उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 16 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 12.6 मिलियन यानी 1.26 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

March 4, 2024

कौन है हल्द्वानी हिंसा का मास्टर माइंड (1Mastermind of Haldwani Violence), जो अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर

0

Mastermind of Haldwani Violence

Mastermind of Haldwani Violence

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 10 फरवरी 2024 (Mastermind of Haldwani Violence)। हल्द्वानी में बीती 8 फरवरी को हुई हिंसा की आंच घटना के 3 दिन बीत जाने के बाद भी ठंडी नहीं पड़ी है। रह रहकर इस घटना के संबंध में नित नये खुलासे हो रहे हैं। इस घटना में 16 वर्षीय किशोर पुत्र व उसके पिता सहित 5 लोगों की गोली लगने से मौत हुई है।

मृतकों में बाजपुर निवासी 24 वर्षीय प्रकाश कुमार नाम का एक युवा भी शामिल है, जिसका घटना से कोई लेना-देना नहीं था, लेकिन उपद्रवियों द्वारा उसकी गोली मारकर हत्या करने और शव रेल की पटरी के पास फेंके जाने की बात भी सामने आ रही है, जबकि कबाड़ बीनकर घर चलाने वाले घर के इकलौते बेटे अजय को भी उपद्रवियों की गोली उसकी पेशाब की थैली और किडनी से पेशाब की थैली की ओर आने वाले मार्ग को पूरी तरह से क्षत-विक्षत कर गयी।

घटना के संबंध में अब भी बताते हुये कठोर दिल के माने जाने वाले पुलिस कर्मियों के साथ घटना के भुक्तभोगी पत्रकार दर्द से कराहते हुऐ बिस्तर पर पड़े हैं। उन पर चुन-चुनकर जानलेवा हमला किया गया है। उनकी मेहनत कर ली गयी बाइकें-कैमरे उपद्रवियों द्वारा लगायी गयी आग की भेंटचढ़ चुके हैं।

हिंसा भड़काने के लिये बनाया था एक ह्वाट्सएप ग्रुप, रुहेलखंड मंडल से जुड़े हो सकते हैं घटना के तार (Mastermind of Haldwani Violence)

इधर हल्द्वानी हिंसा को भड़काने के लिये एक ह्वाट्सएप ग्रुप बनाये जाने की बात भी प्रकाश में आ रही है। बताया जा रहा है कि इस ग्रुप में स्थानीय लोगों के साथ बाहरी शहरों के लोग भी थे। इस ग्रुप के माध्यम से हिंसा की रणनीति बनायी गयी थी एवं लोगों को निर्देश दिये गये थे। यह बात भी सामने आ रही है कि घटना के तार पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के रुहेलखंड मंडल से जुड़े हो सकते हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस की दो टीमें जांच के लिये वहां भी डेरा डाले हुए हैं।

वाइरल हो रहा संदेश (Mastermind of Haldwani Violence)

इधर घटना के बाद आज शहर में इंटरनेट शुरू होने के बाद सोशल मीडिया पर एक संदेश वायरल हो रहा है, जिसमें कहा गया है: ‘हमारे परिवार ने जो खोया वो कोई और न खोए, हल्द्वानी अमन चैन का शहर है, इसकी शांति बनाना हम सबकी जिम्मेदारी है। हमें पूरा भरोसा है की सरकार और प्रशासन उनको सजा दिलवाएगा, जो जिम्मेदार है। हमारी हॉस्पिटल से लेकर कब्रिस्तान तक सब जगह प्रशासन के लोगों ने मदद की, घर तक छोड़ने आए.. हमारी उनसे कोई शिकायत नहीं है.. बस अपील है कि गुनहगारों पर कड़ी कार्यवाही करें ।’

हम सबको अपील करते हैं की शांति बनाए रखें ।

पुलिस इस घटना के लिये जिम्मेदार दो निवर्तमान पार्षदों एवं सपा नेता के भाई सहित 5 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, लेकिन घटना का मास्टर माइंड (Mastermind of Haldwani Violence) बताया जा रहा अब्दुल मलिक नाम का व्यक्ति पुलिस की गिरफ्त से अभी भी दूर है।

कौन है अब्दुल मलिक ? (Mastermind of Haldwani Violence)

Mastermind of Haldwani Violenceअब्दुल मलिक के बारे में नैनीताल पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि वह ही इस मामले का मास्टर माइंड है और मूलतः भूमाफिया है। वह हल्द्वानी के वनभूलपुरा में सरकारी जमीनों पर कब्जा कर उन्हें गरीब व मजबूर लोगों को 50 व 100 रुपये के स्टांप पेपरों पर लाखों रुपये में बेच रहा था।

वह मलिक का बगीचा नाम से जाने जानी वाली कई एकड़ में फैली करोड़ो रुपए की सरकारी जमीन को भी सिर्फ 50 रुपए के स्टांप पर सैकड़ों लोगों को बेच चुका था। बनभूलनपुरा में जिस मस्जिद-मदरसे को ध्वस्त किया गया, उसे भी अब्दुल मलिक ने सरकारी जमीन पर अवैध रूप से बनाया था। (Mastermind of Haldwani Violence)

अब्दुल मलिक और उसके साथियों का सरकारी जमीन बेचने का सिलसिला 2017 से चल रहा था। 2014 में मलिक का बगीचा नाम की सरकारी संपत्ति बिलकुल खाली थी। 2017 के बाद से यहां मस्जिद, मदरसा और अन्य मकान बनाए गए। मकानों के बनने और प्लॉटिंग का सिलसिला भी शुरू हुआ। (Mastermind of Haldwani Violence)

हल्द्वानी नगर निगम के आयुक्त पंकज उपाध्याय के अनुसार अवैध रूप से सरकारी संपत्ति को बेचने का खेल अब्दुल मलिक चला रहा था। सिंडीकेट चलता रहे, इसके लिए मस्जिद और मदरसे की मजहबी आड़ ली गई थी। 8 फरवरी को हुई हिंसा के पीछे भी सरकारी जमीन की खरीद फरोख्त वाला ही सिंडीकेट था। (Mastermind of Haldwani Violence)

अब्दुल मलिक ने लोगों को मजहब के नाम पर हिंसा के लिए उकसाया ताकि उसका सरकारी जमीन को बेचने का खेल चलता रहे। वह पिछले दिनों नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय के साथ बिना कोई कागज दिखाये बहस करता हुआ दिखाई दिया था। नैनीताल पुलिस अब सरगर्मी से उसकी तलाश कर रही है। (Mastermind of Haldwani Violence)

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला नैनीताल : दिल के सबसे करीब, सचमुच धरती पर प्रकृति का स्वर्ग