Astha Crime

हल्द्वानी में एक अवैध धार्मिक स्थल के विवाद के बाद धर्मगुरु को जड़ा गया थप्पड़, मध्य रात्रि के बाद तक चला हंगामा

समाचार को यहाँ क्लिक करके सुन भी सकते हैं

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 4 अप्रैल 2023। After a dispute over an illegal religious place in Haldwani, the religious leader slapped, the ruckus lasted till midnight) हल्द्वानी भोटिया पड़ाव चौकी क्षेत्र में सोमवार रात्रि एक भवन में तरावीह नमाज के दौरान बवाल-हंगामा हो गया। वहां कुछ विवादित होने की सूचना मिलने पर पहुंचे भाजपा व हिंदूवादी संगठनों के लोगों ने अवैध रूप से बने भवन में मस्जिद बनाने का आरोप लगाते हुए हंगाामा कर दिया। हंगामे की सूचना पर सिटी मजिस्ट्रेट और जिला विकास प्राधिकरण की टीम मौके पर पहुंची और भवन को सील कर दिया। यह भी पढ़ें : शादी में दुल्हन सहित शोभायात्रा में कई महिलाओं की चोटियां काटीं, अजीबोगरीब घटना से महिलाओं में भय का माहौल, नैनीताल पुलिस सक्रिय…

Haldwani News: हिंदूवादी संगठन के एक कार्यकर्ता ने सिटी मजिस्‍ट्रेट के सामने ही इमाम को थप्‍पड़ जड़ दिया।आरोप है कि इस बीच एक हिंदूवादी संगठन के एक कार्यकर्ता ने सिटी मजिस्ट्रेट के सामने ही इमाम को थप्पड़ जड़ दिया। इस पर मुस्लिम समुदाय के लोग भड़क उठे और उन्होंने देर रात कोतवाली का घेराव कर नैनीताल हाईवे जाम कर दिया। आखिर पुलिस ने मुकेश भट्ट नाम के कार्यकर्ता सहित 30-40 अज्ञात लोगों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत करने के बाद करीब चार घंटे की अव्यवस्था के बाद रात्रि करीब 2 बजे हंगामा और मामला फिलहाल शांत करा दिया। यह भी पढ़ें : सीबीआई का फर्जी डीसीपी बनकर की युवती से सगाई, लेकिन भाई की सतर्कता से खुली पोल तो… 

प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार शाम भोटिया पड़ाव चौकी क्षेत्र में झंडे वाले पार्क के सामने गली के एक भवन में धार्मिक गतिविधि चल रही थी। हिंदूवादी संगठनों ने यह कहकर इसका विरोध करते हुए हंगामा शुरू कर दिया कि वहां अवैध तरीके से बन रहे भवन में मस्जिद बनाने की तैयारी चल रही है। हंगामे की सूचना मिलने पर पुलिस तथा सिटी मजिस्ट्रेट और नगर निगम की टीम भी मौके पर पहुंच गई। यह भी पढ़ें : होटल में गैर मर्द के साथ मिली पत्नी, पति ने बुलाई पुलिस

बताया गया है कि सिटी मजिस्ट्रेट ने भवन स्वामी से जमीन के कागजात व निर्माण की अनुमति दिखाने के लिए कहा और कागजात नहीं दिखाने पर भवन सील कर दिया। इस कार्रवाई से नाराज एक पक्ष ने धार्मिक गुरु से अभद्रता का आरोप लगाते हुए पुलिस और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कोतवाली का घेराव कर दिया। आरोप लगाया कि इस दौरान एक हिंदूवादी नेता ने इमाम को सिटी मजिस्ट्रेट के सामने थप्पड़ जड़ दिया। यह भी पढ़ें : 22 साल की युवा यूट्यूब संचालक गायिका-गीतकार युवती फंदे से लटकी मिली, वजह डरावनी…!

इस पर 700 से 800 लोगों की भीड़ कोतवाली पहुंच गई और धार्मिक तथा इंकलाब जिंदाबाद व मुर्दाबाद जैसे नारों के साथ मध्य रात्रि के बाद तक कोतवाली के सामने और नैनीताल राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम करते हुए हंगामा कर दिया। इस पर सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह, एसएसपी पंकज भट्ट, एसपी अपराध जगदीश चंद्र, एसपी सिटी हरबंस सिंह व एसडीएम मनीष सिंह के बाद आईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने आक्रोशित लोगों को माइक से कार्रवाई का आश्वासन देकर समझाने व शांत कराने का प्रयास किया। यह भी पढ़ें : 80 वर्षीय बूढ़ी महिला ने लगाया सौतेले पुत्र पर बलात्कार करवाने, बेटे को बलात्कार में फँसवाने और पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप…

जामा मस्जिद के शहर इमाम मौलाना मो. आजम कादरी को भी मौके पर बुलाकर उनके माध्यम से भी लोगों को समझाने का प्रयास किया। दूसरी ओर इतनी बड़ी भीड़ देख उच्चाधिकारियों ने बनभूलपुरा, कोतवाली, काठगोदाम और मुखानी यानी चार थानों की पुलिस बुला कर कोतवाली परिसर को सुरक्षित किया। यह भी पढ़ें : फिर सिर उठाने लगा कोरोना-2 April : उत्तराखंड में एक बार फिर कोरोना ने चिंता बढ़ाई, 5 दिनों में 6 दर्जन से अधिक मामले…

इस दौरान नैनीताल राष्ट्रीय राजमार्ग पर दोनों ओर वाहनों का जाम लग गया और वाहनों के फंसने से यात्री परेशान रहे। आखिर रात्रि करीब दो बजे आक्रोशित लोगों की तहरीर पर मनोज भट्ट के विरुद्ध नामजद एवं 30 से 40 अज्ञात लोगों के विरुद्ध अभियोग दर्ज होने और आईजी के कड़ी कार्रवाई के आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ। यह भी पढ़ें : Bad news for Rahul Gandhi from Uttarakhand-30 March : राहुल गांधी के लिए उत्तराखंड से भी बुरी खबर, दर्ज हुआ मुकदमा

पुलिस सूत्रों की मानें तो मामले पर प्रदेश के एडीजी कानून व्यवस्था बी मुरुगेशन की भी नजर रही और उन्होंने डीजीपी अशोक कुमार को भी मामले से अवगत कराया। यह भी पढ़ें :

बताया जा रहा हे कि खुफिया बलों की ओर से तीन दिन पहले ही भोटिया पड़ाव इलाके में एक विवादित स्थल को लेकर भविष्य में हंगामे की आशंका जताई गई थी। इसे लेकर पुलिस को सतर्क रहने के लिए कहा गया था और इसकी रिपोर्ट भी प्रशासन को भेजी गई थी। इसके बावजूद मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया। इसकी वजह से दोनों ओर के लोगों को आक्रोशित होने का मौका मिला।यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग: नैनी झील से शव हुआ बरामद, हुई शव की शिनाख्त

संबंधित समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
(डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply