Accident

ग्रामीण के घर में लगी आग, बमुश्किल बचा परिवार, 15 लाख रुपए से अधिक के नुकसान का अनुमान

प्रतीकात्मक फ़ोटो

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 2 जुलाई 2022। नैनीताल जनपद के रामगढ़ विकास खंड के सिरसा ग्राम पंचायत के खीनापानी तोक में शुक्रवार देर रात्रि एक ग्रामीण का आवासीय मकान जलकर खाक हो गया। देर रात हुई घटना से गांव में हड़कंप समझ गया। क्षेत्रवासियों ने बमुश्किल मकान में फंसे भवन स्वामी, उसकी पत्नी व दो बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला। अग्निकांड में भवन स्वामी का सारा सामान जलकर भष्म हो गया है। पंचायत प्रतिनिधियों व ग्रामीणों ने प्रभावित परिवार को उचित मुआवजा दिए जाने की मांग उठाई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार मध्यरात्रि स्थानीय निवासी कुंदन सिंह का मकान अज्ञात कारण एकाएक उठी आग की लपटों के घेरे में आ गया और घर के अंदर भवन स्वामी उसकी पत्नी व दो बच्चे फंस गए। उनकी चीख पुकार सुनकर तथा आग की लपटें देख आसपास के लोग घटनास्थल की ओर दौड़ कर पहुंचे। उन्होंने किसी तरह मकान के अंदर से एक-एक कर सभी को सुरक्षित बाहर निकाला। अलबत्ता ग्रामीण आग को नियंत्रित नहीं कर पाए।

भवन स्वामी के अनुसार अग्निकांड में घर-गृहस्थी का सारा सामान सोना, चांदी, नगदी समेत करीब 15 लाख रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है। प्रभावित परिवार ने रहने के लिए अपने चाचा के भवन में शरण ली है। ग्राम प्रधान इंदु जीना तथा अन्य ग्रामीणों ने शासन-प्रशासन से प्रभावित परिवार को उचित मुआवजा दिए जाने की मांग उठाई की है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : घरों में पहुंची जंगल की भीषण आग, चीता मोबाइल की तत्परता से 10 वाहन व बहुमंजिला इमारत आग में खाक होने से बची

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 अप्रैल 2022। मुख्यालय के तल्लीताल क्षेत्र में हल्द्वानी रोड पर त्रिमूर्ति के पास शनिवार की मध्य रात्रि के बाद भीषण आग लग गई। उस समय जब सब लोग गहरी नींद में सोये हुए थे, सूचना मिलने पर तत्काल मौके पर पहुंचे चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा की तत्परता व अग्निशमन कर्मियों की सूझबूझ व सक्रियता से करीब 10 कारें और एक पुराना बहुमंजिला इमारत खाक होने से बच गए। कई बच्चों व बूढ़ों को भी गहरे धुंवे में दम घुटने जैसी स्थिति से सुरक्षित बाहर निकाल कर उनके प्राण बचाये गयंे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रात्रि में तल्ला कृष्णापुर क्षेत्र के जंगलों में लगी आग रात्रि में करीब पौने एक बजे त्रिमूर्ति के पास के एक पुराने बहुंमजिला भवन तक पहुंच गई और सड़क पर खड़ी करीब 10 कारें और भवन इसकी जद में आ गए। बताया गया है कि आग इतनी भीषण थी कि लकड़ी के बने पुराने बहुमंजिला भवन की ऊपरी मंजिल की छत मंे भी आग लग गई थी। चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा ने घटना की जानकारी लगने पर तत्काल मौके पर पहंुचकर डीसीआर यानी जिला कंट्रोल रूम को इसकी सूचना दी। 

साथ ही थाना तल्लीताल की सभी यूनिटों और अग्निशमन बलों को तत्काल अलर्ट कर मौके पर बुलाया गया और सभी ने रात्रि में कड़ी मशक्कत से, बल्कि लकड़ी के बने पुराने बहुमंजिला भवन की छत में फायर ब्रिगेड की पहुच न होने से हाथों से पानी ले जाकर भी छत की आग बुझाई गई। साथ ही घर में गहरे दम घोंटू धुंवे में फंसे लोगों, खासकर बच्चों व बूढ़ों को सुरक्षित बचाया गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: नगर क्षेत्र में आग धधकी….

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 8 अप्रैल 2022। गर्मी बढ़ने के साथ आग के प्रति सतर्क रहने की आवश्यकता है। शुक्रवार सुबह-सुबह नगर के मल्लीताल बिड़ला रोड क्षेत्र में आग लग गई। सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया।

बताया गया है कि प्रातः सवा आठ बजे फायर स्टेशन को मल्लीताल बिड़ला रोड़ पर भोटिया बेंड के पास जंगल क्षेत्र मे आग लगने की सूचना मिली। इस पर फायर यूनिट आवश्यक संसाधनों के साथ घटना स्थल पर पहुंची तथा मिनी वाटर टेंडर की सहायता से आग को पूर्ण रूप से बुझाकर शांत किया। आग बुझाने में लीडिंग फायरमैन अमरसिंह अधिकारी, चालक विपिन बडोला तथा फायरमैन विक्रांत सिंह व जीतेन्द्र कुमार ने योगदान दिया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल ब्रेकिंग: जंगल की आग से दो वाहन जले

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 1 अप्रैल 2022। मुख्यालय में बीती रात्रि सिल्वर्टन होटल के पास जंगल में अज्ञात कारणों से जोरदार आग भड़क गई। आग ने सीआरएसटी से जिला पंचायत को जाने वाली सड़क पर खड़े दो वाहन भी जल गए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह तड़के करीब पौने पांच बजे लोगों ने वाहन जलते हुए देखे तो अग्निशमन विभाग को सूचना दी। इस पर विभाग के एलएफएम जवाहर राणा सहित विपिन बडोला, जीतेंद्र कुमार, दीपक सुतेड़ी व मनोज भट्ट आदि कर्मी मौके पर पहुंचे। तब तक वहां लंबे समय से खड़ी बताई जा ही एक अज्ञात नंबर व अज्ञात मालिक की मारुति 800 पूर्ण रूप से जल गई थी, जबकि स्थानीय निवासी साकेत बिष्ट की अल्टो कार संख्या यूए04ई-4321 का पिछला हिस्सा जल रहा था। विभागीय कर्मियों ने इस वाहन को और जलने से बचा लिया तथा करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद जंगल में फैली आग पर भी काबू पा लिया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अभी-अभी नगर के पॉपुलर कंपाउंड क्षेत्र में लगी आग

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 मार्च 2022। बृहस्पतिवार देर शाम नगर के मल्लीताल पॉपुलर कंपाउंड क्षेत्र के एक घर में भीषण आग लग गई है। बताया जा रहा है कि सरफराज अहमद सिद्दीक पुत्री अब्दुल हक नाम के व्यक्ति का यहां घर के ही एक हिस्से में रजाई-गद्दे का गोदाम था। जिसमें आग लगी है। देखें आग की घटना का वीडियो:

आग लगने की सूचना डीसीआर के माध्यम से अग्निशमन विभाग को दी गई है, परंतु मौके पर वाहन पहुंचने की स्थिति नहीं है। विभागीय कर्मी भी अभी मौके पर नहीं पहुंचे हैं। अलबत्ता स्थानीय लोग घरों से पानी डालकर आग बुझाने का प्रयास कर रहे हैं। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। क्षेत्र की बिजली काट दी गई है।

अग्निशमन अधिकारी चंदन राम ने बताया कि घटनास्थल पर वाहन नहीं पहुंच पाए। अलबत्ता आसपास फायर हाइडेंट मिल गया था। आसपास से पानी लेकर तथा छत की टिन काटकर आग बुझा ली गई। अग्निकांड मंे घर का बिस्तर, कागजाज आदि घरेलू सामान काफी हद तक जल गये। बताया जा रहा है कि घर में खुले तारों की वजह से शॉर्ट सर्किट से आग लगी होगी। अन्य ताज़ा नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : घर में 24 घंटे से सुलगती रही आग, सुबह भड़की तो बुझाई

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 17 जनवरी 2022। नगर के एक बंद घर में बीते करीब 24 घंटों से आग सुलगी रही। आज सुबह जब आग भड़कने लगी तो पुलिस व अग्निशमन बलों ने सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचकर आग को बुझा लिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर के तल्लीताल रैमजे अस्पताल के पास एल्वनी कंपाउंड स्थित हरि निवास निवासी सेवानिवृत्त एसबीआई तल्लीताल कर्मी अनिल गुरुरानी पुत्र हरीश गुरुरानी रविवार सुबह करीब छह बजे पूरे परिवार सहित घर बंद कर एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए गुजरात चले गए थे। इस दौरान उनकी मां का बिजली से गर्म होने वाले कंबल का स्विच ऑन ही रह गया, इस कारण कंबल कल से ही सुलगता रहा।

सोमवार सुबह जब उनके बंद घर से गहरा धुंवा उठने लगा तो सुबह करीब आठ बजे आसपास के लोगों ने 112 के माध्यम से इसकी सूचना पुलिस को दी। इस पर तल्लीताल थाना प्रभारी रोहताश सिंह के निर्देशन में चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा अग्निशमन बलों के साथ मौके पर पहुंचे और घर का ताला तोड़कर, भीतर कंबल के धुंवे से उठ रही जहरीली गैस जैसी कठिन परिस्थितियों के बीच कंबल को बाहर लाकर आग बुझाई। गनीमत रही कि घर के बंद होने की वजह से आक्सीजन न मिलने के कारण आग तो नहीं भड़क पाई, अलबत्ता धुंवा काफी गहरा व दमघोंटू था।

घटना में कंबल व बेड पूरी तरह से जल चुका था। आग बुझाने में अग्निशमन विभाग के एफएसएसओ चंदन राम आर्या सहित अमर सिंह, प्रकाश मेहता, भूपाल मेहता, विक्रांत सिंह, राजेंद्र सिंह, मो. उमर व नीरज कुमार आदि कर्मी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी में पूर्व कैबिनेट मंत्री के प्रतिष्ठान में सुबह-सुबह आग

पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्यनवीन समाचार, हल्द्वानी, 9 जनवरी 2022। कांग्रेस नेता एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य के हल्द्वानी के गैस गोदाम रोड पर छड़ायल स्थित रिया बैंक्वेट हॉल में रविवार सुबह आग लगने से हड़कंप मच गया। बताया गया है कि आग बैंक्वेट हॉल के गोदाम में लगी, जिसे टेंट व्यवसायी गुड्डू खान ने किराए पर लिया है। यहां पर टेंट का सामान रखा गया था।

रविवार सुबह करीब सवा 11 बजे यहां अज्ञात कारणों से आग लग गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। सूचना मिलने पर पहुंची अग्निशमन विभाग की तीन गाड़ियां मौके पर पहुंची। यशपाल आर्य और संजीव आर्य भी मौके पर पहुंचे, और आग लगने के कारणों की पड़ताल की। प्रथमदृष्टया माना जा रहा है कि आग बिजली के तारों में शार्ट सर्किट होने से लगी होगी। गए। आग से आठ से 10 लाख का नुकसान बताया जा रहा है। समाचार लिखे जाने तक अग्निशमन विभाग ने आग पर काबू पा लिया है। (डॉ. नवीन जोशी) अन्य ताज़ा नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: ठेले में लगी आग से हुआ हजारों का नुकसान, एक माह में दूसरी घटना…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 19 दिसंबर 2021। जिला मुख्यालय में पुलिस की चौकी के पास ही बीते कुछ दिनों में रात्रि में खड़े ठेले में आग लगाने की लगातार दूसरी घटना हुई है। इससे ठेला स्वामी लघु फड़ व्यवसायी को बड़ा आर्थिक नुकसान हुआ है।

बताया गया है कि रात्रि करीब 12 बजे किसी ने मल्लीताल रिक्शा स्टेंड पुलिस चौकी के पास पंत पार्क क्षेत्र में खड़े खड़क सिंह रावत नाम के लघु व्यवसायी के चाय के ठेले में आग लगा दी। सूचना मिलने पर पुलिस के जवानों ने किसी तरह आग बुझाई। इसके बावजूद ठेले में आग से अंडे एवं अन्य सामान बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया।

गौरतलब है कि पिछले माह भी 20 नवंबर को इस तरह की एक घटना एक अन्य फड़ व्यवसायी त्रिलोक सिंह मेहरा के ठेले में हुई थी। इसके बाद प्रशासन ने इस क्षेत्र में खड़े फड़ों व ठेलों को जब्त कर लिया था। यह मार भी लघु व्यवसायियों पर पड़ी। इधर प्रभावित व्यवसायी खड़क सिंह ने इस बारे में पुलिस में तहरीर देते हुए कहा है कि उसने ठेला जब्त हो जाने के बाद कुछ ही दिन पूर्व नया ठेला खरीदा था। इसमें भी आज किसी ने आग लगा दी। इससे उसे करीब 30 हजार रुपए की सामग्री का नुकसान हुआ है। इधर, नगर कोतवाल धर्मवीर सोलंकी ने कहा कि आसपास सीसीटीवी की पड़ताल व सुरागकसी कर आग लगाने वालों का पता लगाया जा रहा है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

नैनीताल : यह भी पढ़ें : बुधवार अपराह्न हुए अग्निकांड में करीब दो लाख रुपए का नुकसान…

बताया गया है कि आग त्रिलोक सिंह मेहरा के ठेले पर लगी, जिसमें वह यहां चाय की दुकान लगाता है। बताया जा रहा है रात्रि करीब सवा 12 बजे किसी ने रात को ठेले में आग लगा दी। आग आपसी खुंदक के कारण लगाए जाने अथवा गलती से बीड़ी-सिगरेट से लगने को लेकर चर्चाएं हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : गैस सिलेंडर से लगी आग में दो वर्षीय पुत्र सहित पिता की जिंदा जलकर मौत, मां भी गंभीर

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 16 नवंबर 2021। रुद्रपुर से एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां खाना बनाते हुए किचन के गैस सिलेंडर ने आग पकड़ ली। सूचना मिलते ही पुलिस और दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची और करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद आग को काबू में किया, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। घटना में पिता-पुत्र की जिंदा जलकर मौत हो गई, जबकि मां की भी झुलसने से हालत गंभीर बनी हुई है।

रुद्रपुर में सिलेंडर फटने से पिता-पुत्र की मौत, सदमे में आई पत्नी को भी भर्ती करायाप्राप्त जानकारी के अनुसार सिडकुल की एक फैक्ट्री में कार्य करने वाला मूलतः जगदीशपुर, थाना जहानाबाद, पीलीभीत निवासी 30 वर्षीय केदार सिंह इधर 4-5 माह से ट्रांजिट कैंप के ठाकुरनगर में अपनी पत्नी नेहा और अपने 2 वर्षीय बच्चे वंश के साथ रह रहा था। सोमवार देर रात वह ड्यूटी समाप्त कर नया गैस सिलेंडर लेकर घर पहुँचा और रसोई में गैस का नया सिलेंडर लगाकर आग जला रहा था, तभी कमरे में गैस फैलकर आग लग गयी। जिससे केदार व उसका दो साल का बेटा वंश कमरे में ही फंस गए। जिससे दोनों की जलकर मौत हो गयी।

घटना के समय उसकी पत्नी नेहा कमरे के बाहर आंगन में थी, जो आग लगने पर घबरा कर कमरे की तरफ भागी। लेकिन आग की लपटों में आकर वह भी झुलस गई और सदमे में बेहोश हो गयी। घटना से क्षेत्र में अफरा तफरी का माहौल बन गया। आनन फानन में लोगो ने नेहा को एम्बुलेंस की मदद से जिला अस्पताल पहुँचाया। जहाँ उसका इलाज चल रहा है। सूचना पर पुलिस और फायर ब्रिगेड भी मौके पर पहुँच गयी और दोनों पिता पुत्र को जिला अस्पताल भेजा, जहाँ चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

एसआई विजय सिंह ने बताया कि पिता पुत्र की मौत सिलेंडर में आग लगने से हुई या सिलेंडर फटने से इसकी जांच की जा रही है। फायर स्टेशन ऑफिसर रामधारी यादव ने बताया कि संभवत आग सिलेंडर में पाइप जोड़ते समय गैस लीक होने से लगी है। घटना की जांच की जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में बीती रात्रि चार गाड़ियां भीषण अग्निकांड की भेंट चढ़ीं, 10 बचाई गईं, जानें कारण व कैसे बचा बड़ा अग्निकांड

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 15 नवंबर 2021। नैनीताल नगर में बीती रात्रि भीषण अग्निकांड हो गया। इस अग्निकांड में तीन दो पहिया वाहन पूरी तरह से जबकि एक भी करीब-करीब पूरा आग में भष्म हो गया। अलबत्ता 10 अन्य दोपहिया वाहन बचा लिए गए। आग के इन वाहनों को भी चपेट में लेने से बचाने में सक्रिय भूमिका एक होटल कर्मी एवं तल्लीताल के चीता मोबाइल प्रभारी तथा अग्निशमन कर्मियों की रही। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार अग्निकांड का कारण पास में लगे बिजली के पोल पर शॉर्ट सर्किट का होना बताया जा रहा है। देखें विडियो :

प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती रात्रि करीब दो बजे एक स्थानीय होटल कर्मी ललित ने तल्लीताल के चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा को फांसी गधेरा के पास मनु महारानी लॉज के नीचे एक दो पहिया वाहन के जलने की सूचना दी। इस पर राणा तत्काल मौके पर पहुंचे और डीसीआर के माध्यम से अग्निशमन विभाग को सूचना दी। इस पर अग्निशमन विभाग से एफएसएसओ चंदन राम आर्य के नेतृत्व में जवाहर सिंह, भोपाल सिंह, उमेश कुमार, मनोज भट्ट व राजेंद्र सिंह आदि कर्मी तत्काल मौके पर पहुंचे। तब तक आग एक वाहन से बढ़कर पास खड़े चार वाहनों में पकड़ चुकी थी।

अग्निशमन कर्मियों ने मिनी हाई प्रेशर पंप की मदद से आग को पूरी तरह से बुझा लिया, इससे अन्य वाहनों में आग फैलने से बच गई। फिर भी दो स्कूटी व दो बाइकें इसकी चपेट में आ गईं, जबकि इनसे सट कर ही खड़े 10 वाहन बच गए। बताया गया है कि जिस पहली बाइक में आग लगी वह बिजली के पोल के ठीक नीचे खड़ी थी। संभवतया बिजली के पोल में शॉर्ट सर्किट होने से आग लगने की शुरुआत हुई होगी। हालांकि आग लगने का सही कारण पुलिस व अग्निशमन विभाग की जांच के बाद ही साफ होगा। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी के व्यस्ततम चौराहे से गुजरते आग का गोला बनी कार

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 30 अगस्त 2021। शहर के सबसे व्यस्त मुखानी चौराहे पर जय कृष्णा हरि बैंकट हॉल के पास देर शाम सड़क किनारे खड़ी एक कार अचानक आग का गोला बन गयी। गनीमत रही कि कार सवार व्यक्ति ने तत्काल उतरकर अपनी जान बचाई और जैसे ही वह उतरा कार धू-धू कर जलने लगी। बताया जा रहा है कि कार में एसी चलाते ही चिंगारी निकली और आग लग गयी। देखें विडियो :

बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश कर पीलीभीत का रहने वाला शरद वर्मा हल्द्वानी आया थे। यहां वह मुखानी चौराहे के पास से गुजर रहे थे कि अचानक कार में आग लग गई। संयोग से शरद को आग लगने का पता चल गया और उन्होंने कार को सड़क किनारे खड़ा कर दिया, और तत्काल कार से उतरकर अपनी जान बचाई। इसके तत्काल बाद ही कार देखते ही देखते आग का गोला बन गई। यह भी गनीमत रही कि आग आसपास की दुकानों तक नहीं पहुंची। सूचना के बाद मौके पर पहुंची मुखानी पुलिस ने वाहनों के आवागमन को रोक कर किसी तरह से आग पर काबू किया। इस दौरान अग्निशमन विभाग की टीम भी मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक कार जलकर पूरी तरह से राख हो चुकी थी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : मल्लीताल बाजार के प्रतिष्ठान में लगी आग, अग्निशमन कर्मियों की तत्परता से बड़ा हादसा टला

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 अगस्त 2021। मंगलवार को साप्ताहिक अवकाश के दिन नगर के मल्लीताल बड़ा बाजार स्थित सुमित खन्ना के प्रतिष्ठान खन्ना एजेंसी में आग लगने की घटना हो गई। बताया गया कि आग दुकान मे रखे डीप फ्रीजर में लगी थी। गनीमत रही कि घटना दिन में हुई और घटना की जानकारी जल्दी लग गई। सूचना मिलने पर शीघ्र ही प्रभारी अग्निशमन अधिकारी नैनीताल के नेतृत्व मे फायर यूनिट घटना स्थल पर पहुंची और कर्मचारियों ने तत्परता दिखाते हुए फायर एक्सटिंग्युशर की सहायता से आग को पूरी तरह से बुझाकर शांत किया।

श्री आर्य ने बताया कि इससे बाजार के बीच एक बड़ा अग्निकांड होने से टल गया। दुकान मे रखे अन्य विद्युत उपकरणों एवं सामग्री सहित दुकान को आग से सुरक्षित बचा लिया गया। आग बुझाने वाली अग्निशमन विभाग की टीम में अमर सिंह, संदीप सिंह, भोपाल सिंह, उमेश कुमार, कुलदीप कुमार, मोहन सिंह, विक्रांत सिंह, नीरज कुमार, जगत सिंह व मनोज भट्ट आदि कर्मी शामिल रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : आग लगने के बावजूद शहर में चलती रही कार, चालक को पता ही नहीं चला…

-स्थानीय लोगों की सक्रियता से बचा हादसा

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 12 अगस्त 2021। बृहस्पतिवार को नगर में एक कार चलते हुए पीछे से जलती रही और कार चालक को इसका पता ही नहीं चला। गनीमत रही कि शहर से बाहर निकलने से पहले स्थानीय लोगों ने कार को जलते हुए देख लिया और शोर मचाकर कार चालक का ध्यान आकृष्ट किया। इस पर कार चालक ने कार रोकी और स्थानीय लोगों ने पानी डालकर बुझा दिया। इस बीच पुलिस और अग्निशमन विभाग के कर्मियों को भी बुला लिया गया, लेकिन उनके पहुंचने से पूर्व ही स्थानीय लोगों ने आग बुझा ली।

प्राप्त जानकारी के अनुसार हल्द्वानी निवासी मनीष जोशी नामक व्यक्ति अपनी नैनो कार संख्या यूके04एल-8245 मुख्यालय स्थित उत्तराखंड उच्च न्यायालय किसी काम से आए थे। लेकिन शहर से हल्द्वानी की ओर लौटते हुए कार के पिछले हिस्से मे मौजूद इंजन में आग लग गई। आग इंजन में पीछे की ओर लगी होने की वजह से मनीष को आग लगने का पता ही नहीं चल पाया। सूचना मिलने पर तल्लीताल थाने के चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा और अग्निशमन अधिकारी चंदन राम आर्य के साथ जवाहर सिंह, विपिन बडोला, कुलदीप कुमार, धीरेंद्र सिंह, मनोज भट्ट, जगत सिंह, राजेंद्र सिंह व रविंद्र कम्बोज आदि भी मौके पर पहुंचे, लेकिन तब तक आग बुझ चुकी थी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कार पार्किंग में खड़ी कार में लगी आग, तत्परता से बचा ली गई भीषण अग्निकांड की संभावना

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 29 जून 2021। पर्यटन नगरी की प्रमुख डीएसए मैदान स्थित कार पार्किंग में मंगलवार को बड़ा अग्निकांड होते-होते बच गया। हुआ यह कि यहां खड़ी पर्यटकों की एक स्विफ्ट कार संख्या यूपी30पी-3666 में अंदर से धुंवा उठता देखा गया। इसकी सूचना मिलने पर तत्काल ही पास ही स्थित अग्निशमन कार्यालय से फायर ब्रिेगेड की टीम मौके पर पहुंची। वहंा गाड़ी के शीशे बंद थे और वाहन से धुआँ एवं जलने की बदबू आ रही थी।

इस पर पहले वाहन स्वामी का पता किया गया, लेकिर काफी खोजबीन करने के बाद भी वाहन स्वामी का पता नहीं चला। इस पर पार्किंग प्रबंधक एवं मीडिया तथा स्थानीय लोगों की उपस्थिति मे फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने इस वाहन के दरवाजे की तरफ के छोटे शीशे को तोड़कर दरवाजा खोला तो देखा की वाहन की अगली सीट के पिछले हिस्से से धुँवा आ रहा था। आग लगने का कारण सीट के बैग मे रखा मोबाइल पावर बैंक था, जो ओवरहीट हो गया था और इसके कारण वाहन की सीट जल रही थी।

इस पर फायर यूनिट के कर्मचारियों ने सक्रियता दिखाते हुए वाहन के सभी दरवाजे खोलकर जला हुआ सामान बाहर फेंककर आग बुझाई। इससे वाहन को सुरक्षित बचा लिया गया अन्यथा इस वाहन के साथ ही कार पार्किंग मे खड़े सैकड़ों वाहनों में से अन्य कई वाहनों मे भीषण अग्निकांड होने से इंकार नही किया जा सकता था। आग बुझाने वाली फायर सर्विस की टीम में अग्निशमन अधिकारी चंदन राम आर्य, जवाहर सिंह, भोपाल सिंह, उमेश कुमार व कुलदीप कुमार शामिल रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दुकान में गैस सिलेंडर में लगी आग से मचा रहा हड़कंप…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 06 जून 2021। नगर के तल्लीताल हल्द्वानी रोड स्थित नेशनल होटल के पास स्थित एक टायर पंक्चर की दुकान में रविवार सुबह गैस के सिलंेडर में आग लगी गई। इससे दुकान स्वामी के साथ ही आसपास के लोगों में भी आग के आसपास भी फैलने की संभावना को देखते हुए हड़कंप मच गया। लोगों ने तुरंत इसकी सूचना अग्निशमन विभाग को दी। इस बीच दुकान स्वामी ने किसी तरह हिम्मत दिखाते हुए गैस सिलेंडर को दुकान से बाहर सड़क पर फेंक दिया। इसके बाद भी गैस सिलेंडर में आग लगी रही, और काफी देर तक आग लगी रहने से गैस सिलेंडर के फटने की संभावना भी बनी रही। बाद में सूचना मिलने पर पहुंचे अग्निशमन कर्मियों ने पानी और रेत डालकर सिलेंडर की आग पर काबू पाया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दुकान स्वामी रविवार प्रकाश कुमार सुबह करीब साढ़े दस बजे दुकान के अंदर गैस में दूध गर्म कर रहा था। तभी लीक कर रहे गैस सिलेंडर ने अचानक आग पकड़ ली। आग बुझाने में एफएसएसओ चंदन राम आर्य के साथ अमर सिंह अधिकारी, विपिन बड़ोला, मनोज भट्ट, रवींद्र कुमार, जगत सिंह व मोहन सिंह आदि ने योगदान दिया।

यह भी पढ़ें : बंद घर में लगी विकराल आग, घर का सारा सामान खाक, 2 टीमों से 3 घंटे में बुझ पाई आग

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मई 2021। नगर के सूखाताल घरमपुर कॉटेज के निकट स्थित डॉ. अंबेडकर आदर्श छात्रावास के पास एक पुराने, बंद पड़े आवासीय भवन में बृहस्पतिवार अपराह्न अचानक अज्ञात कारणों से भीषण आग लग गई। घर में कोई नहीं रहता था, इस कारण आग की घटना अग्निशमन विभाग को देरी से अपराह्न दो बजकर 25 मिनट पर लगी। इस अग्निकांड में घर के भीतर मौजूद काफी सामान जलकर नष्ट हो गया, अलबत्ता घर में किसी के मौजूद न रहने से कोई हताहत नहीं हुआ। आग इतनी भीषण थी कि इसे बुझाने में दो फायर यूनिटों के अग्निशमन कर्मियों को चार हॉज पाइपों से करीब 3 घंटे का समय लगा।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अग्निकांड में जला घर ललिता प्रसाद पत्नी स्वर्गीय गंगा प्रसाद का है। वह कहीं बाहर रहती हैं। स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची अग्निशमन विभाग की दो फायर टीमों को सड़क से करीब 120 मीटर ऊंचाई पर स्थित घर में अत्यधिक विकराल स्थिति में लगी आग को बुझाने में कड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ा। अपने फायर टेंडर वाहनों में पानी खत्म हो जाने पर निकटवर्ती फायर हाइडेंट से पानी प्राप्त कर आग बुझाई गई। जल संस्थान द्वारा भी घटनास्थल पर एक वाटर टेंडर उपलब्ध कराया गया। अग्निकांड मे घर मे रखा घरेलू सामान, एक घरेलू गैस का सिलिंडर, बैड, फर्नीचर, कपड़े इत्यादि सामान जलकर नष्ट हो गया। आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया। आग बुझाने में अग्निशमन अधिकारी चंदन राम आर्य, लीडिंग फायर मैन जवाहर सिंह व उमेश गौड़ के साथ ही फायर मैन कुलदीप कुमार, मनोज भट्ट, जसवीर सिंह, नीरज कुमार, रविंद्र कम्बोज, विक्रांत सिंह, जगत सिंह तथा चालक भोपाल सिंह व उमेश कुमार ने भी उल्लेखनीय योगदान दिया।

यह भी पढ़ें : जंगल की आग की चपेट में आने से भूसे का ट्रक खाक

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 अप्रैल 2021। जनपद के भीमताल-रानीबाग मोटर मार्ग पर बुधवार शाम एक आइशर मिनी ट्रक धू-धू कर जलकर खाक हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार आइशर मिनी ट्रक संख्या यूके04सीबी-4184 हल्द्वानी से गेहूं का भूसा लेकर पहाड़ की ओर जा रहा था तभी सलड़ी के पास जंगल की ओर लगी आग से एक शोला मिनी ट्रक में लदे भूसे पर आ गिरा। इससे भूसे में आग लग गई और मिनी ट्रक भी काफी हद तक जल गया। सूचना मिलने पर भीमताल के कोतवाल रमेश बोहरा, अग्निशमन बलों को लेकर मौके को रवाना हुए। वहीं भीमताल पुलिस से जानकारी के अनुसार मिनी ट्रक कपिल गौड़ पुत्र गंगा सिंह निवासी सतबूंगा मुक्तेश्वर का है, और इसेयोगेश कुमार पुत्र भवानी राम चलाता है। घटना में चालक-परिचालक सुरक्षित बताए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें : सुबह-सुबह एक बाइक आग लगने से खाक

नवीन समाचार, नैनीताल, 07 अप्रैल 2021। नगर के मल्लीताल अयारपाटा क्षेत्र में स्थित अरोमा होटल के पास सड़क किनारे खड़ी एक मोटरसाइकिल में बृहस्पतिवार सुबह-सुबह अज्ञात कारणों से आग लग गई। सूचना मिलने पर मल्लीताल कोतवाली पुलिस के चीता मोबाइल प्रभारी ललित मोहन कांडपाल और अग्निशमन कर्मी मौके पर पहुंचे और छोटे फायर टेंडन की मदद से आग बुझाई। आग बाइक संख्या यूके04यू-1349 में भी लगी थी। आग बुझाने के बावजूद बाइक काफी हद तक खाक हो गई। आग लगने का कारण अज्ञात है। यह किसी असामाजिक तत्व की हरकत अथवा किसी कोई कारण से भी हो सकती है। फिलहाल बाइक किसकी है, इसका भी पता नहीं चला है।

यह भी पढ़ें : आग ने भवन व कार को चपेट में लिया, अग्निशमन कर्मियों ने टाला बड़ा हादसा..

नवीन समाचार, नैनीताल, 01 अप्रैल 2021। बुधवार रात्रि नगर में आवासीय क्षेत्र के पास लगी आग आवासों के करीब तक पहुंच गई। एक कार भी आग की चपेट में आ गई, अलबत्ता अग्निशमन कर्मियों की सक्रियता से बड़ा हादसा टल गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रात्रि लगभग सवा दो बजे के आसपास रिक्शा स्टैंड मल्लीताल से ऊपर मदर हार्ट स्कूल राजमहल कंपाउंड में रमेश मोंगा के घर के बाहर झाडियों मे आग लग गई और तेजी से आवासीय क्षेत्र की ओर बढ़ने लगी। होटल अंकुर प्लाजा की स्वामी शालिनी की हुंडई क्रेटा कार संख्या संख्या यूके04एडी-7003 तक पहुंच गई। इससे कार का पिछला हिस्सा, बम्पर, लाइट व शीशे आदि आग की चपेट में आ गये, साथ ही एक भवन की खिड़कियां, दरवाजे आदि भी आग से आंशिक रूप से जल गए। तभी सूचना मिलने पर नैनीताल पुलिस की अग्निशमन यूनिट के कर्मचारियों ने तत्परता दिखाते हुए घटनास्थल पर पहुंचकर हाई प्रेशर मिनी वाटर टेंडर की पंपिंग से आग बुझाने का कार्य किया। अग्निशमन वाहन में पानी समाप्त होने पर निकट स्थित होटल शांता रीजेंसी से भी पानी लिया गया और अग्निकांड को भीषण होने से रोका गया। इस दौरान कोतवाली मल्लीताल का पुलिस बल भी मौके पर पहुंच कर राहत एवं बचाव कार्य में जुटा रहा। आग बुझाने में अमर सिंह, जवाहर सिंह, भोपाल सिंह, गौरव सिंह व कुलदीप कुमार की भूमिका उल्लेखनीय रही।

यह भी पढ़ें : रात में न जाने कब से जलता रहा स्कूल, स्कूल कर्मियों को शायद अब भी पता नहीं..

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 मार्च 2021। अग्निशमन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार सुबह पांच बजकर चार मिनट नगर के तल्लीताल हल्द्वानी रोड पर धर्मशाला के पास स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय तल्लीताल के भूतल में आग लगने और इसके पूरे स्कूल परिसर व आसपास के रिहायसी इलाकों की ओर बढ़ने की सूचना मिली। इस पर तत्काल अग्निशमन बल दो फायर टेंडरों-मिनी हाई प्रेशर व वाटर टेंडर को लेकर मौके पर पहुंचे।

वहां की भयावहता को देकर मल्लीताल डीएसए मैदान में खड़े फायर टेंडर को भी मौके पर बुलाना पड़ा। इस प्रकार तीन फायर टेंडरों की मदद से करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग को पास के घरों में फैलने से बचाया गया और काबू पाया गया। इस प्रकारअग्निशमन बलों के समर्पण व प्रयास से शहर में बड़ा अग्निकांड टाला गया। इसकी स्थानीय लोगों ने प्रशंसा की। अलबत्ता, अग्निशमन अधिकारी चंदन राम आर्य ने बताया कि इस दौरान विद्यालय के कोई कर्मचारी मौजूद नहीं रहे। यहां तक कि स्थानीय लोगों ने विद्यालय के प्रधानाचार्य का जो फोन नंबर उपलब्ध कराया था, वह अग्निकांड के दौरान ही नहीं दिन तक भी नहीं उठा। आग बुझाने में अग्निशमन अधिकारी चंदन राम आर्य के साथ ही जवाहर सिंह, संदीपक सिंह, भोपाल सिंह, विपिन बडोला, मनोज भट्ट, नीरज कुमार व दिनेश राणा आदि ने योगदान दिया।

यह भी पढ़ें : एरीज के आवासीय परिसर के पास किसी ने लगाई आग..

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 मार्च 2021। नैनीताल के मनोरा पीक पर स्थित वैश्विक महत्व के एरीज यानी आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान के आवासीय परिसर के पास जंगल की आग पहुंच गई है। खास बात यह है कि आग केवल इसी क्षेत्र में लगी हुई है, इसलिए इसे वनाग्नि की जगह असामाजिक तत्वों की हरकत माना जा रहा है। एरीज के रजिस्ट्रार रवींद्र कुमार ने बताया कि नैनीताल-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग से एरीज को आने वाली सड़क पर एरीज के आवासीय परिसर के नीचे की ओर आग लगी हुई है। उन्होंने स्वयं मौका मुआयना किया है। उन्होंने बताया कि आग केवल इसी क्षेत्र में लगी है। फिलहाल इससे परिसर को सीधे खतरा नहीं है, फिर भी ऐहतियात के तौर पर उन्होंने वन व अग्निशमन विभाग के साथ ही पुलिस क्षेत्राधिकारी नैनीताल विजय थापा को सूचना दे दी गई है। अग्निशमन बलों का इंतजार किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : नशेड़ियों ने लगाई कुमाऊं विश्वविद्यालय के पुराने भवनों में आग

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 मार्च 2021। नगर के अयारपाटा वार्ड में कुमाऊं विश्वविद्यालय के नैनी रिट्रीट होटल के पास आलगलेफोर्ट स्थित पुराने भवनों में बृहस्पतिवार शाम आग लग गई। गनीमत रही कि पुलिस एवं अग्निशमन बलों को जल्दी सूचना मिल गई, और उन्होंने सक्रियता दिखाते हुए आग पर काबू पा लिया, अन्यथा आग आवासीय क्षेत्र में भी फैल सकती थी। क्षेत्रीय सभासद मनोज साह जगाती ने अग्निकांड को नशेड़ियों की हरकत बताया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार देर शाम पुलिस कंट्रोल रूम के माध्यम से फायर स्टेशन मल्लीताल को सूचना प्राप्त हुई कि कुमाऊं विश्वविद्यालय के पुराने भवन मे आग लगी हुई है। आग बुझाने में एफएसएसओ चंदन राम आर्य, अर्जुन सिंह, गणेश सिंह, विपिन बडोला, उमेश कुमार, कुलदीप कुमार, मोहन सिंह, रवि चंद्र व शाहिद अंसारी आदि ने योगदान दिया।

यह भी पढ़ें : नैनीताल के कैंट क्षेत्र में बड़ा अग्निकांड, आधा दर्जन परिवारों से सिर से छत गई, कई बेटियों की शादी पर संकट

-बेटियों की शादी व अन्य कार्यों के लिए रखी करीब 20 लाख रुपए की नगदी व जेवहरात के साथ शैक्षिक व अन्य प्रमाणपत्र भी आग की भेंट चढ़ें
-अग्निशमन बल के साथ ही सेना, वायु सेना के अग्निशमन दस्ते व जल संस्थान के टेंकरों की भी आग बुझाने में ली गई मदद

नवीन समाचार, नैनीताल, 02 मार्च 2021। मंगलवार का दिन एक बार फिर अग्निकांड के लिहाल से भारी पड़ा। नगर के आर्मी कैंट क्षेत्र के अंग्रेजी दौर के पिगरी फार्म कैलाखान क्षेत्र में मंगलवार को बड़ा अग्निकांड हो गया। अग्निकांड में आधा दर्जन से अधिक परिवारों के सिर से छत गायब हो गई तथा बेटियों की शादी व अन्य कार्यों के लिए रखी करीब 22.5 लाख रुपए की नगदी व जेवहरात के साथ ही घर में रहने वाले लोगों के शैक्षिक व अन्य प्रमाणपत्र भी आग की भेंट चढ़ गए। अग्निशमन बल के साथ ही सेना, वायु सेना के अग्निशमन दस्ते व जल संस्थान के टेंकरों की भी आग बुझाने में मदद ली गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को पिगरी फार्म स्थित पुराने दोमंजिले भवन की दूसरी मंजिल में बिजली के शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। देखते ही देखते आग विकराल हो गई और पूरे घर को आग ने अपनी चपेट में ले लिया। वहीं अग्निशमन कार्यालय के अनुसार 11 बजकर सात मिनट पर आग की सूचना मिली, इसके बाद तत्काल सक्रिय हुई अग्निशमन कार्यालय की पूरी यूनिट अग्निशमन अधिकारी चंदन राम के नेतृत्व में मौके पर जुटी और सेना, वायु सेना भवाली के अग्निशमन दस्ते व जल संस्थान के करीब 10 टेंकरों की मदद से करीब ढाई बजे आग पर काबू पाया। इस दौरान एक घरेलू गैस सिलेंडर से गैस रिसने से भी अफरातफरी रही, जबकि करीब एक दर्जन गैस सिलेंडर सुरक्षित बचाए गए।

इस दौरान गृहस्वामी 80 वर्षीय प्रह्लाद पाल ने करीब 50 हजार की नगदी, उनके पुत्र अजय पाल की करीब डेढ़ लाख की नगदी व बेटी की शादी के लिए रखे करीब ढाई लाख के जेवर, दूसरे बेटे कमल पाल की करीब 50 हजार की नगदी व साढ़े चार लाख रुपए के स्वर्णाभूषण, संजय सोनकर पुत्र स्वर्गीय रमेश सोनकर की भी करीब 50 हजार की नगदी व साढ़े चार लाख के जेवर, द्रोपदी देवी पत्नी स्व. नरेंद्र लाल के भी करीब साढ़ चार लाख के जेवर व डेढ़ लाख की नगदी, मूर्ति देवी पत्नी स्वर्गीय तुलसीदास की करीब 10 हजार की नगदी व करीब डेढ़ लाख के जेवर अग्निकांड की भेंट चढ़ जाने का दावा किया गया है। अलबत्ता, अग्निशमन बलों ने आग को निचली मंजिल में आने से पहले ही रोक लिया। आग बुझाने में अग्निशमन अधिकारी चंदन राम के साथ जवाहर सिंह, राजेंद्र नाथ, कुलदीप कुमार, मनोज भट्ट, गौरव कार्की, नीरज कुमार, जगत सिंह, उमेश कुमार, भूपाल सिंह, धीरेंद्र सिंह, दिनेश सिंह, रवि चंद्र, अवनीश कुमार व राजेंद्र आदि कर्मी जुटे। कैंट बोर्ट के मुख्य अधिशासी अधिकारी और नगर पालिका नैनीताल के अध्यक्ष सचिन नेगी ने भी मौका मुआयना किया व प्रभावित परिवारों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़ें : इधर बेटा दुर्घटना के बाद आईसीयू में, उधर पूरा घर खाक -नगर के निकट पाइंस क्षेत्र में हुई घटना

नवीन समाचार, नैनीताल, 06 फरवरी 2021। कहते हैं दुःख व समस्याएं मनुष्य की लगातार परीक्षा लेते रहते हैं। नगर के पाइंस श्मशान घाट के पास स्थित घर में रहने वाले परिवार के साथ बीती शाम से यही हो रहा है। यहां रहने वाली 65 वर्षीय वृद्धा बचुली देवी पत्नी स्वर्गीय चंदर सिंह रौतेला अपने तीन बेटों पूरन रौतेला, लक्ष्मण व पप्पू के साथ रहती हैं। शुक्रवार की शाम करीब साढ़े सात बजे उनके बड़े बेटे पूरन के साथ एक दुर्घटना हो गई। इस पर बचुली देवी को घर में छोड़कर सभी परिजन उसे लेकर हल्द्वानी गए, जहां वह आईसीयू में भर्ती है।

देखें वीडियो : 

इधर शनिवार दोपहर करीब दो बजे बचुली देवी के पुराने, लकड़ी से बने घर में आग लग गई। इस दौरान घर में गैस के दो सिलेंडर भी भरे हुए थे। दैवयोग से 112 नंबर पर सूचना देने पर तत्काल मौके पर पहुंची तल्लीताल थाना और चीता मोबाइल पुलिस ने बचुली देवी को धू-धू कर जलते घर से सुरक्षित बचाया और घर से दोनों गैस सिलेंडरों को बाहर निकाला। बाद में फायर ब्रिगेड की टीम ने भी मौके पर पहुंचकर पूरी तरह से जल चुके घर की आग बुझाई। पुलिस ने चेहरे व अन्य हिस्सों में झुलसी बचुली देवी को बीडी पांडे जिला चिकित्सालय मंे भर्ती कराया। बचाने वाली पुलिस टीम में उप निरीक्षक दीपक बिष्ट, आरक्षी राजकुमार, विनोद व चीता मोबाइल प्रभारी वरिष्ठ आरक्षी शिवराज राणा शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : अभी-अभी 50 फीसद जला एक युवक

नवीन समाचार, नैनीताल, 23 जनवरी 2021। नगर के कृष्णापुर क्षेत्र में एक युवक द्वारा आत्मदाह करने की प्रारंभिक सूचना आई। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार कृष्णापुर चुंगी के पास रहने वाला करीब 20 वर्षीय युवक दीपक उर्फ दीपू पुत्र अशोक युवक अज्ञात कारणों से 50 फीसद तक यानी बेहद गंभीर स्थिति तक जल गया। उसे गंभीर अवस्था में हल्द्वानी ले जाया गया है। आग लगने के कारणों की सटीक जानकारी नहीं है।

तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने बताया कि 50 फीसद जले युवक को हल्द्वानी ले जाने की सूचना है। किसी ने इस मामले की पुलिस को सीधे सूचना नहीं दी है। वहीं नगर पालिका के क्षेत्रीय सभासद कैलाश रौतेला ने जानकारी के आधार पर बताया कि दीपक नाम का समाचार पत्र वितरित करने वाला युवक जला है। बताया जा रहा है कि घर के पास अपनी बाइक से गिरे पेट्रोल में आग पकड़ने की वजह से हादसा हुआ है। युवक की स्थिति गंभीर बताई गई है।
हम इस समाचार पर बने हुए हैं। इस समाचार पर अपडेट इसी लिंक पर दी जाएगी। इसलिए अपडेट के लिए लिंक को लगातार रिफ्रेश करते रहें।

यह भी पढ़ें : 58 तोले सोने के आभूषण सहित लाखों की नगदी स्वाहा, पालतू पशु भी जिंदा जले

नवीन समाचार, नैनीताल, 31 दिसम्बर 2020। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के गंगोलीहाट में बृहस्पतिवार बसंती देवी के घर में सिलेंडर में अचानक आग लगने से भीषण अग्निकांड हो गया। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया तथा छत पर बल्ली तख्ते में आग पकड़ ली आग इतनी विकराल हो गई कि बसंती के साथ ही बगल के केसर सिंह परगाई पुत्र दीवान सिंह व पूरन सिंह पुत्र दौलत सिंह परगाई के घर भी आग की चपेट में आ गए। इस अग्निकांड में बसंती देवी की दो बकरियां जिंदा जल गई तथा दो बकरियां व एक भैंस भी झुलस गईं, जबकि पूरा घर स्वाहा हो गया। वहीं केसर सिंह परगाई के 25 तोले सोने के जेवरात, 1,30,000 रुपए नगद तथा पूरन सिंह का 25 तोला सोना, 16 हजार नकद तथा बसंती देवी का 8 तोला सोना 15 हजार नकद और घर का सारा सामान स्वाह हो गया ।

यह भी पढ़ें : वीडियो: कार में लगी भयानक आग

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 31 दिसंबर 2020। शहर के दुर्गा सिटी सेंटर स्थित एक निजी बैंक के सामने खड़ी एक कार में बुधवार शाम अचानक भयानक आग लग गइ्र। घटना की सूचना पर दमकल कर्मी पहुंचे, लेकिन तब तक कार पूरी तरह से लपटों में घिर गई थी। प्राथमिक जांच से पता चला कि कार में आग कूड़े के ढेर से लगी है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसा कि कुसुमखेड़ा आरटीओ रोड निवासी डॉ. अर्जुन कालाकोटी दुर्गा सिटी सेंटर में लैपटॉप की मरम्मत कराने के लिए आए थे। उन्होंने कार एक बैंक के सामने खंभे के पास कार खड़ी की थी। इस बीच कार में भयानक आग लग गई। कार को आग की लपटों से घिरा देख लोगों ने सूचना पुलिस और दमकल कर्मियों को दी। शोर सुनकर चिकित्सक भी कार के पास पहुंच गए। दमकल कर्मियों को आग बुझाने में काफी समय लगा। भोटिया पड़ाव चौकी प्रभारी प्रताप सिंह नगरकोटी ने बताया कि चिकित्सक ने मामले में तहरीर दी है। आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें : भीषण अग्निकांड का अपडेट: ब्रिटिशकालीन मैलरोज कोठी में 50 लाख से अधिक के नुकसान का अनुमान, सुबह बुझाई जा सकी आग

-मुख्य अग्निशमन अधिकारी करेंगे जांच, रात्रि में फायर हाइडेंट खुलने के बाद आई आग बुझाने में तेजी, आग सुबह चार बजे तक बुझ पाई
नवीन समाचार, नैनीताल, 12 दिसम्बर 2020। शुक्रवार देर शाम नगर में हुए भीषण अग्निकांड में चार लोगों के स्वामित्व वाली 100 वर्ष से अधिक पुरानी ब्रिटिशकालीन 30 कमरों की विशाल मैलरोज कोठी पूरी तरह से खाक हो गई। दुर्घटना में अभी पीड़ित परिवारों ने पुलिस-प्रशासन को अपने नुकसान का सही अनुमान नहीं बताया है फिर भी अग्निकांड में 50 लाख रुपए से अधिक के नुकसान का अंदाजा लगाया है। अग्निशमन अधिकारी चंदन आर्य ने बताया कि अग्निकांड में 10 लाख से अधिक के नुकसान पर मुख्य अग्निशमन अधिकारी जांच करेंगे। उन्होंने बताया कि रात्रि में करीब 11 बजे फायय हाइडेंट खुलने के भरपूर पानी उपलब्ध हो पाया। फिर भी सुबह चार बजे तक अग्निशमन कर्मी आग बुझाने में जुटे रहे। यदि पानी उपलब्ध न होता तो आसपास के अन्य घरों में भी आग फैलने का पूरा अंदेशा था।

उल्लेखनीय है कि बीती रात्रि नगर के मल्लीताल शेरवानी होटल के पीछे की ओर स्थित मैलरोज कंपाउंड क्षेत्र में स्थित मैलरोज कोठी-भोज भवन नाम की पुरानी अंग्रेजी दौर की बनी लकड़ी व पत्थरों की तथा टिन की छत वाली कोठी में शाम करीब सवा आठ बजे आग लगी। साढ़े आठ बजे तक आग काफी धधकने पर आसपास के लोगों को पता चला। इसके बाद ही अग्निशमन विभाग को सूचना दी गई। अग्निशमन विभाग की टीम को दुर्गम एवं संकरे मार्ग होने के कारण मौके पर पहुंचने में काफी समस्या आई। गनीमत रही की आग से कोई जनहानि नही हुई है।

बताया जा रहा है कि यह घर पूर्व में भोज परिवार का था। वर्तमान में यह कुमाऊं विश्वविद्यालय के डीएसबी परिसर के भूगोल विभाग के प्रोफेसर पीसी तिवारी, कुमाऊं मंडल विकास निगम से सेवानिवृत्त कर्मचारी प्रकाश पांडे, अरुण भोज-त्रिभुवन भोज और देवेश अधिकारी के स्वामित्व में है। उन्हीं के बगल में वैद्यनाथ कंपनी के मालिक व उत्तर प्रदेश के पूर्व सांसद विश्वनाथ के रिश्तेदार की कोठी है, जिसे भोज कोठी कहते हैं। इस कोठी को भी आग से काफी नुकसान पहुंचा है। इधर घटना के दौरान प्रो. तिवारी अपने हल्द्वानी स्थित आवास पर गए हुए थे। बताया गया कि आग उन्हीं के घर से शुरू हुई। अलबत्ता यह साफ नहीं है कि आग लगने की घटना कहां से और कैसे शुरू हुई। फिर भी आग लगने का कारण शार्ट सर्किट माना जा रहा है। अग्निकांड में घर पूरी तरह से खाक हो गया है।

आग बुझाने में भूपेंद्र बिष्ट, सुरेश बिनवाल, प्रेम बिष्ट, पप्पू भट्ट, प्रो सीसी पंत और आदित्य साह सहित कई जुटे रहे। आसपास के परिवारों ने भी अपने घरों से पानी लाकर आग बुझाने की कोशिश की मगर आग विकराल होती गई। इस दौरान गैस के सिलेंडरों मंे धमाके भी होने से आग बेकाबू होती चली गई। सूचना मिलने पर नगर पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी सभासद भगवत रावत, पुष्कर बोरा व दया सुयाल ने भी मौके पर पहुँचकर आग बुझाने में सहयोग किया। युवाओं ने जान हथेली पर रखकर कोठी से सामान बाहर निकालने के साथ ही लोगों को निकाला। जबकि अधिकारी नदारद रहे। आग इतनी भीषण थी कि लपटें तल्लीताल तक देखी जा सकती थी। कुछ ही देर में अग्निशमन विभाग की टीम दो वाहनों के साथ मौके पर पहुंच, लेकिन वाहन मौके पर नहीं पहुंच पाए। एक वाहन नीचे शेरवानी व दूसरा किलबरी रोड पर मंदिर के पास लगाया गया। फायर हाइडेंट से पानी खुलने मंे देरी हुई। इधर आज क्षेत्रीय राजस्व उप निरीक्षक सुरेश सनवाल ने प्रो. तिवारी की पत्नी भगवती तिवारी से जानकारी ली। प्रभावितों में से कुछ ने कोतवाली पुलिस को भी नुकसान की कुछ जानकारियां दी हैं।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग नैनीताल: अभी-अभी नगर में भीषण अग्निकांड…

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 दिसंबर 2020। शुक्रवार देर शाम नगर में भीषण अग्निकांड हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर के मल्लीताल शेरवानी होटल के पीछे की ओर स्थित मैलरोज कंपाउंड क्षेत्र में स्थित मैलरोज कोठी-भोज भवन की पुरानी अंग्रेजी दौर की बनी लकड़ी व पत्थरों की तथा टिन की छत वाली कोठी में शाम करीब सवा आठ बजे आग लगी। साढ़े आठ बजे तक आग काफी धधकने पर आसपास के लोगों को पता चला। इसके बाद ही अग्निशमन विभाग को सूचना दी गई। अग्निशमन विभाग की टीम को दुर्गम एवं संकरे मार्ग होने के कारण मौके पर पहुंचने में काफी समस्या आई। गनीमत रही की आग से कोई जनहानि नही हुई है।

देखें विडियो : 

इधर अग्निशमन अधिकारी चंदन आर्य ने बताया कि अग्निशमन विभाग की टीम दो वाहनों के साथ मौके पर पहुंची। वाहन मौके पर नहीं पहुंच पाए। एक वाहन नीचे शेरवानी व दूसरा किलबरी रोड पर मंदिर के पास लगाया गया। इनमें से एक वाहन पानी से खाली हो चुका है, दूसरा भी खाली होने वाला है। कोठी में आग अभी भी लगी हुई है। जल संस्थान के सहायक अभियंता को फायर हाइडेंट में पानी खोलने को कहा गया है। सात नंबर क्षेत्र से पानी खोला जा रहा है। इसके बाद अग्निशमन विभाग पुनः आग बुझाने के कार्य में जुटेगा। क्षेत्र की बिजली काटी जा चुकी है।

यह भी पढ़ें : सुबह हुए अग्निकांड में तीन दुकानें खाक हुईं…

नवीन समाचार, नैनीताल, 09 दिसम्बर 2020। जिला मुख्यालय के निकटवर्ती भवाली नगर में बुधवार तड़के तीन दुकानों में अज्ञात कारणों से आग लग गई। नगर के रामगढ़ रोड तिराहे पर सुबह लगभग चार बजे हुए इस अग्निकांड में अग्निशमन बल के कर्मियों ने जब तक काबू पाया, तब तक तीनों दुकानें खाक हो चुकी थीं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रामगढ़ तिराहे पर बुधवार सुबह 4 बजे मनोज गौतम, दानिश और चन्दू की टिनशेड में बनी दुकानों में आग धधक उठी। इनमें से दो दुकानें मीट की और एक मोची की थी। आग की सूचना स्थानीय लोगों ने अग्निशमन विभाग को दी, जिन्होंने आग पर काबू पाया। अग्निकांड से तीनो दुकानों में हजारों रुपए की सामग्री का नुकसान हुआ है। पुलिस एवं अग्निशमन विभाग अग्निकांड की वजह का पता लगा रही हैं।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग : अभी-अभी हल्द्वानी के ब्लेक बेरी शोरूम में लगी भीषण आग, 4 गाड़ियाँ आग बुझाने में जुटीं..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 06 दिसम्बर 2020। रविवार दोपहर हल्द्वानी के नैनीताल रोड स्थित टेड़ी पुलिया स्थित अजय अग्रवाल के ब्लैकबेरी की फ्रेंचाइजी नाम के कपड़ों के शोरूम में भीषण आग लग गई। जानकारी के अनुसार, दोपहर करीब डेढ़ बजे शोरूम में अचानक शॉर्ट सर्किट हुआ और देखते ही देखते एक चिंगारी से लगी आग ने विकराल रूप ले लिया।आग का नजारा बेहद भयावह था। आग की लपटें तेजी से व काफी ऊंचे तक उठ रही थीं। कुछ ही सेकेंड में आग की लपटें बगल में स्थित फास्ट फूड की दुकान में भी पहुंच गई। यहां के कर्मचारी भी किसी बाहर सड़क को भाग निकले। आग लगने की सूचना मिलने पर अग्निशमन विभाग की टीम मौके पर पहुंची है, और चार गाड़ियों की मदद से आग बुझाने में जुटीं। लेकिन अग्निशमन कर्मियों को आग बुझाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है।

देखें विडियो :

आग लगने की घटना नैनीताल हाईवे पर होने के कारण हाईवे पर वाहनों का आवागमन भी प्रभावित हुआ। शोरूम के स्वामी अजय अग्रवाल ने बताया कि लगभग एक करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। बताया जा रहा है कि दुकान में करीब 3000 कपड़ों के पीस थे।अग्निकांड में प्रकाश बीर नामक व्यक्ति की फास्ट फूड की दुकान में रखा सारा सामान भी जलकर राख हो गया।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: रात्रि में मल्लीताल बाजार में लगी आग, एक व्यक्ति की जलकर मौत, भाई-बहु सहित तीन लोग झुलसकर घायल

-सर्दी से बचने के लिए जलाए ब्लोवर को बताया जा रहा है आग लगने का कारण

नवीन समाचार, नैनीताल, 30 नवम्बर 2020। मुख्यालय में बीती रात्रि अग्नि दुर्घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि भाई-बहु व भतीजा घायल हो गया। आग लगने की घटना नगर के मुख्य व घने चार मंजिला इमारतों के बड़ा बाजार के एक घर की दूसरी मंजिल पर हुई। आग पर करीब ढाई घंटे की मशक्कत के बाद काबू पाया जा सका। घटना की सूचना जल्दी मिल गई व अग्निशमन व पुलिस विभाग के जवान तथा स्थानीय लोग सक्रियता से आग बुझाने में जुटे, अन्यथा बगल में स्थित पंजाब नेशनल बैंक की मल्लीताल शाखा सहित पूरे बाजार क्षेत्र में आग फैलने का खतरा था, जिसे टाल लिया गया। अलबत्ता, आग से प्रभावित परिवार को लाखों रुपए के घरेलू सामान के नुकसान का अंदेशा जताया जा रहा है।
अग्निशमन अधिकारी-द्वितीय चंदन आर्य ने बताया कि रात्रि करीब ढाई बजे मल्लीताल बड़ा बाजार में मामू स्वीट्स की दूसरी मंजिल पर आग लगने की सूचना मिली। इस पर अग्निशमन विभाग की पूरी टीम तीन वाहनों के साथ मौके पर पहुंची। स्थानीय हाइडेंट से भी पानी लिया गया। आग बुझाने के दौरान घर में रखे गैस सिलेंडर हटाने में गृह स्वामी हरेंद्र बिष्ट पुत्र आनंद बिष्ट व उनकी पत्नी नीमा बिष्ट तथा शिवा बिष्ट पुत्र स्वर्गीय कुलदीप बिष्ट के हाथ-पैर झुलस गए। उन्हें बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ले जाया गया, जहां उनका उपचार चल रहा है। इस दौरान लोग आग बुझाने में जुटे रहे, लेकिन घर में मौजूद पैरालिसिस-फालिज से ग्रस्त बताए गए 65 वर्षीय रवींद्र बिष्ट पुत्र आनंद बिष्ट के होने का किसी को खयाल नहीं रहा। बाद में वह मृत मिले। आग सुबह करीब पांच बजे बुझ पाईं मल्लीताल कोतवाली के एसएसआई मो. यूनुस ने बताया कि पुलिस ने पहुंच कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। अग्निशमन विभाग के अनुसार घर में सर्दी से बचने के लिए जलाए ब्लोवर की वजह से आग लगी हो सकती है। घटना में एक व्यक्ति की मौत से क्षेत्र में शोक का माहौल भी बना हुआ है। हालांकि बताया जा रहा है कि मृतक की पत्नी उनसे अलग रहती थी और 7-8 वर्ष पूर्व उनके पुत्र की एक हादसे में मौत हो गई थी और मृतक फालिज पड़ने से विकलांग सी जिंदगी जी रहे थे।

चौड़ी सड़क के बावजूद अग्निशमन वाहन को मौके पर पहुंचने में हुई परेशानी
नैनीताल। अग्निशमन अधिकारी चंदन आर्य ने बताया कि अग्निशमन विभाग की टीम को बाजार में चौड़ी सड़क होने के बावजूद खड़ी गाड़ियों व केबिल की वजह से मौके पर पहुंचने में काफी परेशानी हुई। बिजली की लाइन काट दी गई थी, अन्यथा बिजली की लाइन से करेंट लगने का भी खतरा था। आग पर अपेक्षाकृत जल्दी काबू पा लिया गया, अन्यथा बगल में स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा व पूरी बाजार में आग फैलने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। बाजार में झुग्गी-झोपड़ी क्षेत्र की तरह बिजली व केबल के तारों का जाल बना हुआ है। स्थानीय लोगों ने भी स्वीकारा कि इनमें से अधिकांश तार अनाधिकृत तौर पर लगाए गए हैं।

यह भी पढ़ें : तल्लीताल हल्द्वानी रोड पर सुलगी आग रात्रि में भड़की, सक्रियता से हादसा टला

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 नवंबर 2020। नगर के तल्लीताल क्षेत्र में बीती सोमवार की देर रात किसी की गलती अथवा असामाजिक तत्वों की करतूत से आग लग गई। अलबत्ता, स्थानीय लोगों की तत्परता से आग पर तत्काल काबू पा लिया गया। अन्यथा आग पास में खड़ी गाड़ियों और घरों तक भी जा सकती थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, हल्द्वानी रोड पर पुरानी चुंगी के सामने लगभग दो माह पहले वन निगम की ओर से एक देवदार का पेड़ काटा गया था। निगम द्वारा पेड़ की टहनियां तो हटा दी गई, लेकिन छोटी लकड़ी के साथ ही पत्ते सड़क किनारे छोड़ दिए गए। बताया जा रहा है कि करीब 2 दिन से यहां सूखी टहनियों व पत्तों के ढेर पर किसी ने आग लगा दी थी। जो सोमवार देर रात भड़क गई। इस पर स्थानीय लोगों ने तल्लीताल पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस टीम ने स्थानीय लोगों की मदद से सड़क किनारे पार्क वाहनों को हटवाया, और फायर ब्रिगेड को सूचना दी। इस पर फायर ब्रिगेड की टीम ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया। अगर समय से पुलिस को सूचना नहीं मिलती तो यहां बड़ा हादसा हो सकता था। अलबत्ता, स्थानीय लोगों ने बताया कि यहां मंगलवार को दोपहर तक भी हल्की आग सुलगती हुई देखी गई।

यह भी पढ़ें : अग्निकांड में बीपीएल परिवार का सब कुछ हुआ खाक, मांग कर खाने की नौबत

कूंण गांव में हुए अग्निकांड से जली घर की लक़ड़ियां।

नवीन समाचार, नैनीताल, 07 जून 2020। बीती रात्रि जनपद के रामगढ़ विकास खंड के अंतर्गत श्याम खेत-महेशखान के पास के निकट तल्ला कूँण ग्राम निवासी बीपीएल श्रेणी के जीवन चंद भट्ट के घर में भीषण अग्निकांड हो गया। बताया गया है कि रसोई में शॉर्ट सर्किट होने से आग लगी, इसके बाद गैस का सिलेंडर भी फट गया। इससे काफी लकड़ी से बनी रसोई में भीषण आग लग गई। फलस्वरूप रसोई में रखा अनाज एवं सभी बर्तन खाक हो गए। धमाके से ही लोगों की नींद टूटी। ग्रामीणों ने बमुश्किल आग बुझाई। उन्होंने लोगों से मदद की गुहार लगाई है।

पीडित जीवन चंद्र भट्ट के पुत्र जीतेंद्र भट्ट ने बताया कि हादसा पांच जून की रात्रि 12 बजे घर से थोड़ा हटकर बनी रसोई में हुआ। रसाई घर से हटकर होने के बावजूद घर की छत में भी आग लग गई, लेकिन रसोई व घर थोड़ा दूर होने से घर में सोये सात लोगों के परिवार के लोग बच गये। घटना की सूचना ग्राम प्रधान को दी गई। इस पर प्रधान एवं राजस्व उपनिरीक्षक ने मौका मुआयना किया, लेकिन राजस्व निरीक्षक ने हादसा आपदा मद में नहीं होने का हवाला देते हुए किसी तरह की मदद मिलने से इंकार किया।

वहीं गैस एजेंसी को गैस सिलेंडर का इंश्योरेंस होने का हवाला देते हुए मदद मांगी गई तो एजेंसी कर्मियों ने गैस चूल्हा व आग का चूल्हा एक कमरे में नहीं होने के नियम का हवाला देते हुए किसी भी मदद से इंकार कर दिया है। वहीं 2300 रुपए की पैनल्टी देने पर ही नया सिलेंडर देने की बात कही। जीतेंद्र ने कहा कि वह दिल्ली में नौकरी करते थे, लॉक डाउन में नौकरी छोड़कर घर आ गये हैं। अब परिवार मांग कर काम चला रहा है। सामाजिक कार्यकर्ता पूरन बृजवासी ने पीड़ित परिवार की मदद की गुहार लगाई है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल जिला न्यायालय में आग लगने से हड़कंप, न्यायाधीश, अधिवक्ता व कर्मचारी भी आग-धुंवे में फंसे, न्यायिक कार्य भी प्रभावित

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 फरवरी 2020। माह के पहला दिन जिला न्यायालय पर बुरा बीता। जिला न्यायालय के अंग्रेजों द्वारा 1930 में बने ऐतिहासिक भवन में पहली बार आग लगने की घटना हो गई। आग भवन के मुख्य बिजली के मीटर के पास लगी। आग जल्दी ही धधक उठी और इससे न्यायालय परिसर में काफी धुंवा भी हो गया। आग से न्यायालय परिसर की बिजली पूरी तरह से गुल हो गई, साथ ही सीसीटीवी कैमरों की नई बनी लाइन भी क्षतिग्रस्त हो गई। इस कारण न्यायालय में कार्य कमोबेश ठप एवं प्रभावित हो गए।

आग लगने की घटना के दौरान भवन के पहले तल में मौजूद न्यायाधीश एवं अधिवक्ता अपने कक्ष में ही कुछ समय के लिए जबकि दूसरे तल में मौजूद न्यायिक कर्मी करीब आधे घंटे तक आग-धुंवे की वजह से फंसे रहे। घटना में न्यायालय कर्मियों ने सक्रियता से कार्य करते हुए फायर ब्रिगेड के पहुंचने से पहले ही न्यायालय परिसर में मौजूद अग्निशमन हेतु पहले से रखे गए फायर एक्सटिंग्युशर सिलेंडरों की मदद से आग पर जल्दी काबू पा लिया। घटना दिन के वक्त हुई, इसलिए आग की घटना से न्यायालय का ऐतिहासिक भवन बच गया। कहा जा रहा है कि यदि यही घटना रात्रि में हुई होती तो न्यायालय के भवन का बचना मुश्किल था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह पौने 11 से 11 बजे के बीच जिला न्यायालय परिसर में बाहर मुख्य मीटर के पास, संभवतया शॉर्ट सर्किट अथवा बिजली का लोड बढ़ जाने के कारण आग लगने की घटना हुई। आग लगने से खासकर इतनी अधिक मात्रा में धुंवा फैला कि न्यायालय में न्यायिक कार्यों में लगे न्यायाधीशगण एवं अधिवक्ता व विभागीय कर्मी कमरों में फंस गए। उस समय न्यायालय में सुबह जमानती प्रार्थना पत्र निपटाए जा रहे थे। घटना की सूचना अग्निशमन विभाग को दी गई। जबकि न्यायिक कर्मी स्वयं ही फायर एक्सटिंग्युशर सिलेंडरों की मदद से आग बुझाने में जुटे और उन्होंने फायर ब्रिगेड के पहुंचने से पहले ही आग बुझा ली। बाद में मात्र 300-350 लीटर पानी लेकर पहुंचे फायर ब्रिगेड कर्मियों ने परिसर में फैले धुंवे का शांत किया। आग से न्यायालय परिसर की बिजली पूरी तरह से गुल हो गई, और यह समाचार लिखे जाने तक भी बहाल नहीं हो पाई। इस कारण न्यायालय में सभी कम्प्यूटर, इंटरनेट भी ठप पड़े रहे। नई लगाई गई सीसीटीवी की लाइन के भी खराब होने की बात बताई जा रही है।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी से 42 यात्रियों को लेकर गई बस में भीषण आग… खाक हुई बस…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 5 जनवरी 2019। हल्द्वानी से सुदूर दक्षिण रामेश्वरम की यात्रा पर निकली हल्द्वानी के सुखियांचल टूर एंड ट्रेवल्स की यात्री बस में विशाखापट्टनम शहर से लगभग 60 किलोमीटर पहले अचानक आग लग गई। देखते ही देखते बस आग से धू-धूकर जलने लगी। बस में 42 यात्री सवार थे। आग से यात्रियों का सारा सामान जलकर राख हो गया। हालांकि आग से किसी भी यात्री को कोई नुकसान नहीं हुआ है। घटना में सुखियांचल टूर एंड ट्रेवल्स के स्वामी  हरीश टप्पी की पत्नी के हाथ की हड्डी के फ्रेक्चर होने की सूचना है। बताया गया है कि सुखियांचल टूर एंड ट्रेवल्स के द्वारा बरेली के कालरा ट्रेवल्स की दो गाडिय़ां इस टूर के लिए बुक की गई थीं। दोनों गाडिय़ों में 80 यात्री भेजे गए थे। विशाखापत्तनम से आगे एक गाड़ी को बचाने के चक्कर में बस सामने से आ रहे ट्रक से जा भिड़ी, जिससे आग लग गई।

यह भी पढ़ें : नवीन समाचार ब्रेकिंग, अभी-अभी : नैनीताल के एक ऐतिहासिक भवन में शार्ट सर्किट की घटना से हड़कंप

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 दिसंबर 2019। मुख्यालय में मल्लीताल स्थित भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा के 19वीं सदी में बने ऐतिहासिक-विरासत महत्व के भवन में बुधवार दोपहर करीब 12 बजे बिजली के तारों में शार्ट सर्किट हो गया। बैंक के मुख्य कक्ष में हुई शॉर्ट सर्किट की घटना तत्काल ही पता चल गई, लिहाजा तत्काल ही बैंक कर्मियों ने तत्परता एवं स्वविवेक का इस्तेमाल कर बैंक के बाहर से मेन स्विच ऑफ कर दिया एवं फायर एक्सटिंगुशर का प्रयोग कर आग फैलने से पहले ही रोक दिया। इससे बड़ी दुर्घटना बच गई। अलबत्ता घटना के बाद बैंक में इससे बैंक में अफरा-तफरी मच गई और कामकाज रोकना पड़ा। मुख्य शाखा प्रबंधक प्रदीप नारायण ने कहा कि आधे घंटे में साफ-सफाई के बाद काम शुरू हो जाएगा। लेकिन माना जा रहा है कि लंच के बाद 3 बजे से ही बैंक में सुचारू तरीके से कार्य हो पायेगा।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग, एक्सक्लूसिव: नैनीताल में रात्रि के बड़ा अग्निकांड: व्यापारी के प्रतिष्ठान में आग, गैस सिलेंडर फटने से व्यापक नुकसान

-करीब 75 हजार की नगदी, लाइसेंसी पिस्टल, एक दर्जन गोलियां भी हुए खाक, व्यापारी नेता व उनके भाई भी काफी झुलसे

अग्निकांड में खाक हुए प्रतिष्ठान में अपने जख्मों के साथ व्यापारी व उनके भाई।

नवीन समाचार, नैनीताल, 3 दिसंबर 2019। मंगलवार की सुबह तड़के नगर में चार दिन के भीतर हुए एक भीषण अग्निकांड में एक व्यापारी के प्रतिष्ठान में बड़ी आग लग गई। आग से प्रतिष्ठान में रखा गैस सिलेंडर भी फट गया। इससे आग और भयावह हो गई, जिसने प्रतिष्ठान में रखी करीब 75 हजार रुपए की नगदी, एक लाइसेंसी पिस्टल, इसकी करीब एक दर्जन गोलियां सहित सब कुछ खाक कर दिया। पिस्टल की गोलियां भी आग के साथ फटती रहीं। दुकान की दीवार भी फट गई। प्रतिष्ठान में अग्निकांड के दौरान गैस के दो अन्य भरे सिलेंडर भी थे। इन्हें बाहर निकालने की कोशिश में व्यापारी व उनके भाई भी आग से बुरी तरह से घायल हो गए।

नगर के मल्लीताल में मोहन-को से नैनीताल क्लब जाने वाले मार्ग पर रॉयल होटल कंपाउंड के पास राजेंद्र बजेठा का ध्रुव कैफे के नाम से प्रतिष्ठान है। बजेठा नगर की सुप्रसिद्ध धार्मिक-सामाजिक संस्था श्रीराम सेवक सभा के नवनिर्वाचित प्रबंधक भी हैं। श्री बजेठा ने बताया कि बीती रात्रि करीब तीन बजे उनके प्रतिष्ठान में आग लग गई। इसकी सूचना उन्हें करीब साढ़े तीन बजे मिली। जब तक वे अपने प्रतिष्ठान में पहुंचे, तब तक आग विकराल रूप ले चुकी थी। इस बीच एक सिलेंडर फट गया, तथा पिस्टल की गोलियां भी आग की गर्मी से फटती रही। दो अन्य गैस सिलेंडरों को बचाने की कोशिश में वे और उनके भाई गोपाल बजेठा भी हाथ, चेहरे व पैर में काफी झुलस गए। दुकान में एटीआई के ठेके के लिए रखी करीब 75 हजार रुपए की नगदी भी जलकर खाक हो गई। उनकी दुकान में लाखों का नुकसान हुआ है। वहीं बगल में स्थित अल-गरीबा बिरयानी कॉर्नर में भी करीब दो कट्टे बासमती चावल जल गया। दुकान स्वामी ने करीब 10 हजार रुपए का नुकसान बताया है। क्षेत्रीय लोगों ने अग्निकांड के बाद बिजली देर से कटने पर हल्की नाराजगी जताई। अग्निशमन विभाग को आग पर काबू करने में करीब डेढ़ घंटे का समय लगा, लेकिन प्रतिष्ठान में कुछ भी नहीं बचा है।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग: नैनीताल में अभी-अभी भीषण अग्निकांड: विशाल कोठी-आउटहाउस खाक

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 नवंबर 2019। नगर में बीती मध्य रात्रि एक भीषण अग्निकांड में नगर के मल्लीताल क्षेत्र में शेरवानी होटल के पास मोहन पार्क स्थित अंग्रेजी दौर की एक विशाल कोठी और इसके पास स्थित आउट हाउस में जबर्दस्त आग लग गई। अग्निकांड में कोठी का निचला तल पूरी तरह से खाक हो गया। आग इतनी भयावह थी कि आग की लपटें आकाश में काफी ऊंचे तक उठ रही थीं और दूर-दूर से नजर आ रही है। इसे बुझाने में व्यवस्थाएं बेहद बौनी साबित हुईं। अग्निकांड में करीब 10 करोड़ रुपए का नुकसान बताया जा रहा है।

राज्य के सभी प्रमुख समाचार पोर्टलों में प्रकाशित आज-अभी तक के समाचार पढ़ने के लिए क्लिक करें इस लाइन को…

देखें आग की भयावह वीडियो :

कोठी भारतीय वायु सेना में रहे प्रख्यात गोल्फर व नैनीताल याट क्लब के वरिष्ठ सदस्य 101 वर्षीय स्क्वार्डन लीडर दलीप सिंह मजीठिया की है। बताया गया है कि सामान्यता स्क्वार्डन लीडर मजीठिया यहां नहीं रहते हैं, परंतु इधर कुछ दिनों से वह अपनी पत्नी जॉन और नर्स योगिता के साथ यहीं रह रहे थे। गनीमत रही कि नर्स योगिता को आग लगने की जल्दी जानकारी लग गई, जिसके बाद परिवार के सदस्य जल्दी सुरक्षित बाहर आ गये, वरना बड़ी जनहानि भी हो सकती थी। पुलिस एवं अग्निशमन बल के कर्मी एवं आसपास के लोगों को आग बुझाने में घंटों का समय लगा। अक्सर बारिश में ही लगती है नगर में आग
नैनीताल। यह दुर्योग ही है कि नगर में अक्सर आग लगने की घटनाएं होती हैं, और इनमें से अधिकांश घटनाएं बारिश के दिनों में या बारिश के आसपास होती हैं। इसका कारण बारिश के दौरान बिजली का शॉर्ट सर्किट होने की अधिक संभावना मानी जा सकती है। अलबत्ता आज की घटना के कारणों का अभी कोई अनुमान नहीं है।
नगर में 64 हाइडेंट, पर अधिकांश निरुपयोगी
नैनीताल। नगर में जल संस्थान के 64 हाइडेंट बताये जाते हैं, परंतु अधिकांश अतिक्रमण की भेंट चढ़ जाने एवं जल संस्थान की निष्क्रियता की वजह से निरुपयोगी हो गए हैं। बृहस्पतिवार रात्रि भी अग्निकांड होने पर पहले अग्निशमन विभाग के वाहन समय से मौके पर नहीं पहुंच पाए, और उन्हें मौके पर फायर हाइडेंट नहीं मिल पाए। इस कारण पड़ोस के एक होटल से पानी लेकर आग बुझाई गई। अग्निशमन अधिकारी कैलाश जाटव ने बताया कि सुबह 4 बजे आग पर काबू पाया जा सका।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में ‘दावानल’ की राष्ट्रीय आपदा : न खुद भड़की आग, न उकसाया हवा ने

नैनीताल में आग की भेंट चढ़ चुके है कई विरासत महत्व के भवन

नैनीताल राजभवन में आग, फिर मंगल को सामने आया अमंगल

यह भी पढ़ें : फिर ‘मंगलवार’ को नैनीताल में गोदाम में लगी आग, शरारती तत्वों पर आग लगाने का आरोप, 50 हजार के नुकसान का अनुमान

नवीन समाचार, नैनीताल, 30 अप्रैल 2019। मंगलवार की पूर्वाह्न नगर के किलबरी-पंगोट रोड पर जुबली हॉल-हंस निवास के पास एक गोदाम में आग लग गयी। आग से दुकान में रखे चिप्स व अन्य सामान जल कर खाक हो गये। दुकान स्वामी जावेद हुसैन के अनुसार आग से करीब 50 हजार रुपये का नुकसान हुआ है। उन्होंने कुछ शरारती तत्वों पर जानबूझकर आग लगाने का आरोप भी लगाया है। सूचना मिलने पर पहुंचे मल्लीताल कोतवाली के एसएसआई बीसी मासीवाल, आरक्षी मनोज जोशी के साथ ही अग्निशमन दस्ते के दुर्गा सिंह भंडारी, दिनेश लाल, मनोज भट्ट, दिनेश राणा आदि ने आग को बुझाने में योगदान दिया।

यह भी पढ़ें : मंगलवार को होने वाले अधिकांश अग्निकांडों में खाक हुए हैं नैनीताल के कई विरासत महत्व के भवन 

नैनीताल। इसे दुर्योग कहें या कुछ और, नैनीताल के ऐतिहासिक भवनों और आग का मानो चोली दामन का साथ है, वहीं यह भी अजब संयोग है कि यहां आग की अमंगलकारी घटनाएं अक्सर मंगलवार को होती हैं। उस मंगलवार को, जिसे धार्मिक दृष्टिकोण से पंचतत्वों में अग्नि से जोड़ा जाता है। नैनीताल नगर का नाम ‘न” वर्ण से शुरू होने के नाते इस नगर की राशि बृश्चिक है, जिसका स्वामी मंगल होता है। मंगल ग्रह को लाल ग्रह, भूमि पुत्र व अंगारक भी कहा जाता है, लिहाजा मंगल का अग्नि से सीधा संबंध बताया जाता है। नैनीताल में मंगल और आग के बीच का यह संबंध अनेक एतिहासिक भवनों में हुए भीषण अग्निकांडों के रूप में दिखाई देता है। नैनीताल जिला कलक्ट्रेट 5 अक्टूबर 2010 एवं राजभवन में 2 अप्रेल 2013 के अग्निकांड मंगलवार को ही हुए थे। गौरतलब है कि मंगल को लाल ग्रह भी कहा जाता है, तथा अग्नि से उसका सीधा संबंध बताया जाता है। 5 अक्टूबर 2010 जिला कलक्ट्रेट को भीषण अग्निकांड का शिकार होना पड़ा था, उस दिन भी मंगल ही था। 

इसके अलावा भी नगर में अग्नि दुर्घटनाएं होती रहती हैं। 1960 के दशक में जिम कार्बेट का कैलाश व्यू (हाडी-भांडी), शेरवुड के निकट क्लिफ्टन, 70 के दशक में तत्कालीन सेक्रेटरिएट (वर्तमान हाईकोर्ट), 1972 में वर्तमान सिल्वर्टन होटल के करीब स्थित तत्कालीन हेल्म्स लॉज, 27 नवंबर 1977 को नैनीताल क्लब, 1992 में डीएसबी परिसर का भौतिक विज्ञान विभाग, 2003 में राजभवन के एक हिस्से, 14 सितंबर 2013 को नयना देवी मंदिर के पास गोवर्धन संकीर्तन हॉल एवं 26 अक्टूबर 2013 की मध्य रात्रि नगर स्थित राजा महमूदाबाद अमीर मोहम्मद खान की प्रशासन के कब्जे वाली अरबों रुपए की ‘शत्रु संपत्ति”-मेट्रोपोल होटल का बॉइलर रूम व बैडमिंटन कोर्ट तथा 14 कमरों वाला हिस्सा पूरी तरह खाक हो गया था। इसके अलावा अयारपाटा का प्रायरी लॉज, हटन कॉटेज व वियना लॉज (धामपुर हाउस) में भी भीषण अग्निकांड हुए।

यह भी पढ़ें : जानें बीएसएनएल के मुख्यालय में हुए अग्निकांड की अपडेट बड़ी खुशखबरी के साथ…

-अग्निकांड के बाद तेजी से सुचारू हो रही है बीएसएनएल की सेवाएं

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 मार्च 2019। जिला-मंडल मुख्यालय नैनीताल स्थित बीएसएनएल के मुख्यालय में रविवार दोपहर लगी आग में वास्तव में नुकसान नहीं हुआ है, और 25 घंटों के भीतर ही बीएसएनएल के अभियंताओं व कर्मचारियों ने स्थितियों को काफी हद तक सामान्य कर लिया है।
बीएसएनएल के मंडलीय अभियंता विनोद कुमार भसीन ने बताया कि सभी मोबाइल फोन संयोजनों एवं लीज लाइनों को सुचारू कर दिया गया है। साथ ही करीब 3500 में से 1500 लैंड लाइन फोन भी सुचारू कर दिये गये हैं। यह सुचारू किये गये लैंड लाइन फोन चार में से दो रैकों के हैं, जबकि शेष दो रैकों में शामिल करीब 2000 खराब फोनों को भी अलग-अलग टीम बनाकर ठीक किया जा रहा है। उम्मीद है कि यह सब भी रात्रि या मंगलवार सुबह तक सुचारू हो जाएंगे। इसके अलावा ब्रॉड बैंड के करीब 350 नंबरों के भी शाम पांच बजे तक सुचारू होने एवं शेष करीब 1000 को रात्रि तक ठीक करने की कोशिश की जा रही है। श्री भसीन ने बताया कि इसके अलावा निगम की प्राथमिकता चुनाव कार्यालय, जिलाधिकारी कार्यालय एवं उत्तराखंड हाईकोर्ट के नंबरों को ठीक करने की है, जो कि शीघ्र सुचारू कर दिये जाएंगे। नुकसान के बाबत पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि निगम को अग्निकांड की घटना से अधिक नुकसान नहीं हुआ। गनीमत रही कि प्राइवेट कंपनी की ओर से लगे सौर पैनल एवं कुछ केबलों को ही नुकसान पहुंचा, और बीएसएनएल के मुख्य उपकरण फुंकने से बच गये।

उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व बीएसएनएल के मुख्यालय स्थित सी-डॉट एक्सचेंज में रविवार दोपहर हुए अग्निकांड में सीटीआर एवं दो अन्य कमरों के उपकरण एवं सौर पैनल तथा इसकी केबलों के फुंकने से करीब एक करोड़ रुपये के खर्च की जानकारी आई थी। साथ ही इस अग्निकांड में यहां से जुड़े करीब 40 हजार मोबाइल, करीब 3500 लैंडलाइन, 1400 ब्रॉडबैंड संयोजन सहित करीब 45 हजार उपभोक्ताओं की सहित जिला मुख्यालय के सूचना केंद्र-एनआईसी, लोक सभा चुनाव की व्यवस्थाओं, उत्तराखंड उच्च न्यायालय, जिला मुख्यालय व कुमाऊं कमिश्नरी कार्यालय, बैंक, पोस्टऑफिस, एलआईसी आदि की सेवाएं व एटीएम आदि की सेवाएं अनिश्चितकाल तक के लिए ठप होने की बात कही जा रही थी।

पूर्व समाचार : सरोवरनगरी स्थित बीएसएनएल मुख्यालय में लगी आग, मोबाइल-लेंडलाइन, ब्रॉडबेंड आदि समस्त सेवाएं अनिश्चितकाल के लिए ठप

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 मार्च 2019। जिला-मंडल मुख्यालय नैनीताल स्थित बीएसएनएल के मुख्यालय में रविवार दोपहर करीब साढ़े 12 बजे आग लग गयी। बताया गया है कि आग बीएसएनएल के मुख्यालय स्थित सर्वर रूम में लगी और इससे महत्वपूर्ण केबल लाइनें जलकर खाक हो गयीं। सूचना मिलने पर अग्निशमन विभाग के कर्मी फायर स्टेशन ऑफीसर कैलाश जाटव के नेतृत्व में मौके पर पहुंचे। सर्वप्रथम बिजली की आपूर्ति को कटवाया गया, बावजूद प्लास्टिक की केबलों में आग लगी होने की वजह से सर्वर रूम में भीतर घुसना संभव नहीं हुआ। इस पर अग्निशमन कर्मी ‘बीएएस’ यानी ब्रीदिंग एप्रेटस सेट पहनकर पीठ पर ऑक्सीजन सिलेंडर बांधकर सर्वर रूम में गये और पानी डालकर आग बुझाई। लेकिन आग बुझाने से पहले ही सर्वर रूम की समस्त केबल लाइनें जल चुकी थीं, जिस कारण मुख्यालय सहित मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों में यहां से जुड़ी मोबाइल, लैंडलाइन व ब्रॉडबेंड सेवाएं पूरी तरह से अनिश्चितकाल के लिए ठप हो गयी हैं। सेवाएं कब बहाल होंगी, फिलहाल बीएसएनएल के अधिकारी यह बताने की स्थिति में नहीं हैं।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में जिला प्रशासन की कस्टडी वाली शत्रु संपत्ति में बारिश-ओलावृष्टि के दौरान लगी भीषण आग, कारण है यह…

-पुराने बिक्री कर कार्यालय भवन में लगी आग, जिला प्रशासन है आग से खाक हुए भवन का कस्टोडियन

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 मार्च 2019। जिला-मंडल मुख्यालय नैनीताल में सोमवार शाम मल्लीताल स्थित शत्रु संपत्ति मेट्रोपोल होटल परिसर में देर शाम करीब सात बजे भीषण आग लग गई। आग मुख्य होटल भवन के बजाय इसके पीछ की ओर स्थित लकड़ी के उस भवन की दूसरी मंजिल में लगी जो पूर्व में बिक्री कर विभाग का कार्यालय था, और वर्तमान में इसका कस्टोडियन जिला प्रशासन है। आग बेहद विकराल थी। आग की लपटें पूरे नगर से नजर आ रही थीं। बाद में आग इस दौरान हुई मूसलाधार बारिश व ओलावृष्टि के कारण आसानी के बुझ गयी। आग चूंकि शत्रु संपत्ति में लगी थी, इसलिये आग लगने की खबर से प्रशासन में भी हड़कंप मच गया। प्रशासन की ओर से जिला विकास प्राधिकरण के सचिव हरबीर सिंह भी मौके पर पहुंचे, वहीं अग्निशमन और पुलिस महकमे के जवानों ने भी मौके पर पहुंचकर आग बुझाने में मदद की।

आग नशेड़ियों की हरकत मानी जा रही, आकाशीय बिजली भी कही जा रही

नैनीताल। शत्रु संपत्ति मेट्रोपोल होटल के बारे में लंबे समय से बताया जा रहा है कि यह स्थान स्मैक एवं अन्य नशे करने वालों का अड्डा बना हुआ है। माना जा रहा है कि आग इन्हीं नशेड़ियों के द्वारा लगाई गयी होगी, अथवा किन्हीं अन्य लोगों के द्वारा कड़ाके की ठंड के दौरान आग जली छोड़ देने से आग लगी होगी। क्योंकि जिस भवन में आग लगी है वहां बिजली का कोई संयोजन भी नहीं है। वहीं कुछ लोग आकाशीय बिजली गिरने को भी आग का कारण बता रहे हैं, हालांकि आकाशीय बिजली गिरने जैसी जोरदार आवाज सुनने की पुष्टि कोई नहीं कर रहा है। इसलिए इतना साफ है कि आग किसी बाहरी कारण से ही लगी है।

अपने दौर का सबसे बड़ा होटल था मेट्रोपोल, यहीं जिन्ना ने मनाया था हनीमून

नैनीताल। नगर के अपने दौर के सबसे बड़े 41 कमरे के मेट्रोपोल होटल का निर्माण मि. रेंडल नाम के अंग्रेज ने किया था। बाद में यह राजा महमूदाबाद की संपत्ति हो गई। देश की आजादी के बाद यह संपत्ति राजा के इकलौते चश्मो-चिराग राजा अमीर मोहम्मद खान के हिस्से आयी, लेकिन इस पर अनेक लोगों का कब्जा रहा। इनमें से एक प्रमुख श्री लूथरा 1995 तक इसे होटल के रूप में चलाते रहे। वर्ष 2005 में न्यायिक प्रक्रिया के बाद इसे प्रशासन द्वारा शत्रु संपत्ति घोषित कर तथा कब्जे छुड़वाकर राजा के हवाले कर दिया गया, लेकिन बाद में दो अगस्त 2010 को न्यायालय के आदेशों पर इसे वापस जिला प्रशासन ने बतौर कस्टोडियन कब्जे में ले लिया था। इसी होटल में पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना ने दूसरी शादी करके हनीमून मनाया था।

लाखों की आय के बावजूद सुरक्षा के कोई प्रबंध नहीं, 2013 में भी हुआ था अग्निकांड

नैनीताल। अरबों रुपये की प्रशासन के कब्जे वाली शत्रु संपत्ति मेट्रोपोल होटल में 26 नवम्बर 2013 की रात्रि भी भीषण अग्निकांड हो गया था, जिसमें होटल के बॉइलर रूम व बैडमिंटन कोर्ट तथा 14 कमरों वाला हिस्सा कमोबेश खाक हो गया था। तब भी होटल में कोई सुरक्षा प्रबंध नहीं थे और इसके बाद भी प्रशासन ने इसकी सुरक्षा के कोई प्रबंध नहीं किये हैं। गौरतलब है कि इस संपत्ति के मैदान को प्रशासन पार्किग के रूप में प्रयोग करता है, जिससे लाखों रुपये की आय भी प्राप्त होती है। लेकिन सुरक्षा के कोई प्रबंध नहीं हैं।

यह भी पढ़ें : पॉपुलर कंपाउंड क्षेत्र के घर में लगी भीषण आग, सारा सामान स्वाहा

-स्थानीय लोगों ने आपसी सहयोग का अनुकरणीय उदाहरण देकर बुझायी आग
नवीन समाचार, नैनीताल, 12 दिसंबर 2018। नगर के घने बसे पॉपुलर कंपाउंड-स्टाफ हाउस क्षेत्र में बुधवार देर शाम एक घर में आग लगने से दहशत फैल गयी। जिस स्थान पर आग लगी थी वहां अग्निशमन दस्ते के पहुंचने की गुंजाइश नहीं थी। ऐसे में स्थानीय लोगों ने आपसी सहयोग का अनुकरणीय उदाहरण पेश करते हुए धधकती हुई आग को अपनी जान की परवाह किये बिना घुसकर बुझा दिया। इस कोशिश में सबसे पहले दुर्घटनाग्रस्त घर के साथ ही आस पास के घरों की रसोइयों में रखे गैस सिलेंडर भी हटाये गये।
प्रारंभिक जानकारी के अनुसार आग बुधवार शाम करीब साढ़े छह बजे के करीब नगर के सनवाल स्कूल में कार्यरत राजवीर नाम के व्यक्ति के टिन के बने कच्चे घर में लगी, और आग ने देखते ही देखते पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया। आग इतनी अधिक थी कि इसकी लपटें दूर-दूर से देखी जा रही थीं। सूचना लगते ही पहुुचे स्थानीय सभासद सागर आर्या व राजू टांक के साथ ही मनोज, आशू, सचिन वाल्मीकि, अमित, नदीम, वाहिद, गौरव, सरताज, मो. इब्राहीम शहजाद आदि अन्य लोगों ने जुटकर और अपने घरों से पानी लाकर व धूल-मिट्टी डालकर आग पर काबू पाया। इस बीच क्षेत्र की बिजली काट दी गयी। सूचना मिलने पर मल्लीताल कोतवाली से वरिष्ठ उप निरीक्षक बीसी मासीवाल एवं अन्य पुलिस कर्मी तथा पूर्व सभासद कैलाश अधिकारी व भाजपा के नगर अध्यक्ष मनोज जोशी भी मौके पर पहुंचे और प्रभावित परिवार को ढांढस बंधाया।

बताया गया है कि स्टाफ हाउस क्षेत्र में  राजबीर वाल्मीकि पुत्र रोशन लाल के घर में पत्नी मुनेश देवी (40) समेत बेटी पूजा, अमन व भतीजे रोहित, अमित भी रहते हैं। घटना में उनके घर में रखा फ्रिज, टीवी, अल्मारी, पलंग, बिस्तर, अल्मारी उसमें रखा सामान समेत किचन में रखा खाने आदि का सामान भी जल गया। साथ ही बगल के कक्ष में रहने वाले उनके किरायेदार कृष्णकुमार, अर्जुन, दीवान राम का सामान भी खाक हो गया।

ठंड में खुले आसमान के नीचे आया प्रभावित परिवार
नैनीताल। आग से घर का सारा सामान खाक हो गया, और प्रभावित परिवार के सिर से छत छिन गयी। फलस्वरूप परिवार खुले आसमान के नीचे आ गया है। स्थानीय लोगों ने फिलहाल उन्हें शरण दी है। प्रभावित परिवार को आर्थिक मदद की गुहार लगायी जा रही है। घर में गृह स्वामी राजवीर, उसकी पत्नी, पुत्र अमित सहित दो अन्य छोटे पुत्र-पुत्री के साथ ही अन्य रिश्तेदार के दो बच्चे भी रहते बताये गये हैं।

नैनीताल के एक प्रतिष्ठान में आग से 10 लाख की नगदी सहित 50 लाख का सामान खाक

नैनीताल। नगर के माल रोड पर मेथोडिस्ट चर्च के नीचे स्थित प्रतिष्ठान ‘बनारसी पान भंडार एवं गिफ्ट सेंटर’ में 10 लाख रुपए की नगदी सहित करीब 50 से 60 लाख रुपए के सामान का नुकसान होने का अनुमान है। आग लगने की घटना बृहस्पतिवार रात्रि साढ़े 11 बजे के आसपास शुरू हुई, जिसके केवल करीब आधा घंटा पहले ही दुकान कर्मी दुकान बंद करके घर गये थे। आग का कारण साफ तौर पर बिजली के ‘शॉर्ट सर्किट’ होना माना जा रहा है। दुकान के दोमंजिले की टिन की छत के ठीक ऊपर से पड़ोस में स्थित सरोवर होटल एवं इसके नीचे की तीन दुकानों की बिजली की केबिलें जा रही थीं, जबकि बिजली का पोल दुकान से सटकर खड़ा है। आग लगने की सूचना राहगीरों ने दी, लेकिन जब तक दुकान स्वामी सारिका चौरसिया व कर्मी घर से दुकान पर पहुंचते व अग्निशमन बल आग बुझाने में जुटते आग विकराल रूप ले चुकी थी। इस कारण कोई दुकान के अंदर घुसने की हिम्मत भी नहीं जुटा पाया। इस वजह से दुकान में मौजूद करीब 10 लाख रुपए की नगदी को भी नहीं बचाया जा सका। बताया गया है कि दुकान में कपड़ों का गोदाम भी था और एक दिन पूर्व ही सामान लाया गया था, और भुगतान के लिए नगदी के साथ ही कुछ चेक भी तैयार रखे गये थे।

दुकान स्वामी सारिका पर लगातार टूट रहे दुःखों के पहाड़

नैनीताल। चौरसिया पान भंडार को सारिका चौरसिया नाम की महिला चार वर्ष पूर्व अपने युवा पति राजू चौरसिया के असामयिक निधन के बाद से चला रही है। उनके दो बच्चे हैं, बेटा 12वीं व बेटी सातवीं कक्षा में पढ़ती है। पति की मृत्यु के दुःख को भुलाकर वह घर-परिवार, बच्चों व दुकान की अनेक जिम्मेदारियों को दुकान पर 38 वर्ष से अनवरत कार्य कर रहे कर्मी गोपाल बिष्ट की मदद से निभा रही हैं। आज की घटना के बाद सारिका के आंसू बरबस निकल रहे हैं। दुःखद बात यह भी है कि दुकान का किसी तरह का कोई बीमा भी नहीं है।

इधर संवेदनशीलता प्रदर्शित करते हुए जिले के डीएम विनोद कुमार सुमन एवं सीडीओ ने भी अग्निदुर्घटना से प्रभावित दुकान पर पहुंचकर दुकान स्वामी महिला को सांत्वना एवं दैवीय आपदा मद से हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया।

पत्नी वियोग में जलती आग में कूदा प्रतिष्ठित परिवार का युवक

-बीते वर्ष ही हुआ था विवाह, विवाह के कुछ ही दिनों साथ रहकर पत्नी चले गयी थी मायके
नैनीताल, 3 मार्च 2018। नगर के प्रतिष्ठित परिवार का युवक बीती रात्रि घर में लगी आग में जलकर जिंदा भुन गया। युवक का विवाह बीते वर्ष ही 28 अप्रैल 2017 को हुआ था, और विवाह के बाद कुछ ही दिन साथ रहने के बाद उसकी पत्नी मायके चली गयी थी। बताया गया है कि तभी से वह गहरे अवसाद में था।

 

घटनाक्रम के अनुसार शुक्रवार रात्रि करीब 12 बजे नगर के शेरवानी लॉज क्षेत्र में अज्ञात कारणों से जबर्दस्त आग लग गयी। घर में नगर पालिका के अध्यक्ष पद के लिए भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ चुकी विद्या भास्कर पत्नी स्वर्गीय मदन लाल भास्कर (पूर्व सहायक शिक्षाधिकारी) अपने पुत्र पंकज कुमार (37) के साथ रहती थीं। आग लगने के बाद दोनों घर से बाहर निकल आए, और स्थानीय लोगों की मदद से आग बुझाने का प्रयास हुआ। आग न बुझने व विकराल रूप लेने पर करीब एक बजे आग की सूचना अग्निशमन विभाग को एवं कालाढुंगी रोड पर रहने वाली वाणिज्य कर विभाग में उपायुक्त के पद पर कार्यरत बेटी एवं नैनीताल जिले के मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश चंद्र व दूसरे बेटे गदरपुर (ऊधमसिंह नगर) में ग्राम विकास अधिकारी के पद पर कार्यरत विमल कुमार आदि को दी गयी, तथा वे करीब डेढ़ बजे मौके पर पहुंचे। इस बीच आग को अन्य सटे हुए घरों में फैलने से बचाने के लिए टिन की छत को तोड़ने व खास कर घर के भीतर मौजूद गैस सिलेंडरों को बाहर निकालने, के काम में व्यस्त लोगों के बीच से पंकज किसी समय धधकती आग से घिरे घर के भीतर चला गया, और किसी तरह चीखा-चिल्लाया भी नहीं। स्थिति यह रही कि आग के करीब-करीब बुझने के बाद सुबह चार-साढ़े चार बजे उसके धधकते घर के भीतर होने का पता चला। तब तक वह बुरी तरह से भुन चुका था। सुबह करीब सात बजे उसके शव को घर से बाहर लाया जा सका। वहीं करीब 12-13 वर्ष पूर्व घर की दूसरी मंजिल कमोबेश भष्म हो चुकी है। आग बुझाने में अग्निशमन विभाग व एसडीआरएफ के जवानों के साथ ही क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता भूपेंद्र बिष्ट, पप्पू भट्ट, राम सिंह रौतेला, हरीश जोशी, गोपाल मेहरा, प्रताप बिष्ट आदि ने उल्लेखनीय योगदान दिया। घर में सुबह नौ बजे भी आग की लपटें उठती देखी गयीं। वाहनों के लिए तीक्ष्ण चढ़ाई का मार्ग होने की वजह से अग्निशमन विभाग के वाहन चढ़ने में दिक्कत आई, जबकि पेयजल की हो रही कटौती के कारण पानी भी उपलब्ध नहीं हुआ। आसपास के लोगों ने अपनी पानी की टंकियां खाली कर आग बुझाने में योगदान दिया।

 

केएमवीएन मुख्यालय में भीषण अग्निकांड

 

29 अक्टूबर 2015 को हुए भीषण अग्निकांड के बाद कुमाऊँ मंडल विकास निगम का मुख्यालय

-गैस, मार्केटिंग, खनन व कम्प्यूटर रूम आदि युक्त ऊपरी मंजिल पूरी तरह खाक, कर्मचारी निचली मंजिल से आग के बीच घुसकर दस्तावेजों को बाहर लाने में रहे सफल
नैनीताल, 29 अक्टूबर 2015। बृहस्पतिवार सुबह तड़के नैनीताल स्थित कुमाऊं मंडल विकास निगम को अंग्रेजी दौर के बने विरासत महत्व के ओक पार्क स्थित ओक लॉज भवन कहे जाने वाले मुख्यालय में भीषण अग्निकांड हो गया। अग्निकांड में मुख्यालय की दूसरी मंजिल पूरी तरह से खाक हो गई, जबकि निचली मंजिल से हालांकि काफी उपयोगी सामग्री कर्मचारियों ने जान जोखिम में डालकर सक्रियता व तेजी बरतते हुए सुरक्षित बाहर निकाल लिया, लेकिन वह भी उपयोगी नहीं बची है। ऊपरी मंजिल में स्थित निगम के सर्वाधिक आय व लाभ प्रदान करने वाली एकमात्र इकाई गैस का पूरा डिवीजन खाक हो गया है, इसी तरह निगम के एमडी, अध्यक्ष व उपाध्यक्ष तथा कार्मिक अधिकारी आदि के कार्यालय, मार्केटिंग से संबंधित खनन, जड़ी-बूटी, एफएल-2, कंपनी सेक्रेटरी कार्यालय व कम्प्यूटर कक्ष आदि भी पूरी तरह से खाक हो गए हैं।

 
कुमाऊँ मंडल विकास निगम का मुख्यालय अग्निकांड से पहले
कुमाऊँ मंडल विकास निगम का मुख्यालय अग्निकांड से पहले

नैनीताल। 1976 में स्थापित केएमवीएन का मुख्यालय पूर्व में वर्तमान हाईकोर्ट व तत्कालीन सेक्रेटरिएट में संचालित था। बताया जाता है कि उत्तराखंड बनने की संभावनाओं और सेक्रेटरिएट में नए राज्य का सेक्रेटरिएट या हाईकोर्ट संचालित किए जाने की संभावनाओं के बीच इसे वहां से हटाकर राज्य संपत्ति विभाग व लोनिवि की संपत्ति रहे ओक पार्क स्थित ओक लॉज हाउस में नवंबर 1995 से इसे संचालित किया जाने लगा। इधर वर्ष 2010में यह भवन निगम को हस्तांतरित हुआ था। इससे पूर्व 1935 में देश में ब्रिटिश राज में अंतरिम सरकार बनने के दौरान भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पंत भी इस घर में रहे थे।

सूखाताल टीआरएच से चलेगा निगम मुख्यालय, नवंबर 95 से यहां संचालित था निगम मुख्यालय
नैनीताल। ओक पार्क स्थित कार्यालय बृहस्पतिवार सुबह अग्निकांड में खाक होने के बाद इसके प्रतिस्थापन का खाका भी खींच लिया गया है। निगम के प्रबंध निदेशक धीराज गर्ब्याल ने कहा कि शीघ्र ही मुख्यालय को सूखाताल स्थित पर्यटक आवास गृह से संचालित किया जाएगा। यहां हाल में डांडी हाउस के टूटने के बाद से संचालित हो रहे केंद्रीय रिजर्वेशन सेंटर के साथ ही निचले तल में मुख्यालय के अलग-अलग खंड चलाए जाएंगे। जरूरत पड़ने पर केवर्न रेस्टारेंट के कुछ हिस्से का उपयोग भी किया जा सकता है। इसके अलावा वर्तमान मुख्यालय को फिर से पुराने स्वरूप में ही पुर्नस्थापित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्यालय स्थानांतरित होने से निगम अपने दायित्वों पर प्रभाव नहीं पड़ने देगा, ऐसी कोशिश की जाएगी। कर्मचारियों के सर्विस बुक तरह के प्रपत्र कमोबेश सुरक्षित हैं, इसलिए उन्हें भी चिंता करने की जरूरत नहीं है। अलबत्ता, उनकी एक वर्ष के भीतर निगम के सभी टीआरएच को आधुनिक करने की मुहिम पर हल्का प्रभाव पड़ सकता है।

कागजों पर गायब हुआ केएमवीएन, धरातल पर हुआ चालू
नैनीताल। बृहस्पतिवार को भीषण अग्निकांड में कुमाऊं मंडल विकास निगम का मुख्यालय बुरी तरह से क्षतिग्रस्त ही नहीं हुआ, वरन कागजों पर निगम का अस्तित्व ही समाप्त हो गया है। जी हां, इस दुर्घटना में 1976 में स्थापित निगम के कंपनी रजिस्ट्रार से रजिस्ट्रेशन के उपरांत प्राप्त सर्वाधिक महत्वपूर्ण एवं निगम को एक प्रतिष्ठान-कंपनी के रूप में मान्यता देने वाला फ्रेम कर संभाला गया इनकॉर्पोरेशन प्रमाण पत्र तथा 1976 से अब तक कंपनी एक्ट के तहत बेहद जरूरी वर्ष में चार बार होने वाली बोर्ड बैठकों के ‘मिनट्स’ भी जलकर खाक हो गए हैं। कंपनी सचिव अनिल आर्य ने शुक्रवार को इसकी जानकारी निगम के एमडी धीराज गर्ब्याल को देकर पुलिस में इसकी एफआईआर करा दी है। उनका कहना था कि इन प्रपत्रों की अनुपस्थिति में निगम कागजों में एक कंपनी के रूप में नहीं रह गया है। हालांकि उन्होंने बताया कि इसकी फोटो स्टेट कॉपी ढूंढ ली गई है, जिसके जरिए इसकी दूसरी कॉपी हासिल करने का प्रयास किया जाएगा। इसी तरह अन्य अनेकों दस्तावेज भी आग की भेंट चढ़ गए हैं।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply