Crime

हल्द्वानी में 7 वर्षीय बच्चे की खेल-खेल में फंदा लगने से मौत

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
समाचार को सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 13 अक्टूबर 2021। शहर के बनभूलपुरा थाना क्षेत्र के इंदिरानगर में एक 7 वर्षीय बच्चे की खेल-खेल में फांसी लगने से दम घुटने से मौत का दुःखद समाचार है।

Death of more than 10 million children in between 2008 to 2015 could not  live for even five years says a report - 7 साल में एक करोड़ से ज्यादा बच्चों  कीप्राप्त जानकारी के अनुसार इंदिरानगर के नूरी मस्जिद का रहने वाला 7 वर्षीय अरमान पुत्र फईम बुधवार सुबह अपने छोटे भाई फरमान के साथ घर में खेल रहा था। तभी अचानक उसके गले में फंदा लग गया। इससे उसका दम घुट गया और अरमान बेहोश हो कर जमीन पर गिर गया। परिजन उसे बचाने की कोशिश में सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय ले गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने मृतक बच्चे के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु मोर्चरी भेज दिया। बच्चे के पिता से डीएम से पुत्र का पोस्टमार्टम नही कराने की गुहार लगाई। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सरकारी अस्पताल में दवा लेने के इंतजार में खड़े-खड़े मरीज ने तोड़ा दम

नवीन समाचार, मोटाहल्दू (नैनीताल), 2 अक्टूबर 2021। मोटाहल्दू के सरकारी अस्पताल में चिकित्सक को दिखाने के बाद दवा लेने के लिए लाइन में खड़ा एक व्यक्ति अचानक जमीन पर गिर पडा। लाइन में खड़े अन्य लोगों ने उसे उठाकर चिकित्सक को दिखाया, जहां डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस शव को कब्जे में लेर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मजदूरी करने वाला मूलरूप से ग्राम हैजलपुर थाना मदनापुर शाहजहांपुर निवासी 45 वर्षीय किशन पुत्र शिबूलाल हाल छडायल नयाबद हरिपुर नायक पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रहा था। शुक्रवार को वह मोटाहल्दू स्थित सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए गया था और चिकित्सक को दिखाने के बाद पर्ची लेकर दवा लेने के लिए लाइन में खड़ा था, तभी उसे चक्कर आ गया और वह जमीन पर गिर गया।

पुलिस के अनुसार प्रथमदृष्टया किशन की मौत की वजह हृदयाघात होना मानी जा रही है। मृतक के परिजनों का कहना है कि अपनी पत्नी की मौत के बाद वह मानसिक रूप से परेशान था। उसने अपने रिश्तेदारों से भी दूरियां बना ली थी। पुलिस अपने स्तर से जांच के साथ ही पीएम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बाथरूम में मृत मिले 38 बीघा जमीन के मालिक, बेटियों ने लगाया संपत्ति के लिए हत्या का आरोप

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 30 सितंबर 2021। हल्द्वानी के मुखानी थाना क्षेत्र में बीती देर रात एक 64 वर्षीय व्यक्ति अपने घर के बाथरूम में बेहोशी की अवस्था में मिला। उन्हें उपचार के लिए हल्द्वानी के बेस चिकित्सालय लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।  सूचना मिलने पर मोर्चरी पहुंची मृतक की बेटी ने आरोप लगाया कि उसके पिता की हल्द्वानी में 38 बीघा जमीन है। इस जमीन पर कुछ लोग निगाहें गड़ाए बैठे थे। जमीन पर कब्जा करने की कोशिश की जा रही थी। उन्होंने  जमीनी विवाद में पिता की हत्या करने का आरोप लगाया है।

हल्‍द्वानी में बाथरूम में मिला किसान का शव, बेटियों ने कहा-पिता की हुई हत्‍याप्राप्त जानकारी के अनुसार हल्द्वानी के ऊंचापुल क्षेत्र में रहने वाले 64 वर्षीय हंसा दत्त जोशी पत्नी की कुछ साल पहले मौत होने के बाद से अपने घर में अकेले रहते थे। उनकी एक शादीशुदा बेटी हल्द्वानी और दूसरी बेटी दिल्ली में रहकर पढ़ाई करती है। मंगलवार की रात डेढ़ बजे उनका पड़ोसी घर पहुंचा तो हंसा कमरे में नहीं थे। उसने बाथरूम में जाकर देखा तो उनके मुंह से खून निकल रहा था। पड़ोसी ने इसकी सूचना तत्काल मुखानी पुलिस को दी।

इस पर चौकी प्रभारी कविंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे और उपचार के लिए बेस अस्पताल लाए जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इधर, पुलिस मौत को प्रथमदृष्टया ब्रेन हेमरेज मान रही है। पोस्टमार्टम के बाद मौत का पता चलेगा। बुधवार की देर रात सीओ शांतनु पराशर ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पूर्व आईजी के घर में फंदे पर लटका मिला केयर टेकर का शव

नवीन समाचार, भवाली, 19 सितंबर 2021। रविवार को एक पूर्व आईजी के घर में उनके केयर टेकर का शव फंदे से झूलता मिलने से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के असल कारणों का पता चलेगा। पर मामला प्रथमदृष्टया आत्महत्या का लग रहा है। अलबत्ता, घटना को लेकर क्षेत्र में तरह तरह की चर्चाएं हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार घोड़ाखाल रोड पर स्थित यूपी के सेवानिवृत्त पुलिस आईजी शैलेंद्र प्रताप सिंह के घर में उने केयर टेकर 31 वर्षीय अमित पुत्र गुल्लन निवासी रायबरेली यूपी का शव संदिग्ध परिस्थितियों में घर की छत से नीचे फंदे पर झूलता हुआ मिला। सुबह दूसरे केयर टेकर शिवम ने शव को फंदे से लटका हुआ देखा और तुरंत आईजी को इसकी सूचना दी। इस पर आईजी ने ही कोतवाली पुलिस को घटना की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने मृतक के परिजनों को सूचित कर शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

उधर, शिवम ने बताया कि उसने आखरी बार अमित को रात में घर वालों से बात करते हुए देखा था। इसके बाद वह सो गया, और सुबह वह फंदे में लटका हुआ मिला। जबकि श्री सिंह ने बताया कि रात करीब नौ बजे अमित उन्हें खाना खिलाकर अपने कमरे में चला गया। उसके बाद सुबह वह फंदे में झूलता हुआ ही दिखा। उन्होंने बताया कि उन्हें पता चला कि वह अपने परिजनों से काफी परेशान रहता था। लेकिन उसने कभी उनसे परेशान होने की बात नहीं कही। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : व्यवसायी की मौत के पीछे हत्या की आशंका !

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 17 सितंबर 2021। हल्द्वानी के व्यवसायी पवन कन्याल की मौत के मामले में घटनास्थल के प्रत्यक्षदर्शी हत्या की आशंका जता रहे हैं। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि घटनास्थल पर जिस तक छोटी सी पानी की गूल में पवन का शव पड़ा था, वैसा स्वयं के अथवा दुर्घटना के कारणों से संभव नहीं लग रहा है। क्योंकि गूल में इतना पानी नहीं है कि उसमें डूबकर या बहने की वजह से किसी की मृत्यु हो सके। ऐसे स्थान पर किसी व्यक्ति का अकेले जाना भी समझ में नहीं आ रहा है। ऐसे में अधिक संभावना है कि किसी ने उसकी हत्या की हो।

इस घटना की फोटो भी घटनास्थल की पूरी कहानी बयां कर रही है। जिसमें नजर आ रहा है कि छोटी सी संकरी गूल में पवन का शव बमुश्किल आ पा रहा है, और पानी कम होने के कारण पूरा डूबा भी नहीं है। चूंकि शव एक माह पुराना है और बुरी तरह से सड़ चुका है, इसलिए इस बारे में पक्के तौर पर कोई बात पोस्टमार्टम रिपोर्ट अथवा फॉरेंसिक जांच में ही साफ हो सकती है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जंगल में मिला व्यवसायी का सड़ा गला शव

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 17 सितंबर 2021। नैनीताल जनपद मुख्यालय से करीब 25 किलोमीटर दूर नैनीताल-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग के पास जंगल में ज्योलीकोट पुलिस ने एक व्यक्ति का सड़ा गला शव बरामद किया है। पुलिस को आशंका है कि वह हल्द्वानी से गत 16 अगस्त को गायब हुआ व्यवसायी हो सकता है। इस हेतु हल्द्वानी से फॉरेंसिक विशेषज्ञों को बुलाया गया है। समाचार लिखे जाने तक शव मौके पर ही पड़ा हुआ है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को जंगल में चारा पत्ती के लिए गई स्थानीय महिलाओं ने दोगांव के निकट भेड़िया पखांण-टूटा पहाड़ से नीचे नाले के पास की गूल में एक व्यक्ति का सड़ा गला शव देखा तो इसकी सूचना अन्य माध्यमों से ज्योलीकोट चौकी पुलिस के पास पहुंची। शव बेहद बुरी तरह से सड़ी गली अवस्था में था और उसकी पहचान नहीं हो पा रही थी। इस पर पुलिस ने शव की शिनाख्त के प्रयास शुरू किए। ज्योलीकोट चौकी प्रभारी जोगा सिंह ने बताया कि शव हल्द्वानी के गत 16 अगस्त को गायब हुए व्यवसायी का हो सकता है। पुष्टि के लिए फॉरेंसिक विशेषज्ञों को बुलाया गया है। बताया गया है कि पवन कन्याल के परिजनों ने पवन के कपड़ों व कद काठी से शिनाख्त की है।

उल्लेखनीय है कि हल्द्वानी के सुभाषनगर के निवासी 35 वर्षीय डंपर संचालन करने वाले व्यवसायी पवन कन्याल 16 अगस्त को गायब हो गए थे। भोटियापड़ाव चौकी में उनकी गुमशुदगी दर्ज है। पुलिस जांच में पता चला कि वह इसी दिन भुजियाघाट स्थित शराब की कैंटीन यानी घटनास्थल के करीब ही पहुंचे थे। दोस्तों के साथ कुछ समय बिताने के बाद वह बाहर आए। शाम सात बजकर 50 मिनट पर वह पैदल ही कहीं चले गए। जबकि पुलिस को व्यवसायी की कार सड़क पर ही पार्क मिली। इसमें पर्स भी रखा हुआ था। उनकी खोज के लिए पुलिस ने डॉग स्क्वायड, एसडीआरएफ व फायर कर्मचारियों की मदद से उनकी तलाश के लिए संभावित जगहों, नदी, जंगल आदि में कांबिंग की, लेकिन तब से अब तक व्यवसायी का कुछ पता नहीं चल सका है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : संदिग्ध परिस्थितियों में महिला की मौत

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 अगस्त 2021। नगर के तल्लीताल क्षेत्र की एक 40 वर्षीय महिला की शनिवार शाम संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार शाम करीब पौने आठ बजे तल्लीताल निवासी महिला भावना पांडे पत्नी बिशन चंद्र पांडे निवासी हरिनगर लकड़ी टाल तल्लीताल को बेहोशी की अवस्थाा में बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लेकर आए। यहां चिकित्सक डॉ. प्रखर गंगोला ने जांच करने के बाद उसे मृत घोषित कर दिया।

सूचना मिलने पर पहुंचे कोतवाली पुलिस के चीता मोबाइल प्रभारी ललित कांडपाल व अन्य पुलिस कर्मियों ने उसे चिकित्सालय लाए उसके पति, सास व देवर आदि परिजनों से पूछताछ की। परिजनों ने बताया कि महिला काम निपटाने के बाद अपने कमरे में गई थी। काफी देर तक कमरे से बाहर न आने पर जब वह उसके कमरे में गए तो वह बिस्तर पर बेहोश पड़ी थी। इस पर वह किसी अनहोनी की आशंका में जिला चिकित्सालय ले आए। इधर चिकित्सक प्रथम दृष्टया मौत का कारण हृदयाघात मान रहे हैं। शव को मोर्चरी में रखवा दिया है। कोतवाली प्रभारी अशोक कुमार सिंह का कहना है कि पोस्टमार्टम के बाद मृत्यु का सही कारण पता चल पाएगा। मृतका अपने पीछे, पति के अलावा दो बच्चे 17 वर्षीय हिमांशु व 13 वर्षीय रौनक सहित सास व देवर आदि को छोड़ गई है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : गांव से पति के साथ रहने आई पत्नी और उसी रात हो गई पति की मौत, अब पत्नी के खिलाफ दर्ज हुआ हत्या का मुकदमा

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 24 अगस्त 2021। नगर के भाटकोट स्थित एक निजी अस्पताल-हीलिंग टच में कैंटीन चलाने वाले युवक सुमित सिंह का शव अस्पताल परिसर के एक कक्ष में पड़ा मिला था। इस मामले में मृतक की मां ने बहू पर हत्या का आरोप लगाया है। मृतक के परिजनों और रिश्तेदारों ने बहू के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग को लेकर मंगलवार को शव को सड़क को सड़क पर रखकर चक्का जाम तथा थाने का घेराव किया। उनका कहना था कि शव पर खरोंच के निशान थे और उसके नाखून उखड़े हुए थे। सोमवार को मृतक की मां मनोरमा देवी अस्पताल पहुंची। उन्होंने अपने पुत्र की हत्या की आशंका जताते हुए बहू मनीषा सिंह के खिलाफ पिथौरागढ़ कोतवाली में तहरीर दी, पुलिस ने बीते रोज इसे आत्महत्या का मामला बताते हुए रिपोर्ट दर्ज नहीं की। लेकिन आज लोगों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। इसके बाद ही परिजनों ने शव उठाया।

लोगों का कहना था कि मृतक सुमित सिंह मूल रूप से बांस क्षेत्र के तल्लाखेत गांव का रहने वाला था। वह हीलिंग टच अस्पताल में कैंटीन चलाता था। बेहद सीधे सादे और मिलनसार स्वभाव के सुमित को अस्पताल प्रबंधन ने परिसर में ही रहने के लिए एक कक्ष आवंटित किया हुआ था। मृतक की मां मनोरमा देवी ने बताया कि उसके पुत्र का विवाह नौ माह पूर्व बागेश्वर निवासी मनीषा सिंह के साथ हुआ था। विवाह के बाद से ही मनीषा सुमित के साथ झगड़ती रहती थी उसकी जिद थी कि सुमित उसे गांव की बजाय बाजार में रखे।

मनोरमा देवी ने बताया कि 22 अगस्त को मनीषा अपने स्वास्थ की जांच के लिए गांव से अस्पताल आई थी। जांच के बाद वह अस्पताल के आवंटित कक्ष में पति के साथ ही रूकी थी। सोमवार की सुबह वह भाटकोट में रहने वाले पति के ताऊ जगदीश सिंह के आवास पर पहुंची और उसने बताया कि सुमित उसके साथ झगड़ रहा है। ताऊ जगदीश सिंह कमरे में पहुंचे तो सुमित मृत पड़ा था। मनोरमा देवी ने आरोप लगाया है कि उसकी बहू मनीषा ने ही सुमित की हत्या की है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : स्पा सेंटर में काम करने वाली युवती की सहेली के तीसरी मंजिल के कमरे से नीचे गिरकर सनसनीखेज मौत

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 21 अगस्त 2021। शहर में मणिपुर निवासी स्पा सेंटर में काम करने वाली एक युवती की मॉडल कॉलोनी स्थित एक मकान की तीसरी मंजिल से संदिग्ध परिस्थितियों में गिरकर मौत हो गई है। घटना का पता चलते ही मौके पर लोगों का जमावड़ा लग गया। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के मृतका की मिजोरम निवासी सहेली को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

सच्चाई का पता लगाने के लिए उसकी सहेली को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार 26 वर्षीय किमिनिनिग सिंगसिथ उर्फ मेरी (26) निवासी केथलमानवी सोनापति मणिपुर रुद्रपुर की एक स्पा सेंटर में काम करती थी और शहर की इंदिरा कॉलोनी में किराए में रहती थी। शनिवार शाम पांच बजे के आसपास वह मॉडल कॉलोनी में किराए में रहने वाली अपनी मिजोरम निवासी सहेली सिल्विया के पास आई थी। बताया जा रहा है कि रात आठ बजे मेरी ने सहेली से खाना बनाने को कहा। जिसके बाद उसकी सहेली अंडे बनाने लगी। जबकि मेरी सामने वाले कमरे में चले गई और दरवाजा अंदर से बंद कर दिया।

