यह सामग्री कॉपी नहीं हो सकती है, फिर भी चाहिए तो व्हात्सएप से 8077566792 पर संपर्क करें..
 

🚩पहाड़ी पञ्चाङ्ग और राशिफल 30 जून 2019 (आषाढ़ 16 पैट-गते)…आज है वाहन से सावधानी बरतने, शारीरिक कष्ट व जोखिम से बचने का दिन..

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दगड़ियो नमस्कार 🙏🙏
आज’क दिन उत्तरायण, कृष्ण पक्ष बिक्रम संवत 2076, शक संवत 1941, द्वादशी तिथि अर आषाढ़ 16 पैट (गते) छू। आप सब लोगनक दिन मंगलमय हवौ..
“खुशि, स्वस्थ-सुकयारि रईया, खुटन में कान झन बुड़ौ.. धिनाइ-पाणी, ज्यो-जैजात बढ़ते रओ…और दुसारन कै ले खुश रखना लिजी प्रयास करिया! यो दिन-यो बार भेटनै रईया…” जय गोलज्यू !!💐💐

जानिए कैसा रहेगा आपकी राशि का राशिफल…29-06-2019 को….

##मेष:-राजकीय कार्यों के पूर्ण होने के योग हैं। निवेशादि लाभ देंगे। नई योजना सफल होंगी।धर्म कर्म में रुचि बढ़ेगी।शत्रु परास्त होंगे।

##वृषभ:-वाहन आदि चलाते समय सावधानी बरतें। शरीर कष्ट संभावित है। जोखिम-जमानत के कार्यों से दूर रहें। कार्य में नवीनता के भी योग हैं।

##मिथुन:-पारिवारिक जिम्मेदारी बढ़ने से व्यस्तता बढ़ेगी। प्रेम-प्रसंग में सफलता मिलेगी। राजकीय कार्यों में गति आएगी। निवेश से लाभ होगा। यात्रा शुभ होगी।

##कर्क:-पराक्रम एवं कोशिश से लाभ के अवसर बढ़ेंगे। संपत्ति के कार्य लाभ देंगे। निवेशादि शुभ रहेगा। रोजगार प्राप्ति हो सकती है। संतान के व्यवहार से सम्मान बढ़ेगा।

##सिंह:-पार्टी-पिकनिक का आनंद मिलेगा। विद्यार्थी वर्ग सफलता प्राप्त करेंगे। निवेशादि लाभ देंगे। विरोधी शांत रहेंगे। विलासिता के प्रति रुझान बढ़ेगा।

##कन्या:-खर्च बढ़ेगा, कुछ चिंता हो सकती है। जोखिम-जमानत के कार्यों को टालें। मूल्यवान वस्तु चोरी या गुम हो सकती है। प्रयास के बाद भी सफलता में संदेह है।

##तुला:- काम काज सामान्य बना रहेगा।निवेशादि शुभ रहेगा। रोजगार प्राप्ति तथा परीक्षादि शुभ रहेगी। रुके हुए कार्य में विलंब के भी योग हैं।

##वृश्चिक:-पराक्रम से कार्य बनेंगे। शुभ समाचार मिल सकता है। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। व्यापार निवेश से लाभ होगा। रुके कार्य बन सकते है। पारिवारिक जीवन तनावपूर्ण रहेगा।

##धनु:-काम काज मिला जुला रहेगा।यात्रा शुभ रहेगी।अचानक मदद करने व्यक्ति उपस्थित होंगे। कोशिश करने से रोजगार मिलेगा। साक्षात्कार व परीक्षा में सफलता मिलेगी।

##मकर:-व्यय वृद्धि हो सकती है। विरोधी सक्रिय रहेंगे। जोखिम-जमानत के कार्य स्‍थगित करें। आर्थिक हानि हो सकती है।निवेश सोच समझकर करें।

##कुंभ:-आज रुका हुआ धन प्रयास करने पर आ सकता है। साक्षात्कार-परीक्षा में कड़ा मुकाबला रहेगा। रुके धन के लिए प्रयत्न जरूर करें। यात्रा हो सकती है।

मीन:-काम काज सामान्य रहेगा।प्रतिष्ठा वृद्धि होगी। निवेशा‍दि से लाभ होगा। नई योजनाएं बनेंगी।यात्रा के योग बनेंगे।

जानिए क्या होगा आपकी राशि पर शुक्र के (28 जून 2019 की रात्रि से) राशि परिवर्तन का प्रभाव…


(विशेष- उपर्युक्त विश्लेषण ग्रह-गोचर की गणना पर आधारित है। जन्म पत्रिका में ग्रह स्थिति एवं दशाओं के कारण इसमें परिवर्तन संभव है।)

ज्योतिष में बताए गए नौ ग्रहों में से एक शुक्र वृष और तुला राशि का स्वामी है।
ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री जी के अनुसार शुक्र का मिथुन राशि में गोचर प्रत्येक राशियों को प्रभावित करेगा। 29 जून को शुक्र का मिथुन राशि मे प्रवेश होगा तथा 23 जुलाई तक वह इस राशि में गोचर करेगा। शुक्र प्रेम , वैभव तथा प्रसिद्धि प्रदान करने वाला ग्रह है। पत्रकारिता, लेखन तथा फिल्‍म में सफलता के लिए शुक्र का मजबूत रहना बहुत आवश्यक है।

ये ग्रह शुक्रवार, 28 जून की रात करीब 1 बजे राशि बदलेगा। शुक्र वृष से मिथुन राशि में प्रवेश करेगा। इस राशि में सूर्य पहले से स्थित है। अब 17 जुलाई तक इन दोनों ग्रहों का मिथुन राशि में योग बना रहेगा। इसके बाद सूर्य कर्क राशि में चला जाएगा। शुक्र 23 जुलाई तक मिथुन राशि में रहेगा।
नवग्रहों में छठे और सबसे चमकीले ग्रह शुक्र का राशि परिवर्तन हो रहा है। शुक्र अपनी राशि वृष से निकलकर मिथुन राशि में आकर सूर्य और राहु से मिलेंगे। इस राशि में शुक्र 23 जुलाई 2019 तक रहेंगे।

शुक्र भौतिक सुख और समृद्धि के कारक माने जाते हैं। इनका राशि परिवर्तन, सभी राशियों के सुख, धन, वैवाहिक जीवन और प्रेम संबंध को प्रभावित करेगा। कुछ लोगों को इस दौरान स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है। आपके लिए शुक्र का यह राशि परिवर्तन कैसा रहने वाला है।

तुला तथा वृषभ का स्वामी ग्रह शुक्र है। मिथुन का स्वामी बुध है जो कि शुक्र का मित्रग्रह है। ऐसे में प्रत्‍येक राशि के जातकों पर इसका असर पड़ने वाला है। यदि मेष की बात करें तो उनकी आर्थिक प्रगति होगी। प्रेम में सफलता मिलेगी। वहीं कर्क राशि के जातक धन का निवेश भूमि या मकान में कर सकते हैं।

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री जी से जानिए सभी 12 राशियों पर शुक्र का कैसा रहेगा असर प्रभाव..


मेष राशि
इस राशि से शुक्र तृतीय हो जाएगा। ये ग्रहों पुराने मित्रों से मिलन करवाएगा। पारिवारिक स्थितियों में सुधार होगा। कार्य क्षेत्र बढेगा। अधिक मेहनत करना होगी।


वृषभ राशि
इस राशि से शुक्र निकल जाएगा। अब द्वितीय शुक्र लाभ देने वाला होगा। संतान से सुख प्राप्त होगा। अपने लिए समय निकाल पाएंगे।


मिथुन राशि
इस राशि के लिए प्रथम शुक्र सामान्य रहने की संभावनाएं हैं। कार्यों के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। निवेश से बचेंगे तो अच्छा रहेगा।।


कर्क राशि
द्वादश शुक्र आपके वैवाहिक जीवन में परेशानियां बढ़ा सकता है। जीवन साथी से वाद-विवाद हो सकते हैं। प्रेम प्रसंग में निराशा मिल सकती है। काम ज्यादा करना पड़ेगा।


सिंह राशि
एकादश शुक्र की वजह से न्यायालयीन कार्यों में सफलता मिल सकती है। नई योजनाओं को पूरा करने की जवाबादारी मिलेगी। समय पक्ष का रहेगा।


कन्या राशि
आपके लिए दशम शुक्र शुभ रहेगा। अटके कार्यों में गति मिलेगी। निश्चित समय में काम करने में सक्षम होंगे। रुका हुआ पैसा मिलेगा।


तुला राशि
नवम शुक्र आपके प्रभाव में वृद्धि करेगा, लेकिन ध्यान रखें अति आत्मविश्वास हानिकारक होता है। धैर्य बनाए रखें। दांपत्य जीवन सुखी रहेगा।


वृश्चिक राशि
अष्टम शुक्र अटके धन की प्राप्ति कराएगा। वरिष्ठों से सहयोग प्राप्त होगा। विषम परिस्थितियों से निपटने में सक्षम रहेंगे।


धनु राशि
सप्तम शुक्र आपके उत्साह में वृद्धि करेगा। सोच सकारात्मक रहेगी। धन लाभ मिलने के योग हैं। पुरानी योजनाओं में सफलता मिलेगी।


मकर राशि
आपके लिए षष्ठम शुक्र कार्यों की वृद्धि करने वाला होगा। मेहनत अधिक करनी पड़ेगी, लेकिन लाभ कम मिलेगा। क्रोध हावी हो सकता है, इसीलिए धैर्य रखें।

11. कुंभ- कुंभ राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार पुत्र से लाभ होगा। धन की प्राप्ति होगी। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। शत्रु पराजित होंगे। पुत्र जन्म के योग बनेंगे। प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त होगी। प्रेम संबंध सफल होंगे।

12. मीन- मीन राशि वालों की शुक्र के गोचर अनुसार मनोअभिलाषाएं पूर्ण होंगी। आर्थिक लाभ के अवसर प्राप्त होंगे। भोग-विलास की सामग्री प्राप्त होगी। संपत्ति प्राप्ति के योग बनेंगे। वाहन सुख प्राप्त होगा। संबंधियों से स्नेह प्राप्त होगा। माता से लाभ होगा। मन प्रसन्न व आनंदित रहेगा।
✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻
इन उपायों से करें शुक्र के अशुभ प्रभाव को कम –

1. शुक्रवार को शुक्र का दान करें- (दान सामग्री : श्वेत वस्त्र, सौन्दर्य सामग्री, इत्र, चांदी, शकर, दूध-दही, चावल, घी, स्फटिक, सफेद पुष्प)।

2. शुक्रवार के दिन ब्राह्मणों को श्वेत मिष्ठान्न या खीर खिलाएं।

3. शुक्रवार को मंदिर में तुलसी का पौधा लगाएं।

4. प्रत्येक शुक्रवार चींटियों को आटा व पिसी शकर मिश्रित कर डालें।

5. सफेद गाय को नित्य चारा व रोटी दें।

💐💐🎉🎉🙏🏻🙏🏻🙏🏻
उज्जैन (मध्यप्रदेश) में उत्तरमुखी पावन माँ शिप्रा के तट पर
मंगलदोष निवारण पूजन, ऋण मुक्ति अनुष्ठान,
अंगारक दोष पूजन( निवारण) हेतु
कालसर्प दोष निवारण पूजन, पितृ दोष निवारण पूजन, नान्दी श्राद्ध पूजन, नागबलि- नारायण बलि पूजन, अर्क विवाह, घट विवाह के साथ साथ महामृत्युंजय मन्त्र अनुष्ठान एवम माँ बगलामुखी अनुष्ठान वैदिक रीति अनुसार सम्पन्न करवाए जाते हैं।
💐💐🎉🎉🙏🏻🙏🏻
सम्पर्क करें–
पण्डित दयानन्द शास्त्री,
उज्जैन।
वाट्सएप- 9039390067..
मोबाइल -7000395415..
💐💐🎉🎉🙏🏻🙏🏻🙏🏻

नवीन समाचार

मेरा जन्म 26 नवंबर 1972 को हुआ था। मैं नैनीताल, भारत में मूलतः एक पत्रकार हूँ। वर्तमान में मार्च 2010 से राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक समाचार पत्र-राष्ट्रीय सहारा में ब्यूरो चीफ के रूप में कार्य कर रहा हूँ। इससे पहले मैं पांच साल के लिए दैनिक जागरण के लिए काम कर चुका हूँ। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग से ‘नए मीडिया’ विषय पर शोधरत हूँ। फोटोग्राफ़ी मेरा शौक है। मैं NIKON COOLPIX P530 और अडोब फोटोशॉप 7.0 के साथ फोटोग्राफी कर रहा हूँ। फोटोग्राफी मेरे लिए दुनियां की खूबसूरती को अपनी ओर से चिरस्थाई बनाने का बहुत छोटा सा प्रयास है। एक फोटो पत्रकार के रूप में मेरी तस्वीरों को नैनीताल राजभवन सहित विभिन्न प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया, तथा उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती मार्गरेट अलवा द्वारा सम्मानित किया गया है। कुछ चित्रों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं। गूगल अर्थ पर चित्र उपलब्ध कराने वाली पैनोरामियो साइट पर मेरी प्रोफाइल को 18.85 Lacs से भी अधिक हिट्स प्राप्त हैं।पत्रकारिता और फोटोग्राफी के अलावा मुझे कवितायेँ लिखना पसंद है। काव्य क्षेत्र में मैंने नवीन जोशी “नवेन्दु” के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मैंने बहुत सी कुमाउनी कवितायेँ लिखी हैं, कुमाउनी भाषा में मेरा काव्य संकलन उघड़ी आंखोंक स्वींड़ प्रकाशित हो चुका है, जो कि पुस्तक के के साथ ही डिजिटल (PDF) फार्मेट पर भी उपलब्ध होने वाली कुमाउनी की पहली पुस्तक है। मेरी यह पुस्तक गूगल एप्स पर भी उपलब्ध है। ’ यहां है एक पत्रकार, लेखक, कवि एवं छाया चित्रकार के रूप में मेरी रचनात्मकता, लेख, आलेख, छायाचित्र, कविताएं, हिंदी-कुमाउनी के ब्लॉग आदि कार्यों का पूरा समग्र। मेरी कोशिश है कि यहां नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड और वृहद संदर्भ में देश की विरासत, संस्कृति, इतिहास और वर्तमान को समग्र रूप में संग्रहीत करने की….। मेरे दिल में बसता है, मेरा नैनीताल, मेरा कुमाऊं और मेरा उत्तराखंड

Leave a Reply

Next Post

शिक्षक की नौकरी छोड़ ‘बांज बचाने’ को जुटे चंदन

Wed Jul 3 , 2019
यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये      Share on Facebook Tweet it Share on Google Email
Loading...

Breaking News