उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.5 मिलियन यानी 1.35 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर। बाबा नीब करौरी के कैंची धाम में स्थापना दिवस पर आने वाले सभी भक्तजनों का हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन...

June 20, 2024

‘देवीभूमि’ में महिलाएं कितनी सुरक्षित, महिला आयोग के आंकड़े प्रस्तुत करते हैं तस्वीर

0

-राज्य महिला आयोग में शिकायत करने वालों में देहरादून, हरिद्वार व उधमसिंह नगर की महिलाएं आगे
-पहाड़ के बागेश्वर-रुद्रप्रयाग जिलों की महिलाओं की काफी शिकायतें पहुंची आयोग में
नवीन समाचार, नैनीताल, 12 मई 2024 (How safe Women in Uttarakhand-Women Commission)। ‘देवभूमि’ के साथ ‘देवीभूमि’ भी कहे जा रहे उत्तराखंड में देवियां यानी महिलाएं कितनी सुरक्षित या असुरक्षित हैं, इस पर बहस हो सकती है। अलबत्ता, समाज के एक वर्ग में अभी भी महिलाओं के साथ अपराध, उन्हें अपनी संपत्ति समझने, उनके साथ मनमानी करने जैसी प्रवृत्तियां अब भी खूब नजर आ रही हैं।

How safe Women in Uttarakhand-Women Commission, Uttarakhand State Commission For Women | Dehradunदूसरी ओर महिलाएं अब आवाज भी उठा रही हैं। पुलिस के साथ महिला आयोग में भी शिकायतें कर रही हैं। खासकर महिला आयोग की बात करें तो वहां तक महिलाएं तब पहुंचती हैं, जब पुलिस उनकी ठीक से नहीं सुन रही होती है। इस आधार पर हम यहां महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों एवं प्राथमिक स्तर पर न्याय न मिलने के आंकड़े प्रस्तुत कर रहे हैं।

नैनीताल आयीं राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल से प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य में हर रोज 15 से 20 शिकायत महिला के साथ हो रही हिंसा से जुड़ी दर्ज हो रही है। इनमें दहेज हत्या, दहेज उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, शारीरिक उत्पीड़न, दुष्कर्म, छेड़छाड़, महिलाओं को जान से मारने की धमकी व संपत्ति विवाद से संबंधित मामले हैं।

उत्तराखंड राज्य महिला आयोग में सर्वाधिक शिकायतें करने में देहरादून जनपद की महिलाएं सबसे आगे हैं। जबकि देहरादून के बाद हरिद्वार जिला दूसरे और ऊधमसिंह नगर तीसरे व नैनीताल चौथे स्थान पर है। अलबत्ता पर्वतीय जिले इस मामले में पीछे हैं। यह भी संभव है कि वहां की पीड़ित महिलाएं अब तक राज्य महिला आयोग तक पहुंच न पा रही हों। बीते 3 सालों में बागेश्वर जिले से केवल 15 शिकायत राज्य महिला आयोग में दर्ज हुई है। (How safe Women in Uttarakhand-Women Commission)

इसी तरह रुद्रप्रयाग जिला इस मामले में केवल 18 शिकायतों के साथ दूसरे स्थान पर है। श्रीमती कंडवाल ने कहा कि महिला आयोग ऐसे मामलों को बेहद गंभीरता से ले रही है और पीडित महिलाओं को न्याय दिला रही है। कुल शिकायतों में से निस्तारित की गयी शिकायतों की संख्या इसकी गवाह है। इस कारण महिलाओं में महिला आयोग के प्रति विश्वास बढ़ता जा रहा है। अलबत्ता महिलाएं आयोग के निस्तारण से संतुष्ट हैं या नहीं, यह अलग विषय है। (How safe Women in Uttarakhand-Women Commission)

महिलाओं पर उत्तराखंड में हुई हिंसा (How safe Women in Uttarakhand-Women Commission)

जनपद – वर्ष 2022-23 वर्ष 2023-24 2024-25 में अब तक
अल्मोड़ा – 26                    21              2
बागेश्वर – 7                       8               0
चंपावत – 27                    13              2
चमोली – 22                    21              2
देहरादून – 717                  720           91
हरिद्वार – 393                   317            33
नैनीताल – 123                  103           12
पौड़ी – 80                        84            10
पिथौरागढ़ – 45                33             2
रुद्रप्रयाग – 7                   11              0
टिहरी – 42                      36            4
उत्तरकाशी – 19                22            0
ऊधमसिंह नगर-344        300          32
कुल शिकायतें/निस्तारित 1947/1864 1769/1169 195/191 (How safe Women in Uttarakhand-Women Commission)

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे‘नवीन समाचार’पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (How safe Women in Uttarakhand-Women Commission)

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

गर्मियों में करना हो सर्दियों का अहसास तो.. ये वादियाँ ये फिजायें बुला रही हैं तुम्हें… नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला