Crime

चचेरे भाइयों ने प्रधान पति को पीट-पीटकर मार डाला…

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हत्या News in Hindi, हत्या की लेटेस्ट न्यूज़, photos, videos | Zee News  Hindiनवीन समाचार, टनकपुर, 16 सितंबर 2021। चंपावत जिले के चल्थी क्षेत्र के दूरस्थ गांव नौलापानी में एक नामकरण संस्कार में तीन सगे भाइयों ने ग्राम प्रधान के पति को पीट-पीटकर मार डाला। मृतक हत्यारोपितों का चचेरा भाई था। गंभीर रूप से घायल अवस्था में उसे उपचार के लिए पहले टनकपुर, फिर खटीमा और वहां से एचटीएस हल्द्वानी ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना से मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गत 14 सितंबर को नौलापानी गांव में नामकरण संस्कार चल रहा था। इसी दौरान ग्राम प्रधान गीता देवी के पति 30 वर्षीय जीवन लाल पुत्र गणेश राम का गांव के ही लोगों से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि उसके चचेरे भाई महेश, कमल व नवीन पुत्र प्रेम राम ने उसे लाठी डंडों व घूसों से पीटकर अधमरा कर दिया, और लहूलुहान अवस्था में रास्ते में फेंक दिया। काफी खोजबीन के बाद जीवन घायल अवस्था में जंगल में किनारे पड़ा मिला। उसे लहूलुहान हालत में उपचार के लिए संयुक्त चिकित्सालय टनकपुर ले जाया गया।

चिकित्सकों ने हालत नाजुक देखते हुए उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया। जिसके बाद मृतक का खटीमा के एक निजी चिकित्सालय में भर्ती किया गया। स्थिति खराब होने पर उसे वहां से सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी भेज दिया गया। एचटीएस के चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि महेश, कमल व नवीन तीनों भाईयों ने उनके पुत्र की हत्या की है। टनकपुर के एसओ जसवीर चौहान ने बताया कि मृतक का पीएम कर शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है। बताया जा रहा हैै कि मृतक की दो पुत्रियां व एक पुत्र है। सबसे बडी पुत्री छह वर्ष की है। चल्थी चौकी प्रभारी हेमंत कठैत ने बताया कि शाम तक घटना को लेकर कहीं से भी तहरीर नहीं मिली है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : उफ, पहाड़ में ऐसी वारदात ! पति ने निर्ममता से पत्नी को सिर पटक-पटककर मार डाला, फिर अग्निकांड दिखाते हुए शव को रसोई में ही जला डाला

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 14 सितंबर 2021। नगर के निकटवर्ती ग्राम मटेना में एक युवक द्वारा अपनी पत्नी की सिर को दीवार पर पटक-पटक कर निर्मम हत्या करने और हत्या को दुर्घटना की कोशिश करते हुए मृत शव को रसोईघर में जलाने का दिल को झकझोरने वाला मामला प्रकाश में आया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय से करीब 14 किमी दूर डीनापानी से लगे गांव मटेना में कृष्णा उर्फ किशन लाल पुत्र सुंदर लाल पहले दिल्ली की एक कंपनी में टैक्सी चालक था। इधर गत वर्ष कोरोना की वजह से वह बेरोजगार होने पर गांव आकर मजदूरी करने लगा था। बताया जा रहा है कि बीती रात उसने दोस्तों के साथ शराब पी। घर जाते वक्त उसका एक युवक से विवाद हो गया।

माहौल बिगडने की आशंका में पत्नी उसे समझाने पहुंची। इस पर तैश में आकर उसने अपनी पत्नी से ही झगडना शुरू कर दिया। जब पत्नी ने सख्ती से उसे घर चलने को कहा तो उसने आपा खोते हुए पत्नी कोे निर्ममता से बाल पकड़ कर उसका सिर दीवार पर पटकना शुरू कर दिया। वह बेहोश होकर नीचे गिरी तो जमीन पर सिर पटका। इससे कमरे में खून फैल गया, और उसकी पत्नी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। इसके बाद उसने क्रूरता की हदें पार करते पत्नी के शव को रसोईघर में जला दिया, ताकि लगे कि रसोई में गैस लीक होने से उसकी मौत हो गई होगी। बहरहाल, पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : अभी-अभी पति ने 4 साल के बेटे की मां की कर दी हत्या…

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 5 सितंबर 2021। रुद्रपुर ट्रांजिट कैंप में पहली पत्नी से हुए विवाद के बाद पति ने पाटल से गर्दन पर वार कर हत्या कर दी। वारदात के बाद आरोपित पति फरार हो गया। इसका पता चलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन फानन में मौके पर पहुंची पुलिस ने हत्यारोपित पति को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही मृतका का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हत्यारोपित पति से हत्या के कारणों के संबंध में पूछताछ की जा रही है।

ट्रांजिट कैंप, संजयनगर, वार्ड नंबर 11 निवासी भोला उर्फ किंकर मंडल भवन निर्माण का काम करता है। पुलिस के मुताबिक भोला की दो शादियां हैं। इसमें एक विवाह उसने 26 वर्षीय निर्मला से पांच साल पहले किया था। उसका एक चार साल का पुत्र है। जबकि दूसरा विवाह उसने बबीता से किया था। दूसरी शादी करने के बाद भोला ने निर्मला के लिए मलिक कालोनी में मकान बनाया था, जहां पर वह अपने पुत्र के साथ रह रही थी। बताया जा रहा है कि रविवार को भोला अपनी दूसरी पत्नी बबीता के साथ घर में ही था। इसी बीच रात साढ़े सात बजे के करीब निर्मला भी संजय नगर स्थित उसके मकान पर पहुंच गई। जहां पर निर्मला और भोला का किसी बात को लेकर विवाद हो गया। जिसके बाद तैश में आकर भोला ने निर्मला के गर्दन पर पाटल से वार कर दिया। इससे निर्मला लहुलूहान हो गई और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। यह देख भोला फरार हो गया।

शोर शराबा होने पर आसपास के लोग एकत्र हुए और पुलिस तक सूचना पहुंचाई। सूचना पर एसपी सिटी ममता बोहरा, एसपी क्राइम मिथिलेश सिंह, सीओ सिटी अमित कुमार, कोतवाल रुद्रपुर विजेंद्र शाह, एसओ ट्रांजिट कैंप विनोद फर्त्याल पुलिस कर्मियों के साथ पहुंचे और जानकारी ली। साथ ही फरार हत्यारोपित का पीछा कर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बाद में पुलिस ने निर्मला का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। थानाध्यक्ष ट्रांजिट कैंप विनोद फर्त्याल ने बताया कि हत्यारोपित पति से हत्या के कारणों के संबंध में पूछताछ की जा रही है। बताया कि शव कब्जे में लेकर मोर्चरी भिजवा दिया गया है, साथ ही घटना से मृतका के मायके वालों को भी अवगत करा दिया गया है (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : शिक्षक पति की जगह सिपाही पर मोहित हुई शिक्षिका, गला दबाकर कर दी पति की हत्या

-दोषी करार, सजा पर सुनवाई अभी थोड़ी देर में

प्रतीकात्मक चित्र

नवीन समाचार, देहरादून, 1 सितम्बर 2021। समाज जिनसे बेहतर ज्ञान की उम्मीद करता हो, वे ही ऐसी हरकतें करें तो क्या हो ?एक शादीशुदा शिक्षिका अपने शिक्षक पति की जगह एक सिपाही पर मोहित हो गई। हद तो यह हो गई कि उसने सिपाही प्रेमी की मदद से शिक्षक पति की हत्या ही कर दी। अब न्यायालय ने हत्यारी शिक्षिका और उसके प्रेमी को हत्या (302), साक्ष्य छिपाने (201) और षड्यंत्र रचने (120बी) के तहत दोषी करार दिया है।

मामला राजधानी देहरादून का है। यहां एडीजे चतुर्थ चंद्र मणि राय की अदालत में आरोपितों के खिलाफ सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता-फौजदारी जय कृष्ण जोशी ने बताया कि 16 जून 2018 को रायपुर थाना क्षेत्र के रिंग रोड किसान भवन के पास कार में शिक्षक किशोर चौहान निवासी ग्राम गहड़, थाना हिंडोलाखाल टिहरी वर्तमान निवासी देहरादून का शव मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला था कि शिक्षक की हत्या गला घोंटकर की गई है। 17 जून को किशोर चौहान के भाई की शिकायत पर रायपुर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। 28 जून को किशोर चौहान की पत्नी स्नेहलता और उसके प्रेमी सिपाही अमित पार्ले को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

अभियोजन ने न्यायालय में 36 गवाह पेश किए। पुलिस ने विवेचना के दौरान मोबाइल रिकॉर्डिंग और वायस सैंपलिंग की जांच भी कराई। जांच में पाया गया कि दोनों में एक माह में दौ सौ से ज्यादा बार बात हुई थी। अमित पार्ले ने घटना के दिन जो मोबाइल और सिम इस्तेमाल किया था, वह महज घटना के दिन कुछ ही घंटों के लिए इस्तेमाल हुआ था। मामले में साक्ष्यों के आधार पर न्यायालय ने दोनों को दोषी करार दे दिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : 8 वर्ष की बेटी के पिता की हुई बर्बरतापूर्ण हत्या के जुर्म में टैंट व्यवसायी को आजीवन कारावास की सजा

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 31 अगस्त 2021। द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश राकेश कुमार सिंह की अदालत ने हल्द्वानी के हनुमान मंदिर मुखानी निवासी अशोक पंत पुत्र कैलाश चंद्र पंत के हत्यारोपित टैंट व्यवसायी शेखर मेहरा पुत्र आनंद सिंह निवासी शिवपुरम फेस-2 हरिनगर कुसुमखेड़ा को आजीवन कारावास एंव 25 हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई है। अर्थदंड न चुकाने पर छह माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। इसके अलावा न्यायालय ने मृतक के पीड़ित परिवारजनों को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम से प्रतिकर दिलाए जाने के आदेश भी दिए।

इस मामले में अभियोजन की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता-फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने अभियोजन की ओर से एक 25 वर्षीय पत्नी के पति व 8 साल की बेटी के पिता की अभियुक्त द्वारा बर्बरतापूर्ण तरीके से की गई हत्या की घटना को विरल से विरलतम श्रेणी में बताया, जबकि अभियुक्त के अधिवक्ता की ओर से कहा कि घटना परिस्थिति जन्य साक्ष्यों पर आधारित है। उसकी पारिवारिक पृष्ठभूमि आदि के आधार पर उसे कम से कम सजा दिए जाने की मांग की। उल्लेखनीय है कि इस घटना में स्वतंत्र साक्षी महिलाओं की गवाही पर अभियुक्त को यह सजा हो पाई। इसकी न्यायालय ने प्रशंसा भी की। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : स्वतंत्र साक्षी महिलाओं की गवाही पर हल्द्वानी में हुई हत्या के मामले में एक दोषसिद्ध तीन अन्य दोषमुक्त

-न्यायालय ने की स्वतंत्र साक्षी महिलाओं की प्रशंसा, कहा उनका कृत्य प्रशंसनीय व अनुकरणीय
डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 27 अगस्त 2021। द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश राकेश कुमार सिंह की अदालत ने हल्द्वानी के हनुमान मंदिर मुखानी निवासी अशोक पंत पुत्र कैलाश चंद्र पंत के हत्यारोपित शेखर मेहरा पुत्र आनंद सिंह निवासी शिवपुरम फेस-2 हरिनगर कुसुमखेड़ा को परिस्थितिजन्य साक्ष्य एवं सर्विलांस के आधार पर दोष सिद्ध करार दिया है। जबकि उसके तीन साथी दोषमुक्त करार दिए गए हैं। इस मामले में कुछ स्वतंत्र साक्षी यानी मृतक से सीधे संबंध न रखने वाली महिलाओं ने भी साक्ष्य दिए। इस पर न्यायालय ने टिप्पणी की कि महिलाओं के साक्ष्य प्रशंसनीय व अनुकरणीय हैं, क्योंकि आज की न्यायिक व्यवस्था में स्वतंत्र साक्षी न्यायालय के समक्ष गवाही देना नहीं चाहते हैं।

मामले में अभियोजन की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता-फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने अभियोजन के इस तथ्य को साक्षियों के माध्यम से हत्यारोपित साबित किया कि हत्यारोपित ने ही हत्या की। 13 जून को हुई मृतक अशोक पंत व उनके भाई व शिकायतकर्ता हेम चंद्र पंत के घर पर बच्चे का नामकरण संस्कार था। इस कार्यक्रम में हत्यारोपित शेखर मेहरा बिन बुलाए आया और अशोक को अपनी गाड़ी में ड्यूटी में ले जाने के बहाने बैठाकर ले गया। दूसरे दिन अशोक का शव बृजवासी स्कूल के पास खून से लथपथ अवस्था में मिला।

उसे शराब पिलाकर व गला घोंटकर मारा गया था और कांच की टूटी बोतल से उसके दोनों हाथों को चोट पहुंचाई गई थी। इस मामले में हत्यारोपित के तीन साथियों रवि फूलमाली, सुमित सक्सेना व मनीष गौढ़ के विरुद्ध भी आरोप पत्र प्रस्तुत किया गया था, लेकिन उनके विरुद्ध कोई साक्ष्य न मिलने पर उन्हें दोषमुक्त करार दिया गया। जबकि दोषसिद्ध पाये जाने पर जमानत पर जेल से बाहर रह रहे शेखर मेहरा को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया। सजा पर 31 अगस्त को सुनवाई होगी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : महिला एवं बाल विकास मंत्री के क्षेत्र में 19 वर्षीय युवती की चाकू से गोदकर निर्मम हत्या

पीडि़त पक्ष की ओर से हत्यारोपित के खिलाफ तहरीर नहीं दी गई है।
मृतका अंजली बोरा

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 19 अगस्त 2021। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य के विधानसभा क्षेत्र के चनौदा में एक 19 वर्षीय युवती की उसके घर में चाकू से गोदकर निर्मम हत्या किए जाने से सनसनी फैल गई। प्रारंभिक जांच के बाद आरोप एक अज्ञात युवक पर लगाए जा रहे हैं, जिसके बारे में कहा जा रहा है कि वह अक्सर युवती से मिलने उसके घर आता था। इस प्रकार घटना का कारण प्रेम प्रसंग में असफल रहना बताया जा रहा है।

jagran
अर्धमूर्छित अवस्था में मिला हत्यारोपित दीपक भंडारी

दुस्साहसिक घटना को अंजाम देने के बाद हत्यारोपित युवक दीपक भंडारी निवासी ढौनीगाढ़, तहसील सोमेश्वर स्कूटी से फरार हो गया। वह कौसानी क्षेत्र के वनक्षेत्र में अर्धमूर्छित अवस्था में मिला। उसे फिलहाल चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। कयास लगाए जा रहे हैं कि युवती का कत्ल करने के बाद उसने आत्महत्या की कोशिश की। उसके खिलाफ देर रात पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार अपराह्न करीब 3 बजे ग्राम चनौदा निवासी 19 वर्षीय अंजली बोरा पुत्री हरीश बोरा का शव घर में लहुलूहान हालत में पड़ा हुआ मिला। घटना की सूचना मिलने पर सोमेश्वर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच में जुट गई। प्रारंभिक जांच में पुलिस को पता चला है कि एक अज्ञात व्यक्ति युवती से रोज मिलने उसके घर आता था, हो सकता है उसने ही हत्या की हो।
बताया जाता है कि स्कूटी सवार युवक घर के नीचे रुका। दोपहिया वाहन खड़ा कर उसी कमरे में बेखौफ घुसा जहां युवती मौजूद थी। आरोप है कि चाकू से गोद कर अंजलि की हत्या कर दी गई। उसके शरीर पर तीन गहरे घाव किए गए थे। अंदेशा है कि अत्यधिक रक्तस्राव व अंदरूनी चोट के कारण कुछ ही देर में युवती ने दम तोड़ दिया। वारदात के बाद आरोपित तेजी से बाहर निकला और स्कूटी से फरार हो गया। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल में जन्म दिन मनाने आई महिला की हत्या, मुकदमा दर्ज, लिव-इन में रह रहा साथी फरार

इमरान उर्फ़ ऋषभ के साथ कमरे में मृतका (फाइल फोटो)।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 16 अगस्त 2021। सरोवरनगरी में स्वतंत्रता दिवस मनाने आए सैलानी मैदानी क्षेत्रों में होने वाली आपराधिक घटनाओं से इस शांत स्थान को भी अशांत कर गए। बीती शाम एक सैलानी को गोली लगने की घटना के कुछ ही घंटे बाद यहां एक होटल में एक महिला की हत्या कर दी गई। अलबत्ता घटना का खुलासा सोमवार दोपहर करीब 12 बजे तब हुआ जब होटल कर्मियों ने कमरे का दरवाजा न खुलने और रात्रि में ही कमरे में रुके व्यक्ति द्वारा अपना पहचान पत्र मांगकर ले जाने के बाद कमरे का दरवाजा खुलवाया। भीतर एक महिला की अर्धनग्नावस्था में शव पड़ा हुआ था, और उसके मुंह नाक आदि से स्राव हो रहा था। महिला के मुह से झाग निकलने के साथ ही शरीर नीला पड़ गया था।

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। बताया गया है कि शनिवार को होरिजन होम्स नोएडा एक्सटेंशन निवासी दीक्षा मिश्रा, ऋषभ के साथ तथा स्वेता शर्मा, अलमास पुलहक के साथ हुंडई आई-10 कार से यहाँ आये थे और नगर के मल्लीताल पुलिस कोतवाली से चंद कदमों की दूरी पर शारदा संघ वाली गली में एक माह से चल रहे गैलेक्सी होम स्टे में कमरा लिया था। सोमवार सुबह 10 बजे दोनों कमरे खाली होने थे। इन्हीं में से एक करीब 30 वर्षीय दीक्षा मिश्रा की मौत हुई है, जबकि उसके साथ का ऋषभ गायब है। पुलिस ने उनके साथ के दूसरे कमरे में रह रहे स्वेता व अलमास एवं होटल कर्मियों से पूछताछ शुरू कर दी है।

महिला का पूर्व पति से तलाक हो चुका है, और पूर्व पति से एक बेटी भी है। पहले पति से तलाक के बाद वह लिव इन में ऋषभ के साथ रह रही थी। बताया जा रहा है कि 15 अगस्त को दीक्षा का जन्मदिन था, इसलिए रात्रि में 12 बजे के बाद तक दोनों युगल केक काटकर पार्टी कर रहे थे। इसके बाद दोनों अलग-अलग कमरों में चले गए। इसके बाद भी एक कमरे में हल्ला-गुल्ला चल रहा था। इसके कुछ देर बाद ऋषभ रिसेप्सन से अपना पहचान पत्र वापस लेकर फरार हो गया।

इस मामले में एसपी-क्राइम देवेंद्र पींचा ने बताया कि फॉरेंसिक टीम द्वारा घटनास्थल से फॉरेंसिक सबूत एकत्र करने के बाद महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथी के भाग जाने के आधार पर महिला की हत्या होना ही प्रथमदृष्टया माना जा रहा है। उसके हत्यारोपी की धरपकड़ के लिए टीमें भेज दी गई हैं। मृतका के भाई को सूचना दे दी गयी है।  आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 
विस्तृत समाचार थोड़ी देर बाद इसी लिंक पर दिया जाएगा। अपडेटेड समाचार देखने के लिए इसी लिंक को रिफ्रेश करते रहें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में महिला का सड़ा-गला शव बरामद, पति ने ही की थी हत्या

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 26 जुलाई 2021। नैनीताल-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग पर मुख्यालय से करीब 13 किलोमीटर दूर रिया गांव के पास दिल्ली पुलिस ने नैनीताल की तल्लीताल थाना व ज्योलीकोट चौकी पुलिस की मदद से एक महिला का करीब 40 दिन पुराना, बिल्कुल सड़ा-गला, कंकाल बरामद किया है। महिला की उसके पति के द्वारा ही गला दबाकर हत्या की गई है। 26 वर्षीय महिला का शव कंकाल के रूप में बताया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शक्तिफार्म ऊधमसिंह नगर निवासी राजेश राय पुत्र रणवीर रॉय दिल्ली के आनंद नगर में फड़ लगाता है। वहां वह डी-30 डाबरी थाना द्वारिका निवासी 26 वर्षीय बबीता पुत्री स्वर्गीय डाली राम के संपर्क में आया और उसने बबीता से शादी से पूर्व ही शारीरिक संबंध बना लिए, और शादी करने से मुकरता रहा। इस पर बबीता की ओर से उसके खिलाफ शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का मुकदमा भी दर्ज हुआ। अलबत्ता बाद में उसने बबीता से शादी कर ली। इधर बबीता और वह गत 12 जून से गायब हो गए। इस पर बबीता की मां ने द्वारिका के डाबरी थाने में अपनी बेटी की गुमशुदगी दर्ज कराई। इस बीच राजेश का मोबाइल बंद मिला पर उसकी आखिरी लोकेशन हल्द्वानी मिली। इस पर दिल्ली पुलिस ने उसे शक्तिफार्म में उसके घर से उसे गिरफ्तार कर लिया।

सोमवार को दिल्ली पुलिस ने राजेश की निशानदेही पर रिया गांव के पास नैनीताल-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग के कलमठ से बबीता का कंकाल बरामद किया। आरोपित राजेश के अनुसार वह बबीता व उसकी मां की आये दिन की किचकिच से परेशान था। इसलिए 12 जून को उसे हल्द्वानी से होते हुए मौके पर लाया और पैदल ही घुमाते हुए उसकी मौके पर गला दबाकर हत्या कर दी और शव कलमठ में डालकर बाहर से पत्थर की दीवार भी चिन दी थी। उल्लेखनीय है कि जनपद के पहाड़ों पर बाहर से लाकर हत्या किए जाने का पुराना इतिहास रहा है। इस बार काफी समय बाद पुनः ऐसी ही घटना सामने आई है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : शराबी फौजी ने पत्नी की पिटाई की, उपचार भी न कराया, चार दिन बाद मौत

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 20 जून 2021। 15 जून को सतीश ने शराब पीने के बाद नशे में अपनी पत्नी को बुरी तरह से पीटा था। पिटाई से वह गंभीर रूप से घायल हो गई थी। आरोपित ने गंभीर हालत होने के बाद भी उसे घर में ही रखा। इस कारण उसकी मौत हो गई। नैनीताल जनपद के ओखलकांडा विकासखंड के घरता मल्ला गांव में एक सेवानिवृत्त पूर्व सैनिक सतीश पुरी ने शराब के नशे में अपनी पत्नी अपनी पत्नी बसंती देवी (33) की पीट-पीटकर हत्या कर दी। राजस्व पुलिस ने मृतका के मायके पक्ष की तहरीर पर आरोपित पूर्व फौजी के खिलाफ धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है, और पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। आरोपित की गिरफ्तारी के प्रयास भी किए जा रहे हैं। बताया गया है कि फौजी ने चार दिन पूर्व 15 जून को सतीश ने शराब पीने के बाद नशे में अपनी पत्नी को बुरी तरह से पीटा था। पिटाई से वह गंभीर रूप से घायल हो गई थी। आरोपित ने गंभीर हालत होने के बाद भी उसे घर में ही रखा। इस कारण चार दिन बाद उसकी मौत हो गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार घरता मल्ला गांव का रहने वाला सतीश पुरी फौज से सेवानिवृत्त होने के बाद गांव में अपनी पत्नी, तीन बच्चों और बुजुर्ग मां के साथ रहता है। वर्ष 2008 में सतीश पुरी व बसंती का विवाह हुआ था। सतीश शराब पीने का आदी बताया जाता है। इधर क्षेत्रीय राजस्व उप निरीक्षक शकील अहमद ने बताया कि उन्हें शुक्रवार रात उन्हें सूचना मिली थी कि पूर्व फौजी सतीश पुरी ने नशे में की पीटकर हत्या कर दी है। इस पर सुबह राजस्व पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लिया। पिटाई से बसंती देवी की मौत घर पर ही हो गई थी। आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : अवैध संबंधों के शक में पति ने दूसरी पत्नी को गोली मारी, पहली पत्नी को भी मारी थी गोली…

नवीन समाचार, लक्सर (हरिद्वार), 19 जून 2021। निकटवर्ती महाराजपुर कला गांव में शनिवार सुबह अर्जुन नाम के एक व्यक्ति ने गृह क्लेश के कारण अपनी पत्नी नीतू की गोली मारकर हत्या कर दी है। बताया जा रहा है कि युवक को अपनी पत्नी के अवैध संबंध को लेकर शक था। इस कारण ही उसने इस घटना को अंजाम दिया है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने पास के ही गांव से घेराबंदी कर आरोपी को हत्या में प्रयुक्त अवैध तमंचे के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
सीओ विवेक कुमार ने पत्रकारों को बताया कि आरोपी ने वर्ष 2016 में अपनी पहली पत्नी की भी धारदार हथियार से हत्या करने की कोशिश की थी। इस घटना में पत्नी को गंभीर चोटें आई थी। लेकिन इस दौरान पत्नी की बहन की 5 वर्षीय बेटी की मौत हो गई थी। इसके बाद आरोपी ने दूसरी शादी की और दूसरी पत्नी को भी मौत के घाट उतार दिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : पत्नी ने 22 वर्षीय पति की कुल्हाड़े से काटकर कर दी नृशंस हत्या, दो वर्ष पूर्व ही किया था प्रेम विवाह, दोनों की एक माह की बेटी भी है…

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 जून 2021। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जनपद के नौगांव ब्लॉक के हिमरौल गांव में एक महिला द्वारा अपने पति की कुल्हाड़ी से गर्दन पर कई वार कर नृशंस हत्या करने का मामला प्रकाश में आया है। दुःखद बात यह भी है कि मृतक केवल 22 वर्ष का युवा था और उसकी एक वर्ष पहले ही उसने हत्या करने वाली पत्नी से दो वर्ष पूर्व ही प्रेम विवाह किया था। दोनों की एक महीने की बेटी भी है। घटना के बाद से गांव में दहशत का माहौल है। जबकि राजस्व पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है।
बड़कोट के नायब तहसीलदार जगेंद्र चौहान की ओर से बताया गया है कि 21 वर्षीया काजल और 22 वर्षीय जसपाल राणा की दो साल पहले ही लव मैरिज हुई थी। सोमवार देर रात को दोनों में किसी बात को लेकर विवाद हो गया, जिसके बाद महिला ने पति की कुल्हाड़ी से गले पर वार कर हत्या कर दी। राजस्व पुलिस ने हत्या में प्रयोग कुल्हाड़ी को महिला के घर से करीब 25 मीटर दूर से बरामद कर लिया गया है। महिला ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम की कार्यवाही की जा रही है। महिला के खिलाफ राजस्व चौकी दारसौं में 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। सूचना पर गांव पहुंची पुलिस ने रात को ही महिला को अपनी गिरफ्त में ले लिया था। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल: हत्या की घटना में दो भाई गिरफ्तार, न्यायालय में पेश करने की तैयारी

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 अप्रैल 2021। बुधवार को नगर तल्लीताल बूचड़खाना क्षेत्र में हुई मारपीट की घटना में एक व्यक्ति की धारदार हथियार के प्रहार से मौत के बाद तल्लीताल थाना पुलिस ने 21 व 24 वर्षीय दो सगे भाइयों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्हें हल्की चोटें भी हैं। इसके बाद उन्हें जिला चिकित्सालय में मेडिकल कराकर न्यायालय में पेश करने की तैयारी चल रही है। उधर मृतक के शव को पोस्टमार्टम के उपरांत हल्द्वानी से लाने के लिए मृतक के परिजन रिश्तेदार व शुभचिंतक हल्द्वानी रवाना हो गए हैं। बताया गया है कि पहले बीती रात्रि रास्ते में मौत के बाद ही मृतक के शव को बिना पोस्टमार्टम के ही नैनीताल लाया जा रहा था, ंिकंतु ज्योलीकोट पुलिस ने उन्हें पोस्टमार्टम कराए जाने के लिए वापस लौटा दिया था।

देखें पूर्व समाचार: नैनीताल में अभी-अभी 200 रुपये के लिए रमजान के दिन नमाज के बाद दो पक्षों में खूनी संघर्ष, एक की मौत

और इस घटना पर कार्रवाई का समाचार: तल्लीताल की घटना में एक महिला सहित पांच लोगों के खिलाफ हत्या सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज
उल्लेखनीय है कि बुधवार को नगर के तल्लीताल क्षेत्र में नमाज के बाद हुए खूनी संघर्ष में बेल्डिंग का कार्य करने वाले 30 वर्षीय शामिन पुत्र मोहम्मद यासीन निवासी हरिनगर व उसके 19 वर्षीय भाई नवाब उर्फ वेवी पुत्र यासीन को धारदार हथियार, संभवतया कपड़े काटने की कैंची से किए गए प्रहार से चोटें आई थी, और उपचार के लिए हल्द्वानी ले जाते हुए शामिन की रास्ते में ही मृत्यु हो गई थी। इस मामले में तल्लीताल थाना पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती देर रात्रि हरिनगर निवासी शहाबुद्दीन के दो पुत्रों 24 वर्षीय आरिफ उर्फ आशु एवं साहिल उर्फ मोजम को गिरफ्तार कर लिया गया है। उल्लेखनीय है कि इस मामले में आरोपितों के पिता शहाबुद्दीन पुत्र निसारउद्दीन, बबली व इमरान के खिलाफ भी थाना तल्लीताल में भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 148, 302, 307 व 34 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

यह भी पढ़ें : 50 वर्षीय व्यक्ति की गोली मारकर हत्या, ममेरे भाई पर हत्या का आरोप

नवीन समाचार, रामनगर (नैनीताल), 13 अप्रैल 2021। नैनीताल जनपद के रामनगर के पास मालधनचौड़ में मंगलवार सुबह तड़के एक 50 वर्षीय व्यक्ति की गोली मारकर हत्या किये जाने का मामला प्रकाश में आया है। हत्या का आरोप मृतक के बुआ के लड़के पर लगा है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार मृतक ने उसकी हत्या करने वाले ममेरे भाई की शादी करवाई थी, किंतु वह अपनी पत्नी से खुश नहीं था। इस बीच उसकी अपने पत्नी से अनबन भी चल रही थी। इस कारण वह शादी कराने वाले बुआ के लड़के को दोषी मानता था। हत्या करने का यह भी एक कारण हो सकता है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मालधनचौड़ नंबर 5 निवासी 50 वर्षीय भगत पुत्र बलबीर की उसी के ममेरे भाई सुल्तानपुर पट्टी बाजपुर निवासी प्रेमवीर ने घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि बीती रात करीब 11 बजे तक भगत के घर पर दोनों ने खाना खाया। इसी बीच उनका किसी बात को लेकर आपस में विवाद हो गया। विवाद के बाद प्रेमवीर उस समय तो चला गया था लेकिन रात्रि लगभग तीन बजे वापस आकर भगत को धमका कर उसने दरवाजा खुलवाया, और दरवाजा खोलते ही उसने भगत पर फायर झोंक दिया। गोली की आवाज सुनकर परिजन उठे और लहूलुहान अवस्था में पड़े मिले भगत को आनन-फानन में अस्पताल ले गये, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए रामनगर सयुंक्त चिकित्सालय भेज दिया, और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही मामले की तफ्तीश भी शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : होली पर हुए मामूली विवाद में छोटे भाई ने बड़े भाई को जान से मार डाला

नवीन समाचार, देहरादून, 30 मार्च 2021। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में होली पर हुए आपसी मामूली विवाद में छोटे भाई द्वारा बड़े भाई के मुंह पर बेलचे से हमला कर हत्या करने का मामला प्रकाश में आया है। घटना के बाद आरोपी फरार हो गया है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है और फरार आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार, थाना रायपुर के मयूर विहार क्षेत्र में होली खेलने के दौरान मामूली बात पर दो भाइयों के बीच विवाद हो गया था। इस दौरान छोटे भाई ने बड़े भाई पर बेलचे से हमला कर दिया। परिजन उसे तुरंत ही उपचार के लिए अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन उपचार के दौरान बड़े भाई की मौत हो गई। पुलिस जांच में सामने आया है कि मृतक नीरज रोडवेज में संविदा कर्मचारी था जबकि आरोपी विशाल नगर निगम में कूड़ा बीनने वाली गाड़ी में काम करता है।

यह भी पढ़ें : पंजाब के पूर्व मंत्री के फार्म हाउस पर हत्या

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 18 मार्च 2021। पंजाब के पूर्व मंत्री राणा गुरजीत सिंह के फार्म हाउस पर काम करने वाले ड्राइवर ने साथी ड्राइवर की हत्या कर दी है। पुलिस ने आरोपी को हत्या में प्रयुक्त डंडे के साथ गिरफ्तार कर लिया है, और उसके खिलाफ हत्या की धारा में मामला दर्ज कर लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं कपूरथला के कांग्रेस विधायक राणा गुरजीत सिंह का बाजपुर के ग्राम विक्रमपुर में फार्म हाउस है। फार्म में बने आवासों में ही ड्राइवर रफीक एवं विकी भी रहते हैं। जानकारी के अनुसार बीती देर रात रफीक एवं विकी खाना खा रहे थे। इसी दौरान दोनों में किसी बात को लेकर बहस और फिर मारपीट होने लगी। आरोप है कि इसी बीच विकी ने रफीक के सिर पर गुस्से में डंडा मार दिया। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को पहले सीएचसी फिर वहां से हायर सेंटर भेजा गया। इधर गुरुवार सुबह रफीक ने हल्द्वानी के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया। घटना की सूचना पर एएसपी काशीपुर प्रमोद कुमार, सीओ दीपशिखा अग्रवाल, कोतवाल संजय पांडे मौके पर पहुंचे और आरोपी से पूछताछ के बाद उसे हिरासत में ले लिया। वहीं बन्नाखेड़ा चौकी पुलिस ने आरोपी विकी के खिलाफ हत्या के मामले में मुकदमा दर्ज कर विकी को न्यायालय के समक्ष पेश किया। यहां से उसे जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में हॉरर-ऑनर किलिंग ! वीभत्स तरीके से कटे मिले अलग धर्मों के प्रेमी युगल के शव..

नवीन समाचार, झबरेड़ा-हरिद्वार, 12 फरवरी 2021। उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में मोलना गांव से दूसरे धर्म के युवक-युवती का प्रेम शायद किसी के सम्मान (Honour) पर भारी पड़ा, फलस्वरूप दोनों की वीभत्स (Horor) तरीके से हत्या कर दी गई है। यहां गत दिनों से लापता युवक-युवती की जघन्य तरीके से हत्या कर शव को गन्ने के खेत में फेंक दिया गया। दोनों के शव क्षत-विक्षप्त अवस्था मे बरामद हुए है। हत्यारों ने धारधार हथियार से दोनों के शरीर के कई अंगों को काट दिया। युवती शादीशुदा थी, दोनों अलग समुदाय से हैं। पुलिस इसे हॉरर एवं ऑनर किलिंग मान रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मोलना गांव निवासी सबाना (24) पुत्री सत्तार का निकाह सात माह पूर्व यूपी के मुजफ्फरनगर के बसेड़ा गांव में हुआ था। कुछ दिन पहले वह अपने मायके आयी थी। उसके बाद 24 जनवरी को वह लापता हो गयी। उसी दिन गांव का ही अंकित त्यागी (22) पुत्र बिरम त्यागी भी लापता हो गया। दोनों के बीच प्रेम-प्रसंग की बात भी सामने आयी है। दोनों पक्षों के लोगों ने अलग-अलग गुमशुदगी दर्ज कराई थी। युवती और युवक की तलाश उस समय तेज हुई जब बीती शाम गांव के पास खेल रहे कुछ बच्चों ने कुत्तों द्वारा घसीट कर लाया गया इंसानी पैर देखकर गांव वालों और पुलिस को जानकारी दी। रात में ही पुलिस ने युवक व युवती के परिजनों से जानकारी जुटाई। सत्तार कटे पैर को अपनी पुत्री का बता रहा था। वहीं गन्ने के खेत में एक चांदी की पायल भी बरामद हुई थी। पुलिस डीएनए टेस्ट कराने की तैयारी कर रही थी। सुबह थानाध्यक्ष रविंद्र कुमार झबरेड़ा पुलिस टीम के साथ मोलना पहुंच गये तथा एक बार फिर गन्ने के खेतों में पुलिस टीम कटी टांग को लेकर जानकारी जुटाने लगी। दोपहर में गन्ने के खेत में पुलिस को क्षत-विक्षप्त हालत में युवक व युवती के शव आसपास पड़े मिले। शवों को बुरी तरह से काटा गया था। कुछ अंग अलग पड़े थे। जंगली जानवरों ने भी उन्हें नोंचा था। देहरादून से डॉग स्क्वायड की टीम भी बुलाई गई। एसपी देहात प्रविंद्र डोभाल का कहना है कि दोनों की हत्या की गई है। कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। कहा कि यह मामला हॉरर किलिंग से जुड़ा हुआ है। जल्द ही मामले का खुलासा कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : बड़े भाई ने छोटे को चाकू से वार कर मार डाला

नवीन समाचार, हरिद्वार, 09 फरवरी 2021। जनपद के रुड़की के कलियर थाना क्षेत्र में शराब के नशे में धुत एक व्यक्ति द्वारा मामूली बात पर अपने छोटे भाई को चाकू से वार कर मौत के घाट उतारने की सनसनीखेज घटना हुई है। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बताया गया है कि झगड़े के समय आरोपी शराब के नशे में धुत था।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार यहां रुड़की के कलियर थाना क्षेत्र के हकीमपुर तुर्रा गांव में दो भाई 48 वर्षीय सुक्कड़ और 40 वर्षीय धर्मपाल एक ही घर में रहते हैं। सुक्कड़ की पत्नी का कुछ वर्ष पहले देहांत हो गया था तब से वह अपने छोटे भाई के घर में ही खाना खाता था। बताया जा रहा है कि सोमवार देर रात जब सुक्कड़ घर में आया तो शराब के नशे में धुत था। उसने धर्मपाल की पत्नी से खाना मांगा तो किसी बात को लेकर दोनों में कहासुनी हो गई और उस ने धर्मपाल की पत्नी के साथ मारपीट कर दी। शोर शराबा सुनकर जब धर्मपाल मौके पर पहुंचा तो उसने बीच बचाव किया। बीचबचाव के दौरान सुक्कड़ ने धर्मपाल पर चाकू से हमला कर दिया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
घटना की जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया, और आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। थानाध्यक्ष जगमोहन रमोला के मुताबिक मामले में अभियोग पंजीकृत कर तफ्तीश की जा रही है।

यह भी पढ़ें : बेहद भयावह: पति ने पत्नी को कुल्हाड़ी से काट डाला…

नवीन समाचार, हरिद्वार, 01 फरवरी 2021। हरिद्वार के पथरी थाना क्षेत्र के दुर्गागढ़ गांव में सोमवार को एक पति द्वारा अपनी पत्नी की कुल्हाड़ी से काट कर निर्मम तरीके से हत्या करने की घटना से सनसनी फैल गई। प्राप्त जानकारी के अनुसर गांव के जग्गू उर्फ जगपाल नाम के युवक ने अपनी पत्नी ममता की हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया। बताया गया है कि उसकी पत्नी उसकी नशे की बुरी आदत से परेशान थी और अक्सर उसे टोकती रहती थी। इस पर अक्सर दोनों में झगड़ा होता रहता था। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया, और मृतका के फरार पति की तलाश में जुट गई है।
पुलिस ने बताया कि ममता की शादी गांव के ही जगपाल से हुई थी। दोनों के 4 बच्चे भी हैं। पिछले कुछ दिनों से दोनों के मध्य विवाद चल रहा था। विवाद का कारण जगपाल का नशे की लत थी। ममता नशा करने से मना करती थी लेकिन जगपाल नहीं मानता था इस कारण दोनों में विवाद रहता था। कोतवाली प्रभारी अमर चंद ने इस मामले में बताया कि गांव में पति और पत्नी के बीच विवाद हो गया था। गुस्से में जगपाल ने ममता को पीटना शुरू कर दिया। इसी बीच उसने कुल्हाड़ी उठाई और ममता पर कई वार किए जिससे ममता की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं इस मामले में मृतका के पिता का भी कहना है कि दोनों पति-पत्नी के बीच पहले से ही विवाद चल रहा था। पूर्व में वह अपनी ससुराल छोड़ मायके रहने के लिए आ गई थी। लेकिन जिम्मेदार लोगों द्वारा उसे वापस ससुराल लाया गया था। उसके पति ने उसे पूर्व में कुल्हाड़ी से काटने की धमकी दी थी और आज उसने अपनी पत्नी को काट ही डाला। इसकी उन्हें उम्मीद नहीं थी। लिहाजा उन्होंने पुलिस से न्याय की मांग की है।

यह भी पढ़ें : शार्प शूटरों ने प्रॉपर्टी डीलर को गोली मारी, हुई मौत, पुलिस पर कर चुका था चाकू से हमला…

नवीन समाचार, देहरादून, 28 जनवरी 2021। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के नेहरू कालोनी क्षेत्र के अजबपुर में देर रात्रि प्रॉपर्टी डीलर की गोली माारकर हत्या कर दी गई। बेखौफ हत्यारे वारदात के बाद फरार हो गए। नेहरू कालोनी पुलिस ने शव को कब्जे में लिया है। पुलिस संदिग्धों से पूछताछ कर रही है। नेहरू कालोनी थाना प्रभारी राकेश गुसाईं ने बताया कि राजू बॉक्सर (45) निवासी नेशविला रोड अपने चार साथियों के साथ अजबपुर चौक स्थित प्लॉट में बैठा था। रात करीब सवा दस बजे स्कूटर सवार दो युवक वहां पहुंचे। इसी दौरान दोनों युवकों ने राजू बॉक्सर पर गोली चला दी। एक गोली उसके सिर पर, जबकि दूसरी गोली छाती पर लगी है। इसकी सूचना 112 कंट्रोल रूम को दी गई, जिस पर एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत, एसपी सिटी सरिता डोबाल, सीओ पल्लवी त्यागी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने घायल को अस्पताल भिजवाया,जहां चिकित्सकों ने राजू बॉक्सर को मृत घोषित कर दिया। थाना प्रभारी ने बताया कि मामला आपसी रंजिश, लेनदेन से जुड़ा हो सकता है। मामले की जांच सीसीटीवी कैमरे की जांच की जा रही है। जल्द ही मामले का खुलासा होगा।
बताया गया है कि प्रॉपर्टी डीलर को गेट पर बुलाने के बाद स्कूटर सवार युवकों ने बाहर बुलाकर गोली मारी। इससे पुलिस मानकर चल रही है कि शार्प शूटरों ने वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से अपराधियों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। देर रात स्कूटर सवार दो युवकों ने वारदात को अंजाम दिया है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस को लीड नहीं मिल सकी थी।
यह भी बताया जा रहा है कि मृतक राजू बॉक्सर दून पुलिस पर हमला कर चुका है। कुछ सालों पहले नेशविला रोड पर पुलिस टीम जांच को पहुंची थी। इस दौरान राजू बॉक्सर ने चीता पुलिस पर चाकू से हमला किया था, जिसमें पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। 

यह भी पढ़ें : संपत्ति के लिए इकलौते बेटे ने हार्ट-अटैक बताकर कर दिया मां का खून…!

नवीन समाचार, देहरादून, 26 जनवरी 2021। संपत्ति से कहीं बड़ी जीवन मे सुकून और शांति होती है। लेकिन कुछ लोग संपत्ति के लिए इस कदर नीचे जाते हैं कि इसके लिए किसी का गला दबाने से भी नहीं कांपते। देहरादून के डालनवाला कोतवाली क्षेत्र में सोमवार को सगे व इकलौते बेटे-बहु ने अपनी 62 वर्षीय माँ की गला दबाकर हत्या कर दी और मौत को हार्ट अटैक से होना बताया।लेकिन शाम होते-होते कहानी पलट गई। एक रिश्‍तेदार ने वृद्धा की मौत के कारण पर संदेह जताया तो पुलिस ने शव का पोस्‍टमार्टम कराया। तब मौत का रहस्‍य खुला। पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि वृद्धा की मौत हार्ट अर्टक से नहीं, बल्कि दम घुटने से हुई है। उनका गला दबाया गया था। इसके बाद पुलिस ने मृतका के बेटे-बहू को हिरासत में ले लिया। दोनों ने पूछताछ में स्वीकार कर लिया कि माँ संपत्ति पर हक जताते हुए परेशान करती थी। इसलिए हत्या कर दी।
डालनवाला कोतवाली के इंस्‍पेक्‍टर मणिभूषण श्रीवास्‍तव ने बताया कि सोमवार सुबह करीब 10 बजे उन्‍हें वाराणसी (उत्‍तर प्रदेश) के रहने वाले नवरत्‍न नाम के एक व्‍यक्ति का फोन आया कि देहरादून में उसकी सास सरोज देवी अपने बेटे और बहू के साथ डीएल रोड स्थित अंबेडकर कॉलोनी में रहती हैं। उसे मौत पर संदेह है। इस सूचना पर जब पुलिस घर पहुंची तो वहां सरोज देवी के बेटे-बहू उनके शव का अंतिम संस्‍कार करने की तैयारी में जुटे थे। पुलिस की एक टीम ने दोनों से सरोज देवी की मौत के संबंध में पूछताछ की तो उन्‍होंने बताया कि सुबह हार्ट अटैक पड़ा था, जिसके कुछ देर बाद उन्‍होंने दम तोड़ दिया। रिश्‍तेदारों और पड़ोसियों को भी यही बताया गया था, लेकिन दंपति की बातों पर संदेह होने के चलते पुलिस ने शव को कब्‍जे में ले लिया और पोस्‍टमार्टम के लिए कोरोनेशन अस्‍पताल ले गई। अब पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि सरोज की मृत्‍यु गला दबाने से हुई है। बाद में उन्होंने हत्या करना भी स्वीकार कर लिया। इंस्‍पेक्‍टर ने बताया कि अभी कोई तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल मृतकों के बेटे-बहू से और पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ें : लड़की को वश में करने के लिए तंत्र-मंत्र के चक्कर में पड़े, 12 बीघे जमीन भी बेच दी, बात न बनी तो कर दी तांत्रिक की हत्या

नवीन समाचार, रुड़की, 19 जनवरी 2021। तंत्र-मंत्र के फेर में पड़ने पर लोगों की जिंदगी खराब हो जाती है। वहीं रुड़की में एक ऐसा मामला प्रकाश में आया है, जहां दो युवक ने अपनी पसंद की लड़की को फंसाने के लिए तंत्र-मंत्र के चक्कर में पड़कर एक सप्ताह तक लड़की के रास्ते में तांत्रिक की दी हुई मिट्टी बिखेरी, अपनी 12 बीघे जमीन बेच दी। फिर भी लड़की वश में नहीं आई। उल्टे उनसे और अधिक नफरत करने लग गई। युवकों को जब अपने किए पर पछतावा हुआ और उन्हें लगा कि तांत्रिक ने उल्टे उन्हें बर्बाद करने के लिए तंत्र-मंत्र किया हुआ है और उसकी मौत के बाद ही उनके ऊपर से तंत्र-मंत्र का साया दूर हो सकता है, तो उन्होंने तांत्रिक की गोली मारकर हत्या कर दी।
उल्लेखनीय है कि गत दिवस दो युवकों ने नमाज पढ़कर लौट रहे एक वृद्ध को गोली मारी थी, जिसकी सोमवार की रात एम्स ऋषिकेश में इलाज के दौरान मौत हो गई। मंगलवार को गंगनहर कोतवाली में एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने रामपुर गांव निवासी इरफान (70) को शनिवार की रात गोली मारने की घटना का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि पकड़े गए राहुल निवासी हरचंदपुर माजरा हरिद्वार और विशाल सिंह निवासी इकबालपुर हरिद्वार ने बताया कि इरफान से उनकी दो साल पहले मुलाकात हुई थी। दोनों ने इरफान को पैसे देकर लड़कियों को वश में करने के टोटके कराए। इरफान ने उन्हें अपनी प्रिय लड़कियों का वशीकरण करने के लिए मिट्टी और ताबीज दिए थे। कहा था कि लड़कियां जिस रास्ते से जाती है, उस रास्ते में यह मिट्टी एक सप्ताह तक फेंकनी है। इससे लड़कियां पूरी तरह से उनके वश में आ जाएंगी। लेकिन लड़कियां तो वश में नहीं आईं, उल्टे उनसे नफरत करने लगीं। यहां तक कि राहुल ने दो साल तक तंत्र-मंत्र के चक्कर में पड़ने के बाद अपनी 12 बीघा जमीन भी बेच डाली, जबकि विशाल ने अपनी गांव की दुकान का पैसा तंत्र-मंत्र के चक्कर में बर्बाद कर दिया। इस पर उन्हें शक हुआ कि इरफान ने किसी ओर के कहने से उन दोनों के ऊपर तंत्र-मंत्र कर दिया है। उसका उल्टा असर होने लगा है। इस बीच राहुल के पिता की 25 दिसंबर को मौत हो गई। राहुल के अनुसार उसके पिता ने मौत से पहले बताया था कि उसे इरफान खींच रहा है, इसके बाद दोनों का शक और गहरा गया था कि इरफान उन्हें बरबाद कर रहा है। इसके बाद दोनों इरफान के पास पहुंचे और अपने ऊपर हो रहे तंत्र-मंत्र के असर को हटाने की बात कही। इरफान ने उनके साथ गाली गलौज कर दी। यहां तक कि विशाल को लात मारकर भगा दिया। इस बीच दोनों ने योजना बनाई कि इरफान की मौत के बाद ही उनके ऊपर से तंत्र-मंत्र का असर हट सकता है, इसलिए उसकी हत्या करना जरूरी है। इस पर उन्होंने राहुल की मौसी के लड़के गौरव निवासी ग्राम जड़ौदा जट्ट, थाना देवबंद और आकाश कुमार निवासी ग्राम सुन्हेटी आल्हापुर, झबरेड़ा के साथ इरफान की हत्या कर दी। उनके पास से घटना में प्रयुक्त दो बाइकें, एक तमंचा, दो जिंदा कारतूस और एक खोखा बरामद किया है। पुलिस ने चारों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें : उफ ! पिता-पुत्र ने बेटी की विदाई के लिए पैरों से कमजोर पिता को लात-घूंसों से मार डाला…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 17 जनवरी 2021। रविवार को हल्द्वानी कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत बरेली रोड पर गोरा पड़ाव के पास हैड़ागज्जर गांव में एक अधेड़ रोशन लाल की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप मृतक के दामाद और दामाद गोपाल सक्सेना व उसके पिता यानी समधी ननद राम पर लगा है। बताया गया है कि दोनों पिता-पुत्र मृतक की पुत्री यानी अपनी बहु को मायके से ले जाने के लिए आये थे। लेकिन इस बीच उनमें विवाद हो गया और आपस मंे गुत्थमगुत्था हो गये। आरोप है कि इस दौरान पिता-पुत्र ने बहु के पिता, जो कि पैरों से कमजोर था व लाठी के सहारे चलता था, को लात-घूंसे मारे। इस पर रोशन लाल बेहोश होकर जमीन पर गिर पड़ा। उसे बेस अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही मृतक की पत्नी मीना की तहरीर पर गोपाल व उसके पिता के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। बाद में दोनों को न्यायालय में पेश किया गया और न्यायालय के आदेश पर बेटे गोपाल सक्सेना को जेल भेज दिया। जबकि उसकी बहन भी मामले में वांछित है। साथ ही शव को पोस्टर्माटम के लिए भेज दिया है। हत्याकांड से क्षेत्र में सनसनी फैली हुई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार 45 वर्षीय मृतक रोशन लाल मूल रूप से पीलीभीत के फुलैया गांव का निवासी था और पिछले 20 साल से हैड़ागज्जर क्षेत्र में बंटाइदार के रूप में कार्य करता था। इधर 25 नवंबर 2020 को रोशन ने अपनी बेटी आरती का विवाह पास में रहने वाले गोपाल सक्सेना पुत्र ननद राम के साथ किया था। बेटी के ससुराल पहुंचते ही उसे दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा। इससे तंग आकर गत 13 जनवरी को आरती अपने मायके वापस आ गई। इसके बाद से ही ससुराली उस पर वापस लौटने का दबाव बना रहे थे। मगर मायके पक्ष के लोग तैयार नहीं हुए। इस पर शनिवार रात गोपाल अपने पिता को लेकर अपनी ससुराल पहुंच गया और आरती को साथ चलने को कहने लगा। आरती के मना करने पर दोनों पक्षों में विवाद और बाद में रोशन व उसके बेटे रोहित तथा गोपाल व ननद राम गुत्थम-गुत्था हो गए। इससे गुस्साये बाप-बेटों ने रोशन के पेट पर जमकर लात मारी। इस पर रोशन लाल अचेत होकर जमीन पर गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई। वहीं डायल 112 पर मिली सूचना पर पहुंचे कोतवाल संजय कुमार व चौकी प्रभारी दिनेश जोशी तथा एसएसआइ मंगल सिंह ने कानूनी कार्रवाई पूरी करवाई की।

यह भी पढ़ें : उफ पहाड़ पर ऐसी वारदात ! नामकरण संस्कार के दौरान युवक की लाठी-डंडों से पीट-पीटकर कर दी गई हत्या

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 08 जनवरी 2021। जनपद के भारत नेपाल सीमा से लगे सुनखोली नाम के गांव में बीती रात्रि एक युवक की लाठी-डंडों से पीट-पीटकर हत्या करने का मामला प्रकाश में आया है। जनपद की अस्कोट थाना पुलिस ने मृतक के परिजनों की रिपोर्ट पर क्षेत्र के ही तीन युवकों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और आरोपितों की तलाश शुरू कर दी गई है। अलबत्ता हत्यारे अभी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।
अस्कोट थाना प्रभारी पीआर आगरी के हवाले से आए समाचार के अनुसार विवाद बीती रोज सुनखोली गांव में तेज सिंह कठायत के घर पर नामकरण संस्कार से शुरू हुआ। इस आयोजन में गांव का ही गगन सिंह अपने परिजनों के साथ शामिल हुआ था। रात्रि 11 बजे क्षेत्र के सोबन सिंह ऐरी, हरीश सिंह कठायत और चंचल सिंह कठायत गगन को अपने साथ बुलाकर गांव से आधा किलोमीटर दूर मशानी मंदिर के पास ले गए और लाठी-डंडों से उसकी पिटाई कर दी। गगन की मां को इसका पता लगा गया तो वह अपनी बहू को साथ लेकर मौके पर पहुंची। उनके हल्ला मचाने पर हमलावर भाग गए। घायलावस्था में पड़े गगन को गांव के ही एक व्यक्ति के गोठ में रखा गया। गगन के भाई जगत सिंह ने डौड़ा अस्पताल से चिकित्सक को बुलाया। चिकित्सक ने गगन की हालत देखते हुए उसे तत्काल जिला चिकित्सालय ले जाने की सलाह दी। परिजन रात में ही गगन को लेकर जिला मुख्यालय पहुंचे। चिकित्सालय पहुंचने पर चिकित्सकों ने गगन को मृत घोषित कर दिया। इधर शुक्रवार को मृतक के भाई ने अस्कोट थाने में तीनों युवकों- सोबन सिंह ऐरी, हरीश सिंह कठायत और चंचल सिंह कठायत के खिलाफ सोची समझी साजिश के तहत गगन की हत्या करने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी। इस पर पुलिस ने धारा 302 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया है।

यह भी पढ़ें : अवैध संबंध बनाते देखने पर भांजी ने प्रेमी से करा दी बुजुर्ग मामी की हत्या

नवीन समाचार हरिद्वार 03 जनवरी 2020। अवैध संबंधों का अंजाम हमेशा ही बुरा होता है। हरिद्वार की मंगलौर कोतवाली पुलिस ने कोतवाली क्षेत्रांतर्गत हुए बुजुर्ग महिला की हत्या का सनसनीखेज खुलासा कर दिया है। इस हत्याकांड में महिला की भांजी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक बीती 29 अक्टूबर को मंगलौर कोतवाली क्षेत्रांतर्गत एक बुजुर्ग महिला की हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड का एसपी देहात स्वप्न किशोर ने खुलासा करते हुए बताया कि बुजुर्ग महिला रिहाना ने अपनी इसराना और उसके प्रेमी अशरफ को अवैध संबंध बनाते हुए पकड़ लिया था। इसके बाद से इसराना और अशरफ डरे हुए थे। उन्होंने रिहाना की हत्या करने की योजना बनाई। एक दिन लक्सर से टांडा बनेड़ा आते समय बुजुर्ग महिला रास्ते में रुकी। इस दौरान इसराना ने अपने प्रेमी अशरफ को उसके बारे में बता दिया। इस पर प्रेमी अशरफ बुजुर्ग रिहाना को रास्ते में बाइक से घर छोड़ने की बात कह बाइक पर बैठाकर जंगल में ले गया और वहां उसके सिर में डंडे से प्रहार कर दिया और फिर उसका गला घोटकर मार दिया। पुलिस ने बताया कि अभियुक्त अशरफ उत्तर प्रदेश का निवासी है, लेकिन इधर लक्सर में रह रहा है। इसी दौरान उसके संपर्क में इशराना आ गई और उनके बीच अवैध संबंध बन गए। एक दिन उनके रंगे हाथों पकड़े जाने के बाद उन्होंने बुजुर्ग महिला की हत्या कर दी।

यह भी पढ़ें : दोस्त की पत्नी से थे अवैध संबंध, दोस्त ने कर दी हत्या, शव गन्ने के खेत में छुपाया

नवीन समाचार, किच्छा, 28 दिसम्बर 2020। अवैध संबंधों का अंजाम हमेशा ही बुरा होता है। दो दिन पूर्व, 26 दिसंबर को गायब हुए टुकटुक चालक की हत्या का खुलासा हो गया है। पुलिस के अनुसार उसका हत्यारोपी उसका ही दोस्त निकला है। पुलिस के अनुसार हत्यारोपी ने खुद ही स्वीकार कर लिया है कि उसने क्यों टुकटुक चालक मुरारी लाल (21) पुत्र स्व. राजा राम निवासी वीर शिवा स्कूल के पास, सिरौलीकला, थाना पुलभट्टा की हत्या की। पुलिस ने टुकटुक चालक मुरारी लाल की हत्या का खुलासा करते हुए आरोपियो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस ने दोनों की निशानदेही पर चौकी चुरेली डेम बहेड़ी बरेली पहुच दिनपुर जाने वाले मार्ग पर गन्ने के खेत से बरामद कर लिया।
अवैध संबंध मामले में टुकटुक चालक की हत्या कर शव बहेड़ी में फेंकामामले का खुलासा करते हुए एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने पकड़े गए आरोपित धर्मेंद्र कुमार पुत्र लालाराम निवासी ग्राम दीननगर दमखोड़ा थाना बहेड़ी बरेली के हवाले से बताया कि मुरारी लाल व वह दोस्त थे व टुकटुक चलाते थे। आरोपित को शक था कि जब वह घर से बाहर जाता है तो मुरारी लाल उसके घर उसकी पत्नी के पास चला जाता है। इसकी पुष्टि होने पर आरोपित घटना के दिन अपनी जीजा बंटी पुत्र सुखलाल निवासी खाते कमाल पुर थाना देवरनिया बरेली के साथ योजना बनाकर मुरारी लाल को धान लेने के बहाने रिच्छा-बहेड़ी यूपी ले गये। वहाँ दोनों ने उसे शराब पिलाई। इस बीच मुरारी लाल आरोपित की पत्नी को फोन कर गंदी-गंदी बाते करने लगा। इस पर उनका झगडा हो गया। इस पर आरोपित ने टुक टुक से रस्सी निकाल कर उसका गला दबा कर मार दिया और शव को मफलर व रस्सियों से बांधकर एक बोरे मे बंद कर गन्ने के खेत मे खड़ा गन्ना और पत्तियां डाल कर छिपा दिया। मामले का खुलासा करने वाली पुलिस टीम में पुलभट्टा थानाध्यक्ष विनोद जोशी, एसआई बसंत पंत, कीर्ति भट्ट, दिनेश भट्ट, आरक्षी नीरज बिष्ट, ललित चौधरी तथा नरेश चौहान शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : भारी पड़ी दोस्ती, रात्रि में बर्थडे मनाने गए युवक का सुबह अर्धनग्न अवस्था में मिला शव, नैनीताल पुलिस को मिली दोहरी चुनौती..

नवीन समाचार, रामनगर-नैनीताल, 24 दिसम्बर 2020। बदलते दौर के साथ दोस्तों के साथ पार्टी करना, घर से दूर कहीं घूमने जाना कई बार जानलेवा साबित हो रहा है। बृहस्पतिवार रात्रि दोस्तों के साथ रात्रि में बर्थ-डे की पार्टी में शामिल हुए एक युवक का शव शुक्रवार सुबह अर्धनग्न अवस्था में मिला है। इस तरह काठगोदाम के बाद जनपद के रामनगर में एक और युवक की हत्या से नैनीताल पुलिस को दोहरी चुनौती मिल गई है। हालांकि इस मामले में पुलिस हत्यारों के अधिक करीब है। यहां पुलिस ने पार्टी में शामिल मृतक के चार दोस्तों को पकड़ लिया है। संभावना है कि उनमें से ही किसी ने हत्या की है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह लोगों ने रामनगर के पास छोई में स्थित समसारा रिजॉर्ट से करीब 50 मीटर दूरएक युवक का शव अर्धनग्न अवस्था में देखा तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव को रामनगर के संयुक्त चिकित्सालय पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक की पहचान निकटवर्ती कंचनपुर गांव निवासी 25 वर्षीय इंदर जोशी पुत्र पीतांबर जोशी के रूप में हुई। रात्रि में वह समसारा रिजॉर्ट में हुई एक बर्थडे पार्टी में दोस्तों के साथ शामिल होने गया था लेकिन घर नहीं लौटा। युवक के भाई नवीन जोशी ने अपने भाई की हत्या का आरोप पार्टी में शामिल हुए उसके दोस्तों पर लगाया है। इस पर पुलिस ने उसके दोस्तों को हिरासत में ले लिया है। मृतक के पीठ व कमर में चोट के निशान बताए गए हैं।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी: रविवार सुबह सोते हुए हुई 65 वर्षीय महिला की गला रेतकर हत्या, खुलासा इससे भी अधिक सनसनीखेज…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 20 दिसम्बर 2020। महानगर के टीपीनगर चौकी पुलिस क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले निकटवर्ती गांव करायल जौलासाल में रविवार सुबह तड़के 65 वर्षीय बुजुर्ग महिला की सोते हुए चाकू से गला रेतकर हत्या करने का मामला प्रकाश में आया है। मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है कि मृतका की हत्या उसके छोटे बेटे ने ही संपत्ति के विवाद को लेकर की है। पुलिस ने उसे हिरासत में ले दिया है। मौके से हत्या में प्रयुक्त चाकू भी बरामद कर लिया गया है।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक भारतीय सेना से सेवानिवृत्त कैप्टन राजेन्द्र सिंह साही सेवानिवृत्ति के बाद करायल जौलासाल में घर बनाकर रहते हैं और सेवानिवृत्त होने के बावजूद कि गुजरात व दिल्ली में बतौर सिक्युरिटी गार्ड में नौकरी करते थे। इधर लॉकडाउन में वह बड़े बेटे के साथ घर लौट आए थे। इधर शनिवार शाम किसी रिश्तेदार के घर गए थे। घर पर पत्नी हीरा देवी व दो बेटे थे। इधर रविवार सुबह आठ बजे के करीब उनकी छोटी बेटी अंजली ने पिता को फोन कर बताया कि मां को किसी ने मार दिया है। आनन-फानन में घर पहुँचे राजेंद्र ने देखा कि पत्नी बिस्तर पर मृत पड़ी है और उसका गला चाकू से रेता गया था। सूचना पर पुलिस अफसर व फोर्स भी मौके पर पहुँचे। घर पर मौजूद फौज से सेवानिवृत्त बड़े बेटे रवींद्र ने बताया कि वह मॉर्निंग वॉक पर गए थे, लौटने पर मां की हत्या का पता चला। इस पर छोटे बेटे राहुल से पूछताछ की तो उसने काफी देर पुलिस को उलझाने के बाद संपत्ति के विवाद में सोते हुए मां की हत्या करने की बात स्वीकार ली। इस बीच पुलिस ने शव को एम्बुलेंस से मोर्चरी में भिजवाया और फोरेंसिक टीम ने मौके से चाकू व अन्य साक्ष्य जुटाए। बताया गया है कि राजेन्द्र सिंह के पास सड़क से लगती हुई करीब दो बीघा जमीन है, जिसकी वजह से वृऋा की हत्या की गई है।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: रविवार शाम चाय बनाकर न देने पर छोटे भाई ने बड़े भाई की हत्या कर दी

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 06 दिसम्बर 2020। उत्तराखंड पिथौरागढ़ जिले में नेपाल सीमा से लगे एक गांव में रविवार शाम एक छोटे भाई द्वारा अपने सगे बड़े भाई की छोटी की बात पर दराती से गला काटकर हत्या करने की घटना हुई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पिथौरागढ़ जिले के तहसील कनालीछीना के अस्कोट थाने के अंतर्गत आने वाली नेपाल से लगी सीमा के पीपली न्याय पंचायत के द्यौगड़ा ग्राम पंचाचत के तोक धामी गांव की में छोटे भाई ने चाय नहीं देने पर अपने बड़े भाई की दराती से गला काट कर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद निकट के गांव की दुकान में गए पिता के पास जाकर बड़े भाई की हत्या करने की बात खुद ही बताई। पिता को आरोपित ने सूचना भी खुद दी।
बताया गया है कि गांव में बिशन सिंह और उसके दो लड़के गोपाल सिंह और चंद्र सिंह का परिवार रहता रविवार शाम बिशन सिंह निकट के मदी गांव स्थित दुकान में घर का सामान खरीदने गया था। इस दौरान बड़े भाई गोपाल सिंह ने अपने लिए चाय बनाई, पर छोटे भाई चंद्र सिंह को चाय नहीं दी। अपने को चाय नहीं दिए जाने से 28 वर्षीय छोटा भाई चंद्र सिंह इतना आक्रोशित हो गया कि उसने घर में ही घास काटने वाली दराती से अपने 32 वर्षीय बड़े भाई गोपाल सिंह के गले में वार कर दिया। गले में किए गए एक ही वार में गोपाल सिंह की मौत हो गई। बड़े भाई की हत्या करने के बाद हत्यारोपी सीधे अपने पिता बिशन सिंह के पास गया और बड़े भाई द्वारा चाय नहीं दिए जाने पर उसकी हत्या करने की बात बताई। एक पुत्र द्वारा अपने ही दूसरे पुत्र की हत्या करने से बिशन सिंह घर की तरफ दौड़ा। तब तक ग्रामीणों को भी घटना का पता चल गया। ग्रामीणों ने हत्यारोपी छोटे भाई को दबोच लिया। यह क्षेत्र आता है परंतु सूचना मिलने पर पटवारी शंकर कापड़ी भी मौके पर पहुंचे और अस्कोट पुलिस को इसकी सूचना दी गई। सूचना मिलने पर लगभग 25 किमी दूर अस्कोट थाने से पुलिस देर सायं मौके पर पहुंची और हत्यारोपी युवक को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। आगे की कार्यवाही चल रही है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड का बड़ा घोटाला उजागर करने वाले एक्टिविस्ट की अपनी ही पिस्टल से नाबालिग लड़की द्वारा चलाई गोली लगने से मौत

नवीन समाचार, देहरादून, 05 दिसम्बर 2020। उत्तराखंड के बहुचर्चित छात्रवृति घोटाले को उठाने वाले दलित एक्टिविस्ट पंकज लांबा की बीती रात्रि गोली लगने से मौत हो गई। खास बात यह भी है कि गोली लगने का आरोप एक नाबालिग लड़की पर लगा है, जो पंकज के घर में किराये में रहती थी। और जिस पिस्टल से गोली लगी है, वह पंकज की अपनी पिस्टल थी। गोली लगने के बाद पंकज को तुरंत अस्पताल ले जाया गया तो वहां डॉक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया।
PANKAJ LAMBA (@PANKAJL68138868) | Twitterप्राप्त जानकारी के अनुसार पंकज बीती रात्रि देहरादून की टिहरी झील के विस्थापितों की कॉलोनी में पार्टी कर रहे थे। पार्टी में उनके घर किराये में रहने वाली दो नाबालिग बहनें भी शामिल थी। बताया जा रहा है कि पंकज ने इनमें से एक लडकी को अपनी पिस्टल पकड़ा दी थी। नाबालिग लड़की ने गलती से गोली चला दी जो पंकज की गर्दन में जा लगी। हालांकि यह भी बताया जा रहा है कि पिस्टल खाली की गई थी परंतु पिस्टल के एक चैम्बर में एक गोली फंसी रह गई थी। लड़की को इसका पता नहीं था। उसने खेल-खेल में पिस्टल का ट्रिगर दबाया था, परंतु गोली चल गई। हालांकि सही बात व गोली चलने-लगने का कारण पुलिस की जांच के बाद ही साफ होगा। पुलिस मामले की जांच में जुट भी गई है। बताया जा रहा है कि दोनों लड़कियों के पिता दिल्ली में रहते हैं। पिता की दो शादियां हैं। पिता की दूसरी शादी होने के बाद दोनों लड़कियां पंकज के को हरिद्वार स्थित घर में किराए पर रहती हैं। गौरतलब है कि पंकज लांबा की पहचान दलित एक्टिविस्ट के रूप में भी थी। उन्होंने उत्तराखंड में छात्रवृत्ति घोटाले का पर्दाफाश किया था। इस घोटाले के उजागर होने से राज्य के कई जाने-माने कॉलेजों के नाम पर फर्जी छात्रवृत्ति घोटाले में सामने आए थे।

यह भी पढ़ें : देवभूमि में दीपावली पर ऐसी घटना का खुलासा, आप कहेंगे देवभूमि-देवभूमि नहीं रही, जो काम फौजी के साथ देश के दुश्मन न कर पाए, गृहलक्ष्मी ने कर दिया…

नवीन समाचार, देहरादून, 14 नवंबर 2020। दीपावली-धनतेरस के दिन देवभूमि कहे जाने वाले उत्तराखंड की राजधानी से दिल को झकझोर देने वाली और यह सोचने पर विवश करने वाली खबर सामने आई है कि क्या यहां कुछ लोगों में देवत्व के कुछ भी अंश बचे हैं। यहां एक दो बच्चों की मां ने देश की सीमाओं की रक्षा के अपने कर्तव्य से घर आए और सप्ताह भर बाद लौटने जा रहे फौजी के साथ वह कर दिया जो उसके साथ देश के दुश्मन भी नहीं कर पाए थे। उसके घर की गृहलक्ष्मी ने दीपावली से चार दिन पहले खुद पति का गला चाकू से चीर डाला। ऐसा इसलिए कि फौजी पति के फौज में रहते वह यहां घर पर किसी अन्य के साथ मौज मना रही थी, और उसे पति का घर आकर अपने मनमौजी से अवैध संबंध बनाने में व्यवधान बनना रास नहीं आया। सो उसने अपने प्रेमी संग मिल कर फौजी पति को मौत के घाट उतार दिया, और पति की मौत को आत्महत्या दिखाने की कोशिश की। पुलिस ने शुक्रवार को दोनों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया।
हुआ यह कि बीते गुरुवार को राजधानी के कोतवाली क्षेत्र के हरबर्टपुर निवासी रीमा नेगी ने हरवर्टपुर पुलिस को सूचना दी कि उसके पति राकेश ने 11 नबम्बर की पिछली रात्रि दस से ग्यारह बजे हाथ और गले की नस काट कर आत्महत्या कर ली है। सूचना के आधार पर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में लेने के साथ ही पंचनामा व पोस्ट मार्टम की कार्रवाई पूरी करते ही मामले की जांच पड़ताल की। मृतक के गले पर चाकू के कई निशान होने के कारण आत्महत्या की गुत्थी पुलिस के गले नहीं उतर रही थी। जांच पड़ताल में पुलिस को पता चला कि रीमा का पति राकेश के साथ वैचारिक मतभेद चल रहे थे। एक वर्ष पूर्व रीमा विकासनगर में जिम में प्रैक्टिस करने के लिए आया करती थी। यहां पर उसकी मुलाकात जिम टेªनर शिवम मेहरा से हुई। दोनों के बीच प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। रीमा नेगी के नाम पर रजिस्ट्रड सिम को शिवम मेहरा चलाया करता था। इसी नम्बर से दोनों के बीच चेटिंग होती थी। अक्टूबर माह में उसका पति राकेश छुट्टी पर आया हुआ था, जिस कारण दोनों मिल-जुल नहीं पा रहे थे। इस पर रीमा ने शिवम के साथ मिलकर राकेश को मारने का षड़यंत्र रचा। 11 नबम्बर की रात्रि रीमा ने मोबाइल फोन पर मैसेज कर प्रेमी शिवम को घर बुलाया। घर के मेन गेट कर दरवाजा शिवम के आने के लिए जानबूझ कर खोला गया था। ताकि वह लॉबी से होते हुए किचन में जाकर छुप सके। साजिश के तहत रीमा ने पति के साथ लड़ाई-झगड़ा शुरू कर दिया और पति-पत्नी दोनों लड़ाई झगड़ा करते हुए लॉबी की ओर पहुंच गए। इसी दौरान किचन में छुपे शिवम मेहरा ने उसके पति को पीछे से पकड़ लिया। इसी दौरान रीमा ने अपने पति के गले पर चाकू से वार कर दिया, जिस कारण उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बाद में हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए मृतक की कलाई काटी गई और शव को लॉबी से बाथरूम तक लाया गया। बाद में फर्श पर पड़े खून को साफ किया गया। घटना के अगले दिन मामले की सूचना हरबर्टपुर पुलिस को दी गई। जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने मृतक फौजी की पत्नी रीमा व उसके प्रेमी शिवम मेहरा पुत्र सुनील कुमार निवासी गीता भवन रोड विकासनगर को गिरफ्तार कर शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से दोनों को भेज दिया गया। फौजी जम्मू-कश्मीर में तैनात था। 17 नवम्बर को उसकी छुट्टी समाप्त हो रही थी। उसके आठ वर्ष का एक बेटा व छह वर्ष की एक पुत्री है। पुलिस टीम में कोतवाल धीरेंद्र सिंह रावत, कोतवाल राजीव राथौण,एसएसआई रामनरेश शर्मा आदि शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : पति ने कुल्हाड़े से कर दी पत्नी की हत्या..

नवीन समाचार, रानीखेत, 2 नवम्बर 2020। अल्मोड़ा जनपद के रानीखेत के निकटवर्ती बिन्ता के ग्राम भतौरा में एक कलयुगी पत्नी ने अपनी पत्नी की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी है। घटना में बेटी को भी चोट आई हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार भतौरा गांव निवासी दया किशन जोशी ने पारिवारिक कलह में अपनी पत्नी बीना पर गुस्से में कुल्हाड़े से वार कर दिया, जिससे बीना की मौत हो गई। राजस्व पुलिस ने आरोपित हत्यारे पति को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए रानीखेत लाया गया है।

यह भी पढ़ें : कानून के राज पर सवाल, भाजपा समर्थित पार्षद की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या..

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 12 अक्टूबर 2020। रुद्रपुर में कानून के राज पर सवाल उठे हैं। यहां भाजपा समर्थित पार्षद प्रकाश सिंह धामी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई है। गाड़ी में आए बदमाशों ने पहले पार्षद को घर से बाहर बुलाया और गोली मार दी। उन्हें जिला चिकित्सालय लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रुद्रपुर के भदईपुरा से पार्षद प्रकाश सिंह धामी को आज सुबह कार सवार बदमाशों ने घर से बाहर बुलाकर गोली मार दी। धामी के सिर, गले और सीने में गोलियां लगीं। बताया जा रहा है कि पार्षद धामी ने अपने बचाव के लिए भागने की कोशिश भी की लेकिन बदमाशों ने पीछा कर गोली मारी। इस घटना की सूचना के बाद शहर भर के नेताओं का जिला अस्पताल में जमावड़ा लग गया है और राज्य में कानून के राज पर सवाल उठाए जा रहे हैं। इस संबंध में सीसीटीवी का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें चार हत्यारे कार से हथियार लेकर निकलते और कुछ ही सेकेंड में घटना को अंजाम देकर तेजी से कार से भागते नजर आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें : पहाड़ में ऐसी जघन्य वारदात: पोते ने कर दी ग्राम प्रधान की दुनाली बंदूक से गोली मारकर हत्या

नवीन समाचार, बेरीनाग, 20 सितंबर 2020। पिथौरागढ़ जनपद के विकासखंड बेरीनाग के बानड़ी ग्राम पंचायत माछीखेत में बीती रात्रि करीब साढ़े नौ बजे 52 वर्षीय ग्राम प्रधान पुष्कर सिंह डांगी पुत्र स्वर्गीय जगत सिंह की उन्हीं के बड़े भाई बड़े भाई राजेन्द्र सिंह की लाइसेंसी दोनाली बंदूक से गोली मार कर हत्या कर दी गई है। गोली मारने का आरोप गांव के ही रिश्ते में पोता लगने वाले 23 वर्षीय युवक नीरज सिह पुत्र भूपाल सिंह पर लगा है। हत्या करने के बाद आरोपित गांव के एक शौचालय में छुप गया। राजस्व पुलिस ने उसे यहीं से पकड़ लिया, और हत्या के कारणों व वारदात की परिस्थितियों की पड़ताल की जा रही है। वहीं घटना से गांव में सनसनी व दहशत का माहौल है। मृतक के शव को पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए पिथौरागढ़ भेज दिया गया है।
बेरीनाग के माछीखेत में ग्राम प्रघान की गोली मारकर हत्याघटना की जानकारी मिलते ही राजस्व टीम घटना स्थल पर पहुंच गयी है। घटना के बाद से गांव के लोगों में दहशत का माहौल है। मौके पर राजस्व निरीक्षक थल गोविन्द नाथ गोस्वामी, राजस्व निरीक्षक बेरीनाग पूरन गिरी गोस्वामी, राजस्व उप निरीक्षक आमथल पुष्कर राम सांगुड़ी, राजस्व उप निरीक्षक उप्राड़ा पाठक पवन चौहान, राजस्व उप निरीक्षक कोटगाड़ी संजीव दिवेदी आदि मौके पर पहुंच गए हैं।

यह भी पढ़ें : नव दंपत्ति की सरेराह गोली मारकर हत्या, भाई-पिता पर आरोप, हाल ही में प्रेम विवाह (निकाह) किया था…

नवीन समाचार, काशीपुर, 8 सितंबर 2020। काशीपुर में बीती सोमवार की देर शाम नवविवाहित जोड़े की सरेराह गोली मारकर हत्या कर दी गई है। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हत्या का आरोप लड़की के पिता और उसके भाई पर लगा है। दोनों घटना के बाद से फरार हो गए हैं। पुलिस के मुताबिक जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। मामला प्रेम विवाह से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार काशीपुर के मोहल्ला अल्ली खां के रहने वाले राशिद पुत्र कमरुद्दीन ने अपने पड़ोस की ही रहने वाली नाजिया उर्फ मुन्नी पुत्री मुजम्मिल से तकरीबन 3 माह पूर्व प्रेम के उपरांत गुपचुप प्रेम विवाह (निकाह) किया था और तभी से राशिद और नाजिया फरार थे। दो दिन पूर्व ही दोनों को नाजिया के पिता मुजम्मिल ने राशिद के पिता कमरुद्दीन से कहकर बुलवा लिया था। घटना सोमवार शाम उस वक्त की है जब नाजिया और राशिद दवा लेकर अपने घर आ रहे थे कि घर के पास ही में बैठे लड़की के पिता मुजम्मिल और भाई ने दोनों को गोली मार दी। राशिद और नाजिया दोनों की ही मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलने पर पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और दोनों के शवों को राजकीय चिकित्सालय ले लाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना के बाद से क्षेत्र में दहशत का माहौल है। अपर पुलिस अधीक्षक राजेश भट्ट ने बताया कि घटना में मृतका के पिता का नाम सामने आ रहा है जोकि इस शादी से खुश नहीं थे। घटना के बाद से मौके से फरार मृतका के पिता और अन्य आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस टीमें लगा दी गईं हैं जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : एक तरफा प्रेम में युवक ने 10 वर्ष छोटी युवती का गला रेता…

नवीन समाचार, झूलाघाट (पिथौरागढ़), 31 अगस्त 2020। एकतरफा प्रेम में झूलाघाट क्षेत्र के जायल गांव में एक युवक ने खुद से 10 वर्ष छोटी युवती की गर्दन पर खुकरी से वार कर डाला। इससे युवती की मौत हो गई। आरोपी युवक फरार है।
झूलाघाट थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार रविवार शाम जायल गांव निवासी राजेश चंद ने गांव की ही कविता भट्ट पुत्री माधव दत्त भट्ट की गर्दन पर खुकरी से हमला कर दिया। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया। ग्रामीणों ने घटना की जानकारी झूलाघाट थाना पुलिस और 108 एंबुलेंस को दी। इसके बाद कविता को 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल पिथौरागढ़ लाया गया। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
प्राइवेट से बीए कर रही थी कविता
झूलाघाट।
22 वर्षीय कविता पिथौरागढ़ महाविद्यालय से बीए प्राइवेट से कर रही थी। पुलिस के अनुसार प्रारंभिक पूछताछ में एकतरफा प्रेम प्रसंग का मामला सामने आया है। युवक अक्सर युवती को परेशान किया करता था और कहीं दूसरी जगह शादी होने पर जान से मारने की धमकी दिया करता था। थानाध्यक्ष तारा सिंह राणा ने बताया कि धारदार हथियार से घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार है। शीघ्र ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वारदात से जायल गांव में दहशत फैल गई है। युवती की हत्या का आरोपी 32 वर्षीय राजेश चंद गांव में ही खेती करता है और अविवाहित है।

 यह भी पढ़ें : प्रेम प्रसंग में पड़ी पत्नी पर प्रेमी की मदद से पति की हत्या का आरोप..

नवीन समाचार, हरिद्वार, 20 अगस्त 2020। हरिद्वार जिले के भगवानपुर थाना क्षेत्र के खूबबनपुर गांव में बृहस्पतिवार को एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एक व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि मृतक के परिजनों ने उसकी पत्नी पर ही अपने प्रेम प्रसंगों में आढ़े जाने पर प्रेमी के साथ मिलकर पति की बेरहमी से हत्या करने का आरोप लगाया है।
हुआ यह कि गुरुवार सुबह मृतक बृजेश नाम के व्यक्ति के परिजनों को पता चला कि पास के ही जंगल में ब्रजेश का शव पड़ा है। जिसके बाद परिजनों ने सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। जबकि मृतक ब्रजेश के भाई का आरोप है कि उसके भाई की पहले भी हत्या करने की कोशिश की गई थी, लेकिन तब वह किसी तरह बच गया था। इस बार उसकी पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर उसकी हत्या कर साक्ष्य मिटाने का प्रयास किया है। क्योंकि उसकी भाभी का प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसलिए भाई ब्रजेश को साजिश के तहत रास्ते से हटाया गया है।

यह भी पढ़ें : खनन कारोबारी की धारदार हत्या से क्षेत्र में हड़कंप, कारण जानने में उलझी पुलिस..

नवीन समाचार, रामनगर, 14 अगस्त 2020। रामनगर के पीरूमदारा क्षेत्र के लोकमानपुर में बीती रात्रि एक खनन कारोबारी की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई है। पुलिस ने घटना में शामिल रहे तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। घटना के बाद से क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं परिजनों का रो-रोक कर बुरा हाल है। पीरूमदारा में देर रात युवक की धारदार हथियार से हत्या, पुलिस ने तीन लोगों को उठाया
मृतक अमनदीप चीना (32) पुत्र प्रेमचंद्र खनन का काम करता था। बीती रात करीब 11 बजे अमनदीप घर से किसी काम से बाहर गया था। तभी गांव में ही कुछ दूर उस पर धारदार हथियार से कई वार कर हमला कर दिया गया। शोर सुनकर कॉलोनी के लोग बाहर आए तो हमलावर फरार हो गए। मौके पर पहुंचे परिजन घायल अमनदीप को हॉस्पिटल ले गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि हमलावर उसके परिचित हैं। हत्यारोपितों के शराब के नशे में विवाद होने की बात सामने आ रही है। पुलिस शव का पोस्टमार्टम कराने की कार्रवाई कर रही है। घटना की असल वजह जानने के लिए पुलिस आरोपितों से पूछताछ करने की बात कह हर कोण से मामले की जांच कर रही है। लेकिन अब तक कोई बड़ा कारण प्रकाश में नहीं आ रहा है।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: प्रेमिका शादी की जिद पर प्रेमी के घर पहुंची, भाई ने शरेआम गोली मारकर कर दी उसके प्रेमी की हत्या

नवीन समाचार, काशीपुर, 10 अगस्त 2020। ऊधमसिंह नगर जनपद के काशीपुर के निकट कुंडेश्वरी के पत्थरपुरी गांव में आधा दर्जन से अधिक बदमाशों ने सोमवार दोपहर दिनदहाड़े घर में घुसकर एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। दिनदहाड़े हुई इस वारदात से समूचे क्षेत्र में सनसनी फैल गई, घटना को अंजाम देकर हत्यारे फरार हो गए। मामला प्रेम प्रसंग का बताया जा रहा है मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बताया गया है कि मृतक की प्रेमिका सुबह अपना घर छोड़कर उसके घर आ गई थी और विवाह करने की जिद कर रही थी। इससे खुन्नस खाए प्रेमिका के भाई ने उसके भाई की गोली मारकर हत्या कर दी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार काशीपुर के गुलजारपुर पत्थरपुरी कुंडेश्वरी निवासी गौरव पुत्र सुरजीत सिंह उम्र 22 वर्ष का गांव की ही एक किशोरी से प्रेम प्रसंग चल रहा था। बताया जा रहा है कि प्रेम प्रसंग के चलते किशोरी सोमवार की सुबह तड़के करीब चार बजे गौरव के घर आ गई तथा गौरव से विवाह करने की जिद पर अड़ गई थी। गौरव के परिजनों ने उसे काफी समझाने का प्रयास किया परंतु वह गौरव से ही विवाह करने की जिद कर रही थी।यह बात जब किशोरी के परिजनों को पता चली तो आज दोपहर किशोरी का भाई अपने साथ 8-10 युवकों को लेकर गौरव के घर आ धमका, और तमंचे से गौरव पर फायर झोंक दिया। गोली लगते ही गौरव जमीन पर गिर गया और मौके पर तड़प-तड़प कर उसने दम तोड़ दिया। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग इकट्ठा हुए लेकिन आरोपी तब तक वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है तथा मामले की गहनता से जांच शुरू कर आरोपियों की धरपकड़ के लिए दबिश दे रही है।

यह भी पढ़ें : फंदे पर लटकी मिली युवती की मौत के मामले में उम्र में छोटे ग्राम प्रधान के भाई पर मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 जुलाई 2020। गत 25 जुलाई को जनपद के धारी विकासखंड के दूरस्थ ग्राम भुम्का के जंगल में एक युवती का शव लटका हुआ मिला था। युवती 24 जुलाई की शाम से गायब थी। मृतका की पहचान 23 वर्षीया राजयंती देवी के रूप में हुई थी। इधर सोमवार को इस मामले में मृतका के भाई खिलेश राम की तहरीर पर ग्राम प्रधान के 19 वर्षीय भाई विपिन चंद्र एवं अन्य अज्ञात लोगों पर राजयंती की हत्या करने के आरोप में पट्टी पटवारी नाई में मुकदमा दर्ज हो गया है। तहरीर में दोनों के बीच प्रेम प्रसंग एवं आरोपित द्वारा शादी से इंकार किये जाने के आरोप भी लगाए गए हैं। राजस्व उपनिरीक्षक रवि पांडे ने पूछने पर बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

मां-बेटी के खून से सने शव मिलने से सनसनी

यह भी पढ़ें : सुबह तड़के अवैध शराब कारोबारी की घर में घुसकर-गोली मारकर हत्या, पत्नी पर हत्या करवाने का आरोप

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 20 जून 2020। शनिवार की सुबह तड़के जिला मुख्यालय का का ट्रांजिट कैम्प क्षेत्र एक बार फिर गोलियों के धमाकों से गूंज गया। यहां अल सुबह करीब तीन बजे समीर विश्वास नाम के व्यक्ति की अज्ञात लोगों ने घर में घुस कर गोली मार दी। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इससे पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी है। इससे भी अधिक सनसनीखेज बात यह है कि मृतक के परिजनों के अनुसार हत्या मृतक की पत्नी ने करवाई है। मृतक अवैध शराब का कारोबारी बताया गया है। ट्रांजिट कैम्प पुलिस जांच में जुट गई है और जल्द ही हत्याकांड का खुलासा करने का दावा कर रही है।
परिजनों के अनुसार हत्या से एक दिन पूर्व मृतक समीर ने अपनी पत्नी और एक अन्य व्यक्ति के साथ मिलकर शराब पी थी। उसकी पत्नी ने ही अज्ञात युवक के साथ मिलकर समीर की हत्या का षड्यंत्र रचा है। बताया जा रहा है कि शडयंत्र के तहत आज प्रातः करीब 3 बजे के लगभग कुछ युवक एक युवक के घर में जा घुसे और उन्होंने युवक पर गोली चला दी। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

यह भी पढ़ें : युवती की जहर पिलाकर हत्या, चाचा व चचेरा भाई गिरफ्तार

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 अप्रैल 2020। नैनीताल जनपद के कोटाबाग के दूरस्थ स्यात इलाके में एक युवकी की जहर पीने से मृत्यु हो गयी। मामले में मृतका के पिता की तहरीर पर राजस्व पुलिस के निरीक्षक राजेंद्र सनवाल, उपनिरीक्षक ओमप्रकाश आर्या व अनुसेवक गोधन सिंह ने शुक्रवार को मृतका के चाचा शिवदत्त और चचेरे भाई बंशीधर को कोटाबाग से गिरफ्तार कर लिया। शाम को उन्हें रिमांड मजिस्ट्रेट जयश्री राणा की अदालत में पेश कर अदालत के आदेश पर छह मई तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। मामले में आरोपित की पत्नी यानी चाची मुन्नी देवी भी आरोपित है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद के पट्टी स्यात के फतेहपुर में लक्ष्मी दत्त पुत्र परमानंद ने अपने सगे छोटे भाई व उसके परिवार पर बेटी की हत्या करने का अरोप लगाते हुए तहरीर दी है। आरोप लगाया कि बीती 16 अप्रैल को आपसी विवाद में उसके छोटे भाई शिवदत्त, पत्नी मुन्नी और बेटे बंशीधर ने उसकी 22 वर्षीय बेटी भावना को जहर पिला दिया। गंभीर हालत में परिजन उसे हल्द्वानी स्थित निजी अस्पताल ले जाया गए, जहां उपचार के दौरान 17 अप्रैल को उसकी मौत हो गई। राजस्व पुलिस ने लक्ष्मी दत्त की तहरीर पर शिवदत्त, उसकी पत्नी मुन्नी देवी व बेटे बंशीधर के खिलाफ धारा-302, 323, 504, 506 के तहत केस दर्ज कर लिया।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी जेल में खूनी संघर्ष, छेड़छाड़ के आरोपित ने कर दी डकैती के आरोपित की हत्या

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 13 अप्रैल 2020। हल्द्वानी उपकारागार में बीती रात्रि कैदियों के बीच खूनी संघर्ष हो गया। इसमें एक ही बैरक में रहने वाले दो कैदी आपस में किसी बात को लेकर भिड़ गए। इस दौरान छेड़छाड़ के आरोपी एक कैदी ने डकैती के आरोपी दूसरे कैदी के सीने पर मुक्कों से ऐसे प्रहार किये कि उसकी मृत्यु हो गई। घटना के बाद से जेल प्रशासन सकते में है। रात्रि में ही जेलर संजीव ह्यांकी की ओर से आरोपित कैदी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया है। वहीं मृतक के शव को उसके परिजनों को सोंपने की तैयारी की जा रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसर बाजपुर के मुडिया गांव निवासी 19 वर्षीय शानू पुत्र नन्हे डकैती के आरोप में बीती चार मार्च से जेल में बंद था। वहीं हल्द्वानी के दमुवाढूंगा का निवासी आलोक नेगी पुत्र रमेश सिंह छेड़छाड़ के आरोप में छह मार्च को जेल लाया गया था। दोनों बैरक नंबर एक में साथ रखे गए थे। बताया गया है कि रविवार की रात खाना खाने के बाद टीवी देखने के दौरान शानू और आलोक के बीच किसी बात को लेकर बहस हो गई। इस पर आलोक ने गुस्से में लेटे हुए शानू के सीने पर मुक्के से कई प्रहार कर दिए। इस पर शानू उठने की कोशिश में गश खाकर जमीन पर गिर गया और तड़पने लगा। जेल प्रशासन ने सूचना मिलने पर जेल परिसर में ही चिकित्सक से उसका प्राथमिक उपचार कराया। यहां स्वास्थ्य में सुधार न होने पर उसे पहले सुशीला तिवाड़ी मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। वहां केवल कोरोना का ही उपचार होने के कारण उसे वहां उपचार नहीं मिला। इस पर उसे बेस चिकित्सालय ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने शानू को मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें : शादी में हाईकोर्ट के आदेश पर डीजे ऑपरेटर रात्रि 10 बजे डीजे बंद करने लगा तो सीने में मार दी गोली….

नवीन समाचार, बाजपुर (ऊधमसिंह नगर), 29 फरवरी 2020। नगर के करीबी केलाखेड़ा थाना क्षेत्र के बेरिया दौलत गांव में बीती-शुक्रवार की देर रात्रि करीब 10 बजे गुरप्रीत सिंह नाम के युवक की शादी के समारोह के दौरान डीजे बंद करने को लेकर हुए विवाद में गोली चल गई। गोली डीजे ऑपरेटर युवक के सीने में लग गई, जिससे डीजे ऑपरेटर की मौत हो गई। घटना के बाद आरोपी फरार हो गए, जबकि सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शादी समारोह के दौरान रात्रि 10 बजे जब डीजे संचालक युवक हाईकोर्ट के आदेश का हवाला देकर डीजे बंद करने लगा तो नृत्य कर रहे युवकों ने इसका विरोध किया। इस पर कुछ युवकों ने तंमचे से फायरिंग शुरू कर दी। गोली लगने से डीजे ऑपरेटर अवतार सिंह (20) पुत्र सुखदेव सिंह गंभीर रूप से घायल हो गया। आनन फानन में उसे गंभीर अवस्था में बाजपुर के एक निजी अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गोली चलने से शादी समारोह में भगदड़ मच गई। इस दौरान आरोपी मौका पाकर फरार हो गए। चौकी इंचार्ज प्रकाश चंद ने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच कर जांच पड़ताल की। पुलिस के अनुसार आरोपी गांव बेरिया दौलत गांव का ही रहने वाला है। आरोपी की तलाश में दबिश दी जा रही है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर बाजपुर सीएचसी की मोर्चरी में रख दिया है और पोस्टमार्टम कराने की तैयारी चल रही है। घटना के बाद से ही युवक के घर में कोहराम मच गया।

यह भी पढ़ें : गन्ने के खेत में अर्धनग्न मिली महिला की गला दबाकर की गई थी हत्या, पति सहित 4 हुए नामजद

नवीन समाचार, जसपुर, 14 फरवरी 2020। गत 12 फरवरी को हाईवे से 200 मीटर अंदर एलबीएस काॅलेज महुआडाबरा के निकट स्थित निर्माणाधीन पुलिया के पास खेत में अर्धनग्न अवस्था में मिली मृत महिला के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मुंह दबाकर मार डालने का खुलासा हुआ है। इसके बाद मृतका के भाई ने दहेज की खातिर उसकी बहन की हत्या करने का शक जाहिर करते हुए उसके पति हरविंदर सिंह, ससुर चरनजीत सिंह, सास राणो कौर, देवर हरजीत सिंह उर्फ बाऊ के खिलाफ तहरीर देकर धारा 302, 201 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया है।
उधर, कोतवाल उमेद सिंह दानू ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार मृतका जसवीर कौर की मौत 12 से 36 घंटे पूर्व दम घुटने की वजह से हुई थी। उन्होंने बताया कि घटनास्थल से पुलिस को एक मोबाइल, पर्स और एक जूता मिला है। पुलिस घटना के खुलासे को लेकर कोतवाली अंतर्गत लगे सभी सीसीटीवी कैमरो की फुटेज खंगाल रही है। पुलिस ने अब तक एक दर्जन संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है। पुलिस मामले की तह तक पहुंचने के लिए हर पहलू जांच कर रही है । कोतवाल ने घटना का शीघ्र ही खुलासा करने का दावा किया है। एएसपी राजेश भट्ट ने भी कोतवाली पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी ली तथा संदिग्धों से पूछताछ की और पुलिस को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
उल्लेखनीय है कि क्षेत्र के ग्राम मलपुरी निवासी राजेंद्र सिंह पुत्र अमर जीत सिंह ने पुलिस को दी हुई तहरीर में कहा है कि उसकी बहन जसवीर कौर उर्फ सिमरन कौर की शादी वर्ष 2005 में ग्राम शेरगढ़ बहादर नगर थाना अफजलगढ़ जिला बिजनौर (उत्तर प्रदेश) निवासी हरविंदर सिंह पुत्र चरनजीत सिंह के साथ सिख रीति रिवाज के अनुसार हुई थी। शादी के दौरान सामर्थ्य के अनुसार दान दहेज भी दिया गया था। बावजूद कम दहेज मिलने के ताने देकर ससुराल वाले उसकी बहन को आये दिन प्रताड़ित करते रहते थे, करीब तीन महीने पूर्व उसकी बहन के साथ ससुरालियों ने कई बार मारपीट की। उसकी बहन ने थाना अफजलगढ़ में 100 नंबर पर डायल कर मारपीट की शिकायत दर्ज कराकर जैसे-तैसे कर अपनी जान बचाई थी। इसके बाद उसके साथ मारपीट कर उसको जलाने का प्रयास भी किया गया था। कई बार पंचायतें कर उसके ससुराल वालों को समझाया गया। लेकिन वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आए और लगातार पैसों की मांग करते थे। इधर एक पखवाडे पूर्व उसकी बहन अपने मायके आई थी और एक सप्ताह रहकर वापस अपनी ससुराल चली गई थी।

यह भी पढ़ें : ऐसी हिमाकत : पुलिस थाने के सामने मिला उत्तराखंड के हिस्ट्रीशीटर का शव, जेल में बंद बदमाशों पर गैंगवार में हत्या करने का शक…

नवीन समाचार, देहरादून, 8 फरवरी 2020। देहरादून के नेहरू कालोनी थाना क्षेत्र के नत्थनपुर निवासी हिस्ट्रीशीटर पंकज सिंह की खतौली-मुजफ्फरनगर में गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई है। तीन गोलियां सीने और एक गर्दन के नीचे मारी गई है। पंकज का शव मुजफ्फरनगर जिले के खतौली में जानसठ बस अड्डे पर पुलिस सहायता केंद्र के बाहर खड़ी काले रंग की फॉरच्युनर गाड़ी की डिग्गी से बरामद हुआ। पंकज की पत्नी अंशु ने इस मामले में टिहरी जेल में बंद जितेंद्र रावत उर्फ जित्ती, देहरादून निवासी यतेन्द्र सिंह (मूल निवासी मेरठ), रोजी और रामबीर (मूल निवासी मुजफ्फरनगर) को नामजद कराया है। दून पुलिस गैंगवार में हत्या की आशंका जता रही है।

हिस्ट्रीशीटर पंकज सिंह
हिस्ट्रीशीटर पंकज सिंह
बताया गया है कि अपराध की दुनिया में लंबे समय तक सक्रिय रहा पंकज सिंह 2010 में एक साथी की हत्या में जेल गया था। सीओ खतौली आशीष प्रताप सिंह की मौजूदगी में पुलिस ने कार का शीशा तोड़कर शव को बाहर निकाला। कार के अंदर ड्राइवर के बराबर वाली सीट खून से सनी हुई थी। खिड़की से गोली निकलने का निशान था। कार से शराब की बोतल और तमंचा भी बरामद हुआ है। खतौली पुलिस ने कार से मिले मोबाइल नंबर से परिजनों से बात की, तब जाकर शव की पहचान हो सकी। पत्नी का आरोप है कि जेल से जितेंद्र उसके पति से रंगदारी मांग रहा था। आरोप लगाया कि रोजी नाम की महिला ने पति पंकज सिंह को शुक्रवार रात करीब 8:30 बजे फोन करके बुलाया था। खतौली पुलिस ने इस मामले में देहरादून की एसपी सिटी श्वेता चौबे से बात कर पूरे मामले पर चर्चा की है।
एसपी सिटी श्वेता चौबे का कहना है कि पंकज सिंह का अपराध से पुराना जुड़ाव रहा है। प्रापर्टी विवाद में छह मार्च 2010 को पंकज सिंह ने जेल में बंद शातिर अपराधी जितेन्द्र उर्फ जित्ती के साथ मिलकर अपने साथी मुनीर उर्फ बब्बल की हत्या की थी। पंकज सिंह नेहरू कालोनी थाने का हिस्ट्रीशीटर था, लेकिन कई बरस से वह शांत था। पंकज सिंह प्रापर्टी की खरीद-फरोख्त के साथ रिंग रोड पर गेस्ट हाउस चला रहा था। उन्होंने कहा कि प्रापर्टी विवाद या गैंगवार में कत्ल की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता। दून पुलिस हत्या के कारणों की जांच कर रही है। 

यह भी पढ़ें : पेट में ताबड़तोड़ वार कर हत्या की और खुद ही खून से सना चाकू लेकर थाने पहुंच गया…

नवीन समाचार, किच्छा, 3 फरवरी 2020। किच्छा में पुरानी रंजिश के चलते घर से बेटे के साथ दवाई लेने निकले 30 वर्षीय एक युवक की चाकू से कई वार कर हत्या कर दी गई। घटना के बाद हत्यारा वार्ड 15 निवासी सूरज राठौर पुत्र स्वर्गीय केदार राठौर खुद ही खून से सना चाकू लेकर पुलिस के पास पहुंच गया और आत्मसमर्पण कर दिया। हत्या का कारण पुरानी रंजिश बताया जा रहा है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक मूल रूप से मुरादाबाद निवासी विकास कुमार पुत्र रूप किशोर नगर के वार्ड 15 में अपनी पत्नी व बेटे के साथ रहता था और मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करता था। बताया गया है कि तीन माह पूर्व किच्छा की विकास कॉलोनी में हुए संघर्ष में घायल सूरज राठौर के पिता स्वर्गीय केदार राठौर की मौत उपचार के दौरान हल्द्वानी में हो गयी थी। पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। मृतक हत्यारोपितों का ही पारिवारिक सदस्य था। आरोपित को यह बात नागवार गुजर रही थी। अंदर ही अंदर पनपते आक्रोश के कारण सोमवार सुबह जब विकास अपने बेटे के साथ बाजार की तरफ जा रहा था। इसी दौरान पहने से घात लगाए आरोपित ने उसे घेर कर चाकू से ताबड़ तोड़ हमला कर घायल कर दिया। जबकि वहां खड़े लोग मूकदर्शक बने रहे। बाद में एक युवक ने साहस कर सड़क पर पड़े विकास को टुकटुक से सीएचसी किच्छा पहुंचाया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। अस्पताल में चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हत्या की सूचना पर पुलिस में हड़कंप मच गया और आनन फानन में पुलिस घटना स्थल पहुंच गयी।

यह भी पढ़ें : फॉलोअप : ब्लू व्हेल, हार्ट अटैक… नो मर्डर…हल्द्वानी में बेटी द्वारा पिता की हत्या मामले में लगातार आ रही हैं नई बातें..

हत्यारोपी बेटी व मृतक पिता।

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 19 जनवरी 2020। हल्द्वानी में 2 दिन पूर्व 17 जनवरी की करीब मध्य रात्रि विवाहिता बेटी द्वारा अपने ही पिता की हत्या किये जाने की हर किसी को झकझोरने वाली खबर में लगातार नई-नई बातें सामने आ रहे हैं। हम इनमें से किसी बात की पुष्टि नहीं कर रहे हैं, न ही अपनी कोई राय या अंदाजा जाहिर कर रहे हैं, बल्कि जैसे जैसे जो बातें सामने आ रही हैं, उन्हें अपने पाठकों के सामने रख रहे हैं। पहले मामले में बेटी के नशे की अवस्था में पिता की हत्या करने की बात सामने आई थी। फिर उसके मानसिक रूप से बीमार होने की स्थिति में हत्या किये जाने की बात कही गई। अब पुलिस के अनुसार लड़की कथित तौर पर भारत मे प्रतिबंधित एक ऑनलाइन गेम ‘ब्लू व्हेल’ के कारण पिता की हत्या किये जाने की बात कर रही है। इस ऑनलाइन गेम के आखिरी चरण में कथित तौर पर खेलने वाले को आत्महत्या या दूसरों की हत्या करने के टास्क दिये जाते हैं। वहीं, पिता की मौत के बाद पुणे से अपनी माँ को लेकर लौटे इकलौते बेटे श्याम सिंह नेगी ने पिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट देखने का दावा करते हुए कहा है कि पिता की मौत हार्ट अटैक से हुई है। उसकी बहन ज्योति मानसिक रूप से बीमार जरूर है, पर उसने पिता की हत्या नहीं की है, जबकि पुलिस अभी पोस्टमार्टम की रिपोर्ट ही नहीं आने की बात कह रही है। मृत्यु का सही कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के बाद ही पता चलेगा।
उधर हत्यारोपी बेटी ज्योति का अब भी सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा हा। पुलिस ने पोस्टमार्टम के उपरांत शव पुत्र को सौंप दिया है, जबकि ज्योति का पति राजेंद्र अपनी तीन साल की बेटी को अपने घर छोड़कर अपनी पत्नी की देखभाल के लिए सुशीला तिवारी अस्पताल आ गया है। पुलिस को मामले में किसी की ओर से कोई शिकायती तहरीर नहीं मिली है, फिर भी पुलिस मामले की जांच कर रही है। मृतक के परिजनों के साथ ही पड़ोसियों के बयान भी लिए जा रहे हैं।
मामले में यह बातें भी सामने आ रही है कि रात्रि करीब 11 बजे हत्या होने से पहले सांय पांच बजे से पिता ज्योति से दवा खाने का आग्रह कर रहे थे। बताया जा रहा है कि अपने पिता की शिकायत करने के लिए ज्योति ने कई बार पुलिस की महिला सेल में शिकायत की थी। कई बार महिला सिपाही घर पर भी आईं, पर पिता ने किसी तरह से उन्हें लौटा दिया। इधर, बनभूलपुरा उप निरीक्षक सुशील कुमार ने बताया कि सुशीला तिवारी में भर्ती करने के दौरान आरोपिता केवल ब्लू ह्वेल से आदेश मिलने की बात कर रही थी। इसके बाद किसी तरह की जानकारी से इंकार कर रही है। उप निरीक्षक ने बताया कि कुछ समय से ज्योति का डा.मनोज त्रिवेद्वी से इलाज चल रहा था। उन्होंने कहा कि आरोपिता गंभीर रूप से मानसिक रोगी है। उन्होंने यह भी बताया कि पुलिस ने मृतक के शव का पीएम और जांच का काम पूरा कर लिया है। साक्ष्य भी एकत्र कर लिए हैं।

यह भी पढ़ें : तो इसलिए हल्द्वानी में बेटी ने ही कर दी अपने सगे पिता की हत्या..?

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 18 जनवरी 2020। हल्द्वानी में बरेली रोड स्थित चौधरी कॉलोनी में शुक्रवार देर शाम बेटी ज्योति ने अपने पिता की हत्या मानसिक रोग की अवस्था में की थी। पुलिस से हत्यारोपी बेटी को सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया है। अब पता चला है कि ज्योति अपने पति राजेंद्र कन्याल के साथ दिल्ली में रहती थी। इधर वह मानसिक रूप से बीमार हो गई। जानकारी मिलने पर 2 दिन पूर्व 15 जनवरी को उसके पिता पूर्व फौजी सूर्य सिंह नेगी बेटी व दामाद तथा उनकी 3 साल की बेटी को हल्द्वानी ले आये थे। इसके बाद ज्योति का पति राजेन्द्र 16 जनवरी को उसे नवाबी रोड स्थित मानसिक अस्पताल में दिखाकर अपने घर कोटाबाग चला गया था, जबकि घर पर सूर्य सिंह नेगी, ज्योति और उसकी 3 साल की बेटी ही थे। जबकि सूर्य सिंह नेगी की पत्नी पुणे में कार्यरत अपने फौजी बेटे के पास गई हुई थी। पड़ोसियों के अनुसार यहां आने के बाद से ही ज्योति लगातार हंगामा कर रही थी। लोग इसे देवी-देवता का प्रकोप मान रहे थे। घटना के दौरान मानसिक रोग की अवस्था में ही हंगामा कर रही ज्योति ने अपने पिता का गला दबा दिया। नेगी के शोर मचाने पर पड़ोसी किराएदार राकेश घर में पहुंचे। इस बीच किसी तरह ज्योति ने ही अंदर से दरवाजा खोल दिया। वह विकराल लग रही थी जबकि सूर्य सिंह नेगी जमीन पर अचेत पड़े थे। लोग उन्हें सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल लेकर पहुंचे जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें : Big Breaking : हल्द्वानी में घोर कलयुग : अभी-अभी नशेड़ी बेटी ने नशे में अपने सगे पिता को मार डाला

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 17 जनवरी 2020। हल्द्वानी में ऐसी घटना हुई है, जैसी कभी न देखी न सुनी होगी। यहां थाना बनभूलपुरा क्षेत्र अंतर्गत चौधरी कॉलोनी में एक 28 साल की शादीशुदा महिला ने नशे की हालत में अपने ही पिता-पूर्व सैनिक की गला घोंट कर हत्या कर दी है। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर हत्यारोपी बेटी को हिरासत में ले लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार चौधरी कॉलोनी में रहने वाले पूर्व सैनिक सूर्य सिंह नेगी की बेटी ज्योति कन्याल नेगी शादीशुदा व नशे की आदी है। वह अपनी बेटी को लेकर कुछ दिन पहले ही अपने पिता के घर आयी थी। इधर शुक्रवार देर रात्रि उसने नशे की हालत में अपने पिता की गला दबाकर हत्या कर दी। थाना प्रभारी सुशील जोशी दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लिया और हत्यारी बेटी को हिरासत में ले लिया। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल अस्पताल के बाद नैनीताल जेल से हलद्वानी कोर्ट भी प्राइवेट कार से आया चर्चित हत्याकांड का शातिर हत्यारोपी और फिर बेहोश भी हो गया..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 10 जनवरी 2020। हल्द्वानी के बहुचर्चित भूपेंद्र पांडे उर्फ भुप्पी के एक हत्यारोपित गौरव गुप्ता सीजीएम की अदालत में पेश होने से पहले ही कथित तौर पर बेहोश हो गया। बेस अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद हत्यारोपित को न्यायालय में पेश करने के बाद वापस जेल भेज दिया गया है। वहीं हत्यारोपित को नैनीताल से प्राइवेट कार से हल्द्वानी लाने पर भी कई सवाल उठे।
उल्लेखनीय है कि सरेराह दिनदहाड़े प्रोपटी डीलर भूपेंद्र पाण्डे उर्फ भूप्पी पांडे हत्याकांड में जेल में बंद सौरभ गुप्ता और गौरव गुप्ता को धोखधड़ी के एक मामले में शुक्रवार को नैनीताल से प्राइवेट कार में हल्द्वानी सीजीएम की अदालत में लाया गया। इससे पूर्व नैनीताल के अस्पताल भी उसे पुलिस प्राइवेट कार से ही लाई थी। बताया जा रहा है कि यहां न्यायालय परिसर के बाहर ही आरोपित गौरव गुप्ता की तबियत खराब हो गई और वह बेहोश होकर जमीन पर गिर पड़ा। आनन-फानन में आरोपित का बेस अस्पताल में प्राथमिक उपचार किया गया। करीब एक घंटे बाद आरोपित को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। पुलिस सूत्रों के अनुसार यह मामला रामपुर रोड निवासी लेखिका सौम्या दुआ से ज़ुड़ा है। सौम्या ने सौरभ और गौरव गुप्ता पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है। आज दोनों की कोर्ट में पेशी थी। बताया जा रहा है कि कोर्ट परिसर में पहुंचते ही गौरव गुप्ता उल्टियां करने लगा। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इलाज के बाद दोनों को दोबारा कोर्ट में पेश किया गया।

Leave a Reply