कुछ देर बाद सिल्विया ने उसे खाना खाने के लिए बुलाने को आवाज लगाई लेकिन कोई जवाब नही मिला। दरवाजा खटखटाने पर भी अंदर से कोई जवाब नही मिला। तभी नीचे मेरी की खून से लथपथ लाश मिली। यह देख उसने शोर मचा दिया। हो हल्ला होने पर आसपास के लोग एकत्र हुए और पुलिस को सूचना दी। सूचना पर एसएसपी दलीप सिंह कुंवर, एसपी सिटी ममता बोहरा, एसपी क्राइम मिथिलेश सिंह, सीओ सिटी अमित कुमार पुलिस कर्मियों के साथ पहुंचे और घटना की जानकारी ली। बाद में पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।

घटना के बाद पुलिस मॉडल कॉलोनी पहुंची तो कमरे का दरवाजा अंदर से बंद मिला। इस पर दरवाजा तोड़कर पुलिस कमरे में पहुंची तो वहां पर मृतका का मोबाइल मिला। आदर्श कॉलोनी चौकी प्रभारी प्रदीप कोहली ने बताया कि कमरे में एक खिड़की थी। जिससे युवती नीचे कूदी है। बताया की मोबाइल में मिले नम्बरों की मदद से मृतका के परिजनों से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है। कमरे में शराब की एक खुली हुई बोतल भी मिली है। कालोनी में घटना को लेकर तरह-तरह की चर्चा है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : फंदे पर झूलती मिली 10 साल की बच्ची

Married woman hanged suicide in father in laws house case filed on many  including husbandनवीन समाचार, हरिद्वार, 19 अगस्त 2021। कनखल थाना क्षेत्र के चकलान मोहल्ले में दिल को दहलाने वाला मामला प्रकाश में आया। यहां एक 10 साल की बच्ची की फंदे से झूलने के कारण मौत हो गई। पुलिस मान रही है कि खेल के दौरान बच्ची फंदे में फंस गई और उसकी मौत हो गई। घटना के बाद परिजन सहमे हुए हैं। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है। 

पुलिस के मुताबिक घटना बुधवार दोपहर की है, जब मोहल्ला चकलान कनखल के घर के अंदर बंद दो बच्चे चीख-पुकार मचाने लगे। आवाज सुनकर आसपास के लोग घर के अंदर पहुंचे और खिड़की से देखा तो 10 वर्षीय बच्ची अंशिता फंदे से झूल रही थी। आनन-फानन में दरवाजा तोड़कर बच्ची को नीचे उतारा गया और पास के निजी अस्पताल में ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया।

सूचना मिलते ही दरोगा देवेंद्र सिंह चौहान मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में ले लिया। घटना की जानकारी लगते ही अंशिता के पिता मदन सिंह और मां कामिनी भी आ पहुंचीं। पुलिस मान रही कि खेल के दौरान यह हादसा हुआ है। हादसे के वक्त अंशिता के चार वर्ष के दो जुड़वा भाई कमरे में थे। इंस्पेक्टर कमल कुमार लुंठी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भवाली नगर में दो लोगों की संदिग्ध मौत से सनसनी

नवीन समाचार, भवाली, 12 अगस्त 2021। मुख्यालय के निकटवर्ती भवाली नगर में बृहस्पतिवार को दो लोगों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने से सनसनी फैल गइ। मृतकों में से एक की पहचान होटल कर्मी और दूसरे की वन विभाग के कर्मी के रूप में हुई है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार सुबह एक करीब 24-25 वर्षीय होटल कर्मी प्रतीक जोशी का शव नगर के भीमताल रोड मिस्टी हाइट नाम के होटल में मिला। मृतक होटल में साफ-सफाई का काम करता था। बताया गया है कि वह करीब 10 दिन पहले ही होटल में आया था और अपने कमरे में अकेले ही रहता था।

पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला है कि उसके पेट में दर्द रहता था, इस पर किसी ने उससे मजाक में कीटनाशक खाने से पेट दर्द सही होने की बात कही थी। मृतक के पास से एक एप्पी की बोतल मिली है, जिसमें से दुर्गंध भी आ रही थी, जबकि मृतक के मुंह से झाग निकल रहा था। पुलिस ने एप्पी की वह शीशी कब्जे में ले ली है। नगर कोतवाल योगेश उपाध्याय ने बताया कि इस शीशी को जांच के लिए भेजा जाएगा। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया है, और मृतक के परिजनों को भी इसकी सूचना दे दी है।

वहीं दूसरी घटना में शाम को भवाली सेनेटोरियम स्थित वन विभाग के सरकारी आवास में 59 वर्षीय मूलतः रानीखेत निवासी वन दरोगा खट्टी बल्लभ जोशी का शव संदिग्ध परिस्थितियों में मिला। पुलिस ने इस शव को भी पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया है।

बताया जा रहा है कि मृतक मंगलवार को घर जाने की बात कहकर दो दिन से कार्यालय नहीं गए थे। इधर वन दरोगा सूरज व अन्य वन कर्मी बृहस्पतिवार को उनके कमरे में पहुंचे तो भीतर जोशी बिस्तर पर बेसुध पड़े थे और चारों ओर खून ही खून फैला हुआ था। सूचना मिलने पर तत्काल ही मौके पर पहुंची पुलिस ने वन दरोगा के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

कोतवाल योगेश उपाध्याय ने बताया कि वन दरोगा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के कारणों का अब तक पता नहीं चल पाया। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि मृतक बवासीर सहित कई अन्य शारीरिक बीमारियों से भी ग्रस्त थे। ऐसी संभावना भी हो सकती है कि बवासीर की वजह से उनके खून निकला हो और अत्यधिक रक्तस्राव से उनकी मौत हो गई हो। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जंगल में शिकार करने गया शिकारी खुद हुआ शिकार, चेहरे-सीने पर गोली के छर्रों के निशान

नवीन समाचार, बागेश्वर, 8 अगस्त 2021। बागेश्वर जिले में जंगल में शिकार करने गए तीन लोगों में एक साथी की संदिग्ध रूप से मौत हो गई है। मृतक के चेहरे और सीने पर गोली के छर्रों के निशान पाए गए हैं। इस पर पुलिस ने उसके दोनों साथियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है और शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया है। घटना के बाद क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है। घटना को लेकर ग्रामीणों में तरह तरह की चर्चाए हैं। पुलिस का कहना है पोस्टमार्ट रिपोर्ट और तहरीर मिलने पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कांडा पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार गत रात्रि धपोलासेरा गांव निवासी 35 वर्षीय रविंद्र सिंह पुत्र हयात सिंह अपने दो साथी संजय नगरकोटी पुत्र नंदन सिंह नगरकोटी और भदौरा गांव निवासी पवन धपोला पुत्र सुरेंद्र सिंह धपोला के साथ निकट के भद्रकाली, कपूरी जंगल में नदी किनारे जंगल में सुअर का शिकार करने के लिए गया था। रविवार सुबह रविंद्र का शव संदिग्धवस्था में पुलिस ने बरामद किया।

थानाध्यक्ष महेंद्र प्रसाद ने बताया कि मृतक के चेहरे और सीने पर गोली के छर्रे के निशान हैं। शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि संजय और पवन को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। अभी तक किसी के तरफ से तहरीर नहीं आई है। उन्होंने कहा कि घटना की सभी कोणों से जांच की जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : वाहन ठीक करते मैकेनिक की मौत से सनसनी

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 31 जुलाई 2021। शनिवार को एक मैकेनिक के वाहन को ठीक करते हुए अचानक मौत होने की घटना से सनसनी फैल गई। हुआ यह कि एक ट्रक संख्या यूके05सीए-0381 हल्द्वानी से अल्मोड़ा को जाते हुए भवाली रोड पर गेठिया सेनेटोरियम के पास खराब हो गया। इस पर वाहन स्वामी ने हल्द्वानी से राजपुरा निवासी 45 वर्षीय मैकेनिक राजेंद्र शर्मा को वाहन ठीक कराने के लिए मौके पर बुलाया।

मैकेनिक राजेंद्र शर्मा जब वाहन ठीक कर रहे थे तो अचानक काम करते हुए उन्हें हृदयाघात आ गया। पुलिस के अनुसार इससे मौके पर उनकी ही मृत्यु हो गई। फिर भी जान बचाने की कोशिश में पुलिस ने उन्हें 108 आपातकालीन एंबुलेंस के माध्यम से बीडी पांडे जिला चिकित्सालय भिजवाया, यहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मृतक के परिजनों को सूचना दे दी है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दिल्ली के सैलानी की नैनीताल में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 16 जुलाई 2021। बृहस्पतिवार शाम ही नगर में आए एक सैलानी की बीती देर रात्रि संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मृत्यु का प्राथमिक कारण हृदयाघात बताया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दिल्ली के सैलानियों का एक समूह परिवार के साथ यहां घूमने आया था। बृहस्पतिवार शाम करीब 6 बजे जिम कॉर्बेट पार्क से यहां पहुंचने के बाद यह लोग नगर के मॉल रोड स्थित एक होटल में रुके थे, तभी रात्रि करीब 9 बजे परिवार के एक बुजुर्ग सदस्य, 60 वर्षीय इरफान ने सीने में दर्द की शिकायत की। इस पर परिजन उन्हें होटल कर्मियों की मदद से नगर के बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लेकर पहुंचे, जहां ईएमओ डा. शीतांशु शर्मा ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। डॉ. शर्मा के अनुसार मौत का कारण हृदयाघात हो सकता है, बहरहाल सही कारण पोस्टमार्टम के उपरांत ही पता चल सकता है।

घटना की सूचना मिलने पर मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर, पंचायतनामा भरने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। शुक्रवार को मल्लीताल कोतवाली के एसआई हरीश सिंह ने पोस्टमार्टम के उपरांत शव को परिजनों को सोंपा जा रहा है, और परिजन शव लेकर दिल्ली के लिए रवाना हो रहे हैं। बताया गया है कि मृतक दिल्ली में कारोबारी हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : शादी के 17वें दिन ही फंदे पर लटकी मिली नवविवाहिता, 5 दिन पूर्व मायके से गायब भी हुई थी..

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 14 जुलाई 2021। शहर के वार्ड नं. 22 रम्पुरा में बृहस्पतिवार सुबह एक नवविवाहिता शादी के 17 दिन बाद ही अपनी ससुराल में बंद कमरे के अंदर फंदे पर लटकी हुई मृत अवस्था में मिली। वह एक दिन पहले ही मायके से ससुराल आई थी। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार इससे पहले वह अपने मायके किच्छा से गत रविवार को अचानक गायब हो गई थी और मंगलवार को लौट आई थी। उसने बताया था कि कोई उसे कुछ नशीला पदार्थ सुंघाकर ले गया था और उसे गढ़ मुक्तेश्वर के पास कमरे में बंद करके रखा गया था। जहां से वह किसी तरह बचकर मायके आ गई। इसके एक दिन बाद ही यानी बुधवार को वह अपनी ससुराल आ गई थी, और बृहस्पतिवार सुबह वह फंदे से लटकी हुई मिली। मौत का कारण प्रेम प्रसंग में आत्महत्या करना भी बताया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार किच्छा निवासी विमला की शादी गत 28 जून को यानी 17 दिन पूर्व ही रम्पुरा निवासी लीलाधर के साथ हुई थी। गुरुवार सुबह उसका पति कही बाहर निकला था तभी उसने कमरा बंद कर कमरे में चादर का फंदा लगा फांसी पर झूल गयी। काफी देर तक जब उसने कमरा नही खोला तो किसी ने दरवाजे की दरार से भीतर झांक कर देखा तो वह अंदर लटकी हुई दिखी। लोगो ने दरवाजा तोड़ कर उसे फंदे से उतारा लेकिन तब तक वह दम तोड़ चुकी थी। सूचना पर रम्पुरा चौकी प्रभारी अनिल जोशी, महिला एसआई बबीता गोस्वामी मौके पर पहुंचे, और शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भारी पड़ी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से ज्यादा करीबी: ब्लूटूथ डिवाइस फटने से अधिकारी की मौत…

नवीन समाचार, हरिद्वार, 29 जून 2021। इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से ज्यादा करीबी इंसानी जान पर कभी भी भारी पड़ सकती है। हरिद्वार कुंभ मेले में सहायक लेखाकार के पद पर तैनात रहे एक अधिकारी कान में लगी ब्लूटूथ डिवाइस फटने से गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

सिडकुल की आवास कालोनी रोशनाबाद में रहने वाले सहायक लेखाकार संजय शर्मा (35) पुत्र ओमप्रकाश शर्मा ने अपने आवास पर कान में ब्लूटूथ डिवाइस लगाया हुआ था। अचानक डिवाइस फटने से वह गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना से घबराए परिजन उन्हें जिला अस्पताल ले गए। अस्पताल में चिकित्सकों ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया। कुंभ मेले में सहायक लेखाकार का दायित्व संभाल चुके संजय शर्मा की मौत की खबर से कुंभ मेला प्रशासनिक अधिकारियों में शोक व्याप्त हो गया। अधिकारियों ने मृतक के परिजनों से मिलकर सांत्वना दी। पोस्टमार्टम कराने के बाद उनका शव परिजनों को सौंप दिया गया। बुलंदशहर उत्तर प्रदेश के रहने वाले संजय शर्मा के परिवार के लोग भी घटना के बाद हरिद्वार पहुंच गए। गमजदा माहौल में कनखल श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही संजय शर्मा मौत का खुलासा होगा। प्रथमदृष्टया मौत ब्रेन हेमरेज की वजह से मानी जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सोनिया गांधी के करीबी विदेश सेवा के अधिकारी नैनीताल में बेहोश होकर पत्नी की गोद में गिरे, निधन

-गत 16 जून को परिजनों के साथ यहां घूमने आए थे, सोमवार सुबह लौटते हुए कार में हुए बेहोश
Krishna Lalडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 21 जून 2021। संयुक्त राष्ट्र संघ की इकाई यूनिडो यानी यूनाइटेड नेशन्स डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन के पूर्व में निदेशक रहे एवं वर्तमान में एडवाइजर के तौर पर जुड़े आईएफएस यानी इंडियन फॉरन सर्विस के अधिकारी केपी लाल का सोमवार सुबह मुख्यालय में असामयिक निधन हो गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 69 वर्षीय लाल गत 16 जून को गुड़गांव से आकर अपने पत्नी व अन्य परिवार जनों के साथ मुख्यालय स्थित पुलिस लाइन के गेस्ट हाउस में ठहरे हुए थे। सोमवार सुबह वह वापस अपने घर गुड़गांव लौटने के लिए कार में बैठ रहे थे, कि तभी उन्हें संभवतया दिल का दौरा पड़ा और महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य के अनुसार वह बगल में बैठी अपनी पत्नी की गोद में बेहोश होकर गिर गए। परिजन उन्हें बचाने की कोशिश में बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ले गए जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद उनके शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सोंप दिया गया।

श्रीमती आर्य ने बताया कि उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की ओर से केपी लाल के निधन की जानकारी देते हुए बताया गया कि वह पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के करीबी हैं। बताया गया है कि वह श्रीमती गांधी के पीए धीरज श्रीवास्तव के जीजा थे। लिहाजा सरिता पार्टी नेतृत्व का प्रतिनिधित्व करते हुए स्थानीय कांग्रेस नेताओं त्रिभुवन फर्त्याल व अन्य के साथ उनके परिजनों को शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचीं। उधर, जनपद की एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी ने बताया कि वह स्वर्गीय लाल को यूनिडो के निदेशक के तौर पर जानती थीं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल निवासी पेयजल कर्मी का शव कमरे में नग्नावस्था में मिला

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 08 जून 2021। मूलरूप से नगर के मार्डन काटेज नंबर 6 मल्लीताल निवासी 35 वर्षीय पेयजल निगम कर्मी कंचन पाठक पुत्र हरीश चंद्र पाठक की रुद्रपुर में संदिग्ध हालात में मौत का समाचार है। बताया जा रहा है कि कंचन का शव रुद्रपुर में किराए के कमरे में नग्नावस्था में मिला। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। युवा कंचन के असामयिक निधन से परिवार एवं परिचितों में गहरे शोक का माहौल है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कंचन रुद्रपुर में पेयजल विभाग में लिपिक थे और वहीं स्टेडियम के पास वसुंधरा कालोनी में किराए में रहते थे। बताया जा रहा है कि उनके पत्नी और बच्चे खटीमा स्थित ससुराल में ही रह रहे थे। जबकि वह किराए के कमरे में अकेले रहते थे। पुलिस को प्रारंभिक जांच में पता चला है कि सोमवार दोपहर से कंचन कमरे में ही थे। रात तक जब उन्होंने कमरा नहीं खोला तो मकान स्वामी को कुछ शक हुआ। दरवाजा खटखटाने पर भी अंदर से कोई आवाज नहीं आई तो उन्होंने पुलिस के 112 नंबर पर सूचना दी। सूचना मिलने पर सिडकुल चौकी प्रभारी सुरेंद्र सिंह पुलिस कर्मियों के साथ पहुंचे और दरवाजा तोड़कर बंद कमरे के अंदर प्रवेश किया। वहां कंचन पाठक नग्न अवस्था में मृत मिले। इस पर पुलिस ने घटना की सूचना मृतक की पत्नी को देते हुए शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया। सिडकुल चौकी प्रभारी सुरेंद्र सिंह ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत के कारणों की पुष्टि हो सकेगी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : युवक ने वीडियो कॉल से परिजनों को आत्महत्या की धमकी दी और हुआ गायब, करीब 24 घंटे बाद मिला मृत

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 03 जून 2021। जनपद मुख्यालय के निकटवर्ती कालाढुंगी रोड स्थित गांव नलनी निवासी एक युवक बृहस्पतिवार को अपने परिजनों को वीडियो कॉल पर आत्महत्या करने की धमकी देने के बाद अपनी स्कूटी सहित गायब हो गया था। इसके बाद से उसके परिजन व ग्रामीण उसकी तलाश कर रहे थे। शुक्रवार दोपहर उसका शव ब्रह्मबूबू मंदिर के पास करीब आधा किलोमीटर अंदर जंगल में मिला। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, तथा कारणों की पड़ताल की जा रही है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार सिडकुल रुद्रपुर स्थित प्राइवेट कंपनी में काम करने वाले नलनी गांव निवासी 32 वर्षीय चंदन अधिकारी पुत्र स्व. दीवान सिंह घर लौटते वक्त संदिग्ध हालत में रास्ते से गुम हो गया था। परिजनों के अनुसार चंदन गुुरुवार दोपहर घर वालों को वीडियो कॉल कर सुसाइड करने की धमकी दे रहा था। इसके बाद जब परिजनों ने उसे समझाने के लिए फोन किया तो उसने कॉल रिसीव नहीं की, और बाद में उसका मोबाइल फोन स्विच ऑफ हो गया। अनहोनी की आशंका से परिजन व गांव के लोग उसे ढूंढने के लिए दिन भर जंगल में खाक छानते रहे, लेकिन युवक का कोई पता नहीं चला। तभी से उसके परिजन व ग्रामीण पुलिस को मौखिक सूचना देकर उसकी तलाश में जुट गए थे। काफी तलाशने पर देर शाम कालाढुंगी रोड स्थित ब्रह्मबूबू मंदिर के पास उसकी स्कूटी मिली थी। इससे परिजनों में किसी अनहोनी को लेकर चिंता और बढ़ गई थी। लेकिन परिजनों के द्वारा पूरी रात्रि सभी संभावित स्थानों पर तलाशने के बावजूद उसका कोई पता नहीं चला। लेकिन इधर, शुक्रवार दोपहर करीब 24 घंटे बाद निकट के ही जंगल में उसका शव बरामद हो गया। इससे परिवार के साथ ही क्षेत्र में शोक की लहर छा गई। मृतक सिडकुल की फैक्टरी में नौकरी करता था। एसआई मनोहर पांगती के द्वारा शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मुख्यालय भेजने की कार्रवाई की गई। बताया गया है कि मृतक शादीशुदा था। घटना के पीछे पारिवारिक कारण बताए जा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें : पांच दोस्त युवक शिकार खेलने जंगल गए थे, चार के शव मिले, एक लापता…

नवीन समाचार, टिहरी, 04 अप्रैल 2021। टिहरी में थाती-कठुड़ पट्टी के कुंडी गांव के चार युवकों की जंगल में मौत हो गई है। ग्रामीणों के अनुसार शनिवार शाम को कुंडी गांव के पांच दोस्त शिकार करने चोलाह तोक के जंगल में गए थे। लेकिन रविवार सुबह जंगल में चार शव बरामद हुए। प्रथमदृष्टया इनमें से एक को गोली लगी है, जबकि अन्य की मौत जहर खाने से हुई है। माना जा रहा है कि शिकार करते समय अचानक निशाना चूकने से एक युवक को गोली लग गई होगी। इस पर तीन अन्य युवक डर गए होंगे, और उन्होंने कथित तौर पर दहशत में आकर जहर खाकर आत्महत्या कर ली होगी।
प्रधान कुलदीप सिंह ने बताया कि शनिवार दोपहर को यह पांचों युवक जंगल में शिकार के लिए गए थे। देर रात तक वापस न आने के कारण परिजन जंगल में उनकी तलाश के लिए गए तो जंगल में चार युवकों के शव मिले। राजस्व विभाग को सूचना मिलने पर एसडीएम घनसाली फिंचा राम चौहान टीम के साथ मौके पहुंचे। वहीं तीनों मृतक युवकों को सीएचसी बेलेश्वर से पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय बौराड़ी भेज दिया गया। एसडीएम चौहान ने बताया कि सूचना मिलने पर ग्रामीण तीनों युवकों को आधी रात को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलेश्वर ले गए, जहां चिकित्सकों ने चारों युवकों को मृत घोषित कर दिया। गोली से मरे युवक की पहचान 19 वर्षीय संतोष पुत्र दलेब सिंह पंवार के रूप में हुई, वहीं अन्य मृतकों की पहचान अर्जुन सिंह पुत्र नैन सिंह पंवार ( 23), पंकज सिंह पुत्र अब्बल सिंह (24) व सोबन सिंह पुत्र केसर सिंह पंवार (23) के रूप में हुई। सभी मृतक थाती-कठुड़ पट्टी के हैं। घटना के बाद गांव में मातम पसर गया है। उनके पांचवे साथी युवक का कुछ पता नहीं है। वह फरार बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : कुंभ ड्यूटी में तैनात नैनीताल निवासी पुलिस कर्मी संदिग्ध परिस्थितियों में मृत मिला

नवीन समाचार, देहरादून, 28 मार्च 2021। कुंभ ड्यूटी पर हरिद्वार में तैनात एक पुलिसकर्मी शनिवार को रायवाला स्थित एक होटल के सामने कार में संदिग्ध अवस्था में मृत मिला। उसकी पहचान उसके पास मिले आधार कार्ड के आधार पर गणेश नाथ पुत्र किशन नाथ निवासी तल्लीताल बाजार नैनीताल के रूप में हुई। रायवाला पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवा दिया है।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक मृतक गणेश नाथ की ड्यूटी कुंभ थाना हरिद्वार में थी। वह बीती 25 मार्च से रायवाला स्थित होटल लक्ष्मी पैलेस में ठहरा हुआ था। रविवार सुबह आठ बजे उसने होटल से चेक आउट किया। बताया जा रहा है कि उसके बाद वह होटल के बाहर सर्विस रोड़ पर खड़ी अपनी कार में जाकर बैठ गया। शाम तक भी जब कार सड़क पर ही खड़ी रही तो किसी ने इसकी सूचना थाना रायवाला पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने कार का दरवाजा खोला। कार के भीतर गणेश मृत पड़ा मिला। छानबीन में पुलिस को पता चला कि वह अक्सर रायवाला स्थित लक्ष्मी पैलेस होटल में ठहरने आता था। गुरूवार को वह इस होटल के कमरा नंबर 109 में ठहरा था। पुलिस का कहना है कि संभवतः युवक को हृदयाघात हुआ हो, जिससे उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें : सैलानी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 मार्च 2021। बुधवार सुबह नगर के एक होटल में हरियाणा के एक सैलानी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार हरियाणा के सीएचडी कॉलोनी करनाल निवासी 73 वर्षीय अशोक कुमार चावला अपने भाई इंद्रजीत चावला एवं मित्र सुभाष चावला आदि के साथ मंगलवार को नगर में पहुंचे थे और नगर के शशि होटल में रुके थे। इधर बुधवार की सुबह जब अशोक अन्य लोगों के जागने तक नहीं उठे तो उन्हें जगाया गया लेकिन वे निष्चेत पड़े रहे। इस पर परिजन उन्हें बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ले गए, जहां चिकित्सकों ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया। बाद में सूचना मिलने पर मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने मौके पर पहंुचकर शव को कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

यह भी पढ़ें : गहराया रहस्य: घर से स्कूल गईं दो चचेरी बहनें-लेकिन स्कूल नहीं पहुंचीं, फिर भी घर देर से लौटीं और हुई मौत..

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 फरवरी 2021। जनपद के दीनी तल्ली गांव में आपस में सगी चचेरी बहनों-9वी कक्षा में पढ़ने वाली दो छात्राओं की मौत के बाद गांव में मातम पसर गया है। बीते मंगलवार की करीब मध्य रात हुई मौत के कारणों का कोई पता नहीं चल रहा है। ऐसे में लोग तरह-तरह की अटकलें लगा रहे हैं। खास बात यह भी है कि राजस्व पुलिस के क्षेत्र की घटना होने के बावजूद राजस्व विभाग को घटना के दूसरे दिन भी घटना की जानकारी नही दी गयी है। उधर बुधवार को हल्द्वानी में दोनों शवों का पोस्टमार्टम करा कर शवों की गमगीन माहौल में हल्द्वानी के निकट ही रानीबाग में अंत्येष्टि कर दी गई है। वहीं राजस्व उपनिरीक्षक रवि पांडे, नायब तहसीलदार धारी तान्या रजवार आदि ने परिजनों की ओर से कोई तहरीर नही मिलने व तहरीर मिलने पर आगे की कार्रवाई करने की बात कही है। जबकि पुलिस कीटनाशक खाने की आशंका जता रही है। यह भी बताया जा रहा है कि दोनों बहनें मंगलवार को घर से तो स्कूल गई थीं, पर विद्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक दोनों मंगलवार को स्कूल में अनुपस्थित थीं। वह घर भी देर से लौटी थीं, इस उनकी पर सहेलियों ने सवाल उठाए थे। जबकि परिवार के लोग काम में जुटे होने के कारण कुछ भी जानकारी होने से इनकार कर रहे हैं।
गौरतलब है कि पहाड़पानी के दीनी तल्ली निवासी 15 वर्षीय रोहिणी आर्य पुत्री सुरेश चंद्र व 16 वर्षीय मीनाक्षी आर्या पुत्री गिरीश चंद्र पहाड़पानी के खीमराम राजकीय इंटर कॉलेज में कक्षा नौ की छात्राएं थीं। परिजनों के अनुसार वह दोनों मंगलवार को सुबह विद्यालय गई थीं और नियत समय से अधिक देर से शाम को घर पहुंची। मंगलवार रात 11 बजे तबीयत बिगड़ने पर दोनों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पदमपुरी ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने सुशीला तिवारी अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। जहां रात 11 बजकर 50 मिनट पर चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा मृतका रोहणी के परिवार चार बहनों के बाद छोटा भाई है, जबकि वही मीनाक्षी के दो भाई-दो बहनें हैं। मोर्चरी में रोहिणी के पिता सुरेश चंद्र का रो-रोकर बुरा हाल दिखा। मोर्चरी में वह और पत्नी किसी से बात करने की स्थिति में नहीं थे। लोग उन्हें संभाल रहे थे। जबकि मीनाक्षी के पिता मोर्चरी पर नहीं आए थे।

यह भी पढ़ें : दिमागी रूप से अस्वस्थ पति व दो बच्चों को छोड़ किसी अन्य के साथ भागी महिला, नाले में मिला 3 साल की बच्ची का शव

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 फरवरी 2021। बृहस्पतिवार को जनपद के ओखलकांडा मल्ला में पहले एक 3 साल की बच्ची के गायब होने की सूचना से सनसनी फैल गई। वहीं देर शाम करीब सात बजे उसका शव नाले में मिलने से हड़कंप ही मच गया। राजस्व पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव का अपने कब्जे में ले लिया। पटवारी मोहम्मद शकील ने बताया कि नाले में मिली बच्ची कंचन पुत्री महेश पलड़िया की गुमशुदगी बृहस्पतिवार सुबह ही उसकी ताई रूपा देवी ने दर्ज कराई थी। बच्ची के पिता महेश की दिमागी हालत सही नहीं है, जबकि उसकी मां करीब 15 दिन पहले बच्चों व पति को छोड़कर किसी के साथ भाग चुकी है।
बताया गया है कि करीब 15 दिन पूर्व महेश पलाडिया और उसकी पत्नी के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। इसके बाद महेश की पत्नी अपनी पुत्री कंचन और एक छोटे पुत्र को छोड़कर किसी के साथ चली गई। इसके बाद कंचन उसका छोटा भाई और पिता महेश चंद घर में अकेले रहते थे। इधर, जब कई दिनों से कंचन नहीं दिखाई दी तो बृहस्पतिवार सुबह उसकी ताई रूपा देवी ने पट्टी पटवारी को उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई। गुमशुदगी के दर्ज होते ही ग्रामीणों ने कंचन को खोजना प्रारंभ किया। देर शाम को करीब सात बजे कंचन का शव उसके घर से करीब 300 मीटर की दूरी पर घर से नीचे बहने वाले एक नाले में बरामद हुआ। शव मिलने की जानकारी मिलने पर राजस्व निरीक्षक मौके पर पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम कराने के लिए भेज दिया। पटवारी मोहम्मद शकील ने बताया कि मामला संदिग्ध लग रहा है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का असली कारण पता चल पाएगा।

यह भी पढ़ें : संदिग्ध परिस्थितियों में मृत मिला 2 बच्चों का पिता…

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 10 फरवरी 2021। नगर में बुधवार सुबह बागेश्वर-पिथौरागढ़ रोड पर धार की तूनी स्थित महिला पॉलिटेक्निक के पास गधेरे में एक अधेड़ का शव मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक के पास से एक शराब की बोतल व नुवान की शीशी बरामद हुई है। इस कारण प्रथमदृष्टया मामला आत्महत्या का प्रतीत हो रहा है। मृतक की पहचान 43 वर्षीय तरुण जोशी पुत्र गोपाल दत्त जोशी निवासी ग्राम सभा रैलाकोट के तोक स्यूरा-हवालबाग के रूप में हुई है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बुधवार सुबह करीब 9 बजे स्थानीय लोगों को राजकीय महिला पॉलिटेक्निक के पास गधेरे में एक व्यक्ति का शव दिखा। सूचना मिलने पर कोतवाल हरेंद्र चौधरी व एनटीडी चौकी पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। बताया जा रहा है कि मृतक पिछले दो दिन से घर से लापता चल रहा था। वह नगर में पत्नी व दो बच्चों के साथ किराए में रहता था। उसकी मां का कुछ समय पहले देहांत हो चुका है, जबकि उसके पिता और एक भाई गांव में रहते हैं, जबकि दूसरा भाई बाहर नौकरी करता है। कोतवाल हरेंद्र चौधरी ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के स्पष्ट कारण पता चल सकेंगे। मृत्यु के कारणों की जांच भी चल रही है। उधर घटना के बाद मृतक के घर में कोहराम मचा हुआ है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

यह भी पढ़ें : 40 वर्षीय महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

नवीन समाचार, नैनीताल, 06 फरवरी 2021। परिवार के साथ नगर में घूमने आई पश्चिम बंगाल की एक 40 वर्षीय महिला पर्यटक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेने के बाद पंचनामा भर कर उसका पोस्टमार्टम करा दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कोलकाता के एक परिवार के नौ पर्यटकों का दल दो दिन पहले नैनीताल घूमने आया था और नगर के अयारपाटा स्थित एक होटल में रुका था। दल में शिल्पा टिम्बरवार पत्नी अभिषेक टिम्बरवार निवासी न्यू अलीपुर कोलकाता भी अपनी 17 साल की बेटी के साथ शामिल थीं। बताया गया है कि बीती रात करीब दस बजे उन्होंने अचानक पेट मे दर्द उठने की बात कही और परिवार के लोगों के साथ डाइनिंग रूम में भोजन करने नहीं गई। इस बीच वह कमरे में बाथरूम के पास गिरी पड़ी मिली। तत्काल उन्हें बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर शनिवार को कोतवाली पुलिस ने चिकित्सालय पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। परिजनों के अनुसार शव को पोस्टमार्टम के बाद एम्बुलेंस से अंतिम संस्कार के लिए हरिद्वार ले जाया जाएगा।

यह भी पढ़ें : नवविवाहिता के घर से आई चीख की आवाज और मिली मृत, हत्या-आत्महत्या में उलझी मौत की गुत्थी..

नवीन समाचार, नैनीताल, 02 फरवरी 2021। जिला मुख्यालय के मल्लीताल अयारपाटा क्षेत्र में मंगलवार दोपहर एक महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। महिला के गले में कुछ चोट के निशान मिले हैं। सूचना मिलने पर पहुंची कोतवाली पुलिस के द्वारा पंचनामे के लिए भिजवाया। वहीं महिला की शादी को हुए चार साल ही होने को देखते हुए मजिस्ट्रेट के द्वारा पोस्टमार्टम की कार्रवाई की जा रही है। उधर, महिला के मायके वालों के द्वारा उसके पति पर बेटी का दहेज के लिए उत्पीड़न करने तथा उसकी मौत के लिए जिम्मेदार बताते हुए आरोप लगाया है।

मृतका

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूलतः भीमताल की निवासी 28 वर्षीय विवाहिता अंशु शर्मा की शादी अयारपाटा निवासी दीप शर्मा से 2017 में यानी चार वर्ष पूर्व हुई थी। दोनों की एक दो वर्षीय बेटी भी है। वह पति व सास के साथ अयारपाटा क्षेत्र में रहती थीं। इधर, मंगलवार लगभग ग्यारह बजे उनके घर से किसी के चीखने की आवाज सुनकर पड़ोसी उनके घर पर पहुंचे। वहां अंशु बिस्तर पर पड़ी हुई थी। उन्हें मूर्छित समझकर बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। चिकित्सक एवं पुलिस मृतका के गले में चोट के निशानों को देखते हुए आत्महत्या या हत्या में उलझ गए हैं। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के स्पष्ट कारणों का पता लग पायेगा। मल्लीताल कोतवाली के वरिष्ठ उप निरीक्षक कश्मीर सिंह ने बताया कि मृतका का विवाह चार वर्ष पूर्व ही होने की वजह से मजिस्ट्रेट से उसका पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। मृतका के परिजनों को भी सूचना दी गई है। वहीं आगे मृतका के परिजनों ने मौके पर पहुंचकर दामाद पर 25 लाख रुपए मांगने और 20 लाख के आभूषण देने की बात कहते हुए दामाद को बेटी की मौत के लिए जिम्मेदार बताया है। इसके बाद पुलिस आगे की कार्रवाई करने पर विचार कर रही है।

यह भी पढ़ें : सड़क किनारे पुलिया के नीचे मिला महिला का शव, शिनाख्त के प्रयास..

नवीन समाचार, काशीपुर, 17 जनवरी 2021। काशीपुर के कुंडा थाना क्षेत्र में सोमवार को देर शाम ग्राम मिस्सरवाला और ग्राम कुंडा के बीच सड़क किनारे की पुलिया के नीचे एक करीब 35 वर्षीय महिला का शव मिलने से सनसनी फैल गई। शव के किसी हिस्से में चोट के भी कोई निशान नहीं पाये गये।
महिला का शव मिलने से फैली सनसनीघटना की सूचना मिलते ही आसपास के गांव के लोग और राहगीरों की मौके पर भीड़ लग गयी। कुंडा थाना पुलिस और स्थानीय पुलिस के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। फिलहाल महिला के शव की शिनाख्त नहीं हो पाई है। पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर उसका पंचायत नामा भरकर शव को शव को मोर्चरी में रखवा दिया। अपर पुलिस अधीक्षक राजेश भट्ट ने बताया कि मृतका के शव की फिलहाल शिनाख्त नहीं हो पाई है। शिनाख्त के लिए आसपास के थाना क्षेत्रों में सूचना भेज दी गई है। वहीं कुंडा के थाना प्रभारी विनोद फर्त्याल ने बताया कि मामला संदिग्ध है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के सही कारणों का पता चल पाएगा। फिलहाल शिनाख्त के प्रयास किये जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें : होटल कर्मी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 दिसम्बर 2020। बीती देर रात नगर के माल रोड स्थित एक होटल के कर्मी की घर जाते समय संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस के अनुसार ब्रेसाइड कंपाउंड निवासी 59 वर्षीय बालकृष्ण देर रात ड्यूटी से घर जा रहे थे। सात नंबर रामलीला मैदान के पास सीढ़ियों में चढ़ने के दौरान अचानक उनका पैर फिसल गया और वह सिर के बल गिर गए। उनकी आवाज सुनकर आसपास के लोगों की मदद से परिजनों से बीडी पांडे अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।

यह भी पढ़ें : जंगल में महिला का शव मिलने से सनसनी, शोक..

नवीन समाचार, कांडा (बागेश्वर), 13 दिसंबर 2020। कांडा पुलिस ने रविवार को सिमकुना के जंगल में घोड़ीधार के पास एक महिला का शव देखे जाने की सूचना से सनसनी फैल गई। कांडा पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव बरामद किया। मृतका की पहचान 40 वर्षीया तुलसी देवी पत्नी महेश राम निवासी ग्राम ग्वाड़ी के रूप में हुई है। बताया गया है कि वह रविवार को दिन का भोजन करने के बाद घास काटने गई जंगल गई है, जहां अज्ञात कारणों से उसकी मृत्यु हो गई। इसके बाद मृतका के परिवार एवं गांव में शोक व्याप्त हो गया। थाना अध्यक्ष कांडा महेंद्र प्रसाद ने बताया कि पुलिस की मौके पर पुलिस टीम पहुंच चुकी है, और मृतका की मृत्यु के कारणों की पड़ताल करने के साथ शव का पंचनामा भरकर कांडा चिकित्सालय भेजने की तैयारी चल रही है। सुबह उसका शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाएगा। पुलिस टीम में मनोहर कापड़ी, अशोक, वीरेंद्र परिहार अशोक आदि पुलिस कर्मी शामिल हैं। माना जा रहा है कि घास काटते समय पहाड़ से गिरकर उसकी मौत हो गई होगी।

यह भी पढ़ें : जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे सजायाफ्ता कैदी को 10 वर्ष में ही मिली मौत ! पोस्टमार्टम से खुलेगा राज..

नवीन समाचार, सितारगंज, 11 दिसम्बर 2020। सितारगंज स्थित संपूर्णानंद खुली जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे एक सजायाफ्ता कैदी की संदिग्ध परिस्थितियों में सिर पर चोट लगने से मौत हो गई है। इससे जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, जिसके बाद ही पता चलेगा कि कैदी की हत्या हुई है या मौत की वजह कोई हादसा है। फिलहाल जेल के कर्मचारी और अधिकारी इस बारे में कुछ भी बताने को तैयार नहीं हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पिथौरागढ़ जिले का निवासी 45 वर्षीय जीवन सिंह पुत्र गुमान सिंह करीब 10 साल से संपूर्णानंद जेल में था। बृहस्पतिवार को वह रोज की तरह शाम को खुली जेल में बनी झोपड़ी में गया था, लेकिन रात को करीब नौ बजे मेट राकेश कुमार ने जेलर को कैदी के घायलावस्था में पड़े होने की सूचना दी। इस पर जेलर जयंत पांगती ने जेल की एंबुलेंस से कैदी को नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा, जहां डॉ. अभिलाषा पांडेय ने उसे मृत घोषित कर दिया। डॉ. पांडेय ने बताया कि कैदी के माथे पर गंभीर चोट लगी है और बाएं हाथ में भी सूजन है। चिकित्सालय ने कोतवाली पुलिस को कैदी की मौत का मेमो भेजा गया, इसके बाद पुलिए सक्रिय हुई और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड निवासी दरोगा का लखनऊ में मिला गोली लगकर खून से सना शव, हत्या-आत्महत्या में उलझी पुलिस..

नवीन समाचार, लखनऊ, 10 दिसंबर 2020। लखनऊ के आलमबाग स्टेशन पर रेलवे सुरक्षा बल में दरोगा के पद पर तैनात उत्तराखंड निवासी व्यक्ति की गोली लगी लाश मिलने से सनसनी फैल गई। वह मवैया से मानकनगर स्टेशन के बीच बने रेलवे के यार्ड के पास बुधवार सुबह झाड़ियों के बीच खून से लथपथ मृत पाये गये। मूल रूप से उत्तराखंड के अल्मोड़ा जनपद के रहने वाले रेलवे सुरक्षा बल के दारोगा पूरन सिंह नेगी की मौत से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। गोली बायीं ओर सीने पर लगी थी। पुलिस ने मौके से मृतक की सर्विस पिस्टल, नौ कारतूस और पर्स बरामद किये हैं।
इंस्पेक्टर आलमबाग के अनुसार पूरन यहाँ आलमबाग के सरदारी खेड़ा में किराए के मकान में रहते थे। उनके पत्नी और दो बच्चे दिल्ली में रहते हैं। चारबाग में उनकी तैनाती थी। सोमवार को शाम सात बजे से रात 10 बजे की ड्यूटी करने के लिए गए थे। उसके बाद मंगलवार सुबह 10 बजे से उनकी फिर ड्यूटी थी। ड्यूटी पर न पहुंचने पर विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों ने उन्हें फोन किया तो रिंग जा रही थी पर फोन रिसीव नहीं हुआ।
विभागीय अधिकारी और कर्मचारी लगातार फोन करते रहे पर कुछ पता न चल सका। इसके बाद विभाग ने ही उच्चाधिकारियों को सूचना दी। आरपीएफ के कर्मचारियों ने ही सर्विलांस की मदद से लोकेशन ट्रेस की। इसके बाद पुलिस को सूचना दी। लोकेशन के आधार पर ट्रेस करके पुलिस यार्ड के पास पहुंची तो वहां झाड़ियों में खून से लथपथ शव पड़ा था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इंस्पेक्टर आलमबाग ने बताया कि पूरन के बायीं ओर गोली लगी है। उसके अलावा उनके शरीर पर कहीं कोई चोट खरोंच नहीं है। जिससे इसकी पुष्टि हो सके कि उनका किसी से संघर्ष हुआ है। परिवारजनों को सूचना दे दी गई है। वह जो भी तहरीर देंगे और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। दरोगा पूरन सिंह को गोली कैसे लगी। पुलिस अधिकारी इसकी जांच कर रहे हैं। फिलहाल पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर के उसको पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जिसकी रिपोर्ट से मौत का कारण स्पष्ट होगा।

यह भी पढ़ें : Breaking : केवल अंतःवस्त्र में मिला नेपाली का शव

नवीन समाचार, कांडा, 05 दिसम्बर 2020। कांडा पुलिस ने शनिवार शाम मुख्यालय से करीब 50 किमी दूर, बेरीनाग की ओर स्थित ग्राम टकन्यार में एक शव बरामद किया है। शव के शरीर पर केवल अंडर वियर ही पहना हुआ था। शव की शिनाख्त 36 वर्षीय भरत बहादुर निवासी ग्राम डोबका थाना सुरखेत नेपाल के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि मृतक इसी माह एक दिसंबर को ही नेपाल से आया था और दो दिसंबर से गायब चल रहा था।यह भी जानकारी मिल रही है कि मृतक मानसिक रूप से भी कमजोर था और उसे मिर्गी भी आती है। पुलिस मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने की कार्रवाई कर रही है, तभी उसकी मृत्यु के सही कारणों का पता चलेगा। पुलिस टीम में कांडा के एसओ महेंद्र प्रसाद एवं आरक्षी प्रकाश गैड़ा, जीवन पांडे, अशोक व भरत प्रसाद आदि शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : हृदयविदारक : पूर्व प्रधान ससुर की मौत पर बहु ने भी त्यागे प्राण, मात्र 28 वर्षीय व 3 बच्चों की मां थी मृतका..

नवीन समाचार, नैनीताल, 23 नवम्बर 2020। जनपद के बेतालघाट विकास खंड के एक गांव में एक व्यक्ति की मौत की खबर सुनकर बेटे के साथ दिल्ली से घर लौटी तीन बच्चों की मां, मृतक की मात्र 28 वर्षीय बहु की मौत होने का दुःखद मामला सामने आया है। एक घर में ससुर के बाद बहु की मौत की इस घटना से परिवार ही नहीं पूरे गांव में गम का माहौल है। गत वर्ष आग भी लगा ली थी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रतौड़ा गांव निवासी पूर्व प्रधान गोपाल सिंह का शनिवार रात्रि करीब 9 बजे को निधन हो गया था। उनके निधन की सूचना उनके दिल्ली में रहने वाले बेटे यशपाल सिंह और बहू माया को लगी तो वह तुरंत ही दिल्ली से अपने तीन बच्चों के साथ गांव के लिए चल पड़े। यहां वह रविवार सुबह करीब 11 बजे जैसे ही अपने घर पहुंचे, और मृतक के अंतिम दर्शन कर रहे थे, तभी बहु माया बेहोश हो गई। उसे होश में लाने की कोशिश की गई लेकिन वह होश में नहीं आई। इस पर उसे तत्काल 108 एंबुलेंस सेवा के माध्यम से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खैरना ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के भेज कर जांच शुरू कर दी है। हालांकि महिला की मौत की वजह पोस्टमार्टम के बाद ही साफ होगी, अलबत्ता माना जा रहा है कि उसकी मौत अत्यधिक दुःख की वजह से हृदयाघात से हुई होगी। उधर गांव में 24 घंटे में हुई एक परिवार में 2 मौतों के बाद शोक का माहौल है। बताया गया है कि पूर्व प्रधान गोपाल सिंह पूर्व से ही तनाव में ही रहते थे। उनकी मौत खेत में काम करने के दौरान ही हो गई थी।

यह भी पढ़ें : जेल में बंद एक 28 वर्षीय बंदी की मौत

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 17 नवंबर 2020। हल्द्वानी जेल में बंद एक बंदी का मंगलवार को सुशीला तिवारी अस्पताल में निधन हो गया। जेलर संजीव ह्यांकी ने बताया कि मृतक 28 वर्षीय छत्रपाल पुत्र अमर सिंह निवासी पनियाली हल्द्वानी एनडीपीएस एक्ट में गत 12 अक्टूबर से बंद था। उसके फेफड़े खराब थे व टीबी था। साथ ही अन्य कई बीमारियां भी थी। सोमवार को स्वास्थ्य खराब होने पर उसे पहले बेस अस्पताल ओर फिर कल ही सुशीला तिवारी में भर्ती कराया गया था। जहां आज सुबह सवा 10 बजे उसने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। मृतक के दो बच्चे हैं।

यह भी पढ़ें : नैनीताल अपडेट : सुबह पेड़ पर लटकी मिली विवाहिता की हुई शिनाख्त…

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 नवंबर 2020।जनपद मुख्यालय में हल्द्वानी रोड पर हनुमानगढ़ी के पास सोमवार सुबह एक विवाहिता का शव पेड़ पर संदिग्ध अवस्था में लटका हुआ मिला। तल्लीताल के थाना प्रभारी विजय मेहता ने बताया कि मृतका की शिनाख्त काफी प्रयासों के बाद मूलतः पिथौरागढ़ निवासी एवं नगर के जॉयविला कंपाउंड तल्लीताल में रहने वाली 25 वर्षीया पूजा डसीला पत्नी मनोज डसीला के रूप में हुई है। पुलिस को जानकारी मिली है कि उसका बीती शाम अपने पति से विवाद हुआ था। श्री मेहता ने बताया कि महिला का पति उच्च न्यायालय में किसी अधिवक्ता के साथ टायपिंग का कार्य करता है। मामले में पुलिस को अभी कोई शिकायत नहीं मिली है। मृतका की डेढ़ वर्ष की बच्ची भी है।
उल्लेखनीय है कि सोमवार सुबह, सुबह की सैर पर निकले लोगों ने हल्द्वानी रोड पर हनुमानगढ़ी के पास सुबह-सुबह एक महिला का शव पेड़ पर संदिग्ध अवस्था में लटका हुआ देखने पर तल्लीताल थाना पुलिस को सूचना दी थी। इस पर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर महिला के शव को पेड़ की टहनी से उतारा और शिनाख्त के प्रयासों के साथ पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। पुलिस प्रथमदृष्टया मान रही है कि महिला ने बीती रात्रि पेड़ से लटककर आत्महत्या की होगी। अलबत्ता, सही कारण जांच व पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा। हनुमानगढ़ी के स्थानीय दुकानदारों ने बीती शाम 6 बजे के आसपास इस महिला को क्षेत्र में घूमते देखे जाने की बात कही है।

यह भी पढ़ें : पति की दूसरी शादी कराना चाहते थे परिजन, झील में मिली विवाहिता, कोर्ट ने दिए एफआईआर दर्ज करने के आदेश

-तीन माह से पुलिस से प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध कर रहे थे मृतका के भाई
नवीन समाचार, नैनीताल, 5 नवम्बर 2020। जनपद के सीजेएम यानी मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने इस वर्ष 6 अगस्त को भीमताल झील में मृत मिली महिला के ससुरालियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के आदेश दिए हैं। घटना के ठीक तीन माह बाद न्यायालय के आदेशों से महिला के मायके वालों में न्याय मिलने की उम्मीद बंध गई है।
उल्लेखनीय है कि 6 अगस्त 2020 को भीमताल झील में कविता नाम की विवाहिता का शव मिला था। मामले में मृतका के भाई देवी दत्त उप्रेती के द्वारा थानाध्यक्ष भीमताल तथा एसएसपी नैनीताल से उसके ससुरालियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की जाती रही थी। देवी दत्त का कहना था कि उसकी बहन का विवाह 13 जून 2013 को हुआ था। कफड़ा द्वाराहाट जिला अल्मोड़ा निवासी कृपाल दत्त जोशी के साथ हुआ था। शादी के कुछ दिन बाद से ही उसका पति, सास चंपा जोशी, बहन पूजा व ज्योति द्वारा उसे कुरूप बताकर लगातार उत्पीड़न किया जा रहा था। इस वर्ष 21 मार्च को उसकी सास ने आगे से उसका उत्पीड़न न करने का आश्वासन भी दिया था। फिर भी रक्षाबंधन के दिन उससे मारपीट की गई। मृतका के अनुसार वह लोग उसके पति का दूसरा विवाह कराना चाहते थे। इस शिकायत के बावजूद पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज न होने पर देवी दत्त ने गत तीन नवंबर को अपने अधिवक्ता दीपक रुवाली के माध्यम से सीजेएम न्यायालय में रिपोर्ट दर्ज कराने हेतु प्रार्थना पत्र दिया। इस पर सीजेएम ने प्रार्थना पत्र को स्वीकार कर एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दे दिए हैं।

यह भी पढ़ें : कमरे में सोते हुए मृत मिला विश्वविद्यालय का पूर्व छात्र

नवीन समाचार, नैनीताल, 20 अक्टूबर 2020। भीमताल के गोलूधार स्थित कृष्णा कॉटेज के पास एक रिसोर्ट में बुधवार की सुबह एक युवक का शव संदिग्ध हालत में मिलने से हड़कंप मच गया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और उसकी पहचान कराकर उसके परिजनों को सूचना दी।
भीमताल के थानाध्यक्ष कैलाश जोशी ने बताया कि मृतक की पहचान स्थानीय ग्राफिक एरा पर्वतीय विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र पलास खन्ना (22) पुत्र मुकेश खन्ना निवासी देवली रोड खानपुर नई दिल्ली के रूप में हुई है। मृतक मंगलवार को ग्राफिक एरा पर्वतीय विश्वविद्यालय में ‘नोड्यूज’ लेने आया था और किसी परिचित से उसने यहां एक रिजॉर्ट में कमरा बुक कराया था। कमरे में वह सोती हुई अवस्था में मृत मिला। इस पर रिजॉर्ट संचालक बबलू ने पुलिस को सचना दी। मृतक भारी शरीर का करीब 85 किग्रा भार का है। प्रारंभिक तौर पर मृत्यु का कोई कारण पता नहीं चल पा रहा है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है। पोस्टमार्टम के उपरांत ही मृत्यु के कारणों का पता चल पाएगा।

यह भी पढ़ें : दुःखद: शादी की बातचीत चल रही थी और पंखे से लटकी मिली एमए की छात्रा…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 15 अक्टूबर 2020। बरेली रोड स्थित अंबा विहार कालोनी में एक युवती की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। 24 वर्षीया मृतका गायत्री एमए प्रथम वर्ष में पढ़ रही थी। इधर उसकी शादी की बातचीत भी चल रही थी। बताया जा रहा है कि इधर वह गुमसुम रहती थी। उसका शव घर में ही पंखे से लटका मिला। कोतवाली पुलिस को कमरे की तलाशी लेने पर कोई सुसाइड नोट नहीं मिला।
मूलतः अल्मोड़ा जिले के भनौली निवासी अमर सिंह बिष्ट का शहर के अंबा विहार कालोनी में घर है। बुधवार की शाम अमर सिंह की बहू कविता पत्नी हरीश सिंह अपनी ननद गायत्री (24) के कमरे में गई जो उसका शव पंखे से लटका हुआ मिला। सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। परिजनों ने पुलिस को बताया कि गायत्री के पिता और भाई गांव गए हैं। दोपहर में उसने खाना खाया और अपने कमरे में चली गई। परिवार के लोगों को लगा कि वह सो रही है। सीओ शांतनु पाराशर ने उपनिरीक्षक दिलबर भंडारी और प्रकाश मेहरा के साथ मौके का मुआयना किया।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : मल्लीताल रिक्शा स्टेंड के पास शव मिलने से सनसनी

नवीन समाचार, नैनीताल, 01 अक्टूबर 2020। बृहस्पतिवार दोपहर करीब एक बजे नगर के मल्लीताल रिक्शा स्टेंड पर एक अधेड़ व्यक्ति का शव मिलने से सनसनी फैल गई। मृतक नेपाली मूल का करीब 50-52 वर्षीय व्यक्ति बताया गया। बताया गया है कि मृतक एक-डेढ़ वर्ष पूर्व तक नयना देवी मंदिर के पास एक महिला दुकान स्वामी के पास काम करता था, लेकिन नशा करने की आदत की वजह से उसे हटा दिया गया था। तब से वह ऐसे ही गुजारा करता था और बेराजगार एवं बीमार था। बाद में लावारिश के रूप में दुकान स्वामी की ओर से ही स्थानीय समाज सेवियों की मदद से उसका अंतिम संस्कार करवाया गया। नगर कोतवाल अशोक कुमार सिंह ने बताया कि इस बारे में पुलिस को कोई सूचना नहीं मिली।

यह भी पढ़ें : सिंचाई नहर में बहती हुई गांव में आई लाश, नहीं हो पाई शिनाख्त

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 26 सितंबर 2020। शहर के मुखानी थाना क्षेत्र के बच्चीनगर गांव में नहर से एक अज्ञात शव बरामद हुआ है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त के प्रयास शुरू कर दिए हैं। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार रात ग्रामीण खेतों में नहर से पानी लगा रहे थे। तभी उन्हें प्रताप सिंह मेहरा के घर मे पास चार फीट चौड़ी नहर में लाश दिखाई दी। इसकी सूचना प्रधान पति वीरेंद्र रावत को के माध्यम से मुखानी थाने में दी गई। मुखानी थाने के प्रभारी भगवान महर अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने शव को नहर से निकाला और शिनाख्त के प्रयास किये, किंतु शिनाख्त नहीं हो पाई। इस पर शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। मृतक की उम्र 40-45 साल के बीच और शव एक से दो दिन पुराना बताया जा रहा है। मृतक जींस और टीशर्ट पहने हुए है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: कोर्ट परिसर में अचानक गिरे कोषागार कर्मी, मौत

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 सितंबर 2020। मंगलवार को न्यायालय परिसर में एक व्यक्ति बेहोश हो गए। उन्हें तत्काल बीडी पांडे लाया गया तथा चिकित्सकों ने उनको मृत घोषित कर दिया। बाद में मल्लीताल कोतवाली के एसआई हरीश सिंह ने पंचनामे की कार्रवाई कर मृतक के शव को पोस्टमार्टम हेतु भिजवाया। मृतक की पहचान 50 वर्षीय विनोद कुमार पुत्र स्वर्गीय खुशीराम निवासी ग्राम फरसोली थाना भवाली जिला नैनीताल के रूप में हुई है। वह कोषागार विभाग में कोश्यांकुटौली विकासखंड खैरना मैं कैशियर के पद पर कार्यरत थे। बताया गया है कि वह किसी काम से नैनीताल आए थे। तभी अचानक स्वास्थ्य खराब होने पर वह कोर्ट कंपाउंड के पास बेहोश हो गए।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड के बहुचर्चित घोटाले में जेल में बंद यूपी निवासी जिला स्तरीय अधिकारी की अचानक मौत से सनसनी..

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 8 सितंबर 2020। प्रदेश के बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले के मामले में जेल में बंद पूर्व समाज कल्याण की मंगलवार सुबह अचानक मौत हो गई है। सुबह 5.30 बजे उन्हें जेल से लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। इसके बाद उनके शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम के उपरांत ही मृत्यु के सही कारणों का पता चल पाएगा।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गबन के मामले में फंसे उत्तर प्रदेश के लखनऊ के विकासनगर, अलीगंज, सेक्टर 3 निवासी सेवानिवृत्त जिला समाज कल्याण अधिकारी हापुड़ राजेश कुमार सक्सेना पुत्र प्रेम नारायण सक्सेना अल्मोड़ा जेल में बंद थे। पूर्व में रानीखेत कोतवाली में कूटरचित दस्तावेज तैयार कर आपराधिक षड्यंत्र कर गबन करने के आरोप में भारतीय दंड संहिता की धारा धारा 120 बी, 409, 420, 467, 468, 471 के तहत मुकदमा दर्ज होने के बाद उन्हें गत जुलाई माह में गिरफ्तार कर न्यायालय के आदेश पर जेल भेजा गया था। बताया गया है कि कुछ दिनों से उनकी तबियत खराब चल रही थी। दो दिन पूर्व तबियत बिगड़ने पर उनका जिला अस्पताल में चेकअप कराया गया। इधर मंगलवार तड़के उन्हें अचानक ​तबियत गड़बड़ाने पर आनन—फानन में सुबह करीब 6 बजे जिला अस्पताल लाया गया। मगर अस्पताल पहुंचते ही डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उल्लेखनीय है कि इस मामले में इसी साल जनवरी माह में मौनार्ड यूनिवर्सिटी हापुड़ के उपनिबंधक और अन्य अज्ञात बिचौलियों के खिलाफ जिला समाज कल्याण कार्यालय अल्मोड़ा ने मुकदमा दर्ज किया था। जिला अस्पताल के पीएमएस डॉ. आरसी पंत ने बताया कि उन्हें निम्न रक्तचाप के कारण समस्या होने की शिकायत होने पर जेल से सुबह 5.30 बजे अस्पताल लाया गया था। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल : नोएडा से घूमने आये पर्यटक की अचानक मौत से हड़कंप

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 अगस्त 2020। नोएडा से घूमने आये एक 40 वर्षीय पर्यटक की शनिवार सुबह स्वास्थ्य खराब होने के बाद अचानक मौत हो गई। सूचना मिलने पर पहुंची मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार नोएडा के पर्यटक 40 वर्षीय तरुण माथुर पुत्र सर्वेश माथुर निवासी बी-441 सेक्टर 19 नोएडा अपनी माता एवं पत्नी व दो बच्चों के साथ एक दिन पूर्व ही यानी शुक्रवार को ही हल्द्वानी से आते हुए पूरी जांचें कराकर 10 दिनों केे लिए मुख्यालय आए थे और अयारपाटा स्थित एक प्रतिष्ठित होटल में रुके थे। लेकिन सुबह अचानक सीने में दर्द होने की शिकायत पर परिजन एवं होटल प्रबंधन उन्हें उपचार के लिए बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लाये। किंतु यहां चिकित्सकों ने तरुण को मृत घोषित कर दिया। जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. केएस धामी के अनुसार प्रथम दृष्टया मौत का कारण हृदयाघात हो सकता है। अलबत्ता, मृत्यु के सही कारणों का पता पोस्टमार्टम से पता चलेगा। अपराह्न में पोस्टमार्टम के उपरांत परिजन उन्हें लेकर लौट रहे हैं।
 

यह भी पढ़ें : पूरे दिन राष्ट्रीय राजमार्ग पर पड़े-पड़े मर गया पोस्टमैन ! न पुलिस पहुंची-न प्रशासन !!

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 अगस्त 2020। मुख्यालय से करीब 30 किमी दूर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 109 पर काकड़ीघाट में एक व्यक्ति पूरे दिन सड़क पर पड़े-पड़े मर गया। स्थानीय लोगों ने बताया कि सुबह नौ बजे ही वाहन चालकों ने एक व्यक्ति को सड़क किनारे देखा और लोग आते-जाते रहे। अपराह्न में उसमें कोई हरकत न होने पर उसके गांव के सहित कई लोग एकजुट होने लगे। कई राजनीति से जुड़े लोग भी सड़क से गुजरते रहे लेकिन कोई भी उसे देखने के अलावा उसकी मदद के लिए नहीं आया। इधर करीब 8-10 किमी दूर होेने के बावजूद खैरना पुलिस चौकी के पुलिस कर्मी करीब साढ़े छह बजे मौके पर पहुंचे और तब जाकर उस पर चादर डाली गई। मृतक के चेहरे पर खून के निसान भी देखे गए हैं। खैरना चौकी प्रभारी आशा बिष्ट ने बताया कि व्यक्ति की मौके पर ही मौत की सूचना मिली। उसका पंचनामा भरने की कार्रवाई की जा रही है। बताया जा रहा है कि कोरोना के संक्रमण की संभावना से भी लोगों ने उसे मदद के लिए हाथ नहीं लगाए।
इधर स्थानीय लोगों के अनुसार मृतक की पहचान करीब 49 वर्षीय पोस्टमैन पदम सिंह निवासी निकटवर्ती ग्राम जौरासी के रूप में हुई है। वह रामगढ़ में पोस्टमैन के पद पर तैनात बताया जा रहा है। माना जा रहा है कि वह रामगढ़ से अपने घर के लिए निकला होगा, और भूख-प्यास अथवा अन्य किसी कारण तथा सड़क पर पड़े रहने से उसकी मौत हो गई होगी। समाचार लिखे जाने पर व्यक्ति का शरीर मौके पर ही पड़ा हुआ है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें : खड़ी कार में लाश मिलने से सनसनी

नवीन समाचार, लालकुआं, 3 अगस्त 2020। हल्द्वानी-लालकुआं मार्ग पर मोटाहल्दू में खड़ी यूके01ए-9395 नंबर की कार की अगली, चालक के बगल वाली सीट पर सोमवार देर शाम लुड़की हुई अवस्था में एक व्यक्ति का शव बरामद होने से सनसनी फैल गई। पुलिस ने पहले उसे बेहोशी की हालत में समझकर अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसकी शिनाख्त के प्रयास प्रारंभ किये। उसके पास आधार कार्ड में सतीश जोशी, निवासी जवाहर नगर लालकुआं दर्ज मिला। इस आधार पर पुलिस ने संबंधित के परिजनों की तलाश प्रारंभ कर दी है। मृत्यु का कारण अज्ञात है। पुलिस पहले मृतक की शिनाख्त पक्का करने में जुटी हुई है। इसके बाद उसका पोस्टमार्टम कराकर उसकी मृत्यु के कारणों का पता लगाया जाएगा।

यह भी पढ़ें : कांडा में फिर कांड: नाबालिग गर्भवती की संदिग्ध मौत मामले में नया मोड़, अब दादा पहाड़ी से कूदा, मौत

नवीन समाचार, कांडा, बागेश्वर 25 जुलाई 2020। बागेश्वर जनपद के थाना कांडा क्षेत्रांतर्गत मुख्यालय से करीब तीन किमी सड़क व तीन किमी की पैदल दूरी पर स्थित मंतोली गांव में इस माह के शुरू में एक 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली 17 वर्षीय छात्रा की पांच माह के गर्भ से निकलने के बाद संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। परिजनों के द्वारा शव दफना दिया गया था। बाद में पुलिस ने शव को कब्र से निकालकर उसका पोस्टमार्टम करवाया एवं उसके गर्भवर्ती करने वाले दुष्कर्मी का पता लगाने के लिए चार संदिग्धों के डीएनए जांच कराने की प्रक्रिया भी प्रारंभ की थी। वहीं इस मामले में मृतका के पिता को उसकी हत्या के आरोप में पुलिस जेल में भेज चुकी है।
इधर शनिवार को इस मामले में हुए एक घटनाक्रम ने फिर इस घटना को सुर्खियों में ला दिया है। अब बताया जा रहा है कि मृतका छात्रा के करीब 66 वर्षीय दादा लक्ष्मी दत्त ने एक निकटवर्ती पहाड़ी से कूद कर जान दे दी है। स्थानीय लोगों ने हालांकि उसे घायलावस्था में चिकित्सालय पहुंचाया, परंतु उसने चिकित्सालय में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। थाना प्रभारी कांडा प्रह्लाद बिष्ट ने बताया कि घटना करीब नौ बजे हुई। पुलिस को करीब 11 बजे घटना की सूचना मिली, तब तक परिजन उनके शव को सड़क पर ले आए थे। लक्ष्मी दत्त ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया था। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सोंप दिया है।
इस प्रकार इस घटना में दुष्कर्म का शिकार हुई छात्रा का पूरा परिवार बिखर चुका है। वह खुद मर चुकी है। उसकी हत्या के आरोप में पिता जेल में बंद है, और अब दादा ने भी जान दे दी है। इसके साथ ही मामला और अधिक उलझ भी गया है।

यह भी पढ़ें: अपडेट: छात्रा की संदिग्ध मौत मामले में कब्र खोदकर शव का कराया गया पोस्टमार्टम, डीएनए जांच भी होगी

नवीन समाचार, कांडा, 10 जुलाई 2020। निकटवर्ती गांव मंतोली में 11वीं कक्षा की 17 वर्षीया छात्रा की संदिग्ध मौत के मामले में बागेश्वर पुलिस ने शव को कब्र से निकाल कर शुक्रवार सुबह चिकित्सकों के पैनल से उसका पोस्टमार्टम करा दिया है। साथ ही पुलिस ने उसका डीएनए जांच कराने का मन बना लिया हैं। वहीं पुलिस की प्रारंभिक जांच में मृतका की मौत जिस घर में हुई है, वहां खून जैसे निशान पुलिस को मिले हैं। इसके साथ ही उम्मीद की जा रही है कि उसके साथ हुई दुष्कर्म की वारदात तथा यदि ‘ऑनर किलिंग’ यानी सम्मान के लिए उसकी हत्या की गई होगी तो इस पर भी स्थिति साफ हो जाएगी।
उल्लेखनीय है कि अब तक इस मामले में यह खुलासा हुआ है कि मृतका की दादी उसे दिखाने के लिए कांडा के एक अस्पताल में दिखाने लाई थी, वहां उसका गलत नाम लिखा गया था। साथ ही मामले में पुलिस में तहरीर देने वाली मृतका की मां ने कहा है कि उसे दफनाने से पहले बेटी का चेहरा भी नहीं दिखाया गया। इसके साथ ही पुलिस को इस बात के भी कुछ बयान मिले हैं, जिनके अनुसार छात्रा के साथ उसके सगे-संबंधियों में से ही किसी ने दुष्कर्म किया था, जिससे उसे 5 माह का गर्भ ठहर गया था। इसके साथ ही मामला ‘ऑनर किलिंग’ से भी जोड़कर देखा जा रहा है, यानी ऐसी संभावना जताई जा रही है कि उसके परिवार वालों ने ही अपनी इज्जत के लिए उसकी हत्या कर दी हो।

यह भी पढ़ें : कांडा-बागेश्वर के दूरस्थ गांव में 10वीं की छात्रा की संदिग्ध मौत, मामला संगीन

नवीन समाचार, कांडा, 9 जुलाई 2020। बागेश्वर जनपद के थाना कांडा क्षेत्रांतर्गत मुख्यालय से करीब तीन किमी सड़क व तीन किमी की पैदल दूरी पर स्थित मंतोली गांव में एक 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली 17 वर्षीय छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। मामला छात्रा का पांच माह का गर्भ ठहरने से जुड़ा है, जिसके बाद उसके द्वारा आत्महत्या करने की बात कही जा रही है। परिजनों ने बिना पुलिस को सूचना दिये छात्रा का गुपचुप अंतिम संस्कार भी कर दिया है। लेकिन मृतका की मां की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध पॉक्सो तथा भारतीय दंड संहिता की धारा 376 व 306 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर दिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतका के माता-पिता व अन्य भाई-बहर जिठाई गांव में रहते हैं, जबकि वह अपने दादा के घर करीब एक किमी दूर मंतोली गांव में रहती थी। बताया गया है कि वह पेट में दर्द की शिकायत होने पर अस्पताल दिखाने गई थी, जहां उसे पांच माह का गर्भ होना प्रकाश में आया। इसके बाद कथित तौर पर उसने आत्महत्या कर ली, और परिजनों ने गुपचुप उसका अंतिम संस्कार कर दिया। लेकिन उसकी मां द्वारा कांडा पुलिस को दी गई तहरीर के बाद पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर जांच शुरू कर दी है। थाना प्रभारी कांडा खुशवंत सिंह ने बताया कि घटनास्थल जा रहे हैं। मामले में पूरी विवेचना की जाएगी। जरूरत पड़ेगी तो डीएनए जांच के नमूने भी लिये जाएंगे और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी। पुलिस को छात्रा द्वारा आत्महत्या किये जाने पर भी संदेह लग रहा है।

यह भी पढ़ें : सावन के झूले पर झूला बच्चा, मौत

नवीन समाचार, कांडा, बागेश्वर, 23 जुलाई 2020। बागेश्वर जनपद के कांडा क्षेत्र में लगातार दिल को झकझोरने वाली घटनाएं हो रही हैं। पहले नाबालिग के गर्भवती होने के बाद पिता द्वारा ही सम्मान के लिए हत्या कर शव दफनाने, फिर कल पेड़ पर एक ही फंदे पर एक युवक एवं दो बच्चों की विधवा मां के शव लटके मिलना और आज, एक 12 वर्षीय बालक के गले में सावन में झूला झूलते हुए रस्सी का फंदा गले में फंसने से मौत होने की दुःखद खबर आ रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कांडा के मल्ला थर्प गांव में 12 वर्षीय एवं चौथी कक्षा का छात्र यश नाम का बालक पिछले कुछ दिनों से कमरे में लटके पंखे के कुंडे में रस्सी से झूला लटकाकर झूला झूल रहा था। आज सुबह भी वह इसी झूले पर झूल रहा था, तभी रस्सी उसके गले में लिपट गई। उसे पिता कुंदन राम द्वारा तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें : ननिहाल आये दो वर्ष के मासूम की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

-सांप का काटना बताया जा रहा है प्राथमिक कारण, पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेजा शव

मृतक मासूम।

नवीन समाचार, नैनीताल, 20 जुलाई 2020। जनपद मुख्यालय से करीब 55 किमी दूर अल्मोड़ा जिले के सीमावर्ती प्यूड़ा क्षेत्र के ग्राम ज्याड़ी में बीती रात्रि एक दो वर्षीय मासूम की संदिग्ध परिस्थितियों में असामयिक मृत्यु हो गयी। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक बालक कुणाल के परिजन उसे बचाने की कोशिश में रविवार रात्रि करीब साढ़े आठ बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खैरना लेकर आये, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। चिकित्सक डा. आमिर खान ने बताया कि उसे साथ लेकर आये कुछ लोग उसे सांप द्वारा उसे काटने की तथा अन्य कुछ और बात भी कर रहे थे। इसलिए मृत्यु का सही कारण जानने के लिए पुलिस को मामले की सूचना दी गई। वहीं खैरना की पुलिस चौकी प्रभारी आशा बिष्ट ने बताया कि बच्चे के शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
इधर प्राप्त जानकारी के अनुसार बच्चा अपनी मां विनीता व बड़ी बहन दिया के साथ हरेला के त्योहार पर इन दिनों अपने ननिहाल आया हुआ था। यहां बीती शाम करीब छह बजे बाहर खेलते हुए वह अचानक रोने लगा और फिर बेहोश हो गया। इस पर अनुमान लगाया गया कि उसे सांप ने काटा होगा। पट्टी पटवारी मौका मुआयना करने उसके गांव भी पहुंचे, लेकिन कोई कारण पता नहीं चल पाया। बच्चे की मौत से उसकी मां एवं अन्य परिजनों का रोते-रोते बुरा हाल है।

दूध का नया प्लांट लगाने सहित अनेक मांगों पर सीएम को सोंपे गए ज्ञापन

यह भी पढ़ें : कोसी बैराज में मिला युवक का शव, शिनाख्त हुई

नवीन समाचार, रामनगर, 10 जुलाई 2020। रामनगर के कोसी बैराज में शुक्रवार सुबह करीब 40 वर्षीय एक व्यक्ति का शव मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा और उसकी शिनाख्त के प्रयास किये। अभी-अभी उसकी शिनाख्त अल्मोड़ा जनपद के भतरोंजखान निवासी भीम सिंह कालाकोटी उर्फ शंकर के रूप में हुई है। बताया गया है कि वह एक दिन पहले ही रामनगर आया था। पुलिस उसके परिजनों को सूचना दे रही है। उनके आने के बाद ही उसकी मृत्यु के कारणों पर अधिक जानकारी प्राप्त हो पाएगी।

यह भी पढ़ें : संदिग्ध हालत में विवाहिता की मौत, घर के पास ही पेड़ पर लटका मिला शव

-मायका पक्ष के लोगों ने दी हत्या की तहरीर, राजस्व पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच की शुरू
दान सिंह लोधियाल @ नवीन समाचार, धानाचूली, 18 जून 2020। तहसील धारी के ग्राम कुलोरी के तोक जाड़ापानी में 30 वर्षीय विवाहिता गीता देवी पत्नी कैलाश चंद्र थुवाल की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। परिजनों के अनुसार विवाहिता घर से करीब 30 मीटर दूर बांज के एक पेड़ पर फंदे से झूलती हुई मिली। राजस्व पुलिस के पहुंचने से पहले शव को परिजन घर ला चुके थे। इससे राजस्व पुलिस मामले को संदिग्ध मान रही है। राजस्व पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है और शव को पोस्टमार्टम के लिए मुख्यालय भेज दिया है।
उपनिरीक्षक हेम चंद पलाडिया ने बताया कि घटना की जानकारी मिलते ही राजस्व पुलिस के उपनिरीक्षक पूरन चन्द्र गुणवंत, वे स्वयं, रवि पांडे और अनुसेवक गंगा दत्त उप्रेती मौके पर पहुंचे। तब तक परिजन शव को घर में ला चुके थे। मृतका की शादी 10 वर्ष पूर्व हुई थी। उसका मायका धारी तहसील के सरना ग्राम सभा के तोक कनर्खा में है। मृतका के दो बेटे है। बड़ा बेटा नौ साल का और छोटा आठ साल का है। परिजनों के अनुसार मृतका सुबह आठ बजे से खेतों में काम करने निकली थी। करीब सवा बजे दिन में उसके परिजनों ने ही उसे घर के पास एक पेड़ में लटकते देखा। वही मामले को संदिग्ध मानते हुए मृतका के मायका पक्ष ने हत्या का मुकदमा दर्ज कराने को उपनिरीक्षक को तहरीर दे दी है।

यह भी पढ़ें : संदिग्ध परिस्थितियों में छत से गिरकर युवक की मौत

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 5 जून 2020। शहर के बद्रीपुरा इलाके में एक युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में रात्रि में छत से नीचे गिरकर मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार मूलरूप से रायबरेली यूपी निवासी 25 वर्षीय सूरज यादव पुत्र शिवमूरत यादव शहर कें बद्रीपुरा में एक गिफ्ट की दुकान में काम करता था और दुकान के ऊपर ही बने कमरे में रहता था। बताया गया है कि बीती रात वह अचानक छत से नीचे सड़क पर आ गिरा और बुरी तरह घायल हो गया। उसे आस-पास के लोग सुशीला तिवारी चिकित्सालय ले गये, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल प्रशासन की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही पुलिस उसके छत से गिरने के कारणों की जांच भी कर रही है।

पतंजलि योगपीठ की छत से रहस्यमय परिस्थितियों में गिरी यहां पढ़ने-पढ़ाने वाली साध्वी…

यह भी पढ़ें : तीसरे दिन ही मिला तीन लाख का मुआवजा

-क्वारन्टाइन सेंटर में सांप के काटने से मरी बच्ची के परिजनों को मिला मुआवजा 
नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मई 2020। बेतालघाट के राजकीय प्राथमिक विद्यालय तल्ली सेठी में 24 मार्च को सांप के डंसने से क्वारन्टाइन में अपने परिवार के साथ रह रही एक छह वर्षीया बच्ची अंजली की मौत हो गई थी। इस मामले में क्षेत्रीय विधायक संजीव आर्य के प्रयासों एवं जिलाधिकारी सविन बंसल के कड़े रुख के बाद वन विभाग ने तत्काल कार्रवाई करते हुए पीड़ित परिजनों को तीन लाख का मुआवजा दे दिया है। बुधवार को विधायक आर्य की मौजूदगी में कोसी रेंज की वन क्षेत्राधिकारी तनुजा परिहार ने राजस्व विभाग की टीम के साथ गांव में पहुंचकर बच्ची के गांव जाकर परिजनों को मुआवजा राशि सौंप दी।

यह भी पढ़ें : बड़ी कार्रवाई: क्वारन्टाइन सेंटर में बच्ची की मौत पर दो अधिकारियों सहित 4 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

-देर से सूचना देने एवं अन्य अव्यवस्थओं का है आरोप, एसडीएम ने की राजस्व उप निरीक्षक के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति
नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मई 2020। जनपद के राजकीय प्राथमिक विद्यालय तल्ली सेठी के क्वारन्टाइन सेंटर में सुबह पांच बजे एक छह वर्षीय मासूम बच्ची को सांप ने काट लिया था। किंतु बच्ची को 108 आपातकालीन सेवा के माध्यम से अपराह्न एक बजकर 10 मिनट पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया जा सका, जहां पहुंचने तक बच्चे की हालत नाजुक हो गयी थी। बच्चे को सांप के काटे का इंजेक्शन सहित अन्य दवाइयां दी गईं, किंतु 15 मिनट के भीतर ही एक बजकर 25 मिनट पर उसने दम तोड़ दिया। इस घटना में बेतालघाट पुलिस ने बेतालघाट के नायब तहसीलदार बच्ची के चाचा खीम सिंह पुत्र थान सिंह निवासी ग्राम तल्ली सेठी की तहरीर पर क्षेत्रीय राजस्व उपनिरीक्षक-पटवारी मल्ली सेठी राजपाल सिंह, बेतालघाट के खंड शिक्षा अधिकारी वीएस निषाद, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी उमेश जोशी एवं राइका तल्ली सेठी के सहायक अध्यापक करन सिंह के खिलाफ धारा 188, 269, 270, 304ए एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 56 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर दिया है। साथ ही एसडीएम कोश्यां कुटौली ऋचा सिंह ने डीएम से राजस्व उपनिरीक्षक राजपाल सिंह के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करने की संस्तुति भी की है।
अपनी रिपोर्ट में एसडीएम सिंह ने कहा है कि राजस्व उपनिरीक्षक इतनी बड़ी घटना के बावजूद पूरे दिन क्षेत्र में नहीं थे। उन्होंने सुबह की घटना की सूचना एसडीएम को शाम साढ़े चार बजे आधी-अधूरी दी। बच्ची के चाचा खीम सिंह ने भी अपनी तहरीर में राजस्व उपनिरीक्षक को क्वारन्टाइन सेंटर के बाहर झाड़ियां उगने व खतरे की जानकारी दी थी। इधर बताया जा रहा है कि पूरे दिन बच्ची के परिजन बच्ची को अस्पताल ले जाने के बजाय झाड़-फूक करवा रहे थे।

यह भी पढ़ें : क्वारन्टाइन सेंटर में सांप के डसने से छह वर्षीया बच्ची की मौत, क्वारन्टाइन सेंटर में जमीन पर सोया था परिवार, तभी सांप ने डस लिया

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 मई 2020। जनपद के राजकीय प्राथमिक विद्यालय तल्ली सेठी के क्वारन्टाइन सेंटर में सांप के डसने से एक छह वर्षीय मासूम बच्चे की मौत का दुःखद समाचार है। बताया गया है कि यहां क्वारन्टाइन में रखे सभी लोग जमीन पर बिस्तर लगाकर सोये थे, तभी बच्ची को सोमवार सुबह तड़के करीब साढ़े पांच बजे सांप ने डस लिया। परिजन उसे यहां से बेतालघाट विकास खंड मुख्यालय स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उपचार के लिए ले गये। प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. सतीश पंत ने बताया कि यहां वे अपराह्न एक बजकर 10 मिनट पर पहुंचे। यहां पहुंचने तक बच्ची की हालत नाजुक हो गयी थी। बच्चे को सांप के काटे का इंजेक्शन सहित अन्य दवाइयां दी गईं, किंतु 15 मिनट के भीतर ही एक बजकर 25 मिनट पर उसने दम तोड़ दिया। बताया गया है कि बच्ची के माता-पिता उसे लेकर 12-13 दिन पहले दिल्ली से आये थे, और तभी से विद्यालय में बने क्वारन्टाइन सेंटर में रह रहे थे।

यह भी पढ़ें : क्वारन्टाइन सेंटर में रखे व्यक्ति की मौत, ऐसी मौत का तीसरा मामला

नवीन समाचार, पौड़ी, 22 मई 2020। पौड़ी के पाबो विकास खंड के पीपली गांव में क्वारन्टाइन सेंटर में रखे गये गाजियाबाद से आए एक प्रवासी की मौत हो गयी है। यह जनपद में क्वारन्टाइन में रखे गये लोगों की तीसरी मौत है। प्राप्त जानकारी के अनुसार शैलेंद्र चमोली नाम का व्यक्ति बीती 10 मई को गाजियाबाद से अपना गांव लौटा था, उसकी बृहस्पतिवार देर रात मौत हो गई। सूचना मिलने पर स्वास्थ्य विभाग के साथ पुलिस टीम भी मौके पर पहुंची और शव को पंचनामा भरके पोस्टमार्टम के लिये भिजवायां। चौकी प्रभारी अजय सिंह ने जानकारी के आधार पर बताया कि मृतक लंबे समय से बीमार चल रहा था। गाजियाबाद के एक अस्पताल में उसका उपचार भी चल रहा था। देर रात ज्यादा तबीयत खराब होने के कारण इसकी मृत्यु हुई है। प्रथमदृष्टया उसकी मौत हृदय गति रुकने से हुई है। इससे पहले भी जनपद में एक महिला और पुरुष की मृत्यु क्वारंटाइन सेंटर में हो चुकी है। शैलेंद्र चमोली की मृत्यु के बाद से ही बाजार में अफवाहों का दौर शुरू हो गया है, वहीं जिला प्रशासन ने सभी से धैर्य बनाए रखने की अपील की है।

यह भी पढ़ें : बच्चे की संदिग्ध मौत, पिता गायब, प्रशासन कोरोना के मुताल्लिक हरकत में…

नवीन समाचार, काशीपुर, 16 मई 2020। काशीपुर में पांच वर्षीय मासूम की घर में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। यह भी हुआ कि घटना के बाद बच्चे का पिता घर से गायब है। इन दोनों घटनाओं के बाद प्रशासन एहतियातन हरकत में आ गया और बच्चे के शव से कोरोना की जांच हेतु नमूना लेकर शव को सुरक्षित रखवा दिया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही शव को दफनाया जाएगा।
प्राप्त जानकारी के अनुसार काशीपुर के नगर निगम परिसर में बने क्वार्टर में मो. सलीम अपने पांच वर्षीय बेटे आदिल के साथ रहता है। बीती देर रात आदिल की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। आसपास के लोगों को इसका पता चला तो उन्होंने इसकी सूचना पुलिस और स्वास्थ्य विभाग को दी। मौके पर पहुंची टीम ने बच्चे का परीक्षण कर उसे मृत घोषित कर दिया। कोरोना नोडल अधिकारी डॉ. अमरजीत सिंह ने बताया कि बच्चे की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई है, इसलिए सैंपल लेकर कोरोना जांच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही पोस्टमार्टम किया जाएगा। इधर, एएसपी राजेश भट्ट ने बताया कि बच्चे का पिता मौके पर नहीं मिला है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। वहीं आसपास रहने वालों ने बताया कि रात लगभग साढ़े दस बजे नशे में धुत मो. सलीम ने उन लोगों को बताया कि उसका बेटा कुछ बोल नहीं रहा है। तब लोगों ने जाकर देखा तो बच्चा बिस्तर पर पड़ा था। बताया जाता है कि सलीम का दो वर्ष पूर्व अपनी पत्नी से तलाक हो चुका है।
सिंचाई टैंक में गिरने से पांच साल की बच्ची की मौत
नैनीताल में घर के पास बने सिंचाई के लिये प्रयुक्त पानी के टैंक में गिरने से कक्षा एक में पढ़ने वाली एक पांच वर्षीया बच्ची की मौत हो गई। घटना से घर में कोहराम मच गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत गहलना निवासी पंकज सिंह मेहरा की पांच वर्षीय बेटी गायत्री घर के निकट खेत में खेल रही थी, जबकि परिजन दूसरे खेत में काम कर रहे थे। इस दौरान ही वह खेत में बने सिंचाई टैंक में गिर गई। काफी देर तक बच्ची के नहीं दिखने पर परिजन परेशान हो गए। आखिर में परिजनों ने सिंचाई टैंक में देखा तो गायत्री उसमें गिरी हुई थी। इसके बाद परिजनों ने बच्ची को टैंक से बाहर निकाला, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। बताया गया है कि गायत्री चार भाई-बहनों में सबसे छोटी थी।

यह भी पढ़ें : बंद घर में मिला सड़ा-गला शव, माना जा रहा लॉक डाउन के दौरान घुसा, भूख-प्यास से मारा गया

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 5 मई 2020। महानगर के देवलचौड़ बंदोबस्ती क्षेत्र में एनएच के नजदीक एक बंद पड़े एक घर में एक युवक का बेहद सड़ी-गली अवस्था में शव बरामद हुआ है। माना जा रहा है कि मृतक लॉक डाउन के दौरान इस घर में शरण लेने को घुसा होगा और भूख-प्यास के कारण उसकी मृत्यु हो गयी होगी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार देवलचौड़ बंदोबस्ती में सड़क किनाने एक पूर्व सैनिक का घर है। पूर्व सैनिक इस घर से दूर अपने घर में रहते हैं। इधर मंगलवार को लॉक डाउन में शिथिलता मिलने पर अपने इस घर में आये तो घर के अंदर युवक का कंकाल सी स्थिति में शव देखकर सहम गये। उन्होंने हल्द्वानी की यातायात नगर पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने जांच शुरू की। शव को देखकर उसकी शिनाख्त करना संभव नहीं था। अलबत्ता, उसके पास पड़े मोबाइल से उसके बागेश्वर जनपद निवासी एक चालक होने की संभावना लगी है। पुलिस के अनुसार मृतक लॉक डाउन के दौरान शरण लेने के लिए ताला तोड़कर घर में घुसा होगा लेकिन भूख-प्यास से उसकी मृत्यु हो गयी होगी। पुलिस उसके संपर्कों व परिजनों की पड़ताल कर उसकी शिनाख्त एवं मृत्यु के कारणाों की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें : दिल्ली से उपचार कराकर लौटे युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, परिजन कोरोना की आशंका से होम क्वारंटाइन में भेजे

नवीन समाचार, काशीपुर, 9 अप्रैल 2020। दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल से ब्रेन सर्जरी कराकर काशीपुर के मोहल्ला पंजाबी सराय निवासी 35 वर्षीय पुत्र वसीम पुत्र हाजी शेर मोहम्मद की अचानक सांस में समस्या होने के बाद कुछ ही देर में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि गंगाराम अस्पताल में कुछ चिकित्सकों में कोरोना पॉजीटिव मिला है। जिस कारण अस्पताल के सभी चिकित्सकों को क्वारंटाइन किया गया है। संभव है कि मृतक सर गंगा राम अस्पताल में कोरोना संक्रमित चिकित्सकों के संपर्क में आया हो। इस आशंका से उसकी मौत के बाद हड़कंप मच गया। प्रशासनिक अधिकारियों व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मृतक परिवार के आठ लोगों को होम क्वारंटाइन कर दिया। इसका नोटिस भी उसके घर पर चस्पा कर दिया गया। नगर स्वास्थ्य अधिकारी अमरजीत सिंह के अनुसार मृतक परिवार के सदस्यों को क्वारंटाइन करने के बाद जांच के लिए सैंपल भी भेज दिए हैं। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।
बताया गया है कि गत बुधवार को वसीम को सांस लेने में दिक्कत होने पर जसपुर अड्डे के समीप स्थित एक निजी अस्पताल लाया गया, जहां से उसे हायर सेंटर के लिए रिफर कर दिया गया। हायर सेंटर से वसीम को उपचार दिलाने के बाद परिजन उसे लेकर वापस घर लौट रहे थे इसी दौरान मार्ग में उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें : फंदे पर लटका मिला क्वॉरेंटाइन में रखा गया कोरोना संदिग्ध

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 6 अप्रैल 2020। रुद्रपुर के एक गेस्ट हाउस में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर में कोरोना की संभावना में क्वारंटीन यानी एकांतवास में रखे गए एक व्यक्ति ने फांसी के फंदे पर झूलकर आत्महत्या कर ली। बताया गया है कि मृतक यूपी के पीलीभीत जनपद के पूरनपुर का निवासी था। उसे गत 31 मार्च को खटीमा पुलिस ने पकड़कर रुद्रपुर जिला मुख्यालय क्वारंटीन करने के लिए भेजा था। उसे कोरोना होने की पुष्टि नहीं हुई थी। सोमवार को जब उसे खाना देने गये तो उसने कमरे का दरवाजा नहीं खोला। इस पर पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस कर्मियों ने आकर खिड़की से भीतर झांककर देखा तो युवक संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे पर लटक रहा था। मामले की जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें : पेयजल की टंकी में मिला सड़ा-गला शव, पानी पीते रहे 25 परिवार

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 मार्च 2020। मुख्यालय के निकटवर्ती भवाली के श्यामखेत वार्ड में कोरोना के होते एक और महामारी होते-होते बच गई। शनिवार को यहां रामगढ़ रोड़ स्थित कहल क्वीरा क्षेत्र में जल संस्थान द्वारा क्षेत्र में पेयजल की आपूर्ति किये जाने पानी की टंकी में करीब 15-20 दिन पुराना सड़ा-गला शव मिलने से सनसनी फैल गई। इस पेयजल टंकी से श्यामखेत के 25 परिवारों को पेयजल की आपूर्ति हो रही थी। घटना का पता शनिवार सुबह करीब 10 बजे तब पता चला, जब स्थानीय लोग इन दिनों लॉक डाउन होने की वजह से अनायाश की पानी की टंकी को साफ करने लगे थे, तब उन्हें टंकी में सड़ा-गला शव दिखा। घटना के बाद इस टंकी के साथ ही इससे पानी पीने वाले 25 परिवारों के घरो की पानी की टंकियों को साफ करा दिया गया है। साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय लाया गया है। सड़ा-गला होने की वजह से शव की शिनाख्त नहीं हो पाई है।
भवाली के नगर पालिका अध्यक्ष संजय वर्मा ने बताया कि भवाली-रामगढ़ रोड पर सड़क से लगे पेयजल के टैंक में यह शव बरामद हुआ। टंकी को जाने वाले गेट पर कुंडी नहीं लगी थी। नगर पालिका एवं जल संस्थान के कर्मचारियों ने बाद में टंकी की सफाई कराई। इस टंकी में पेयजल की सप्लाई आती थी और इससे होकर ही घरों को जाती थी। इन दिनों पानी की भरपूर उपलब्धता के कारण शायद इसके स्थानीय लोगों पर दुष्प्रभाव नहीं हुए। बहरहाल, सभी परिवारों की सूचना स्वास्थ्य विभाग को देकर उनका स्वास्थ्य परीक्षण करने को भी कहा गया है। भवाली के कोतवाल आशुतोष कुमार ने कहा कि मृतक नेपाली मजदूर हो सकता है, जो पानी पीने की कोशिश में टंकी में गिर गया होगा।

 

यह भी पढ़ें : होली के दिन बुझा एक और घर का चिराग, शिनाख्त भी नहीं…

 नवीन समाचार, रुद्रपुर, 11 मार्च 2020। बुधवार को ऊधमसिंहनगर जिले के शिमला पिस्तौर में एक युवक की लाश मिलने से हड़कंप मच गया। था। यह देख आसपास के लोग एकत्र हो गए। उन्होंने पुलिस को सूचना देते हुए उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही मृतक की शिनाख्त के प्रयास शुरू किए। माना जा रहा है कि युवक की मौत होली के दिन ही हुई होगी। फिलहाल उसके शरीर पर चोट का निशान नजर नहीं आ रहा है। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा। शव की पहचान भी अभी नहीं हो सकी है।

यह भी पढ़ें : कनाडा से सप्ताह भर पूर्व आए एनआरआई की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 8 मार्च 2020। शहर की हरिमंदिर गली में कनाडा से सप्ताह भर पूर्व आए एक एनआरआई की रविवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया है। बताया जा रहा है कि मृतक कुछ दिन पहले ही कनाडा से आया था। इसी बीच तबीयत खराब होने के दौरान उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।
पुलिस के मृतक मूलरूप से 40 वर्षीय मृतक राजेन्द्र सिंह मूल रूप से रुद्रपुर की हरिमंदिर गली के रहने वाले हैं व वर्तमान में कनाडा में रहते थे। इधर वह एक सप्ताह पहले ही रुद्रपुर स्थित अपने मूल घर आए थे, जहां उनकी तबियत खराब हो गई। परिजनों ने उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया। रविवार सुबह राजेन्द्र की हालत और खराब हुई तो परिजन जिला अस्पताल ले आए। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसका पता चलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत के सही कारणों का पता लगने की बात कह रही है। अपने मायके पंजाब गई मृतक की पत्नी को सूचना दी जा रही है।

यह भी पढ़ें : चलती ट्रेन से संदिग्ध परिस्थितियों में गिरने से कुमाऊं रेजिमेंट के सैनिक की मौत

नवीन समाचार, पिथौरागढ, 15 फरवरी 2020। छुट्टी लेकर सेना की तैनाती से घर आ रहे टनकपुर निवासी सेना के एक जवान की ट्रेन में सफर के दौरान चलती ट्रेन से संदिग्ध परिस्थितियों में गिरने से मौत का दुःखद समाचार है। शनिवार को टनकपुर में सैन्य सम्मान के साथ शहीद की अंत्येष्टि की गई।
देर से प्राप्त जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार रात लखनऊ-हरदोई ट्रेक पर शिलांग में तैनात 12 कुमाऊं रेजिमेंट में तैनात हवलदार गजेंद्र चंद (42) पुत्र स्व. रामी चंद निवासी मनिहारगोठ टनकपुर बीते बुधवार को शिलांग से छुट्टी लेकर ब्रह्मपुत्र-जम्मूतवी एक्सप्रेस से घर आ रहे थे। रात के समय हरदोई के पास संदिग्ध परिस्थितियों में चलती ट्रेन से गिरने से उनकी मौत हो गई। सूचना पर मौके पर पहुंची हरदोई पुलिस पे परिचय पत्र से उनकी शिनाख्त की। सैनिक गजेंद्र की हादसे में मौत की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। पत्नी सरोज चंद और मां तुलसी देवी उर्फ बसंती दोनों बेसुध हो गई। शहीद का एक पुत्र शैलेश चंद कक्षा 11 और पुत्री कृतिका कक्षा दो में पढ़ती है, जबकि छोटा भाई दिनेश चंद कुमाऊं रेजिमेंट सेएक हादसे के बाद से कोमा में है व एक छोटे भाई की करीब 15 साल पहले सड़क हादसे में मौत हो गई थी। सबसे बड़े भाई प्राईवेट कंपनी में नौकरी करते हैं जो बाहर हैं।

यह भी पढ़ें : 16 दिन पहले ही आई 19 साल की युवती की कमरे में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 14 फरवरी 2020। हल्द्वानी के रामपुर रोड एक घर के कमरे में शुक्रवार को 19 वर्षीया युवती का शव मिलने से सनसनी फैल गई। मूलतः बागेश्वर जिले की युवती ने 16 दिन पहले ही कमरा किराए पर लिया था। पुलिस युवती द्वारा सत्यापन के लिए दिए दस्तावेजों से उसके परिजनों को सूचित करने मौत के कारणों की जांच में जुट गई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रामपुर रोड की गली नंबर पांच में रहने वाले किराना कारोबारी अशोक राठौर के घर मे 30 जनवरी को बागेश्वर के पुढकुनी निवासी 19 वर्षीय खीला उर्फ खुशी पुत्री धरम सिंह ने एक कमरा किराए पर लिया था। उसने मकान मालिक को सिलाई प्रशिक्षण के लिए हल्द्वानी में आकर रहने की जानकारी दी थी। शुक्रवार को काफी देर तक खुशी कमरे से नहीं निकली तो समीप के किरायेदारों ने मकान मालिक को सूचित किया। मकान मालिक ने कमरे का दरवाजा खोला तो खुशी बिस्तर पर उल्टी अचेत पड़ी थी। इससे घबराए मकान मालिक ने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने युवती को अस्पताल पहुंचाया, जहां उसकी पहले ही मौत होने की पुष्टि हुई। खुशी के परिवार वालों से पुलिस संपर्क कर रही है। वहीं युवती के विवाहित होने की जानकारी भी पुलिस को मिली है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल ब्रेकिंग : नौवीं कक्षा के छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 फरवरी 2020। बृहस्पतिवार तड़के नगर के एक 17 वर्षीय छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। बताया गया कि रात्रि में उल्टियां होने पर परिजन उसे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लेकर आए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। किशोर बेटे की मौत से परिवार में बेहद गम का माहौल है। बताया गया है कि मृतक छात्र नगर के सेंट जोसफ कॉलेज में नौवीं कक्षा का छात्र था। लिहाजा विद्यालय प्रशासन से लेकर शिक्षक-शिक्षिकाओं एवं साथी बच्चों में भी शोक का माहौल है।

बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के ड्यूटी पर तैनाम इमरजेंसी मेडिकल ऑफीसर ने बताया कि बृहस्पतिवार सुबह तड़के चार बजे 17 वर्षीय देवाशीष खनी पुत्र राजेंद्र सिंह खनी निवासी सिल्वर्टन होटल के पास माल्डन कंपाउंड, कौशल्या सदन को उल्टियां होने की शिकायत पर जिला चिकित्सालय लाया गया था, लेकिन उसकी मृत्यु पहले ही हो चुकी थी। बृहस्पतिवार को किसी कारण उसका पोस्टमार्टम नहीं हो पाया। लिहाजा अब शुक्रवार को पोस्टमार्टम कराया जाएगा। तभी मृत्यु का कारण स्पष्ट हो पाएगा। बताया गया है कि देवाशीष अपने चाचा के घर खुर्पाताल के पास स्थित घिंघारी गांव गया था। उसने रात्रि में सूप पिया, फिर खाना खाने के बाद चॉकलेट खाने लगा। चॉकलेट खाते-खाते उसकी सांसें चढ़ने लगीं। मृतक अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र था। उसकी बड़ी बहन हैं कोटा में कोचिंग करती है। उसके लौटने का इंतजार किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : सड़क किनारे मृत मिला स्वास्थ्य कर्मी

समीर साह जगाती @ नवीन समाचार, नैनीताल, 6 फरवरी 2020। बुधवार की मध्य रात्रि नगर करीब डेढ़ बजे तल्लीताल क्षेत्र में धर्मशाला के पास तल्लीताल पुलिस को एक व्यक्ति रात्रि गस्त के दौरान बेसुध अवस्था में मिला। पुलिस कर्मी उसे 108 आपातकालीन सेवा के माध्यम से बीडी पांडे जिला चिकित्सालय उपचार के लिए लाये। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस को मृतक की तलाशी से एक आधार कार्ड बरामद हुआ, जिस पर राजेश कुमार निवासी तल्ला गांव ऊंचाकोट, बेतालघाट जिला नैनीताल अंकित था, तथा उसके पास एक मोबाइल फोन बरामद हुआ। इस नंबर के बारे में पड़ताल करने पर ज्ञात हुआ कि मृतक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ऊंचाकोट बेतालघाट में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी था, और काफी समय से अस्वस्थ चल रहा था। पुलिस के अनुसार प्रथमदृष्टया मृत्यु बीमारी के कारण होनी प्रतीत हो रही है।
पुलिस की सूचना पर मृतक के परिजन अपराह्न में मुख्यालय पहुंचे। मल्लीताल कोतवाली के वरिष्ठ उप निरीक्षक भुवन चंद्र मासीवाल ने बताया कि पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया जा रहा है, जिसके बाद शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : मृत मिला ट्रेवल व्यवसायी, शराब-ठंड बताई जा रही मृत्यु का कारण

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 जनवरी 2020। शनिवार सुबह नगर के मल्लीताल अंडा मार्केट क्षेत्र में एक 40 वर्षीय व्यक्ति का शव पड़ा हुआ मिला। मृतक की पहचान मंगोली निवासी दुर्गा सिंह पुत्र स्वर्गीय हिम्मत सिंह के रूप में हुई। बताया जा रहा है कि मृतक को बीती शाम इसी क्षेत्र में देखा गया था। वह मानसिक रूप से कमजोर बताया जा रहा है। पुलिस के अनुसार शव के पास से शराब का पव्वा भी बरामद हुआ है। माना जा रहा है कि रात में ठंड एवं शराब पीने की वजह से उसकी मौत हुई होगी। मौके पर पहुंचे एसआई हरीश कोरंगा ने शव को पंचायतनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। श्री कोरंगा ने बताया कि मृतक ट्रेवल एजेंसी का काम करता था, व शराब पीने का आदी था। उसका 22 वर्षीय पुत्र पंकज है, जबकि पुत्री कंचन का विवाह नगर में ही हुआ है।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

यह भी पढ़ें : जेल में बंद कैदी की चाय पीते-पीते मौत !

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 10 जनवरी 2020। चोरी के मामले में हल्द्वानी उपकारागार में बंद हाफिजगंज बरेली के एक कैदी की शुक्रवार को मौत हो गई। उस पर कई मुकदमे चल रहे थे। पुलिस ने परिजनों को सूचना देने के साथ शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। कैदी भानु प्रताप (34) पुत्र लालता प्रसाद मई 2019 में ऊधमसिंह नगर में हुई चोरी के मामले में सजा काट रहा था। बताया जा रहा है कि शुक्रवार सुबह चाय पीते समय वह अचानक गिरकर बेहोश हो गया। जेल कर्मचारियों ने उसे एसटीएच में भर्ती करने का प्रयास किया लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। डाक्टरों के मृत घोषित करने के बाद जेल प्रशासन से परिजनों को सूचना दे दी है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में बर्फ़बारी-ठंड से सैलानी की मौत…

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 जनवरी 2019। पश्चिम बंगाल से घूमने के लिए नैनीताल पहुंचे एक बुजुर्ग पर्यटक की शनिवार रात्रि मौत हो गई। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। मृत्यु का कारण शनिवार अपराह्न हुई बर्फ़बारी के कारण बढ़ी ठंड के दौरान या इसी कारण हृदयाघात बताया जा रहा है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार नबगरा हावड़ा पश्चिम बंगाल निवासी कबिल चंद्र दास (62) पुत्र गणेश चंद्र दास अपनी पत्नी, पुत्री व दामाद सहित 30 सदस्यीय ग्रुप के साथ नैनीताल घूमने आए हुए थे। शनिवार रात्रि अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गयी। होटल कर्मी और परिजन उन्हें बीडी पांडे जिला अस्पताल लेकर गए, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत का कारण ठंड के चलते हृदयाघात बताया गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है।

यह भी पढ़ें : शराब-कड़ाके की ठंड ने ले ली वृद्ध की जान

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 जनवरी 2019। शनिवार सुबह हल्द्वानी रोड पर डोलमार के पास सड़क किनारे एक वृद्ध का शव बरामद हुआ। शव की शिनाख्त 65 वर्षीय लक्ष्मण सिंह जीना पुत्र त्रिलोक सिंह जीना निवासी ग्राम चोपड़ा ज्योलीकोट के रूप में हुई। तल्लीताल थाना प्रभावी विजय मेहता व ज्योलीकोट चौकी प्रभारी चंद्रशेखर कन्याल भी मौके पर पहुंचे और शव को पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। बताया गया है कि मृतक शराब पीने का आदी था और आजीवन अविवाहित था। पुलिस के अनुसार संभवतया शराब पीने व रात्रि में ठंड में बाहर रहने के कारण उसकी मौत हो गई होगी।

यह भी पढ़ें : कड़ाके की ठंड में बैठे-बैठे मर गया युवक !

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 2 जनवरी 2020। अल्मोड़ा के फलसीमा गांव में बृहस्पतिवार सुबह एक युवक का शव देखे जाने से सनसनी फैल गई। खास बात यह भी थी कि युवक का शव बैठी हुई अवस्था में था। आशंका व्यक्त की जा रही है कि युवक की मौत कड़ाके की ठंड में बैठे-बैठे ही किसी कारण हो गई हो और बाद में ठंड-पाले से उसका शरीर इसी अवस्था में अकड़ गया हो। युवक की शिनाख्त निकटवर्ती सिराड़गांव निवासी 21 वर्षीय युवक सागर सिराड़ी के रूप में हुई है। नारायण तेवाड़ी देवाल व धारानौला चौकी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही पुलिस युवक की मौत को संदिग्ध मानकर हर कोण से जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें : साल के आखिरी दिन शराब-ठंड से मृत-अकड़ा हुआ मिला युवक का शव

नवीन समाचार, नैनीताल, 31 दिसंबर 2019। नगर के हंस निवास क्षेत्र में एक व्यक्ति का शव मिला है। मृतक मुंह के बल गिरा है और शरीर अकड़ा हुआ है। उसकी शिनाख्त करीब 40 वर्षीय मूलतः नेपाल निवासी युवक के रूप में हुई है जोकि नगर में रॉयल होटल के पास एक फर्म में काम करता था। इधर बताया जा रहा है कि वह काफी शराब का सेवन कर रहा था। माना जा रहा है कि बीती रात्रि वह शराब के नशे में हंस निवास के पास जंगल में बनी क्रियाशाला के पास गिर गया होगा। माना जा रहा है कि मृतक शराब के नशे में यहां मुंह के बल गिर गया होगा, और रात्रि में पाले व कड़ाके की सर्दी की वजह से मर गया होगा। इसी कारण उसका शरीर अकड़ भी गया है। मृतक शादीशुदा भी बताया जा रहा है। मल्लीताल कोतवाली के वरिष्ठ उप निरीक्षक भुवन चंद्र मासीवाल पंचायतनामा भरने की कार्रवाई कर रहे हैं।

यह समाचार सबक भी है कि नये वर्ष के स्वागत में शराब पीने से बचें। शराब पीना और ठंड जानलेवा भी हो सकती है।

यह भी पढ़ें : दुःखद उत्तराखंड समाचार: सैनिक की अपनी ही सर्विस रिवॉल्वर से चली गोली से मौत..

नवीन समाचार, टनकपुर, 29 दिसंबर 2019। एसएसबी यानी शसस्त्र सीमा बल के एक सैनिक की सर्विस रिवॉल्वर से गोली चलकर उसे ही लगी है। इससे सैनिक की मृत्यु हो गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 25 वर्षीय जवान बिहार का रहने वाला है। वह करीब 15 दिन पूर्व ही अपने घर से आया था। वह चंपावत जनपद में पूर्णागिरि धाम से आगे कलढूंगा नाम की एसएसबी की बीओपी पर तैनात था। रविवार सुबह अज्ञात कारणों से उसकी सर्विस रिवॉल्वर से गोली चली, जिसके बाद वह मृत पाया गया। सैनिक के पार्थिव शरीर को टनकपुर लाया जा रहा है। विस्तृत समाचार की प्रतीक्षा है। समाचार की अपडेट देखने के लिए समाचार को रिफ्रेश करते रहे। सेना एवं पुलिस के द्वारा गोली चलने के मामले की जांच की जा रही है। प्रथमदृष्टया मामला आत्महत्या का बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : रिश्तेदारों से ‘लव-हेट’ तथा ‘आत्महत्या या हत्या’ में उलझी 12वीं कक्षा की छात्रा की मौत..

नवीन समाचार, कपकोट (बागेश्वर) 10 दिसंबर 2019। कपकोट विकास खंड के शामा थाना क्षेत्र में अपने गांव कीमू से पांच किमी दूर गोगिना में रहकर निकट के राइंका रातिरकेटी में 11वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा हेमा पुत्री उमेद सिंह का शव मंगलवार को स्कूल के रास्ते में एक चट्टान के पास से बरामद किया गया है। शव के पास पुलिस ने पांच पन्नों का एक सुसाइड नोट बरामद किया है, जिसमें किसी संजू नाम से लव और मामू हर्ष नाम के व्यक्ति से पहले प्यार और अब नफरत करने की बात कही गई है। दोनों ही मृतका के रिश्तेदार हैं, और उसे परेशान करते थे। मामले में मंगलवार को परिजनों ने शामा चौकी में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस जांच कर रही है कि उसने आत्महत्या की है, अथवा किसी ने चट्टान से धक्का देकर उसकी हत्या कर दी है। बताया गया है कि हेमा सोमवार सुबह 10 बजे रोज की तरह कॉलेज गई थी, लेकिन शाम तक घर नहीं लौटी। बाद में रास्ते में ऊंची चट्टान के पास उसका शव संदिग्ध परिस्थितियों में मिला। आसपास के लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। जांच में पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला। परिजनों के अनुसार हेमा को कोई परेशान कर रहा था। इससे वह काफी समय से तनाव में थी। पूछने पर कुछ नहीं बताती थी। अवसाद में रहने के कारण ही उसने ये कदम उठाया है। मृतका के दो भाई और एक बहन है।

सुसाइड नोट में लिखा – लव यू संजू एंड हेट-हेट मामू…

‘लव यू संजू एंड हेट-हेट मामू…’ हेमा के शव के पास मिले पांच पन्नों के सुसाइड नोट में उसके द्वारा लिखे अंतिम शब्द यही थे। पुलिस ने सुसाइड नोट में मिले दो नाम मामू और संजू से ही अपनी जांच शुरू की है। रातिरकेटी इंटर कॉलेज में पढने वाली हेमा चट्टान से कूदकर अपनी जान दी या उसकी हत्या हुई,यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा। बहरहाल उसके शव के पास से मिले सुसाइड नोट से पता चलता है कि वह लंबे समय से तनाव में थी। वह किसी मामू को अच्छा मानने की बात कह रही है, फिर सबसे अधिक नफरत भी उसी से करने की बात कह रही है। उसने पत्र में लिखा है- श्मामू से बोलना की मैं उन्हें बहुत अच्छा मानती थी, लेकिन उनके एक झूठ से सब खत्म हो गया। उसको बोलना की अब आपको बेस्ट बोलने वाली, सबसे अच्छा मानने वाली उनके लिए मर चुकी है। अब उतना ही नफरत करेगी। आप दोनों खुश रहना यही दुआ करूंगी भगवान से।श् वह संजू को किसी मामू हर्ष के बारे में लिख रही है।

यह भी पढ़ें : दुःखद समाचार : पहाड़ी पर कौवे मंडरा रहे थे, मिला नर कंकाल…

नवीन समाचार, बागेश्वर, 8 दिसंबर 2019। रविवार को बागेश्‍वर जिले के कपकोट क्षेत्र में गैरखेत की ऊंची पहाड़ी पर कुछ चरवाहों ने कौवे मंडराते दिखे तो उनमें हलचल मच गई। वे बकरियों के साथ वहां तक पहुंच गए। पास पहुंचकर उन्‍होंने देखा तो एक नरकंकाल पड़ा था। जिस पर सड़ा-गला बहुत ही कम मांस बचा था। सूचना पर कपकोट पुलिस करीब ढाई घंटा पैदल चल कर पहाड़ी पर पहुंच पाई। पुलिस ने कंकाल को कब्‍जे में लेकर पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया है। बताया जा रहा है कि नरकंकाल तकरीबन एक माह पुराना हो सकता है। मृतक की अभी तक शिनाख्त नहीं हो सकी है। अब पुलिस गुमशुदा के तहत दर्ज मामलों को खंगाल रही है।

संदिग्ध मौतों से सम्बंधित पुराने समाचारों के लिए इस लाइन को क्लिक करें ….

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply