April 23, 2024

(1Police Apradh) एसपी के छापे में जुआ खेलते मिले चौकी प्रभारी सहित अन्य पुलिस कर्मी, पूरी पुलिस चौकी हुई लाइन हाजिर..

0

Police Apradh

Tourists Creating Problems

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 24 जनवरी 2024 (Police Apradh) । एक पुलिस चौकी में नैनीताल पुलिस का नया कारनामा सामने आया है। यहां चौकी प्रभारी चौकी में तैनात अन्य पुलिस कर्मियों के साथ पुलिस चौकी के अंदर जुआ खेलते पाए गए। जिले के एएसपी ने इनको मौके पर जुआ खेलते हुए पकड़ा और इसकी जानकारी एसएसपी दी। इस पर एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने पूरी चौकी को लाइन हाजिर कर दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गत 22 जनवरी यानी सोमवार की रात करीब दो बजे एसपी सिटी हरबंस सिंह मुखानी थाना क्षेत्र में औचक निरीक्षण पर निकले थे। जब वह लामाचौड़ रिपोर्टिंग पुलिस चौकी क्षेत्र में पहुंचे तो उन्हें सड़क पर कोई पुलिस कर्मी ड्यूटी करता नजर नहीं आया। इस पर वह पुलिस चौकी के अंदर पहुंचे तो चौकी प्रभारी, चौकी के वरिष्ठ आरक्षी और तीन आरक्षी जुआ खेलते पाए गए। अपने अधिकारी को अचानक सामने खड़ा देखकर वह सभी भौंचक रह गए।

एसपी ने इसकी रिपोर्ट एसएसपी मीणा को दी तो मीणा ने अपने स्तर से जांच कराई, पुष्टि होने पर एसएसपी ने मंगलवार रात आदेश जारी करते हुये ड्यूटी में लापरवाही बरतने और अनुशासनहीनता के आरोप में चौकी प्रभारी सुनील गोस्वामी, वरिष्ठ आरक्षी भूपेंद्र सिंह तथा आरक्षी शंकर सिंह, धीरज सुगड़ा और चालक सोबन सिंह को लाइन हाजिर कर दिया है। एसएसपी ने बताया कि इस पूरे मामले में जांच चल रही है अगर जांच में जुआ खेलने की पुष्टि होती है तो आरोपित पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से, कू से, कुटुंब एप से, डेलीहंट से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : (Police Apradh) एक महिला सहित दो पुलिस दरोगाओं सहित 6 पुलिस कर्मियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने के आदेश

नवीन समाचार, देहरादून, 13 जनवरी 2024 (Police Apradh)। हरिद्वार के दो दरोगाओं सहित 6 पुलिसकर्मियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। इन पुलिसकर्मियों के खिलाफ विशेष न्यायाधीश (सतर्कता गढ़वाल परिक्षेत्र) और सप्तम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश अंजली नौटियाल की अदालत ने विजिलेंस को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

आरोप है कि इन पुलिसकर्मियों (Police Apradh) पर उगाही और झूठे मामले में फंसाने की धमकी देने के साथ गलत तरीके से गिरफ्तारी कर लॉकअप में मारपीट करने का आरोप लगा है।

उल्लेखनीय है कि हरिद्वार के कनखल के जगजीतपुर निवासी गोपाल सिंह ने न्यायालय में एक प्रार्थना पत्र देकर कहा था कि क्षेत्र के रहने वाले दो व्यक्तियों ने उनसे 70 हजार रुपए उधार लिए थे। जब उसने रुपए मांगे तो आरोपितों ने रुपये वापस करने से इनकार कर दिया।

साथ ही दोबारा रुपए मांगने पर दुष्कर्म के झूठे आरोप में फंसाने की धमकी दी। इसके बाद पीड़ित ने इस मामले की शिकायत थाना कनखल और पुलिस चौकी जगजीतपुर में दी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

उल्टे हरिद्वार के कनखल निवासी व्यक्ति से पांच लाख रुपए रिश्वत की मांग करने और झूठा मुकदमा दर्ज कर हवालात में डालने का आरोप लगाने की धमकी दी गई। उसके बाद मामले की शिकायत पीड़ित ने डीजीपी से की। जिसका आरोपितों को पता चल गया।

इस पर आरोपितों ने गोपाल सिंह को फंसाने के लिए उसके खिलाफ दुष्कर्म की झूठी शिकायत पुलिस को दे दी। इस पर पुलिस ने गोपाल सिंह के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज भी कर लिया।

आरोप है कि वर्तमान में पुलिस कोतवाली हरिद्वार में कार्यरत तत्कालीन जगजीतपुर के चौकी प्रभारी एसआई खेमेंद्र गंगवार, एसआई हेमलता और आरक्षी बलवंत ने गोपाल सिंह से मामलेमें अंतिम रिपोर्ट लगवाने के एवज में 5 लाख रुपए की मांग की।

12 दिसंबर 2021 को आरोपितों ने उन्हें फोन कर जगजीतपुर पेट्रोल पंप के पास बुलाया। इस दौरान वहां पर एसआई खेमेंद्र गंगवार, एसआई हेमलता, आरक्षी पूनम, बलवंत, पप्पू कश्यप और वीरेंद्र भी मौजूद थे।

आरोप था कि रुपए न देने पर पुलिसकर्मी गोपाल को एक निजी वाहन में डालकर थाना कनखल ले गए। वहां लॉकअप में बंद कर बुरी तरह से पीटा। जमानत पर जेल से बाहर आने के बाद गोपाल ने 13 मार्च 2023 को थाना कनखल और 22 मार्च 2023 को एसएसपी को शिकायत दी, लेकिन मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई। ऐसे में उसे कोर्ट की शरण लेनी पड़ी।

पीड़ित गोपाल सिंह के अधिवक्ता पंकज जोशी ने बताया कि हरिद्वार की अदालत में प्रार्थना पत्र दिया। प्रार्थना पत्र पर सुनवाई करते हुए अदालत ने विजिलेंस को आदेश जारी किए हैं कि आरोपित दरोगा खेमेंद्र गंगवार, दरोगा हेमलता, सिपाही पूनम, सिपाही बलवंत, सिपाही पप्पू कश्यप और सिपाही वीरेंद्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज करें। अब इस पूरे मामले में आगे की कार्रवाई जारी है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से, कू से, कुटुंब एप से, डेलीहंट से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। 

यह भी पढ़ें : (Police Apradh) पुलिस कर्मी ने उच्चाधिकारियों से की अभद्रता, सस्पेंड होने के साथ मुकदमा दर्ज, जाना पड़ा जेल…

नवीन समाचार, देहरादून, 6 जनवरी 2024 (Police Apradh) देहरादून में एक हेड कांस्टेबल यानी बिगुलर को अपने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अभद्रता करना भारी पड़ गया। मामले में वरिष्ठ आरक्षी को निलंबन तो झेलना ही पड़ा है। साथ ही जेल की हवा तक खानी पड़ गई है।

एसएसपी अजय सिंह ने मामले में पुलिस लाइन में तैनात वरिष्ठ आरक्षी बिगुलर को निलंबित कर दिया है। साथ ही प्रतिसार निरीक्षक की तहरीर के आधार कांस्टेबल के खिलाफ थाना नेहरू कॉलोनी में मुकदमा दर्ज करने के बाद उसे न्यायालय में पेश कर जेल भी भेज दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस लाइन देहरादून में आयोजित परेड के दौरान पुलिस लाइन देहरादून में तैनात बिगुलर वरिष्ठ आरक्षी जितेंद्र कुमार ने परेड ग्राउंड में मौजूद अधिकारियों के साथ अभद्रता कर दी। इतना ही नहीं तैश में आकर उसने अधिकारियों पर हमला करने का प्रयास किया और अनुशासनहीनता कर परेड को बाधित किया। जिसका उच्चाधिकारियों ने तत्काल संज्ञान लिया।

देहरादून जनपद के एसएसपी अजय सिंह ने बिगुलर पुलिसकर्मी जितेंद्र कुमार द्वारा की गई इस अनुशासनहीनता पर नाराजगी जताई और जितेंद्र कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। साथ ही पूरे मामले की जांच एसपी ट्रैफिक यातायात को सौंप दी है।

वहीं, बिगुलर वरिष्ठ आरक्षी जितेंद्र कुमार के खिलाफ प्रतिसार निरीक्षक जगदीश चंद्र पंत ने थाना नेहरू कॉलोनी में संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कराया। साथ ही पुलिसकर्मी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, और न्यायालय के आदेश पर वरिष्ठ आरक्षी जितेंद्र कुमार को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है।

इस मामले में एसएसपी अजय सिंह ने कहा कि पुलिस एक अनुशासित बल है, इसमें अनुशासनहीनता किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मामले में विभागीय कार्रवाई के साथ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से, कू से, कुटुंब एप से, डेलीहंट से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। 

यह भी पढ़ें : (Police Apradh) महिला ने उत्तराखंड पुलिस में कार्यरत पति पर अन्य महिला से अवैध संबंध रखने सहित कई गंभीर आरोप लगाये

नवीन समाचार, हरिद्वार, 28 दिसंबर 2023 (Police Apradh)। एक विवाहिता ने पुलिस में आरक्षी के पद पर कार्यरत अपने पति पर अन्य महिला से अवैध संबंध रखने और परेशान करने तथा पति सहित अपने ससुरालियों पर कई गंभीर आरोप लगाये हैं। पुलिस ने अभियोग दर्ज कर लिया है और मामले की जांच करने की बात कही है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती 16 सितंबर को महिला ने पुलिस कार्यालय में तहरीर देकर बताया कि 13 वर्ष पूर्व उसका विवाह उत्तराखंड पुलिस के आरक्षी अरविंद कुमार से हुआ था। आरोप लगाया कि विवाह के एक वर्ष बाद ही उसके पति के किसी अन्य महिला से अवैध संबंध हो गये थे। इस कारण वह अपनी पत्नी यानी पीड़िता को मानसिक रुप से प्रताड़ित कर परेशान करने लगा।

बाद में पति ने जमीन लेने की बात बोलकर पत्नी से 20 लाख रुपये का लोन लिवाया, लेकिन जमीन की रजिस्ट्री अपने नाम पर कर ली। इसके बाद ससुरालियों की ओर से पीड़िता पर पुलिस कर्मी पति से तलाक के लिए भी दबाव बनाया गया।

यही नहीं, महिला ने पति अरविंद के बड़े भाई अमरजीत पर भी 2 लाख 55 हजार रुपये हड़पने का आरोप लगाया है। एसपी लोकेश्वर सिंह के निर्देश पर पुलिस ने संबंधितों के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू करने की बात कही है

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : (Police Apradh) उत्तराखंड की ‘मित्र पुलिस’ की कार्यशैली को बेपर्दा करने वाली है रामनगर के कोतवाल को निलंबित करने के पीछे की कहानी…

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 दिसंबर 2023 (Police Apradh)। कुमाऊं परिक्षेत्र के डीआईजी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने दो दिन पूर्व रामनगर के पुलिस कोतवाल अरुण कुमार सैनी को अचानक निलंबित कर दिया था। अब जो इसके पीछे की कहानी सामने आ रही है, वह उत्तराखंड की ‘मित्र पुलिस’ की कार्यशैली को बेपर्दा करने वाली है।

बताया गया है कि डीआईजी ने यह कार्रवाई उत्तराखंड उच्च न्यायालय में इस संबंध में मामला आने के बाद की है, जिसमें उच्च न्यायालय ने प्रदेश के डीजीपी व प्रमुख सचिव गृह से जवाब तलब किया था। इस संबंध में आई मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रामनगर के निलंबित कोतवाल अरुण कुमार सैनी ने अपने क्षेत्र के कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के एक रिजॉर्ट के मैनेजर राजीव साह से कथित तौर पर मुफ्त में कमरा देने को कहा था। लेकिन रिजॉर्ट के मैनेजर साह ने यह कहकर कमरा देने में असमर्थता जतायी थी कि उनके रिजॉर्ट के सभी कक्ष एक विवाह समारोह के आयोजन के लिये बुक हैं।

इस पर सैनी ने उत्तराखंड पुलिस का असली चेहरा सामने लाते हुये कहें कि अपनी वर्दी का दुरुपयोग एवं पवित्र वर्दी को दागदार करते हुये पुलिस बल के साथ विवाह समारोह समाप्त होने के तत्काल बाद 29 नवंबर को रात में ही साह के रिजॉर्ट में कथित तौर पर छापा मार दिया। छापेमारी में पुलिस शराब की 10 खाली बोतलें और एक आधी भरी बोतल बरामद कर पायी। इसके बावजूद सैनी ने साह को बिना कोई नोटिस दिये या चालान किये मेहमानों को शराब परोसने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया और कोतवाली लाकर पूरी रात लॉक अप में रखा।

अगले दिन साह को जमानत मिलने पर छोड़ा गया। इसके बाद साह ने उत्तराखंड उच्च न्यायालय में अपनी गिरफ्तारी को सर्वोच्च न्यायालय के छोटे मामलों में गिरफ्तारी से संरक्षण के आदेशों की अवमानना बताते हुये निरीक्षक अरुण सैनी, वरिष्ठ उप निरीक्षक प्रकाश पोखरियाल और उप निरीक्षक दीपक बिष्ट सहित पुलिस अधिकारियों के खिलाफ अवमानना का मामला दायर किया। राजीव साह ने अदालत के समक्ष सबूत के तौर पर टेक्स्ट संदेश पेश करते हुए कहा कि अधिकारियों ने पहले भी उनसे मुफ्त कमरे की मांग की गई थी।

हालांकि इस मामले में पुलिस की ओर से कहा गया कि गिरफ्तारी के बाद पुलिस स्टेशन से कोई जमानत नहीं मांगी गई थी। जबकि राजीव साह का कहना था कि ऐसे मामलों में, यदि गिरफ्तारी आवश्यक है, तो पुलिस को यह उल्लेख करना होगा कि उल्लंघनकर्ता को नोटिस या चालान क्यों नहीं दिया गया। लेकिन पुलिस कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सकी। मेरे मुवक्किल को गिरफ्तार करना सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन था, जो उचित औचित्य के बिना छोटे अपराधों के लिए व्यक्तियों को हिरासत में लेने पर रोक लगाता है।’

इस पर उच्च न्यायालय की ओर से प्रदेश के डीजीपी एवं प्रमुख सचिव गृह से मंगलवार को जवाब मांगा गया है। आज अपराह्न 2 बजे इस मामले में सुनवाई होनी है। इसी कार्रवाई के बीच डीआईजी ने आरोपित कोतवाल सैनी को निलंबित कर दिया।

गौरतलब है उत्तराखंड पुलिस के खासकर पर्यटन से जुड़े नैनीताल, रामनगर जैसे पुलिस थानों के प्रभारियों पर उच्चाधिकारियों-राजनीति व अन्य उच्च पदस्थ लोगों की ओर से निःशुल्क कमरे दिलाने का बड़ा दबाव हमेशा से रहता है। थाना-कोतवाली प्रभारियों को यह दबाव होटल-रिजॉर्ट मालिकों पर पर डालना पड़ता है। यह भी एक सच्चाई है। इस समस्या का भी दीर्घकालीन समाधान निकाले जाने की आवश्यकता है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : (Police Apradh) नकली नोटों से रुपये दोगुने करने के गिरोह का सरगना हल्द्वानी के एक थाने का सिपाही !

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 10 दिसंबर 2023 (Police Apradh)। उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जनपद में धनराशि दोगुनी करने का लालच देकर नकली नोट थमाने का मामला सामने आया है। खास बात यह है कि मामले में हल्द्वानी के बनभूलपुरा थाने में तैनात एक पुलिसकर्मी और एक पीआरडी जवान की संलिप्तता भी सामने आयी है। पुलिस कर्मी इस पूरी घटना का सरगना बताया जा रहा है।

एसएसपी मंजूनाथ टीसी से प्राप्त जानकारी के अनुसार सीतापुर उत्तर प्रदेश के ग्राम सेखवापुर निवासी फेरी लगाने का काम करने वाले इंद्रसेन वर्मा ने बताया कि बीती आठ दिसंबर को इटारी तालगांव सीतापुर उप्र निवासी जीशान ने उसे फोन कर कहा कि रुद्रपुर में रहने वाले विकास उर्फ लियाकत उर्फ पिंटू और कुछ अन्य लोग हैं, जो 500 रुपये के बदले में एक हजार रुपये के यानी दोगुने मूल्य के बिल्कुल असली लगने वाले नकली नोट देते हैं।

इसके लालच में आकर उसने अपने फेरी लगाने वाले दूसरे साथी मोहम्मद हंजला तथा अंकित व शिवम ने कुल दो लाख रुपये पिंटू और उसके साथी छिंदर को दिए। इसके बदले उन्हें 4 लाख रुपये के नकली नोट दिये गये। जब वे लोग नकली नोट लेकर कुछ दूर ही गये थे, तभी स्कूटी सवार एक व्यक्ति के साथ पुलिस की वर्दी में एक युवक आया।

उन्होंने उन्हें रोक लिया और रुपयों से भरा बैग छीनकर फरार हो गए। इस पर पुलिस ने जीशान, विकास उर्फ लियाकत उर्फ पिंटू व रास्ते में रुपयों का बैग छीनने वाले उनके साथी वीरेंद्र, सुरेंद्र आदि पर अभियोग दर्ज कर उनकी तलाश शुरू की।

एसएसपी ने बताया कि शनिवार को इस मामले के वांछित काशीपुर रोड रुद्रपुर से बिंदुखेड़ा (ऊधमसिंह नगर) निवासी पीआरडी जवान वीरेंद्र सिंह, ग्राम इटारी तालगांव सीतापुर (उप्र) निवासी जीशान अहमद और ग्राम धौरा डैम नजीमाबाद किच्छा निवासी छिंदर को गिरफ्तार किया गया। उनके पास से एक-एक मोबाइल और 50-50 हजार की धनराशि बरामद हुई।

पूछताछ में तीनों ने बताया कि नकली नोट बेचने के नाम पर लोगों से ठगी करने में बिंदुखेड़ा निवासी और हल्द्वानी बनभूलपुरा थाने में तैनात कांस्टेबल सुरेंद्र और गिरोह का मास्टरमाइंड धौरा डैम किच्छा निवासी विकास उर्फ लियाकत उर्फ पिंटू भी शामिल है। उन्हीं के साथ पूरी योजना बनाई गई थी। इसके लिए गिरोह में शामिल हर सदस्य को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

बताया गया है कि दोगुना मुनाफा देने का झांसा देकर नकली नोटों के इस गिरोह का सरगना सिपाही पिछले पंद्रह दिनों से ईएल यानी अर्न्ड लीव की छुट्टी पर चल रहा है। इसकी पुष्टि कोतवाली पुलिस ने थाना बनभूलपुरा पुलिस से संपर्क करके भी की है। एसएसआई कमाल हसन ने बताया कि पूछताछ के दौरान पकड़े गए आरोपित पीआरडी जवान ने बताया कि सरगना सिपाही ने अब तक तीन ऐसी वारदातों को अंजाम दिया है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Police Apradh : 1 पत्रकार से अभद्रता, राज्य पुलिस मुख्यालय के हस्तक्षेप के बाद निलंबित हुआ लाइन हाजिर पुलिस अधिकारी…

नवीन समाचार, देहरादून, 26 अक्टूबर 2023 (Police Apradh)। राजधानी देहरादून में विजयादशमी के कार्यक्रम के दौरान परेड ग्राउंड में एक पत्रकार से बदसलूकी (Police Apradh) करने के मामले में संबंधित सब इंस्पेक्टर पर बड़ी कार्रवाई की गयी है। संबंधित दारोगा को पहले एसएसपी ने लाइन हाजिर कर दिया था, जबकि अब उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय की सख्ती के बाद उसे निलंबित कर दिया गया है। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने भी इस प्रकरण पर न्याय संगत कार्रवाई करने की बात कही है।

उल्लेखनीय है कि मामले में देहरादून के एसएसपी अजय सिंह ने सब इंस्पेक्टर हर्ष अरोड़ा को लाइन हाजिर करने के निर्देश दिए थे। लेकिन इधर उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय की सख्ती के बाद तो वहीं अब पुलिस उच्चाधिकारियों ने एसएसपी अजय सिंह को मुख्यालय बुलाकर पूरे प्रकरण की जानकारी ली है।

मामले में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर एपी अंशुमान को एसएसपी अजय सिंह ने प्रकरण की जानकारी दी। इसके बाद संबंधित सब इंस्पेक्टर को निलंबित करते हुए प्रकरण की जांच के आदेश दिए गए हैं। इस दौरान देहरादून एसएसपी अजय सिंह प्रकरण की जांच भी करवाएंगे जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि पत्रकार से दुर्व्यवहार के मामले में सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। जिसमें एसओजी के सब इंस्पेक्टर हर्ष अरोड़ा पत्रकार को धक्का देते हुए नजर आ रहा है। पुलिस विभाग ने भी इस वीडियो का संज्ञान लेते हुए संबंधित सब इंस्पेक्टर हर्ष अरोड़ा पर कार्रवाई के बढ़ते दबाव के बाद निलंबित करने का फैसला लिया।

यह था मामला : बता दें कि विजयादशमी के मौके पर देहरादून के परेड ग्राउंड में 131 फीट के रावण के पुतले के दहन के मौके पर भारी भीड़ जमा थी। इस दौरान एक पत्रकार से संबंधित दारोगा ने बदसलूकी की थी। इस दौरान दारोगा द्वारा पत्रकार को धक्का मारने का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया था।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Police Apradh : लूट के मामले के खुलासे पर पुलिस को शाबासी की जगह मिली फटकार, एसएसपी ने स्पष्टीकरण मांगा-जांच के भी दिये आदेश….

नवीन समाचार, देहरादून, 23 सितंबर 2023 (Police Apradh)। देहरादून में थाना डालनवाला पुलिस लूट के एक मामले का खुलासा कर एसएसपी से शाबासी मिलने की उम्मीद कर रही थी, लेकिन एसएसपी अजय सिंह ने उन्हें जमकर फटकार लगा दी। बताया गया है कि एसएसपी अजय सिंह ने यह फटकार मुकदमा देरी से दर्ज करने को लेकर लगाई। साथ ही डालनवाला पुलिस से स्पष्टीकरण मांगने के साथ मामले की जांच सीओ को सौंप दी है। एसएसपी का कहना है कि कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

पुलिस पर अपना गुड वर्क दिखाने के लिये देरी से, बल्कि कई बार तो मामले का खुलासा होने के बाद अभियोग दर्ज करने के आरोप लगते रहते हैं। ऐसा ही कुछ देहरादून की थाना डालनवाला पुलिस द्वारा डालनवाला क्षेत्र में मोबाइल लूट की घटना का खुलासा करने पर डालनवाला पुलिसकर्मियों को एसएसपी की शाबाशी की जगह फटकार झेलनी पड़ गई। दरअसल डालनवाला पुलिस ने लूट का मुकदमा 5 दिन बाद दर्ज किया।

हुआ यह था कि बीती 16 सितंबर को कौसर निवासी चंदन नगर कॉलोनी रात के समय चिकन कॉर्नर के पास खड़ा था। उसी समय वहां एक लाल स्कूटर पर सवार होकर एक युवक आया और पीड़ित से मोबाइल लूट लिया। पीड़ित आरोपित के पीछे भागा, लेकिन आरोपित वहां से दूर भाग निकला। इस मामले में कौसर ने आराघर चौकी में शिकायत की, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

इसके 5 दिन बाद थाना गार्डन वाला पुलिस में 21 सितंबर को इस मामले में लूट का मुकदमा दर्ज किया। घटना का खुलासा करने के लिए गठित पुलिस टीम ने मुखबिर की सूचना पर शुक्रवार शाम को चेकिंग के दौरान गुरु नानक बालिका इंटर कॉलेज देहरादून के मैदान के गेट के पास से एक आरोपित राहुल थापा को छीने गये मोबाइल फोन और घटना में प्रयोग की गयी स्कूटी के साथ गिरफ्तार किया।

आरोपित के पास से बरामद स्कूटी के सम्बन्ध में जानकारी करने पर स्कूटी कोतवाली नगर क्षेत्र से चोरी हुई मिली। इसके संबंध में नगर कोतवाली मुकदमा पंजीकृत मिला। आरोपित के आपराधिक इतिहास की जानकारी करने पर उसके खिलाफ कोतवाली डालनवाला, कोतवाली नगर और थाना रायपुर में लूट व चोरी के अलग-अलग मुकदमे पंजीकृत मिले।

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि 16 सितंबर को घटना हुई और 21 सितंबर को मुकदमा पंजीकृत किया गया। किन कारणों से मुकदमा पंजीकृत करने में देरी हुई, इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक डालनवाला का स्पष्टीकरण लेते हुए जांच क्षेत्राधिकारी डालनवाला को सौंपी गई है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Police Apradh : दारोगा सहित 2 लोगों पर विभिन्न धाराओं में अभियोग दर्ज….

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 27 अगस्त 2023 (Police Apradh)। एसटीएफ यानी स्पेशल टास्क फोर्स ने रुद्रपुर में तैनात एक दारोगा सहित दो लोगों पर कुचेष्ठा, चोट पहुंचाने, मारपीट करने, धमकी देने व मारपीट करने के आरोप लगे हैं। मामला पारिवारिक है। दारोगा पर उसके ही साले ने यह आरोप लगाए हैं। मामले में पुलिस ने संबंधित धाराओं में अभियोग दर्ज कर लिया है। 

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार हल्द्वानी के प्रगति विहार निवासी रोहित पांडे ने पुलिस को बताया कि 13 अगस्त को वह अपनी कार से घर आ रहा था। उसके चाचा के दामाद एसटीएफ में दारोगा नवीन जोशी ने अपनी बुलेट उनके गेट के सामने खड़ी की थी। इस कारण वह कार घर के अंदर नहीं ले जा पा रहे थे। कई बार आवाज देने पर कोई बाहर नहीं आया तो वह खुद ही बुलेट हटाने लगे। इस पर दारोगा नवीन जोशी बाहर आये और गाली-गलौज करने लगे।

यही नहीं, आरोपों के अनुसार कुछ देर बाद धक्का-मुक्की व जान से मारने की धमकी देकर बोले कि वह पुलिस विभाग में दारोगा हैं। चरस व स्मैक के झूठे केस में फंसाकर अंदर कर देंगे और नौकरी करने लायक नहीं छोड़ेंगे। आरोप है कि इसके बाद दारोगा जबरदस्ती उनके घर के अंदर घुसे व जान से मारने की धमकी दी। इससे उनके परिजन दहशत में आ गए।

इसके बाद 14 अगस्त को शिकायतकर्ता के चचेरा भाई अरुण पांडे कुल्हाड़ी लेकर आये और मारने की कोशिश की। बाद में गेट को क्षतिग्रस्त किया। यह घटना उनके घर लगे सीसीटीवी में कैद है। अलबत्ता, उन्हें आशंका है कि सीसीटीवी की डीवीआर से छेड़छाड़ हो सकती है। यह भी आरोप लगाया है कि शिकायतकर्ता का चाचा यानी दारोगा के ससुर शराब बेचने व गैस फिलिंग का अवैध कारोबार करते हैं।

अवैध शराब बेचने के जुर्म में उनका चालान व गैस फिलिंग के मामले में कार्रवाई हो चुकी है। चाचा ही गलत काम का विरोध करने पर अपने दामाद को बुला लेते हैं। कोतवाल हरेंद्र चौधरी ने बताया कि मामले में दारोगा नवीन जोशी व अरुण पांडे पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें Police Apradh : महिला पुलिस कर्मी के पति व पिता की दबंगई, पुलिस लाइन में की एएसआई की पिटाई…Police Apradh दिल्ली पुलिस की एसआई से पति ने की मारपीट, महिला आयोग ने भेजा नोटिस । delhi  police woman sub inspector beaten by husband - India TV Hindi

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 6 मार्च 2023। पुलिस की एक महिला दरोगा के पति व पिता द्वारा विभाग के ही एक एएसआइ की बेरहमी से पिटाई का मामला प्रकाश में आया है। फिलहाल मामले में पुलिस को तहरीर नहीं दी गई है। अलबत्ता, मामला विभाग के उच्चाधिकारियों के संज्ञान में भी आ गया है। यह भी पढ़ें : नैनीताल से हल्द्वानी के लिए निकली युवती तीन दिन से गुमशुदा…

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार शाम पुलिस लाइन में एक महिला उप निरीक्षक के पति की कार पार्क थी। इस दौरान पुलिस लाइन में तैनात एएसआइ राम सिंह अपने घर जा रहे थे। घर के पास सड़क पर पार्क कार को देखकर उन्होंने कार स्वामी के संबंध में पूछा और उनसे कार हटाने को कहा। इस बात को लेकर महिला दरोगा के पति तथा पिता की एएसआइ राम सिंह से विवाद हो गया। देखते ही देखते धक्का मुक्की के बाद दोनों ने एएसआइ की पिटाई कर दी। इससे मौके पर अच्छा खासा हंगामा हो गया।

यह भी पढ़ें : नैनीताल से हल्द्वानी के लिए निकली युवती तीन दिन से गुमशुदा…

सूचना पर सिडकुल चौकी प्रभारी पंकज कुमार भी पुलिस कर्मियों के साथ पहुंचे और जानकारी ली। एसएसपी डा.मंजूनाथ टीसी ने बताया कि कार खड़ी करने को लेकर विवाद हुआ था। तहरीर नहीं मिली है। पुलिस को जांच के निर्देश दिए गए हैं। पिटाई करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें Police Apradh : दारोगा के बेटे ने दिखाई पुलिस की धोंस, पुलिस ने भी दिखाई मेहरबानी…

नवीन समाचार, ऋषिकेश, 28 फरवरी 2023। उत्तर प्रदेश पुलिस के एक दारोगा के बेटे ने ऋषिकेश में अनियंत्रित गति से कार चलाते हुए खुलेआम गुंडागर्दी दिखाई। इस पर उसे एक बाइक सवार ने टोका तो आरोपित ने गाली गलौज करते हुए पुलिस की धौंस दिखाई। इतना ही नहीं, उसके तीन साथियों जिनमें दो युवतियां भी शामिल थीं, ने भी जमकर बदतमीजी की। वहीं उत्तराखंड पुलिस भी आरोपित पुलिस पुत्र पर मेहरबान दिखी। पुलिस ने कार सवार युवतियों और युवकों को फटकार लगाने के बाद चालान काट कर छोड़ दिया।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में उपनल, आउटसोर्स और संविदा कर्मचारी भी चाहें तो ले सकेंगे पेंशन

प्रत्यक्षदर्शी मोहित जैन ने बताया कि मंगलवार की दोपहर एम्स रोड पर कोयल घाटी की ओर अनियंत्रित गति से आ रही एक अनियंत्रित कार कई लोगों से टकराते-टकराते बची। नजारा देख एक बाइक ऽ सवार ने युवक को सही तरीके से कार चलाने के लिए टोक दिया। यह बात कार चला रहे युवक को नागवार गुजरी और उसने बाइक सवार युवक को गालियां देनी शुरू कर दी। कोयल घाटी पहुंचने तक कार सवार ने कई बाइकों को भी टक्कर मारी। पीछा करने के बाद लोगों ने कार सवार को रोक लिया। युवक ने लोगों से खुद को घिरा देखा तो खुद को उत्तर प्रदेश पुलिस के दारोगा का बेटा बताकर रौब दिखाया।

यह भी पढ़ें : सप्ताह भर का रिस्क लेकर करें रुपये दोगुने, अब बिना यूएसडीटी में बदले-सीधे मात्र 2000 रुपए से भी जुड़ सकते हैं डोकोडेमो में

युवक ने कार के आगे शीशे के पास अपने पिता की खाकी रंग की टोपी भी रखी हुई थी। यह बात सुनने के बाद लोगों का पारा चढ़ गया। उन्होंने पुलिस को सूचना देकर मौके पर बुलाया। चौराहे पर ड्यूटी कर रहे पुलिस के जवानों ने भी युवकों की करतूत को देखा तो वो भी हैरत में पड़ गए। इतना ही नहीं दारोगा के बेटे के साथ उसके एक पुरुष और दो महिला मित्र भी बदतमीजी करने से पीछे नहीं रहे।

पुलिस चारों को पकड़कर कोतवाली ले गई, लेकिन चालान काटकर छोड़ दिया। उपनिरीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि मामले में कोई लिखित शिकायत नहीं मिली। ऐसे में पुलिस ने कार का मोटर यान अधिनियम के तहत चालान कर छोड़ दिया। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : लोकसेवकों के लिए सबक का समाचार: थानेदार सहित 4 पुलिस कर्मियों के खिलाफ आधा दर्जन से अधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज

यूपी में पुलिस कर्मियों की संपत्ति की होगी जांच, अपराधियों से साठगांठ का  कनेक्शन भी तलाशेगी टीम - Property of UP Police Personnel to be Checked  Connection with Criminals will ...नवीन समाचार, हरिद्वार, 22 फरवरी 2023। सरकारी पद लोक सेवक की भूमिका निभाने के लिए मिलते हैं, और लोग खुद को अधिकारी मान कर अपने अधिकारों का दुरुपयोग करने लगते हैं। उम्मीद की जा रही है कि ताजा मामला ऐसे लोगों के लिए सबक साबित होगा। हरिद्वार के सिडकुल थाने में पूर्व थानेदार सहित 4 पुलिस कर्मियों के खिलाफ न्यायालय के आदेश पर आधा दर्जन से अधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

आरोपितों पर एक महिला को जबरन थाने लाकर पिटाई करने और जातिसूचक शब्द कहकर अपमानित करने का आरोप है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस थाने में पूर्व पुलिस कर्मियों के विरुद्ध ही दर्ज हुए इस मामले से पूरे पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है। यह भी पढ़ें : युवा नेता से हुए विवाद में नहर में कूद गई युवती, नेता ने युवती को तो बचा लिया, पर खुद की हुई मौत….

पीड़ित महिला द्वारा न्यायालय को दिए गए और अब दर्ज हुए मामले के आधार पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार सिडकुल क्षेत्र निवासी रानी पत्नी जोगेंद्र निवासी गांव रोशनाबाद का कहना है कि उसके देवर अशोक और देवरानी ने उसके साथ मारपीट कर दी थी। इस संबंध में मामला न्यायालय में विचाराधीन है। आरोप है कि मई 2020 में उसके पति अपनी दुकान से घर लौट रहे थे।

इस बीच उसके देवर ने अपने समर्थकों के साथ उसके पति को घेर लिया, और पति के सिर पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। इससे उसके पति का कान कट गया। इसके बाद हमलावर उसके पति को हत्या की धमकी देकर फरार हो गए। यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग उत्तराखंड : बड़ा समाचार: एक दर्जन से अधिक आईएएस व पीसीएस अधिकारियों के तबादले…

आरोप है कि उसी रात को देवर अशोक और उसके साथी नरेंद्र, संजीव, रानी, स्वाति, अंजली, मीनाक्षी व देवर के किराएदारों ने उनकी दुकान में आग लगा दी। साथ ही उसको और उसकी दूसरी देवरानी ममता, जेठानी सुरेशना को घर में घुसकर बुरी तरह पीटा। पुलिस कंट्रोल रूम में शिकायत करने पहुंचे पुलिसकर्मी देवर का पक्ष लेते हुए उन्हें थाने ले गए।

(Police Apradh) आरोप है कि उस वक्त थाना प्रभारी रहे प्रशांत बहुगुणा, चौकी प्रभारी दिलवर सिंह व चेतक कर्मी रमेश चौहान ने उसे जातिसूचक शब्द कहकर अपमानित किया। साथ ही महिला आरक्षी शोभा ने उसकी पिटाई की। गंभीर चोटें आने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। यह भी पढ़ें : बच्ची को आई खरोंच देखे इतना आक्रोशित हुआ पिता कि एक कुत्ते पर गाड़ी चढ़ा दी और दूसरे को गोली मार दी…

(Police Apradh) आरोप है कि पुलिसकर्मियों के खिलाफ उच्चाधिकारियों से शिकायत की, लेकिन उन्होंने भी उसकी शिकायत पर कार्रवाई करना उचित नहीं समझा। इस पर उसने न्यायालय में गुहार लगाई।

(Police Apradh) अब न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने तत्कालीन थाना प्रभारी प्रशांत बहुगुणा, एसआई, महिला-पुरुष आरक्षी, रिश्तेदार अशोक, स्वाति, नरेंद्र, मीनाक्षी निवासी ग्राम रोशनाबाद, संजीव निवासी ग्राम नगला इमरती सिविल लाइन रुड़की, रानी व अंजली निवासी ग्राम खंजरपुर रुड़की के खिलाफ भारतीय दंड विधान संहिता की धारा 147, 452, 323, 504, 506 और 3 (1) (द) के तहत अभियोग दर्ज कर लिया है। यह भी पढ़ें : नैनीताल के ‘गौरव’ ने शारीरिक समस्या को खुद पर हावी न होने दिया और राज्यस्तरीय प्रतियोगिता में जीत लिया रजत पदक…

बताया जा रहा है कि फिलहाल एसआईएस शाखा में संबद्ध चल रहे दारोगा प्रशांत बहुगुणा का विवादों से पुराना नाता रहा है। वर्ष 2004 में अर्द्धकुंभ में हुए दंगे के दौरान उस वक्त आरक्षी रहे प्रशांत बहुगुणा को पुलिस सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था। उच्च न्यायालय में चले मामले के बाद प्रशांत की विभाग में वापसी हुई थी। सिडकुल थाने में तैनाती के दौरान भी वह लाइन हाजिर किए गए। बुग्गावाला के थाना प्रभारी के पद से भी उनकी विदाई चर्चाओं में रही। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड पुलिस के एक चौकी प्रभारी पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का आरोप, विजीलेंस जांच के आदेशों के बावजूद पद पर कार्यरत….

Ghaziabad News| Inspector ka Audio viral| Kaushambi police station incharge  Vinod Kumar suspend| taja khabar aaj ki uttar pradesh 2021 |Ghaziabad daroga  suspend | Ghaziabad daroga audio viral | | मैं तुम्हारे

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 फरवरी 2023। उत्तराखंड पुलिस में चौकी प्रभारी के रूप में कार्यरत एक उप निरीक्षक के विरूद्ध पद का दुरुपयोग करते हुए आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित किये जाने का मामला प्रकाश में आया है। मामले आरोपित के विरुद्ध खुली सतर्कता जांच के आदेश भी हो गये हैं। यह भी गौरतलब है कि यह आदेश गत 7 फरवरी को हो गए हैं, किंतु जांच के आदेश अब तक आईजी कुमाऊं को भी प्राप्त नहीं हुए हैं। फलस्वरूप आरोपित उप निरीक्षक अभी अपने पद पर बने हुए हैं। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड की महिला अधिकारी को पति व ससुरालियों ने मारपीट कर घर से निकाला, अभियोग दर्ज

मीडिया को प्राप्त 7 फरवरी के आदेश के अनुसार उत्तराखंड शासन में अपर सचिव ललित मोहन रयाल की ओर से सतर्कता अधिष्ठान यानी विजीलेंस के निदेशक को लिखे पत्र में कहा है कि गत 31 जुलाई 2022 को नैनीताल जनपद के चौकी प्रभारी पीरूमदारा रामनगर के विरुद्ध पद का दुरुपयोग करते हुए आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने के आरोपों की खुली जॉच किये जाने की. संस्तुति की गयी थी। यह भी पढ़ें : कई आईएएस, पीसीएस व सचिवालय सेवा के अधिकारियों के तबादले

इस मामले में 16 जनवरी 2023 को राज्य सतर्कता समिति की संस्तुति मिल गई थी। इसी क्रम में शासन ने सम्यक विचारोपरान्त पीरूमदारा रामनगर के पूर्व चौकी प्रभारी के विरुद्ध पद का दुरूपयोग करते हुए आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने के आरोपों की खुली सतर्कता जाँच किये जाने का निर्णय लिया गया है। लिहाजा विजीलेंस के निदेशक से इस मामले की खुली सतर्कता जांच कर तीन माह के भीतर शासन को आख्या उपलब्ध कराने को कहा गया है। यह भी पढ़ें : नैनीताल: कार फिसलकर करीब ढाई सौ फिट गहराई में गिरी

इधर बताया गया है कि आरोपित पूर्व चौकी प्रभारी वर्तमान में ऊधमसिंह नगर जनपद की एक पुलिस चौकी के प्रभारी के पद पर कार्यरत हैं, और विजीलेंस जांच के एक सप्ताह पूर्व के आदेशों के बावजूद अपने पद पर बने हुए हैं। इस मामले में जहां अपर सचिव ललित मोहन रयाल से संपर्क नहीं हो पाया, वहीं आईजी कुमाऊं डॉ. नीलेश आनंद भरणे ने आदेश की प्रति अब तक न मिलने की बात कही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Big Breaking : दरोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने और आईजी मो मामले की जांच कराने के आदेश

-लालकुआं थाने में तैनात दरोगा कृपाल सिंह पर है अफ्रीकी नागरिक की गिरफ्तारी के दौरान उसकी घड़ी गायब करने का है आरोप
नवीन समाचार, नैनीताल, 7 फरवरी 2023। जनपद के सीजेएम यानी मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रमेश सिंह की अदालत ने लालकुंआ कोतवाली में तैनात पुलिस उप निरीक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिये है। साथ ही आईजी कुमाऊं से मामले की जांच कराने को भी कहा है। यह भी पढ़ें : महिला अधिकारी ने बच्ची को स्कूल छोड़ा और घर में फंदे से लटकती हुई मिली…

प्राप्त जानकारी के अनुसार अफ्रीका के आयमा आइवेरियन नागरिक करीम कोन हाल निवासी दिल्ली को पुलिस ने धोखाधड़ी सहित भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओ में वर्ष 2021 में गिरफ्तार किया था, जिसमे अभियुक्त को सजा भी हो चुकी है। अभियुक्त करीम कोन ने न्यायालय को बताया कि उसकी गिरफ्तारी के समय लालकुंआ कोतवाली में तैनात उप निरीक्षक कृपाल सिंह ने उसकी घड़ी व 9300 रुपये की धनराशि अपने पास रख ली थी। यह भी पढ़ें : भवाली में कुत्ते को जिंदा जलाया ?

उस समय उसे लगा कि दरोगा कृपाल सिंह के द्वारा जब्त किया गया उसका समान उसे बाद में दे दिया जायेगा लेकिन बहुत समय बाद भी उसे उसका सामान नही दिया गया। लेकिन करीब नौ महीने बाद जब उसके मामले की सुनवाई साक्ष्य के लिये न्यायालय में नियत थी तब दरोगा कृपाल सिंह भी कोर्ट में आया। उस दिन उसने हाथ पर उसकी वही घड़ी पहनी थी जो उसकी गिरफ्तारी के वक्त उससे ले ली थी। इसे देखकर वह भौचक्का रह गया। यह भी पढ़ें : दुल्हन को विदा कराते ही दूल्हे की ड्रेस में ही परीक्षा देने चला गया दूल्हा, दुल्हन करती रही इंतजार…

जब अफ्रीकी नागरिक ने इस बात को न्यायालय में बताना चाहा तो उससे पहले ही दरोगा न्यायालय से बाहर गया और बिना घड़ी के वापस लौटा। अफ्रीकी नागरिक ने दरोगा कृपाल सिंह से उसकी घड़ी के बारे में पूछा तो दरोगा ने स्पष्ट रूप से उसके पास घड़ी नही होने की बात कही। तब अफ्रीकन नागरिक ने उसका सामान दरोगा से वापस दिलाने की मांग प्रार्थना पत्र के माध्यम न्यायालय में की। मामले को देखते हुवे न्यायालय ने मामले में नैनीताल जनपद के एसएसपी से रिपोर्ट तलब की।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी: विवाहिता ने पुलिस से लगाई गुहार, पति दोस्तों को घर बुलाकर जबर्दस्ती शराब पिलाता है, दहेज के लिए घर से निकाला….

इस पर एसएसपी ने अपर पुलिस अधीक्षक हल्द्वानी से मामले की जांच करायी। इस पर अपर पुलिस अधीक्षक ने कृपाल सिंह के विरुद्ध आरोपों की पुष्टि नही करते हुए रिपोर्ट न्यायालय र्में भेजी। इस पर दुबारा अफ्रीकी नागरिक ने न्यायालय के सामने हाथ जोड़कर प्रार्थना करते हुवे मौखिक गुहार लगायी व कहा कि वह झूठ नही बोल रहा व कहा कि मामले में पुलिस ने बिना तथ्यों की जांच किए सत्यता को छिपाया है। कहा कि मामले में पुलिस ने उस दिन की सीसीटीवी फुटेज तक गायब कर दी है। यह भी पढ़ें : बाबा नीब करौरी व उनके विश्व प्रसिद्ध कैंची धाम के नाम पर महिला श्रद्धालु से अभद्रता…

इस पर न्यायालय ने माना कि मामला गम्भीर है व मामले में तथ्यों की गहराई व वास्तविकता पर न जाकर पुलिस ने सरसरी आख्या दे दी, जबकि मामले की गम्भीरता को देखते हुए एक निष्पक्ष जांच होना आवश्यक है। इस पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट नैनीताल ने दरोगा के खिलाफ अभियोग दर्ज कर डीआईजी कुमाऊँ को स्वयं या जिले के बाहर किसी सक्षम अधिकारी से निष्पक्ष जांच कराने के आदेश जारी किये है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हद है, थाना प्रभारी के साथ थाने के ही पुलिस कर्मियों ने की मारपीट, रिपोर्ट दर्ज कराने को लेनी पड़ी कोर्ट की शरण…

नवीन समाचार, देहरादून, 18 जनवरी 2023। प्रदेश में एक थाना प्रभारी के साथ उसके थाने के पुलिस कर्मियों द्वारा ही मारपीट करने का मामला प्रकाश में आया है। हद तो तब हो गई जब थाना प्रभारी को अपने साथ हुई मारपीट की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए न्यायालय की शरण लेनी पड़ी। यह भी पढ़ें : सुबह तड़के दुर्घटना में 2 की मौत, एक अन्य गंभीर रूप से घायल

प्राप्त जानकारी के अनुसार कृष्ण कुमार सिंह घटना के वक्त त्यूणी थाने के इंचार्ज थे। उन्होंने न्यायालय में अपील करते हुए कहा है कि तीन जून 2022 की रात 11 बजे उन्होंने थाने के मुंशी शमशेर सिंह को जगाया और उससे रात्रि गश्त निकालने को कहा। आरोप है कि इस पर सिपाही लोकेंद्र चौहान व जयेंद्र सिंह के साथ होमगार्ड संसार सिंह बिना वर्दी में पहुंचे।

(Police Apradh) इन तीनों ने चालक संदीप रावत के साथ मिलकर पिटाई कर दी। अब न्यायालय के आदेश पर आरोपित सिपाही लोकेंद्र चौहान, शमशेर सिंह, संदीप रावत और होमगार्ड संसार सिंह के खिलाफ अभियोग दर्ज कर जांच की जा रही है। यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार : रितेश पांडे, मोहन मेहता, मुक्ता प्रसाद सहित पूरे कुमाऊं में होगी 20 लोगों की संपत्ति जब्त

शिकायतकर्ता दरोगा कृष्ण कुमार सिंह का कहना है कि उन्होंने इस मामले में कार्रवाई के लिए पुलिस के उच्चाधिकारियों से कई बार अपील की, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इस पर उन्हें की शरण लेनी पड़ी। अब न्यायालय के आदेश पर मारपीट का मुकदमा दर्ज हो गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बड़ी कार्रवाई : उत्तराखंड के 20 दरोगा एक साथ निलंबित…

Hamirpur police accused of beating woman hostage daroga suspend up latest  news | UP पुलिस की बर्बरता! महिला को बंधक बनाकर पीटा, गुप्तांगों में भी  चोट; दारोगा लाइन हाजिर | TV9 Bharatvarsh

-अपर पुलिस महानिदेशक डा. वी मुरुगेशन ने जारी किए आदेश
-वर्ष 2015 के कई सब इंस्पेक्टरों पर धोखाधड़ी और नकल से भर्ती होने के थे आरोप
नवीन समाचार, देहरादून, 16 जनवरी 2023। 2015 में हुई दारोगा भर्ती घोटाले में 20 दारोगाओं पर गाज गिरी है। पुलिस मुख्यालय की ओर से सभी जिला प्रभारियों को आदेश जारी कर 2015 में भर्ती हुए 20 दारोगाओं को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए हैं। यह दरोगा जांच पूरी होने तक निलंबित रहेंगे।  प्राथमिक जांच में सामने आया है कि यह 20 दारोगा रुपये देकर भर्ती हुए थे। यह भी पढ़ें : युवकों ने 9वीं कक्षा के छात्र की पिटाई की, और वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया, अब भुगतेंगे….

विदित हो कि वर्ष 2015 में तत्कालीन कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री हरीश रावत के कार्यकाल में 339 दारोगाओं की भर्ती हुई थी। यूकेएसएसएससी द्वारा यह परीक्षा कराने की जिम्मेदारी गोविंद बल्लभ पंत विश्वविद्यालय पंतनगर को दी गई थी। उस दौरान भी भर्ती में घपले के आरोप लगे थे, लेकिन सरकार की ओर से जांच न कराने के कारण मामला दब गया था। इधर अन्य भर्ती परीक्षाओं में घोटाला पाये जाने पर गिरफ्तार किए गए नकल माफियाओं से जब एसटीएफ ने पूछताछ की गई तो पता चला कि दारोगा भर्ती में भी नकल हुई थी।

यह भी पढ़ें : महिला पुलिस कर्मी को पुलिस में ही कार्यरत उसके पति ने मारपीट कर घर से बाहर निकाला ! जहर देकर मारने का भी किया प्रयास !

इस मामले में पंतनगर यूनिवर्सिटी का एक सेवानिवृत्त अधिकारी भी गिरफ्तार हुआ था, जिसके तार नकल माफिया हाकम सिंह रावत के साथ जुड़े। जब गहनता से जांच की गई तो पता चला कि दोनों ने दारोगा भर्ती परीक्षा में भी गड़बड़ी करवाई थी। इसके बाद अक्टूबर 2022 को विजिलेंस के हल्द्वानी सेक्टर में इस संबंध में मुकदमा दर्ज हुआ था। मुकदमे में कुल 12 आरोपित हैं।

(Police Apradh) एडीजी कानून व्यवस्था वी मुरुगेशन ने बताया कि प्रारंभिक जांच रिपोर्ट मिली है। इसमें 20 दारोगाओं का नाम सामने आया है। इन सभी को निलंबित कर दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : एसएसपी ने पांच दरोगाओं को किया निलंबित

नवीन समाचार, देहरादून, 15 जनवरी 2023। देहरादून जनपद के पांच उप निरीक्षकों को विवेचना में लापरवाही करना भारी पड़ गया है। जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने उन्हें विवेचना में शिथिलता व लापरवाही बरतने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। यह भी पढ़ें : नैनीताल: कार को बचाने की कोशिश में बस पलटी, एक की मौत, 11 घायल…

निलंबित किए गए उप निरीक्षकों में महिला उप निरीक्षक विनयता चौहान के साथ दीनदयाल सिंह, मिथुन कुमार, सतवीर सिंह और सनोज कुमार शामिल हैं। इसके साथ ही एसएसपी ने सभी विवेचकों को स्पष्ट तौर पर निर्देशित किया है कि विवेचनात्मक कार्यवाही के दौरान किसी भी प्रकार की लापरवाही व शिथिलता को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

(Police Apradh) लापरवाही बरतने वाले व विवेचना में ठोस व प्रभावी कार्यवाही ना कर अनावश्यक रूप से विवेचना को लंबित रख समय से निस्तारित न करने वाले विवेचकों व संबंधित अधिकारियों के खिलाफ भविष्य में भी कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : बिग ब्रेकिंग: आईजी ने नैनीताल के एक उप निरीक्षक को किया निलंबित…

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जनवरी 2023 (Police Apradh) । कुमाऊं परिक्षेत्र के डीआईजी से आई बनने के बाद डॉ. नीलेश आनंद भरणे लगातार विभाग में अनुशासन बनाते व व्यवस्थाएं ठीक करते नजर आ रहे हैं। गत दिवस ऊधमसिंह नगर जनपद के करीब एक दर्जन दरोगा व पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई के बाद अब उन्होंने सोमवार को जनपद नैनीताल मुख्यालय में नियुक्त एक उपनिरीक्षक को निलंबित कर दिया है। यह भी पढ़ें : नैनीताल: लंगूरों के हमले से बाइक सवार घायल…

(Police Apradh) डॉ. भरणे ने थाना तल्लीताल में भारतीय दंड संहिता की धारा 323 व 506 के तहत दर्ज एक मामले की विवेचना के दौरान पीड़ित को आई चोटों के चिकित्सा प्रमाण पत्रों एवं सीसीटीवी फुटेज के आधार पर यथोचित धारा ना बढ़ाए जाने आदि के संबंध में थाना तल्लीताल में नियुक्त उपनिरीक्षक नागरिक पुलिस श्याम सिंह बोरा को निलंबित कर दिया है। यह भी पढ़ें : प्रदेश के विद्यालयों में अवकाश का आदेश जारी…

(Police Apradh) माना जा रहा है कि ऐसी कार्रवाइयों से पुलिस कर्मियों में मनमानी न करने व नियमानुसार सही कार्य करने की प्रवृत्ति को प्रोत्साहन मिलेगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : आईजी बनते ही भरणे पूरी फॉर्म में, एक दरोगा को किया सस्पेंड, 5 को लाइन हाजिर व 7 के खिलाफ शुरू की जांच

नवीन समाचार, नैनीताल, 7 जनवरी 2023 (Police Apradh)। डीआईजी से आईजी बनते ही कुमाऊं परिक्षेत्र के आईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे पूरी फॉर्म में नजर आ रहे हैं। रविवार को उन्होंने ऊधमसिंह नगर में ओआर यानी आदेश कक्ष निरीक्षण के दौरान बड़ी कार्रवाई करते हुए एक उपनिरीक्षक को निलंबित और 5 को लाइन हाजिर कर दिया, जबकि 9 मामलों में प्रारम्भिक जांच के आदेश दिए। यह भी पढ़ें : बनभूलपुरा पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर नई बहस ? मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

(Police Apradh) आईजी भरणे ने बताया कि शनिवार को उन्होंने जनपद ऊधमसिंह नगर के पंतनगर रूद्रपुर सर्कल का आदेश कक्ष निरीक्षण किया। इस दौरान उप निरीक्षक मनोज कुमार को अपने कार्य क्षेत्र किरतपुर ढाल पर ठेलों पर अवैध रूप से शराब की बिक्री होने तथा सिडकुल से महिलाओं की आवाजाही के दौरान उनसे होने वाली छेड़खानी पर लापरवाही बरतने के लिए निलंबित किया गया।

(Police Apradh) साथ ही उप निरीक्षक ललित चौधरी, एंबीराम, मुकेश रावत, विकास रावत व अनुराग सिंह को अभियोग की विवेचना में अनावश्यक रूप से लापरवाही बरतने तथा लंबित रखने पर लाइन हाजिर किया गया, एवं इसके अतिरिक्त 9 मामलों में प्रारंभिक जांच के आदेश दिए। वहीं अच्छा कार्य करने पर उप निरीक्षक दिनेश परिहार को ₹1500 का नगद पुरस्कार भी दिया गया। यह भी पढ़ें : बनभूलपुरा पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर नई बहस ? मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

(Police Apradh) इस दौरान परफारमेंस अप्रेजल के आधार पर कांस्टेबल से लेकर क्षेत्राधिकारी तक के कार्यों की समीक्षा की गई। बताया गया कि रम्पुरा चौकी प्रभारी द्वारा साल में एनडीपीएस एक्ट के मात्र 2, आबकारी अधिनियम के कुल 12 व शस्त्र अधिनियम की 3 निरोधात्मक कार्यवाही की गई हैं। जबकि रम्पुरा क्षेत्र में नशे व शराब के सम्बन्ध में आय दिन शिकायतें प्राप्त होती रहती हैं।

(Police Apradh) इस सम्बन्ध में पर्याप्त कार्यवाही न किये जाने पर रम्पुरा चौकी इन्चार्ज उप निरीक्षक अम्बी राम को लाईन हाजिर किया गया। इसी तरह उप निरीक्षक मुकेश रावत द्वारा 4 माह में कुल 32 एमवी एक्ट के चालान किये गए एवं वर्ष में प्राप्त कुल 22 विवेचनाओं में से किसी का भी निस्तारण नहीं किया गया। इस कारण उन्हें भी लाईन हाजिर किया गया। यह भी पढ़ें : पति-पत्नी के विवाद में एक दर्जन लोग घायल, अस्पताल में भर्ती…

(Police Apradh) जबकि उप निरीक्षक विकास रावत द्वारा आदेश कक्ष में अपना विवेचना रजिस्टर प्रस्तुत नहीं किया गया तथा वर्ष में प्राप्त 51 एनबीडब्ल्यू यानी गैर जमानती वारंटों में से किसी की भी तामील नहीं कराई गई। वहीं अनुराग सिंह द्वारा आदेश कक्ष में अपना विवेचना रजिस्टर प्रस्तुत नहीं किया गया तथा पर्फौर्मैन्स एपरेजल शीट नहीं भेजी और वर्ष 2021 के 13 अभियोग अकारण लम्बित रखे।

(Police Apradh) वही उप निरीक्षक ललित चौधरी ने धोखाधडी के अभियोगों को लम्बे समय से अकारण लम्बित रखा व विवेचना में अभी तक नामजद आरोपितों की स्थित स्पष्ट नहीं की। इस कारण उन्हें भी लाइन हाजिर किया गया। इस दौरान आईजी भरणे ने कहा कि लापरवाही बरतने पर किसी को बख्शा नहीं जाएगा साथ ही अच्छा कार्य करने वालों को प्रोत्साहित भी किया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : मुख्यमंत्री के गृहक्षेत्र में पुलिस कर्मी पर महिला से छेड़छाड़ का आरोप

नैनीताल : पुलिसकर्मी ने लिफ्ट देने के बहाने युवती से की छेड़छाड़ - Amrit  Vicharनवीन समाचार, पिथौरागढ़, 25 नवंबर 2022 (Police Apradh) । उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के गृहक्षेत्र कनालीछीना में एक पुलिस कर्मी पर महिला से छेड़छाड़ करने का आरोप लगा है। इस पर स्थानीय लोग पुलिस के ‘मित्र पुलिस’ होने को लेकर भी प्रश्न खड़े कर रहे हैं। यह तब है जबकि दो दिन पूर्व नैनीताल जनपद में दो पुलिस कर्मियों द्वारा की गई ऐसी ही घटनाओं के एक आरोपित पुलिस कर्मी को इसी पिथौरागढ़ जनपद में भेजा गया है। यह भी पढ़ें : नैनीताल: नगर के नाबालिग छात्र ने बाइक से फर्राटा भरते हुए स्कूटी सवारों को ठोका, एक की मौत…. देखें वीडियो:

(Police Apradh) मामला कनालीछीना में चल रहे कनालीछीना महोत्सव का बताया जा रहा है। इस बारे में स्थानीय लोगों द्वारा बनाए गए वीडियो में बताया जा रहा है कि यहां एक पुलिस कर्मी शराब के नशे मेें धुत होकर एक महिला से छेड़खानी कर रहा था। यह भी पढ़ें : दुर्घटनाओं का दिन: झपकी आने से कार दुर्घटनाग्रस्त, चालक की मौत, दो अन्य चोटिल

(Police Apradh) सूचना पर पहुंचे कनालीछीना के थाना प्रभारी जवान को अपने साथ ले जा रहे हैं। इस पर स्थानीय लोग आरोपित पुलिस कर्मी का मेडिकल कराने की मांग कर रहे हैं। मामले में पुलिस उपाधीक्षक महेश जोशी ने जांच करने और जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई करने की बात कही है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : हल्द्वानी में बस में महिलाओं से अभद्रता कर दो पुलिस कर्मियों ने खाकी को किया शर्मसार

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 23 नवंबर 2022 (Police Apradh) । हल्द्वानी में दो पुलिस कर्मियों ने बीते 24 घंटों में दो महिलाओं के साथ बस में छेड़खानी कर खाकी को शर्मसार कर दिया है। इनमें से एक घटना में 46वीं वाहिनी में कार्यरत पीएसी कर्मी पर बैंक कर्मी महिला से दूसरी घटना में नैनीताल पुलिस लाइन में कार्यरत पुलिस कर्मी पर बीएससी की एक छात्रा से अभद्रता के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप है।

(Police Apradh) पुलिस ने दोनों के विरुद्ध छेड़छाड़ की धारा में प्राथमिकी दर्ज कर ली है। साथ ही एसएसपी पंकज भट्ट ने पुलिस कर्मी को निलंबित कर दिया है। जबकि पीएसी कर्मी पर कार्रवाई के लिए पीएसी मुख्यालय को रिपोर्ट भेज दी है। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ब्रेकिंग: कल की छुट्टी पर आया बड़ा अपडेट

(Police Apradh) प्राप्त जानकारी के अनुसार पहली घटना में मुखानी क्षेत्र में रहने वाली व गदरपुर स्थित एक बैंक शाखा में कार्यरत महिला कर्मी से मंगलवार शाम बस से घर लौटते समय बेलबाबा मंदिर के आसपास यह घटना हुई। पिछली सीट पर बैठा युवक उसके बगल में आकर बैठ गया और पैरों से गलत हरकत कर छेड़छाड़ करने लगा।

(Police Apradh) इस पर महिला ने पुलिस के टोल फ्री नंबर 1090 पर कॉल किया और बस को यातायात नगर पुलिस चौकी के पास रुकवा दिया। लेकिन बस रुकते ही आरोपित फरार हो गया। आरोपित की पहचान 46 वाहिनी पीएसी रुद्रपुर में तैनात ललित चंद्र के रूप में हुई है। यह भी पढ़ें : पति को बांधकर विवाहिता के साथ चार युवकों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, नाबालिग भतीजी के साथ भी की छेड़छाड़

(Police Apradh) जबकि दूसरी घटना में बुधवार सुबह कालाढूंगी निवासी एमबीपीजी कॉलेज में बीएससी की छात्रा बस से कॉलेज के लिए हल्द्वानी आ रही थी। इस बीच पुलिस की वर्दी में जरीफ नाम के सिपाही उसके बगल में आकर बैठ गया और जबरदस्ती बातें करने लगा।

(Police Apradh) आरोप है कि लामाचौड़ पहुंचने पर उसने गलत तरीके से छूना भी शुरू कर दिया। घबराते हुए छात्रा ने अपने दोस्त को इसकी सूचना दी। इस पर उसे पूछताछ के लिए रोका गया तो वह भाग खड़ा हुआ। यह भी पढ़ें : चलते वाहन पर गिरा विशाल बोल्डर, चालक-परिचालक की मौके पर ही दर्दनाक मौत

(Police Apradh) बताया गया है कि आरोपित पुलिस कर्मी जरीफ 15 दिन पहले ही चमोली से प्रशासनिक स्वीकृति पर नैनीताल जिले में आया है और पुलिस लाइन में तैनात है। बुधवार को उसे डे हवालात ड्यूटी में पहुंचना था। वहां वह अनुपस्थित रहा और उसने छात्रा से छेड़छाड़ की। इससे पहले भी वह नैनीताल पुलिस लाइन में कार्यरत रहा है।

(Police Apradh) उसने तब भी यहां आरआइ से अभद्रता की थी। इस पर उसका पिथौरागढ़ ट्रांसफर हुआ था। इसके बाद वर्ष 2017-18 में उसने हवालात के मुंशी से बदसलूकी की थी। इसके बावजूद वह नैनीताल जिले में फिर से आ गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : सोशल मीडिया पर आए एक वीडियो के बाद तीन पुलिस कर्मियों पर डीआईजी ने की प्रशासनिक कार्रवाई….

उत्तर प्रदेश के सभी पुलिस कर्मियों की छुट्टियां 20 मार्च तक रद्दनवीन समाचार, रुद्रपुर, 18 अक्तूबर 2022 (Police Apradh)। सोशल मीडिया पर आये एक वीडियो के बाद ऊधमसिंह नगर जनपद के किच्छा थाने में तैनात तीन पुलिस कर्मियों पर गाज गिर गई है। कुमाऊं परिक्षेत्र के डीआईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे ने तीनों पुलिस कर्मियों का तबादला कर दिया है और मामले की जांच के आदेश दिए हैं। यह भी पढ़ें : नैनीताल : एटीएम में सेंधमारी कर रुपए निकालते कैमरे में कैद हुआ युवक, गिरफ्तार

(Police Apradh) दरअसल हुआ यह कि गत 13 अक्टूबर के बताए जा रहे 22 सेकेंड के वीडियो में किच्छा कोतवाली में तैनात हेड कांस्टेबल राजीव चौधरी तथा आरक्षी राजेश गिरि और आनंद नेगी किच्छा के पूर्व विधायक राजेश शुक्ला के आवास विकास कॉलोनी में स्थित आवास पर जन्म दिन का केक काटने के मौके पर न केवल पुलिस की वर्दी में मौजूद हैं, वरन पूर्व विधायक राजेश शुक्ला के पैर छूकर उन्हें बधाई देते दिख रहे हैं। यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड में एक नई अपडेट: अंकिता की स्वैप डीएनए जांच की फॉरेंसिक रिपोर्ट आई…

(Police Apradh) पुलिसकर्मियों की ऐसी हरकतों का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस की छीछालेदर हो रही थी। ऐसे में मंगलवार को वीडियो की जानकारी मिलते ही डीआईजी डॉ. भरणे ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए प्रशासनिक आधार पर तीनों पुलिस कर्मियों का पिथौरागढ़ तबादला कर दिया है, साथ ही उन्होंने पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरे पुलिस इंस्पेक्टर का मैदान से पहाड़ तबादला…

Jaspur Kotwal suspended : यौन शोषण के आरोप में जसपुर कोतवाल अशोक कुमार  निलंबित - Jaspur Kotwal Ashok Kumar suspended for women harassmentनवीन समाचार, जसपुर, 8 अक्तूबर 2022 (Police Apradh)। थाना जसपुर में तैनात रहे एवं एक महिला के द्वारा लगाए गए दुष्कर्म के आरोपों से घिरे विवादित पुलिस इंस्पेक्टर अशोक कुमार का तबादला जनपद से सीमांत जनपद पिथौरागढ़ कर दिया गया है। उन्हें पिथौरागढ़ के लिए रिलीव भी कर दिया गया है।

(Police Apradh) विदित हो कि बीते 27 सितंबर को एक महिला ने जसपुर के तत्कालीन कोतवाल अशोक कुमार पर यौन शोषण का गंभीर आरोप लगाते हुए राज्य के पुलिस महानिदेशक से देहरादून में मुलाकात कर और उन्हें लगभग डेढ़ मिनट का एक वीडियो दिखाते हुए अशोक कुमार के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

(Police Apradh) इस पर प्रारंभिक तौर पर आचरण नियमावली का उल्लंघन करने और अपने कार्यों के प्रति घोर लापरवाही बरतने को लेकर डीजीपी अशोक कुमार ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था। हालांकि बाद में महिला आरोपों से मुकर गई थी और उसने आत्महत्या करने का प्रयास भी किया था। मामले की जांच सीओ काशीपुर वंदना वर्मा को सौंपी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : यौन शोषण के आरोप में फंसे कोतवाल अशोक कुमार, डीजीपी ने किया निलंबित

नवीन समाचार, देहरादून, 27 सितंबर 2022 (Police Apradh) । प्रदेश पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए यौन शोषण के आरोप में जसपुर के कोतवाल अशोक कुमार को निलंबित कर दिया है। बताया गया है कि महिला ने डीजीपी से मिलकर उनसे कोतवाल से संबंधित लगभर डेढ़ मिनट का एक वीडियो दिखाते हुए खुद का यौन शोषण करने की शिकायत की थी। माना जा रहा है कि इस आधार पर ही कोतवाल अशोक कुमार को निलंबित किया गया है। मामले की जांच सीओ काशीपुर वंदना वर्मा को सौंपी गई है। देखें विडियो :

(Police Apradh) प्राप्त जानकारी के अनुसार एक महिला ने उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार को एक शिकायती पत्र दिया था। जिसमें इंस्पेक्टर अशोक कुमार पर पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया था। महिला ने डीजीपी को इस संबंध में एक करीब डेढ़ मिनट का वीडियो भी सौंपा था, जिसमें कोतवाल महिला के साथ दिखाई दे रहे थे। अब यह वीडियो भी जांच के दायरे में है।

(Police Apradh) उल्लेखनीय है कि मूल रूप से हरिद्वार जनपद के निवासी अशोक कुमार कुछ माह पूर्व ही शिकायत के बाद किच्छा के कोतवाल के पद से भी हटाए गए थे और जसपुर भेजे गए थे। वहां उन पर कांग्रेसियों के उत्पीड़न का आरोप लगा था। विधायक तिलकराज बेहड़ के सदन में मामला उठाने के बाद उनका तबादला किच्छा से जसपुर कर दिया गया था। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : पुलिस दरोगा भर्ती जांच मामले में बड़ा समाचार, अब सामने आएंगे फर्जी तरीके से भर्ती दरोगाओं के नाम…

नवीन समाचार, देहरादून, 22 सितंबर 2022 (Police Apradh) । 2015 में हुई दरोगा भर्ती की जांच मामले में बड़ा समाचार है। इस मामले की जांच कर रही उत्तराखंड पुलिस के हल्द्वानी स्थित कुमाऊं सतर्कता मुख्यालय ने शासन को पत्र भेजकर प्राथमिकी दर्ज कराने की अनुमति मांगी है।

(Police Apradh) इस संदर्भ में पुलिस अधीक्षक सतर्कता प्रह्लाद नारायण मीणा ने बताया कि शासन द्वारा उन्हें सतर्कता जांच के निर्देश मिले थे। जांच में प्रथम दृष्टया कमियां मिली हैं। लिहाजा इसके बाद मामले में प्राथमिकी कराने के लिए शासन की अनुमति मांगी गई है। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद उन उप निरीक्षकों के नाम सामने आएंगे जो अवैधानिक तरीके से सेवा में आए हैं।

(Police Apradh) उल्लेखनीय है कि 2015 में 339 पदों पर उप निरीक्षक पद पर भर्ती हुई थी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर इस नियुक्ति की गड़बड़ी की जांच सतर्कता को सौंपी गई है। अब कुमाऊं सतर्कता दल ने जांच प्रारंभ कर दी है जल्द ही अनियमित रूप से भर्ती हुए दारोगाओं पर कार्रवाई होगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : उत्तराखंड पुलिस की दरोगा भर्ती की विजीलेंस जांच शुरू, टॉपर होने के बावजूद फिसड्डी दरोगाओं में हड़कंप !

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 22 सितंबर 2022 (Police Apradh) । विजिलेंस ने उत्तराखंड पुलिस की दरोगा भर्ती की जांच शुरू कर दी है। प्रदेश के डीजीपी अशोक कुमार ने इसी पुष्टि करते हुए कहा है कि मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी और दोषी पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई होगी।

(Police Apradh) बताया जा रहा है कि विजिलेंस की जांच शुरू होते ही राज्य में खासकर 2015 बैच के दरोगाओं यानी सब इंस्पेक्टरों यानी उप निरीक्षकों में हड़कंप मचा है। विजिलेंस सूत्रों के अनुसार वर्ष 2015 में उत्तराखंड में 339 दारोगा भर्ती हुए। इनमें से कुमाऊं में 120 दारोगा तैनात हैं। इनमें 46 ऊधमसिंह नगर व 38 नैनीताल, पिथौरागढ़ में 15 और अल्मोड़ा, चंपावत व बागेश्वर में सात-सात दरोगा सेवारत हैं। सभी दारोगाओं का मुख्यालय से रिकार्ड लेकर जांच शुरू कर दी गई है।

(Police Apradh) यह भी बताया जा रहा है कि विजीलेंस के निशाने पर सबसे पहले वह टॉपर दरोगा हैं, जिनकी कार्यशैली लचर है। बताया जा रहा है कि इनमें से कुछ दरोगाओं को हिंदी लिखने में भी दिक्कत होती है। चर्चा है कि वह केस डायरी भी नहीं लिख पाते और यह काम पैंसे देकर या कोई बहाना बनाकर अपने मातहतों से कराते हैं। ऐसे दारोगाओं पर गाज गिरनी तय मानी जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : पुलिस दरोगा भर्ती में हुई धाधली में 30-35 दरोगाओं की जा सकती है नौकरी, नकल करके पास हुए, केस डायरी भी नहीं भर पाते…

नवीन समाचार, देहरादून 6 सितंबर 2022 (Police Apradh) । उत्तराखंड में भर्तियों में हुई धांधली को लेकर बवाल मचा है। विधानसभा सचिवालय में पिछले दरवाजे से हुई नियुक्तियों के साथ ही पुलिस दरोगा भर्ती में हुई धांधली की भी जांच शुरू हो गई है।

(Police Apradh) गोपनीय जांच में पता चला है कि वर्ष 2015 में भर्ती हुए 30 से 35 दरोगा फजीर्वाड़ा कर पास हुए। यह सख्या उस वर्ष भर्ती हुए कुल दरोगाओं की 10 फीसदी बताई जा रही है।

(Police Apradh) पता चला है कि यह अपना मूल काम केस डायरी तक लिखना नहीं जानते हैं। इसके लिए वे अक्सर व्यस्तता का दावा कर अपने साथियों और जूनियरों को पैसे देते हैं ताकि समय पर केस डायरी लिखी जा सके। विभाग में ऐसे दरोगाओं की इन दिनों खूब चर्चा है। उल्लेखनीय है कि दरोगा भर्ती को लेकर पहले भी आरक्षण को लेकर विवाद हो चुका है। पहले भर्ती में विवाद हुआ था।

(Police Apradh) प्रदेश के डीजीपी ने इस मामले में विजिलेंस जांच के आदेश दे दिए हैं। इसके बाद ऐसे दरोगाओं पर सख्त कार्रवाई तय मानी जा रही है। जांच में इनके नकल कर पास होने की पुष्टि हुई तो उन्हें नौकरी से हाथ भी धोना पड़ सकता है। इतना ही नहीं गड़बड़ी पाए जाने पर कुछ विभागीय अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई हो सकती है, क्योंकि बिना उनकी मिलीभगत के भर्ती में गड़बड़ी करना असंभव है।

(Police Apradh) डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि प्राथमिक पड़ताल में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। इसी कारण उन्होंने विजिलेंस जांच की सिफारिश की थी। जांच में कोई दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : 20 रुपए के पकौड़ों के लिए पुलिस कर्मियों ने कर दिया ‘मित्र पुलिस’ का नाम बदनाम…

नवीन समाचार, किच्छा, 27 अगस्त 2022 (Police Apradh) । उत्तराखंड पुलिस को चाहे जितना ‘मित्र पुलिस’ कहा जाए, लेकिन कई पुलिस कर्मियों में मित्र पुलिस का चरित्र नहीं आ पा रहा है। इसका उदाहरण नगर में देखने को मिला। यहां एक पुलिस कर्मी ने एक कैंटीन से पकौड़े खाए और पैंसे मांगने पर न केवल कैंटीन संचालक की पिटाई कर दी, बल्कि जब उसके बेटे ने अपने मोबाइल से वीडियो बनाने का प्रयास किया तो उसका मोबाइल भी छीन लिया।

(Police Apradh) आरोप तो यह भी है कि जब पुलिस कर्मी ने मोबाइल वापस किया तो उसके कवर में रखे 12 सौ रुपये की नकदी भी गायब मिली। हद तो यह भी हो गई कि पुलिस कोतवाली में आरोपित पुलिस कर्मी के विरुद्ध शिकायत की गई तो इस पर भी दो दिन से कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

(Police Apradh) रेलवे स्टेशन पर कैंटीन लगाने वाले बंडिया निवासी श्याम सुंदर गुप्ता पुत्र गोविंद राम गुप्ता ने बताया कि बीते बुधवार शाम लगभग साढ़े छह बजे दो पुलिस कर्मी उसकी कैंटीन पर आए और उससे बीस रुपये के पकौड़े बनाने को कहा। पकौड़ी पैक करवा कर दोनों बिना पैसा दिए जाने लगे तो गुप्ता ने उनको पैसे के लिए टोक दिया।

(Police Apradh) इस पर मित्र पुलिस का पारा चढ़ गया और उन्होंने कैंटीन संचालक को धमकाना शुरु कर दिया। कहा आज तक किसी ने उनसे पैसा मांगने की हिम्मत नहीं की तो उसने कैसे पैसे मांग लिये।

(Police Apradh) उनकी इस हरकत को देख कर श्याम सुंदर गुप्ता का बेटा अपने मोबाइल से उनकी वीडियो बनाने लगा तो पुलिस कर्मी, जिसकी वर्दी पर नेम प्लेट भी लगी थी, उसने मोबाइल छीन लिया और उसकी बनाई हुई वीडियो को डिलीट कर दिया। उसके बाद भी उसका मोबाइल वापस नहीं किया और बिना पैसा दिए मोबाइल साथ लेकर चले गए। आधे घंटे के बाद उन्होंने मोबाइल वापस किया तो उसके मोबाइल के कवर में रखी 1210 रुपये की नकदी उसमें नहीं थी।

(Police Apradh) श्याम सुंदर के मुताबिक वहां मौजूद स्टेशन मास्टर ने भी पुलिस कर्मियों की हरकत का विरोध किया। लेकिन दोनों पुलिस कर्मियों ने वहां मौजूद जीआरपी के दरोगा की भी एक नहीं सुनी। गुप्ता ने इसकी शिकायत कोतवाली में की, पर कोई उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई अभी तक नहीं हो पाई है। प्रभारी निरीक्षक धीरेंद्र कुमार ने कहा मामला संज्ञान में आया है जांच की जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : एसएसपी ने 6 चौकी प्रभारियों को हटाने के बाद किया थाना व चौकी प्रभारी को सस्पेंड

नवीन समाचार, देहरादून, 22 अगस्त 2022 (Police Apradh)। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के नए एसएसपी ने अपने आदेश के बावजूद ड्यूटी के दौरान लापरवाही का मामला सामने आने पर थाना प्रभारी और चौकी इंचार्ज पर सख्त कार्रवाई अमल में लाई गई है। एसएसपी ने रविवार के दिन चेकिंग के आदेश दिए थे लेकिन मातहत इस मामले में लापरवाह नजर आए।

(Police Apradh) इस पर एसएसपी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए थाना प्रभारी राजपुर व चौकी प्रभारी आराघर को सस्पेंड कर दिया है जबकि अन्य दो पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई के आदेश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि इससे पहले एसएसपी देहरादून ने छह चौकी प्रभारियों को व्हाट्सएप पर लोकेशन न देने पर हटा दिया था। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : एसएसपी देहरादून ने 6 चौकी प्रभारियों को किया निलंबित, वजह चौंकाने वाली

नवीन समाचार, देहरादून, 10 अगस्त 2022 (Police Apradh) । पुलिस को अनुशासित बल माना जाता है। लेकिन देहरादून पुलिस के कुछ कर्मियों के लिए शायद अनुशासन के कोई मायने नहीं हैं। कंट्रोल रूम द्वारा बार- बार लोकेशन पूछे जाने के उपरांत भी वायरलेस सेट पर जवाब न देने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून ने छह चौकी प्रभारियों को लाइन हाजिर कर दिया है।

(Police Apradh) बताया गया है कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून दलीप कुंवर द्वारा सभी थाना-चौकी प्रभारियों को पीक आवर्स के दौरान अपने थाना-चौकी क्षेत्रान्तर्गत यातायात दबाव वाले क्षेत्रों में स्वयं उपस्थित रहकर यातायात व्यवस्था का सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है। साथ ही इस दौरान कंट्रोल रूम को सभी थाना व चौकी प्रभारियों की नियमित रूप से लोकेशन लेते हुए उन्हें अवगत कराने को कहा गया है।

(Police Apradh) इसके बावजूद आज दिनांक बुधवार को कंट्रोल रूम द्वारा थाना-चौकी प्रभारियों की लोकेशन पूछे जाने के दौरान नगर क्षेत्र में चौकी प्रभारी करनपुर, सर्किट हाउस, नयागांव, आईएसबीटी, जोगीवाला तथा इंदिरा नगर द्वारा न ही कंट्रोल रूम को अपनी लोकेशन से अवगत कराया गया और न ही उनके द्वारा सेट पर कोई उत्तर दिया गया।

(Police Apradh) इसका संज्ञान लेते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुंवर ने इन सभी चौकी प्रभारियों को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर किया गया है। साथ ही सभी थाना-चौकी प्रभारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि लापरवाही व अनुशासनहीनता को किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : बड़ा मामला: फिर उभरा पुलिस ग्रेड-पे का मुद्दा, परिजनों के प्रेस वार्ता करने के बाद चार पुलिस कर्मी निलंबित

Big Breaking: यंहा परिजनों का विरोध, उधर चार पुलिसकर्मी निलंबित... - Pahadi  Khabarnama पहाड़ी खबरनामानवीन समाचार, देहरादून, 2 अगस्त 2022 (Police Apradh)। पुलिस विभाग ने अपने ही चार पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया है। यह कार्रवाई इन पुलिस कर्मियों के परिजनों के द्वारा रविवार को पुलिस कर्मियों के ग्रेड-पे मामले में राजधानी देहरादून में प्रेस कान्फ्रेंस करने को लेकर की गई है। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कार्रवाई की जद में आए पुलिस कर्मियों के परिजनों ने सरकार पर विश्वासघात का आरोप लगाया था और की आंदोलन की चेतावनी दी थी।

(Police Apradh) निलंबित पुलिस कर्मियों में एसडीआरएफ यमुनोत्री में तैनात कुलदीप भंडारी, चमोली में तैनात दिनेश, दून पुलिस मुख्यालय में तैनात हरिंदर सिंह और लक्खीबाग चौकी में तैनात मनोज बिष्ट शामिल हैं। बताया गया है कि इन पुलिस कर्मियों के परिजनों ने रविवार को ग्रेड पे मामले में राजधानी दून में प्रेस कान्फ्रेंस कर आंदोलन की चेतावनी दी थी। पुलिस परिजनों का कहना था कि सरकार ने उनके साथ विश्वासघात किया है।

(Police Apradh) उनका कहना था कि मुख्यमंत्री ने पिछले साल पुलिस स्मृति दिवस पर 2001 बैच के पुलिस कर्मियों को 4600 ग्रेड पे देने की घोषणा की थी, लेकिन बाद में सरकार ने दो लाख रुपए देने का शासनादेश जारी कर दिया। जो मुख्यमंत्री घोषणा से बिल्कुल उलट था। परिजनो का कहना था उन्होंने एक बार फिर मुख्यमंत्री से मुलाकात की, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

(Police Apradh) वहीं इस मामले में कार्रवाई करते हुए विभाग का कहना है कि एक अगस्त 2022 को दैनिक समाचार पत्रों के माध्यम से पुलिस कर्मियों के परिजनों द्वारा दी गई राजनीतिक गतिविधियों में संलिप्त होकर आंदोलन की चेतावनी दी गई है।

(Police Apradh) उनका यह कृत्य ‘सरकारी सेवक आचरण नियमावली नियम 5 (2) एवं नियम 24-क’ का उल्लंघन है एवं उनके द्वारा बरती गई लापरवाही व अनुशासनहीनता के फलस्वरूप यह कार्रवाई की गई है। इस मामले संबंधितों के वरिष्ठ अधिकारियों को 7 दिन के भीतर जांच आख्या देने को भी कहा गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : एसएसपी ने एक थानाध्यक्ष को हटाया…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 27 जून 2022 (Police Apradh)। जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट ने दो उप निरीक्षकों के तबादले किए हैं। खास बात यह है कि इस तबादला आदेश में हल्द्वानी के मुखानी थाने के अध्यक्ष दीपक बिष्ट को हटाया गया है। उनके स्थान पर भीमताल सहित कई थानो की जिम्मेदारी पूर्व में संभाल चुके उपनिरीक्षक रमेश सिंह बोरा को मुखानी का थानाध्यक्ष बनाया गया है।

(Police Apradh) बताया जा रहा है दीपक बिष्ट को कुछ मामलों में हीलाहवाली के कारण हटाया गया है। इनमें से एक मामला एक विवाहिता से दुष्कर्म का भी हो सकता है, जिसमें दो माह पूर्व अभियोग पंजीकृत होने, आरोपित को उच्च न्यायालय से भी राहत न मिलने के बावजूद गिरफ्तार नहीं किया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : अजब मामला : पुलिस कर्मी ने छुट्टी के लिए किए एसएसपी के फर्जी हस्ताक्षर

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 4 जून 2022 (Police Apradh) । राज्य में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। एक सिपाही ने छुट्टी के लिए प्रार्थना पत्र पर अपने ही हाथ से कप्तान के जाली दस्तखत कर दिए। मामला संज्ञान में आने के बाद सिपाही को निलंबित कर दिया गया है।

(Police Apradh) प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद ऊधमसिंह नगर के रुद्रपुर पुलिस लाइन में मूलतः पिथौरागढ़ निवासी सिपाही राकेश कुमार करीब 10 साल से तैनात है। बीती 29 मई को राकेश ने घर में आवश्यक कार्य के लिये एसएसपी के नाम 14 दिन के अवकाश का प्रार्थना पत्र लिखा, लेकिन इस पर अवकाश स्वीकृति के लिए खुद ही एसएसपी के हस्ताक्षर कर दिये।

(Police Apradh) इसके बाद जवान ने यह प्रार्थना पत्र पुलिस लाइन के संबंधित कर्मी को सौंप दिया। संबंधित कर्मी को एसएसपी के हस्ताक्षर संदिग्ध लगे, तो उन्होंने प्रतिसार निरीक्षक वेदप्रकाश भट्ट को यह प्रार्थना पत्र दिखाया। प्राथमिक जांच में स्पष्ट हुआ कि एसएसपी के हस्ताक्षर फर्जी हैं। रिपोर्ट एसएसपी को भेजी गयी। इस पर एसएसपी ने सिपाही राकेश को निलंबित कर दिया है आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : उफ पुलिस की ऐसी हैवानियत, महिला आरोपित को जूते व बेल्ट से पीटा, बिजली के झटके भी लगाए…!

UP: Tantric raped sick woman in Saharanpur - सहारनपुर में तांत्रिक बना  हैवान, बीमार महिला के साथ किया दुष्कर्मनवीन समाचार, देहरादून, 18 मई 2022 (Police Apradh) । उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में मित्र पुलिस की हैवानियत सामने आई है। आरोप है कि देहरादून के जोगीवाला पुलिस स्टेशन में चोरी की एक आरोपित महिला को बिजली के झटके दिए गए। इसके बाद महिला को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। महिला के परिवारवालों ने मामले में पुलिस उच्चाधिकारियों से शिकायत की।

(Police Apradh) इसके बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडूरी ने बताया कि जोगीवाला थाना प्रभारी दीपक गैरोला को घटना के सिलसिले में निलंबित कर दिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मंजू नाम की महिला मोहकमपुर इलाके में सेवानिवृत्त वैज्ञानिक देवेंद्र ध्यानी के घर घरेलू सहायिका का काम करती है। आरोप है कि 14 मई को जब देवेंद्र ध्यानी और उनका परिवार एक शादी में शामिल होने दिल्ली गया था, उस समय घर में चोरी हो गई थी।

(Police Apradh) शिकायत मिलने पर मंजू को मामले में पूछताछ के लिए मंगलवार को जोगीवाला थाने लाया गया। उसके साथ थाने गई मंजू के पति ने आरोप लगाया कि थाने के पुलिसकर्मियों ने उसकी पत्नी को जूते और बेल्ट से पीटा, उसे बिजली के झटके दिए और पूछताछ के दौरान गाली-गलौज की गई।

(Police Apradh) बाद में पुलिस कर्मियों ने मंजू को घर छोड़ दिया और उसके परिजन उसे अस्पताल ले गए। उसका इलाज कोरोनेशन अस्पताल में चल रहा है, जहां डॉक्टरों ने उसकी हालत गंभीर बताई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : पुलिस कर्मी ने दूसरे के नाम व प्रमाण पत्रों से पाई नौकरी, मुकदमा दर्ज

police: पुलिस की पिटाई से हुई मौत? एसएचओ समेत छह पुलिसकर्मी सस्पेंड -  policemen beats a man and he died, 6 suspended | Navbharat Timesनवीन समाचार, रुद्रपुर, 8 मई 2022 (Police Apradh) । नैनीताल जनपद के कालाढुंगी थाने में तैनात एक पुलिस कर्मी पर उत्तराखंड बनने से पहले किसी अन्य के शैक्षिक अभिलेख के सहारे यानी फर्जी तरीके से पुलिस विभाग में भर्ती होकर नौकरी करने का मामला सामने आया है। इस मामले में पंतनगर थाने में आरोपित पुलिस कर्मी के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर जांच शुरू कर दी है।

(Police Apradh) थानाध्यक्ष पंतनगर राजेंद्र सिंह डांगी के हवाले से बताया गया है कि कि ग्राम बंडिया, तहसील खटीमा निवासी चंद्रप्रकाश पुत्र महेंद्र सिंह ने सतर्कता मुख्यालय को शिकायती पत्र सोंपकर कहा था कि जनपद नैनीताल के कालाढूंगी में तैनात पुलिस आरक्षी राजीव कुमार का वास्तविक नाम-पता सत्यपाल पुत्र शिवदान प्रसाद निवासी ग्राम विरेंद्रनगर गोठा, थाना सितारगंज है।

(Police Apradh) वह वर्ष 1990 में राजकीय इंटर कालेज सितारगंज से हाईस्कूल की परीक्षा में अनुत्तीर्ण हो गया था। इस पर उसने राजीव कुमार नाम से दस्तावेज तैयार करके या फिर किसी अन्य के शैक्षिक अभिलेख के सहारे पुलिस में आरक्षी पद पर भर्ती होकर नौकरी कर विभाग को झांसा दिया है।

(Police Apradh) इस पर सतर्कता मुख्यालय के आदेश पर हुई जांच के बाद पंतनगर थाना पुलिस ने आरक्षी राजीव कुमार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। जांच सिडकुल चौकी प्रभारी पंकज कुमार को सौंपी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Police Apradh) : नैनीताल: ड्यूटी के दौरान शराब पीकर दुर्घटना करने पर पुलिस अधिकारी निलबित

नवीन समाचार, रामनगर, 28 अप्रैल 2022 (Police Apradh) । रामनगर कोतवाली में तैनात एक एएसआइ अमित कुमार ने बीती रात्रि नशे में धुत होकर अपनी कार से टेंपो में टक्कर मार दी। हादसे में टेंपो में सवार दो छोटी बच्चियों सहित चार लोग घायल हो गए। इस पर ड्यूटी में लापरवाही बरतने व शराब के नशे में होने की वजह से एएसआइ को एसएसपी ने निलंबित कर दिया है।

(Police Apradh) प्राप्त जानकारी के अनुसार एएसआइ अमित कुमार की ड्यूटी बीती रात्रि पुलिस के डायल 112 वाहन में थी। लेकिन वह ड्यूटी से अनुपस्थित होकर अपनी कार से कोसी बैराज जा रहे थे। इस बीच उनकी कार एक टेंपो से टकरा गई। जिससे टेंपो चालक शादाब, नसरीन व दो बच्चियां घायल हो गईं। जिसके बाद एएसआइ अमित कुमार ने ही 112 वाहन बुलाकर घायलों को संयुक्त चिकित्सालय पहुंचाया।

(Police Apradh) हालांकि इस मामले में अभी घायलों की ओर से तहरीर पुलिस को नहीं दी गई है। लेकिन घटना की सूचना पुलिस के अधिकारियों को रात में दे दी गई थी। सीओ बलजीत भाकुनी ने बताया कि एएसआइ का रात में मेडिकल कराया गया। उनके नशे में होने की पुष्टि हुई। प्रभारी कोतवाल की रिपोर्ट के आधार पर ड्यूटी में लापरवाही बरतने व शराब के नशे में होने पर एएसआइ को निलंबित कर दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

गर्मियों में करना हो सर्दियों का अहसास तो.. ये वादियाँ ये फिजायें बुला रही हैं तुम्हें… नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला