100 मीटर दूर बह कर मिले। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भारी पड़ी यार-दोस्तों के साथ जंगल में खाने-पीने की पार्टी, जन्म से पहले ही एक बच्चे के सिर से उठा पिता का साया, दोस्त गिरफ्तार…

उत्तरप्रदेश: 2 हजार रुपयों के लिए दोस्तों ने युवक को उतारा मौत के घाट,  तीनों आरोपी गिरफ्तार...नवीन समाचार, कालाढुंगी, 29 अगस्त 2022। यारी-दोस्ती में खासकर खाने-पीने की पार्टी करने जंगल में जाने पर अनेकों अनहोनी की घटनाएं होती रहती हैं। इन घटनाओं में अनेक लोग काल-कवलित हो जाते हैं, और साथी कई बार गलती न होने पर भी जेल में जिंदगी गुजारते हैं। लेकिन कोई सबक नहीं लेता। यारी-दोस्ती की ऐसी ही एक खाने-पीने की पार्टी ने एक बच्चे से दुनिया में आने से करीब एक माह पहले ही उसका पिता और एक पत्नी से उसका सुहाग छीन लिया है। मृतक की सृष्टि नाम की डेढ़ साल की एक और मासूम बच्ची भी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नैनीताल जनपद के विदरामपुर चकलुवा निवासी 39 जोशी नवीन जोशी पुत्र गणेश दत्त जोशी की पत्नी आठ माह के गर्भ से है। रविवार को नवीन अपनी पत्नी मुन्नी को आज सोमवार को अल्ट्रासाउंड कराने की बात कह शाम को अपने दोस्त शेर सिंह कुंवर व नीरज कुमार के साथ सुबह नौ बजे जंगल में पार्टी करने के लिए गदगदिया रेंज के जंगल की ओर निकला था। देर शाम तक वह घर नहीं लौटा और उसका फोन भी स्विच ऑफ आने लगा।

इस पर परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। इस बीच रात्रि करीब साढ़े 12 बजे उसके साथ गए दोस्त शेर सिंह ने उसके परिजनों को फोन किया और कहा कि उसने शराब ज्यादा पी ली है और वह जंगल में ही पड़ा हुआ है। शेर सिंह की निशानदेही पर परिजन जंगल पहुंचे, जहां नवीन मृत पड़ा था। लाश को नवीन का भाई व शेर सिंह घर लेकर पहुंचे।

इधर, सोमवार तड़के परिजन बिना पुलिस को खबर किए शव का अंतिम संस्कार करने निकल पड़े, लेकिन पुलिस को इसकी भनक लग गई। पुलिस ने फतेहपुर लामाचौड़ के पास अंतिम यात्रा को रोककर शव को कब्जे में लेकर कालाढूंगी सीएचसी भेजा। जंहा पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया गया है कि नवीन का मुंह पुरी तरह सूजा हुआ था। उसके सिर, मुंह, छाती, पसली पर चोट व गर्दन रेतने के निशान थे। इसके बाद मृतक के भाई कैलाश जोशी ने पुलिस में तहरीर दी। इस पर कालाढूंगी पुलिस ने अभियोग पंजीकृत कर उसके साथ गए दोनों दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में आरोपित शेर सिंह ने बताया कि उन दोनों ने कल एक साथ अत्यधिक शराब पी थी। शराब के नशे मे आपस में कहासुनी और आपस मे गुत्थम-गुत्था हो गयी। इस कारण उसे गुस्सा आ गया और उसने आवेश व शराब के अधिक नशे में नवीन जोशी को गला दबाकर मार दिया। पुलिस ने कहा कि साक्ष्यों के आधार पर आरोपित के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत न्यायालय के समक्ष पेश किया जायेगा। एसएसपी पंकज भक्तों ने मामले का कुछ ही घंटों में खुलासा करने वाली पुलिस टीम को ढाई हजार रुपए के नगद इनाम की घोषणा की है।

थानाध्यक्ष राजवीर सिंह नेगी ने बताया कि संभवतः गला रेत कर नवीन की हत्या की गई है। दोनों आरोपितों से पूछताछ चल रही है और जल्द ही मामले का खुलासा हो जाएगा। पुलिस इस मामले में परिवार वालों की भूमिका भी संदेह के घेरे में मान रही है। परिवार के लोग जानते थे कि नवीन की हत्या की गई। बावजूद उन्होंने पुलिस को सूचना नहीं दी। बल्कि शव को अंतिम संस्कार के लिए लेकर चले गए। हालांकि पुलिस के दखल के बाद परिवार वाले तहरीर देने को राजी हो गए हैं। इसलिए सवाल उठ रहा है कि बेटे का कत्ल होने के बावजूद परिवार के लोगों ने पुलिस को सूचना क्यों नहीं दी। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply