यह सामग्री कॉपी नहीं हो सकती है, फिर भी चाहिए तो व्हात्सएप से 8077566792 पर संपर्क करें..

नैनीताल: युवक के फोन पर मैसेज भेजने से परेशान युवती पहुंची थाने

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 अक्टूबर 2019। नगर के मल्लीताल क्षेत्र की एक युवती ने सोमवार को मल्लीताल कोतवाली पहुंची और नगर के ही एक युवक के खिलाफ शिकायती पत्र सोंपा। युवती का कहना था कि युवक उसे फोन पर लगातार मैसेज भेजकर परेशान कर रहा है। कई बार मना करने पर भी मैसेज भेजने से बाज नहीं आ रहा है। इस पर कोतवाली पुलिस ने युवक का जवाब तलब किया। इस पर युवक की सिट्टी-पिट्टी गुम हो गया और उसने लिखित माफी मांगकर आगे से ऐसा करने से तौबा की। इस पर युवती ने उसे बमुश्किल आगे कानूनी कार्रवाई करने से बख्श दिया।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी के चिकित्सक पर छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज, मामले में 4 लाख की रंगदारी का ट्विस्ट..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 15 सितंबर 2019। शहर के दमुवाढूंगा निवासी युवती की तहरीर पर काठगोदाम पुलिस ने शहर के एक चिकित्सक पर छेड़छाड़ के आरोप में मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। युवती का कहना है कि वह आयुष आयुर्वेद क्लीनिक में कार्य करती है। गत दिवस क्लीनिक के संचालक आयुर्वेदिक चिकित्सक ने उससे छेड़छाड़ की, और विरोध करने पर धमकाया, लिहाजा उसके खिलाफ कार्यवाही की जाए। तहरीर के आधार पर पुलिस ने चिकित्सक के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर उसकी गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिये है।

चिकित्सक के अनुसार मामला चार लाख रुपए की रंगदारी का

इधर आरोपित चिकित्सक के हवाले से बताया गया है कि युवती साजिशन एक दिन के लिए ही चिकित्सक के क्लीनिक पर कार्य करने गई थी। अगले दिन ही एक मीडिया कर्मी के द्वारा चिकित्सक से 4 लाख रुपए की मांग करते हुए मुकदमा दर्ज कराने की धमकी दी गयी है। चिकित्सक की ओर से विजीलेंस को भी मामले की जानकारी देने की बात की जा रही है। यदि ऐसा है तो मामले में काठगोदाम पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठते हैं।

यह भी पढ़ें : महिला पटवारी का शादी के नाम पर 5 वर्ष से करता रहा यौन शोषण, अपनी नौकरी लगी तो शादी से मुकर गया पशुधन प्रसार अधिकारी !

नवीन समाचार, जसपुर, 1 सितंबर 2019। पौड़ी जनपद में राजस्व उप निरीक्षक (पूर्व पद नाम पटवारी) ने पशुधन प्रसार अधिकारी के पद पर तैनात युवक पर शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने का लगाया है। युवती की शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो उसने ऊधमसिंह नगर जिले के एसएसपी को शिकायती पत्र देकर कार्रवाई करने की गुहार लगाई है।
ऊधमसिंह नगर जनपद पतरामपुर पुलिस चौकी क्षेत्र निवासी युवती ने एसएसपी से शिकायत की है कि 2013 में शहर के मोहल्ला चौहान निवासी युवक से कोचिंग सेंटर में पढ़ाई के दौरान उसकी दोस्ती हुई थी। जनवरी 2014 में युवक ने उसे कोचिंग के नोट्स देने के लिए अपने घर बुलाया था, और शादी करने का झांसा देकर उससे यौन संबंध बना लिए थे। लेकिन बाद में शादी के लिए परिजनों को मनाने की बात कहकर टालता रहा। इधर दो वर्ष पूर्व राजस्व विभाग में उसकी नौकरी लग गई। इसके बाद भी वह पौड़ी में उसके तैनाती स्थलों पर भी आता रहा। इधर लगभग छह माह पूर्व युवक की भी पशुधन प्रसार अधिकारी के पद पर नौकरी लगी तो उसने तब से उसका फोन उठाना बंद कर दिया। इधर छह अगस्त 2019 को वह उससे अल्मोड़ा में मिला तो उसने फिर शादी का दबाव बनाया। तब उसने उसके साथ अभद्रता कर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए शादी से साफ इन्कार कर दिया। पता चला है कि वह किसी अन्य युवती से शादी कर रहा है और उसकी सगाई भी हो गई है। इस पर उसने पिछले माह 23 अगस्त को जसपुर कोतवाली पुलिस को घटना की तहरीर भी दी थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। युवती का कहना है कि आरोपित के पिता उत्तर प्रदेश पुलिस में हैं इसलिए कोतवाली पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। उसे न्याय दिलवाया जाये।

यह भी पढ़ें : शादी के 13 माह बाद ही पत्नी को ज़हर देकर मारने वाले पुलिस कर्मी को आजीवन जेल की सजा…

नवीन समाचार, बागेश्वर, 31 अगस्त 2019। अपर जिला सत्र न्यायाधीश कुलदीप शर्मा की अदालत ने दहेज हत्या के आरोप में मृतका के पुलिस कर्मी पति को दोषी ठहराते हुए आजीवन कारावास एवं दहेज प्रतिषेध में एक साल की अतिरिक्त कठोर कारावास और दस हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है।
उल्लेखनीय है कि मृतका के भाई ने कोतवाली में तहरीर देकर कहा था कि उसकी बहन नीमा का विवाह 21 फरवरी 2018 को बागेश्वर पुलिस लाइन में चालक पद पर तैनात अनिल घिल्डियाल पुत्र उमाकांत निवासी कालीगांव, करगेत जिला अल्मोड़ा के साथ हुआ था। मृतका नीमा अपने पति के साथ बागेश्वर के सैंज में किराए के मकान में रहती थी। 26 मार्च 2019 को शादी के 13 माह बाद ही मृतका का शव स्थानीय लोगों ने अग्निकुंड पुल के पास विकास भवन वाली रोड पर नदी किनारे होने की सूचना स्थानीय पुलिस को दी। पुलिस और आसपास के लोगों ने शव की पहचान नीमा पत्नी अनिल घिल्डियाल के रूप में की। नीमा की मौत की सूचना पर उसके मायके से परिवार वाले आए और मौत को दहेज हत्या मानते हुए उसके भाई ने कोतवाली में तहरीर दी। जिस पर कोतवाली पुलिस ने अभियुक्त अनिल घिल्डियाल के विरुद्ध धारा 304बी, 498ए आइपीसी और 314 डीपी एक्ट में रिपोर्ट दर्ज की। मामले की विवेचना पुलिस क्षेत्राधिकारी महेश चंद्र जोशी ने की। विवेचक ने मृतका की मौत का सही कारण जानने के लिए कराई गई बिसरा रिपोर्ट में जहर मिलने की पुष्टि हुई। मामले का विचारण अपर सत्र न्यायाधीश कुलदीप शर्मा की अदालत में चला। अभियोजन पक्ष ने मामले में 12 गवाह और अभियुक्त के द्वारा अपने बचाव में एक गवाह अदालत के समक्ष परीक्षित करवाया गया। अदालत ने गवाहों के बयान और पत्रावली में उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर अभियुक्त को दोषी पाते हुए आजीवन कारावास के दंड से दंडित किया। इसके अलावा दहेज प्रतिषेध के आरोप में एक साल के कठोर कारावास और दस हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया गया। मामले में राज्य की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी आविद हसन, सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी चंचल पपोला ने पैरवी की।

यह भी पढ़ें : अभागी की 3 भाइयों ने अस्मत लूटी, और पिता ने 10 लाख में अस्मत का सौदा कर दिया…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 20 अगस्त 2019। हल्द्वानी की एक अभागी युवती के साथ उसके दूर के रिश्ते के भाइयों ने तमंचे के बल पर गैंगरेप किया और इस सब का वीडियो भी बनाया। हद तो तब हो गई जब उसके पिता ने आरोपियों से दस लाख रुपये लेकर उसकी अस्मत का समझौता कर लिया। कोतवाली पुलिस ने एसीजेएम कोर्ट के आदेश पर आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज किया है।
हल्द्वानी निवासी युवती ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर कहा है कि उसके रिश्ते का भाई उसे बीती नौ जून को कार से अपने घर ले गया। सुनसान रास्ते में कार में ही तीन लोगों ने तमंचे के बल पर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया, और मोबाइल से उसके साथ दुष्कर्म करने का वीडियो भी बना लिया। बाद में उसके पिता ने आरोपियों से 10 लाख रुपये लेकर समझौता कर लिया। लेकिन अब एसीजेएम कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने सभी आरोपियों पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें : प्यार में युवक बन गया युवती, उसने बलात्कार कर दिया, अब फोन पर धमका रहा, हाईकोर्ट ने एसएसपी को किया तलब..

प्रतीकात्मक फोटो।

नवीन समाचार, नैनीताल, 16 अगस्त 2019। प्रदेश के बहुचर्चित लिंग परिवर्तन कर महिला बनी युवती का मामला एक बार फिर से उत्तराखंड उच्च न्यायालय की दहलीज पर पहुंच गया है। पीड़ित युवती ने अपने बलात्कारी पूर्व पुरुष मित्र पर अब फोन पर धमकाने का आरोप लगाते हुए मामले की जांच के लिए जांच अधिकारी बदलने अथवा जांच सीबीसीआईडी या राजपत्रित अधिकारी से कराए जाने की मांग की है। मामले में उच्च न्यायालय की न्यायमूर्ति आलोक वर्मा की एकलपीठ ने मामले में जिले के पुलिस कप्तान से एक सप्ताह के भीतर व्यक्तिगत रूप से जवाब पेश करने को कहा है। मामले की सुनवाई के लिए 23 अगस्त की तिथि नियत की गई है।
उल्लेखनीय है कि पूर्व में पीड़ित ने अने पूर्व पुरुष मित्र परीक्षित जोशी के खिलाफ 17 जुलाई को कोटद्वारा कोतवाली में दुराचार की शिकायत की थी। लेकिन आरोप है कि पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री शिकायत पोर्टल में शिकायत की। किंतु जांच अधिकारी एसआई अरविंद पंवार ने ‘जांच अपेक्षित नहीं’ लिखकर मुख्यमंत्री पोर्टल में अपना जवाब दे दिया। सूचना के अधिकार से मांगी गई सूचना के आधार पर बीती 10 अगस्त को पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया। लेकिन फिर से जांच उसी एसआई अरविंद पंवार को दे दी गई, जो कि पहले ही मुख्यमंत्री पोर्टल में नकारात्मक उत्तर दे चुके हैं। ऐसे में पीड़िता का कहना है कि उनसे निष्पक्षता से जांच की अपेक्षा नही की जा सकती। गौरतलब है कि पूर्व में उच्च न्यायालय ने पीड़िता से हुए दुराचार के मामले में अपने आदेश में पीड़िता को सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश के मुताबिक महिला मानने को कहा था।

यह भी पढ़ें : अपनी ही छात्रा से छेड़छाड़ के आरोपित प्रधानाचार्य को स्कूल से हटाकर किया संबद्ध, विभागीय कार्यवाही भी हुई शुरू ..

दान सिंह लोधियाल @ नवीन समाचार, धानाचूली, 23 जुलाई 2019। बीते 20 जुलाई को ओखलकांडा के खनस्यू राइंका में हुई छेड़छाड़ वाली घटना ने तूल पकड़ लिया है। राइंका खनस्यू में छात्रा से हुई छेड़छाड़ की घटना में आरोपित विद्यालय के प्रधानाचार्य को जिला शिक्षा अधिकारी ने विद्यालय से हटाकर अपने कार्यालय में अटैच करने का आदेश दे दिया है। साथ ही आरोपित प्रधानाचार्य के खिलाफ विभागीय कार्यवाही भी शुरू हो गयी है।
मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी कमलेश कुमार गुप्ता ने बताया खनस्यू के आरोपित प्रधानाचार्य कुंदन सिंह नयाल को जिला कार्यालय अटैच कर दिया गया है। साथ ही विभागीय जाँच भी की जा रही है। वहीं ग्रामीणों ने एसडीएम से मिलकर आरोपित प्रधानाचार्य के गिरफ्तारी की मांग दोहराई। वही उपजिलाधिकारी ने अपने स्तर से कार्यवाही का भरोसा दिया है। मंगलवार को ओखलकांडा विकास खंड के कालाआगर, बडो़ंन, गलनी, और खनस्यू के दर्जनों ग्रामीणों ने एसडीएम धारी विजयनाथ शुक्ल से मुलाकात कर आरोपित प्रधानाचार्य की गिरफ्तारी की मांग की। इस पर एसडीएम ने राजस्व उपनिरीक्षक को त्वरित जाँच कर कार्यवाही के निर्देश दिए। ज्ञापन के अनुसार आरोपित प्रधानाचार्य कुंदन सिह नयाल ने बीते सोमवार को पीड़ित लड़की को तहसील में घमकाया था। जिससे पीड़ित के पिता डरे व सहमे हुए है। साथ ही वह लड़की के भविष्य को लेकर चिंतित है। उन्होंने तत्काल गिरफ्तारी कर उन्हें न्याय दिलाने की मांग की की है।
उधर उपनिरीक्षक ने बताया लड़की के बयान दर्ज कराने के पश्चात आगे की कार्यवाही की जाएगी। आरोपित के विभाग के मेल व डाक से सूचित किया जा चुका है। आपको बताते चले बीते 20 जुलाई को राइका खनस्यू के प्रधानचार्य कुंदन सिंह नयाल पर उनके ही विधालय की 12 वी एक छात्रा ने अपने ऑफिस में बुलाकर हाथ पकड़ कर छेड़खानी का आरोप लगाया। जिस पर पट्टी पटवारी के यहाँ पीड़ित लड़की ने 354 ने तहत एफआईआर दर्ज कराई है। इधर धारी में ज्ञापन देने वालो में पानसिंह मेवाड़ी, डिकर सिह मेवाड़ी, राजेन्द्र सिंह, नंदन, रघुवीर सिंह स्थित कई लोग मौजूद थे।

यह भी पढ़ें : राइंका के प्रधानाचार्य पर छात्रा ने लगाया छेड़खानी का आरोप, मामले में दोनों और से राजनीति भी…

-पूरे दिन ग्रामीणों ने किया तहसील में कार्रवाई की मांग पर प्रदर्शन, देर शाम हुई रिपोर्ट दर्ज
नवीन समाचार, धानाचूली, 22 जुलाई 2019। जनपद के दूरस्थ ओखलकांडा विकास खंड के राजकीय इंटर कॉलेज खनस्यू के प्रधानाचार्य पर विद्यालय की ही एक छात्रा ने छेड़खानी का सनसनीखेज आरोप लगाया है। इससे शिक्षक समाज एक बार फिर से शर्मसार व कलंकित हो गया है। प्रधानाचार्य के खिलाफ कार्यवाही की माग को लेकर ग्रामीण दिन भर तहसील मुख्यालय में जमे रहे, जिसके बाद देर शाम को राजस्व पुलिस में आरोपित प्रधानाचार्य के खिलाफ खेड़खानी की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। मामले में राजनीति का घालमेल भी देखने को मिला। बताया गया है कि आरोपित की पत्नी राजनीति में हैं और अच्छे पद पर भी हैं। इसलिए आरोपित के खिलाफ कार्रवाई करने और न करने को लेकर दोनों ओर से दबाव भी देखा गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार राइंका खनस्यू के प्रधानाचार्य कुंदन सिह नयाल पर विद्यालय की कक्षा 12 की एक छात्रा ने छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए तहसील खनस्यू में लिखित सूचना दी। जिस पर भारतीय दंड संहिता की धारा 354 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। राजस्व उप निरीक्षक मोहम्मद शकील अहमद ने पीड़ित छात्रा के हवाले से बताया कि प्रधानाचार्य ने उसे बीती 20 जुलाई यानी शनिवार को कन्या धन के फार्म में आय प्रमाण पत्र लगाने की बात को लेकर अपने ऑफिस में बुलाया। जिस पर उसने दो-चार दिन में आय प्रमाण पत्र देने की बात कही। इस बीच प्रधानाचार्य कुंदन सिह ने उसका हाथ पकड़ लिया और उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर प्यार जताने लगा। छात्रा ने विरोध किया तो वह किसी को ना बताने की बात कहने लगा। छात्रा ने अपने माता-पिता को आपबीती सुनाई, तो सोमवार को पट्टी बिश्जुला में एफआईआर दर्ज करा दी गई। राजस्व उप निरीक्षक शकील अहमद ने बताया कि भादंसं की धारा 354 के तहत मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी गई है। इससे पूर्व दिन भर तहसील खनस्यू में आरोपित प्रधानाचार्य के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते लोगों का हुजूम उमड़ा पड़ा।

यह भी पढ़ें : पहाड़ के गाँव में 12 वर्ष की मासूम के अपहरण का प्रयास, दांत काट कर बची मासूम…

नवीन समाचार, नैनीताल, 16 जुलाई 2019। दुग-नाकुरी तहसील के पचार गांव में आठवीं कक्षा की 12 वर्षीय छात्रा के अपहरण की कोशिश करने का मामला प्रकाश में आया है। दो युवकों ने जबरन छात्रा का मुंह बंद कर उसे कार में बैठाने का दुस्साहस किया। तभी छात्रा ने एक युवक के हाथ में जोर से दांत काट लिया और किसी तरह उनके चुंगल से भागकर घर पहुंची। उसने अपनी मां को आपबीती बताई। कुछ ही देर में यह खबर पूरे गांव में फैल गई। ग्रामीणों ने रात में ही रीमा पुलिस चौकी को सूचना दी। घटना से गुस्साए ग्रामीण मंगलवार को ग्राम प्रधान नवीन पांडेय के नेतृत्व में पीड़िता समेत रीमा चौकी में धमक गए। यहां पीड़िता तथा उसकी मां ने पुलिस को घटना की पूरी जानकारी दी। ग्रामीणों ने आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की और पुलिस को तहरीर सौंपी है।

बताया गया है कि छात्रा शाम करीब सात बजे पेन लेने के लिए देवी मंदिर स्थित दुकान में जा रही थी। दुकान के कुछ ही दूर दो युवक उसकी बेटी से मिले। उन्होंने मुंह में रूमाल बांध रखा था। उन्होंने छात्रा से कहा कि उसकी ताई उसे बुला रही है। उनकी बात पर भरोसा कर छात्रा उनके साथ जाने लगी। वह कुछ ही कदम चली थी कि युवकों ने छात्रा का मुंह बंद कर दिया और घसीटते हुए धौलदेव गधेरे तक ले गए। वहां पहले से एक लाल रंग की कार खड़ी थी। उसमें चालक भी बैठा था। दोनों युवक छात्रा को जबरन कार में बैठाने लगे। इसी बीच हिम्मत दिखाकर छात्रा ने एक युवक के हाथ में जोर से दांत गाढ़ दिया और किसी तरह उनके चुंगल से बच निकली।

पुलिस ने बताया कि ग्रामीणों ने पुलिस में शिकायती पत्र दे दिया है। पुलिस जांच में जुट गई है। घटना को अंजाम देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। प्रदर्शन करने वालों में भाजपा मंडल अध्यक्ष योगेश हरड़िया, महमंत्री कैलाश पांडेय, हेम पांडेय, मदन पांडेय, दीनदयाल पांडेय, आचार्य ललित पांडेय, आचार्य टेक चंद्र पांडेय, हेम पांडेय, बिशन राम, फकीर राम तथा तिलक राम गोस्वामी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Loading...
loading...