April 24, 2024

(Khulasa) 3 साल पहले ही प्रेम विवाह किया था, अब पिता के बाद पत्नी को और फिर पुलिस दरोगा को भी मारी गोली… लगातार एक के बाद एक नया खुलासा…

2

Khulasa

Friend's brutality, Himakat, Haldwani Vigilance arrested Teacher & Headmaster,

नवीन समाचार, देहरादून, 21 जनवरी 2024। उत्तराखंड के देहरादून में एक महिला के बेहोशी की अवस्था में मिलने की घटना में एक के बाद एक नये सनसनीखेज खुलासे (Khulasa) हुये हैं। पहले इस महिला की मेडिकल जांच में उसके सिर में गोली लगने की पुष्टि हुई। इसके बाद पुलिस उसे गोली मारने वाले तक पहुंची तो वह उसका अपना पति निकला।

(Khulasa)पुलिस उसके पति को पकड़ने पहुंची तो उसने मामले के जांच अधिकारी-दारोगा पर गोली चला दी, जिससे दारोगा घायल हो गया। उसका ऑपरेशन कराना पड़ा, जबकि मुठभेड़ में आरोपित पति भी घायल हो गया। अब एक और नया सनसनीखेज खुलासा हुआ है कि आरोपित पति ने अपने पिता की भी हत्या की थी और पत्नी उसका अपने पिता की हत्या करने का राज न खोल दे, इसलिये उसने अपनी पत्नी को भी गोली मारी थी।

बहरहाल अब पुलिस ने अपनी पत्नी, पिता और दरोगा को गोली मारने वाले बदमाश को गिरफ्तार कर लिया है। उसके पीछे हरियाणा पुलिस भी तीन माह से लगी हुई थी। आरोपित ने 3 वर्ष पूर्व उसी से प्रेम विवाह किया था, जिसे उसने बेरहमी से गोली मारकर पुल के नीचे फेंक दिया था।

पुलिस की पूछताछ में आरोपित ने अपने पिता की हत्या का कुबूलनामा ही नहीं किया, बल्कि यह भी बताया कि यही राजफाश होने के डर से उसने अपनी पत्नी के सिर में गोली मारकर उसे पुल से नीचे फेंका था। पुलिस कप्तान अजय सिंह ने पूरे मामले की जानकारी हरियाणा पुलिस को दी है।

वहीं, मुठभेड़ के दौरान पेट में गोली लगने से घायल चौकी प्रभारी मिथुन का हाल जानने के लिए डीजीपी अभिनव कुमार ने एसएसपी अजय सिंह के साथ ही अस्पताल के चिकित्सकों से भी बातचीत की। इस मामले में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि 13 जनवरी को रायपुर-थानों रोड स्थित बड़ासी पुल के नीचे एक महिला बेहोशी की हालत में मिली थी। दून अस्पताल में ऑपरेशन के दौरान उसके सिर से एक गोली निकली थी। सोशल मीडिया की मदद से महिला की बहन काव्या ने फेसबुक पोस्ट देखकर उसकी पहचान अपनी बड़ी बहन तान्या राजपूत पुत्री हेमराज चौहान, निवासी टाटा मोटर्स इंडस्ट्रीज एरिया, लोधामंडी, हरिद्वार के रूप में की थी।

तान्या ने आरोपित शुभम पुत्र प्रभु दयाल निवासी महावीर कालोनी, थाना सिविल लाइन, सोनीपत, हरियाणा से वर्ष 2020 में प्रेम विवाह किया था। तभी से वह सोनीपत हरियाणा में ही रहती थी। शनिवार देर रात पुलिस को सूचना मिली कि महिला का पति मसूरी किसी होटल में ठहरा हुआ है, ऐसे में पुलिस ने होटल की चेकिंग करनी शुरू कर दी।

एक होटल में ठहरे बदमाश ने अचानक पुलिस पार्टी पर जानलेवा हमला कर दिया। इस दौरान चौकी प्रभारी मिथुन के पेट मे गोली लग गई। जवाबी हमले में एक गोली बदमाश के पैर में भी लगी है, उसे भी मैक्स अस्पताल के भर्ती करवाया गया है। चौकी प्रभारी को तत्काल मैक्स अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उनके पेट से गोली निकाली गई।

आरोपित शुभम ने प्रारम्भिक पूछताछ में बताया कि उसने हरियाणा में 40 से 50 लाख रुपयों का उधार लिया था। रुपये देने वाले उस पर उधार वापस करने के लिये लगातार दबाव बना रहे थे। पिता ने उसे पैसे देने से मना कर दिया था। तब सम्पत्ति के लालच में उसने अपने पिता को रास्ते से हटाने की योजना बनाई और सितम्बर 2023 में सोनीपत में उनकी गोली मारकर हत्या कर दी।

हत्या के बाद उसके शव को मुज्जफरनगर से हरिद्वार के बीच जंगल मे ठिकाने लगा दिया। उसके बाद अपनी पत्नी को लेकर फरार हो गया। सोनीपत से भागने के बाद शुभम अपनी पत्नी के साथ छिद्दरवाला, रायवाला में किराये पर कमरा लेकर रहने लगा, इसी बीच उसके पिता की गुमशुदगी के सम्बंध में शुभम की तलाश करते हुए हरियाणा पुलिस उसकी ससुराल हरिद्वार पहुंची।

यह जानकारी मिलने पर वह अपनी पत्नी के साथ छिद्दरवाला में किराया का कमरा छोडकर तपोवन मुनिकिरेती भाग गया। 27 दिसम्बर से 14 जनवरी तक तपोवन मुनिकीरेती स्थित आराधना पैलेस होटल में रूका। शुभम को डर था कि कहीं पत्नी उसका राज न खोल दे। इसलिए पत्नी की हत्या करने की योजना बनाकर वह 13 जनवरी को स्कूटी से तान्या को तपोवन से जॉलीग्रांट ले आया।

जॉलीग्रांट पार्किंग में पूर्व से खडी की गई अपनी कार से अपनी पत्नी को थानो होते हुए बडासी पुल लाया और वहां उसने अपनी पत्नी के सिर में गोली मारकर उसे पुल से नीचे फेंक दिया और कार से वापस जॉलीग्रांट पहुंचा। फिर से जौलीग्रांट लाकर अपनी कार को पार्किंग में खड़ा किया और स्कूटी से वापस तपोवन चला गया। घटना के अगले दिन भी शुभम तपोवन में ही रुका।

15 जनवरी 2024 को स्कूटी से मसूरी पहुंचा और साक्षी होम स्टे में रूका। इधर, पुल के नीचे घायल मिली महिला से पूछताछ और उसके ससुराल जाकर सोनीपत से मिली जानकारी के आधार पर देहरादून पुलिस की टीमें आरोपी की खोजबीन में जुटी थी।

पुलिस कप्तान अजय सिंह ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे खंगालने और सुरागरसी पतारसी करते हुए जॉलीग्रांट पार्किंग से कार बरामद होने पर पुलिस ने आरटीओ कार्यालय से वाहन की जानकारी जुटाई। वाहन में फर्जी नंबर प्लेट का इस्तेमाल किया जाना पाया गया। वाहन की तलाशी लेने पर एक नंबर प्लेट एचआर26डीएफ-0996, एक जिंदा कारतूस, कारतूस के 2 खोखे व अन्य सामान बरामद हुआ।

तब मार्ग पर लगे लगभग 250 से 300 सीसीटीवी कैमरों को चेक करते हुए पुलिस तपोवन पहुंची और होटलों की चेकिंग की। तपोवन मुनिकीरेती स्थित अराधना पैलेस होटल में 27 दिसम्बर से 14 जनवरी तक रुके होनेे की जानकारी मिली। यहीं से पता चला कि 13 जनवरी को वह अपनी पत्नी तान्या के साथ बाहर घूमने जाने की बात कहकर गया था और शाम को अकेले ही वापस होटल आया था।

शुभम के एक संदिग्ध मोबाइल नम्बर की लोकेशन माल रोड मसूरी में मिलने पर उपनिरीक्षक मिथुन कुमार, उपनिरीक्षक सुनील नेगी व उपनिरीक्षक जयवीर सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम मसूरी में अलग-अलग होटलों में चेकिंग की। साक्षी होम स्टे मसूरी के रजिस्टर में शुभम नाम दर्ज मिला। कमरे का दरवाजा खुलवाकर टीम ने जैसे ही आरोपित को पकड़ने का प्रयास किया, तो उसने अपने पास पहले से रखी देसी पिस्टल से पुलिस टीम पर फायर कर दिया।

जिसमें उपनिरीक्षक मिथुन कुमार के पेट में गोली लग गई और आरोपित मौके से फरार हो गया। बाद में घेराबंदी करते हुए उसे पकड़ा गया। जवाबी फायर में शुभम के पैर पर गोली लगी। एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि आरोपित के खिलाफ पुलिस टीम पर हमला करने और आर्म्स एक्ट में दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज किए गए हैं। उसकी गिरफ्तारी के संबंध में सोनीपत के सिविल लाइन थाने की पुलिस को भी सूचित किया गया है।

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि पिता की हत्या के बाद आरोपित ने उनके बैंक खातों से लगभग 6.50 लाख रुपये निकाले थे। जिनसे वो अपने सभी खर्चों की पूर्ति कर रहा था। गाड़ी में लगी फर्जी नंबर प्लेट और बरामद अवैध देसी पिस्टल के बारे में उसने बताया कि देसी पिस्टल उसने मेरठ में एक व्यक्ति से खरीदा था, जिससे उसकी सोशल मीडिया के माध्यम से पहचान हुई थी।

पुलिस को चकमा देने के लिए उसने ओएलएक्स में अपनी गाड़ी के मॉडल व रंग से मिलती जुलती गाड़ी के नंबर की जानकारी कर उसी नंबर की फर्जी नंबर प्लेट बनाकर अपनी गाड़ी में प्रयोग की जा रही थी।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से, कू से, कुटुंब एप से, डेलीहंट से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। 

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : नैनीताल: (Khulasa) नैनीताल पुलिस ने 12 तोले सोने के आभूषणों की चोरी की बड़ी घटना का 12 घंटे के अंदर किया खुलासा…

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जनवरी 2024 (Khulasa)। नैनीताल पुलिस ने जनपद के भीमताल क्षेत्र में 12 तोले सोने की चोरी की बड़ी घटना का 12 घंटे के अंदर खुलासा कर दिया है। मामले का त्वरित खुलासा होने पर क्षेत्र की जनता ने भी पुलिस टीम का आभार प्रकट किया है।

Khulasaएसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा ने बताया कि भीमताल क्षेत्र में एक घर में सेंध लगाकर लगभग 8.4 लाख रुपये मूल्य के 12 तोला सोने के जेवरातों पर हाथ साफ कर दिया था। बीते दिन विनीत जोशी पुत्र स्वर्गीय हेम चंद्र जोशी निवासी निकट सरकारी अस्पताल तल्लीताल भीमताल नैनीताल ने थाना भीमताल में तहरीर देकर बताया कि दिनांक 7 जनवरी को वह सपरिवार हल्द्वानी गये थे। इस दौरान उसके घर से लगभग 12 तोला सोने के जेवरात चोरी हो गये।

इसके आधार पर थाना भीमताल में भारतीय दंड संहिता की धारा 380 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया। इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुये भीमताल के थानाध्यक्ष जगदीप नेगी के नेतृत्व में गठित टीम ने सुरागों व सीसीटीवी फुटेज आदि के आधार पर दिनांक 8 जनवरी की सुबह 7 बजे बजे चेकिंग के दौरान संदिग्ध प्रतीत हो रहे 30 वर्षीय आकिल खान पुत्र कामिल खान निवासी भवाली सरस्वती शिशु देवी मन्दिर भवाली जनपद नैनीताल के पास से लगभग 12 तोला सोने के जेवरात बरामद कर उसे गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस के अनुसार आरोपित ने पूछताछ में बताया कि वह चोरी किये गये जेवरात को अपने शौक पूरे करने के लिए बेचने हल्द्वानी जा रहा था। तभी पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम में उप निरीक्षक भुवन जोशी, वरिष्ठ आरक्षी सुमित चौधरी तथा आरक्षी संजय नेगी व संजय साहनी शामिल रहे।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से, कू से, कुटुंब एप से, डेलीहंट से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..।  

यह भी पढ़ें : (Khulasa) चाची से थे अवैध संबंध, चाची के 17 वर्षीय बेटे की कर दी हत्या…

नवीन समाचार, हरिद्वार, 3 जनवरी 2024 (Khulasa)। हरिद्वार के कनखल थाना क्षेत्र में 17 वर्षीय किशोर की हुई हत्या के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित किशोर की मां का रिश्ते का भतीजा था, और फिर भी उसके अपनी चाची से अवैध संबंध थे, जिसका विरोध करने पर उसने योजना बनाकर महिला के बेटे को मौत के घाट उतार दिया था।

एसएसपी प्रमेंद्र सिंह डोबाल ने मायापुर स्थित एसपी सिटी कार्यालय में हत्याकांड का खुलासा किया। एसपी ने बताया कि एक जनवरी की दोपहर बैरागी कैंप में गंगा किनारे 17 वर्षीय यश उर्फ क्रिश का शव मिला था। सिर में गहरे घाव मिले थे। शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाते हुए मामले की जनता से जांच शुरू कर दी गई थी।

जांच पड़ताल के बाद मृतक के एक परिचित को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की गई। तब उसने कबूल किया कि उसके यश की मां से अवैध संबंध थे और यश इसका विरोध करता था। इसके चलते 31 जनवरी की रात वह उसे शॉपिंग करने के बहाने अपने साथ लेकर गया। फिर उसे शराब पिलाने के बाद कनखल बैरागी कैंप लाकर गला दबाकर हत्या कर दी।

सिर पर पत्थरों से वार किया और शव को गंगा किनारे फेंक कर फरार हो गया था। अगले दिन आरोपित ने खुद ही शव गंगा से बरामद करवाते हुए परिजनों को जानकारी दी थी। जिससे उस पर किसी को संदेह न हो सके। एसपी ने बताया कि मुख्य आरोपी को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है। हत्या में अन्य आरोपितों की भी भूमिका तो नहीं, इसको लेकर भी जांच चल रही है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से, कू से, कुटुंब एप से, डेलीहंट से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..।  

यह भी पढ़ें : (Khulasa) मां-बाप, भाई ने मिलकर कर दिया अपने ही खून का कत्ल

नवीन समाचार, जसपुर, 23 दिसंबर 2023 (Khulasa)। उत्तराखंड के जनपद ऊधमसिंह नगर जनपद के जसपुर में खौफनाक वारदात का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा (Khulasa) किया है। दुनिया में जन्म देने वाले मां-बाप और भाई का रिश्ता सबसे भरोसेमंद रिश्ता माना जाता है, लेकिन मां-बाप और भाई ने अपने ही खून का कत्ल कर दिया।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर में जसपुर कोतवाली क्षेत्र के नई बस्ती भट्टा कॉलोनी निवासी नदीम का अपने ही घर में गला कटा शव मिला था। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लेते हुए शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम की कार्रवाई की।

इसी दौरान पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए फरार परिजनों की तलाश शुरू की। तलाश के बाद पुलिस ने जब गहनता से मृतक की मां से पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल लिया। इसके बाद हत्या में शामिल सभी आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

सीओ वंदना वर्मा ने बताया कि मृतक की मां से पूछताछ की गई तो उसकी बातों में विरोधाभास प्रतीत हुआ। गहनता से जांच की गई और महिला से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि उसका बेटा गलत संगत में पड़ गया था, नशे का आदी था। मां-बाप के साथ अभद्र व्यवहार करता था।

इन सभी बातों को लेकर रात में भी घर मे झगड़ा हुआ। गुस्से मे पति और उसके दूसरे बेटे ने चाकू से उसका गला काटकर हत्या कर दी। इसके बाद पिता और पुत्र मौके से फरार हो गए। महिला ने भी उनका साथ दिया। पुलिस ने मौके से हत्या में इस्तेमाल चाकू भी बरामद किया है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पुलिस ने 24 घंटे के भीतर किया सर्राफ के दुस्साहसिक हत्याकांड का खुलासा (Khulasa)

नवीन समाचार, खटीमा, 6 दिसंबर 2023। पुलिस ने खटीमा में सर्राफ रमेश रस्तोगी हत्याकांड में तेजी से काम करते हुये 24 घंटे के अंदर सभी तीन हत्यारोपितों को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा (Khulasa) कर दिया है। गिरफ्तार किये गये तीन में से दो आरोपित आपस में चाचा-भतीजे है। पुलिस का दावा है कि उन्होंने रुपयों के लेने-देने में सर्राफ रमेश रस्तोगी को गोली मारी थी। पूर्व समाचार : उत्तराखंड में भी जयपुर जैसी घटना, दुकान में घुसकर सर्राफ की गोली मारकर हत्या

Khulasaविदित हो कि मंगलवार पांच दिसंबर की शाम को करीब 7.45 बजे सर्राफ रमेश रस्तोगी को झनकट क्षेत्र में गोली मारी गयी थी। बाद में उपचार के दौरान उनकी बहेड़ी स्थित श्रीराम मूर्ति स्मारक अस्पताल में मौत हो गयी थी। उधमसिंह नगर के एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बुधवार को प्रेस वार्ता कर बताया कि एक मिनट से भी कम समय में अपराधी इस वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए थे।

इस मामले के खुलासे (Khulasa) के लिये पुलिस की सात टीमों का गठन किया गया था। पुलिस की एक टीम इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने में लगी हुई थी। इस दौरान सीसीटीवी कैमरे में दिखा कि आराधना ज्वैलर्स के मालिक रमेश रस्तोगी की दुकान में दो नकाबपोश घुसे और एक बाहर खड़ा रहा है।

दुकान में अंदर घुसे दोनों आरोपितों ने रमेश रस्तोगी पर ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद तीन आरोपित मौके पर फरार हो गए। तीनों के नकाबपोश होने के कारण पुलिस को कुछ ज्यादा मदद नहीं मिल पाई, लेकिन पुलिस की टीम ने आगे उनके फरार होने के रास्ते के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले, इनके आधार पर पुलिस आरोपितों तक पहुंच पाई।

एसएसपी ने बताया कि रमेश रस्तोगी के हत्या के आरोप में तीन आरोपित सुरेन्द्र सिंह उर्फ सुख्खा, विक्रमजीत सिह और लखविंदर सिंह निवासी खटीमा को सुलाइया गांव से गिरफ्तार किया। पूछताछ में मुख्य आरोपित सुरेंद्र सिंह उर्फ सुख्खा ने बताया कि उसने अंगुठी बनाने के लिए रमेश रस्तोगी को 20 हजार रुपए दिए थे, लेकिन रमेश रस्तोगी ने न तो अंगूठी बनाई न ही उसके पैसे वापस किए।

इस बात पर दोनों के बीच पहले गाली-गलौच हो चुकी है, तभी से दोनों के बीच रंजिश चल रही थी। मंगलवार देर शाम को सुरेन्द्र सिंह अपने भतीजे लखविंदर के साथ रमेश रस्तोगी की दुकान पर पहुंचा और उसे गोली मार दी।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Khulasa : हल्द्वानी में भी यूपी जैसी वारदात, 28 वर्षीय मौसेरे भाई ने पत्नी से संबंधों और अपने पिता-भाई की हत्या के शक में की थी हत्या

-बदले की भावना व शक बना हत्या का कारण, धारदार हथियार से की थी हत्या
नवीन समाचार, हल्द्वानी, 4 दिसंबर 2023 (Khulasa)। हल्द्वानी पूरे पहाड़ के साथ यूपी के सीमावर्ती क्षेत्रों सहित देश भर की संस्कृतियों का पसंदीदा स्थल बनने के साथ अब तक पहाड़ में न सुनाई देने वाले बाहरी अपराधों का भी गढ़ बनता जा रहा है।

शहर में बीती 26 नवंबर को गणेश कत्था फैक्ट्री रामपुर रोड़ टीपीनगर के पास ठेली लगाकर व्यवसाय करने वाले सुमेर कश्यप निवासी पीलीभीत के 30 वर्षीय पुत्र अमित कश्यप की अज्ञात द्वारा धारदार हथियार से मुंह व सर पर कई वार करके हत्या कर दी गयी है। इस सम्बन्ध में पुलिस ने तहरीर के आधार पर 28 नवंबर को कोतवाली हल्द्वानी में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत अज्ञात के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किया था।

सोमवार को सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा (Khulasa) करते हुये बताया गया कि पुलिस की कई टीमें इस घटना के खुलासे के लिये लगायी गयी थीं। गठित पुलिस टीमों ने घटनास्थल व शहर के सीसीटीवी कैमरो का अवलोकन व मृतक के पारिवारिक पृष्ठभूमि की जांच प्रारम्भ की और घटना को अंजाम देने के आरोप में

28 वर्षीय अरुण कश्यप पुत्र गोपाल कश्यप मूल निवासी निवासी पीलीभीत उत्तर प्रदेश वर्तमान निवासी देवबंधु बिहार कत्था फैक्टी रामपुर रोड हल्द्वानी को ग्राम डी क्लास तल्ली हल्द्वानी स्थित हनुमान मंदिर के पास से गिरफ्तार कर लिया है। उसकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त पाटल को भी बरामद किया गया है।

पुलिस के अनुसार मृतक अमित कश्यप व उसके पिता सुमेर अभियुक्त हत्यारोपित अरुण कश्यप के मौसेरे भाई व मौसा हैं तथा आरोपित की पत्नी मृतक अमित की सगी साली है। अरुण अपने पिता के लापता होने व भाई की इसी वर्ष 26 अक्टूबर को पीलीभीत में तालाब में शव मिलने की घटना के लिये अपने मौसा के परिवार को जिम्मेदार मानता है साथ ही अपनी पत्नी का अपने जीजा के घर आने-जाने के कारण भी शक करता है। उसके मन में अपनी हत्या किये जाने का भी डर बना हुआ था।

इन कारणों से वह 26 नवंबर को योजना बनाकर मंगलपड़ाव बाजार से पाटल खरीद कर लाया और अंधेरे का फायदा उठाकर उसने पीछे से आकर ठेली पर बैठे अपने मौसेरे भाई अमित की पाटल से वार करकर निर्मम हत्या कर दीएवं फरार हो गया।

इस सनसनीखेज वारदात को अन्जाम देने वाले आरोपित को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को एसएसपी ने उत्साहवर्धन हेतु 2,500 रुपये नगद ईनाम से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है। पुलिस टीम में हल्द्वानी कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक हरेंद्र चौधरी, एसएसआई महेन्द्र प्रसाद, उप निरीक्षक सुशील जोशी, विजय मेहता, जगदीप नेगी, नरेन्द्र कुमार, त्रिभुवन सिंह व बबीता के साथ आरक्षी तारा सिंह, नवीन राणा, बंशीधर जोशी व घनश्याम रौतेला तथा वरिष्ठ आरक्षी इसरार नबी, राजेश सिंह व अनिल टम्टा शामिल रहे।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : (Khulasa) आपस में लिपटे मिले थे महिला-पुरुष के शव, हुआ चौंकाने वाला खुलासा…

नवीन समाचार, देहरादून, 30 नवंबर 2023 (Khulasa)। गत 26 नवंबर को देहरादून के वसंत विहार में आपस में संबंध रहित एक महिला और एक पुरुष के शव नाले में आपस में लिपटे हुयी अवस्था में मिले थे। महिला-पुरुष के आपस में कोई संबंध न होते हुये भी आपस में लिपटी अवस्था में शव मिलने से सनसनी फैल गयी थी। साथ ही शुरुआत में तरह तरह के कयास लगाए जा रहे थे। अब पुलिस ने इस मामले का कुछ और ही चौंकाने वाला खुलासा (Khulasa) किया है।

पुलिस के अनुसार दोनों की मौत दुर्घटनाओं में हुई थी। दुर्घटना करने वाला एक दूधिया था। उसके वाहन की हेड लाइट खराब होने की वजह से दोनों की दुर्घटना में मौत हुई थी। अलबत्ता दूधिये ने दुर्घटना से डरकर दोनों के शवों को एक जगह नाले में डाल दिया था।

उल्लेखनीय है 26 दिसंबर को दारू चौक के पास नाले में मिले मृतकों की पहचान 40 वर्षीय संदीप मोहन धस्माना पुत्र मदन मोहन धस्माना निवासी अंबीवाला थाना वसंत विहार व 37 वर्षीय हेमलता पत्नी सुनील निवासी पीताम्बरपुर थाना वसंत विहार उम्र करीब 37 वर्ष के रूप में हुई। इसके बाद पुलिस ने दोनों के घरों के आसपास के सीसीटीवी फुटेज और मृतकों के बारे में जानकारियां जुटाना शुरू की तो कई तरह के सुराग पुलिस के हाथ लगे।

खासबर सीसीटीवी फुटेज का अध्ययन करने पर पता चला कि हेमलता 26 नवंबर को सुबह लगभग 5.18 बजे रोज की तरह घर से काम करने के लिए निकली थी। साथ ही संदीप मोहन धस्माना रोज की तरह सुबह 4.48 बजे सामान्य रूप से घूमने निकले थे। वहीं चिकित्सकों के पैनल द्वारा कराये गये पोस्टमॉर्टम से पता चला कि दोनों की मृत्यु किसी भारी चीज से टकराने के कारण आई आंतरिक सिर व अन्य चोटों के कारण हुई। इससे स्पष्ट हुआ कि दोनों की मौत किसी दुर्घटना से हुई।

घटना के सम्बन्ध में मृतकों के परिजनों द्वारा भी किसी पर कोई शक अथवा किसी से कोई रंजिश भी नहीं बतायी। दोनों के बीच कोई आपसी संबंध भी नहीं निकला। इस मामले में पुलिस द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर अज्ञात वाहन चालक के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किया गया। आगे लगभग 150 सीसीटीवी कैमरों को चेक करने और लगभग 200 लोगों से पूछताछ करने के बाद शाहरुख नाम का एक दूधिया पुलिस की रडार पर आया। उसकी गाडी का नंबर यूके07सीडी-0554 था।

पहले टालते रहने के बाद आखिर कड़ी पूछताछ में उसने बताया कि उसका नाम शाहरुख पुत्र सईद अहमद निवासी ग्राम रसूलपुर बेहट रोड थाना कोतवाली देहात सहारनपुर है। उसने बताया कि 26 नवंबर के दिन वसंत विहार क्षेत्र में दूध बांटते समय सुबह 5.30 बजे के लगभग दारू चौक से परवल सड़क मार्ग की ओर जाते समय सड़क पर चल रही एक महिला व एक पुरुष उसके वाहन की बाई ओर की हेडलाइट खराब होने के कारण उसे दिखाई नहीं दिये और वाहन की चपेट में आ गये।

टक्कर लगने के कारण महिला सड़क किनारे नहर में और दूसरा व्यक्ति सड़क के किनारे गिर गया। इस पर उसने पकड़े जाने के डर से सड़क किनारे पड़े उस व्यक्ति को भी सड़क से खींचकर नहर में महिला के पास फेंक दिया और खुद वहां से फरार हो गया। पुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 65 वर्षीय वृद्ध महिला की हत्या का पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा (Khulasa) 

-शराब पीने की आदत के कारण महिला ने अपने घर से निकाला था आरोपित को
नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 28 नवंबर 2023। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जनपद के सीमांत जाजरदेवल थाना क्षेत्र में गत दिवस दिल्ली से दीपावली पर अपने पुश्तैनी घर आई 65 वर्षीय बुजुर्ग महिला की हत्या कर दी गयी थी। पुलिस ने इस मामले का सनसनीखेज खुलासा 
(Khulasa) करते हुय बताया है कि हत्यारा उनका ही किराएदार था।

मामले का खुलासा (Khulasa) करते हुए पुलिस ने बताया कि एक माह पूर्व ही महिला ने आरोपित व्यक्ति को शराब पीने की आदत के कारण कमरे से निकाल दिया था। बदला लेने के इरादे से उसने रात में घर में घुस कर महिला को मौत के घाट उतार दिया।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार पिथौरागढ़ नगर से दस किमी दूर वड्डा में बीते शनिवार को अपने घर के भीतर बिस्तर में मृत अवस्था में मिली माधवी देवी (65) पत्नी स्वर्गीय रमेश चंद्र चिलकोटी के हत्या के आरोप में पुलिस ने नेपाल निवासी रुपिन्द्र को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार रुपिंद्र पूर्व में माधवी देवी के घर में एक किराएदार के तौर पर रहता था।

शराब पीने की आदत के कारण उसके और महिला के बीच कहासुनी हुई थी। इसके बाद महिला ने उससे कमरा छोड़ने के लिए कहा। वह कमरा खाली कर कहीं और शिफ्ट हो गया, लेकिन कमरे से निकाले जाने से रुपिंद्र बेहद नाराज था। बीते शनिवार रात वह शराब के  नशे में कुंडा तोड़कर कमरे में घुसा और बिस्तर में सोई महिला की तकिए से दम घोटकर जान ले ली और कमरे से कुछ नगदी लेकर फरार हो गया।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल के छात्र की हत्या का खुलासा (Khulasa), स्मैक, शराब व डौरेक्स का नशा करने के बाद की गयी हत्या….

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 22 नवंबर 2023। नैनीताल स्थित डॉ. राजेन्द्र प्रसाद विधि कॉलेज में एलएलबी चतुर्थ सेमेस्टर के छात्र पार्थ सिंह सामंत पुत्र राजेन्द्र सिंह सामंत की हल्द्वानी के थाना मुखानी में हुई हत्या का खुलासा (Khulasa) हो गया है। बीते दिनों हल्द्वानी में उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। उसकी लाश 1 नवंबर 2023 को उसी की कार में संदिग्ध अवस्था में मिली थी।

पुलिस ने इस हत्याकांड के आरोपित युवक को गिरफ्तार कर लिया है। बताया गया है कि मैगी खाने को लेकर हुए विवाद के बाद एलएलबी के छात्र पार्थ की हत्या की गयी। मामले में यह बात भी पता चला है कि हत्या कांड में शामिल सभी लोग शराब, स्मैक व डौरेक्स (मेडिकल नशा) आदि का नशा करते थे।

एसपी सिटी हरबंस सिंह ने आज इसका खुलासा (Khulasa) करते हुये बताया कि घटना की सूचना मिलते ही जनपद के एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा कड़े निर्देशों पर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की कई टीमों का गठन किया गया। टीमों ने घटना स्थल के आस-पास के लगभग 120 से 150 सीसीटीवी कैमरों को चेक किया।

इनमें 1 नवंबर 2023 की सुबह करीब 3.15 बजे मृतक पार्थ की कार से पार्थ के अलावा उसका दोस्त मंयक व अभियुक्त कमल रावत आते दिखाई दिये और थोडी देर बाद करीब 3.22 बजे मयंक कन्याल भी घटना स्थल से अपने घर जाता तथा मृतक पार्थ के साथ अंतिम समय तक आरोपित कमल रावत उर्फ भदुवा मौजूद दिखा।

मयंक कन्याल के पूछताछ करने पर पता चला कि कमल रावत अंत तक पार्थ के साथ था व उसके द्वारा पार्थ राज सिंह सामन्त की हत्या की गयी है जो कि फरार चल रहा था। उसे 21 नवंबर 2023 को देर शाम भाखडा पुल के पास से मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर लिया है।

पूछताछ में आरोपित कमल रावत ने बताया कि वह यानी कमल रावत व पार्थ राज सिंह सामन्त, सिद्धार्थ व मंयक कन्याल दोस्त थे व सभी लोग शराब, स्मैक व डौरेक्स नाम मेडिकल नशा करते थे। 31 नवंबर 2023 की शाम को कमल, मयंक कन्याल, सिद्धार्थ व पार्थ राज सिंह एक साथ थे व उसके बाद वह पार्थ राज सिंह सामन्त का फोन लेने तिकोनिया हल्द्वानी गये। उसके बाद उन्होंने कई जगहों पर स्मैक, शराब व डौरेक्स का नशा किया।

फिर सिद्धार्थ उर्फ सैमुअल उर्फ सिद्धू को उसकी मोटर साइकिल के पास छोड दिया। वह अपने घर चला गया। उसके बाद कमल रावत, मयंक कन्याल व पार्थ राज को भूख लगी तो तीनों पार्थ की कार से रोडवेज पहुँचे। वहां की दुकाने बंद होने के कारण मुखानी चौराहे पर पहुँच कर चाय की दुकान में बंद अंडा, मैगी व लस्सी पी। जब पार्थ के लिये मैगी आयी तो मजाक में कमल ने उसकी मैगी में स्पंज डाल दिया जिससे पार्थ कमल को गाली देने लगा तथा।

इस दौरान नशे में कमल के हाथ से उसकी कार में लस्सी गिर गयी तो पार्थ ने कमल से कहा, साले दिखाई नही दे रहा है यह क्या कर दिया ? इसके बाद पार्थ ने कमल की मैगी खायी व कमल ने स्पंज रखी वाली मैगी खायी। इसके बाद तीनों कार से आरके टैंट हाउस वाली गली मे वृन्दावन विहार खाली प्लाट मे पहुँचे जहाँ मयंक ने पार्थ को स्मैक की पुडिया दी और पार्थ ने उसे 500 रुपये दिये। मयंक ने पार्थ को स्मैक पिलाई उसके बाद मयंक सुबह ड्यूटी जाने की बात कह कर घर चला गया।

उसके जाने के बाद पार्थ ने कमल को गंदी-गंदी गालियां देते हुये पूछने लगा कि कि उसे कहां छोडना है। कमल ने पार्थ से गाली न देने को कहा, लेकिन पार्थ नशे में चुप नही हो रहा था और लगातार माँ-बहन की गाँलिया देते जा रहा था।

इस पर कमल को गुस्सा आ गया और उसने पार्थ का मुँह चुप कराने के लिये उसके नाक व मुँह को अपने हाथ से बंद कर दिया। कमल के अनुसार इसके बाद भी वह लगातार गाली दे रहा था। इस पर कमल का गुस्सा बढ़ गया और उसने हाथ से उसका गला भी दबा दिया, जिससे वह शांत हो गया।

कमल ने कहा, मुझे लगा कि पार्थ नशे के कारण बेहोश हो गया या सो गया है। फिर कमल ने उसकी ड्राइविंग सीट को पूरा पीछे लिटाया और पार्थ के दोनों हाथ पकड कर ड्राइविंग सीट पर लिटा दिया व कमल ने फिर से स्मैक पी। इससे उसे बहुत नशा हो गया और वह गाडी की अगली सीट पर सो गया। सुबह जब धूप उसकी आँखो पर पडी तब वह उठा तो उसने पार्थ को काफी हिलाकर उठाया, लेकिन पार्थ ने कोई हरकत नहीं की।

कमल ने बताया, मुझे घबराहट होने लगी। मुझे समझ नही आ रहा था। मुझे पसीना आने लगा। मैंने अपने कपडे बदले और मौका देखकर पार्थ का फोन कार में ही छोडकर व कार के शीशे बंद कर अपने कपड़े लेकर वहां से चला गया। पार्थ की दोस्त आकांक्षा व मयंक का फोन आने पर मैंने पार्थ के साथ हुयी घटना को छुपाते हुये कहा कि पार्थ ने मुझे घर छोड दिया था और चला गया था।

दो-तीन दिन बाद मुझे पता चला की पार्थ की मौत नशे के ओवर डोज से हुयी है तो मैं निश्चिन्त हो गया, पर जब मुझे पता चला कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पार्थ की हत्या होना आया है तो मैं डर गया और कल हरिद्वार भागने की फिराक में था। मैं पहले भी हरिद्वार में रह चुका हूँ, पर मुझे पता था कि पुलिस मुझे तलाश कर रही है इस लिये मै अलग अलग साधनो मे भाखडा पहुँचा था, जहां मुझे पुलिस ने पकड़ लिया।

एसपी हरबंस सिंह ने बताया कि आरोपित 22 वर्षीय कमल रावत उर्फ माईकल उर्फ भदुआ पुत्र विजय रावत निवासी धान मिल चौराहा बैंक ऑफ बडौदा के पीछे थाना हल्द्वानी को आज ही न्यायालय में पेश किया जायेगा। पुलिस टीम में निरीक्षक हरेन्द्र चौधरी प्रभारी निरीक्षक हल्द्वानी व थानाध्यक्ष मुखानी उपनिरीक्षक प्रमोद पाठक व अन्य शामिल रहे।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Khulasa : दूसरे धर्म के युवक से किया था प्रेम विवाह, छोड़कर दूसरे के साथ रहने लगी, अक्सर लड़ती थी, इसलिये कर दी गयी हत्या…

नवीन समाचार, हरिद्वार, 15 नवंबर 2023 (Khulasa)। उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में बीते दिनों करीब 30-32 वर्षीय एक अज्ञात महिला की लाश मिली थी। पुलिस ने इस मामले का सनसनीखेज खुलासा (Khulasa) कर दिया है। पुलिस के अनुसार महिला की हत्या उससे प्रेम विवाह करने वाले दूसरे धर्म के पति ने की थी।

आरोपित के अनुसार महिला उसे छोड़कर दूसरे युवक के साथ रहने लगी थी, और वापस लाने पर भी अक्सर लड़ती रहती थी। इसलिये उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने मृतका के पति को गिरफ्तार भी कर लिया है। मामले का खुलासा (Khulasa) करने वाली टीम को एसएसपी की ओर से ₹5 हजार और आईजी गढ़वाल द्वारा ₹10 हजार के इनाम की घोषणा की गई है।

विदित हो कि हरिद्वार के श्यामपुर थाना क्षेत्र में चंडी देवी मंदिर जाने वाले पैदल मार्ग से सटे जंगल में एक सप्ताह पहले जंगल में एक महिला की लाश मिली थी। गुरुवार शाम हरिद्वार के एसएसपी परमेंद्र सिंह डोभाल ने मामले का खुलासा (Khulasa) करते हुये बताया कि घटना स्थल पर ऐसा कुछ नहीं मिला था, जिसके आधार पर महिला की शिनाख्त की जा सके।

जिस इलाके में महिला की लाश की मिली थी, वहां आसपास और मुख्य सड़क पर कोई सीसीटीवी कैमरा भी नहीं था। ऐसे में पुलिस के सामने इस मामले का खुलासा (Khulasa) करना बड़ी चुनौती बन गया था। महिला की शिनाख्त और मामले के खुलासे के लिए पुलिस की कई टीमें गठित की गई थीं।

ऐसे में पुलिस को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला कि महिला की हत्या गला घोंटकर की गई है। इसके बाद पुलिस ने हत्या के संभावित समय के हिसाब से सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली तो पता चला कि जिस महिला की हत्या हुई थी उसके हुलिए से मिलती-जुलती महिला एक पुरुष के साथ चंडी घाट, हरकी पैड़ी, मंसा देवी मार्ग व अपर रोड पर घूमती हुई दिखी, लेकिन कुछ देर बाद पुरुष पैदल और फिर ऑटो में जाता हुआ दिखाई दिया।

इसके बाद पुलिस ने उस रूट के ऑटो चालकों से पूछताछ की। जिसके बाद पुलिस का जानकारी मिली कि आरोपित परमानंद विहार कॉलोनी की तरफ देखा गया है। इसके बाद पुलिस कमरा किराए पर लेने के बहाने घर-घर गई और डोर-टू-डोर चेकिंग की। इस तरह पुलिस को संदिग्ध आरोपित अजय निवासी बदांयू यूपी के बारे में जानकारी मिली।

इसके बाद पुलिस की एक टीम को बदायूं भी भेजा, लेकिन वहां भी पुलिस को कोई कामयाबी नहीं मिली। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि आरोपित सिड़कुल क्षेत्र हरिद्वार में है, जिसके बाद पुलिस ने आरोपित को दबोच लिया।

आरोपित अजय ने पुलिस को बताया कि उसने प्रेम संबंधों के बाद गैर समुदाय की युवती से शादी की थी। दोनों बदायूं में ही रह रहे थे, लेकिन इसी बीच उसकी पत्नी रिश्तेदारी में जाने का बहाना बनाकर गायब हो गई। अजय तभी से अपनी पत्नी की तलाश कर रहा था, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल पाया था।

इस दौरान अजय भी जब रोजगार के लिए हरिद्वार लौटा तो उसे दोस्तों से पता कि उसकी पत्नी किसी लड़के के साथ रह रही है। इसके बाद अजय अपनी पत्नी को मनाकर दोबारा से अपने पास ले आया और हरिद्वार में ही किराए के मकान में रहना लगा।

पुलिस का कहना है कि इसके बाद दोनों के बीच अक्सर किसी न किसी बात पर बहस होती रहती थी। आखिर में घरेलू झगड़ों से तंग आकर अजय ने पत्नी को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। 8 नवंबर को अजय पत्नी को मंदिर घुमाने के बहाने हरिद्वार लाया और हरकी पैड़ी से होते हुए पैदल-पैदल चंडी देवी मंदिर के लिए लेकर गया।

अजय बहाना बनाकर अपनी पत्नी को जंगल ले गया, जहां पहले उसने चाकू से पत्नी पर वार करने का प्रयास किया। उसमें वो कामयाब नहीं हो पाया और उसका चाकू साइड में गिर गया। इसके बाद अजय ने अपनी पत्नी की गला घोंटकर हत्या कर दी। इस वारदात के बाद अजय ने अपना मोबाइल बंद कर लिया था।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल Khulasa : इरम हत्याकांड: बिसरा रिपोर्ट में जहर की पुष्टि होने के बाद दूसरा शौहर गिरफ्तार

-नैनीताल के होटल में लाकर की गई थी मुरादाबाद की महिला की हत्या
नवीन समाचार, नैनीताल, 20 अगस्त 2023
(Khulasa)। नगर में गत 1 अगस्त को हुए महिला इरम खाम हत्याकांड का तल्लीताल पुलिस ने 20 दिन बाद खुलासा (Khulasa) कर दिया है। अलबत्ता, खुलासा (Khulasa) वही किया गया है, जिसकी पहले से उम्मीद की जा रही थी। पुलिस के अनुसार महिला की हत्या उससे दुष्कर्म करने के बाद कानूनी कार्रवाई से बचने के लिए पहली पत्नी होते हुए उससे निकाह करने वाले और बाद में अलग रहने वाले शौहर ने ही जहर देकर की थी।

giraftar Khulasa
नैनीताल पुलिस की गिरफ्त में आरोपित।

(Khulasa) अलबत्ता मृतका की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हत्या का स्पष्ट कारण पता नहीं चला था, लेकिन पुलिस के अनुसार मृतका की बिसरा रिपोर्ट में उसे नैनीताल साथ लेकर आए शौहर द्वारा उसे सामान्ययता सल्फास नाम की कीटनाशक दवा में पाये जाने वाले एल्युमीनियम फॉस्फाइड नाम का जहर देकर किए जाने की पुष्टि हुई है।

(Khulasa) जहर देने के बाद मृतका द्वारा की गई उल्टी व उसका मोबाइल आरोपित ने छुपा दिया था। पुलिस ने बिसरा रिपोर्ट में जहर की पुष्टि होने के बाद मृतका के दूसरे शौहर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Follow up
मृतका इरम खान

(Khulasa) उल्लेखनीय है कि गत 1 अगस्त 2023 को पर्यटन नगरी नैनीताल के एक प्रतिष्ठित होटल के कमरे में एक महिला पर्यटक का शव बरामद हुआ। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची थाना तल्लीताल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच प्रारंभ की तो ज्ञात हुआ कि महिला पर्यटक एक अन्य युवक के साथ घटना से एक दिन पूर्व 31 जुलाई से इस होटल में रुकी हुई थी, परंतु युवक मौके से फरार हो गया है।

(Khulasa) इस पर पुलिस ने मृतक महिला के परिजनों को सूचित किया तो 2 अगस्त को मृतका की बहन फरहीन वारसी पुत्री रिजवान उल हक निवासी लाल नगरी पंजाब नैशनल बैंक के पास मुरादाबाद उत्तर प्रदेश के द्वारा थाना तल्लीताल में तहरीर दी गयी कि मौ. गुलजार पुत्र मौ. सद्दीक निवासी करुला रहमत नगर गली नं. 4 नजदीक गुलामे रसूल मस्जिद थाना कटघर जिला मुरादाबाद व उसके सहयोगियों नेहा, सिमरन व सिमरन की मां आसमां के द्वारा उसकी बहन का अपहरण किया गया व 31 जुलाई को नैनीताल लाकर उसकी हत्या कर दी गयी है।

(Khulasa) तहरीर के आधार पर जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेशों एवं एसपी अपराध व यातायात नैनीताल डॉ. जगदीश चंद्र के दिशा-निर्देशन व नगर क्षेत्राधिकारी विभा दीक्षित के कुशल पर्यवेक्षण में तल्लीताल के थानाध्यक्ष रोहतास सिंह सागर ने विवेचना प्रारंभ की।

(Khulasa) विवेचना के दौरान होटल के सीसीटीवी कैमरों को चेक किया गया व अभियोग से सम्बन्धित सभी संदिग्ध व्यक्तियो के कॉल डिटेल लेकर तथा सभी साक्ष्य एकत्रित कर मृतका का विसरा परीक्षण आरएफएसएल रुद्रपुर में कराया, जिसमें जहर की पुष्टि हुई है।

(Khulasa) विवेचना में यह तथ्य भी प्रकाश में आये कि आरोपित मौ. गुलजार के विरुद्ध इरम खान की मार्च 2023 में दी गई तहरीर पर थाना मुगलपुरा मुरादाबाद में दुष्कर्म करने एवं अश्लील फोटो-वीडियो वायरल के आरोप में भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 377, 313, 504, 506 भादवि व आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया था।

(Khulasa) मामले में विवेचना के बाद भादंसं की धारा 504 व 506 यानी जान से मारने के प्रयास व जान से मारने की धमकी देने की धाराएं भी जोड़कर न्यायालय में आरोप पत्र प्रेषित किया जा चुका है। इसके बाद से इरम खान आरोपित मौ. गुलजार से अलग अपने घर पर रह रही थी और आरोपित मृतका पर मुकदमा वापस लेने का दबाव डाल रहा था।

(Khulasa) इसी कारण से आरोपित गुलजार इरम खान को नैनीताल लेकर आया तथा नगर के एक प्रतिष्ठित होटल में ठहराकर रात्रि में जहर देकर उसकी हत्या कर दी तथा उसके मोबाइल व जहर देने के पश्चात उसके द्वारा की गई उल्टियां व अन्य साक्ष्यों को मिटा दिया तथा होटल से इरम को मृत अवस्था में छोड़कर होटल के कमरे का बंद कर भाग गया।

(Khulasa) विवेचना में मृतका इरम खान का आरोपित गुलजार से निकाह किया जाना व उसकी दूसरी पत्नी होना पाया गया तथा अभियोग में साक्ष्यों के आधार पर पूर्व में दर्ज भादंसं की धारा 304 यानी गैर इरादतन हत्या के बाद अब धारा 302 व 201 को भी जोड़ दिया गया है।

(Khulasa) साथ ही पुलिस ने एकत्रित किए गए संपूर्ण साक्ष्यो के आधार पर आरोपित गुलजार को शनिवार 19 अगस्त को भादंसं की धारा 302 व 201 के तहत गिरफ्तार किया गया तथा इसके बाद उसे न्यायालय में प्रस्तुत कर जेल भेज दिया गया है।

(डॉ. नवीन जोशी)आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Khulasa : सीएम व नेता प्रतिपक्ष आवास के पास बेहोशी की अवस्था में महिला से दुष्कर्म किया गया और दुष्कर्म का विरोध करने पर हत्या की गई

नवीन समाचार, देहरादून, 1 अगस्त 2023। (Khulasa)। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में सोमवार को न्यू कैंट रोड पर मुख्यमंत्री आवास से मात्र 1 किलोमीटर की दूरी पर कैबिनेट मंत्री और नेता प्रतिपक्ष के सरकारी आवास से कुछ ही दूरी पर सर्वे ऑफ इंडिया के गेट के सामने एक कूड़ेदान के पास एक महिला का शव मिला था। पूर्व समाचार : मुख्यमंत्री आवास के पास 35 वर्षीय महिला का शव मिलने से हड़कंप, महिला के साथ बर्बरता-दुष्कर्म के बाद हत्या किए जाने की भी जताई जा रही संभावना

अब इस मामले में पुलिस ने खुलासा (Khulasa) करते हुए दावा किया है कि महिला से शराब को पिलाने के बाद मारपीट में बेहोशी की अवस्था में दुष्कर्म किया गया और इसके बाद दुष्कर्म का विरोध करने पर सिर और चेहरे पर सिलेंडर से हमला कर महिला की हत्या कर दी गई। पुलिस ने हत्यारोपित को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन अभी महिला की शिनाख्त नहीं हो सकी है।

(Khulasa) एसपी सिटी सरिता डोभाल ने बताया कि सोमवार तड़के चार बजे कंट्रोल रूम को सर्वे ऑफ इंडिया गेट के सामने कूड़ेदान के बाहर शव पड़े होने की सूचना मिली। महिला के चेहरे और सिर पर चोट के निशान थे। शहर कोतवाली और डालनवाला पुलिस ने शव को दून अस्पताल भिजवाया। सीओ डालनवाला अभिनय चौधरी ने बताया कि घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए।

(Khulasa) सीसीटीवी फुटेज में सोमवार तड़के करीब तीन बजे एक युवक कूड़ेदान के पास शव को खींचकर ले जाता दिखाई दिया। इसका हुलिया सर्वे ऑफ इंडिया के पास बने सुलभ शौचालय के कर्मचारी से मिल रहा था, जो वहां पास ही एक मॉल में भी काम करता है। वह टीन शेड में रह रहा था।

(Khulasa) पुलिस उसकी तलाश में मौके पर पहुंची तो टीन शेड के अंदर खून के निशान मिले। मौके से 36 वर्षीय राजेश कुमार पुत्र मुन्नू निवासी बाडीघाट राजपुर को पकड़कर पूछताछ की गई। उसने हत्या व दुष्कर्म की बात कबूल कर ली है।

(Khulasa) आरोपित ने बताया कि उसने रविवार रात शराब पी थी। इस दौरान रात करीब साढ़े नौ बजे न्यू कैंट रोड पर उसे एक महिला घूमती दिखी थी, जिसने उससे खाना मांगने के साथ शराब पिलाने को कहा था। इस पर वह महिला को अपने टीन शेड में लेकर गया।

(Khulasa) वहां उसने पहले उसे शराब पिलाई, फिर दुष्कर्म की कोशिश की। महिला ने विरोध किया और होंठ पर काट दिया। इससे भड़के आरोपित ने महिला को धक्का देकर दीवार पर पटका। महिला के बेहोश होने पर उसके साथ बेहोशी की अवस्था में दुष्कर्म किया।

(Khulasa) इसके बाद होश में आई महिला ने फिर विरोध किया तो आरोपित ने छोटा गैस सिलेंडर उठाया और उससे महिला के सिर और चेहरे पर हमला कर दिया। जब महिला की मौत हो गई तो तड़के करीब तीन बजे वह शव को घसीटकर टीन शेड से करीब बीस मीटर दूर कूड़ेदान के पास ले गया। यहां शव फेंक कर सोने चला गया।

(Khulasa) डालनवाला पुलिस के अनुसार, मृतक महिला अक्सर न्यू कैंट रोड पर घूमती दिखाई देती थी। शव की शिनाख्त की कोशिश की जा रही है। फिलहाल पुलिस ने पंचनामा भरकर शव मोर्चरी में रखवा दिया। शिनाख्त नहीं होने पर 72 घंटे बाद पोस्टमार्टम कराया जाएगा। महिला की उम्र करीब 35 साल बताई जा रही है।

(डॉ. नवीन जोशी)आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Khulasa : उत्तराखंड के 1 मंत्री के भाई के घर हुई डकैती का सामान-जेवरात कब्रस्तान से बरामद

नवीन समाचार, डोईवाला, 29 जुलाई 2023। प्रदेश के शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल के चचेरे भाई के घर से डकैतीमें लूटा गया सोना (Khulasa) मेरठ के सरधना स्थित एक कब्रिस्तान से पुलिस ने आरोपित की निशानदेही पर बरामद कर लिया गया है। यह कब्रिस्तान आरोपित के घर से लगभग एक किलोमीटर की दूरी पर है।

(Khulasa) कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक मुकेश त्यागी ने बताया कि 15 अक्टूबर 2022 को डोईवाला स्थित व्यापारी शीशपाल अग्रवाल के घर में दिनदहाड़े डकैती हुई थी। जिसमें मुजफ्फनगर निवासी आठ अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

(Khulasa) डकैती में शामिल अन्य दो आरोपितों की तलाश में पुलिस संभावित स्थानों पर लगातार दबिश दे रही थी। इसमें से एक आरोपित नफीस उर्फ सपाटा ने 16 जून को मुजफ्फरनगर स्थित न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था।

(Khulasa) आरोपित के आत्मसमर्पण के पश्चात 27 जुलाई को न्यायालय से आरोपित की 24 घंटे की पुलिस कस्टडी रिमांड ली गई। जिसके पश्चात नफीस ने मेरठ के सरधना के पास अपने पुराने घर से एक किलोमीटर दूर कब्रिस्तान से डकैती का माल बरामद कराया।

(Khulasa) जिसमें सोने के आभूषण भी शामिल हैं। माल बरामद होने के पश्चात आरोपित को जिला कारागार मुजफ्फरनगर में भेज दिया गया है। फरार आरोपित परेवज निवासी मुजफ्फरनगर की तलाश की जा रही है।

(डॉ. नवीन जोशी)आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ‘नवाब’ निकला नैनीताल में पहली बार पेट्रोल पंप में हुई चोरी करने वाला, पुलिस ने 15 घंटे में किया खुलासा (Khulasa)

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 जुलाई 2023। (Khulasa) बीती रात्रि नैनीताल के तल्लीताल स्थित पेट्रोल पंप में चोरी की घटना को अंजाम देने वाला व्यक्ति पकड़ लिया गया है। उसकी पहचान तल्लीताल बूचड़खाना निवासी 24 वर्षीय नवाब उर्फ बेबी पुत्र मौ. यासीन के रूप में हुई है।

(Khulasa) तल्लीताल पुलिस ने उसे घटना के मात्र 15 घंटों के अंतराल में मंगलवार शाम हनुमानगढी क्षेत्र से चोरी किये गये 75962 रुपयों के गिरफ्तार कर लिया। यह भी पढ़ें : नैनीताल में पहली बार पेट्रोल पम्प के ताले तोड़कर करीब 75 हजार की नगदी चोरी…
Policeman suspend, Khulasa(Khulasa) उल्लेखनीय है कि आज 25 जुलाई की सुबह फांसी गधेरा स्थित इंडियन ऑयल पेट्रोल पंप के स्वामी भारत भूषण साह ने थाना तल्लीताल में आकर तहरीर दी कि बीती रात्रि में किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनके पेट्रोल पंप के रिसेप्शन काउंटर को तोड़कर गल्ले से कुल 75962 रुपये चोरी कर लिए।

(Khulasa) प्राप्त तहरीर के आधार पर थाना तल्लीताल में अज्ञात के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 380, 457 व 411 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया। पुलिस को जांच में पता चला कि चोर स्मैक के नशे का आदी है और अपने नशे की लत को पूरा करने एवं बेफिजूल खर्च के लिए इस प्रकार चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया करता है। आज वह चोरी किए गए रुपयों से मोबाइल खरीदने हल्द्वानी जा रहा है।

(Khulasa) इस सूचना पर उसे हनुमानगढ़ी से पकड़ लिया गया और चोरी के रुपयों की बरामदगी होने पर अभियोग में धारा 411 की बढ़ोतरी की गई। उसे पकड़ने वाली पुलिस टीम में ज्योलीकोट चौकी प्रभरी नरेंद्र कुमार, अपर उप निरीक्षक संदीप नेगी, मुख्य आरक्षी शिवराज राणा तथा आरक्षी मब्बू मियां, राजेंद्र मेहरा, अमित कुमार व गोताखोर सुरेश थापा शामिल रहे।

(डॉ. नवीन जोशी)आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Khulasa : हल्द्वानी के अंकित हत्याकांड के खुलासे के साथ सामने आया हल्द्वानी का ‘काला शर्मनाक सच’, डॉली कई औरतों के साथ मिलकर करती थी ऐसा घृणित काम…

नवीन समाचार, नैनीताल, 23 जुलाई 2023। (Khulasa) गत 15 जुलाई को तीनपानी गोलापास गौला बाइपास रोड पर एक कार के अंदर संदिग्ध अवस्था में अंकित चौहान नाम के व्यवसायी का शव बरामद हुआ था। शनिवार को घटना के 8वें दिन पुलिस ने इस मामले का खुलासा (Khulasa) कर दिया है।

(Khulasa) यह तो पहले से ही सबको पता है कि अंकित की हत्या अब खुद का नाम बदलकर माही सिंह रखने वाली डॉली आर्या नाम की युवती ने अपने प्रेमी दीपू कांडपाल व नौकर-नौकरानी राम अवतार व उषा के साथ ही सपेरे रमेश नाथ से सांप से कटवाकर की थी। लेकिन इसके अलावा भी इस मामले में कई सनसनीखेज खुलाए हुए हैं, जो कि खासकर हल्द्वानी का एक बेहद डरावना व काला सच सामने लाने वाला है।

Mahi Dolly Arya Police Mahila Apradhi, Khulasa,(Khulasa) पकड़े जाने के बाद प्रेमपुर लोस्ज्ञानी में परिवार के साथ रहने वाली माही उर्फ डॉली आर्या ने पुलिस को बताया कि वह वर्ष 2008 में बचपन के प्रेमी द्वारा धोखे दिये जाने से आहत होकर घर छोड़कर अलग रहने लगी थी। इस दौरान वह हल्द्वानी में गलत धंधा करने वाली महिलाओं के सम्पर्क में आ गयी थी और उनके साथ उसने भी गलत काम करना शुरू कर दिया था।

(Khulasa) इस दौरान 2016 में दीप कांडपाल निवासी मोटाहल्दू से उसकी मुलाकात हुई। तब से दीप काण्डपाल उसका दोस्त बन गया और उसके घरेलू आदि कामों में मदद करने लगा। इस दौराने माही और दीप काण्डपाल के शारीरिक संबंध भी बन गये तथा वर्ष 2017 में माही द्वारा अर्जुनपुर में प्लॉट खरीदकर अपना मकान बनाया।

(Khulasa) वर्ष 2020 में हल्द्वानी के किसी जानने वाले की मदद से उसकी मुलाकात गाड़ी खरीदने को लेकर अंकित से हुई। इस बीच अंकित व माही की भी दोस्ती हो गयी। अंकित माही के घर आने-जाने लगा। वह हर शनिवार माही के घर में ही रहता था और दोनो आपस में पार्टी करते थे और दोनों साथ में शराब भी पीते थे।

(Khulasa) अंकित से दोस्ती होने के उपरान्त कुछ समय बाद अंकित माही को लेकर ज्यादा गंभीर होने लगा और वह छोटी-छोटी बात पर माही को टोकने लगा और माही के अन्य लोगों से बात करने व बाहर जाने पर रोक-टोक लगाने लगा। इस कारण माही अपने अन्य ग्राहकों के पास नहीं जा पा रही थी और उसके आय के स्रोत बंद होने लगे।

(Khulasa) इस बात को लेकर अंकित आये दिन माही के साथ शराब पीकर गाली-गलौच और मार पीट करने लगा। दोनों के बीच कई बार झगड़े हुए एवं कई बार अंकित द्वारा उसके घर में तोड़फोड़ भी की गयी।

(Khulasa) अंकित की एक अन्य लड़की से दोस्ती की बात को लेकर भी माही उससे नाराज रहने लगी और अंकित के व्यवहार से उसे पता चल गया था कि वह उससे शादी नहीं करेगा वह सिर्फ उसका उपयोग कर रहा है। इस कारण धीरे-धीरे माही के अंदर अंकित के प्रति द्वेश भवाना पनपने लगी तथा अंकित के व्यवहार को लेकर दीप काण्डपाल भी आपत्ति करने लगा था

(Khulasa) क्योंकि दीप काण्डपाल ज्यादातर माही के घर में ही रहता था और उसके संबंध माही से स्वच्छन्द नहीं बन पा रहे थे इस कारण उसने भी अंकित को रास्ते से हटाने के लिए माही से कहा। इस दौरान माही अपने पारिवारिक समस्याओं के चलते पूजा पाठ आदि विधि-विधानों में विश्वास करने लगी और अपने परिचित के माध्यम से रमेश नाथ सपेरे से उसकी मुलाकात हुई।

(Khulasa) वर्ष 2022 में माही ने सपेरे के माध्यम से अपने घर में कालसर्प दोष की पूजा की। इस दौरान सपेरा पूजा के लिए जंगल से साँप पकड़कर लाया था और पूजा का विधान पूरा कर साँप को जंगल में छोड़ दिया था। माही ने सपेरे रमेश नाथ से 6 महीने पहले दीक्षा ग्रहण की तब से सपेरे का उसके घर आना-जाना शुरू हो गया और माही के सपेरे से भी शारीरिक संबंध बन गये।

(Khulasa) एक साल पहले आदर्श नर्सरी के पास रहने वाली उषा देवी को माही ने अपने घर पर काम करने के लिए रखा था जिस कारण उषा देवी व उसके पति राम अवतार का भी माही के घर आना-जाना शुरू हो गया। अंकित द्वारा मारपीट किये जाने के कारण कभी-कभी माही रामअवतार की झोपड़ी में चली जाती थी और वही रुकती थी और कभी-कभी खाना खाने भी वहीं जाती थी।

(Khulasa) इस तरह माही की दीपू काण्डपाल, रमेश नाथ सपेरा, राम अवतार व उसकी पत्नी उषा देवी से गहरी घनिष्ठता हो गयी और ये लोग ही अंकित की हरकतों की वजह से उसको कई बार समझा चुके थे परन्तु अंकित का बदस्तूर आना-जाना रहा।

(Khulasa) इधर 24 जून को माही दीपू कांडपाल के साथ अपनी स्कूटी से अंकित के घर के पास पहुँच गयी और उसके परिजनों से उसकी शिकायत करने की बात कहने लगी। इस दौरान अंकित उन दोनों को लेकर माही के घर पर आ गया जहाँ उन लोगों के बीच बातें हुई परन्तु कुछ दिन बाद अंकित फिर से माही के घर में घुसकर गाली-गलौच मारपीट करने लगा।

(Khulasa) इस बीच माही व दीपू कांडपाल ने अंकित को रास्ते से हटाने की सहमति बनायी। उस दौराने सपेरा रमेश नाथ व रामअवतार व उसकी बीबी उषा भी घर पर थी। सपेरे ने उनको सुझाव दिया कि अंकित को साँप से कटवा दो जिससे कोई उन पर कोई शक नहीं करेगा।

(Khulasa) चूंकि घटना में सम्मिलित सभी अभियुक्तो का किसी न किसी प्रकार स्वार्थ सिद्ध हो रहा था। इस कारण सभी योजना में शामिल हो गये। इस पर माही ने सपेरे से साँप की व्यवस्था करने को कहा और इन सब लोगों ने अंकित को रास्ते से हटाने की बात सोच ली।

(Khulasa) 6 जुलाई को रमेश नाथ को पंचायतघर के पास एक ब्यूटी पार्लर की दुकान में एक साँप घुसने की बात पता चली और उसने मौके पर जाकर कोबरा प्रजाति के साँप को पकड़ कर अपने पास रख लिया और साँप वाली बात माही व अन्य लोगों को भी बता दी। फिर माही और उसके साथियों ने 8 जुलाई को अंकित के जन्मदिन वाले दिन उसके रास्ते से हटाने की योजना बनायी परंतु योजना के तहत काम न हो पाने के कारण उस दिन वह लोग कुछ नहीं कर पाये।

(Khulasa) इसके बाद फिर माही, दीपू काण्डपाल ने रमेश नाथ सपेरा, राम अवतार व उसकी पत्नी उषा देवी के साथ मिलकर योजना बनायी कि अंकित को घर बुलाकर साँप से कटवाने के बाद उसी की गाड़ी में डालकर कही ठिकाने लगा देंगे। योजना के तहत 14 जुलाई को माही ने अंकित को कहीं चलकर पार्टी करने और बीयर पिलाने के लिये कहा तो अंकित राजी हो गया।

(Khulasa) फिर माही ने सभी लोगों को अपने घर पर बुलाया। सपेरा भी साँप लेकर माही के घर पर आ गया। योजना के तहत रमेश नाथ सपेरा, राम अवतार व उसकी पत्नी उषा देवी घर के मंदिर वाले कमरे मे छुप गये।

(Khulasa) शाम के 6 बजे के लगभग अंकित घर पर पहुँचा। उस दौरान बारिश हो रही थी। उसके पीछे-पीछे दीपू कांडपाल भी माही की स्कूटी से आ गया। अंकित माही के बेड पर बैठा था माही ने उसे पानी में नीद की गोलियाँ मिलाकर पिला दीं। इसी बीच दीपू काण्डपाल ने अपने आप को सुखाने के लिये जो कम्बल पकड़ रखी थी उसकी आड़ में इन सब ने अंकित के ऊपर कम्बल डाल दिया और उसे पूरी तरह से दबा दिया।

(Khulasa) जब अंकित के ऊपर नीद की गोली का असर होने लगा और वो काबू में आ गया तो माही ने सपेरे से साँप लाने के लिये कहा। वह साँप लाया माही ने अंकित की जीन्स ऊपर की और साँप से कटवाया। थोड़ी देर में उन्होंने जल्दीबाजी में पैर में देखा तो जिस पैर में साँप से कटवाया था उस पैर की बजाय दूसरे पैर को देखा तो वहाँ साँप के काटने का निशान नहीं दिख रहा था। जिस कारण दुबारा दूसरे पैर पर साँप से कटवाया।

(Khulasa) थोड़ी देर में अंकित ठंडा पड़ गया। जिस पर दीपू ने कहा की बॉडी को कुर्सी में बैठा दो जिससे गाड़ी में डालने में आसानी हो। बॉडी अकड़ सकती है इस बीच माही ने दिल्ली जाने के लिए टैक्सी बुक कर ली और टैक्सी चालक दिल्ली निवासी को अपनी लोकेशन भेजी।

(Khulasa) इसके बाद इन लोगों ने अंकित के शरीर को उसकी गाड़ी की पिछली सीट में बैठाया और गाडी से दीपू काण्डपाल व राम अवतार निकले। सपेरा माही को उसकी स्कूटी में बैठाकर राम अवतार की झोपड़ी में छोड़ने गया। इसके बाद वह भी स्कूटी से अंकित की गाड़ी के पीछे पीछे भुजियाघाट की और चला। वहां पहुँच कर उनका प्लान बदल गया।

(Khulasa) उन्होंने अंकित की गाड़ी को तीनपानी गोला बाईपास रोड पर गाड़ी को स्टार्ट कर एसी ऑन कर छोड़ दिया और चले गये। फिर राम अवतार के घर के पास से ही टैक्सी से दिल्ली को निकल गये। गाजियाबाद पहुँच कर सभी लोग वापस बरेली आये। फिर माही और दीपू कांडपाल, राम अवतार के पीलीभीत स्थित गाँव चले गये और सपेरा बहेड़ी अपने घर चला गया।

(Khulasa) अगले दिन माही और दीपू कांडपाल वापस दिल्ली गये और माही ने अपनी बहन के घर अपनी दोनों पालतू बिल्लियां छोड दीं। इधर माही और दीपू अपने किसी परिचित के माध्यम से न्यायालय में आत्मसमर्पण करने के लिये वकील से मिलने आ रहे थे। इस दौरान ही पुलिस ने रुद्रपुर से माही उर्फ डौली आर्या पुत्री स्वर्गीय इंद्र लाल निवासी शान्ति विहार कालौनी गोरापड़ाव हल्द्वानी व दीप कांडपाल निवासी हल्दूचौड़ थाना लालकुँआ को गिरफ्तार कर लिया।

(डॉ. नवीन जोशी)आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Khulasa : हल्द्वानी में दिल को झकझोरने वाली घटना, प्रेमिका ने दूसरे के चक्कर में प्रेमी को सांप से कटवाकर मार डाला..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 18 जुलाई 223। (Khulasa) हल्द्वानी में गत 15 जुलाई को तीनपानी में गौला बाईपास रोड़ पर कार संख्या यूके04क्यू-1574 के अंदर संदिग्ध अवस्था में मृत मिले व्यक्ति की घटना का बेहद ही सनसनीखेज व दिल को झकझोरने वाला खुलासा (Khulasa) हुआ है। 

(Khulasa) मृतक अंकित चौहान की हत्या उसकी प्रेमिका ने अंकित को अपने घर बुलाकर सपेरे के माध्यम से जहरीले सांप से कटवाकर की थी। ऐसा शायद इसलिए कि वह दूसरे युवक से प्रेम करने लगी थी। हत्या कर शव को खाई में फेंकने का भी प्रयास किया गया था। एसएसपी ने मामले का खुलासा (Khulasa) करने वाली पुलिस टीम को 5 हजार रुपए के ईनाम की घोषणा दी है।

Police Khulasa(Khulasa) मामले में पुलिस की सबसे पहले पकड़ में आए सपेरे रमेश नाथ पुत्र भजन नाथ निवासी ग्राम अदकटा थाना भोजीपुरा बरेली हाल निवासी मानपुर पश्चिम हल्द्वानी जनपद नैनीताल ने घटना का खुलासा करते हुए पुलिस को बताया कि वह हल्द्वानी में मानपुर पश्चिम में निवास करता है एवं घर-घर जाकर माँगने खाने एंव साँप पकड़ने का कार्य करता है।

(Khulasa) लगभग 7-8 माह पूर्व हल्द्वानी के एक व्यक्ति द्वारा मुझे माही से मिलवाया गया था एवं मुझे यह कहा था कि इस पर कालसर्प योग है तो पूजा हेतु एक नाग आपको पकड़कर लाना है। इसके कुछ समय बाद मेरा माही के घर आना जाना हो गया था। माही के घर पर ही अक्सर अंकित चौहान, दीप काण्डपाल एँव उसकी नौकरानी तथा नौकरानी का पति रामऔतार आते रहते थे।

(Khulasa) लगभग 20-25 दिन पहले हम सभी लोग माही के घर में थे तो माही एँव दीप काण्डपाल ने मुझसे कहा कि अंकित चौहान ने माही का जीना हराम कर दिया है वह कभी भी माही के घर पर आ जाता है और शराब पीकर इसके साथ काफी मारपीट करता है और दीप ने कहा कि माही अब मुझसे प्यार करती है लेकिन यह अंकित चौहान पीछा नही छोड़ रहा है, अब इसको निपटाना ही पड़ेगा।

(Khulasa) फिर इन्होनें मुझसे कहा कि अगर हम इसे ऐसे मारते हैं तो पुलिस हम पर शक करेगी इसलिए तुम एक जहरीला साँप पकड़कर ले आना हम अंकित चौहान को किसी बहाने से माही के घर बुलाकर उसे नींद की गोलियाँ देकर बेहोश कर देंगे और तुम साँप से उसे कटवा देना जिससे उसकी मृत्यु सामान्य सर्पदंश की घटना लगे। 

(Khulasa) इस काम के हम तुम्हें दस हजार रूपये भी देंगें और माही तथा दीप काण्डपाल ने माही की नौकरानी तथा उसके पति रामऔतार को भी दस-दस हजार रूपये देने की बात कही थी। मैं इन सबकी बात सुनकर हत्या की साजिश में शामिल हो गया और फिर मैंने 15-20 दिन पहले जंगल से एक जहरीला नाग पकड़ कर अपने पास रख लिया और यह बात माही एंव उसके साथियों को बता दी तो उन्होंने कहा तुम साँप अपने पास रखे रहो जैसे ही हमें मौका मिलेगा हम अंकित को घर बुला लेंगे।

(Khulasa) फिर दिनाँक 8.7.223 को माही ने मुझे अपने घर पर साँप लेकर बुलाया और कहा कि आज अंकित का जन्मदिन है वह यहाँ आयेगा तुम घर में ही छुप जाओ मौका देखकर मैं तुम्हें बुला लूँगी। 

उस दिन अंकित चौहान घर पर आया और रामऔतार तथा उसकी बीवी भी माही के घर पर आ गये फिर ये सब लोग खाना पीना खाकर शराब पीकर रात भर नाचते रहे जब काफी देर तक अंकित चौहान सोया नही तो माही ने मुझसे कहा कि आज मौका नही है मैं किसी और दिन का प्लान करती हूँ। दिनाँक 14.7.223 को दिन में माही ने मुझे फिर से साँप लेकर अपने घर पर बुला लिया और माही के घर पर माही के साथ दीप काण्डपाल, रामऔतार एंव उसकी पत्नी भी मौजूद थी।

(Khulasa) फिर माही ने सबको समझाया कि तुम सब लोग अन्दर मन्दिर वाले कमरे में छुप जाओ जब अंकित चौहान घर पर आयेगा तो मैं उसे आज नींद की गोलियाँ बहाने से पिला दूँगी फिर तुम्हें बुला दूँगी।

(Khulasa) रात लगभग 8 बजे माही ने दीप कान्डपाल, रामऔतार और उसकी बीवी को बुला और फिर कुछ देर बाद मुझे भी आवाज देकर बुलाया मैं अपने साथ एक टोकरी में नाग लेकर जब माही के कमरे में पहुँचा तो मैंने देखा कि इन चारों ने कम्बल डालकर अंकित को बेड पर पेट के बल लिटा रखा था और सब लोग अंकित को दबाये हुए थे।

(Khulasa) फिर इन्होंने मुझसे कहा कि इसके पैरों में साँप से डसवा दो फिर इनके कहने पर मैंने योजना के अनुसार अंकित के पैर पर साँप से डसवाया जब कुछ देर तक भी अंकित के शरीर में हरकत होती रही तो इन्होंने कहा कि शायद जहर का असर नही हुआ है फिर मैंने दोबारा अंकित के पैर में साँप से डसवाया और ये लोग अंकित के मरने तक उसको दबाये रहे।

(Khulasa) फिर कुछ देर बाद जब अंकित मर गया तो उसके शव को उसकी कार में रखकर पहले उसे भुजियाघाट से नीचे खाई में फैंकने के लिए लेकर गये थे लेकिन सम्भव ना होने पर उसके शव को उसकी कार में ही गौला बाईपास रोड पर तीनपानी के पास छोड़कर भाग गये थे।

(Khulasa) माही ने पहले से ही दिल्ली से टैक्सी कार मँगा रखी थी जिससे हम सभी लोग हल्द्वानी से भाग गये। भागते समय रास्ते में जंगल में मेरे द्वारा साँप को छोड़ दिया गया था। माही ने रास्ते में मुझे हत्या में सहयोग करने के लिए शर्तानुसार दस हजार रूपये दिये थे फिर मैं अपने गाँव जाकर हल्द्वानी आया ही था कि आपने मुझे पकड़ लिया।

(Khulasa) पुलिस के अनुसार इस मामले में माही उर्फ डौली आर्या पुत्री इंद्र लाल निवासी शांति विहार कॉलोनी गोरा पड़ाव हल्द्वानी नैनीताल, दीप कांडपाल निवासी हल्दूचौड़ थाना लालकुँआ जनपद नैनीताल, राम औतार पुत्र लाला राम निवासी गाँव हैदरगंज पीलीभीत उप्र व उसकी पत्नी उषा देवी की पुलिस को तलाश है।

(डॉ. नवीन जोशी)आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : अजीबोगरीब खुलासा : नाबालिग बहन ने अपने शादीशुदा प्रेमी की मदद से अपने सगे भाई को मार कर शव दफना दिया, एक माह बात हुआ खुलासा…

हत्या के बाद शव को जमीन में दफनायानवीन समाचार, हरिद्वार, 14 मार्च 2023। शादीशुदा प्रेमी के कथित प्यार में एक नाबालिग बड़ी बहन अपने ही छोटे भाई की कातिल बन गई। यही नहीं, उसने अपने पूरे परिवार की जान भी जोखिम में डाल दी।

(Khulasa) उसने अपने भाई सहित पूरे परिवार के सदस्यों को खाने में नींद की गोलियां खिला दीं और नींद में ही अपने शादीशुदा प्रेमी व उसके दोस्त की मदद अपने सगे छोटे भाई की रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी और हैवानियत भरे तरीके से उसके शव को गड्ढे में दबा दिया। यह भी पढ़ें : कैंची धाम जा रहे श्रद्धालुओं की कार ट्रक से टकराने के बाद पलटी, पुलिस ने बचाई जान…

(Khulasa) उल्लेखनीय है कि बीते माह 7 फरवरी की सुबह हरिद्वार जिले के ढाढेकी गांव में सठपाल नाम के व्यक्ति के परिवार के सभी लोग सुबह बेहोश मिले जबकि परिवार को 17 वर्षीय बेटा कुलवीर गायब मिला। कई दिन की तलाश के बाद भी जब उसका पता नही चला, तो सेठपाल ने कोतवाली में अज्ञात पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया।

(Khulasa) शुरू में परिवार के लोग और स्वयं पुलिस भी मान रही थी कि कुलवीर किसी बात पर नाराज होकर घर से चला गया है, और गुस्सा शांत होने पर खुद घर आ जाएगा। फिर भी पता नही चला, तो गांव के लोगों ने पुलिस से मिलकर अनहोनी की आशंका जताई। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी: नेपालियों से कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर बेहोश कर उड़ाया माल, नेपाली ही गिरफ्तार…

(Khulasa) इसके बाद पुलिस ने भी इसे मात्र गुमशुदगी न मानते हुए गंभीरता से विवेचना शुरू की। विवेचना में गांव के युवक का सेठपाल की बड़ी-नाबालिग बेटी के गांव के ही शादीशुदा व्यक्ति राहुल पुत्र मदन सिंह के बीच प्रेम संबंधों का पता चला।

(Khulasa) इस पर पुलिस ने राहुल, उसके एक दोस्त और बेटी को हिरासत में लेकर उनसे सख्ती से पूछताछ की तो पहले कुलवीर का शव बेटी के शादीशुदा प्रेमी के नवनिर्मित घर में में गड्ढा खोदकर बरामद कर लिया। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी एक्सक्लूसिव ब्रेकिंग: 24 वर्षीय युवक ने गुलदार को जहरीला मांश खिलाकर मार डाला…

(Khulasa) पुलिस के अनुसार कुलवीर व उसकी बड़ी बहन की उम्र में अधिक अंतर नहीं था। कुलवीर ने अपनी बहन को राहुल के साथ देख लिया था और उसने इस पर अपनी बड़ी बहन की पिटाई भी की थी। कुलवीर उनकी निगरानी भी कर रहा था। इससे उनका मिलना-जुलना बंद हो गया था।

(Khulasa) तब उन्होंने राहुल के दोस्त कृष्णा पुत्र जसवीर के साथ मिलकर कुलवीर को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। यह भी पढ़ें : बच्चे की मौत के बाद उसका शव लेकर जा रहे हल्द्वानी के परिवार के लोगों की कार यूपी में दुर्घटनाग्रस्त, 19 वर्षीय युवा व्यवसायी सहित 5 लोगों की मौत से छाया मातम..

(Khulasa) घटना की रात बेटी ने राहुल द्वारा दी गई नींद की गोलियां पूरे परिवार को दूध में मिलाकर दे दी थीं। और किसी को शक न हो, व पुलिस को गुमराह करने के लिए खुद भी कुछ गोलियां खा ली थीं। इसके बाद नींद में ही राहुल व उसके दोस्त ने कुलवीर की रस्सी से गला घोंटकर हत्या की और शव को अपने घर में गड़ढा खोदकर ठिकाने लगा दिया।

(Khulasa) पुलिस ने कुलवीर का शव तथा नींद की गोली के पैकेट भी बरामद कर लिये हैं। तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। राहुल व कृष्णा को कोर्ट में पेश कर जेल भेजा गया है। जबकि नाबालिग किशोरी का मेडिकल कराने के बाद उसे किशोर में पेश किया जाएगा। यह भी पढ़ें : चर्चा में देश की सबसे महंगी अभिनेत्री रश्मिका मंदाना

(Khulasa) घटना के ऐसे अजीबोगरीब खुलासे पर लोग विश्वास नहीं कर पा रहे हैं। मामले में मृतक की सगी नाबालिग बहन, उसका शादीशुदा प्रेमी व प्रेमी का एक दोस्त पकड़े गए हैं। बहन द्वारा भाई के खून की घटना अपने पीछे कई सवाल छोड़ गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जिसका नाम दिल के पास गुदा रखा था, वही नंगा कर मार कर फरार हो गया, अच्छी नौकरी करने वाली दीक्षा व कबाड़ी इमरान की लव (?) स्टोरी की भयावह कहानी

-इमरान बना था ऋषभ, खुद भी पत्नी से तलाक ले चुका है, साथ आई दूसरे जोड़े की मुस्लिम लड़के के साथ आई हिंदू लड़की भी तलाकशुदा
-आरोपित दिल्ली से भी फरार, उसके अपने माता-पिता से भी ठीक संबंध नहीं, वहां भी धोखाधड़ी कर चुका

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 17 अगस्त 2021। सोमवार को नगर के मल्लीताल कोतवाली के पास नोएडा निवासी 30 वर्षीय दीक्षा मिश्रा नाम की महिला की नग्नावस्था में मौत के मामले में कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं।

(Khulasa) पुलिस से प्राप्त जानकारियों के अनुसार मृतका को साथ लाया और उसकी हत्या कर फरार हुआ युवक अपना नाम ऋषभ तिवारी बताता था, लेकिन उसका वास्तविक नाम इमरान था, और वह कबाड़ी का काम करता था। जबकि महिला रियल स्टेट में अच्छी नौकरी करती थी, और अपने पिता की निधन के बाद वही पूरे घर को संभालती थी। देखें विडियो :

(Khulasa) अपने पति से कई वर्षों से अलग रहने के बावजूद उसने दो माह पूर्व अपना फ्लैट व इधर हाल में नई कार ली थी और अपनी 10-11 वर्षीय बेटी को खुद पालती थी। यह भी खुलासा हुआ कि मृतका को इमरान उर्फ ऋषभ की हकीकत पता थी। वह 6 वर्ष से जाने कैसा ‘लव’ करते हुए उसके साथ लिव-इन में रह रही थी और उसने अपने सीने पर दिल के पास उसे नंगा कर मारकर फरार हुए इमरान का नाम गुदा रखा था।

(Khulasa) यह भी खुलासा हुआ है कि हत्यारे इमरान का भी अपनी पत्नी से तलाक हो चुका है। साथ ही उसके अपने माता-पिता से संबंध ठीक नहीं है। वह करीब एक वर्ष से अपने माता-पिता के संपर्क में नहीं है। उसने अपने परिजनों के साथ भी धोखाधड़ी की है और बदमाश प्रवृत्ति का है। उसने धोखाधड़ी के लिए अपनी फेसबुक आईडी भी ऋषभ तिवारी के नाम से बनाई थी।

(Khulasa) यह खुलासा भी हुआ है कि उनके साथ जो एक अन्य युगल भी यहां आया था, उसमें लड़की श्वेता हिंदू व लड़का अलमास उल हक यानी मुस्लिम था और करीब 30 वर्षीय युवती से करीब 10 साल छोटा भी था। श्वेता का भी अपने पति से तलाक हो चुका है और उसके भी पूर्व पति से 11 व 12 वर्षीय दो बच्चे हैं। यानी दोनों युवक अच्छे पैंसों वाली तलाकशुदा महिलाओं से संबंध बनाए हुए थे।

(Khulasa) यह भी पता चला है कि घटना से पहले मृतका के जन्म दिन की पार्टी में इमरान उर्फ ऋषभ के अलावा मृतका सहित तीनों ने शराब पी थी। इसके बाद दूसरे युगल के अपने कमरे में जाने के बाद इमरान ने दीक्षा की हत्या रात्रि साढ़े 12 से ढाई बजे के बीच किसी समय की और होटल के सीसीटीवी में वह रात्रि दो बजकर 55 मिनट पर होटल से भागा।

(Khulasa) वह साथ में मृतका का मोबाइल व अन्य कागजात भी साथ ले गया। दिल्ली पहुंचकर दीक्षा के फ्लैट में गया और उसकी बेटी से दीक्षा के मोबाइल का पासवर्ड लेकर व अन्य सामान व कागजात लेकर कहीं और फरार हो गया। यह भी पता चला है कि मृतका दीक्षा का विवाह 2008 में खुर्जा यूपी निवासी पवन शर्मा के साथ हुआ था।

(Khulasa) अक्सर पति द्वारा शराब पीकर मारपीट करने के कारण दो साल बाद ही दीक्षा बेटी के पैदा होने के बाद पति से अलग रहने लगी थी। फिलहाल दोनों का तलाक का मामला कोर्ट में लंबित है। इधर एसपी-अपराध देवेंद्र पींचा ने बताया कि मामले में आरोपित इमरान उर्फ ऋषभ तिवारी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

(Khulasa) साथ ही उसकी तलाश में एसओजी व कोतवाली के एसआई नितिन बहुगुणा की अगुवाई में पुलिस की टीमें भेजी गई हैं। हत्यारा दिल्ली से भी फरार हो गया है। उन्होंने विश्वास जताया कि शीघ्र ही हत्यारा सलाखों के पीछे होगा।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में नग्नावस्था में मृत मिली महिला के मामले में सनसनीखेज खुलासा, इमरान बना था ऋषभ, लव जिहाद की आशंका !

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 16 अगस्त 2021। सोमवार को नगर के मल्लीताल कोतवाली के पास नोएडा निवासी 30 वर्षीय दीक्षा मिश्रा नाम की महिला की नग्नावस्था में मौत के मामले में नया खुलासा (Khulasa) हो रहा है।

(Khulasa) पुलिस के भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार महिला के साथ जो युवक आया और रह रहा था और हत्या करने के बाद फरार हुआ, उसका नाम ऋषभ नहीं, बल्कि इमरान था, और वह कबाड़ का काम करता था। इस तरह यह मामला ‘लव जिहाद’ की दृष्टि से भी देखा जा रहा है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में जन्म दिन मनाने आई महिला की हत्या, मुकदमा दर्ज, लिव-इन में रह रहा साथी फरार

बताया जा रहा है कि इमरान ने ऋषभ बनकर शादीशुदा व एक 10 वर्षीय बेटी की मां दीक्षा को अपने झूठे प्यार के जाल में फंसाकर उसका उसके पति से तलाक करवाया और फिर नोएडा से उसे मारने की नीयत से ही 13 अगस्त को यहां लेकर आया।

13 को रामनगर में रुकने के बाद 14 को वह नैनीताल पहुंचे थे और यहां गैलेक्सी होम स्टे में रुके थे। गौरतलब है कि उनके साथ जो दूसरा युगल आया है उसमें भी लड़की श्वेता यानी हिंदू और लड़का अलमास उल हक यानी मुस्लिम बताया जा रहा है। यह भी बताया जा रहा है कि दूसरा युगल भी आपस में पति-पत्नी नहीं हैं।

वहीं होमस्टे के सीसीटीवी से खुलासा हुआ है कि इमरान उर्फ ऋषभ दीक्षा को मारने के बाद रात्रि दो बजकर 55 मिनट पर होटल से भागा। बताया जा रहा है कि वह नैनीताल से पहले दिल्ली भागा और वहां से भी आगे फरार हो गया है। बहरहाल, पुलिस उसके काफी करीब पहुंच गई बताई जा रही है।

यह भी पता चला है कि दीक्षा नोएडा में एक रियल स्टेट कंपनी में काम करती थी। उसके पास अपनी गाड़ी भी थी, लेकिन नैनीताल आते समय दीक्षा ने अपने एक दोस्त को अपनी गाड़ी दे दी और खुद उसकी आई—20 कार लेकर यहां आई थी। इमरान नैनीताल से भागते समय इसी गाड़ी को लेकर फरार हुआ है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

‘नवीन समाचार’ पर पूर्व में प्रकाशित खुलासों के समाचार पढ़ने को यहां क्लिक करें।

2 thoughts on “(Khulasa) 3 साल पहले ही प्रेम विवाह किया था, अब पिता के बाद पत्नी को और फिर पुलिस दरोगा को भी मारी गोली… लगातार एक के बाद एक नया खुलासा…

  1. Amit ka shadi se phele kafi salo se chakkar the xxxxxx xxxx se
    Is wajha se Nikita Amit ko chod k apne mayke rhene lgi

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur
गर्मियों में करना हो सर्दियों का अहसास तो.. ये वादियाँ ये फिजायें बुला रही हैं तुम्हें… नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला