उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.5 मिलियन यानी 1.35 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर। बाबा नीब करौरी के कैंची धाम में स्थापना दिवस पर आने वाले सभी भक्तजनों का हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन...

June 20, 2024

अभी बादल फटा था, अब वनाग्नि में जिंदा जला 75 वर्षीय बूढ़ी मां का इकलौता बेटा-3 बेटियों का पिता

0

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 17 मई 2024 (Only son of old Mother burnt alive in ForestFire)। एक बार फिर उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में वनाग्नि की घटनाएं बढ़ गयी हैं। इधर अल्मोड़ा जिले के सोमेश्वर क्षेत्र में जहां गत दिवस अत्यधिक बारिश से बादल फटने की घटना हुई थी, वहीं अब यहां एक युवक वनाग्नि में जिंदा जल गया है। मृतक अपनी मां का इकलौता बेटा था। उसकी तीन बेटियां हैं। वह ही घर का इकलौता कमाने वाला था।

सोमेश्वर तहसील के खाईकट्टा गांव का मामला (Only son of old Mother burnt alive in ForestFire)

प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार की देर शाम सोमेश्वर तहसील के खाईकट्टा गांव में जंगल में अचानक भीषण आग लग गई थी। हवा चलने के कारण आग ने अचानक विकराल रूप धारण कर लिया। आग गांव तक न पहुंचे इसके लिए ग्रामीण आग बुझाने के लिए जंगल गये और देर रात तक जंगल की आग बुझाने में जुटे रहे।

(Only son of old Mother burnt alive in ForestFireआग बुझाकर अन्य ग्रामीण तो लौट आये लेकिन 40 वर्षीय महेंद्र सिंह का कुछ अता पता नहीं चला तो ग्रामीणों ने उसकी खोजबीन की। काफी देर की मशक्कत के बाद महेंद्र सिंह को अधजला शव जलते हुए जंगल के बीच से बरामद किया गया। ग्रामीणों ने बताया कि आग की लपटें इतनी भयानक थी कि महेंद्र आग बुझाने के प्रयास में उनकी चपेट में आ गया होगा।

सिर्फ छह माह में खोया था पिता को (Only son of old Mother burnt alive in ForestFire)

मृतक महेंद्र जब सिर्फ छह माह का था, तभी उसके पिता की मौत हो गई। मां राधा देवी ने किसी तरह संघर्षों से इकलौते बेटे का अकेले पालन-पोषण कर पाला और उसका विवाह भी किया। उम्र के अंतिम पड़ाव में वह उसी के सहारे जीवन जी रही थी। अब उसके जीवन का सहारा हमेशा के लिए उसका साथ छोड़ गया है। मेहनत-मजदूरी कर मां, पत्नी और तीनों बेटियों की हर जरूरत पूरी कर रहा महेंद्र अपने पीछे 75 वर्षीय मां के साथ पत्नी पुष्पा और 18, 14, 11 साल की तीन बेटियों को रोता-बिलखता छोड़ चला गया है। (Only son of old Mother burnt alive in ForestFire)

स्यूनराकोट गांव में पति-पत्नी की जंगल की आग की चपेट में आने से मौत हो गई थी (Only son of old Mother burnt alive in ForestFire

सूचना मिलने के बाद शुक्रवार को वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। रेंजर मनोज लोहनी ने बताया कि आग नाप भूमि में लगी हुई थी। उन्होंने बताया कि ग्रामीण के शव को कब्जे में लेकर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। इधर अचानक हुए इस हादसे के बाद अब महेंद्र के परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों सोमेश्वर तहसील के ही स्यूनराकोट गांव में भी लीसा दोहन के कार्य में लगे पति-पत्नी जंगल की चपेट में आ गए थे और उनकी दर्दनाक मौत हो गई थी। (Only son of old Mother burnt alive in ForestFire)

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे‘नवीन समाचार’पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (Only son of old Mother burnt alive in ForestFire)

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

गर्मियों में करना हो सर्दियों का अहसास तो.. ये वादियाँ ये फिजायें बुला रही हैं तुम्हें… नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला