भारतीय टीम में ओपनर की भूमिका तलाश रहे उन्मुक्त ने नैनीताल में गोल्फ स्टिक से उड़ाये छक्के

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
नैनीताल के राजभवन गोल्फ कोर्स में गोल्फ स्टिक के लम्बे शॉट्स का अभ्यास करते क्रिकेटर उन्मुक्त चंद
नैनीताल के राजभवन गोल्फ कोर्स में गोल्फ स्टिक के लम्बे शॉट्स का अभ्यास करते क्रिकेटर उन्मुक्त चंद

नवीन जोशी, नैनीताल। अपने कॅरियर की शुरुआत में दिल्ली के लिए ओपनर के रूप में 425 रनों की पारी और अंडर-19 विश्व कप में आस्ट्रेलिया के खिलाफ 111 रनों की नाबाद व कप्तानी पारी खेलकर आस्ट्रेलियाई दिग्गज पूर्व कप्तान इयान चैपल से प्रशंसा प्राप्त कर चुके उत्तराखण्ड मूल के युवा क्रिकेटर उन्मुक्त चंद भारतीय क्रिकेट टीम में ओपनर के रूप में अपनी भूमिका तलाश रहे हैं। बीती 5 फ़रवरी 2016 की शाम नैनीताल पहुंचे थे, और 6 की सुबह नैनीताल राजभवन स्थित गोल्फ कोर्स में उन्होंने गोल्फ खेलकर अपना दैनिक अभ्यास करते हुए पसीना बहाया। इस दौरान उन्होंने यहाँ नैनीताल राजभवन गोल्फ कोर्स में गोल्फ स्टिक (क्लब) पर पहली बार हाथ आजमाते हुए कई ‘उन्मुक्त छक्कों’ सरीखे लम्बे शॉट भी खेले। साथ ही अपने दोस्तों के साथ नगर की प्राकृतिक सुंदरता में खोकर कई सेल्फी लीं। इस दौरान उन्होंने अपने कॅरियर, भारतीय क्रिकेट टीम में चुने जाने की संभावनाओं, इसके लिए की जा रही मेहनत आदि पर खुलकर बात की। उन्होंने बताया कि तीन-चार दिन के अवकाश पर अपने घर-कुमाऊं आये हैं।

उत्तराखण्ड के उभरते युवा क्रिकेटर, देश के अंडर-19 कप्तान रहे उन्मुक्त चंद के साथ ..
उत्तराखण्ड के उभरते युवा क्रिकेटर, देश के अंडर-19 कप्तान रहे उन्मुक्त चंद के साथ

इस मौके पर उन्मुक्त ने कहा कि वह भारतीय क्रिकेट टीम में ओपनर के रूप में अपनी भूमिका तलाश रहे हैं। उम्मीद जताई कि मनीष व पवन के बाद उन्हें भी शीघ्र भारतीय टीम में खेलने का मौका मिलेगा। साथ ही कहा कि टीम में स्थान पाना समय की बात है। जब तक भारत के लिए रोहित शर्मा और शिखर धवन ओपनर के रूप में बढ़िया खेल रहे हैं, तब तक उन्हें इंतजार ही करना पड़ेगा। शिखर भी गौतम गंभीर और वीरेंद्र सहवाग के होते हुए टीम में स्थान नहीं बना पाये थे। उन्होंने इस बात पर खुशी जताई कि उत्तराखंड मूल के महेंद्र सिंह धोनी के बाद मनीष पांडे और अब पवन नेगी भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा बन रहे हैं। इधर अंडर-19 विश्व कप में उत्तराखण्ड के ही विकेटकीपर बल्लेबाज ने भी 18 गेंदों में सबसे तेज पचासा और शतकीय पारी से सेमीफायनल में पहुँचाने में मदद कर सबका ध्यान खींचा है।

यहाँ भी देख सकते हैं @ राष्ट्रीय सहारा 7 फ़रवरी 2016 पेज-1

मनीष पांडे के भारतीय टीम में न चुने जाने पर हो रहे विवाद पर कुछ न कहने से इनकार करते हुए उन्होंने कहा कि टीम का चयन पूरी तरह चयनकर्ताओं पर निर्भर करता है और वे किस देश में मैच होने हैं और टीम की जरूरत क्या है, यह सोचकर सर्वश्रेष्ठ टीम चुनते हैं। जैसे इधर भारतीय उपमहाद्वीप में हो रहे मैचों के लिए टीम में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज मौजूद हैं, और टीम को बेहतर गेंदबाजों और ऑलराउंडरों की जरूरत है। उत्तराखंड की टीम न होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि राज्य में अच्छी प्रतिभाओं की कमी नहीं है, बस उसे जल्द से जल्द बीसीसीआई से संबद्ध होना चाहिए और राज्य की टीम बनाकर रणजी टूर्नामेंट खेलना होगा, तभी राज्य के खिलाड़ी सीधे भारतीय टीम में आ पायेंगे। यहाँ भी देख सकते 

उन्मुक्त चंद
उन्मुक्त चंद
नैनीताल में सेल्फी लेते उन्मुक्त चंद
नैनीताल में सेल्फी लेते उन्मुक्त चंद

केएमवीएन के ब्रांड एंबेसडर होंगे उन्मुक्त

नैनीताल। पर्यटन गतिविधियों को बढ़ाने के लिए कुमाऊं मंडल विकास निगम पहली बार ‘ब्रांड एंबेसडर’ की नियुक्ति करने जा रहा है। इसके लिए निगम ने देश को अंडर-19 का विश्व कप दिलाने वाले युवा क्रिकेटर उन्मुक्त चंद को चुना है। उन्हें शीघ्र ही इस संबंध में प्रस्ताव भेजा जाएगा। केएमवीएन के एमडी धीराज गर्ब्याल ने बताया कि वह युवा क्रिकेटर उन्मुक्त चंद को निगम का ब्रांड एंबेसडर बनाने के लिए प्रस्ताव तैयार कर रहे हैं। आगे की औपचारिकताएं उन्मुक्त के रुख पर निर्भर करेंगी। वहीं चंद ने अनौपचारिक तौर पर इस बात पर खुशी जताई है कि यदि ऐसा कोई प्रस्ताव उन्हें मिलता है तो यह उनके लिये गर्व की बात होगी।

नवीन समाचार
मेरा जन्म 26 नवंबर 1972 को हुआ था। मैं नैनीताल, भारत में मूलतः एक पत्रकार हूँ। वर्तमान में मार्च 2010 से राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक समाचार पत्र-राष्ट्रीय सहारा में ब्यूरो चीफ के रूप में कार्य कर रहा हूँ। इससे पहले मैं पांच साल के लिए दैनिक जागरण के लिए काम कर चुका हूँ। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग से ‘नए मीडिया’ विषय पर शोधरत हूँ। फोटोग्राफ़ी मेरा शौक है। मैं NIKON COOLPIX P530 और अडोब फोटोशॉप 7.0 के साथ फोटोग्राफी कर रहा हूँ। फोटोग्राफी मेरे लिए दुनियां की खूबसूरती को अपनी ओर से चिरस्थाई बनाने का बहुत छोटा सा प्रयास है। एक फोटो पत्रकार के रूप में मेरी तस्वीरों को नैनीताल राजभवन सहित विभिन्न प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया, तथा उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती मार्गरेट अलवा द्वारा सम्मानित किया गया है। कुछ चित्रों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं। गूगल अर्थ पर चित्र उपलब्ध कराने वाली पैनोरामियो साइट पर मेरी प्रोफाइल को 18.85 Lacs से भी अधिक हिट्स प्राप्त हैं।पत्रकारिता और फोटोग्राफी के अलावा मुझे कवितायेँ लिखना पसंद है। काव्य क्षेत्र में मैंने नवीन जोशी “नवेन्दु” के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मैंने बहुत सी कुमाउनी कवितायेँ लिखी हैं, कुमाउनी भाषा में मेरा काव्य संकलन उघड़ी आंखोंक स्वींड़ प्रकाशित हो चुका है, जो कि पुस्तक के के साथ ही डिजिटल (PDF) फार्मेट पर भी उपलब्ध होने वाली कुमाउनी की पहली पुस्तक है। मेरी यह पुस्तक गूगल एप्स पर भी उपलब्ध है। ’ यहां है एक पत्रकार, लेखक, कवि एवं छाया चित्रकार के रूप में मेरी रचनात्मकता, लेख, आलेख, छायाचित्र, कविताएं, हिंदी-कुमाउनी के ब्लॉग आदि कार्यों का पूरा समग्र। मेरी कोशिश है कि यहां नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड और वृहद संदर्भ में देश की विरासत, संस्कृति, इतिहास और वर्तमान को समग्र रूप में संग्रहीत करने की….। मेरे दिल में बसता है, मेरा नैनीताल, मेरा कुमाऊं और मेरा उत्तराखंड
https://navinsamachar.com

Leave a Reply

loading...