News

कुमाऊं मंडल में निर्माण कार्यों की गुणवत्ता के लिए तीसरे पक्ष से कराई जाएगी जांच

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 4 अगस्त 2021। कुमाऊं मंडल के आयुक्त सुशील कुमार ने बुधवार को मंडल में चल रहे 2 करोड़ रुपए से अधिक की लागत के निर्माण कार्यों की समीक्षा की। प्राधिकरण के सभागाार में आयोजित समीक्षा के दौरान उन्होंने सभी कार्यदायी संस्थाओं को निर्माण कार्यों की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की लापरवाही बरदाश्त नहीं होने की चेतावनी दी। साथ ही कार्यों की गुणवत्ता मापने एवं बनाये रखने हेतु तृतीय पक्ष से जॉच कराने के निर्देश दिये। साथ ही निर्माण कार्यों को समय-सीमा निर्धारित कर समयबद्धता से पूर्ण करने को भी कहा। साथ ही कार्यों में आवंटित बजट खर्च होने की स्थिति में उपयोगिता प्रमाण पत्र देने तथा बजट आवंटन की मांग समय से करने के निर्देश भी दिये।

पेयजल निगम की समीक्षा के दौरान मंडलायुक्त ने राजकीय महाविद्यालय रूद्रपुर में भवन निर्माण कार्य जल्दी शुरू करने, एकलव्य आदर्श विद्यालय खटीमा का काम जारी रखने, वाणिज्यकर कार्यालय काशीपुर का विद्युतीकरण कार्य तुरंत करने, राजकीय बाल संरक्षण गृह रुद्रपुर का निर्माण कार्य अक्टूबर तक पूर्ण कराने, राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में चल रहे निर्माण कार्य को प्राथमिकता से पूर्ण करने, अंतर्राष्ट्रीय जू व सफारी का कार्य को जल्दी पूर्ण करने, बस डिपो रामनगर का निर्माण कार्य नवंबर तक पूरा करने, किशोरी गृह अल्मोड़ा का कार्य सितंबर माह तक पूर्ण करने, नर्सिंग संस्थान चम्पावत के हॉस्टल को छोड़कर शेष कार्य एक माह के भीतर पूरा करने, आईटीआई खेतीखान के निर्माण कार्य में तेजी लाने, राजकीय पॉलीटेक्निक मूनाकोट को हस्तांतरि करने, पिथौरागढ़ में बहुद्देश्यीय क्रीड़ा सभागार का निर्माण कार्य शीघ्र शुरू करने के निर्देश भी दिये।

इसके अलावा उन्होंने यूपी निर्माण निगम की समीक्षा के दौरान नर्सिंग कॉलेज पिथौरागढ़ का बाहरी निर्माण कार्य 30 सितंबर तक, मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी का ऑडोटोरियम 30 नवम्बर तक व पॉलीटेक्निक चम्पावत का कार्य 31 अगस्त तक पूरा करने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होंने लोनिवि को तहसील जसपुर के अनावासीय भवन निर्माण हेतु संशोधित प्रस्ताव तुरंत भेजने, मंडी परिषद के कार्यों की समीक्षा के दौरान राजकीय महाविद्यालय पतलोट के निर्माण कार्य मे तेजी लाने, उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय का कार्य समय से पूर्ण करने और केएमवीएन के कार्यों की समीक्षा के दौरान नारायण नगर कार पार्किंग तथा सूखाताल झील सौंदर्यकरण एवं पुर्नजीवीकरण के कायों में तेजी लाने के निर्देश दिये।

बैठक में उप निदेशक अर्थ एवं संख्या राजेंद्र तिवारी महाप्रबंधक केएमवीएन एपी वाजपेयी, महाप्रबंधक पेयजल निगम ओमप्रकाश, अधीक्षण अभियंता सिंचाई पीके दीक्षित, परियोजना प्रबंधक ब्रिडकुल रोहित नरियाल, मुख्य अभियंता ग्रामीण निर्माण विभाग एके पंत, अधीक्षण अभियंता लोनिवि एबी कांडपाल, महिपाल सिंह रावत तथा प्रोजेक्ट मैनेजर यूपीआरएनएन संजय चौधरी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : मुख्य सचिव पहुंचे नैनीताल, देखी विकास कार्यों की जमीनी सच्चाई

-नैनीताल की पार्किंग समस्या और परिवहन कर्मियों की समस्या व यूपी के साथ परिसंपत्तियों का बंटवारा जल्द निपटने की बात कही
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 25 जुलाई 2021। प्रदेश के मुख्य सचिव डॉ. सुखवीर सिंह संधू रविवार को मुख्यालय पहुंचे। यहां डॉ. रघुनंदन सिंह टोलिया उत्तराखंड प्रशासनिक अकादमी में जिलाधिकारी धीराज गर्ब्याल की अगुवाई में जनपद के अधिकारियों ने उनकी पुष्प गुच्छ भेंट कर अगवानी की, साथ ही उन्हें पुलिस की टुकड़ी के द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके उपरांत श्री संधू ने अधिकारियों से जनपद में चल रहे विकास कार्यों के बारे में जानकारी ली।

उत्तराखंड प्रशासन अकादमी में गारद की सलामी लेते उत्तराखंड के मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधू।

इस दौरान पत्रकारों से अनौपचारिक बात करते हुए डॉ. संधू ने कहा कि वह विकास कार्यों की जमीनी हकीकत जानने के लिए आए हैं। कार्यों को समयबद्ध तरीके से और गुणवत्ता के साथ पूरा कराने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने नैनीताल में पार्किंग की समस्या का जल्द समाधान किए जाने का विश्वास जताते हुए कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों के पर्यटन स्थलों में जगह उपलब्ध नही होने से पार्किंग की समस्या बनी रहती है। जिला स्तर पर उन्हें पार्किंग स्थलों के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। इन पर शासन में गंभीरता से विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा, जिला प्रशासन के साथ विस्तार से चर्चा कर शासन स्तर पर लंबित योजनाओं को पूरा किया जाएगा। कोरोना पर उन्होंने कहा कि सरकार पूरी मुस्तैदी से निगाह रखे हुए है। राज्य के लोगों की सुरक्षा के लिए सप्ताह भर में बैठक कर कोरोना कर्फ्यू में ढील और सख्ती के आदेश जारी किए जाते हैं। सभी जिलाधिकारी को भीड़भाड़ पर रोक लगाने और आयोजनों पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि कोरोना संक्रमण से प्रदेशवासियों को बचाया जा सके।

रोडवेज की परिसंपत्तियों के बंटवारे के सवाल पर डॉ. संधू ने कहा कि परिवहन निगम के एमडी व परिवहन सचिव उत्तर प्रदेश के अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं और जल्द इस मामले में सकारात्मक हल निकलने की उम्मीद है। उत्तराखंड उच्च न्यायालय में सरकार द्वारा कमजोर पैरवी किए जाने के सवाल पर उन्होंने इससे इंकार करते हुए कहा कि सरकार और अधिकारी पूरी गंभीरता से न्यायालय में अपना पक्ष रख रहे है। इस अवसर पर डीएम धीराज गर्ब्याल के साथ ही केएमवीएन के एमडी नरेंद्र सिंह भंडारी, एसएसपी प्रीति प्रियदर्शनी अपर आयुक्त संजय खेतवाल, सीडीओ डा. संदीप तिवारी, एसडीएम प्रतीक जैन, एटीआइ के संयुक्त निदेशक दिनेश राणा, उपनिदेशक वीके सिंह व रेखा कोहली, आदि मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : मंडलायुक्त ने दिए रोजगारक परक कार्यों में तेजी लाने के निर्देश, जानी योजनाओं में हुई प्रगति

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 21 जुलाई 2021। कुमाऊं मंडल के नवागत आयुक्त सुशील कुमार ने मंडल के मुख्य विकास अधिकारियों को रोजगारपरक व आजीविका सृजन कार्यो में तेजी लाने को कहा है। बुधवार को वीडियो कॉन्फेसिंग के माध्यम से बैठक लेते हुए श्री कुमार ने मुख्य विकास अधिकारियों से जनपदों में रोजगारपरक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर अधिक से अधिक लाभार्थियों को कार्यो हेतु बैंक ऋण दिलाने को कहा।

इस हेतु उन्होंने कृषि व इससे संबंधित सैक्टर पर विशेष ध्यान देने तथा संबंधित अधिकारियों के समन्वय से कृषि, उद्यान, मत्सय, मुर्गी, बकरी पालन तथा दुग्ध व सब्जी उत्पादन के क्लस्टर बनाकर कार्य करने और मनरेगा कार्यो में तेजी लाने को भी कहा। उन्होने कहा कि जनपद पिथौरागढ, चम्पावत में सब्जी, तेजपात व मसाला उत्पादन की बहुत सम्भावनाऐं है। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी चम्पावत को लोहाघाट, चम्पावत में निर्माणाधीन सॉलिड वेस्ट प्लांट निर्माण कार्यो में तेजी लाने के साथ ही टनकपुर में प्रस्तावित प्लांट हेतु भूमि शीघ्र चिन्हित कराकर कार्य प्रारम्भ करने के निर्देश भी दिये।

जिला-राज्य योजनाओं के कार्यों में 33 से 68 फीसद की प्रगति
बैठक में बताया कि जिला योजना के अन्तर्गत माह जून में अवमुक्त धनराशि का जनपद नैनीताल ने 45, उधमसिंह नगर ने 43, चम्पावत ने 45, पिथौरागढ ने 33 व बागेश्वर ने 37 प्रतिशत, इसी तरह राज्य सेक्टर में ऊधमसिंह नगर ने 62, बागेश्वर ने 61, नैनीताल ने 68, पिथौरागढ ने 47, अल्मोडा ने 49 व चम्पावत ने 43 प्रतिशत व्यय किया है। इस पर मंडलायुक्त ने जिला, राज्य व केंद्र पोषित योजनाओं के कार्यो में तेजी लाने तथा विधायक व संासद निधि के कार्यो में प्रगति लाने के निर्देश भी दिए। वीडियो कांफ्रेंस में बागेश्वर के डीएम विनीत कुमार, नैनीताल के सीडीओ डॉ. संदीप तिवारी, ऊधमसिंह नगर के हिमांशु खुराना, अल्मोडा के नवनीत पांडे, पिथौरागढ अनुराधा पाल, चम्पावत राजेंद्र सिंह रावत, बागेश्वर के डीडी पंत, उपनिदेशक अर्थ एंव संख्या राजेंद्र तिवारी, डीएसटीओ एलएम जोशी, परियोजना निदेशक अजय सिंह, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, डीएफओ टीआर बीजूलाल सहित सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply