News

अमिताभ, अभिषेक, ऐश्वर्या, आराध्या के बाद महाराष्ट्र राजभवन पहुंचा कोरोना, 18 को कोरोना के बाद राज्यपाल कोश्यारी ने दिया बयान

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, मुंबई, 12 जुलाई 2020। मुंबई में सदी के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन व उनके पुत्र अभिषेक बच्चन के बाद उनकी बहु ऐश्वर्या और पोती आराध्या को भी कोरोना की पुष्टि हो गई है। वहीं कोरोना महाराष्ट्र के राजभवन भी पहुंच गया है। राजभवन में 18 कर्मचारियों को कोरोना की पुष्टि होने से हड़कंप मच गया है। ऐसे में पहले राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के भी खुद को आइसोलेट करने की खबरें आ रही थीं, लेकिन राज्यपाल कोश्यारी ने साफ किया है कि उनका कोरोना टेस्ट नेगेटिव आया है। उन्होंने बताया है कि वह पूरी तरह से ठीक हैं। और सेल्फ आइसोलेशन में नहीं हूं। उन्होंने बताया कि मैंने अपना कोरोना टेस्ट कराया है, जिसका रिजल्ट नेगेटिव आया है। उनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं। गौरतलब है कि बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के सूत्रों ने रविवार को बताया कि महाराष्ट्र के राजभवन के 18 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद से ही उनके स्वास्थ्य को लेकर खबरें आ रही थीं।
उल्लेखनीय है कि बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के सूत्रों ने रविवार को बताया कि महाराष्ट्र के राजभवन के 18 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इस बीच खबरें आईं कि राज्यपाल भगत सिंह ने खुद को आइसोलेट कर लिया है। आधिकारिक सूत्रों ने रविवार को बताया था कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राजभवन में 18 कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद खुद को आइसोलेट कर लिया है। सूत्रों ने बताया है कि राजभवन में कोरोना पॉजिटिव पाए गए 18 कर्मचारियों का नगर निगम दोबारा कोरोना टेस्ट कराएगा। हालांकि, राजभवन में संक्रमण का स्रोत स्पष्ट नहीं है। नागरिक स्वास्थ्य दल दक्षिण मुंबई में राजभवन परिसर में विभिन्न निवारक उपाय करने में लगे हुए हैं। उल्लेखनीय है कि ताजा आंकड़ों के अनुसार महाराष्ट्र में अब तक कोरोना वायरस कुल 2,46,600 मामले सामने आ चुके हैं। यहां कुल मामलों में से 99,499 सक्रिय मामले हैं जबकि 1,36,985 लोगो कोरोना से ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं। महाराष्ट्र में कुल 10,116 लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें : सूत्रों से बड़ी खबर : हटाये जा सकते हैं महाराष्ट्र के राज्यपाल कोश्यारी…

नवीन समाचार, नई दिल्ली, 27 नवंबर 2019। सूत्रों के हवाले से राजनीति से जुड़ी एक बड़ी खबर आ रही है। संभावना है कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को जल्द ही वहां से हटाया जा सकता है और उनकी जगह किसी और को राज्यपाल बनाया जा सकता है, और उन्हें कहीं और भेजा जा सकता है। ऐसा महाराष्ट्र में हुई राजनीतिक उठापटक व छीछालेदर के डैमेज कंट्रोल के रूप में किया जा सकता है।
उल्लेखनीय है कि राज्यपाल राष्ट्रपति के प्रतिनिधि होते हैं। उनका किसी राजनीतिक दल से कोई संबंध नहीं होता। कोश्यारी भी राज्यपाल बनते ही भाजपा से इस्तीफा दे चुके हैं। उन्होंने महाराष्ट्र में जो भी किया, उस पर सवाल उठे हैं। इसे देखते हुए राष्ट्रपति की ओर से उन्हें बदला जा सकता है, ताकि अच्छा संदेश जाए।
उल्लेखनीय है कि भाजपा की महाराष्ट्र में बड़ी छीछालेदर हुई है। आनन-फानन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सीएम और डिप्टी सीएम को शपथ दिलाई थी उससे भाजपा पर ज्यादा दाग लगे। इस पूरे राजनीतिक घटनाचक्र में कोश्यारी की होशियारी सवालों के घेरे में आ गई। मालूम हो कि कोश्यारी को हाल ही में महाराष्ट्र का राज्यपाल नियुक्त किया गया था। यदि ऐसा हुआ तो यह कोश्यारी व उनके समर्थकों के साथ ही उनके गृह प्रदेश उत्तराखंड के लिए भी झटका होगा, जहां से गिने-चुने लोग ही राज्यपाल के सम्मानित पद तक पहुंच पाए हैं।

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र में मराठी रंग में रंगे पहाड़ के लाल कोश्यारी, ली राज्यपाल पद की शपथ, देखें एक्सक्लुसिव वीडियो

नवीन समाचार, देहरादून 5 सितंबर 2019। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता भगत सिंह कोश्यारी ने गुरुवार 5 सितंबर की शाम 6 बजे राजभवन में शपथ ग्रहण कर ली है।महाराष्ट्र पहुंचते ही कोश्यारी मराठी रंग में रंगे दिखे। शपथ लेते हुए कोश्यारी ने परिधान तो पर्वतीय ही पहने थे किंतु उनकी जुबान पर मराठी थी। उन्होंने मराठी में शपथ ली।

देखें कोश्यारी के महाराष्ट्र के राज्यपाल पद की शपथ लेने का एक्सक्लुसिव वीडियो :

कोश्यारी जी राज्यपाल पद का गौरव व गरिमा आगे बढ़ाएंगे, इस उम्मीद व आकांक्षा के साथ असीम हार्दिक बधाइयां एवं शुभकामनाएं…

देखें कोश्यारी के मुंबई पहुंचने का एक्सक्लुसिव वीडियो :

यह भी पढ़ें : कोश्यारी ने दिया भारतीय जनता पार्टी से इस्तीफा..

नवीन समाचार, देहरादून 2 सितंबर 2019। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता भगत सिंह कोश्यारी ने महाराष्ट्र का राज्यपाल नियुक्त होने के बाद अपनी-भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट को इस संबंध में एक पत्र लिखकर कोश्यारी ने संवैधानिक जिम्मेदारी संभालने के मददेनजर उनसे इस्तीफा स्वीकार करने का आग्रह किया, जिसे स्वीकार कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें: पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी बने महाराष्ट्र के राज्यपाल !

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 सितंबर 2019। उत्तराखंड के वरिष्ठ भाजपा नेता भगत सिंह कोश्यारी को देश के बड़े प्रांत महाराष्ट्र का नया राज्यपाल बनाया जा रहा है।  उनकी नियुक्ति सी विद्यासागर राव के स्थान पर की जा रही है, जिनका पांच वर्ष का कार्यकाल 30 अगस्त 2019 को समाप्त हो गया है। बताया जा रहा है कि हल्द्वानी में अपने आवास में मौजूद कोश्यारी को इस संबंध में सूचना आ गई है। पुख्ता मानी जा रही इस सूचना से भाजपाइयों में हर्ष का माहौल व्याप्त हो गया है। लोग एक दूसरे को एवं श्री कोश्यारी को बधाइयां दे रहे हैं। कोश्यारी ने अपना मोबाइल फोन बंद कर लिया है। वे स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी के बाद उत्तराखंड से राज्यपाल बनने वाले देश के दूसरे राजनेता तथा अल्मोड़ा निवासी भैरव दत्त पांडे के बाद तीसरे व्यक्ति होंगे। आधुनिकता के दौर में भारतीय संसद के साथ देश-विदेश की यात्राओं में अपनी पहाड़ी टोपी व धोती के साथ ही बोलचाल में पहाड़ी-कुमाउनी पुट कोश्यारी की विशिष्टताओं में शामिल है।

उल्लेखनीय है कि भगत सिंह कोश्यारी का जन्म 17 जून 1942 को हुआ था। आरएसएस के अनुभवी कोश्यारी ने बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और उत्तराखंड के लिए पार्टी के पहले राज्य अध्यक्ष भी रह चुके है। उन्होंने 2001 से 2002 तक उत्तराखंड (पूर्व में उत्तरांचल) के दूसरे मुख्यमंत्री के रूप में भी कार्य किया और उसके बाद, 2002 से 2007 तक उत्तराखंड विधान सभा के विपक्ष के नेता रहे। उन्होंने उत्तर प्रदेश विधान परिषद में एमए[wp-rss-aggregator]लसी के रूप में भी कार्य किया है ( जब उत्तराखंड अविभाजित उत्तर प्रदेश का हिस्सा था) और उत्तराखंड विधानसभा में विधायक के रूप में नियुक्त हुए।बाद में उत्तराखंड से 2008 से 2014 तक राज्यसभा में एक सांसद के रूप में सेवा दी और वर्तमान में नैनीताल-उधमसिंह नगर निर्वाचन क्षेत्र से 16 वीं लोक सभा में सांसद हैं। उन्हें राज्य विधायी विधानसभा और राष्ट्रीय संसद के दोनों सदनों में निर्वाचित होने का गौरव प्राप्त हुआ। नैनीताल के मौजूदा सांसद अजय भट्ट से पूर्व उनके नाम पर नैनीताल एवं उत्तराखंड मंे सर्वाधिक वोटों से जीतने का रिकार्ड रहा। उल्लेखनीय है कोश्यारी को इस चुनाव में कुल पड़े 11,01,435 मतों में से 57.78 फीसद यानी 6,36,669 मत मिले, जबकि उनके विरोध में अन्य सभी प्रत्याशियों को मिलाकर 4,64,666 वोट ही मिले थे।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply

loading...