Education

कुमाऊं विश्वविद्यालय ने घोषित किए कई परीक्षा परिणाम

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 4 अगस्त 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने गुरुवार को मास्टर की फार्मेसी-फार्माकोग्नोसी, फार्मास्युटिकल, फार्माकोलॉजी, व फार्मास्युटिक्स के पहले, बीएससी फॉरेस्ट्री के सातवें, बीए इन एनीमेशन एंड डिजाइनल के तीसरे, बीबीए-एलएलबी के तीसरे तथा एलएलबी के तीसरे व पांचवे तथा बी-वॉक डिप्लोमा इन बैंकिंग एंड फाइनेंस एंड फाइनेंस सर्विसेज के पहले व पांचवे सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए हैं। परीक्षा नियंत्रक की ओर से बताया गया है कि परीक्षाफल विश्वविद्यालय की वेबसाइट केयूएनटीएल डॉट नेट पर लॉग इन करके या अपने संस्थान या महाविद्यालय से देखे जा सकते हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कागज रहित विश्वविद्यालय बनने की ओर कुमाऊं विश्वविद्यालय, केवल 2 कदम दूर…

-दो वर्ष पूर्व से लागू हुआ अपना ईआरपी सिस्टम अगले दो वर्षों में पूरी तरह से प्रभावी होने की उम्मीद, 10 में से 8 माड्यूल जुड़े, केवल 2 का जुड़ना शेष
-केेंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के ईआरपी सिस्टम-समर्थ लागू करने पर भी चल रहा है विचार
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 जुलाई 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय पेपरलेस यानी कागज रहित विश्वविद्यालय बनने की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। विश्वविद्यालय में दो वर्ष पूर्व अपना ईआरपी यानी ‘एंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग सिस्टम’ लागू है, और इसे लागू करने वाला कुमाऊं विश्वविद्यालय उत्तराखंड का पहला विश्वविद्यालय भी है। विश्वविद्यालय में इस सिस्टम के तहत 10 में से 8 माड्यूल जुड़ गए हैं। इसके बाद केवल 2 मॉड्यूल का जुड़ना शेष है।

इसके बाद अगले करीब दो वर्षों में विश्वविद्यालय पूरी तरह से कागज रहित विश्वविद्यालय हो जाएगा। गौरतलब है कि इसके अलावा भी विश्वविद्यालय को केंद्रीय मानव संसाधन के ईआरपी सिस्टम-समर्थ को लागू करने का प्रस्ताव है, और विश्वविद्यालय अगले कुछ दिनों में इस सिस्टम को लागू करने या न करने पर भी विचार करने जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि कुमाऊं विश्वविद्यालय में दो वर्ष से ईआरपी सिस्टम के माध्यम से डिजिटलाइजेशन और कागज रहित होेने की प्रक्रिया चल रही है। इस प्रक्रिया के तहत विश्वविद्यालय में प्रवेश, परीक्षा और परिणाम जारी करने की व्यवस्था ऑनलाइन माध्यम से हो रही है। कोरोना काल में पढ़ाई भी ऑनलाइन हुई। विश्वविद्यालय के लॉगिन मॉड्यूल फॉर यूनिवर्सिटी, कॉलेज एंड स्टूडेंट्स, कॉलेज अफिलिएशन मॉड्यूल, एडमिशन मॉड्यूल, एग्जामिनेशन मॉड्यूल, रिक्रूटमेंट मॉड्यूल, एंट्रेंस एक्जामिनेशंस मॉड्यूल, आरटीआई इनफार्मेशन मॉड्यूल व डिग्री मॉड्यूल यानी 8 मॉड्यूल ईआरपी सिस्टम से जुड़ गए हैं, जबकि अभी दो मॉड्यूल-मोबाइल मॉड्यूल व एंप्लॉय सर्विस मॉड्यूल को इस सिस्टम से जुड़ना है। इन दो मॉड्यूल के जुड़ने से विश्वविद्यालय में फाइलों को एक से दूसरे विभाग में नहीं जाना होगा, बल्कि यह ऑनलाइन या डिजिटल माध्यम से संचालित होंगी।

इससे विश्वविद्यालय के सभी संबंधित कार्यो की निगरानी आसानी से हो पाएगी, छात्रों को महत्वपूर्ण जानकारियां मोबाइल पर घर बैठे मिल सकेंगी। कर्मचारियों के कार्यो कर प्रबंधन आसान होगा और फाइल ट्रेसिंग यानी फाइलें कहां पहुंची हैं, इसकी भी जानकारी एक क्लिक में हो सकेगी। कार्यों में मानवीय भूलों की गुंजाइश भी नहीं रहेगी। विद्यार्थियों को किसी भी कार्य के लिए परिसरों, महाविद्यालयों या संबद्ध संस्थानों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। इस व्यवस्था से विश्वविद्यालय से संबंधित समस्त जानकारिया एक क्लिक में मिल जाएंगी।

कुलपति प्रो. एनके जोशी ने कहा कि इससे एक ओर विश्वविद्यालय के कार्यों में पारदर्शिता और तेजी आएगी, वहीं छात्रों को महत्वपूर्ण जानकारी घर बैठे मिल जाएगी। उन्होंने अगले एक-दो वर्षों में इस पूरी प्रक्रिया के पूरी होने और विश्वविद्यालय के कागज रहित होने की संभावना भी जताई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विवि की छात्रा तन्नू मलिक ने एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में देश के लिए जीता कांस्य पदक

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 14 जुलाई 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय की छात्रा तन्नू मलिक ने बहरीन के मनामा में 4 जुलाई से 9 जुलाई तक आयोजित एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में भारत देश के लिए कांस्य पदक जीतकर देश का नाम रोशन किया है।

विश्वविद्यालय के क्रीड़ाधिकारी डॉ. नागेंद्र शर्मा ने गुरुवार को बताया कि एशियन कुश्ती चौंपियनशिप में 59 किग्रा भार वर्ग में तन्नू ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने पहले मुकाबले में जापान की नारोमी नाकामुरा को दूसरे मुकाबले में कजाकिस्तान की मदीना अमान को पराजित किया, जबकि तीसरे मुकाबले में उन्हें उज्बेकिस्तान की डियोरा एबिटोबा से हार का सामना करना पड़ा। इस प्रकार उन्होंने प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीतकर अपने भारत देश का नाम रोशन किया।

बताया कि तन्नू वर्तमान में लखनऊ में कुश्ती के प्रशिक्षण शिविर में गहन प्रशिक्षण ले रही हैं। आगे वह 16 जुलाई को वर्ल्ड कुश्ती चैंपियनशिप के लिए ट्रायल में प्रतिभाग करेंगी। यदि वह चयनित होती हैं तो बुल्गारिया में आयोजित होने जा रही विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करेंगी।

डॉ शर्मा ने बताया कि इससे पहले तन्नु ने चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय भिवानी हरियाणा में आयोजित हुई अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय महिला कुश्ती प्रतियोगिता में रजत पदक और जैन विश्वविद्यालय बेंगलुरु में आयोजित हुई खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में स्वर्ण पदक प्राप्त कर इतिहास रचा था।

उनकी इस उपलब्धि पर कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एनके जोशी, कुलसचिव दिनेश चंद्र, वित्त नियंत्रक अनीता आर्य, उप कुलसचिव दुर्गेश डिमरी, डॉ ललित तिवारी, डॉ. हरीश चंद्र सिंह, डॉ. रितेश शाह, डॉ. महेंद्र राणा, डॉ. केके पांडे, डॉ. एलएम जोशी, डॉ. एलएस लोधियाल डॉ. गगन होती डॉ. विनोद जोशी डॉ. ममता सिंह, डॉ. संतोष कुमार, जीएस भंडारी व नवीन जोशी सहित विश्वविद्यालय के समस्त कर्मचारियों एवं छात्र संगठन ने बधाई दी है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय की बीएड प्रवेश परीक्षा 7 अगस्त को, प्रक्रिया शुरू…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 8 जुलाई 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने बीएड प्रवेश परीक्षा 2022 के लिए प्रवेश परीक्षा 7 अगस्त को तय कर दी है। साथ ही इस हेतु आवेदन करने की प्रक्रिया भी अपनी आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से शुक्रवार से शुरू कर दी है।

विश्वविद्यालय के कुलसचिव दिनेश चंद्रा ने बताया कि प्रवेश हेतु 8 से 30 जुलाई तक आवेदन पत्र 1250 रुपए ऑनलाइन आवेदन शुल्क के साथ किए जा सकते हैं। बताया कि प्रवेश परीक्षा के प्रवेश पत्र भी ऑनलाइन की डाउनलोड किए जाएंगे

कुमाऊं विश्वविद्यालय ने घोषित किये परीक्षाफल
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने शुक्रवार को मुख्य परीक्षा सत्र 2021 के एमएससी-भौतिकी व सांख्यिकी तथा एमए अंग्रेजी के पहले एवं एमए मनोविज्ञान के तीसरे सेमेस्टर की परीक्षाओं के परिणाम घोषित कर दिए हैं। परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि परीक्षाफल विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग इन कर देखे जा सकते हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊँ विश्वविद्यालय की कार्य परिषद के चुने गए चार सदस्य, परिणाम घोषित

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 14 जून 2022। कुमाऊँ विश्वविद्यालय की ईसी यानी कार्य परिषद के चार सदस्यों के लिये मंगलवार को हुए चुनाव में अधिवक्ता कैलाश जोशी, उक्रांद नेता व अधिवक्ता प्रकाश पांडे, डॉ. सुरेश डालाकोटी व डॉ. भूपेंद्र सिंह जीना विजयी घोषित हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि कार्य परिषद सदस्य पद हेतु विजयी प्रत्याशियों के साथ ही पूर्व डीएसबी परिसर निदेशक प्रो. एसपीएस मेहता, केवल सती, वीरेंद्र जोशी और पृथ्वीपाल सिंह ने नामांकन करवाया था। इनमें से पृथ्वीपाल सिंह का नामांकन खारिज हो गया था। दोपहर बाद हुए मतदान व उसके बाद हुई मतगणना में कैलाश जोशी सबसे पहले विजयी घोषित हुए। उनके बाद डॉ. सुरेश डालाकोटी, डॉ. प्रकाश पांडे, और डॉ. भूपेंद्र सिंह जीना निर्वाचित घोषित किए गए।

उल्लेखनीय है कि कार्य परिषद के चुनाव में सीनेट के 15 सदस्यों के साथ ही विश्वविद्यालय के सभी विभागाध्यक्ष, दो प्रोफेसर, दो एसोसियेट प्रोफेसर, डिग्री कॉलेजों के दो प्राचार्य आदि सदस्य मतदान करते हैं। चुनाव प्रक्रिया हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के पूर्व विभागाध्यक्ष एवं प्राध्यापक प्रो.अरुण सेनन की देखरेख में संपादित हुई। जबकि चुनाव प्रक्रिया में उप-कुलसचिव दुर्गेश डिमरी, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी अभिराम पंत, सीएस पंत व प्रकाश पांडे आदि ने योगदान दिया।

निर्वाचित सदस्यों को कुलपति प्रो. एनके जोशी, कुलसचिव दिनेश चन्द्रा, वित्त नियंत्रक अनीता आर्य, परीक्षा नियंत्रक प्रो. एचसीएस बिष्ट सहित कूटा यानी कुमाऊं विश्वविद्यालय के अध्यक्ष प्रो. ललित तिवारी व उनकी कार्यकारिणी सहित सभी प्राध्यापकों एवं अधिकारियों ने बधाई दी है।

राजनीति विज्ञान का परीक्षाफल घोषित
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने मंगलवारको विषम सेमेस्टर मुख्य परीक्षा सत्र 2021 में पंजीकृत एमए राजनीति विज्ञान के तीसरे सेमेस्टर का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया है। परिणाम विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर देखा जा सकता है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : डीएसबी परिसर नैनीताल ने 5-0 से जीती अंतर महाविद्यालयी हॉकी पुरुष प्रतियोगिता

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 7 जून 2022। डीएसबी परिसर नैनीताल द्वारा आयोजित कुमाऊं विश्वविध्यालय अंतर महाविद्यालय हॉकी पुरुष प्रतियोगिता आयोजक डीएसबी परिसर ने 5-0 से जीत ली। मंगलवार को आयोजित प्रतियोगिता का फाइनल मुकाबला डीएसबी परिसर नैनीताल तथा राधे हरि स्नातकोत्तर महाविद्यालय काशीपुर के मध्य खेला गया। मैच में डीएसबी के लिए भास्कर ने तीन तथा गणेश व गौतम ने 1-1 गोल किये।

मुख्य अतिथि कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एनके जोशी जी ने दोनों टीमों को फाइनल में पहुँचने एवं डीएसबी परिसर को जीत पर बधाई दी, तथा उत्तम स्वास्थ्य के लिए खेलों को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाने को कहा। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में पूर्व ओलंपियन राजेंद्र सिंह रावत के साथ डीएसए के हॉकी सचिव सीएल साह, परिसर के अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. एलएस लोधियाल, कुमाऊं विश्वविद्यालय के क्रीड़ा अधिकारी डॉ. नागेंद्र प्रसाद शर्मा, आयोजक सचिव डॉ. संतोष कुमार डॉ. सीमा चौहान, सुनील कुमार, अनीता रावत व डॉ. रविंद्र बिलवाल आदि उपस्थित रहे। संचालन मनोज कुमार ने किया।

परीक्षाफल घोषित
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने मंगलवार को बीएससी के प्रथम एवं एमए अर्थशास्त्र के तृतीय सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए हैं। परीक्षाफल विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर देखे जा सकते हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय का 17वां दीक्षांत समारोह: 58640 विद्यार्थियों को डिग्री, 410 को पीएचडी एवं 120 को पदक प्राप्त…

-नेतृत्वकर्ता बनें विद्यार्थी: कुलाधिपति

कुमाऊं विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में कुलाधिपति गोल्ड मेडल प्राप्त करती एक मेधावी छात्रा।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मई 2022। कुलाधिपति-राज्यपाल सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने शुक्रवार को कुमाऊं विश्वविद्यालय के 17वें दीक्षांत समारोह में वर्ष 2019-20 एवं 2020-21 के 58 हजार 640 स्नातक व परास्नातक विद्यार्थियों एवं 410 पीएचडी धारकों को उपाधि, 115 मेधावी विद्यार्थियों को पदक एवं 5 को नगद पुरस्कार प्रदान किए। इनमें 1973 में विश्वविद्यालय की स्थापना के बाद से पहली बार पीएचडी की डिग्री प्राप्त करने वाले पत्रकारिता के तीन विद्यार्र्थी भी शामिल रहे। देखें विडियो :

कुमाऊं विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में उपस्थित पीएचडी डिग्री प्राप्त करने वाले विद्यार्थी।

इस अवसर पर दीक्षोपदेश देते हुए राज्यपाल ने दीक्षितों से अपनी डिग्रियों का लाभ अपने समाज सहित हर भारतीय एवं देश को दिलाने, खासकर ग्रामीण महिलाओं के जीवन को सरल बनाने का आह्वान किया। कहा दीक्षा ले रहे विद्यार्थी नेतृत्वकर्ता, पथ प्रदर्शक एवं दूसरों को रोजगार उपलब्ध कराने वाले बनें। उन्होंने कहा, ज्ञान को कौशल से, विज्ञान को कलाओं से, नये को प्राचीन से, भाषा को विषयों से एवं ग्लोबल को लोकल से जोड़े जाने की आवश्यकता है। कहा कि ऐसा हुआ तो देश का विश्वगुरु बनने का सपना दूर नहीं रहेगा। उन्होंने कहा, शिक्षा का मुख्य उद्देश्य ‘प्रयोगशाला से धरातल एवं कक्षा से गांव’ होना चाहिए। उन्होंने इस बात पर खुशी जताई कि आज जिन 120 मेधावी विद्यार्थियों को पदक प्रदान किए गए, उनमें 95 बालिकाएं शामिल रहीं।

वहीं अपने संक्षिप्त संबोधन में प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने अपने संबोधन में इसी वर्ष से राज्य में नई शिक्षा नीति लागू करने, पाठ्यक्रम में वेद, ज्योतिष, वैदिक गणित, कुमाउनी एवं गढ़वाली भाषाएं, उत्तराखंड का इतिहास एवं कुमाऊं की दानवीर महिला जसुली सौक्यांणी जैसी राज्य के महापुरुषों को भी पाठ्यक्रम में शामिल करने की बात कही। उन्होंने बतया कि ई-ग्रंथालय में 40 लाख से अधिक पुस्तकें उपलब्ध हैं, फिर भी कुमाऊं विश्वविद्यालय को पुस्तकालय हेतु पुस्तकें, कम्प्यूटर आदि हर तरह की सुविधाएं देने एवं समस्याएं दूर करने की बात कही।

कुलपति प्रो. एनके जोशी ने विश्वविद्यालय की पिछले दो वर्ष की अकादमिक, शैक्षिक एवं खेल के क्षेत्र में प्राप्त उपलब्धियों का विस्तृत विवरण प्रस्तुत किया। कुलसचिव दिनेश चंद्रा ने धन्यवाद ज्ञापन किया। 1973 में विश्वविद्यालय की स्थापना के बाद से पहली बार पत्रकारिता के तीन विद्यार्थियों डॉ. पूनम बिष्ट, डॉ. नवीन चंद्र जोशी व डॉ. जशोदा बिष्ट ने भी डिग्री प्राप्त की।

दीक्षांत समारोह में पहली बार संस्कृति विभाग के विद्यार्थियों द्वारा की गई शंख ध्वनि एवं वैदिक मंत्रों के पाठ के साथ दीक्षांत समारोह का शुभारंभ एवं समापन हुआ। एनसीसी की 5 यूके नेवल यूनिट एवं 79 यूनिट के कैडेटों ने राज्यपाल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया एवं व्यवस्थाएं बनाने में योगदान दिया। आयोजन में स्थानीय विधायक सरिता आर्य, राज्यपाल के परिजन, डीएम धीराज गर्ब्याल, एसएसपी पंकज भट्ट, डीएसबी परिसर के निदेशक प्रो. एलएम जोशी, संकायाध्यक्ष प्रो. अतुल जोशी, प्रो. बीडी कविदयाल, प्रो. एमएस मावड़ी, प्रो. ललित तिवारी, प्रो. गिरीश रंजन तिवारी व डॉ. रीतेश साह सहित समस्त संकायाध्यक्ष, विभागाध्यक्ष एवं प्राध्यापक मौजूद रहे। संचालय डॉ. दिव्या उपाध्याय जोशी ने किया।

यह हुए पुरस्कृत
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय के 17वें दीक्षांत समारोह में वनस्पति विज्ञान में डॉ. चंद्रशेखर को डीएससी एवं संस्कृत हेतु डॉ. सूरज कुमार व प्रबंधन में डॉ. विनय कांडपाल को डीलिट की उपाधि प्रदान की गई। इनके अलावा 2021 के लिए स्नातक स्तर पर टॉपर के रूप में काजल आर्या को 11 हजार रुपए के नगद पुरस्कार के साथ प्रो. महिमा जोशी स्मृति विद्या भूषण सम्मान, बीएड की टॉपर साक्षी शर्मा को ओम कमला नेगी गोल्ड मेडल, स्नातक-विज्ञान की टॉपर हिमांशी अधिकारी को 10 हजार के नगद पुरस्कार के साथ सीएनआर राव फाउंडेशन इन्सेंटिव, डीएसबी परिसर की पत्रकारिता-एमजेएमसी की टॉपर हर्षिता मेहता को मुरारी लाल माहेश्वरी स्मृति गोल्ड मेडल, एमएससी ऑर्गनिक कैमिस्ट्री की टॉपर तनूजा बिष्ट को डॉ. डीएस भाकुनी गोल्ड मेडल, बीकॉम की टॉपर शुभ्रा को आईसीएसआई सिग्नेचर अवार्ड, स्नातक भौतिकी की टॉपर श्वेता राज को ओम भगवती प्रेम सिंह नेगी गोल्ड मेडल, एलएलबी के टॉपर मयंक अरोड़ा को ठाकुमर इंदर सिह नयाल स्मृति गोल्ड मेडल, एमए हिंदी की टॉपर निहारिका सिह को कलावती साहित्य पुरस्कार ट्रस्ट गोल्ड मेडल, एमएससी बायोटेक्नोलॉजी की टॉपर मेघना थापा व एमए इकॉनॉमिक्स की टॉपर लक्ष्मी साहू को सीताराम जिंदल फाउंडेशन गोल्ड मॉडल, इंद्रजीत कौर, लघिमा जोशी व अमन कुमार को कोठारी एकता धरम शिक्षाश्री पुरस्कार, रुचि पांडे, शुभ्रा, इंद्रजीत कौर, मयंक अरोड़ा, उमेश चंद्र व अंजली शर्मा को गौरा देवी गोल्ड मेडल दिए गए।

साथ ही रुचि पांडे, शुभ्रा, बबीता, लक्ष्मी साहू, अंजू रावत, ईशा मेहता, सचिन पांडे, निहारिका, पंकज बिष्ट, खुशबू सनवाल, कंचन जोशी, काजल आर्या, जागृति तिवारी, रक्षिता जोशी, मंजू सुयाल, गीता बिष्ट, मेघना थापा, तान्या वर्मा, कृष्णा बाकची, गिन्नी लोहिया, रमन कुमार, शिखा अधिकारी, उमा पाठक, नवलीन कौर, आकांक्षा जोशी, हर्षिता कुमारी, हिमांशी अधिकारी, हर्षित कांचव, श्वेता राय, तरुण पांडे, निधि शर्मा व अंजली शर्मा को वाइस चांसलर गोल्ड मेडल, शिप्रा राजपूत, निवेदिता पांडे व सपना पांडे को वाइस चांसलर सिल्वर मेडल तथा नारायण कुमार, मयंक अरोड़ा व मानसी चौहान को वाइस चांसलर ब्रांज मेडल दिये गए।

इनके अलावा 2020 हेतु उषा पांडे, दीपा तिवारी, मनीषा जोशी, राहुल नेगी, आरुषी गुप्ता, बीना, जानकी सुयाल, प्राजेश तमांग, कुमुद चौधरी, तेजस्विनी शर्मा, शशांक तिवारी, दीक्षा मिश्रा, ऋतु पासी, सूरज सिंह, अंकिता, सुप्रिया पांडे, अमित बेलवाल, दीपा, यामिनी ठाकुर, मंजरी बल्यूटिया, अंजुम, सर्वजीत कौर, रंजना चौहान, मेघना तिवारी, शिखा जोशी, कविता पुनेठा, जानकी सुयाल, नेहा, जया बिष्ट, धर्मेंद्र कापड़ी, बिबेचना छेत्री, शिखा विनवाल, वसुंधरा लोधियाल, कविता, तरुण बिष्ट, समीक्षा मनराल, इंटोली टी, बबीता जोशी, अनु गाबा, पूजा पांडे, भावना चौबे, मनीषा पाठक, आरुषी गुप्ता, प्रिया गंगवार, सुमन उपाध्याय, विष्णु प्रभाकर नितवाल व चेतन चौधरी को विभिन्न पदक दिए गए।

यह हस्तियां आ व सम्मानित हो चुकी हैं कुमाऊं विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में देश के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम, थल सेनाध्यक्ष जनरल बीसी जोशी, पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हाराव, प्रो. यशपाल, प्रो. एसके जोशी, पर्यावरणविद् डॉ. वंदना शिवा आदि हस्तियां शामिल हो चुके हैं। जबकि डॉ. डीडी पंत, लेखक ईला चंद्र जोशी, गोविंद बल्लभ पंत, प्रो. श्रीकृष्ण जोशी, शैलेश मटियानी, जनरल बीसी जोशी, डॉ. देशबंधु बिष्ट, लेफ्टिनेंट जनरल जीएस रावत, डॉ. कर्ण सिंह, नारायण दत्त तिवारी, फाली एस नारीमन, बीडी पांडे, डॉ. एचसी पांडे, डॉ. सी रंगराजन, डॉ. आरके पचौरी, डॉ. एमसी पंत, पद्मश्री मृणाल पांडे, पद्मभूषण चंडी प्रसाद भट्ट, हिमांशु जोशी, देश के सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, प्रसून जोशी, सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ न्यायाधीश डॉ. डीवाई चंद्रचूड़, इंडिया टीवी के संपादक रजत शर्मा व डॉ. सौमित्र रावत को अब तक कुमाऊं विश्वविद्यालय के द्वारा मानद उपाधि दी गई है। जबकि इस बार किसी को मानद उपाधि नहीं दी जा रही है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के लिए आई अंतिम अपडेट

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 23 मई 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय का आगामी 27 मई को प्रस्तावित 17वें दीक्षांत समारोह में कुलाधिपति राज्यपाल के हाथों वर्ष 2019-20 एवं 2020-21 के 58 हजार 640 स्नातक-परास्नातक विद्यार्थियों एवं 410 पीएचडी धारकों को उपाधि, 115 मेधावी विद्यार्थियों को पदक एवं 50 को नगद पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। साथ ही वनस्पति विज्ञान में डॉ. चंद्रशेखर हेतु डी एससी एवं संस्कृत हेतु डॉ. सूरज कुमार व प्रबंधन के डॉ. विनय कांडपाल को डीलिट की उपाधि भी प्रदान की जाएगी, एवं दीक्षोपदेश दिया जाएगा। देखें दीक्षांत समारोह में पीएचडी की उपाधि प्राप्त करने वालों की सूची: https://www.kunainital.ac.in/images/announcements/Ph.D.%20Scholar%20List.pdf, देखें पदक विजेताओं की पूरी सूची इन लिंक्स  पर : https://www.kunainital.ac.in/images/announcements/MEDAL%20LIST%202020%20FINAL%2018-05-2022.pdf, https://www.kunainital.ac.in/images/announcements/MEDAL%20LIST%202021%20FINAL%2018-05-2022.pdf

सोमवार को कुलपति प्रो. एनके जोशी ने विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में यह जानकारी दी। बताया कि डीएसबी परिसर के एएन सिंह सभागार में आयोजित होने वाले दीक्षांत समारोह में प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत भी उपस्थित रहेंगे। अलबत्ता अब तक इस वर्ष मानद उपाधि दिए जाने पर निर्णय नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में एनसीसी की नेवल यूनिट के कैडेटों के द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा एवं संस्कृत के विद्यार्थियों द्वारा उच्चारित वेदमंत्रों के बीच अकादमिक शोभायात्रा निकाली जाएगी।

पीएचडी, डी लिट एवं डीएससी तथा पदक प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों को 25 व 26 मई को भौतिकी सभागार में अपना पंजीकरण कराना होगा। डीएसबी के परिसर निदेशक प्रो. एलएम जोशी ने बताया कि दीक्षांत समारोह के लिए समस्त तैयारियां काफी हद तक पूरी कर ली गई हैं। पत्रकार वार्ता में कुलसचिव दिनेश चंद्रा एवं शोध व प्रसार निदेशक प्रो. ललित तिवारी व प्रो. गिरीश रंजन तिवारी आदि लोग भी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय ने घोषित किए पदक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों के नाम, अधिकांश छात्राएं…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 19 मई 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने आगामी 27 मई को पूर्वाह्न 11 बजे से आयोजित होने जा रहे दीक्षांत समारोह के अवसर पर 2020 एवं 2021 में स्नातक व स्नातकोत्तर स्तर पर सर्वोच्च अंकों के साथ उत्तीर्ण होने वाले मेधावी विद्यार्थियों को पदक प्रदान करेगा। खास बात है एक-दो बालकों को छोड़कर शेष सभी पदक छात्राओं को मिलने जा रहे हैं। साथ ही बताया गया है कि 26 मई को अपराह्न दो बजे से दीक्षांत समारोह का पूर्वाभ्यास डीएसबी परिसर के एएन सिंह सभागार में किया जाएगा। 

इस कड़ी में बताया गया है कि आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय के छात्र आदर्श ने जीता जू-जित्सू में अंतर्राष्ट्रीय पदक

अंतर्राष्ट्रीय पदक प्राप्त करने के बाद कुलपति से मुलाकात करते आदर्श छात्र।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 18 मई 2022। बहरीन मनामा में आयोजित छठी एशियन जू-जित्सू चैंपियनशिप में कुमाऊं विश्वविद्यालय के बीफार्मा के छात्र आदर्श शर्मा ने 94 किलोग्राम भार वर्ग में कांश्य पदक जीता। बुधवार को आदर्श ने कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एनके जोशी से विश्वविद्यालय के क्रीड़ा अधिकारी डॉ. नागेंद्र शर्मा की मौजूदगी में मुलाकात की।

कुलपति जोशी ने इस पर डॉ. शर्मा को शीघ्र ही सम्मान समारोह आयोजित कर यह अंतर्राष्ट्रीय पदक जीतने पर सम्मानित करने के निर्देश दिए। डॉ. शर्मा ने कहा कि आदर्श ने इस अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में पदक जीतकर विश्वविद्यालय ही नहीं प्रदेश और देश का नाम भी रोशन किया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय के पीएचडी व परिणाम के 2 समाचार

वार्षिक सुधार परीक्षा के परिणाम घोषित
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 4 मई 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने गुरुवार को वार्षिक सुधार परीक्षा 2021 में पंजीकृत परीक्षार्थियों के बीए, बीकॉम व बीएससी के प्रथम, द्वितीय व तृतीय वर्ष की परीक्षाओं के परिणाम घोषित कर दिए हैं। परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि परीक्षाफल विश्वविद्यालय की वेबसाइट में लॉग इन करके देखा जा सकता है। यह भी कहा है कि प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों को 6 मई तक द्वितीव व तृतीय वर्ष की परीक्षाओं के लिए परीक्षा आवेदन पत्र एवं शुल्क ऑनलाइन जमा करना है।

पीएचडी की तीसरी काउंसिलिंग 6 को
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय के द्वारा पीएचडी की रिक्त सीटों पर प्रवेश हेतु प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों के लिए तीसरे चरण की काउंसिलिंग का कार्यक्रम जारी कर दिया गया है। कुलसचिव दिनेश चंद्रा की ओर से बताया गया है कि विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जारी की गई वरीयता सूची में शामिल अर्ह अभ्यर्थी काउंसिलिंग का शुल्क 1,500 रुपए ऑनलाइन जमा करके 6 मई को भीमताल परिसर में सुबह 10 बजे से शुरू होने वाली काउंसिलिंग में अपने समस्त शैक्षणिक प्रमाण पत्रों के साथ शामिल हो सकते हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय के संगोष्ठी, शोध व परिणाम के चार समाचार…वनाग्नि सुरक्षा जागरूकता पर संगोष्ठी का हुआ आयोजन

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 अप्रैल 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय के डीएसबी परिसर के सभागार में शनिवार को ‘प्राकृतिक संपदा को यूं न गवाएं, वनों को आग से बचाएं, वनों को आग से बचाने में आप भीं सहयोगी बने’ थीम पर वनाग्नि सुरक्षा जागरूकता पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

वन विभाग, कुमाऊं विश्वविद्यालय के शोध एवं प्रसार निदेशालय व राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ, केयूआईआईसी तथा कुमाऊं विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (कूटा) व इग्नू डीएसबी के द्वारा आयोजित संगोष्ठी में मुख्य वक्ता तथा मुख्य अतिथि के रूप में प्रभागीय वन अधिकारी नैनीताल टीआर बीजू लाल ने कहा कि जंगल को आग से बचाना उनकी प्राथमिकता है। वन विभाग पूरी तत्परता से यह कार्य करता है। उन्होंने आग एवं पिरुल पर व्यापक चर्चा भी की।

शोध निदेशक प्रो.ललित तिवारी, डॉ. रजनी रावत, वन क्षेत्राधिकारी ममता चंद, डॉ. पांगती, अतुल भगत, आनद लाल, प्रो. एलएस लोधियाल आदि ने इस अवसर पर विचार रखे। इस मौके पर डॉ. सुषमा टम्टा, डॉ.विजय कुमार, प्रो. हरीश बिष्ट, डॉ.नीलू लोधियाल, डॉ. अशीष तिवारी, डॉ.पैनी जोशी, डॉ.तेज प्रकाश, डॉ.ममता जोशी, डॉ.हर्ष चौहान, डॉ.संदीप मंडोली, डॉ.रुचि, डॉ. नवीन पांडे, डॉ. हेम पांडे, डॉ.आशुतोष, वसुंधरा डॉ. प्रभा, गीतांजलि, दिशा, हिमानी, कुंजिका, सौम्या, कविता, अर्चना, डॉ. दीपक मेलकानी, पंकज भट्ट डॉ. शर्मा डॉ. मित्तल, निधि वर्मा, विशाल बिष्ट सहित बड़ी संख्या में शोधार्थी एवम केपी व एसआर छात्रावास के छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

अर्थशास्त्र विभाग का लघु शोध प्रस्तुतीकरण 27 को
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 अप्रैल 2022। डीएसबी परिसर नैनीताल के एमए-अर्थशास्त्र के तृतीय सेमेस्टर के लघु शोध का अंतिम प्रस्तुतीकरण आगामी 27 अप्रैल को प्रातः साढ़े नौ बजे से आयोजित होगा। विभागाध्यक्ष प्रो. रजनीश पांडे ने बताया कि विद्यार्थियों को अपना प्रस्तुतीकरण पावर पॉइंट स्लाइडो के माध्यम से 26 अप्रैल की शाम 4 बजे तक विभागीय ईमेल पर भेजना है।

बीकॉम प्रथम सेमेस्टर का परीक्षाफल घोषित
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने शनिवार को बीकॉम प्रथम सेमेस्टर की मुख्य परीक्षा का परीक्षाफल घोषित कर दिया। परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि परीक्षाफल विश्वविद्यालय की वेबसाइट में देखा जा सकता है।

पीएचडी की दूसरे चरण की काउंसिलिंग 26 को
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने दूसरे चरण की पीएचडी काउंसिलिंग के लिए अर्ह अभ्यर्थियों की वरीयता सूची विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दी है। अर्ह अभ्यर्थियों से ऑनलाइन माध्यम से काउंसिलिंग शुल्क जमा कर आगामी 26 अप्रैल को सुबह 10 बजे से डीएसबी में अपने शैक्षणिक प्रमाण पत्रों एवं अन्य संबंधित दस्तावेजों के साथ संबंधित विभागों में उपस्थित होने को कहा गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दीक्षांत समारोह में वित्तीय अनियमितता के आरोपों वाली जनहित याचिका निस्तारित…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 अप्रैल 2022। उत्तराखंड उच्च न्यायालय की वरिष्ठ न्यायाधीश न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी व न्यायमूर्ति आरसी खुल्बे की खंडपीठ ने कुमाऊं विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में वित्तीय गड़बड़ी के खिलाफ दायर जनहित याचिका को जांच समिति की रिपोर्ट के बाद निस्तारित कर दिया है। जांच रिपोर्ट में दीक्षांत समारोह में कोई भी गड़बड़ियां या वित्तीय अनियमितताएं नही पाई गई हैं।

न्यायालय में नैनीताल निवासी गोपाल सिंह बिष्ट द्वारा दायर की गई जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान मुख्य स्थायी अधिवक्ता सीएस रावत ने पीठ को बताया कि न्यायालय के आदेश के अनुपालन में सरकार द्वारा गठित चार सदस्यीय जांच समिति को जांच में किसी भी तरह की अनियमितता नहीं मिली है। लिहाजा याची द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं। जो अधिक खर्च हुआ और बिना निविदा के कार्य हुए, वह इसलिए कि दीक्षांत समारोह के दौरान ही अचानक मौसम बदल गया था। इस कारण तत्काल ही वाटर प्रूफ टेंट की व्यवस्था की गई। इसके लिए निविदा निकालना असंभव था। कॉफी मशीन भी लगायी गयी, जोकि पहले आदेश में छूट गई थी।

उल्लेखनीय है कि जनहित याचिका में दीक्षांत समारोह में सरकारी धन के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए कहा गया था कि समारोह में 1200 लोगों के भोजन की व्यवस्था करने की निविदा आमंत्रित की गई थी, लेकिन 1676 लोगों के भोजन के बिल का भुगतान किया गया। कॉफी मशीन का अतिरिक्त 84 हजार और पूड़ी व रुमाली रोटी का अतिरिक्त 90 हजार का बिल सहित 7 लाख 57 हजार की जगह 15 लाख 34 हजार रुपये का खर्च दिखाया गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय में आयोजित हुई त्रैमासिक कार्यशाला

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 8 अप्रैल 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय के भीमताल परिसर स्थित जैव प्रौद्योगिकी विभाग में केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय तथा यूकोस्ट के सहयोग से ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों तरीके से त्रैमासिक तकनीकी प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया।

कार्यशाला में विभिन्न विश्वविद्यालयों 10 प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया। इस दौरान लाइफ साइंसेज सैक्टर स्किल डेवलपमेंट काउंसिल द्वारा प्रतिभागियों की ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा भी ली गई। कार्यशाला में जैव तकनीकी विभाग की अध्यक्ष प्रो. वीना पांडे, डॉ. तपन नैलवाल, डॉ. प्रवीण ध्यानी आदि ने उल्लेखनीय योगदान दिया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊँ विश्वविद्यालय के एचआरडीसी सेंटर को 22 स्थानों की उछाल के साथ देश में मिला चौथा स्थान

पिछले वर्ष मिला था 26वां स्थान

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 7 अप्रैल 2022। यूजीसी यानी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की विशेषज्ञ समिति ने विगत वर्ष के दौरान किये गए प्रदर्शन की समीक्षा करते हुए देश भर के एचआरडीसी यानी मानव संसाधन विकास केंद्रों के लिए जारी ताजा सूची में कुमाऊँ विश्वविद्यालय के एचआरडीसी को चौथे स्थान पर रखा है। विदित हो कि गत वर्ष कुमाऊँ विश्वविद्यालय के एचआरडीसी को इस सूची में 26वां स्थान प्राप्त हुआ था इस प्रकार इसने 22 अंकों की बड़ी छलांग लगाई है।

बताया गया है कि यह सूची स्व-मूल्यांकन और समिति के समक्ष ऑनलाइन प्रस्तुतीकरण एवं परीक्षण के आधार पर तैयार की गई है। विदित हो कि कुमाऊँ विश्वविद्यालय का एचआरडीसी देश भर में मौजूद 66 अकादमिक स्टाफ कॉलेज में से एक है, इसकी स्थापना वर्ष 2006 में की गई थी। यह वर्तमान में उच्च शिक्षा के शिक्षकों के प्रशिक्षण हेतु उत्तराखंड राज्य का एकमात्र प्रशिक्षण संस्थान है।

यूजीसी द्वारा जारी इस सूची में प्रथम स्थान यूनिवर्सिटी ऑफ केरला, द्वितीय स्थान अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एवं तृतीय स्थान मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी हैदराबाद ने प्राप्त किया है। विश्वविद्यालय की इस उपलब्धि पर विवि के कुलपति प्रो. एनके जोशी ने बधाई देते हुए कहा कि यह सफलता और राष्ट्रीय पहचान हमारी प्रतिभाशाली फैकल्टी, समर्पित एवं ईमानदार गैर-शिक्षण सहयोगियों के निरंतर प्रयासों का परिणाम है। इस उपलब्धि पर यूजीसी एचआरडीसी की निदेशक प्रो. दिव्या उपाध्याय जोशी ने प्रसन्नता जताते हुए कहा कि यह प्रारंभिक सफलता है।

अभी रैंकिंग के पहले पायदान में आने हेतु प्रयास किये जा रहे हैं। सहायक निदेशक डॉ. रीतेश साह ने कहा कि यह उपलब्धि मानव संसाधन विकास केंद्र के कार्मिकों की कड़ी मेहनत एवं विश्वविद्यालय के शिक्षकों, अधिकारियों और कर्मचारियों तथा देश के विभिन्न विश्वविद्यालयो के विषय विशेषज्ञों व प्रतिभागियों के योगदान से प्राप्त हुई है। कुलसचिव दिनेश चंद्रा, डीएसबी के परिसर निदेशक प्रो. एलएम जोशी, प्रो. ललित तिवारी, प्रो. राजीव उपाध्याय, प्रो. संजय पंत, उप कुलसचिव दुर्गेश डिमरी, विधान चौधरी, प्रकाश पांडे, नवीन पनेरू सहित कूटा के सदस्यों ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए बधाई एवं शुभकामनायें दी हैं।

नेहा व रेनू ने मौखिकी परीक्षा देकर प्राप्त की शोध उपाधि
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय के डीएसबी परिसर नैनीताल के वनस्पति विज्ञान विभाग की शोध छात्रा नेहा चोपड़ा व रेनू रावल ने पीएचडी की मौखिकी परीक्षा देकर शोध उपाधि प्राप्त कर ली है। ऑनलाइन माध्यम से हुई इस मौखिकी परीक्षा में बाह्य विशेषज्ञ दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रो.केएस राव व कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की प्रो.स्मिता चौधरी रहीं।

नेहा ने अपना अपना शोध कार्य प्रो.ललित तिवारी तथा डॉ. आशीष तिवारी के निर्देशन में ‘डेवलपिंग एलोमेट्रिक इक्वेशन एंड असेसिंग कार्बन सिक्वाट्रेशन पोटेंशियल ऑफ थ्री इकोनॉमिक इम्पोर्टेंट प्लांटेशन स्पेसीज इन तराई भाभर रीजन उत्तराखंड’ एवं रेनू ने अपना शोध कार्य प्रो.ललित तिवारी तथा स्वर्गीय प्रो. रणवीर सिंह रावल के निर्देशन में ‘असेसमेंट ऑफ फ्लोरिस्टिक डायवर्सिटी एंड रेयरिटी पैटर्न अलोंग दि अल्टीट्यूडल ग्रेडिएंट इन द फॉरेस्ट लैंड स्कैप ऑफ वेस्ट हिमालय’ विषय पर पूरा किया है। मौखिकी परीक्षा विभागाध्यक्ष प्रो. एसएस बर्गली, प्रो. वाईएस रावत, डॉ.किरण बर्गली, डॉ,सुषमा टम्टा, डॉ.नीलू लोधियाल, डॉ.अनिल बिष्ट, डॉ. कपिल खुल्बे, डॉ. हर्ष चौहान, डॉ. नवीन पांडे, डॉ. प्रभा पंत, गीतांजलि, दिशा,हिमानी सहित अन्य शोधार्थी उपस्थित रहे।

ऑनलाइन परीक्षा आवेदन पत्र व फीस जमा करने की तिथि घोषित
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर के विलंब से प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन परीक्षा आवेदन पत्र एवं परीक्षा शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि 15 अप्रैल निर्धारित कर दी है। परीक्षा नियंत्रक ने इस तिथि तक ऐसे विद्यार्थियों से निर्धारित तिथि के भीतर ऑनलाइन परीक्षा आवेदन पत्र एवं परीक्षा शुल्क जमा करने की अपील की है।

यह भी पढ़ें : बीएड की तीसरे चरण की काउंसिलिंग प्रक्रिया शुरू

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 मार्च 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने बीएड में प्रवेश के लिए दो चरणों की काउंसिलिंग के बाद भी खाली पड़ी सीटों के लिए तीसरे चरण के लिए काउंसिलिंग की प्रक्रिया शुरू कर दी है। डीआईसी निदेशक प्रो. संजय पंत ने बताया कि इस हेतु बीएम की प्रवेश परीक्षा की वरीयता सूची में शामिल अभ्यर्थी 29 मार्च से 4 अप्रैल तक आवेदन कर सकते हैं।

इसके बाद 6 अप्रैल को वरीयता सूची जारी की जाएगी, तथा 7 से 11 अप्रैल तक प्रवेश दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण की काउंसिलिंग का शुल्क देने के बाद भी प्रवेश न ले पाए अभ्यर्थी भी तीसरे चरण की काउंसिलिंग में शामिल हो सकते हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊँ विश्वविद्यालय में 26 को दो कार्यशालाएं, पीएचडी के लिए वरीयता सूची तैयार, काउंसिलिंग प्रारंभ, राजनीति के आरोप….

उत्तराखंड के जीआई टैग प्राप्त उत्पादों पर ऑनलाइन कार्यशाला 26 को
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 मार्च 2022। आगामी 26 मार्च को कुमाऊँ विश्वविद्यालय के बौद्धिक सम्पदा अधिकार प्रकोष्ठ के द्वारा प्रातः 11 बजे से यूकोस्ट देहरादून के संयुक्त तत्वाधान में ‘उत्तराखंड के भौगोलिक संकेत (जीआई टैग) जानकारी एवं जागरूकता’ विषय पर एक दिवसीय ऑनलाईन कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। प्रकोष्ठ के संयोजक प्रो. अतुल जोशी ने बताया कि कार्यशाला में पर्यावरणविद पद्मभूषण डॉ. अनिल जोशी मुख्य अतिथि होंगे और कुलपति प्रो. एनके जोशी अध्यक्षता करेंगे।

उन्होंने बताया कि उत्तराखंड के सात उत्पादों-कुमाऊं के च्यूरा तेल, मुनस्यारी के राजमा, उत्तराखंड के भोटिया दन, उत्तराखंडी ऐंपण, उत्तराखंड के रिंगाल हस्त उत्पाद, उत्तराखंड के ताम्र उत्पाद और उत्तराखंड के थुलमा को भौगोलिक सकेंतांक (ज्योग्राफिक इंडिकेशन) प्राप्त हुआ है व इन्हें वैश्विक स्तर पर पहचान मिली है। ‘वोकल फार लोकल’ और स्थानीय उत्पाद के प्रचार-प्रसार में जीआइ टैग महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

उन्होने बताया कि इस कार्यशाला में पेटेंट इनफार्मेशन सेंटर, यूकोस्ट, देहरादून के हिमांशु गोयल मुख्य वक्ता, डॉ. भारतीय मृदा एवं जल संरक्षण संस्थान देहरादून के प्रधान वैज्ञानिक गोपाल कुमार अतिथि वक्ता, डॉ, सुनील पाण्डेय व प्रयाग रावत विषय विशेषज्ञ के रूप में प्रतिभाग कर जीआइ टैग के संबंध में जानकारी एवं जागरूकता बढ़ाने का प्रयास करेंगे। शोधार्थियों को 25 मार्च 2022 को शाम 5 बजे तक ऑनलाइन पंजीकरण करवाना अनिवार्य है। कार्यशाला हेतु पंजीकरण एवं उससे जुडने के लिये आवश्यक लिंक एवं अन्य सूचनायें कुमाऊँ विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं।

महादेवी वर्मा की 115वीें जयंती पर होगा स्मृति व्याख्यान तथा कविता पाठ का आयोजन
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 मार्च 2022। कुमाऊँ विश्वविद्यालय की रामगढ स्थित महादेवी वर्मा सृजन पीठ द्वारा हिंदी मे स्त्री विमर्श की प्रथम उदघोषिका सुप्रसिद्ध कवयित्री महादेवी वर्मा के 115वीं जयंती पर आगामी 26 मार्च को 9वें महादेवी वर्मा स्मृति व्याख्यान तथा कविता पाठ का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर ‘कविता में समकाल’ विषय पर स्मृति व्याख्यान उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के प्रतिष्ठित सर्जना पुरस्कार, केदार सम्मान, ऋतुराज सम्मान एवं कविवर हरिनारायण व्यास सम्मान से सम्मानित वरिष्ठ साहित्यकार हरीश चन्द्र पांडे देंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुमाऊँ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एनके जोशी करेंगे।

यह जानकारी महादेवी वर्मा सृजन पीठ के निदेशक प्रो. शिरीष मौर्य ने बताया कि कार्यक्रम के दूसरे सत्र में उत्तराखंड के प्रमुख कवियों का कविता पाठ भी आयोजित किया जा रहा है। पीठ के शोध अधिकारी मोहन रावत ने बताया कि महादेवी वर्मा स्मृति व्याख्यान सृजन पीठ की वार्षिक व्याख्यानमाला है। इस श्रंखला के अंतर्गत अब तक प्रो. नामवर सिंह, प्रो. मैनेजर पांडेय, प्रो. केदारनाथ सिंह, प्रो. विश्वनाथ त्रिपाठी, अरुण कमल, मंगलेश डबराल, मृदुला गर्ग और प्रो. राजेंद्र कुमार के स्मृति व्याख्यान आयोजित किए जा चुके हैं।

पीएचडी के लिए वरीयता सूची तैयार, काउंसिलिंग प्रारंभ
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित पीएचडी प्रवेश परीक्षा में लिखित तथा साक्षात्कार परीक्षा में प्राप्त अंकों से तैयार वरीयता सूची बृहस्पवितार को जारी कर दी गइ।। इसके बाद डीएसबी परिसर नैनीताल तथा सर जेसी बोस परिसर भीमताल में काउंसिलिंग की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। डीआईसी निदेशक प्रो. संजय पंत ने बताया कि विभिन्न विभागों के कुल 136 विद्यार्थियों को काउंसलिंग के लिए आमंत्रित किया गया है। अभ्यर्थियों को अपने सभी मूल प्रमाण पत्रों के साथ स्वप्रमाणित प्रतियों के साथ काउंसिलिंग में उपस्थित होना है। काउंसलिंग प्रक्रिय में शोध एवम प्रसार निदेशक प्रो. ललित तिवारी सहित सभी विभागों व संकायों के अध्यक्षों, प्राध्यापकों सहित शिक्षणेत्तर कर्मचारियों ने महत्वपूर्ण सहयोग दिया। 

कुमाऊं विश्वविद्यालय भ्रष्टाचार और राजनीति का अखाड़ा : राणा 
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता हरीश राणा ने विश्वविद्यालय पर बिना पूरी तैयारियों के परीक्षाएं कराने का आरोप लगाते हुए इसे बहुत बड़ी लापरवाही बताया है। प्रेस को जारी बयान में राणा ने कहा है कि अधिकांश छात्रों को परीक्षा में नहीं बैठने दिया गया है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि विश्वविद्यालय को कुछ शिक्षको ने राजनीति एवं व्यापार का केंद्र बना दिया है। उनका किसी भी राजनीतिक विचारधारा से कोई लेना देना नहीं है। उनका मकसद केवल सत्ता का फायदा उठाना है। अधिकांश शिक्षकों को विश्वविद्यालय के काम में लगाया गया है उनके स्थान पर छात्रों को पढ़ाने के लिए डीएसबी परिसर में शिक्षकों की व्यवस्था नहीं है। विश्वविद्यालय प्रशासन भी छात्रों एवं कर्मचारियों के हितों की अनदेखी कर रहा है। इस संबंध में जल्द ही कुमाऊं भर के छात्रनेताओं को एक मंच में लाकर आंदोलन की रणनीति बनायी जाएगी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पीएचडी अभ्यर्थियों का साक्षात्कार के बाद स्कोर कार्ड अपलोड

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 15 मार्च 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने पीएचडी प्रवेश परीक्षा के उपरांत गत 4 व 5 मार्च को आयोजित हुए साक्षात्कार के उपरांत परीक्षाफल विश्वविद्यालय की सेबसाइट पर घोषित कर दिया है।

डीआईसी निदेशक प्रो. संजय पंत ने बताया कि अभ्यर्थीय अपनी पंजीकरण संख्या के माध्यम से अपना स्कोर कार्ड घोषित कर सकते हैं। आगे अभ्यर्थियों को उपलब्ध रिक्त सीटों के सापेक्ष वरीयता के आधार पर पीएचडी पाठ्यक्रम में प्रवेश काउंसिलिंग के उपरांत दिया जाएगा।

बायो टेक, फार्मेसी, प्रबंधन की काउंसिलिंग 24 को
नैनीताल। बताया गया है कि वरीयता सूची में बायो टेक्नोलॉजी, फार्मेसी व प्रबंधन के पाठ्यक्रमों के लिए काउंसिलिंग की प्रक्रिया 24 मार्च को सुबह 10 बजे से भीमताल परिसर में आयोजित होगी। इसके लिए 1500 रुपए की काउंसिलिंग फीस ऑनलाइन जमा करनी होगी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय सीनेट के लिए 15 सदस्य निर्वाचित

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 5 मार्च 2022। कुमाऊं विवि की सीनेट कही जाने वाली सर्वोच्च संस्था विश्वविद्यालय सभा के 15 सदस्यों के चुनाव का परिणाम घोषित कर दिया गया है। चुनाव में 23 प्रत्याशियों के लिए 723 पंजीकृत स्नातक मतदाताओं में से 642 ने डाक के माध्यम से मतदान किया।

हेमवती नंदन बहुगुणा केद्रीय विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर अरुण सेनन की मौजूदगी में गहमागहमी के बीच विवि प्रशासनिक भवन में मतों की एकल संक्रमणीय पद्धति से गिनती की गई। चुनाव अधिकारी व कुलसचिव दिनेश चंद्रा ने बताया कि केवल सती, बहादुर पाल, कैलाश चंद्र, पवन सिंह, पूर्व कार्य परिषद सदस्य डॉ. सुरेश डालाकोटी, जितेंद्र भट्ट, वर्तमान कार्य परिषद सदस्य प्रकाश पांडे, विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त कर्मचारी बीरेंद्र जोशी, अनिल कुमार, भाजपा नेता प्रमोद बिष्ट डॉ. बीएस जीना, डीएसबी परिसर के पूर्व सेवानिवृत्त निदेशक प्रो. एसपीएस मेहता, हरेंद्र बिष्ट, पृथ्वीपाल सिंह तथा पूर्व कार्य परिषद सदस्य अचिंत बीर सिंह शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि सीनेट के निर्वाचित सदस्य विश्वविद्यालय में आय-व्यय सहित अन्य महत्वपूर्ण कार्यों के निर्णय ले सकते हैं, और विश्वविद्यालय की ईसी यानी कार्य परिषद के लिए इन्हीं 15 सदस्यों में से 4 सदस्यों को शीघ्र ही होने वाले मतदान के बाद चुना जाएगा। इस दौरान कार्यपरिषद सदस्य अरविंद पडियार, चंद्रशेखर पंत व विधान चौधरी सहित अन्य लोग मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय ने परीक्षा परिणाम किए घोषित, बीएड के आवंटन पत्र अपलोड

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 11 फरवरी 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने शुक्रवार को बीपीई एंड स्पोर्ट्स साइंसेज व बीएफए के चौथे सेमेस्टर तथा एमएससी इन फैशन डिजाइनिंग, एमएससी इन्वायरमेंटल साइंस-सेल्फ फाइनेंस, एलएलपी प्रथम वर्ष एवं मास्टर ऑफ फार्मेसी-फार्मास्युटिक्स, फार्मास्युटिकल कैमिस्ट्री, फार्माकॉग्नोसी व फार्माकोलॉजी के दूसरे सेमेस्टर की परीक्षाओं के परिणाम घोषित कर दिए हैं। परीक्षा नियंत्रक डॉ. एचसीएस बिष्ट ने बताया कि परिणाम विश्वविद्यालय की वेबसाइट में लॉग इन करके देखा जा सकता है।

बीएड में प्रवेश के आवंटन पत्र अपलोड
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने बीएड पाठ्यक्रम-2021 मं प्रवेश हेतु आयोजित प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंकों एवं अधिमान अंकों के आधार पर काउंसिलिंग से अभ्यर्थियों को परिसर, महाविद्यालय या संस्थान आवंटित कर दिए हैं। विश्वविद्यालय के डीआईसी निदेशक प्रो. संजय पंत ने बताया कि अभ्यर्थी विश्वविद्यालय की वेबसाइट से अपने आवंटन पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रवेश व परीक्षा के दो समाचार…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 31 जनवरी 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने सोमवार को बीकॉम ऑनर्स, बीबीए ऑटोमोबाइल टेक्नोलॉजी व बीबीए के चौथे तथा बैचलर ऑफ हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट व बीसीए के दूसरे सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए हैं। परीक्षा नियंत्रक डॉ. एचसीएस बिष्ट ने बताया कि परिणाम विवि की आधिकारिक वेबसाइट में लॉग इन करके देखे जा सकते हैं।

बीएड काउंसिलिंग की अंतिम तिथि बढ़ी
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने बीएड पाठ्यक्रम के प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु परिसर, महाविद्यालय व संस्थान के आवंटन के हेतु ऑनलाइन काउंसिलिंग की अंतिम तिथि 31 जनवरी की जगह बढ़ाकर सात फरवरी कर दी है। कुलसचिव दिनेश चंद्रा ने यह जानकारी दी है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : परीक्षा परिणाम घोषित

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 29 जनवरी 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने शनिवार को बीवॉक इन हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट, बीवॉक डिप्लोमा इन बैंकिंग एंड फाइनेंस सर्विसेज, बीएससी फैशन डिजाइनिंग के दूसरे व चौथे तथा बीबीए व बीवॉक फूड टेक्नोलॉजी के दूसरे व एमएसडब्लू के चौथे सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए हैं। परीक्षा नियंत्रक डॉ. एचसीएस बिष्ट ने बताया कि परीक्षाफल विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर लॉग इन कर देखा जा सकता है।

प्रवेश हेतु अंतिम तिथि 1 फरवरी
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय ने सरस्वती इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी रुद्रपुर के एमएड पाठ्यक्रम में प्रथम सेमेस्टर में प्रवेश हेतु पंजीकरण करने के लिए एक फरवरी की अंतिम तिथि नियत कर दी है। कुलसचिव ने यह जानकारी दी है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय की पीएचडी प्रवेश परीक्षा व प्रस्तावित खेल प्रतियोगिताओं पर अपडेट….

पीएचडी की 134 सीटों के लिए आयोजित हुई प्रवेश परीक्षा

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जनवरी 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय की 2021 के शैक्षिक सत्र की पीएचडी प्रवेश परीक्षा रविवार को डीएसबी परिसर नैनीताल तथा आम्रपाली इंस्टीट्यूट हल्द्वानी में आयोजित हुई। 26 विषयों के लिए कुल 134 रिक्त सीटों के लिए हुई परीक्षा में कुल पंजीकृत 1502 प्रवेक्षार्थियों में से 349 ने डीएसबी परिसर तथा 938 ने आम्रपाली इंस्टीट्यूट हल्द्वानी में परीक्षा दी।

परीक्षा के सफल आयोजन में कुमाऊं विश्विद्यालय के डीआईसी निदेशक प्रो.संजय पंत, परीक्षा नियंत्रक प्रो. एचएस बिष्ट, शोध एवम प्रसार निदेशालय के निदेशक प्रो ललित तिवारी, डॉ रितेश साह, डॉ.गगन होती, डॉ.अशोक कुमार, अभिराम पंत, हेम भट्ट, अमित आर्या, पंकज पाठक, उम्मेद सिंह डीएसबी परिसर के निदेशक प्रो. एलएम जोशी, केंद्र पर्यवेक्षक प्रो. एबी मेलकानी, केंद्र अधीक्षक डॉ. आशीष तिवारी, ड्यूटी प्रभारी डॉ. विजय कुमार, डॉ.रीना साह, डॉ.नीता आर्या, डॉ.नंदन मेहरा, नंदा बल्लभ पालीवाल, आनंद रावत व रमेश पंत आदि ने योगदान दिया।

कोरोना-ओमिक्रोन के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए कुमाऊं विवि की अंतर महाविद्यालय खेल प्रतियोगिताएं रद्द
नैनीताल। राज्य में कोरोना व ओमिकरोन के बढ़ते प्रभाव तथा राज्य सरकार की गाइडलाइन को देखते हुए कुमाऊं विश्वविद्यालय अंतर महाविद्यालय खेल प्रतियोगिताओं को रद्द कर दिया गया है। कुमाऊं विश्वविद्यालय के क्रीड़ाधिकारी डॉ.नागेंद्र शर्मा ने बताया कि 9 जनवरी को नैनीताल में प्रस्तावित लॉन टेनिस अंतर महाविद्यालय प्रतियोगिता, 10 से 11 जनवरी को एसआईएमटी रुद्रपुर में आयोजित होने वाली खो-खो पुरुष प्रतियोगिता, 12 से 13 जनवरी को आईएमटी काशीपुर में आयोजित होने वाली खो-खो महिला प्रतियोगिता को दिनांक 16 जनवरी 2022 तक रद्द कर दिया गया है।

उनके साथ ही कुमाऊँ विश्वविद्यालय अंतर महा विद्यालय टेनिस प्रतियोगिता के आयोजन सचिव डॉ.महेंद्र राणा ने सभी खिलाड़ियों से अपनी फिटनेस बनाने व कोरोना से बचने का अनुरोध करते हुए स्थितियां सामान्य होने पर प्रतियोगिताओं की नई तिथि की घोषणा करने की बात कही है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अब भगवत गीता, वैदिक विज्ञान, वैदिक गणित व रामचरित मानस भी पढ़ना होगा उत्तराखंड के विद्यार्थियों को

-नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत पाठ्यक्रम हुआ तय
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 8 जनवरी 2022। राज्य में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को धरातल पर उतारने के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 हेतु पाठ्यक्रम निर्धारण हेतु आयोजित हुई तीन दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला में राज्य के विश्वविद्यालयों के लिए पाठ्यक्रम को अंतिम रूप दे दिया गया है। पाठ्यक्रम निर्धारण समिति के अध्यक्ष कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एनके जोशी ने बताया कि शैक्ष्णिक सत्र 2022-23 से कम से कम 70 फीसदी पाठ्यक्रम एक समान होगा। 30 फीसदी पाठ्यक्रम को विश्वविद्यालय अपनी भौगोलिक परिस्थितियों, क्षेत्रीय स्तर की अपेक्षाओं व संसाधनों के अनुरूप रख सकते हैं।

उन्होने बताया कि कार्यशाला में कला वर्ग के 19, दृश्य कला के 4, विज्ञान के 11 और वाणिज्य तथा प्रबंधन के विषयों के लिए राज्य के समस्त विश्वाविद्यालयों में प्रस्तावित एक समान पाठ्यक्रम की रूपरेखा को अंतिम रूप दिया गया। अब इसे 13 जनवरी को विश्वविद्यालय की वेबसाइट में डाला जायगा जहां आम नागरिक भी इसमें संशोधन के सुझाव दे सकेंगे। उसके बाद आगामी सत्र से इसे पूरे प्रदेश में लागू कर दिया जायेगा। इस हेतु देश भर के विषय विशेषज्ञों ने भागीदारी की साथ ही विदेशों भी भी सुझाव प्राप्त हुए। इस अवधि में 150 वोकेशनल और 48 पाठ्य सहगामी पाठ्यक्रमों की पहचान कर उनका भी पाठ्यक्रम तैयार किया गया।

अब मूल विषयों के साथ विद्यार्थी इन विषयों को भी पढ़ सकेंगे। इनमें कुछ अनिवार्य और कुछ ऐच्छिक विषय रहेंगे। इन सभी विषयों में विभिन्न स्तरों पर भारतीय ज्ञान परंपरा, कला, संस्कृति एवं मूल्यों का समावेश किया गया है। ये विषय व्यवहारिक होने के साथ रोजगारपरक भी होंगे। कार्यशाला में वोकेशनल और पाठ्य सहगामी पाठ्यक्रम तैयार करने वाले डा. महेंद्र राणा ने बताया कि स्नातक स्तर के सभी छह सेमेस्टरों में विद्यार्थियों को एक पाठ्य सहगामी विषय भी उत्तीर्ण करना आवश्यक होगा। इनमें प्रथम सेमेस्टर में संचार योग्यता, द्वितीय में पर्यावरण विज्ञान व नैतिक मूल्य, तृतीय में भगवत गीता से उद्धरित प्रबंधन के गुर, चतुर्थ में वैदिक विज्ञान या वैदिक गणित, पांचवें में रामचरित मानस से लिए गये व्यक्तित्व विकास के गुण और छठे सेमेस्टर में परंपरागत ज्ञान के मूल तत्व अथवा विवेकानंद पर आधारित अध्ययन करना होगा।

कार्यशाला में संकायाध्यक्ष- विज्ञान प्रो. एबी मेलकानी, कला प्रो. आरके पांडे, वाणिज्य प्रो. अतुल जोशी, प्रबंधन प्रो. पीसी कविदयाल, दृश्य कला प्रो. एमएस मावड़ी ने अपने संकायों के विषयों के पाठ्यक्रमों की रिपोर्ट प्रस्तुत की। संचालन और धन्यवाद ज्ञापन कार्यशाला के संयोजक प्रो. संजय पंत ने किया। इस अवसर पर कुलसचिव दिनेश चंद्रा, डीएसबी परिसर निदेशक प्रो. एलएम जोशी सहित सभी विभागों के विभागाध्यक्ष और प्राध्यापक उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नई शिक्षा नीति के तहत उत्तराखंड के विश्वविद्यालयों के लिए पाठ्यक्रम बनाने हेतु तीन दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला प्रारंभ

-शैक्षिक सत्र 2022-23 में प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में लागू होगी नई शिक्षा नीति: डॉ. रावत

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 6 जनवरी 2022। राज्य में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को धरातल पर उतारने के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 हेतु पाठ्यक्रम निर्धारण हेतु तीन दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का गुरुवार को प्रारंभ हो गई। पाठ्यक्रम निर्धारण समिति के अध्यक्ष कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एनके जोशी ने विशिष्ट अतिथि उत्तराखण्ड मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. ओपीएस नेगी के साथ दीप प्रज्वलित कर कार्यशाला का औपचारिक शुभारंभ किया।

कार्यशाला में मुख्य अतिथि उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत कुलपति श्री देव सुमन विश्वविद्यालय प्रो. पीपी ध्यानी एवं कुलपति दून विश्वविद्यालय प्रो. सुरेखा डंगवाल ने वर्चुअल रूप में प्रतिभाग किया। कार्यशाला के पहले दिन तकनीकी सत्रों में विज्ञान संकाय के पाठ्यक्रमों में सुझाव व सुधार कर उसे अंतिम रूप दिया गया।

कार्यशाला में मुख्य अतिथि के रूप में वर्चुअल रूप से प्रतिभाग करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में शिक्षा के अलग-अलग स्तरों पर सभी विषयों में भारतीय ज्ञान परंपरा, कला, संस्कृति एवं मूल्यों का समावेश की बात कही गई है। नई शिक्षा नीति की आत्मा व इसका ध्येय मुख्य रूप से ऐसी शिक्षा व्यवस्था का विकास करना है, जिसमें अध्ययन सामग्री, संसाधनों का विकास और उनके माध्यम से प्रदान की जाने वाले शैक्षणिक उत्कृष्टता को प्राप्त करना है। उन्होंने कहा कि शैक्षिक सत्र 2022-23 में प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में नई शिक्षा नीति को लागू किया जायेगा।

कुलपति प्रो. जोशी ने बताया कि कार्यशाला में सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, डिग्री एवं रिसर्च डिग्री के आधार पर स्नातक एवं स्नातकोत्तर विषयों के बनाये गए पाठ्यक्रमों पर विषय विशेषज्ञों द्वारा विस्तृत में चर्चा की जाएगी। स्नातक स्तर पर संरचना में बदलाव की दृष्टि से पाठ्यक्रम के स्वरुप में बदलाव मुख्य विषय व इलेक्टिव विषय के समूहों का निर्धारण करना होगा। शोध अनुसंधानों में भी प्रथम वर्ष से शोध का उन्मुखीकरण प्रारंभ करना होगा। 70 फीसद पाठ्यक्रम पूरे राज्य के विश्वविद्यालयों में एक जैसा होगा एवं 30 फीसद पाठ्यक्रम को विश्वविद्यालय अपनी भौगोलिक परिस्थितियों, क्षेत्रीय स्तर की अपेक्षाओं, संसाधनों के अनुरूप रख सकते हैं।

विशिष्ट अतिथि प्रो. नेगी ने कहा कि वोकेशनल पाठ्यक्रमों एवं सह-पाठ्यक्रमों के निर्माण में उत्तराखण्ड मुक्त विश्वविद्यालय की मुख्य भूमिका होगी। कार्यशाला का संचालन प्रो. दिव्या उपाध्याय जोशी एवं आभार संयोजक प्रो. संजय पंत ने ज्ञापित किया। इस अवसर पर प्रो. एबी मेलकानी, प्रो. आरके पांडे, प्रो. अतुल जोशी, प्रो. पीसी कविदयाल, प्रो. एमएस मावड़ी, कुलसचिव दिनेश चन्द्रा, डीएसबी परिसर निदेशक प्रो. एलएम जोशी, प्रो. ललित तिवारी, प्रो. राजीव उपाध्याय, प्रो. गिरीश रंजन तिवारी, प्रो. सावित्री जंतवाल, प्रो. अमित जोशी, दुर्गेश डिमरी व डॉ. रितेश साह आदि उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में नई शिक्षा नीति होगी लागू, सात से शुरू होगी पाठ्यक्रम बनाने हेतु कार्यशाला…

-विज्ञान के छात्र भी ले सकेंगे संगीत, कोर्स के बीच में पढ़ाई छोड़ने पर भी मिलेगा सर्टिफिकेट या डिप्लोमा
-राज्य में अगले शैक्षणिक सत्र 2022-23 से लागू होगा च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम ?

कुमाऊं विश्वविद्यालय के नये कुलपति प्रो. एनके जोशी।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 5 जनवरी 2022। उत्तराखंड राज्य में विज्ञान के छात्र भी संगीत जैसा विषय ले सकेंगे। यदि कोई छात्र पाठ्यक्रम के बीच में पढ़ाई छोड़ देता है तो उसे भी सर्टिफिकेट या डिप्लोमा मिल सकेगा। ऐसा संभव होगा राज्य में ‘नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020’ के लागू होने से। नई शिक्षा नीति को राज्य में धरातल पर उतारने की तैयारी शुरू हो गई है। राज्य स्तरीय पाठ्यक्रम निर्धारण समिति के अध्यक्ष कुलपति प्रो. एनके जोशी ने बुधवार को पत्रकार वार्ता आयोजित कर यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि राज्य स्तरीय पाठ्यक्रम निर्धारण एवं क्रियान्वयन हेतु कुमाँऊ विश्वविद्यालय द्वारा 6, 7 एवं 8 जनवरी को तीन दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। इसमें सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, डिग्री एवं रिसर्च डिग्री के आधार पर स्नातक एवं स्नातकोत्तर विषयों के बनाये गए पाठ्यक्रमों पर विषय विशेषज्ञों द्वारा विस्तृत में चर्चा की जाएगी।

उन्होंने बताया कि नई शिक्षा नीति के तहत तीन विषय वाले सभी त्रिवर्षीय पाठ्यक्रम बीए, बीकॉम, बीएससी में सीबीसीएस यानी च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम आधारित नवीन पाठ्यक्रम शैक्षणिक सत्र 2022-23 से लागू होगा। नए पैटर्न के अनुसार विद्यार्थी प्रवेश के समय अपने संकाय से दो मुख्य विषयों का चुनाव करेगा और तीसरा मुख्य विषय अपने संकाय से अथवा किसी भी संकाय से चयनित कर सकता है। विद्यार्थी एक वर्ष के बाद द्वितीय, तृतीय वर्ष में मुख्य विषय बदल भी सकता है, अथवा उनके क्रम में परिवर्तन कर सकता है। स्नातक स्तर के प्रत्येक विद्यार्थी को प्रथम दो वर्षों के प्रत्येक सेमेस्टर में तीन क्रेडिट का एक कौशल विकास कोर्स करना होगा।

उन्होंने बताया कि नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन हेतु 70 फीसद पाठ्यक्रम पूरे राज्य के विश्वविद्यालयों में एक जैसा होगा एवं 30 फीसद पाठ्यक्रम को विश्वविद्यालय अपनी भौगोलिक परिस्थितियों, क्षेत्रीय स्तर की अपेक्षाओं, संसाधनों के अनुरूप रख सकते हैं। विश्वविद्यालय द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत 79 विषयों के पाठ्यक्रम तैयार किए गए हैं। राष्ट्रीय कार्यशाला में प्राप्त सुझावों एवं सुधारों के पश्चात् सभी पाठ्यक्रमों को वेबसाइट में अपलोड कर दिया जायेगा। प्रेस वार्ता में कुलसचिव दिनेश चन्द्रा, कार्यशाला संयोजक प्रो. संजय पंत, प्रो. ललित तिवारी एवं विधान चौधरी भी उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

‘नवीन समाचार’ के कुमाऊं विश्वविद्यालय से संबंधित पुराने समाचारों के लिए इन लाइनों को क्लिक करें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply