जरूरी समाचार : वॉट्सऐप से आया आपकी निजता पर बड़ा खतरा, बचने को तुरंत यह करें…

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, टेक्नोलॉजी डेस्क, नई दिल्ली, 14 मई  2019। वॉट्सऐप पर आई एक गड़बड़ी के चलते आप एक बड़े खतरे के करीब हैं। इजराइल के स्पाईवेयर की मदद से केवल एक मिस कॉल करके आपके फोन्स को हैक किया जा सकता था। हाल ही में एक सामने आई रिपोर्ट में कहा गया है कि यूजर्स को केवल एक वॉट्सऐप कॉल करके उनके फोन के कैमरा और माइक तक को हैक किया जा सकता था और यूजर्स के ईमेल से लेकर मेसेज और लोकेशन डेटा तक पता लगाए जा सकते थे। वैसे तो वॉट्सऐप ने इसे गड़बड़ी को फिक्स कर दिया है, लेकिन अगर अब तक आपका ऐप अपडेट नहीं है तो आपके लिए यह खतरे की घंटी से कम नहीं है। वॉट्सऐप ने अपने सभी यूजर्स से फौरन ऐप अपडेट करने को कहा है। सिक्यॉरिटी रिसर्चर्स और वॉट्सऐप की ओर से भी कन्फर्म किया गया है कि यह स्पाईवेयर इजराइल के सीक्रेटिव एनएसओ ग्रुप ने डिवेलप किया है। किसी को मिस कॉल करने भर से इसे फोन में डाला जा सकता है। द फाइनेंशल टाइम्स की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि यह एक बग था जो वॉट्सऐप के ऑडियो कॉल फीचर में आया था। वॉट्सऐप का कहना है कि इस गड़बड़ का पता चलते ही इसे पिछले महीने फिक्स कर दिया गया था, यूजर्स को सिर्फ अपना ऐप अपडेट रखना है।

मेसेजिंग ऐप्स की ओर से कहा गया है, ‘हम वॉट्सऐप यूजर्स से ऐप के लेटेस्ट वर्जन को डाउनलोड करने की अपील कर रहे हैं। साथ ही यूजर्स को अपना स्मार्टफोन और उसका ओएस भी अपडेट रखना चाहिए। ऐसे में जरूरी है कि फोन में मौजूद डेटा की सुरक्षा को लेकर यूजर्स भी जागरूकता दिखाएं और जल्द से जल्द ऐप को अपडेट कर लें।’ सिटिजन लैब्स के रिसर्चर्स के मुताबिक वॉट्सऐप में इस गड़बड़ी का पता मई की शुरुआत में लगा, जब यूके के एक मानवाधिकार से जुड़े वकील पर एनएसओ के इस प्रोग्राम के अटैक का मामला सामने आया है। बता दें, इजराइल का एनएसओ ग्रुप सरकार के लिए काम करता है और अलग-अलग तरीकों से जानकारी जुटाने के लिए प्रोग्राम बनाता है। वॉट्सऐप ने अपने बयान में इस ग्रुप का जिक्र किए बिना कहा, ‘अटैक एक प्राइवेट कंपनी से जुड़ा हुआ था, जो मोबाइल फोन ऑपरेटिंग सिस्टम्स में सरकार के समर्थन से स्पाईवेयर डालती है।’ वहीं, एनएसओ ग्रुप ने इन आरोपों को नकारते हुए कहा है कि एनएसओ किसी भी स्थिति में ऐसे यूजर्स को निशाना नहीं बनाता और किसी यूजर या संगठन पर ऐसे अटैक का समर्थन नहीं करता।

यह भी पढ़ें: व्हाट्सएप ग्रुप में जबरन शामिल करने से परेशान हैं तो यह समाचार आपके लिए, आ रही है नई सुविधा

नवीन समाचार, टेक्नोलॉजी डेस्क, 13 फरवरी 2019। व्हाट्सएप पर किसी को उसकी मर्जी के बिना जोड़ना अब संभव नहीं होगा। इंस्टैंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप जल्द ही ग्रुप में शामिल करने के लिए इनविटेशन लिंक शुरू करने जा रहा है जिसके बाद उपयोगकर्ता की सहमति के बगैर उसे व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल नहीं किया जा सकेगा।

व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल होने के लिए भेजा गया ‘जॉइनिंग इनविटेशन’ तीन दिन से ज्यादा दिन तक सक्रिय नहीं रहेगा। इसी दौरान इनविटेशन प्राप्त करने वाला यूजर उस ग्रुप में शामिल हो सकता है अन्यथा वह निष्क्रिय हो जाएगा। व्हाट्सएप ने उपयोगकर्ता की सहूलियत के लिए इनवाइट प्राप्त करने वाले के लिए तीन विकल्प जारी करेगी। इसके लिए उपयोगकर्ता को व्हाट्सएप की सेटिंग में जाना होगा। उसके बाद अकाउंट वाले विकल्प पर क्लिक करना होगा, फिर प्राइवेसी नामक विकल्प पर जाएं। इसके बाद ग्रुप नाम के विकल्प पर क्लिक कर दें, जिसमें तीन विकल्प खुलेंगे जो एव्रीवन, माय कॉन्टेक्ट और नोबडी होगा।

Leave a Reply

Loading...
loading...