Water supply Problem-लगातार छठे दिन भी नैनीताल के कई घरों में पानी की बूंद नहीं, जानें कब आएगा पानी…

0

Water supply Problem, Residents of Mallital-7 number in Nainital may face water supply disruptions tomorrow due to damaged water lines. The drinking water line, including the main line to Birla area, was damaged by a JCB machine during excavation for a boxing ring construction. Efforts are being made to repair the lines overnight, but it may take some time. People in the affected areas are advised to conserve water.

Water supply Problem
समाचार को यहाँ क्लिक करके सुन भी सकते हैं

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 जून 2023। झीलों के शहर नैनीताल में पेयजल संकट लगातार छठे दिन भी बना हुआ है। नगर के स्नो व्यू रतन कॉटेज क्षेत्र के मुख्य पेयजल टेंक से सेवित क्षेत्रों में लगातार छठे दिन भी नलों से पानी की बूंद नहीं टपकी है। अलबत्ता जल संस्थान के अधिकारियों ने कुछ देर में आपूर्ति बहाल होने का विश्वास दिलाया है।

उत्तराखंड जल संस्थान के सहायक अभियंता डीएस बिष्ट ने बताया कि डीएसए मैदान में मरम्मत वाले स्थान पर एमएस यानी माइल्ड स्टील की लाइन पर की गई वेल्डिंग बाल के बराबर लीकेज से नमी दिखाई दी थी। इस पर जोखिम लेने की जगह डीएम सहित अन्य उच्चाधिकारियों की देखरेख में इसे पूरी रात लगकर दुरुस्त कर दिया गया है।

उन्होंने बताया कि इसके बाद पंप चालू कर दिए गए हैं, और स्नो व्यू के टेंक में पानी पहुंच गया है। आगे 11 बजे के आसपास घरों की लाइन में पेयजल आपूर्ति किए जाने की तैयारी है। इस दौरान पानी कम पहुंच सकता है, क्योंकि टैंक पूरे भर नहीं पाएंगे। लेकिन आज शाम से पूर्ववत् पूरी आपूर्ति मिलेगी। इधर ताज़ा अपडेट यह है कि पानी की आपूर्ति सुबह 10 बजे से शुरू हो गई है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : नैनीताल में पेयजल आपूर्ति पर अपडेट, फिर अटकी आपूर्ति

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 जून 2023। (Water supply Problem) नगर के स्नो व्यू टेंक से होने वाली पेयजल आपूर्ति फिर से अटक गई है। बताया गया है कि स्नो व्यू व रतन कॉटेज टेंकों में पंप हाउस से पानी चढ़ाया गया तो मरम्मत किए गए स्थान पर पानी की लीकेज होती पाई गई। इस पर पंप बंद कर दिए गए। अब पुनः यहां लीकेज की मरम्मत को दूर करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

उम्मीद जताई जा रही है कि अब स्नो व्यू व रतन कॉटेज टेंकों से सेवित मल्लीताल के इलाकों के निवासियों के लिए पेयजल आपूर्ति पुनः लटक गई है। जल संस्थान के अधिकारियों की ओर से बताया जा रहा है कि अब इन क्षेत्रों के लिए मंगलवार सुबह तक आपूर्ति शुरू हो सकती है। अलबत्ता बिड़ला टेंक से सेवित तल्लीताल के क्षेत्रों में आपूर्ति सुचारू होने का दावा किया गया है।

इससे पहले जल संस्थान ने शाम करीब छह-साढ़े छह बजे से सभी क्षेत्रों में करीब दो घंटे पेयजल की आपूर्ति शुरू किए जाने की संभावना जताई थी। जल संस्थान के अधिशासी अभियंता विपिन चौहान व सहायक अभियंता डीएस बिष्ट ने बताया था कि नई मरम्मत की गई पेयजल लाइन का परीक्षण सफल रहा है। बिड़ला व स्नो व्यू के टेंकों को पंप हाउस से पानी भेज दिया गया हैं। पाइप लाइनों व टेंकों की सफाई तथा टेंकों के भरने के बाद शाम छह बजे के करीब आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी। आज करीब दो घंटे जबकि कल सुबह से नियमित आपूर्ति की जाएगी।

इससे पहले बताया गया था कि रविवार शाम आठ-साढ़े आठ बजे लाइनों में मरम्मत का कार्य पूरा हो गया था। इसके बाद लाइनों के ऊपर पानी के दबाव को झेलने के लिए बनाए गए करीब 10 मीटर लंबे एक मीटर चौड़े व दो फिट मोटे आरसीसी स्लैब को सूखने को छोड़ा गया था। 

इधर आज यह मामला उच्च न्यायालय भी पहुंच गया। हाईकोर्ट बार एशोसिएशन के पूर्व उपाध्यक्ष दिनेश चंद्र सिंह रावत ने न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा व न्यायमूर्ति राकेश थपलियाल की खंडपीठ में पेयजल संकट को गंभीर बताते हुए तत्काल सुनवाई की प्रार्थना की। उन्होंने कहा कि शहर में पांच दिन से एक तिहाई आबादी सहित करीब तीन हजार संयोजनों के सेवित उपभोक्ता बूंद-बूंद को तरस गए है। वैकल्पिक प्रबंध भी पर्याप्त नहीं किये गए हैं। पानी न आने की वजह से लोगों की दिनचर्या पूरी तरह प्रभावित हो गई है। खंडपीठ ने मामले की गंभीरता को लेते हुए जल संस्थान के अधिवक्ता को बुलाकर स्थिति स्पष्ट करने को कहा। इस पर जल संस्थान के अधिवक्ता ने जल संस्थान के अधिकारियों से वार्ता कर खंडपीठ को बताया कि शाम चार बजे तक पेयजल की आपूर्ति कर दी जाएगी।

इससे पहले जल संस्थान ने हल्द्वानी से भी यूटिलिटी वाहन मंगाकर नगर में पेयजल की आपूर्ति का प्रबंध किया है। चिड़ियाघर रोड क्षेत्र के कई होटल संचालकों के द्वारा निजी तौर पर भी यूटिलिटी वाहनों से पेयजल मंगाया गया है। हालांकि अभी भी नगरवासी पानी के लिए परेशान हैं, और पानी के लिए यहाँ-वहाँ भटक रहे हैं। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

नैनीताल भुगत रहा तकनीकी खामी से बनी पेयजल लाइनों का खामियाजा, जल संस्थान को बेवजह मिल रहीं गालियां, 4 दिनों से पानी नहीं…

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 जून 2023। (Water supply Problem) नैनीताल शहर भौगोलिक परिस्थितियों को ध्यान में रखे बिना ‘डीआई’ यानी ‘डक्टाइल आयरन’ से निर्मित पेयजल लाइनों की तकनीकी खामी का लगातार खामियाजा भुगत रहा है। तीक्ष्ण चढ़ाई पर मोड़ों के साथ ले जाई गई यह लाइनें पूर्व में भी अपने बनने के तत्काल बाद भी कई बार मल्लीताल रिक्शा स्टेंड व भोटिया बैंड आदि स्थानों पर फटती रही हैं, और इस बार भी दो बार मरम्मत किए जाने के बावजूद फट चुकी हैं।

विशेषज्ञ मानते हैं कि डीआई की यह लाइनें यूं तो सभी मैदानी बड़े शहरों में अच्छा कार्य कर रही हैं, लेकिन नैनीताल जैसे पर्वतीय नगर के उपयुक्त ही नहीं हैं। इनमें वेल्डिंग भी नहीं हो पाती है। इसका गैस्केट मिलना भी मुश्किल होता है। यहां पानी का दबाव इतना अधिक रहता है कि इन लाइनों के साथ आरसीसी का स्लैब भी फट जाता है, लेकिन इन लाइनों का निर्माण करने वाली कंपनी अपना भुगतान लेकर चलती बनी है, लेकिन गालियां इनके निर्माण में कोई भूमिका न निभाने वाली परंतु नगर में पेयजल आपूर्ति के लिए जिम्मेदार जल संस्थान को सुननी पड़ रही है। जबकि यदि यह लाइनें जीआई यानी गैल्वनाइज्ड आइरन, जिसकी आम घरेलू पेयजल लाइनें होती हैं, या एमएस यानी माइल्ड स्टील की लाइनें होतीं तो इन्हें जल्दी वेल्डिंग करके दुरुस्त किया जा सकता, लेकिन डीआई की लाइनें हर तरह से नगर में सुचारू पेयजल आपूर्ति में बाधक बन रही हैं।

2,000 से अधिक लोगों के घरों में आज पानी नहीं आएगा,मल्लीताल डीएसए मैदान में  जेसीबी ने तोड़ी पेयजल लाइन, -उल्लेखनीय है कि इधर शहर के डीएसए मैदान में बास्केटबॉल कोर्ट के समीप क्षतिग्रस्त हुई एडीबी की मेन राइजिंग लाइन दुरुस्त करने के बाद फिर लगातार दूसरी बार फट गई है। जल संस्थान के कर्मचारियों ने करीब 60 घंटे तक दिन-रात जुटकर इन क्षतिग्रस्त लाइनों को दुरुस्त किया था। इसके बाद लाइनों से पानी की आपूर्ति शुरू की गई। जल संस्थान के सहायक अभियान डीएस बिष्ट ने बताया कि बिड़ला वाली लाइन में करीब आधे घंटे आपूर्ति होने और स्नो व्यू वाली लाइन में आपूर्ति शुरू होते ही यह लाइनें कुछ ही घंटों के भीतर लगातार दूसरी बार धमाके के साथ फिर से फट गईं। इससे शहर के हजारों पेयजल उपभोक्ताओं की पानी आने की उम्मीदों पर फिर से पानी फिर गया है।

इससे नगर का पर्यटन कारोबार भी प्रभावित हुआ है। स्थानीय लोग पिछले चार दिनों से पेयजल के लिए प्राकृतिक जल स्रोतों में कतार लगाकर जुटे हुए हैं। वहीं होटल पर्यटकों को नहीं ले पा रहे हैं। इधर जल संस्थान के अधिकारी-कर्मचारी लगातार तीसरी बार क्षतिग्रस्त लाइन को दुरुस्त करने में जुटे हुए हैं और अब सोमवार सुबह तक आपूर्ति बहाल करने की उम्मीद जता रहे हैं।

Water supply Problemविदित हो कि बीते मंगलवार को डीएसए मैदान के बास्केटबॉल कोर्ट के पास बॉक्सिंग रिंग निर्माण को लेकर बुलडोजर द्वारा खुदाई के दौरान स्नोव्यू क्षेत्र के लिए जा रही मेन राइजिंग लाइन क्षतिग्रस्त हो गई थी। इसे जल संस्थान के कर्मचारी दुरुस्त करने में जुटे हुए थे। मगर गुरुवार दोपहर ठीक बगल में स्थित बिड़ला और रतन कांटेज क्षेत्र की मेन राइजिंग लाइन भी क्षतिग्रस्त हो गई। जिस कारण शहर की एक तिहाई आबादी बूंद-बूंद पानी के लिए तरस गई। साथ ही साथ ही कई होटलों में भी पानी आपूर्ति बाधित होने से पर्यटन कारोबार प्रभावित होने लगा। जिला प्रशासन ने संज्ञान लिया तो मरम्मत कार्य में तेजी आई। जिसके बाद जल संस्थान के तमाम अधिकारियों और कर्मचारियों सहित मजदूरों की टीम लाइन को दुरुस्त कराने में लगाई गई। करीब 60 घंटे तक दिन-रात जुट कर रविवार तड़के करीब चार बजे तक लाइन को दुरुस्त किया गया।

जल संस्थान के सहायक अभियंता दिलीप बिष्ट ने बताया कि लाइन दुरुस्त करने के बाद उसकी रोकथाम को आरसीसी स्लैब डाला गया। सुबह करीब सात बजे पानी की आपूर्ति शुरू करने के लिए पानी खोला गया। बिड़ला और स्नोव्यू की लाइन में सुचारू रूप से पानी टैंक में गिरने लगा। मगर रतन कॉटेज टैंक में पानी की आपूर्ति शुरू करने के दौरान लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। इसके बाद लाइन से पानी का दबाव अधिक होने के कारण बिड़ला और स्नोव्यू की लाइन भी फिर से टूट गई। इसके बाद तीसरी बार टीम लगाकर लाइनों को दुरुस्त किया जा रहा है। इसके बाद सोमवार सुबह तक लाइन को दुरुस्त कर आपूर्ति बहाल किए जाने की उम्मीद की जा रही है।

भाजपाइयों ने टैंकों से पेयजल आपूर्ति के प्रयास किए, पर भौगोलिक परिस्थितियां आ रहीं आढ़े

नैनीताल। शहर में पेयजल आपूर्ति के बाधित होने के बाद नगर के भाजपा कार्यकर्ताओं ने जल संस्थान के माध्यम से टैंकों एवं छोटे पिकअप वाहनों से पानी की आपूर्ति करने का दबाव बनाया। जल संस्थान ने बिड़ला और रतन कॉटेज क्षेत्र में इसकी पहल भी की, लेकिन नगर के खासकर पेयजल आपूर्ति प्रभावित मल्लीताल, सात नंबर, चार्टन लॉज, पॉपुलर कंपाउंड आदि के अनेकों क्षेत्र ऐसे हैं जहां किलोमीटरों के हिसाब से पैदल चलना पड़ता है, और पिकअप जैसे छोटे वाहनों से भी पेयजल की आपूर्ति संभव नहीं है।

इस बीच कई होटल कारोबारियों और अन्य लोगों ने सड़कों पर उतर कर जल संस्थान के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए सड़क जाम कर दी। इस दौरान करीब एक घंटे तक सड़क पर यातायात भी बाधित रहा। जिला प्रशासन, जल संस्थान और पुलिस अधिकारियों ने वार्ता कर किसी तरह लोगों को समझा-बुझाकर धरने से उठाया। जिसके बाद यातायात सुचारू किया जा सका। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

यह भी पढ़ें : नैनीताल में पेयजल संकट समाधान की ओर… जानें कब आएगा पानी…

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 जून 2023। (Water supply Problem) राइजिंग मेन लाइन क्षतिग्रस्त होने से तीन दिन से नगर में पेयजल संकट बना हुआ है। एक साथ तीन लाइन के फटने से शहर की 15 हजार से अधिक आबादी पेयजल संकट झेलने को मजबूर है। लेकिन अब नगर में पेयजल आपूर्ति सुचारू होने का समय करीब आ गया है। नगर में रविवार सुबह से चार दिन के बाद पानी आ सकता है।

उत्तराखंड जल संस्थान के सहायक अभियंता दिलीप सिंह बिष्ट ने बताया कि डीएसए मैदान में क्षतिग्रस्त  डीआई यानी डक्टाइल आईरन की पाइप लाइन की जगह एमएस यानी माइल्ड स्टील आयरन का जोड़ लगा दिया गया है। अब इसके ऊपर आरसीसी का स्लैब डाला जा रहा है। केमिकल की मदद से स्लैब के एक-दो घंटे में सूखने के बाद बिड़ला व स्नोव्यू क्षेत्र के टैंकों में पानी भरने का कार्य रात्रि में शुरू किया जाएगा। इसके बाद रविवार सुबह से पेयजल की आपूर्ति सुचारू होने की पूरी संभावना है।

उल्लेखनीय है कि नगर के मल्लीताल डीएसए मैदान में गत 20 जून को बाॅक्सिंग रिंग की खुदाई के दौरान बिड़ला की राइजिंग मेन पाइपलाइन ध्वस्त हो गई थी। रातभर कार्य के बाद लाइन दुरुस्त हो गई लेकिन दूसरे दिन इसके साथ बृहस्पतिवार को स्नोव्यू तथा शुक्रवार को रतन काॅटेज वाली लाइन भी टूट गई। इससे नगर के बिड़ला, स्नोव्यू, स्टोनले, प्राणी उद्यान सहित विभिन्न क्षेत्रों के लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है।

जल संस्थान के मुताबिक बिड़ला, रतन काॅटेज, स्नोव्यू लाइन में कुल 2450 पेयजल संयोजन हैं। प्रशासन ने ठीक पीक सीजन में कार्य करवाया और जून माह के पीक सीजन के सप्ताहांत में लाइन फटने से होटलों में पानी नहीं है। पानी न होने से सप्ताहांत पर होटल पर्यटकों को कमरे नहीं दे पा रहे हैं। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

यह भी पढ़ें : कल नैनीताल के बड़े हिस्से में पानी आना मुश्किल, पढ़ें जल संस्थान से संबंधित 2 और महत्वपूर्ण समाचार

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 जून 2023। (Water supply Problem) जिला मुख्यालय के मल्लीताल-सात नंबर क्षेत्र में शुक्रवार को पेयजल आपूर्ति बाधित रह सकती है। जल संस्थान के सहायक अभियंता डीएस बिष्ट ने बताया कि गत दिवस जेसीबी मशीन के पंजे ने डीएसए मैदान में बॉक्सिंग रिंग के निर्माण के लिए खुदाई के दौरान लाइन को क्षतिग्रस्त कर दिया था। तब लाइन को दुरुस्त कर दिया गया था। लेकिन आज यह लाइन पुनः क्षतिग्रस्त हो गई। 

Water supply Problem

Water supply Problemक्योंकि जेसीबी के पंजे से बिड़ला क्षेत्र को जाने वाली डक्टाइल आयरन की मुख्य पेयजल लाइन के साथ ही लाइन के ऊपर बनाए गए सीमेंट के स्लैब को भी तोड़ दिया था। इस स्लैब के टूटे होने की वजह से आज फिर से बिड़ला की मुख्य लाइन के साथ सात नंबर क्षेत्र की मुख्य लाइन भी क्षतिग्रस्त हो गई है। इसे रात भर लगकर ठीक करने की कोशिश की जाएगी, लेकिन इन दो लाइनों को दुरुस्त करने में समय लगना तय है। इसलिए इन क्षेत्रों से संबंधित लोगों को पानी बचाकर प्रयोग करने की सलाह दी गई है।

शहर में कल से घर-घर चलेगा सीवर लाइन से बारिश के पानी को हटाने के लिए अभियान

नैनीताल। जिलाधिकारी वंदना की अध्यक्षता में गुरुवार को जिला कार्यालय नैनीताल में शहर में एडीबी द्वारा किये जा रहे सीवरेज लाइन के कार्यों की जिला स्तरीय अनुसरण एवं परामर्श समिति की और पशुपालन विभाग की बैठक ली। इस दौरान एडीबी के कार्यों की समीक्षा करते हुए डीएम ने एडीबी के अधिकारियों से सीवरेज के लम्बित कार्यों को दस जुलाई से कार्य प्रारम्भ करते हुए साठ से अस्सी दिनों के भीतर कार्य पूर्ण करने और निर्माण के दौरान निर्माण सामग्री व खुदी हुई मिट्टी को सुरक्षित तरीके से रखने के निर्देश दिए।

जोर देकर कहा कि यदि इसके कारण कोई जनहानि होती है तो इसकी सम्पूर्ण जवाबदेही सम्बन्धित अधिकारी की होगी। वहीं पुलिस क्षेत्राधिकारी विभा दीक्षित को उन्होंने इस कार्य के दौरान समन्वय बनाते हुए यातायात योजना बनाने को कहा, ताकि पर्यटकों एवं स्थानीय लोगों को किसी प्रकार की दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

इसके अलावा डीएम ने जलसंस्थान के एई को शहर में घरों की सीवर लाइन में बारिश के पानी को 23 जून यानी कल से ही वृहद अभियान चलाकर हटाने, इसकी नियिमित फोटो व वीडियो उपलब्ध कराने को कहा। साथ ही चेतावनी दी कि यदि शहर में सीवर ओवर फ्लो होने पर इसकी पूरी जिम्मेदारी जलसंस्थान की होगी। यह भी कहा कि जलसंस्थान हर तीन माह में बारिश के पानी को सीवर लाइन से हटाते हुए अपनी रिर्पोट भी देगा। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

स्थायी लोक अदालत से हुआ सीवर की समस्या का समाधान

नैनीताल, एसएनबी। नैनीताल जनपद की स्थायी लोक अदालत में मामला जाने के बाद नगर के मेट्रोपोल कंपाउंड में लगातार उफनने वाली सीवर लाइन की समस्या का समाधान हो गया है। इस मामले में शिकायतकर्ता नगर के सामाजिक कार्यकर्ता प्रदीप साह ने बताया कि मेट्रोपोल परिसर में वर्षों से बह रही सीवर की समस्या का स्थाई लोक अदालत में कुमाऊं जल संस्थान के विरुद्ध वाद दायर होने के बाद समाधान हो गया है। जल संस्थान ने सीवर की समस्या का समाधान करते हुए नाले की सफाई करा दी है और आगे नाले की लगातार सफाई कराने का आश्वासन दिया है। इसके बाद शिकायतकर्ता व जल संस्थान के बीच समझौता हो गया है।

श्री साह ने कहा कि नैनीताल नगर को बचाए रखने के लिए स्थाई लोक अदालत के संज्ञान में समस्याओं को ले जाकर उनका निराकरण किया जा सकता है। इस मामले में कार्रवाई व समझौते के लिए उन्होंने स्थायी लोक अदालत के अध्यक्ष सुबीर कुमार और सदस्य अकरम परवेज व दर्शन सिंह का आभार व्यक्त किया है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

Tomorrow it is difficult to get water in large parts of Nainital

Naveen Samachar, Nainital, 22 June 2023. Drinking water supply may remain disrupted on Friday in Mallital-7 number area of the district headquarters. Jal Sansthan’s assistant engineer DS Bisht told that last day the claw of JCB machine had damaged the line during excavation for the construction of boxing ring in DSA ground. Then the line was fixed. But today this line got damaged again.

Because along with the main drinking water line of ductile iron going to Birla area from the claws of JCB, the cement slab built over the line was also broken. Due to the breaking of this slab, today again the main line of Birla along with the main line of number seven area has also been damaged. An attempt will be made to fix it overnight, but it is sure to take time to fix these two lines. That’s why people belonging to these areas have been advised to save water and use it.

Door-to-door campaign to remove rain water from sewer line will start in the city from tomorrow

Nainital. Under the chairmanship of District Magistrate Vandana, a meeting of the District Level Follow-up and Consultancy Committee and Animal Husbandry Department took place on Thursday at the District Office, Nainital, on the sewerage line works being done by ADB in the city. During this, while reviewing the works of ADB, the DM asked the officials of ADB to start the pending works of sewerage from July 10 and complete the work within sixty to eighty days and during the construction, the construction material and excavated soil should be kept safely.

instructed to keep Emphasized that if there is any loss of life due to this, then the concerned officer will be fully responsible for it. At the same time, he asked Police Officer Vibha Dixit to make a traffic plan while coordinating during this work, so that tourists and local people do not face any kind of problems.

Apart from this, the DM asked the AE of Jal Sansthan to remove the rain water from the sewer line of the houses in the city by running a massive campaign from 23 June i.e. from tomorrow itself, providing regular photos and videos of it. Also warned that if there is sewer overflow in the city, it will be the full responsibility of the Jal Sansthan. It was also said that Jal Sansthan will submit its report after removing rain water from the sewer line every three months.

Permanent Lok Adalat solved sewer problem

Nainital, SNB. After going to the permanent Lok Adalat of Nainital district, the problem of sewer line that keeps on overflowing in Metropol compound of the city has been resolved. In this case, the complainant city’s social worker Pradeep Sah said that the problem of sewer flowing in the Metropol premises for years has been resolved after a case was filed against the Kumaon Jal Sansthan in the Permanent Lok Adalat. The Jal Sansthan has got the drain cleaned while solving the sewer problem and has assured to clean the drain continuously. After this, an agreement has been reached between the complainant and the Jal Sansthan.

Mr. Sah said that in order to save Nainital city, the problems can be resolved by taking them to the notice of the Permanent Lok Adalat. He has expressed gratitude to Subir Kumar, Chairman of Permanent Lok Adalat and members Akram Parvez and Darshan Singh for taking action and agreement in this matter.

About Author

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला नैनीताल : दिल के सबसे करीब, सचमुच धरती पर प्रकृति का स्वर्ग कौन हैं रीवा जिन्होंने आईपीएल के फाइनल मैच के बाद भारतीय क्रिकेटर के पैर छुवे, और गले लगाया… चर्चा में भारतीय अभिनेत्री रश्मिका मंदाना
%d bloggers like this: