News

‘अमृत महोत्सव’ के तहत भाषण व प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं में करीना व कार्तिकेय रहे विजेता

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, नैनीताल, 23 मार्च 2021। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत फील्ड आउटरीच ब्यूरो नैनीताल के द्वारा स्वतंत्रा संग्राम के 75वें वर्ष पर आयोजित हुई दो दिवसीय चित्र प्रदर्शनी व ‘अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम मंगलवार को भी जारी रहा। इस दौरान आज शहीदी दिवस के अवसर पर वक्ताओं ने भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के बलिदानों को याद करते हुए स्वतंत्रता आंदोलन में क्रांतिकारियों की भूमिका की चर्चा की गई। इस अवसर पर आयोजित भाषण प्रतियोगिता मंे नैनीताल के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की छात्रा करीना अली ने प्रथम, खुशी बिष्ट ने द्वितीय व पूजा भाकुनी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। वहीं प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में सैनिक स्कूल नैनीताल के छात्र कार्तिकेय बिष्ट, दिव्यांशु पंत, तनुज नैथवाल व राजकीय बालिका इंटर कॉलेज नैनीताल की पूजा भाकुनी ने पुरस्कार जीते।

विजेता छात्राओं को पुरस्कृत करते मुख्य अतिथि।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए भूतपूर्व आईपीएस अधिकारी किरण लाल साह ने कहा कि स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद आज युवाओं के बीच विचारधारा का निर्माण करना सबकी जिम्मेदारी है। उन्होंने जापान और जर्मनी का उदाहरण देते हुए कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध में इन देशों की तबाही के बावजूद वे दोबारा उठ खड़े हुए। कार्यक्रम में नैनी महिला एवं बाल विकास समिति की अध्यक्ष विजयलक्ष्मी थापा ने भी विचार रखे। वहीं भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी राजेश सिन्हा ने भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत फील्ड आउटरीच ब्यूरो द्वारा आयोजित कार्यक्रम का उद्देश्य स्वतंत्रता संग्राम के संघर्षों से वर्तमान पीढ़ी को और अधिक अवगत कराना है। इस दौरान विभाग के अधिकारी कलाकारों ने राष्ट्रभक्ति के गीत का कार्यक्रम पेश किये, जबकि नैनी महिला एवं बाल विकास समिति की महिला कलाकारों होली के कार्यक्रम प्रस्तुत किये।

यह भी पढ़ें : आजादी के अमृत को अक्षुण्ण बनाये रखने को कर्तव्यों पर सजगता जरूरी: विधायक

-फील्ड आउटरीच ब्यूरो के तत्वावधान में आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर ‘अमृत महोत्सव’ के तहत दो दिवसीय चित्र प्रदर्शनी, परिचर्चा व सांस्कृतिक कार्यक्रम शुरू
नवीन समाचार, नैनीताल, 22 मार्च 2021। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत फील्ड आउटरीच ब्यूरो द्वारा सोमवार को मुख्यालय स्थित नैनीताल क्लब के शैले हॉल में आजादी के 75वीं वर्षगांठ पर ‘अमृत महोत्सव’ पर दो दिवसीय चित्र प्रदर्शनी, परिचर्चा व सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए स्थानीय विधायक संजीव आर्य ने बतौर मुख्य अतिथि किया। इस मौके पर अपने संबोधन में श्री आर्य ने कहा कि देश के अपार कष्टों, कठिन संघर्ष व परिश्रम से अमृत रूपी आजादी मिली थी। इसे अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए देशवासियों के लिए अधिकारों के साथ अपने कर्तव्यों व दायित्वों पर भी सजगता जरूरी है।
विशिष्ट अतिथि नगर के वरिष्ठ नागरिक दुर्गा दत्त रुवाली ने कहा कि आज की वर्तमान पीढ़ी को स्वतंत्रता का महत्व समझने की अधिक आवश्यकता है। वहीं कुमाऊं विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग की प्रोफेसर सावित्री कैड़ा ने 1398 में जियारानी द्वारा तैमूर लंग से लोहा लेने, 17वीं सदी में रानी कर्णावती द्वारा मुगह बादशाह शाहजहां को सबक सिखाने, तीलू रौतेली द्वारा गढ़वाल की राजसत्ता के खिलाफ संघर्ष करने से लेकर आजादी के संघर्ष में प्रदेश की महिलाओं के संघर्ष का ब्यौरा प्रस्तुत किया। इसके अलावा प्रोफेसर ललित तिवारी और जाने-माने कलाकार कमलेंद्र सेमवाल, अनिल घिल्डियाल तथा मिथिलेश पांडे ने अपने अंदाज में स्वतंत्रता संग्राम के विभिन्न पहलुओं की चर्चा की। कमलेंद्र सेमवाल ने अपने बांसुरी से राष्ट्रीय गीत पेश किया जबकि मिथिलेश पांडे ने परशुराम के एक प्रसंग को गाकर सुनाया। इस दौरान स्वतंत्रता के संघर्ष और उत्तराखंड के वीर सेनानियों के चित्रों की प्रदर्शनी भी दर्शनीय रही। इससे पूर्व विभाग के भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी राजेश सिन्हा ने कार्यक्रम की विषयवस्तु के साथ स्वतंत्रता संग्राम के विभिन्न आयामों के साथ वर्तमान संदर्भ में इनके महत्व पर प्रकाश डाला। समारोह में विभाग की ओर से प्रदेश के गणमान्य पत्रकारों के साथ ही अन्य बुद्धिजीवियों व कलाकारों का सम्मान किया गया। विभाग के अधिकारी कलाकारों ने गीत-संगीत भी प्रस्तुत किये और क्विज प्रतियोगिता भी आयोजित हुए और सही उत्तर देने वाले नकुल देव, दीपक, अमित जोशी एवं नवल आर्या आदि छात्रों को पुरस्कृत भी किया गया।

यह भी पढ़ें : हर्षोल्लास से मनाया गणतंत्र दिवस, पर न राष्ट्रध्वज को सलामी, न विकास प्रदर्शनी, न प्रभात फेरी और ध्वनि व्यवस्था तो….

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 जनवरी 2021। जिला एवं मंडल मुख्यालय में देश की स्वतंत्रता का वास्तविक पर्व, जिस दिन से देश ने अपना संविधान अंगीकार किया, गणतंत्र दिवस हर्षोल्लास से मनाया गया। इस दौरान नगर में जहां एक ओर सप्ताहांत के साथ सोमवार का अवकाश लेकर जुड़े लंबे अवकाश की वजह से सैलानियों की भरमार से भी रौनक व उत्साहपूर्ण माहौल रहा, वहीं नगर के ऐतिहासिक डीएसए-फ्लैट्स मैदान में आयोजित गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में भारी संख्या में लोग दर्शक दीर्घा और मैदान की सीढ़ियों पर जुटे। अलबत्ता लगातार दूसरी बार न बंदूकों से राष्ट्रध्वज को सलामी दी गई, और न ही विभिन्न विभागों की विकास से संबंधित झांकियां ही परेड में शामिल हुई। सुबह प्रभात फेरी भी नहीं निकली। आयोजन में ध्वनि व्यवस्था ने भी दर्शकों को पूरी तरह से मायूस किया, ऐसे में लोग मुख्य अतिथि का संबोधन शुरू होते ही कुछ न सुनाई देने के कारण कार्यक्रम स्थल से लौटने लगे। कार्यक्रम में कोरोना प्रोटोकॉल केवल चेहरे पर मास्क लटकने तक सीमित रहे। सामाजिक दूरी का पालन होता नहीं दिखा। आयोजन में प्रेस एवं अन्य गणमान्य जनों को आमंत्रित किए जाने की औपचारिकता भी नहीं दिखाई दी।
वहीं मुख्य कार्यक्रम में प्रदेश के परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने पुलिस परेड का खुली जीप से निरीक्षण किया और परेड की सलामी ली। परेड पुलिस के महिला-पुरुष जवानों की 6 टुकड़ियों ने पुलिस क्षेत्राधिकारी विजय थापा के नेतृत्व में निकाली। परेड में एनसीसी के बालक व बालिका कैडेटों की दो टुकड़ियों, डॉग स्क्वॉड, सीपीयू, चीता मोबाइल, आशा कार्यकत्रियां व 108 एंबुलेंस सेवा भी शामिल हुई। सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुए। कार्यक्रम के समापन पर एनसीसी के कैडेट मस्ती में थल की बजारा, चैता की चैत्वाला, हवन करेंगे और बोल हीरा बोल आदि गीतों पर झूमते तथा जय हिंद के नारे लगाते नजर आए।
वहीं पूछे जाने पर सीओ विजय थापा ने कहा कि कोरोना की वजह से अभ्यास के लिए कम समय मिलने एवं कुंभ ड्यूटी में पुलिस कर्मियों के जाने की वजह से कम संख्या होने की वजह से राष्ट्रध्वज को बंदूकों की सलामी नहीं दी गई। यहां उल्लेखनीय है कि गत वर्ष भी राष्ट्रध्वज को बंदूकों की सलामी नहीं दी गई थी और विभिन्न विभागों की विकास से संबंधित झांकियां भी परेड में शामिल नहीं हुई थीं। तब कोरोना भी प्रभावी नहीं था, और तब इसका कोई कारण भी नहीं बताया गया था। ऐसे में लोगों के मन में शंका है कि शासन-प्रशासन के मन में राष्ट्रीय पर्वों के प्रति सम्मान कम तो नहीं हो रहा है।
इससे पूर्व नगर में मौसूम महात्मा गांधी, भारत रत्त गोविंद बल्लभ पंत, बाबा साहेब अंबेडकर व करगिल शहीद मेजर राजेश अधिकारी के चित्रों पर भी भी गणमान्य जनों ने माल्यार्पण किया। उत्तराखंड उच्च न्यायालय, कुमाऊं कमिश्नरी, जिला कलक्ट्रेट, डॉ. रघुनंदन सिंह टोलिया उत्तराखंड प्रशासन अकादमी, नगर पालिका, जिला पंचायत सहित अनेक कार्यालयों में भी ध्वजारोहण किया गया। अनेक लोगांे ने अपने घरों व प्रतिष्ठानों पर भी राष्ट्रध्वज फहराया। जिला सूचना कार्यालय में उपनिदेशक सूचना योगेश मिश्रा की अगुवाई ने गणतंत्र दिवस पर ध्वजारोहण किया गया तथा राष्ट्र ध्वज को सलामी देने के साथ संविधान की शपथ ली गई। इस अवसर पर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए उप निदेशक श्री मिश्रा ने कहा कि हमारा देश धर्म निरपेक्ष देश है, जहां धर्म की आजादी के साथ ही विकास की पूर्ण स्वतंत्रता है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी को हासिल करने में तत्कालीन पत्रकारों, अखबार नवीसों, कवियों, लेखकों, गीतकारों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। वहीं आजाद देश को विकास की धारा में निरंतर आगे बढ़ाने में पत्रकारों एवं मीडिया की भूमिका आज भी सर्वमान्य है। उन्होंने पत्रकार बन्धुओं से अपील की कि वे अपने दायित्वों का निर्वहन रचनात्मक एवं स्वस्थय पत्रकारिता के माध्यम से निरंतर करते रहें। इस अवसर पर उन्होंने सभी पत्रकार बन्धुओं को शुभकामनाऐं भी दी। कार्यक्रम में पत्रकार चन्द्रेक बिष्ट, किशोर जोशी, प्रशान्त दीक्षित, भूपेन्द्र सिंह रौतेला, डॉ. नवीन जोशी, अफजल हुसैन फौजी, अजमल हुसैन, नवीन तिवारी, दामोदर लोहनी, संदीप कुमार, विनोद कुमार के अलावा, सूचना विभाग के मोहन चंद्र फुलारा, प्रकाश पांडे, सुधीर कुमार, दिवान बिष्ट, पवन नेगी, उमेद सिंह जीना, नीलम राज सहायक अध्यापिका टीकरी देहरादून, बीना जोशी सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : पहाड़ के बच्चे नहीं मना पाते गणतन्त्र दिवस, एक विद्यालय की CM Helpline में की गई शिकायत

-शीतकालीन अवकाश के लिए विद्यालय रहते हैं बन्द, अधिकांश बच्चों को नहीं पता कैसे मनाते हैं गणतन्त्र दिवस
नवीन जोशी, नैनीताल। देश की युवा पीढी यानी बच्चों के बिना गणतंत्र की कल्पना नहीं की जा सकती, पर उत्तराखंड में ऐसा हो रहा है। प्रदेश के पहाडी अंचलों में अधिकांश बच्चों को गणतन्त्र दिवस मनाने के बारे में जानकारी नहीं है, अथवा बहुत कम है। कारण, उनके विद्यालय गणतन्त्र दिवस के दौरान शीतकालीन अवकाश के लिए बन्द होते हैं, इसलिए न स्कूलों में गणतन्त्र दिवस का आयोजन होता है, और न ही बच्चों को देश के गणतन्त्र के इस मान-सम्मान के प्रतीक राष्ट्रीय पर्व के आयोजन की जानकारी हो पाती है। इधर इस वर्ष अल्मोड़ा जनपद के लमगड़ा विकास खंड स्थित जयंती (जैंती) स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में इस अवसर पर झंडारोहण न किये जाने की शिकायत स्थानीय एसडीएम, अल्मोड़ा जनपद के डीएम के साथ मुख्यमंत्री के सीएम हेल्पलाइन पोर्टल में भी की गई है।
उल्लेखनीय है कि गणतन्त्र दिवस देश की आजादी का वास्तविक पर्व है। इसी दिन से राष्ट्र में अपने संविधान के साथ अपना राज कायम हुआ था। देश भर में यह आयोजन खासकर विद्यालयों में बेहद हर्षोल्लास से मनाया जाता है। लेकिन नैनीताल जनपद से ही बात शुरू करें तो यहाँ कुल 96 प्राथमिक विद्यालयों में से 2 तथा जूनियर हाईस्कूल से इंटरमीडिएट तक के 9 सरकारी, मुख्यालय का एक स्थानीय निकाय संचालित नगर पालिका नर्सरी स्कूल एवं तीन अर्धशासकीय विद्यालयों भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय, सीआरएसटी इंटर कालेज व मोहन लाल साह बालिका विद्या मन्दिर के साथ ही सभी निजी पब्लिक स्कूलों में इन दिनों शीतकालीन अवकाश होने के कारण गणतन्त्र दिवस का आयोजन नहीं होता है। मुख्यालय में जहाँ अन्य राष्ट्रीय पर्वों पर सुबह प्रभात फेरी से लेकर अपराह्न तक कार्यक्रम बच्चों से ही गुलजार रहते हैं, वहीँ गणतन्त्र दिवस में बच्चे नहीं होते तो अन्य लोग भी कमोबेश इस राष्ट्रीय पर्व को औपचारिक ही मनाते हैं। शिक्षक अन्य संस्थानों में उपस्थिति दर्ज कराकर औपचारिकता निभा लेते हैं। वर्षों से ऐसा परिपाटी के रूप में हो रहा है। इसका एक नुकसान यह भी है कि बच्चों को गणतन्त्र दिवस के  इस महत्वपूर्ण आयोजन की जानकारी भी नहीं हो पाती है, या तब हो पाती है, जब वह ग्रीष्मकालीन अवकाश वाले विद्यालयों में जाते हैं। इसका निदान क्या हो यह एक विचारणीय प्रश्न हो सकता है।
 
पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है यहाँ !
यह आम बात है कि ख़ास कर निजी महंगे पब्लिक स्कूलों में त्योहारों के दिन अवकाश होने के कारण इन्हें पहले दिन ही मन लिया जाता है। गणतंत्र दिवस 25 जनवरी को तथा गांधी जयन्ती एक अक्टूबर को मनाकर औपचारिकता निभा ली जाती है। इन तिथियों के अखबार उठा कर देख लें पुष्टि हो जायेगी । यहाँ तक तो गलती कुछ हद तक माफी योग्य शायद हो भी, लेकिन यदि देश के भविष्य को तैयार महंगी फीस लेकर तैयार करने वाले यह स्कूल स्वतंत्रता दिवस को भी एक दिन पहले यानी 14 अगस्त को मना लें तो इसे क्या कहेंगे ? जान लें 14 अगस्त हमारा नहीं हमारे पड़ोसी दुश्मन राष्ट्र पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस है। आसपास नजर डालिए, कहीं आपके बच्चे के स्कूल में भी तो ऐसा नहीं हो रहा ? नैनीताल के तो अधिकाँश पब्लिक स्कूलों में ऐसा वर्षों से हो रहा है।

यह भी पढ़ें : गणतंत्र दिवस के लिए पुलिस की फाइनल परेड हुई

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 जनवरी 2021। पिछले कुछ दिनों से गणतंत्र दिवस की तैयारी कर रहे पुलिस कर्मियों ने रविवार को ‘फुल ड्रेस रिहर्सल’ हुई। इस दौरान पूरी वर्दी में सजे महिला-पुरुष जवानों ने बैंड पर देशभक्ति की धुनों पर कदम से कदम मिलाते हुए पूर्वाभ्यास किया। सीओ विजय थापा ने बताया कि सोमवार को परेड नहीं होगी व डीएसए मैदान में तैयारियांे को अंतिम रूप दिया जाएगा। वहीं गणतंत्र दिवस पर महिला-पुरुष जवानों की छह टुकड़ियां के साथ एनसीसी कैडेटों की दो टुकड़ियां एवं पुलिस के डॉग स्कवॉड, संचार, सीपीयू व चीता मोबाइल की यूनिटें शामिल होंगी।

यह भी पढ़ें : गांधी-शास्त्री जयंती पर पहली बार नहीं हुई प्रभात फेरी, न निकला जुलूस, न परेड

नवीन समाचार, नैनीताल, 02 अक्टूबर 2020। युग पुरूष राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वीं जयंती व विश्व अहिंसा दिवस तथा ‘जय जवान-जय किसान’ का नारा देने वाले देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती जनपद भर में कोविड-19 के दिशा-निर्देशों के अनुसार सादगी से मनायी गयी। इस दौरान जिला व मंडल मुख्यालय में पहली बार इस अवसर पर निकलने वाली बच्चों की प्रभात फेरी और शाम को माल रोड पर निकलने वाला जुलूस और डीएसए मैदान में होने वाली परेड नहीं हुई।
इस अवसर पर डीएम सविन बंसल ने जिला कलक्ट्रेट में तथा अपर आयुक्त संजय खेतवाल ने कमिश्नरी कार्यालय में गांधी जी व शास्त्री के चित्रों का अनवारण कर उनको श्रद्धा सुमन अर्पित किये। साथ ही मुख्यालय स्थित सभी शासकीय भवनांे पर राष्ट्रीय ध्वज भी फहराया गया तथा राम धुन बजाई गई व गायन के साथ ही दोनों व्यक्तित्वों एवं उनके द्वारा किये गये कार्यों पर चर्चा की गयी। डीएम बंसल, एसएसपी सुनील कुमार मीणा, एडीएम एसएस जंगपांगी व केएस टोलिया, एसडीएम विनोद कुमार, मुख्य कोषाधिकारी अनिता आर्या ने तल्लीताल डॉठ स्थित गॉधी जी की मूर्ति पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किये, साथ ही बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर, भारत रत्न गोविंद बल्लभ पन्त व शहीद मेजर राजेश अधिकारी की मूर्तियों पर भी माल्यापर्ण किया गया।
इधर जिला सूचना कार्यालय में इस अवसर पर उप निदेशक सूचना योगेश मिश्रा तथा पत्रकार चंद्रेक बिष्ट, कमल जगाती, नवीन जोशी, सूचना विभाग के प्रकाश पांडे, मोहन चन्द्र फुलारा, दिवान गिरी, दिवान सिंह बिष्ट, उमेद सिंह जीना आदि ने भी दोनों महानुभावों के चित्रों पर पुष्पांजलि अर्पित की। उधर एरीज यानी आर्य भट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान में इस अवसर पर 26 नवंबर 2019 से 26 नवंबर 2020 तक वर्ष भर चल रहे संविधान दिवस व नागरिक कर्तव्यों पर आधारित कार्यक्रम तथा गांधी जयंती के अवसर पर बच्चों के लिए निबंध लेखन, प्रश्नोत्तरी व चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस मौके पर वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. वहाब उद्दीन, डा. स्नेहलता, डा. नीलम, डा. यूसी दुम्का, अर्जुन रेड्डी, वीके सिंह, डा. बृजेश, डा. कौशल व रवींद्र कुमार आदि मौजूद रहे। नगर के सीआरएसटी इंटर कॉलेज में प्रधानाचार्य मनोज कुमार पांडे ने बापू एवं शास्त्री जी के चित्रों पर माल्यार्पण किया। उधर कुमाऊं विश्वविद्यालय के डीएसबी परिसर में कुलपति प्रो. एनके जोशी की अगुवाई में भी गांधी एवं शास्त्री जी को श्रद्धासुमन अर्पित किये गए। परिसर निदेशक प्रो. एलएम जोशी, अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. डीएस बिष्ट आदि ने भी विचार रखे। कार्यक्रम में प्रो. ललित तिवारी, प्रो. नीता बोरा शर्मा, प्रो. एचसीएस बिष्ट, प्रो. पद्म सिंह बिष्ट, प्रो. संजय पंत, प्रो. एससी सती व डा. सुचेतन साह आदि भी मौजूद रहे। वहीं परिसर स्थित राजनीति विज्ञान विभाग में इस अवसर पर संगोष्ठी आयोजित हुई, जिसमें आयोजक प्रो. नीता बोरा शर्मा, शोध एवं प्रसार निदेशक प्रो. ललित तिवारी, प्रो. मधुरेंद्र कुमार, प्रो. बीएल साह, प्रो. कल्पना अग्रहरि तथा मोक्षदा यादव, आरती आर्य, कविता आर्य, आफिब हुसैन, पुण्य प्रसून यादव व अक्षत यादव आदि विद्यार्थियों ने भी विचार रखे। वहीं नैनीताल चिड़ियाघर में भी इस अवसर पर दोनों महान विभूतियों के चित्रों का अनावरण करने के साथ रामधुन गाई गई, तथा वन्य प्राणी सप्ताह के तहत चिड़ियाघर में वन्य जीवों की देखभाल करने वाले ‘एनीमल कीपर्स’ ने वन्य प्राणियांे की देखरेख पर अपने अनुभव साझा किये। इस दौरान 82 बच्चों ने चिड़ियाघर का निःशुल्क भ्रमण किया। इस मौके पर प्राणि उद्यान के वन क्षेत्राधिकारी अजय रावत, एसडीओ दीपक तिवारी, धरम सिंह बोनाल, वन दरोगा पुष्कर मेहरा, महेश बोरा, ललित मोहन पांडे, खजान मिश्रा, राजेंद्र जोशी व अतुल भगत आदि वनाधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।
इस मौके पर ग्रीन आर्मी संस्था के गोविंद प्रसाद, जय जोशी, अजय कुमार, मानिक साह, तनुज आर्य, सुनील चंद्र, कंचन जोशी, अवी जोशी, बबली आर्या आदि ने नगर के रतन कॉटेज, बिड़ला चुंगी क्षेत्र में सफाई अभियान चलाया।

राज्य आंदोलनकारियों ने ‘काला दिन’ के रूप में मनाया दो अक्टूबर, ताजा हुए 25 वर्ष पुराने जख्म

नैनीताल। विश्व के लिए अहिंसा दिवस एवं देश के लिए 151वीं गांधी जयंती को उत्तराखंड के राज्य आंदोलनकारियों ने इसी दिन 26 वर्ष पूर्व 1994 में उत्तराखंडियों के साथ रामपुर व मुजफ्फरनगर तिराहा में हुई अमानवीयता, महिलाओं के शीलभंग की घटनाओं को याद करते हुए और अब तक उस दुर्दांत कांड के दोषियों को सजा न मिलने के विरोध में ‘काला दिन’ के रूप में मनाया। इस मौके पर नगर के राज्य आंदोलनकारी और आंदोलनकारी ताकतें हर वर्ष की तरह तल्लीताल गांधी मूर्ति के नीचे एकत्र हुईं और सभा कर शहीदों को याद किया, तथा राज्य की अवधारणा के अब तक पूरा न होने का आरोप लगाते हुए सत्तासीनों पर भड़ास निकाली।
वहीं इस दौरान राज्य आंदोलनकारी मोहन पाठक कुमाऊं मंडल में स्वास्थ्य सुविधाओं की बदहाली का आरोप लगाते हुए एक दिन के उपवास पर बैठे। उनके साथ भूपाल कार्की, केएल आर्य सहित अन्य लोग भी बैठे। इस दौरान मुजफ्फरनगर कांड में शहीद हुए उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों को भी याद किया गया। 

यह भी पढ़ें : कोरोना के बावजूद सादगी व हर्षोल्लास से मनाया गया आजादी का राष्ट्रीय पर्व, 74 वर्षों में पहली बार नहीं निकल पाई प्रभात फेरी

-उत्तराखंड उच्च न्यायालय, कमिश्मरी, जिला मुख्यालय, पुलिस के कुमाऊं के परिक्षेत्रीय कार्यालय व पुलिस लाइन, उत्तराखंड प्रशासन अकादमी के साथ ही जिला सूचना एवं नगर पालिका सहित विभिन्न कार्यालयों में किया गया झंडारोहण
-स्कूलों के बंद होने से बच्चों ने घर पर ही प्रधानमंत्री का भाषण देख-सुनकर और घर पर ही झंडा फहराकर मनाया स्वतंत्रता दिवस
नवीन समाचार, नैनीताल, 15 अगस्त 2020। देश की आजादी का राष्ट्रीय पर्व शनिवार को कोरोना की महामारी के बावजूद निर्भय होकर सादगी व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर उत्तराखंड उच्च न्यायालय, कुमाऊं कमिश्मरी, जिला मुख्यालय, पुलिस के कुमाऊं के परिक्षेत्रीय कार्यालय व पुलिस लाइन, उत्तराखंड प्रशासन अकादमी के साथ ही जिला सूचना एवं नगर पालिका सहित विभिन्न सरकारी एवं गैर सरकारी इमारतों पर ध्वजारोहण किया गया। इस अवसर पर मुख्यालय में देश की खुशहाली, अमन-शान्ति, समृद्धि के लिए मस्जिद, मंदिर, गुरुद्वारों में विशेष प्रार्थनाऐं आयोजित की गयी। कोविड-19 के चलते कार्यक्रमों में प्रतिभाग करने वाले लोगों ने मास्क व सेनिटाईजर के साथ ही सामाजिक दूरी के मानकों का पालन भी किया। अलबत्ता स्कूलों के बंद होने से बच्चों ने घर पर ही प्रधानमंत्री का भाषण देख-सुनकर और घर पर ही झंडा फहराकर स्वतंत्रता दिवस मनाया। अलबत्ता इस मामले में कसक देखने को मिली कि 74 वर्षों में पहली बार मुख्यालय में बच्चों की चहक एवं आजादी के नारों के साथ निकाली जाने वाली प्रभात फेरी नहीं निकाली गई। इससे कुछ मायूसी का माहौल भी देखा गया।

बच्चों ने इस तरह घर पर ही मनाया 74वां स्वतंत्रता दिवस।

इस अवसर पर उत्तराखंड उच्च न्यायालय में कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश रवि कुमार मलमथ, कुमाऊं कमिश्नरी में अपर आयुक्त संजय खेतवाल, जिला कार्यालय में डीएम सविन बंसल, उत्तराखण्ड प्रशासन अकादमी में निदेशक राजीव रौतेला, कुमाऊं के परिक्षेत्रीय कार्यालय में आईजी अजय रौतेला, पुलिस लाइन में एसएसपी सुनील कुमार मीणा, जिला सूचना कार्यालय में उप निदेशक योगेश मिश्रा ने ध्वजारोहण किया। इस मौके पर डीएम बंसल तथा एसएसपी मीणा ने तल्लीताल स्थित महात्मा गॉधी, डॉ. भीमराव अम्बेडकर, शहीद मेजर राजेश अधिकारी व मल्लीताल में पंडित गोविंद बल्लभ पंत की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी और जिला कलेक्ट्रेट में अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी श्री बंसल ने शहीदों दिवंगत हुए स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि देश की आजादी में शहीदों का योगदान लम्बे समय तक याद रखा जायेगा। ध्वजारोहण में उत्तराखंड प्रशासन अकादमी के संयुक्त निदेशक नवनीत पांडे, दीपक पालीवाल, उप निदेशक रेखा कोहली, विवेक कुमार सिंह, दिनेश कुमार राणा, पूनम पाठक, जिला सूचना कार्यालय में पत्रकार चन्द्रेक बिष्ट, प्रशांत दीक्षित, भूपेंद्र मोहन रौतेला, नवीन जोशी, अफजल फौजी, अजमल हुसैन, सुरेश कांडपाल, नवीन तिवारी, तेज सिंह, संदीप कुमार, विनोद कुमार व मोहम्मद जावेद, के अलावा अतिरिक्त जिला सूचना अधिकारी अहमद नदीम, सूचना विभाग के मोहन चंद्र फुलारा, प्रकाश पांडे, दिवान गिरी, दिवान बिष्ट व किशन लाल आदि मौजूद रहे।

स्वतंत्रता दिवस पर जिला चिकित्सालय में फ्लू क्लीनिक, डिजिटल एक्स-रे मशीन, नवनिर्मित शौचालय, जनरेटर का उद्घाटन
नैनीताल। डीएम सविन बंसल ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय का निरीक्षण कर मरीजों और उनके तीमारदारों से मुलाकात कर उन्हें स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाऐं दीं। उन्होंने चिकित्सालय में सुदृढ़ीकरण एवं सुसज्जीकरण के तहत स्थापित किये गये फ्लू क्लीनिक, डिजिटल एक्स-रे मशीन, नवनिर्मित शौचालय, जनरेटर आदि का फीता काटकर लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि मरीजों को बेहतर सुविधाऐं दी जाने के लिए प्रशासन एवं स्वास्थ्य महकमा कटिबद्ध है। इस अवसर पर एडीएम एसएस जंगपांगी, एसडीएम विनोद कुमार, सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी, एसीएमओ डॉ.रश्मि पंत व डॉ. टीके टम्टा के अलावा पीएमएस डॉ. केएस धामी व डॉ. वीके पुनेरा आदि उपस्थित रहे।
उक्रांद, आप, वीरांगना वाहिनी, हिजामं व सरस्वती विहार ने भी बनाया स्वतंत्रता दिवस
नैनीताल। स्वतंत्रता दिवस पर उधर प्रदेश के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक-द नैनीताल बैंक लिमिटेड में बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत ने ध्वजारोहण किया। इस मौके पर बैंक के सभी वरिष्ठ अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे। वहीं आम आदमी पार्टी नैनीताल की नगर इकाई ने नगर अध्यक्ष शाकिर अली की अगुवाई में कार्यकारिणी सदस्यों के साथ कोरोना के दृष्टिगत विशेष सावधानियां बरतते हुये आजादी का जश्न मनाया। इस दौरान ध्वजारोहण व राष्ट्रगान के पश्चात कार्यकर्ताओं ने वीर सपूतों को नमन करते हुये देश की आजादी के लिये निःस्वार्थ भाव से अपने प्राण न्यौछावर कर देश के स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर श्रीकांत घिल्डियाल, मो. खुर्शीद हुसैन, विजय साह, नवीन उप्रेती, देवेंद्र आर्या तथा मो. बुरहान उर्फ शान अख्तर आदि उपस्थित रहे। विधानसभा प्रभारी प्रदीप दुम्का ने भी कार्यकर्ताओं को बधाई दी। वहीं उत्तराखंड क्रांति दल की नगर इकाई के कार्यक्रम में पूर्व विधायक डॉ. एनएस जंतवाल ने इस अवसर पर कोरोना वॉरियर्स की भी सराहना की। इस मौके पर प्रकाश पांडे, महेंद्र राणा अनुपम उपाध्याय, भूपेश मेहरा, चंद्र प्रकाश, मनोज जोशी, नगराध्यक्ष मनोज साह, आनंद सिंह आदि मौजूद रहे।

इधर, पार्वती प्रेमा जगाती सरस्वती विहार माध्यमिक विहार में पूर्व प्रधानाचार्य सरजू प्रसाद व प्रधानाचार्य नरेंद्र सिंह ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर सरस्वती शिशु मंदिर के प्रधानाचार्य दीवान मेवाड़ी, अतुल पाठक सहित सभी आचार्य मौजूद रहे। वहीं वीरांगना वाहिनी मंच नैनीताल के द्वारा भवाली चौराहे पर जिलाध्यक्ष डॉ. केतकी तारा कुमय्यां के नेतृत्व में वाहिनी मंच द्वारा दीप प्रज्वलित कर एवं फूल अर्पित कर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। कार्यक्रम में वीरांगना वाहिनी की नगर प्रचार प्रमुख यामिनी आर्या ने भवाली नगर पालिका अध्यक्ष संजय वर्मा को सम्मानित किया। इस दौरान श्री वर्मा ने भारत रत्न पंडित गोविंद भल्लभ पंत की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलित किये। कार्यक्रम मे मनोज तिवारी, कुंदन बिष्ट व्यापारी, प्रगति जैन, जीवन वर्षा कला संगम समिति महरागाँव की वर्षा आर्या, सभासद किशन सिंह, पवन भाकुनी, दीपक भंडारी, त्रिवेंद्र शाह, महेंद्र बिष्ट, पंकज बिष्ट, इदरीश खान, हेम कुमार व बुशरा खान आदि लोग मौजूद रहे।
इसके अलावा हिंदू जागरण मंच व युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने तल्लीताल, शहीद स्मारक पर कारगिल युद्ध के वीर योद्धा शहीद मेजर राजेश सिंह अधिकारी और भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की स्मारक पर दीप प्रज्वलित कर उन्हें याद किया। इस मौके पर वैभव आर्य, दीपक दास, दिव्यांशु जोशी, सत्यम भट्ट, सुमित बिष्ट व रोहित कुमार आदि उपस्थित रहे। वहीं टीम ग्रीन आर्मी की ओर से स्वतंत्रता दिवस पर कैमल्स बैक व भीमताल की करकोटक पहाड़ियों पर शाम को पौधारोपण किया गया। इस दौरान करीब 74 पौधे लगाए गये। अभियान में भवाली की शिप्रा कल्याण समिति के अध्यक्ष जगदीश नेगी, हिलदारी अभियान के बासू राय व भीमताल के समाजसेवी पूरन बृजवासी और उनकी टीम ने भी सहयोग किया। साथ ही अभियान में ग्रीन आर्मी गोविंद प्रसाद, जय जोशी, अजय कुमार. सुनील चन्द्र, तनुज आर्य, मानिक साह, प्रदीप कुमार, पंकज कुमार, करन कुमार, गौरव मेहरा आदि ने भी योगदान दिया।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

यह भी पढ़ें : जानें किसने कहा-कर्तव्यों एवं दायित्वों का ईमानदारी से निर्वहन ही सच्ची देश सेवा, और अल्मोड़ा का कौन बना नैनीताल में आकर्षण का केंद्र और क्यों ?

कर्तव्यों एवं दायित्वों का ईमानदारी से निर्वहन ही सच्ची देश सेवा: पंत

नैनीताल बैंक के नये चेयरमैन दिनेश पंत।

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 जनवरी 2020। गणतंत्र दिवस पर प्रदेश के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक-द नैनीताल बैंक लिमिटेड के मुख्यालय स्थित प्रधान कार्यालय के प्रांगण में बैंक के अध्यक्ष दिनेश पंत ने ध्वजारोहण किया। इस मौके पर श्री पंत ने कहा कि हम सभी को अपने कर्तव्यों और दायित्वों का ईमानदारी से निर्वहन करना चाहिए, यही सच्ची देश भक्ति व देश सेवा है। इस अवसर पर बैंक के उपाध्यक्ष रमन गुप्ता, एसोसिएट वाइस प्रेजीडेंट बीबी पांडे, सोनल शर्मा, असद गौड़, राजेंद्र सिंह, रवि बेलवाल, पृथ्वी राज सिंह नेगी, अविनारूा वर्मा व सुधीर कुमार आदि बैक के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

गणतंत्र दिवस पर तिरंगों से सजी बाइक पर पहुंचे संजय रहे आकर्षण का केंद्र

नगर में देशभक्ति व भाईचारे का संदेश देने खास अंदाज में पहुंचे अल्मोड़ा के बाइकर संजय वर्मा।

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 जनवरी 2020। गणतंत्र दिवस पर अल्मोड़ा निवासी 51 वर्षीय संजय वर्मा खास अंदाज में तिरंगों से सजी एवं देश भक्ति गीत प्रसारित कर रही बाइक पर नगर में पहुंचे, और नगर वासियों के आकर्षण का केंद्र बने रहे। संजय ने बताया कि वे नगर के ही सीआरएसटी इंटर कॉलेज से पढ़े हैं, तथा यहीं नैनीताल पर्वतारोहण क्लब से साहसिक खेलों का प्रशिक्षण लिया। इसके बाद उन्होंने अपने मोटर साइकिल राइडिंग के शौक को आगे बढ़ाकर अपने छत्तीसगढ़ के मित्रों के साथ पिछले 15 वर्षों में देश के 21 राज्यों की यात्रा कर चुके हैं। इन यात्राओं में वे उत्तराखंड के इतिहास, संस्कृति, जल संरक्षण एवं पर्यावरण के साथ देशभक्ति के संदेश देते हैं। गणतंत्र दिवस पर भी वे देशभक्ति और भाईचारे का संदेश देने निकले हैं।

यह भी पढ़ें : गणतंत्र दिवस पर नैनीताल-हल्द्वानीवासियों को सुरक्षा के लिए मिला 15 लाख का तोहफा, नैनीतालवासियों के प्रयास को सराहा, सीएए पर भी बोले…

कहा-अधिकारों के साथ ही अपने दायित्वों का कर्तव्यनिष्ठा व ईमानदारी का निर्वहन करें, परतंतु जो ईमानदारी व कर्तव्यनिष्ठा समाज के हित में नहीं, उसका कोई अर्थ नहीं
नवीन समाचार, नैनीताल, 26 जनवरी 2020। गणतंत्र दिवस पर नैनीताल एवं हल्द्वानीवासियों को सुरक्षा के लिए सांसद अजय भट्ट ने 15 लाख रुपए के तोहफे का ऐलान किया। बताया कि इस धनराशि से दोनों शहरों मंे सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि नैनीताल नगर की पार्किंग समस्या का काफी हद तक हल हो गया है। नारायणनगर में पार्किंग के लिए केंदीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय से स्वीकृति प्राप्त हो गई है। आगे धन की कोई समस्या नहीं है। वहीं कैंट की भूमि पर पार्किंग निर्माण के लिए उन्होंने बात की है। इसके अलावा उन्होंने फिर दोहराया कि कैंट की दुकानों से दुकानदारों को हटाया नहीं जाएगा। उनके ध्यानाकर्षण के बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के निर्देशों पर कैंट बोर्ड ने दुकानदारों को वार्ता के लिए बुला लिया है। उन्होंने नगर के युवाओं के पत्रकार कमल जगाती की अगुवाई में स्मैक के नशे के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान की मंच से सराहना की एवं अपनी ओर से योगदान देने की पेशकश की। वहीं सीएए पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि कुछ राज्य सीएए को लागू न करने की बात कर रहे हैं, परंतु देश के संघीय ढांचे में वह ऐसा कर ही नहीं सकते हैं। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को अधिकारों के साथ ही अपने दायित्वों का भी निर्वहन करना चाहिए। कार्यों में कर्तव्यनिष्ठा व ईमानदारी भी जरूरी है। साथ ही यह भी कहा कि जो ईमानदारी व कर्तव्यनिष्ठा समाज के हित में नहीं होती, उसका कोई अर्थ नहीं है।

इससे पूर्व श्री भट्ट ने पहली बार केसरिया रंग में रंगे ऐतिहासिक फ्लैट्स मैदान में देश के 71वें गणतंत्र दिवस पर तिरंगा राष्ट्रध्वज फहराया एवं नगर, क्षेत्र, प्रदेश एवं देश वासियों को गणतंत्र दिवस की बधाइयां दीं। उन्होंने पुलिस परेड की सलामी भी ली एवं पुलिस की गारद का नेतृत्व कर रहे सेनानायकों का परिचय भी प्राप्त किया। कार्यक्रम में विधायक संजीव आर्य, डीएम सविन बंसल, डीआईजी जगतराम जोशी, एसएसपी सुनील कुमार मीणा, एएसपी राजीव मोहन, सीओ विजय थापा, शांतनु पाराशर व अनुषा बडोला, प्रतिसार निरीक्षक भूपेंद्र भंडारी, पूर्व विधायक सरिता आर्या, नगर पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी, सभासद सागर आर्या, भाजपा नेता गोपाल रावत, विवेक साह व विश्वकेतु वैद्य, एडीएम एसएस पांगती सहित बड़ी संख्या में प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : जिला-मंडल मुख्यालय में इस तरह हर्षोल्लास से मनाया गया स्वतन्त्रता दिवस, स्कूलों-पत्रकारों ने भी…

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 अगस्त 2020। देश की स्वतंत्रता की 71वीं वर्षगांठ पर 72वां स्वतंत्रता दिवस जिला व मंडल मुख्यालय में बड़ी धूमधाम व हर्षोल्लास केे साथ मनाया गया। आयोजनों की शुरुआत सुबह तड़के 7 बजे स्कूली बच्चों व सामाजिक संस्थाओं द्वारा स्वतंत्रता दिवस अमर रहे, 15 अगस्त अमर रहे, भारत माता की जय के नारों के साथ प्रभातफेरी निकालने के साथ हो गयी, और देर शाम तक कार्यक्रमों का सिलसिला चलता रहा। इस मौके पर कुमाऊं कमिश्नरी में मंडलायुक्त राजीव रौतेला ने ध्वजारोहण किया। उन्होंने शाम को एनसीसी कैडेटों व स्काउट-गाइडों की परेड की फ्लैट्स मैदान में सलामी भी ली। इस अवसर पर श्री रौतेला ने स्वंतत्रता संग्राम सेनानियों को नमन करते हुए कहा कि स्वंतत्रता दिवस पर देशवासी गौरवान्वित हैं। हमें स्वंतत्रता को अक्षुण्ण बनाने में अपना पूर्ण योगदान देना होगा। हमारे पूर्वजों ने हमें समृद्व भारत दिया है इसे स्वच्छ, सुन्दर और समृद्व बनाना हमारी जिम्मेदारी है। हमें भ्रष्टाचार, जातिवाद, सम्प्रदायवाद से ऊपर उठकर पादर्शिता से कार्य करने और अपनी कार्य संस्कृति, वचनबद्धता, कार्य कुशलता, समयबद्धता में सुधार करते हुए अपने-अपने क्षेत्रों में कार्य करने को संकल्प लेना होगा। इधर जिला कार्यालय मंे डीएम विनोद कुमार सुमन ने झंडारोहण किया। उन्होंने कहा कि सभी लोग दूसरे के दर्द को अपना दर्द समझकर उसका निराकरण करें यही सच्ची देशभक्ति है। कहा कि सभी कर्तव्यनिष्ठा व सौहार्द से कार्य करें देश को आगे बढ़ाने में अपनी सहभागिता निभायें। इस अवसर पर उन्होंने बच्चों को उच्च गुणवत्तायुक्त शिक्षा तथा अच्छे संस्कार देने तथा बच्चों में तेजी से बढ़ रही नशे की प्रवृत्ति को रोकने के लिए कार्य करने की आवश्यकता जताई। साथ ही बच्चों व कार्मिकों कों सोशल मीडिया पर अनावश्यक समय बरबाद करने के स्थान पर अपनी पढ़ाई तथा कार्यों पर विशेष ध्यान देने की अपील की। इसके अलावा उत्तराखंड उच्च न्यायालय में कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति राजीव शर्मा ने सभी न्यायाधीशों एवं वरिष्ठ अधिकारियों व अधिवक्ताओं की उपस्थिति में ध्वजारोहण किया, वहीं कुमाऊँ विश्वविद्यालय में कुलपति प्रो. डीके नौड़ीयाल ने राष्ट्रध्वज फहराया। इसी तरह अन्य कार्यालयों में भी सम्बंधित विभागाध्यक्षों ने झंडारोहण किया, साथ ही युवाओं ने साइकिलों व मोटरसाइकिलों तथा नैनी झील में नौकाओं पर तिरंगा राष्ट्रध्वज लेकर रैली निकाली।

इधर जिला सूचना कार्यालय में अपर जिला सूचना अधिकारी अहमद नदीम व पत्रकारों के ने झंडारोहण किया तथा देश के लिए शहीद हुए अमर जवानों के सपनों को साकार करने के लिए अपने क्षेत्रों में पूरी ईमानदारी व निष्ठा से कार्य करने का संकल्प लिया। इस अवसर पर राजीव लोचन साह, जगदीश जोशी, सैयद जाफरी, नवीन जोशी, भूपेन्द्र मोहन रौतेला, कमल जगाती, तेज सिंह बिष्ट, मुनीब रहमान, दीपक कुमार सहित बड़ी संख्या में पत्रकार तथा दीवान सिंह बिष्ट व दीवान गिरी गोश्वामी आदि मौजूद रहे।
इसके उपरान्त डीएम व एडीएम हरबीर सिंह ने तल्लीताल गॉधी चौक में महात्मा गांधी, दर्शन घर पार्क में डा. भीमराव अम्बेडकर व शहीद मेजर राजेश अधिकारी तथा मल्लीताल में भारत रत्न पं. गोबिन्द बल्लभ पंती जी की मूर्ति पर माल्यापर्ण कर श्रद्धासुमन अर्पित किये और विभिन्न स्थानों पर वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रमों में अपर आयुक्त संजय खेतवाल, एडीएम बीएल फिरमाल, संयुक्त मजिस्ट्रेट अभिषेक रूहेला, मुख्य कोषाधिकारी अनीता आर्या, एएसपी हरीश चन्द्र सती, मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता, जिला शिक्षा अधिकारी एचएल गौतम, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी रूपराम, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी एचएस गैडा, बिशन सिंह गर्ब्याल, वैयक्तिक अधिकारी कवींद्र पांडे, शाकिर, नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी रोहिताश शर्मा, जिला आबकारी पवन कुमार सहित अनेक गणमान्यजन उपस्थित रहे।

पदक विजेताओं के लिये गये नाम
नैनीताल। कुमाऊं परिक्षेत्र कार्यालय नैनीताल में पुलिस महानिरीक्षक पूरन सिंह रावत ने ध्वजारोहण किया गया व राष्ट्रीय ध्वज को गारद द्वारा सलामी दी गई। इस अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक रावत ने कर्मचारियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी व अपने कर्तव्यों का निर्वहन ईमानदारी व कुशलता से करने व अपने अधीनस्थ कर्मियों को प्रोत्साहित करने को कहा। इस अवसर पर भारत के राष्ट्रपति द्वारा विशिष्ट सेवाओं के लिए दिये गये 2 पदक, राष्ट्रपति सराहनीय सेवापदक, 6 मुख्यमंत्री सराहनीय सेवा पदक, 6 उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिन्ह, 4 सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह-14 विशिष्ट कार्य के लिए तथा 16 पदक विजेताओं के नाम पढ़े गए। इस अवसर पर एएसपी संचार गिरजा शंकर पांडे, प्रभारी निरीक्षक मल्लीताल विपिन चंद्र पंत, निरीक्षक उमेश चंद तिवारी, निरीक्षक जगदीश देऊपा, वाचक एसआई बिशन सिंह, स्टेनो एसआई देवेश पांडेय व पीआरओ आदि कर्मचारी मौजूद रहे। बताया गया कि परिक्षेत्रीय कार्यालय में नियुक्त निरीक्षक भगवान सिंह को सराहनीय सेवा के लिए मुख्यमंत्री सराहनीय सेवा पदक दिया गया है। इसे प्राप्त करने हेतु वह देहरादून गए हुए हैं।

विद्यालयों में भी धूमधाम से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस

नैनीताल। सरोवरनगरी के लांगव्यू पब्लिक स्कूल के प्रांगण में छात्रों द्वारा स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम मे छात्रों ने विभिन्न समूह गीतों तथा नृत्य द्वारा देशप्रेम तथा शहीदों के बलिदान के विषय में अन्य छात्रों तथा अथितियों के मध्य मनमोहक प्रस्तुति दी गयी। कार्यक्रम का समापन मिष्ठान वितरण के साथ किया गया। इस अवसर पर प्रधानाचार्य, अध्यापक, कर्मचारी तथा अतिथि उपस्थित रहे। उधर नगर के रामा मांटेसरी स्कूल में भी स्वतंत्रता दिवस का पर्व हर्षोल्लास से मनाया गया। स्कूल के बच्चे प्रधानाचार्या नीलू एल्हेंस की अगुवाई में प्रभात फेरी में भी शामिल हुए, तथा उन्होंने विद्यालय में देश भक्ति गीतों सहित रंगारंग कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये गये। कार्यक्रम में सभी शिक्षिकाएं भी मौजूद रहीं। इधर महर्षि विद्या मंदिर भवाली में 15 अगस्त को स्वतन्त्रता दिवस धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि कांग्रेस नेता हेम चंद्र आर्य ने दीप प्रज्ज्वलित कर व सरस्वती माँ के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की शुरुआत की। इस दौरान तिरंगा फहराया गया व बच्चों द्वारा रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये। विद्यालय की प्रधानाचार्या साधना जोशी ने विद्यालय में किये जाने वाले विभिन्न कार्यकलापों को अभिभावकों व अतिथियों के समक्ष रखा। कार्यक्रम में प्रणिता जोशी, जीवन उप्रेती, गीता कैडा, सीमा लोहनी, दीपक सुयाल, सरोज नेगी सहित विद्यालय के बच्चे व अभिभावक मौजूद रहे।

Leave a Reply

loading...