News

डीएम करेंगे तहसील, ब्लॉक मुख्यालय व थानों का निरीक्षण, मंडलायुक्त ने दिए जिलाधिकारियों को और भी ऐसे कई निर्देश

समाचार को यहाँ क्लिक करके सुन भी सकते हैं

-मंडलायुक्त सुशील कुमार ने की मंडल के राजस्व, चिकित्सा, सुरक्षा तथा सेवा का अधिकार कार्यों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा
डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 16 सितंबर 2021। कुमाऊं मंडल के आयुक्त सुशील कुमार ने बृहस्पतिवार को मंडल में राजस्व, चिकित्सा, सुरक्षा तथा सेवा का अधिकार कार्यों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने मंडल के सभी जिलाधिकारियों को जन उपयोगी सेवाओं को और अधिक प्रभावी एवं क्रियाशील बनाने के लिए तहसील व ब्लॉक कार्यालयों के साथ ही थानों का भी निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं।

मंडलायुक्त श्री कुमार ने सेवा का अधिकार की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारियों को जाति, स्थायी निवास, आय व मृत्यु प्रमाण पत्र, परिवार रजिस्टर की नकल सहित जनता को सभी सेवाएं समय से मुहैया कराने, कार्यो में किसी भी प्रकार की हीलाहवाली न बरतने और कार्यों को अनावश्यक लंबित न रखने, आवेदन पत्रों, शिकायतों एवं समस्याओं का सही ढंग से निस्तारण करने, सेवा का अधिकार के अंतर्गत आने वाली सेवाओं एवं राजस्व विभाग के अधीनस्थ कर्मचारियों एवं अधिकारियों के कार्यों की गहनता से समीक्षा करने के निर्देश भी दिए, ताकि जनता को किसी भी दशा में तहसीलों के अनावश्यक चक्कर न काटने पड़ें। उन्होंने सभी जिलों में डीएम की अध्यक्षता में समयबद्धता से तहसील दिवस आयोजित करने के निर्देश देते हुए कहा कि वह भी जनपदों का दौरा करेंगे। उन्होंने सीएम हेल्पलाइन पर प्राप्त होने वाली शिकायतों व सीएम संदर्भों का भी समयबद्धता एवं गुणवत्ता से समाधान करने, स्थानांतरित हुए अधिकारियों एवं कर्मचारियों को तत्काल सेवा से मुक्त करने को भी कहा।

इसके अलावा राजस्व विभाग के अधिकारियों को उन्होंने राजस्व वादो के निस्तारण में तेजी लाने, नामांतरण में स्वचालन उत्परिवर्तन (ऑटोमेशन म्यूटेशन) प्रकिया को अपनाने, 35 दिनों के भीतर म्यूटेशन की कार्यवाही पूरी करने, आरसीएमएस एप्लीकेशन का उपयोग करने, विरासत के मामलों में सभी कानूनगों के कार्यों की गहनता से समीक्षा करने, संग्रह अमीनों के कर वसूली मामलों की समीक्षा करने, विनियमितीकरण के मामलों के निस्तारण में तेजी लाने के निर्देश दिये। साथ ही सभी अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व को विभिन्न विभागों के वित्त लक्ष्य एवं प्राप्ति की प्रतिमाह गहनता से समीक्षा करने को कहा। इसके अलावा उन्होंने जनपदों में सर्वे करते हुए बेनाप भूमि को चिन्हित करते हुए राजस्व के दायरे में लोन तथा भूमि बैंक तैयार करने के साथ ही उन्होंने जनपदों में उद्यमियों एवं उद्योगों को प्रोत्साहित करने हेतु सिंगल विंडो सिस्टम को और अधिक प्रभावी करने, एमएसएमई के अंतर्गत भूमि खरीद की अनुमति देने, भूमि की धारा 143 यानी कृषि से अकृषि करने की कार्रवाई शीघ्रता से करने के साथ ही सभी कार्य समयबद्धता से पूर्ण कराने के निर्देश जिलाधिकारियों को दिये।

उन्होंने अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरूद्ध होने वाली कार्यवाही को 6 माह के भीतर निस्तारित करने, सेवानिवृत्त होने वाले कार्मिकों को समय से पेंशन जारी करने हेतु आवश्यक कार्यवाही समयबद्धता से पूरी करने तथा कोराना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव, तीसरी लहर से निपटने हेतु की गयी तैयारियों व कोरोना टीकाकरण आदि की गहनता से समीक्षा करने के लिए भी महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिये। वीडियो कॉफ्रेंसिंग में नैनीताल के डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल, यूएस नगर की डीएम रंजना राजगुरू, अल्मोड़ा की वंदना व बागेश्वर के विनीत कुमार तथा मुख्य प्रशासनिक अधिकारी हरीश लाल वर्मा आदि शामिल रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : सीएम धामी ने अधिकारियों को कार्य संस्कृति में बदलाव के लिए दिया तीन शब्दों का मंत्र, जनपद में विकेंद्रीकरण का बड़ा सुझाव भी दिया

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 8 सितंबर 2021। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को मुख्यालय स्थित नैनीताल क्लब में जन समस्याओं के तेजी से निस्तारण हेतु सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों से सकारात्मक सोच रखते हुए अपनी कार्य संस्कृति में बदलाव के लिए तीन शब्दों का मंत्र दिया। यह तीन शब्द हैं-सरलीकरण, समाधान तथा निस्तारण। इस मंत्र को पहले जनसभा में भी रखते हुए सीएम ने कहा किसी भी काम को असंभव बताकर टालना नहीं है, बल्कि उसके समाधान का सरल रास्ता तलाशना है। उस सरल रास्ते से समस्या का समाधान करना है और पूर्ण समाधान के साथ संबंधित फाइल का पूरी तरह से निस्तारण कर देना है। उन्होंने जनपदों के नीचे विधानसभावार समीक्षा करने का भी मंत्र सुझाते हुए जिम्मेदार अधिकारियों को विधानसभाओं का नोडल अधिकारी बनाने का सुझाव भी दिया।

उन्होंने पुलिस विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि पुलिस चौकी से लेकर कोतवाली स्तर तक की समस्याओं पर उसी स्तर से कार्यवाही करना सुनिश्चित करें, कोई भी समस्या उच्च स्तर पर कतई नहीं आनी चाहिए। यदि निचले स्तर की समस्याऐं उच्च स्तर तक आती हैं तो पुलिस विभाग के उच्चाधिकारी सम्बन्धित के खिलाफ तुरन्त कार्यवाही करें। उन्होंने 15 सितम्बर तक सभी सड़कों को प्राथमिकता से गड्डा मुक्त करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने नगर निगम हल्द्वानी के मेयर डॉ.जोगेन्द्र पाल सिंह रौतेला के अनुरोध पर नगर निगम के आन्तरिक सड़क मार्गों (जोकि पूर्व में लोनिवि के पास थे) को गड्डामुक्त करने हेतु डीपीआर तुरन्त तैयार करने के निर्देश अधीक्षण अभियंता लोनिवि को दिये। उन्होंने युवाओं को अधिक से अधिक रोजगार से जोड़ने के लिए सम्बन्धित विभागों के साथ ही राजस्व, बैंकर्स को भी बुलाते हुए और स्थानीय विधायकों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए शिविरों का आयोजन करने, कैंची धाम में पार्किंग निर्माण हेतु डीपीआर तुरन्त तैयार कराकर शासन को भिजवाने, वन विभाग से विकास कार्यों से सम्बन्धित प्रकरणों के वनभूमि हस्तान्तरण प्रस्ताव में बार-बार आपत्ति न लगाकर एक ही बार में समस्त आपत्तियां लगाने को भी कहा।

समीक्षा के दौरान डीएम धीराज गर्ब्याल ने बताया कि जनपद में आर्थिकी संसाधनों में वृद्धि हेतु प्राथमिक क्षेत्र-कृषि, उद्यान, पशुपालन, मत्स्य आदि विभाग को जिला योजना से 12 करोड़ से अधिक की धनराशि अवमुक्त की गयी है। नकदी तथा बेमौसमी फसल उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए 90 प्रतिशत अनुदान पर जिला योजना से 261 तथा खनन न्यास फण्ड से 186 पॉली हाउस का निर्माण कलस्टर एवं स्वयं सहायता समूह आधारित कराया जा रहे हैं। उन्होंने पर्यटन को बढ़ावा देने व किसानों को हाई एल्टीट्यूड सेब नर्सरी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से रामगढ़ में 8 एकड़ में विकसित हो रही सेब नर्सरी, परम्पारगत शैली में नैनीताल शहर के सौन्दर्यकरण, एस्ट्रो विलेज ताकुला, कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं थर्ड वेव की तैयारियों आदि के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी।

समीक्षा बैठक में विधायक संजीव आर्य ने विकास कार्यों में वन भूमि हस्तान्तरण हेतु क्षतिपूर्वक भूमि के रूप में वन पंचायत भूमि के उपयोग का सुझाव दिया तथा विधायक दीवान सिंह बिष्ट ने वन विभाग को सारी आपत्तियॉ एक साथ लगाने को कहा। बैठक में जनपद प्रभारी एवं परिवहन, समाज कल्याण व अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री यशपाल आर्य, जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया, अनिल कपूर डब्बू, मण्डलायुक्त सुशील कुमार, डीआईजी नीलेश आनन्द भरणे, एसएसपी प्रीति प्रियदर्शनी, मुख्य विकास अधिकारी डॉ.सन्दीप तिवारी, प्रबन्ध निदेशक केएमवीएन नरेन्द्र सिंह भण्डारी, अपर आयुक्त प्रकाश चन्द, डीएफओ टीआर बीजुलाल, चन्द्र शेखर जोशी, कल्याणी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ.भागीरथी जोशी, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, परियोजना निदेशक अजय सिंह, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी एलएम जोशी, जिला पंचायत राज अधिकारी अतुल प्रताप सिंह, अधीक्षण अभियंता लोनिवि एबी काण्डपाल, जल संस्थान विशाल सक्सेना सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : पिथौरागढ़ में बादल फटने की घटना पर मंडलायुक्त ने ली अधिकारियों की बैठक

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 30 अगस्त 2021। सोमवार को पिथौरागढ के ग्राम जुम्मा तोक जामुनी व सिरोउडियार तोक में बादल फटने की घटना से आई दैवीय आपदा के बाद मंडलायुक्त सुशील कुमार ने अधिकारियों की वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बैठक ली, और अधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिये। इस दौरान पिथौरागढ़ के एडीएम ने बताया कि डीएम सहित अन्य अधिकारी हैलीकॉप्टर के माध्यम से आपदाग्रस्त क्षेत्र में पहुच चुके हैं। साथ ही खाद्यान के साथ चिकित्सा व संचार की टीमें भी आपदा क्षेत्र मे भेजी जा चुकी है।

उन्होंने बताया कि जामुनी तोक में आपदा में पांच लोग लापता हुए थे, इनमें से चार शव बरामद कर लिये गये हैं। एक शव खोजने का कार्य चल रहा है। इसी तरह सिरोउडियार तोक में दो लापता लोगों में से एक शव बरामद कर लिया गया है। क्षेत्र के अन्य परिवारों को दूसरे स्थान पर विस्थापित कर दिया गया है साथ ही भोजन, दवायें, खाद्यान, रोशनी तथा अन्य व्यवस्थायें सुनिश्चित की गई है।

समीक्षा के दौरान नैनीताल के जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ब्याल ने बताया कि गत दिवस दोगांव के पास क्षतिग्रस्त हुए हल्द्वानी-नैनीताल हाइवे पर एनएच द्वारा यातायात सुचारू कर दिया गया है। साथ ही बताया कि रानीबाग का पुराना पुल दस दिन के भीतर भारी वाहनो के लिए खोल दिया जायेगा। वीरभट्टी पुल पर लगातार मलबा मलुवा गिरने के कारण याताायात लगातार बंद हो रहा है। इसे नियमित खोलने का कार्य किया जा रहा है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : मंडलायुक्त ने दिए हल्द्वानी में गौशाला व रुद्रपुर में एसटीपी बनाने के निर्देश

-की नगरीय क्षेत्रो में पानी व सीवर की निकासी तथा स्वच्छता व पेयजल व्यवस्थाओं की समीक्षा
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 अगस्त 2021। कुमाऊं मंडल के आयुक्त सुशील कुमार ने शुक्रवार को मंडल के नगरीय क्षेत्रो में पानी व सीवर की निकासी तथा स्वच्छता व पेयजल व्यवस्थाओं की जिला विकास प्राधिकरण सभागार में विस्तार से समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने विभिन्न शहरों में चल रहे अमृत योजना के कार्यों को शीघ्रता से पूरा करने, भविष्य की मांग को ध्यान में रखते हुए नगरों की कार्य योजनाऐं तैयार करने, वाणिज्यिक क्षेत्रों एवं बाजारों में प्रतिदिन दो बार सफाई करने, इन क्षेत्रों को कूड़ेदान मुक्त करने, कूड़े का घर से उठान तथा गीले व सूखे में विभक्तीकरण अनिवार्य रूप से करने व इस पर नियमित नजर रखने तथा कूड़ा फेंकने व गंदगी फैलाने वाले लोगों का चालान करने और जुर्माना लगाने के निर्देश दिए।

इसके अलावा मंडलायुक्त ने वर्षाकाल में नालियों में कूड़ा जमा न होने देने के लिए नियमित सफाई करने, नगर निकायों में घूमने वाले आवारा पशुओं को चिन्हित गौशालाओं में भेजने, गौ वंशीय पशुओं का पशु चिकित्सा अधिकारियों से उपचार करवाने को भी कहा। बैठक में सहायक नगर आयुक्त ने बताया कि गौशाला का प्रस्ताव बोर्ड में पास है तथा जमीन की आवश्यकता है। इस पर मंडलायुक्त ने कहा कि नगर निगम हल्द्वानी को प्राथमिकता के आधार पर गौशाला हेतु भूमि उपलब्ध करायी जायेगी।

नगर निगम रूद्रपुर की समीक्षा के दौरान नगर आयुक्त ने बताया कि ट्रांजिट कैम्प के पास सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाया जाना है, जिसका क्षेत्र की जनता व जनप्रतिनिधियों द्वारा विरोध किया जा रहा है। इस पर मंडलायुक्त नगर आयुक्त को निर्देश दिये कि वह क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से वार्ता कर अन्य सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांटों का भ्रमण करायें ताकि उनकी शंकाओं का समाधान हो सके और प्लांट का निर्माण चिन्हित भूमि पर किया जा सके। उन्होंने नमामि गंगे योजना के अन्तर्गत कल्याणी नदी में गिरने वाले नालों को बंद करने तथा इस हेतु नदी के पास ट्रीटमेंट प्लांट बनाने हेतु भूमि तलाशने के निर्देश भी दिये।

वहीं हल्द्वानी की समीक्षा के दौरान मंडलायुक्त ने हल्द्वानी में कालाढुंगी रोड पर होने वाले जल भराव का समाधान करने तथा अमृत योजना के अंतर्गत किये जा रहे कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने को भी कहा। बैठक में मुख्य अभियंता पेयजल निगम बीके पंत, अधीक्षण अभियंता यूके गुप्ता, अधिशासी अभियंता एके कटारिया, महाप्रबंधक जल संस्थान डीके सिंह, एएस अंसारी, विशाल सक्सेना, रिंकू बिष्ट, ए वर्मा, विजेंद्र चौहान, आलोक नबियाल व एके वर्मा आदि अधिकारी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं मंडल में निर्माण कार्यों की गुणवत्ता के लिए तीसरे पक्ष से कराई जाएगी जांच

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 4 अगस्त 2021। कुमाऊं मंडल के आयुक्त सुशील कुमार ने बुधवार को मंडल में चल रहे 2 करोड़ रुपए से अधिक की लागत के निर्माण कार्यों की समीक्षा की। प्राधिकरण के सभागाार में आयोजित समीक्षा के दौरान उन्होंने सभी कार्यदायी संस्थाओं को निर्माण कार्यों की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की लापरवाही बरदाश्त नहीं होने की चेतावनी दी। साथ ही कार्यों की गुणवत्ता मापने एवं बनाये रखने हेतु तृतीय पक्ष से जॉच कराने के निर्देश दिये। साथ ही निर्माण कार्यों को समय-सीमा निर्धारित कर समयबद्धता से पूर्ण करने को भी कहा। साथ ही कार्यों में आवंटित बजट खर्च होने की स्थिति में उपयोगिता प्रमाण पत्र देने तथा बजट आवंटन की मांग समय से करने के निर्देश भी दिये।

पेयजल निगम की समीक्षा के दौरान मंडलायुक्त ने राजकीय महाविद्यालय रूद्रपुर में भवन निर्माण कार्य जल्दी शुरू करने, एकलव्य आदर्श विद्यालय खटीमा का काम जारी रखने, वाणिज्यकर कार्यालय काशीपुर का विद्युतीकरण कार्य तुरंत करने, राजकीय बाल संरक्षण गृह रुद्रपुर का निर्माण कार्य अक्टूबर तक पूर्ण कराने, राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में चल रहे निर्माण कार्य को प्राथमिकता से पूर्ण करने, अंतर्राष्ट्रीय जू व सफारी का कार्य को जल्दी पूर्ण करने, बस डिपो रामनगर का निर्माण कार्य नवंबर तक पूरा करने, किशोरी गृह अल्मोड़ा का कार्य सितंबर माह तक पूर्ण करने, नर्सिंग संस्थान चम्पावत के हॉस्टल को छोड़कर शेष कार्य एक माह के भीतर पूरा करने, आईटीआई खेतीखान के निर्माण कार्य में तेजी लाने, राजकीय पॉलीटेक्निक मूनाकोट को हस्तांतरि करने, पिथौरागढ़ में बहुद्देश्यीय क्रीड़ा सभागार का निर्माण कार्य शीघ्र शुरू करने के निर्देश भी दिये।

इसके अलावा उन्होंने यूपी निर्माण निगम की समीक्षा के दौरान नर्सिंग कॉलेज पिथौरागढ़ का बाहरी निर्माण कार्य 30 सितंबर तक, मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी का ऑडोटोरियम 30 नवम्बर तक व पॉलीटेक्निक चम्पावत का कार्य 31 अगस्त तक पूरा करने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होंने लोनिवि को तहसील जसपुर के अनावासीय भवन निर्माण हेतु संशोधित प्रस्ताव तुरंत भेजने, मंडी परिषद के कार्यों की समीक्षा के दौरान राजकीय महाविद्यालय पतलोट के निर्माण कार्य मे तेजी लाने, उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय का कार्य समय से पूर्ण करने और केएमवीएन के कार्यों की समीक्षा के दौरान नारायण नगर कार पार्किंग तथा सूखाताल झील सौंदर्यकरण एवं पुर्नजीवीकरण के कायों में तेजी लाने के निर्देश दिये।

बैठक में उप निदेशक अर्थ एवं संख्या राजेंद्र तिवारी महाप्रबंधक केएमवीएन एपी वाजपेयी, महाप्रबंधक पेयजल निगम ओमप्रकाश, अधीक्षण अभियंता सिंचाई पीके दीक्षित, परियोजना प्रबंधक ब्रिडकुल रोहित नरियाल, मुख्य अभियंता ग्रामीण निर्माण विभाग एके पंत, अधीक्षण अभियंता लोनिवि एबी कांडपाल, महिपाल सिंह रावत तथा प्रोजेक्ट मैनेजर यूपीआरएनएन संजय चौधरी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : मुख्य सचिव पहुंचे नैनीताल, देखी विकास कार्यों की जमीनी सच्चाई

-नैनीताल की पार्किंग समस्या और परिवहन कर्मियों की समस्या व यूपी के साथ परिसंपत्तियों का बंटवारा जल्द निपटने की बात कही
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 25 जुलाई 2021। प्रदेश के मुख्य सचिव डॉ. सुखवीर सिंह संधू रविवार को मुख्यालय पहुंचे। यहां डॉ. रघुनंदन सिंह टोलिया उत्तराखंड प्रशासनिक अकादमी में जिलाधिकारी धीराज गर्ब्याल की अगुवाई में जनपद के अधिकारियों ने उनकी पुष्प गुच्छ भेंट कर अगवानी की, साथ ही उन्हें पुलिस की टुकड़ी के द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके उपरांत श्री संधू ने अधिकारियों से जनपद में चल रहे विकास कार्यों के बारे में जानकारी ली।

उत्तराखंड प्रशासन अकादमी में गारद की सलामी लेते उत्तराखंड के मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधू।

इस दौरान पत्रकारों से अनौपचारिक बात करते हुए डॉ. संधू ने कहा कि वह विकास कार्यों की जमीनी हकीकत जानने के लिए आए हैं। कार्यों को समयबद्ध तरीके से और गुणवत्ता के साथ पूरा कराने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने नैनीताल में पार्किंग की समस्या का जल्द समाधान किए जाने का विश्वास जताते हुए कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों के पर्यटन स्थलों में जगह उपलब्ध नही होने से पार्किंग की समस्या बनी रहती है। जिला स्तर पर उन्हें पार्किंग स्थलों के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। इन पर शासन में गंभीरता से विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा, जिला प्रशासन के साथ विस्तार से चर्चा कर शासन स्तर पर लंबित योजनाओं को पूरा किया जाएगा। कोरोना पर उन्होंने कहा कि सरकार पूरी मुस्तैदी से निगाह रखे हुए है। राज्य के लोगों की सुरक्षा के लिए सप्ताह भर में बैठक कर कोरोना कर्फ्यू में ढील और सख्ती के आदेश जारी किए जाते हैं। सभी जिलाधिकारी को भीड़भाड़ पर रोक लगाने और आयोजनों पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि कोरोना संक्रमण से प्रदेशवासियों को बचाया जा सके।

रोडवेज की परिसंपत्तियों के बंटवारे के सवाल पर डॉ. संधू ने कहा कि परिवहन निगम के एमडी व परिवहन सचिव उत्तर प्रदेश के अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं और जल्द इस मामले में सकारात्मक हल निकलने की उम्मीद है। उत्तराखंड उच्च न्यायालय में सरकार द्वारा कमजोर पैरवी किए जाने के सवाल पर उन्होंने इससे इंकार करते हुए कहा कि सरकार और अधिकारी पूरी गंभीरता से न्यायालय में अपना पक्ष रख रहे है। इस अवसर पर डीएम धीराज गर्ब्याल के साथ ही केएमवीएन के एमडी नरेंद्र सिंह भंडारी, एसएसपी प्रीति प्रियदर्शनी अपर आयुक्त संजय खेतवाल, सीडीओ डा. संदीप तिवारी, एसडीएम प्रतीक जैन, एटीआइ के संयुक्त निदेशक दिनेश राणा, उपनिदेशक वीके सिंह व रेखा कोहली, आदि मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : मंडलायुक्त ने दिए रोजगारक परक कार्यों में तेजी लाने के निर्देश, जानी योजनाओं में हुई प्रगति

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 21 जुलाई 2021। कुमाऊं मंडल के नवागत आयुक्त सुशील कुमार ने मंडल के मुख्य विकास अधिकारियों को रोजगारपरक व आजीविका सृजन कार्यो में तेजी लाने को कहा है। बुधवार को वीडियो कॉन्फेसिंग के माध्यम से बैठक लेते हुए श्री कुमार ने मुख्य विकास अधिकारियों से जनपदों में रोजगारपरक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर अधिक से अधिक लाभार्थियों को कार्यो हेतु बैंक ऋण दिलाने को कहा।

इस हेतु उन्होंने कृषि व इससे संबंधित सैक्टर पर विशेष ध्यान देने तथा संबंधित अधिकारियों के समन्वय से कृषि, उद्यान, मत्सय, मुर्गी, बकरी पालन तथा दुग्ध व सब्जी उत्पादन के क्लस्टर बनाकर कार्य करने और मनरेगा कार्यो में तेजी लाने को भी कहा। उन्होने कहा कि जनपद पिथौरागढ, चम्पावत में सब्जी, तेजपात व मसाला उत्पादन की बहुत सम्भावनाऐं है। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी चम्पावत को लोहाघाट, चम्पावत में निर्माणाधीन सॉलिड वेस्ट प्लांट निर्माण कार्यो में तेजी लाने के साथ ही टनकपुर में प्रस्तावित प्लांट हेतु भूमि शीघ्र चिन्हित कराकर कार्य प्रारम्भ करने के निर्देश भी दिये।

जिला-राज्य योजनाओं के कार्यों में 33 से 68 फीसद की प्रगति
बैठक में बताया कि जिला योजना के अन्तर्गत माह जून में अवमुक्त धनराशि का जनपद नैनीताल ने 45, उधमसिंह नगर ने 43, चम्पावत ने 45, पिथौरागढ ने 33 व बागेश्वर ने 37 प्रतिशत, इसी तरह राज्य सेक्टर में ऊधमसिंह नगर ने 62, बागेश्वर ने 61, नैनीताल ने 68, पिथौरागढ ने 47, अल्मोडा ने 49 व चम्पावत ने 43 प्रतिशत व्यय किया है। इस पर मंडलायुक्त ने जिला, राज्य व केंद्र पोषित योजनाओं के कार्यो में तेजी लाने तथा विधायक व संासद निधि के कार्यो में प्रगति लाने के निर्देश भी दिए। वीडियो कांफ्रेंस में बागेश्वर के डीएम विनीत कुमार, नैनीताल के सीडीओ डॉ. संदीप तिवारी, ऊधमसिंह नगर के हिमांशु खुराना, अल्मोडा के नवनीत पांडे, पिथौरागढ अनुराधा पाल, चम्पावत राजेंद्र सिंह रावत, बागेश्वर के डीडी पंत, उपनिदेशक अर्थ एंव संख्या राजेंद्र तिवारी, डीएसटीओ एलएम जोशी, परियोजना निदेशक अजय सिंह, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, डीएफओ टीआर बीजूलाल सहित सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply