उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 25 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.3 मिलियन यानी 1.33 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

May 20, 2024

उत्तराखंड में किसी महिला को टिकट नहीं देगी कांग्रेस ! टिकट मांग रही महिला नेत्री ने की सन्यास की घोषणा

0

नवीन समाचार, देहरादून, 14 मार्च 2024 (Congress Leader Asha Lal announced Retirement)। लगता है ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ का नारा देने वाली कांग्रेस पार्टी इस बार राज्य की पांच में से किसी भी लोक सभा सीट से किसी महिला को टिकट नहीं देने जा रही है। पार्टी के बड़े नेताओं की ‘नां’ के बीच अल्मोड़ा से एक महिला नेत्री आशा लाल ने कांग्रेस पार्टी से टिकट मांगा था, लेकिन पार्टी ने उनकी जगह 2 बार लगातार चुनाव हार चुके प्रदीप टम्टा को ही टिकट दिया।

 (Congress Leader Asha Lal announced Retirement)ऐसे में आशा लाल ने राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है। उन्होंने पार्टी में विशेष तौर पर अनुसूचित जाति की महिलाओं की उपेक्षा करने का आरोप लगाया है। आशा लाल ने बुधवार को पत्रकारों की मौजूदगी में राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि राहुल गांधी नारी न्याय और भागीदारी को लेकर यात्रा कर रहे हैं, फिर भी पार्टी महिलाओं को भागीदारी नहीं दे पा रही है। इसमें कहीं ना कहीं प्रदेश नेतृत्व की ओर से महिलाओं का नाम आगे नहीं बढ़ाया जा रहा है।

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की पुत्री हैं आशा (Congress Leader Asha Lal announced Retirement)

उन्होंने कहा, मैं एक शिक्षित महिला हूं। मेरे पिता स्व. जोगा राम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे। अल्मोड़ा उनका क्षेत्र रहा है। पिछले 15 सालों से क्षेत्र की सेवा करती आ रही हूं। मैं अनुसूचित जाति से महिला हूं, फिर भी इस अनुसूचित जाति के लिये सुरक्षित सीट से मुझे टिकट नहीं दिया गया। इसलिए क्षुब्ध होकर अब मैं राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा कर रही हूं।

उन्होंने कहा कि पार्टी महिला सशक्तिकरण की बात कर रही है, बावजूद भागीदारी नहीं देना दुःखद है। उन्होंने कहा कि जिन उम्मीदवार को चार बार टिकट दिया गया और दो बार लगातार वो चुनाव हारे हुए हैं। फिर भी उनको किस आधार पर टिकट दिया गया। पार्टी की ओर से किये गये सर्वे का भी कोई अर्थ नहीं है। विशेष तौर पर अनुसूचित जाति के महिलाओं को पार्टी पीछे छोड़ती जा रही है। ऐसे में महिला सशक्तिकरण की बात बेमानी है।

2011 में कांग्रेस में शामिल हुई थीं आशा लाल (Congress Leader Asha Lal announced Retirement)

उल्लेखनीय है कि आशा लाल वर्ष 2011 में कांग्रेस में शामिल हुई थी। उससे पहले सोशल कार्यकर्ता के तौर पर काम कर रही थीं। साल 2012 में प्रदेश सचिव के बाद फिर महिला कांग्रेस में वर्ष 2016 प्रदेश उपाध्यक्ष रही। वर्तमान में स्वतंत्रता सेनानी प्रकोष्ठ में प्रदेश उपाध्यक्ष और प्रदेश सचिव की जिम्मेदारी उन्हें पार्टी की ओर से मिला थी। (Congress Leader Asha Lal announced Retirement)

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे‘नवीन समाचार’पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (Congress Leader Asha Lal announced Retirement)

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

गर्मियों में करना हो सर्दियों का अहसास तो.. ये वादियाँ ये फिजायें बुला रही हैं तुम्हें… नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला