सूचना-1ः आगे भविष्य में हम तकनीकी कारणों से ह्वाट्सएप ग्रुप्स या अन्य माध्यमों से ‘नवीन समाचार’ उपलब्ध नहीं करा पायेंगेे। इसलिये अभी हमारे ह्वाट्सएप चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें। 

सूचना-2: निश्चिंत रहें.. ‘नवीन समाचार’ पर लगातार आ रहे ‘पॉप अप’ वायरस नहीं बल्कि विज्ञापन हैं। इन्हें क्लिक करके देख सकते हैं।

सूचना-2: यदि आप नवीन समाचार बिना विज्ञापन के देखना चाहते हैं तो हमारी प्रीमियम सेवा लेने के लिये यहां क्लिक करें।

Navjat : अपना स्तनपान न कराने के लिये कलयुगी मां ने अपने 6 माह के अबोध शिशु को मार डाला, अब जेल में कटेगी पूरी जिंदगी

0

Navjat

Garibi-Majburi, Navjat, (Bachchi ki Hatya)
समाचार को यहाँ क्लिक करके सुन भी सकते हैं

नवीन समाचार, हरिद्वार, 9 अक्टूबर 2023 । उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में दिल दहला देने वाला एक मामला सामने आया है। यहां एक कलयुगी मां ने अपना स्तनपान न कराने के कारण लगातार रो रहे अपने छह माह के अबोध शिशु (Navjat) को खौफनाक मौत की सजा दी। फिर उसके शव को ठिकाने लगाया और भ्रमित करने के लिये उसके अपहरण की कहानी बनायी। ऐसी कलयुगी मां को न्यायालय ने आजीवन कैद की सजा सुनायी है।

haridwar sangeeta baluni ansh policeहरिद्वार के कनखल के सर्वप्रिय विहार में सिडकुल की नामी ऑटोमोबाइल कंपनी में काम करने वाले दीपक बलूनी का परिवार किराये पर रहता है। नवंबर 2019 में दीपक की पत्नी संगीता ने अपने 6 माह के बेटे के अपहरण की सूचना पुलिस को दी। उसने कहा कि वह डेयरी पर दूध लेने गई थी। इस दौरान वह अपनी तीन साल की बेटी को छह माह के बेटे के पास छोड़कर गई थी। इसी बीच किसी ने बच्चे का अपहरण कर लिया। इससे पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया।

पुलिस ने मामले में अपहरण का मुकदमा दर्ज किया था। इसके बाद जब मुकदमे की जांच के दौरान पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी की फुटेज खंगाले तो उनमें संगीता काले रंग का बैग गंगा घाट की ओर ले जाते हुये दिखाई दी। इससे पुलिस को संगीता पर शक हुआ। पूछताछ में वह बार-बार अपने बयान भी बदल रही थी और छह माह के बच्चे के अपहरण को लेकर एक बार भी नहीं रोई थी। ऐसे सख्ती से पूछताछ में संगीता ने हत्या की बात कबूल कर ली।

लेकिन अबोध शिशु की हत्या का जो कारण उसने बताया वह कठोर दिलों को भी दहलाने वाला था। संगीता के अनुसार बीमारी के कारण उसके स्तनों में दूध नहीं आता था। इस कारण वह बच्चे को अपना दूध नहीं पिला पा रही थी। बच्चा अंशु बाहर का दूध नहीं पीता था और लगातार रोता रहता था। बच्चे के लगातार रोने से तंग आकर और अपना स्तनपान कराने की समस्या से मुक्ति पाने के लिये उसने अपने ही जिगर के टुकड़े को मार डाला।

PunjabKesariबच्चे का शव दो दिन बाद बिशनपुर कुंडी के पास गंगा से बरामद हुआ था। पिता दीपक ने बच्चे के शव की शिनाख्त की थी। अपहरण की कहानी बनाने के बाद संगीता ने कनखल थाने में हंगामा भी किया था। इस मामले में न्यायालय ने संगीता को 6 माह के बेटे अंशु की हत्या के अपराध में आजीवन कैद की सजा सुनायी है।
आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : Navjat : मानवता फिर शर्मसार, कूड़ेदान में मिला नवजात का शव…

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 29 सितंबर 2023 (Navjat)। पिथौरागढ़ जनपद में 6 माह के भीतर मानवता को शर्मसार करने वाली दूसरी घटना सामने आई है। यहां कूड़े के ढेर में एक नवजात बच्चे का शव पड़ा हुआ मिला है। बताया जा रहा है कि नवजात ने आठ माह गर्भ में पलने के बाद जन्म लिया था। आशंका जताई जा रही है कि किसी ने अवैध गर्भ छिपाने के लिए नवजात के पैदा होते ही कूड़ेदान में फेंक दिया होगा।

Health Servicesप्राप्त जानकारी के अनुसार आज सुबह रई क्षेत्र स्थित कूड़ादान में लोगों को एक नवजात बच्चे का शव पड़ा हुआ दिखाई दिया। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। इस पर कोतवाल हिमांशु पंत के नेतृत्व में पुलिस ने शव को पोस्टर्माटम के लिए भेजा। साथ ही बच्चे का शव किसने फेंका इसका पता लगाया जा रहा है। कूड़ेदान के आसपास दुकानों में लगे सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कूड़े में मिले नवजात की नाल में प्लास्टिक की नीली क्लिप लगी है। इससे आशंका जताई जा रही है कि नवजात का जन्म या तो किसी अस्पताल में या चिकित्सा से जुड़े किसी व्यक्ति ने कराया है। अगर प्रसव घर में भी हुआ हो तो बिना किसी मेडिकल विशेषज्ञ के संभव नहीं है।

उधर आमजन में चर्चा है कि किसी ने लोकलाज के भय से नवजात को पैदा होने के बाद फेंक दिया होगा। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व नगर के एपटेक तिराहे में इसी वर्ष 19 मार्च को भी पर्यावरण मित्रों को एक पन्नी में नवजात लड़की का शव पड़ा हुआ मिला था। पुलिस की लाख कोशिशों के बाद भी शव किसने फेंका इसका खुलासा अब तक नहीं हो सका है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें Navjat : उत्तराखंड में सामने आया देश का गर्भ में सबसे कम समय तक रहकर पैदा हुआ बच्चा, अवधि तथा वजन व लंबा दंग करने वाली…

नवीन समाचार, काशीपुर, 10 मार्च 2023 (Navjat)। उत्तराखंड के काशीपुर में देश का मां के गर्भ में सबसे कम अवधि तक रहने के बाद पैदा हुआ बच्चा होने का दावा किया गया है। बच्चा 21 सप्ताह 5 दिन यानी करीब 4 माह में ही यानी सामान्यतया बच्चे के पैदा होने में लगने वाली 9 माह की आधी से भी कम अवधि में में पैदा हुआ बताया गया है।

(Navjat) इसके साथ यह दावा भी किया जा रहा है कि इससे पहले देश में सबसे कम अवधि में पैदा हुआ अर्जुन नाम बच्या मां के गर्भ में 24 सप्ताह ही रहने के बाद हैदराबाद में पैदा हुआ था।

(Navjat) अब देश में रिकॉर्ड कम अवधि में पैदा हुए बच्चे के बारे में बताया गया है कि उसका वजन 400 ग्राम और लंबाई 27 सेंटीमीटर है। सबसे कम भार के मामले में शिवन्या नाम की बच्ची का नाम सबसे पहले आता है जो 375 ग्राम की पैदा हुई थी। जबकि हैदराबाद में जन्मे अर्जुन का वजन 430 ग्राम तथा लंबाई 30 सेंटीमीटर थी।

(Navjat) नवजात बच्चे को काशीपुर के एक निजी चिकित्सालय में रखा गया है और उसे जीवित बचाए रखना चिकित्सकों के लिए बड़ी चुनौती बना हुआ है। बताया है कि इस नवजात को पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के जिला रामपुर के स्वार से लाकर यहां भर्ती कराया गया है।

(Navjat) इस बालक का उपचार कर रहे सहोता स्पेशलिटी हॉस्पिटल के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. रवि सहोता के अनुसार कम समय अवधि में जन्मे शिशुओं का जीवित बच पाने की संभावना भारत में 10 प्रतिशत से भी कम और लंदन, न्यूयॉर्क, मेलबर्न आदि जगहों पर 6 से 7 प्रतिशत ही रहती है। उन्होंने बताया कि इस नवजात शिशु की किडनी, फेफड़े, दिल आदि सभी अंग अपरिपक्व हैं।

(Navjat) उसे क्लैपजियाला नामक विषाणु के संक्रमण का भी खतरा है। इसके अलावा उसे सांस की समस्या भी अब तक 8 बार आ चुकी है। फिलहाल इस बच्चे को बचाने के लिए 90 से 95 दिन तक उच्च स्तर के एनआईसीयू में रखना होगा। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Navjat) : सड़क पर कपड़े में लिपटी मिली नवजात बच्ची

Kerala: 17-year-old girl gives birth with help of YouTube videos | 17 साल  की लड़की ने यूट्यूब देखकर घर पर ही दिया बच्‍चे को जन्‍म, पैरेंट्स को भी पता  नहीं चला |

नवीन समाचार, मसूरी, 26 फरवरी 2023। पहाड़ों की रानी, पर्वतीय पर्यटन नगरी मसूरी में मां की ममता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है।

यहां एक मासूम नवजात बच्ची मसूरी-देहरादून मार्ग पर कोलूखेत चेक पोस्ट के पास सड़क किनारे कपड़े में लिपटी हुई जीवित अवस्था में मिली है। माना जा रहा है कि कोई कलयुगी मां बच्ची को जन्म देने के बाद कुछ ही समय पूर्व यहां छोड़ गई है। यह भी पढ़ें : नाबालिग व उसकी सहेलियों से छेड़छाड़ कर रहा था युवक, भाई ने तोड़ दिए दोनों हाथ….

(Navjat) स्थानीय लोगों ने जब कपड़े में लिपटी बच्ची को देखा तो वह जिंदा मिली। सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और नवजात को अपने कब्जे में लिया। बच्ची बीमार लग रही थी। पुलिस कर्मियों ने उसे दूध पिलाया तथा उसे तत्काल उपचार के लिए देहरादून के राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया, जहां पर डॉक्टर बच्ची का इलाज करने में जुट गए हैं। यह भी पढ़ें : किराये के घर में पति-पत्नी द्वारा चलाये जा रहे जिस्मफरोशी के धंधे का भंडाफोड़…

(Navjat) मसूरी पुलिस के अनुसार बच्ची करीब 3 या 4 दिन पूर्व जन्मी हो सकती है। पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है, और स्थानीय लोगों से पूछताछ कर रही है। लेकिन अभी कोई सुराग नहीं मिल पा रहा है। पता लगाया जा रहा है कि बच्ची किसी कुंवारी मां से पैदा हुई है या बच्ची होने के कारण उसे इस तरह त्याग दिया गया है। यह भी पढ़ें : पीएम मोदी ने ‘मन की बात’ में की बागेश्वर के पूरन की बात, जानें कौन व क्यों खास हैं पूरन ?

(Navjat) स्थानीय लोगों का कहना है कि यह घटना मां की ममता को शर्मसार करने वाली है। एक मासूम बच्ची को मसूरी की ठंड में खुले आसमान के नीचे लावारिस छोड़ते समय मां के हाथ तक नहीं कांपे। मसूरी पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। ताकि बच्ची की मां का पता लगाया जा सके। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Navjat) : पॉलीथीन में नवजात का शव मिलने से सनसनी…

नवीन समाचार, काशीपुर, 18 फरवरी 2023 (Navjat)। शहर में शनिवार सुबह एक शर्मनाक घटनाक्रम ने मानवता को शर्मसार कर दिया। शहर के कटोराताल क्षेत्र में किसी कलयुगी-निष्ठुर मां ने अपने नवजात शिशु को जीवित अथवा मृत अवस्था में पालीथीन में लपेट कर फेंक दिया। यह भी पढ़ें : पुलिस कर्मी ने जान की बाजी लगाकर बचाया झील में कूदी महिला को, आईजी-एसएसपी ने की ईनामों की बौछार…

(Navjat) सुबह जब बाजार के पास लोगों ने पालीथीन में नवजात शिशु का शव देखा तो सन्न रह गये। लोगों ने इसकी सूचना कटोराताल पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर नवजात का शव कब्जे में ले लिया और मामले की जांच में जुट गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Navjat) : कूड़ेदान में नवजात शिशु का शव मिलने से सनसनी

नवीन समाचार, ऋषिकेश, 19 जनवरी 2023 (Navjat)। नगर में शुक्रवार को एक नवजात शिशु का शव मिलने से सनसनी फैल गई। शव मुनि की रेती में पंचवटी आश्रम के पास एक कूड़ेदान में पड़ा हुआ मिला। स्थानीय लोगों को इसका पता तब लगा, जब कुछ आवारा कुत्ते शिशु के शव को नोंचते दिखे। यह भी पढ़ें : कनाडा से नैनीताल आए युवक के कोरोना संक्रमित निकलने की सूचना से हड़कंप….

(Navjat) इस पर लोगों ने पुलिस को सूचना दी। शव करीब एक-दो दिन पुराना व बच्ची का है। पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल कर शिशु को कूड़ेदान में फेंकने वाले का पता लगा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Navjat) : जिला अस्पताल के शौचालय के फ्लश टैैंक में मिला तीन से चार दिन पुराना नवजात का शव

नवीन समाचार, देहरादून, 1 अक्तूबर 2022 (Navjat)। देहरादून के जिला चिकित्सालय-कोरोनेशन अस्पताल में मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है जिससे इलाके में सनसनी फैल गई। अस्पताल के शौचालय के फ्लश टैैंक में एक नवजात का शव मिला है। शव तीन से चार दिन पुराना लग रहा है। शव को शिनाख्त के लिए शव गृह में रखा गया है। पुलिस नवजात किसकी संतान था, इसकी जांच कर रही है।

(Navjat) प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरोना अस्पताल के कर्मचारियों को शौचालय में बदबू आई तो किसी गड़बड़ी की आशंका पर उन्होंने शौचालय में देखा। शौचालय के फ्लश टैैंक में एक नवजात का शव पड़ा हुआ मिला।

(Navjat) डालनवाली कोतवाली के एसएसआइ महादेव उनियाल के अनुसार कुछ दिन पहले भर्ती हुई गर्भवती महिलाओं का रिकार्ड चेक किया जा रहा है। इसके अलावा सीसीटीवी कैमरों से भी फुटेज निकाली जा रही है। सभी पहलुओं से मामले की छानबीन की जा रही है।

(Navjat) डिलीवरी का रिकार्ड भी विस्तार से देखा जा रहा है। जरूरत पडने पर शव का पोस्टमार्टम भी कराया जाएगा। प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. शिखा जंगपांगी ने बताया कि पुलिस को जरूरी जानकारी दे दी गई है। अस्पताल में प्रसव के लिए भर्ती हुई गर्भवती और डिलीवरी के बारे में भी रिकार्ड दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Navjat) : हल्द्वानी में सिर व एक हाथ रहित नवजात का शव मिलने से हड़कंप…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 9 सितंबर 2022 (Navjat)। शहर में शुक्रवार को गौला नदी क्षेत्र में एक नवजात का शव मिलने से हड़कंप मच गया है। सूचना पर पहुंची पुलिस को एक नवजात का सिर और एक हाथ रहित शव मिला है। पुलिस ने शव को मोर्चरी में रखवा दिया है। उसकी शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। माना जा रहा है कि नवजात का शव कहीं ऊपर की ओर से बहकर आया हो।

(Navjat) पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह दस बजे करीब राजपुरा पुलिस को सूचना मिली कि गौला नदी में एक नवजात का शव पड़ा हुआ है। इसके बाद राजपुरा चौकी प्रभारी दिनेश जोशी मौके पर पहुंचे, और एक नवजात का सिर व एक हाथ विहीन शव बरामद किया। इसे लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चाएं भी शुरू हो गईं।

(Navjat) कोतवाल हरेंद्र चौधरी ने बताया कि पुलिस सीसीटीवी चेक करने से लेकर अस्पतालों में हाल में पैदा हुए बच्चों को लेकर भी डाटा जुटाकर शव की शिनाख्त करने के प्रयास में है। शव को मोर्चरी में रख दिया गया है। नवजात की शिनाख्त को लेकर हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Navjat) : पेट दर्द दिखाने अस्पताल आई नैनीताल जिले की 14 वर्ष की बच्ची ने दिया बच्चे को जन्म, 21 वर्ष की कुंवारी भी बनी मां….

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 18 अगस्त 2022 (Navjat)। समाज न जाने किस ओर जा रहा है ? अल्मोड़ा के बेस अस्पताल में पेटदर्द की शिकायत पर उपचार को पहुंची सीमावती नैनीताल जनपद के एक गांव की निवासी 14 वर्षीय नाबालिग किशोरी ने बच्चे को जन्म दिया है। इसके अलावा एक अन्य 21 वर्षीय कुंवारी युवती के भी मां बनने की घटना हुई है। युवती की तीन महीने बाद शादी है। दोनों घटनाओं से लोग अपने बच्चों के प्रति चिंतित हो रहे हैं।

(Navjat) पहली घटना में मां बनी बच्ची की मां का कहना है कि बच्ची अपने ननिहाल में रहती थी। 6 माह पहले नानी की मौत के बाद वह उनके साथ घर आ गई थी। बच्ची ने इस बारे में कभी भी कोई जानकारी परिजनों को नही दी। गुरुवार सुबह बच्ची के पेट में दर्द होने के बाद उसे अस्पताल लाये तो बच्ची ने बच्चे को जन्म दिया है। जांच अधिकारी हेमा कार्की ने बताया कि किशोरी से पूछताछ की जा रही है कि किसने उसके साथ दुराचार किया। अभी युवती कुछ भी बता नही रही है।

(Navjat) इसके अलावा अल्मोड़ा जिले के ताकुला क्षेत्र से दूसरा मामला सामने आया है। जहां पर 21 वर्षीय अविवाहित युवती ने बुधवार को अल्मोड़ा के महिला अस्पताल में स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है लेकिन उस मामले में भी युवती कुछ भी नही बोल रही है। बताया जा रहा है नवजात को जन्म देने वाली युवती की तीन महीने बाद शादी है। यही कारण है कि परिजन बिना कहीं कोई सूचना दिए लोकलाज के भय से युवती और बच्चे को सुबह ही डिस्चार्ज करा ले गए।

(Navjat) उनका कहना था कि उन्हें बेटी के गर्भवती होने की कोई जानकारी नहीं थी। मामला बालिग से जुड़ा होने और व्यक्तिगत होने के कारण चिकित्सकों ने भी इसे पूरी तरह से गोपनीय रखा। युवती ने किसके बच्चे को जन्म दिया,

(Navjat) इस बारे में भी फिलहाल कोई जानकारी नहीं है। युवती के परिजन अपने साथ नवजात और युवती को घर ले गये हैं। क्षेत्र में इन दोनों खबरों से तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। लोग अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हो रहे हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Navjat) : 16 वर्षीय नाबालिग लड़के ने किया 12 वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म, बच्ची ने दिया बच्चे को जन्म

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 30 जून 2022। एक 12 वर्षीया नाबालिग ने दुष्कर्म के बाद बच्चे को जन्म दिया है। गनीमत है पीड़िता और नवजात दोनों सुरक्षित बताया जा रहा है और चिकित्सकों की देख-रेख में है। बताया गया है कि आरोपित भी नाबालिग है और उसने पीड़िता को धमकी भी दी है। इस कारण पीड़िता की सुरक्षा व्यवस्था के लिए अस्पताल में पुलिस भी लगाई गई है।

(Navjat) प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव के एक 16 वर्ष के नाबालिग ने अपने गांव की ही 12 वर्षीया नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया था। दुष्कर्म का पता परिजनों को सात माह बाद चला। बीते अप्रैल माह में परिजन अपनी बच्ची को लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां उन्होंने बच्ची का पेट फूलने की बात चिकित्सकों को बताई। जिसके बाद चिकित्सकों ने बताया कि इसके पेट में गर्भ पल रहा है।

(Navjat) घटना के बाद परिजनों ने राजस्व पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई। राजस्व पुलिस से मामला भतरौंजखान थाने को ट्रांसफर हुआ। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपित पंकज को गिरफ्तार किया। आरोपित पंकज फिलहाल जमानत में है।

(Navjat) इधर बुधवार को अस्पताल में नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता ने सुरक्षित तरीके से बच्चे को जन्म दिया। जच्चा-बच्चा की हालत ठीक बताई जा रही है। ठीक होने के बाद नवजात और नाबालिग के भविष्य का फैसला बाल कल्याण समिति करेगी। समिति के समक्ष ठीक होने के 24 घंटे के अंदर पेश करना होगा। नवजात को शिशु निकेतन में रखा जा सकता है।

(Navjat) आरोपित के धमकी देने के बाद पीड़िता नाबालिग की अस्पताल में सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस तैनात की गई है। ताकि किसी प्रकार की दिक्कत ना हो। वहीं महिला आयोग ने भी स्वजनों की काउंसिलिंग की। ताकि पीड़िता को किसी प्रकार की परेशानी ना हो सके।

(Navjat) राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष ज्योति साह मिश्रा ने कहा कि पीड़िता के परिजनों की काउंसिलिंग की गई है। किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। बाकि पीड़िता और नवजात पर निर्णय सीडब्ल्यूसी करेगी। पीड़िता की सुरक्षा की व्यवस्था के निर्देश दिए हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला नैनीताल : दिल के सबसे करीब, सचमुच धरती पर प्रकृति का स्वर्ग कौन हैं रीवा जिन्होंने आईपीएल के फाइनल मैच के बाद भारतीय क्रिकेटर के पैर छुवे, और गले लगाया… चर्चा में भारतीय अभिनेत्री रश्मिका मंदाना
%d bloggers like this: