Crime

रिश्ते शर्मसार : बिन मां की 14 वर्षीय नाबालिग बेटी से सगे पिता ने किया दुष्कर्म

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, देहरादून, 15 मार्च 2021। हल्द्वानी के टीपीनगर क्षेत्र में एक नाबालिग किशोरी ने अपने पिता पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पीड़िता के चाचा की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपी हल्द्वानी में बीते 10 साल से मजदूरी का कार्य करता है। पुलिस के अनुसार मूल रूप से नेपाल का और यहां जीतपुर नेगी रामपुर रोड में रहने वाली 14 वर्षीय किशोरी ने अपने पिता पर बीती 12 मार्च की रात दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। किशोरी की मां की वर्ष 2013 में मौत हो चुकी है। एसएसआई मंगल सिंह ने बताया आरोपी पर पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें : फूफा ने पहले साथियों सहित दुष्कर्म किया और अश्लील वीडियो बनाई, फिर वीडियो मां को भेज दी….

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 13 मार्च 2021। रुदपुर में नौकरी करने वाली बिलासपुर निवासी महिला से उनके मुंहबोले फूफा व अपने साथियों के द्वारा दुष्कर्म कर उसकी वीडियो वायरल करने की धमकी देने का मामला आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपित फूफा सहित घटना में शामिल दो अन्य आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया है, और तीनों को कोर्ट में पेश कर जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है।
बिलासपुर निवासी पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि गत 23 फरवरी की शाम को काम निपटा कर घर को जा रही थी तभी गावा चौक के पास उसे सुभाष कालोनी निवासी मुंह बोला फूफा शिव कुमार उर्फ शिवू मिला था। उसने उसे बाइक से घर छोड़ने की बात कही, उसे पानी पीने के लिए दिया, जिसे पीते ही वह बेहोश हो गई। आरोप है कि इसके बाद वह उसे घर ले जाने के बजाए अपने साथियों के साथ कहीं और ले गया और उससे दुष्कर्म किया। साथ ही उसकी वीडियो भी बनाई। इधर बीती 10 मार्च को शिव कुमार ने अश्लील वीडियो उसकी मां को भेज दी, साथ ही पुलिस से शिकायत करने पर वीडियो इंटरनेट में वायरल करने की धमकी दी। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने शिव कुमार समेत एक अन्य के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था।

यह भी पढ़ें : पड़ोस में बर्थडे पार्टी में गई नाबालिग से बलात्कार

नवीन समाचार, कोटद्वार, 08 फरवरी 2021। कोटद्वार कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत एक नेपाली मूल की नाबालिग से बलात्कार का मामला सामने आया है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार नाबालिग लड़की रविवार की देर रात अपने घर के पड़ोस में जन्म दिन की पार्टी में गयी थी, वहां से एक युवक उसे बहला-फुसला कर जंगल मे ले गया और उसे जान से मारने की धमकी देकर उसके साथ जबरन बलात्कार किया। लड़की जब देर रात तक घर नहीं पहुंची तो उसके परिजनों ने उसकी खोजबीन की। खोजबीन के दौरान युवक नाबालिग को लेकर वापस लौटता मिल गया। नाबालिग ने परिजनों को अपने साथ हुई घटना से अवगत कराया। इस पर परिजनों ने पुलिस में तहरीर दी। इस पर सोमवार को कोटद्वार पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए पॉक्सो अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के अनुसार बीते चार माह से बढ़ापुर का रहने वाला एक युवक पीड़िता के घर के पड़ोस में रह रहा है। वह बकरी बाड़ा और चिकन की दुकान में पार्ट टाइम काम करता था। कोतवाली प्रभारी नरेंद्र सिंह बिष्ट ने बताया कि लड़की नाबालिग और नेपाली मूल की है।

यह भी पढ़ें : हवसी मकान मालिक ने किरायेदार गर्भवती महिला के साथ किया दुष्कर्म, और दी जान से मारने की धमकी..

-काठगोदाम पुलिस ने तत्काल कार्रवाई कर आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया
नवीन समाचार, हल्द्वानी, 05 जनवरी 2020। हवस मनुष्य की आंखें बंद कर देती है। शहर के दमुवाढूंगा इलाके में एक मकान मालिक ने अपने किरायेदार की गभर्वती पत्नी की उसके कमरे में घुसकर दुष्कर्म कर दिया और मुंह खोलने पर जान से मारने की धमकी देकर चुप कराने का प्रयास किया। अलबत्ता, महिला ने अपने पति को मामले की जानकारी दी। महिला के पति ने काठगोदाम पुलिस में मामले की शिकायत की, इस पर काठगोदाम पुलिस ने आरोपों की गंभीरता को देखते हुए तत्काल ही आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार काठगोदाम पुलिस के अनुसार यूपी के बदायूं जनपद निवासी दंपति दमुवाढूंगा में राजू नाम के व्यक्ति के घर पर किराए पर रहते हैं। आरोपों के अनुसार शुक्रवार दो जनवरी को महिला का पति काम के सिलसिले में बाहर गया था। इसका फायदा उठाकर राजू शनिवार तीन जनवरी की रात महिला के कमरे घुस गया और उससे छेड़छाड़ करने लगा। महिला ने उसकी हरकतों का विरोध करते हुए उसे खुद के गर्भवती होने की बात बताई। फिर भी आरोपी ने धमकाते हुए जबरन उसकी इज्जत लूट ली। साथ ही जाते-जाते आरोपी धमका गया कि यदि महिला ने यह बात किसी को भी बताई तो वह उसे जान से मार देगा। डरी सहमी महिला ने रविवार को अपने पति को लौटने पर आपबीती बताई तो पति ने काठगोदाम थाने जाकर आरोपी के खिलाफ तहरीर दी। इस पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर आरोपी को न्यायालय में पेशी के बाद जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें : यह क्या हो रहा देवभूमि में ? अब दिव्यांग नाबालिग बनी हवस का शिकार…

नवीन समाचार, पौड़ी, 26 दिसंबर 2020। देवभूमि कहे जाने वाले उत्तराखंड में लगातार सर्वाधिक शर्मसार करने वाली, नाबालिगों को हवस का शिकार बनाने वाली खबरें सामने आ रही हैं। नैनीताल के बेतालघाट के बाद हरिद्वार में दो ऐसी घटनाएं सामने आ चुकी हैं, और अब पौड़ी में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें आरोपी ने एक नाबालिग के साथ ही दिव्यांग बच्ची को उसके ही घर में तब अपनी हवस का शिकार बना डाला, जब उसके पिता भी घर के बाहर ही बताए जा रहे हैं।
पीड़िता के पिता ने बताया कि बीते गुरुवार की शाम को वे अपनी पत्नी के साथ घर के बाहर आंगन में आग सेंक रहे थे और उनकी नाबालिग दिव्यांग बेटी घर के अंदर कमरे में मौजूद थी तभी वहां पर पास के गांव का रहने वाला आरोपी सूरज कुमार पीछे के दरवाजे से घर में छुपकर घुस गया। बच्ची कुछ समझ पाती, इससे पहले ही आरोपी ने उसका मुंह बंद कर उसके साथ दुष्कर्म कर डाला। बच्ची ने चिल्लाने की कोशिश की मगर आरोपी ने किसी तरह उसकी चीख दबा दी और उसे इस घटना को किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी। बलात्कार को अंजाम देकर वह वहां से फरार हो गया। जब उसके माता-पिता कमरे के अंदर गए तो उनकी बेटी ने अपने माता पिता को डरते-डरते सारी बात बताई। जिसके बाद उसके माता-पिता के होश उड़ गए। राजस्व उप निरीक्षक ने बताया कि आरोपी युवक के खिलाफ पॉक्सो सहित धारा 376 व अन्य धाराओं में तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और फरार आरोपी की तलाश की जा रही है। घटना के बाद पीड़ित नाबालिग को जिला चिकित्सालय में लाया गया है।

यह भी पढ़ें : नाबालिग ने पिता की मौत के बाद जिस चाचा को माना पिता, उसने ही इज्जत तार-तार कर दी, प्रेमी चला गया जेल..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 13 दिसम्बर 2020। पिता की मौत के बाद एक नाबालिग किशोरी ने जिसे पिता माना और मां भी जिसके संरक्षण में रहने लगी, उस चाचा ने ही नाबालिग को अपनी हवश का शिकार बना लिया। चाचा के इस कुकर्म से परेशानी हुई किशोरी एक दिन उसके चंगुल से छूटकर अपने प्रेमी के साथ भाग गई। भाई ने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई तो उसका प्रेमी पॉक्सो सहित अन्य आरोपों में धर लिया गया। लेकिन जब किशोरी ने सच्चाई बयां की तो पुलिस भी सकते में आ गई। लिहाजा अब पुलिस ने नाबालिग के चाचा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।
हुआ यह था कि गत 29 नवंबर को हल्द्वानी के मुखानी क्षेत्र के एक युवक ने मुखानी पुलिस चौकी में अपनी नाबालिग बहन की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। इस मामले में पुलिस ने नौ दिसंबर को बस स्टैंड से किशोरी के साथ प्रेम कुमार निवासी ग्राम सरना मुक्तेश्वर को अपहरण के आरोप में गिरफ्तार किया और अदालत के आदेश पर जेल भेज दिया था। उस पर आरोप लगा कि वह लड़की को बरगला कर कोलकाता ले गया था, और रुपए खत्म होने पर हल्द्वानी लौटा तो पुलिस के हत्थे चढ़ गया।
इधर नाबालिग से महिला उपनिरीक्षक गुरविंदर कौर ने पूछताछ की तो उसने बताया कि उसके पिता की मौत के बाद मां चाचा के साथ रहने लगी। किशोरी ने बताया कि चाचा उसके संग दुष्कर्म करता था और किसी को यह बात बताने पर धमकाता था। परेशान होकर वह परिचित युवक के साथ घर छोड़कर चली गई थी। पुलिस ने नाबालिग के बयान के आधार पर आरोपी चाचा के खिलाफ धारा 376, पॉक्सो एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार आरोपी की हरकतों के चलते परिवार में काफी झगड़ा होता था। इधर 29 नवंबर को किशोरी की गुमशुदगी दर्ज होने के बाद चाचा अक्सर थाने आकर उसे बरामद करने की गुहार लगाता था।

यह भी पढ़ें : नाबालिग के अपहरण-सामूहिक दुष्कर्म मामले में 3 के खिलाफ पॉक्सो के तहत मुकदमा दर्ज

-डीएम के निर्देशों पर रात्रि में सक्रिय हुई राजस्व पुलिस ने रात्रि दो बजे कराया पीड़िता का मेडिकल, आरोपितों के भी नाबालिग होने की संभावना
-प्रमाण पत्रों में नाबालिग साबित होने के बाद चिक दस्तंदाजी पॉक्सो न्यायालय हल्द्वानी में पेश की, मामला नियमानुसार सिविल पुलिस को हस्तांतरित करने के लिए भी लिखा
नवीन समाचार, नैनीताल, 04 दिसम्बर 2020। नैनीताल जिले के बेतालघाट ब्लॉक के दूरस्थ दाडिमा गांव में 14 वर्षीय नाबालिग बालिका का गांव के ही तीन नाबालिग प्रवासी किशोरों के द्वारा अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म करने के उपरांत उसे सड़क पर फेंक दिए जाने के मामले में राजस्व पुलिस ने बेहद सक्रिय भूमिका निभाई। डीएम सविन बंसल के निर्देशों पर रात्रि में सक्रिय हुई राजस्व पुलिस ने पीड़िता का बृहस्पतिवार रात्रि दो बजे मेडिकल कराया और आयु संबंधी प्रमाण पत्रों में उसके नाबालिग साबित होने के बाद दो नामजद सहित तीन लोगों के खिलाफ पॉक्सो अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। साथ ही चिक दस्तंदाजी पॉक्सो न्यायालय हल्द्वानी में पेश कर दी है, और मामला नियमानुसार सिविल पुलिस को हस्तांतरित करने के लिए एसडीएम को भी लिख दिया है। इसके बाद माना जा रहा है कि जनपद के एसएसपी किसी महिला सब इंस्पेक्टर से मामले की जांच करवाएंगे।
इससे पूर्व डीएम के निर्देश पर क्षेत्रीय राजस्व उपनिरीक्षक प्रवीण सिंह ह्यांकी रात्रि में ही जिला मुख्यालय पहुंचे और पीड़िता के पिता से तहरीर प्राप्त की तथा स्थानीय राजस्व अधिकारियों के साथ बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में रात्रि दो बजे पीड़िता का मेडिकल परीक्षण करवाया। इसके साथ ही पीड़िता के पिता से पीड़िता के आयु संबंधी प्रमाण पत्र प्राप्त करने के उपरांत मामले को पोक्सो के अंतर्गत दर्ज कर लिया गया। क्षेत्रीय राजस्व उपनिरीक्षक प्रवीण सिंह ह्यांकी ने बताया कि पीड़िता के पिता ने तहरीर में अपने बेटी के हवाले से बताया है कि तीन लोग शाम को उसे जबरन अपने साथ ले गए और तीनों ने जंगल में उसके साथ ‘गलत काम’ किया। इनमें से दो को वह जानती है, जबकि एक अज्ञात है। एसडीएम ह्यांकी ने बताया कि उन्होंने मामले की चिक दस्तंदाजी हल्द्वानी स्थित पॉक्सो न्यायालय में पेश कर दी है। साथ ही जांच को सिविल पुलिस को स्थानांतरित करने के लिए एसडीएम को अपनी रिपोर्ट दे दी है। मुकदमा निकटवर्ती तल्ला गांव निवासी दो लोगों के खिलाफ नामजद एवं एक अज्ञात के खिलाफ दर्ज किया गया है। पीड़िता की जन्मतिथि 2006 की है, यानी वह 14 वर्ष की ही है। वहीं आरोपितों के नाबालिग होने की भी संभावना है, हालांकि इस बारे में सही स्थिति जांच के बाद ही पता चलेगी।

यह भी पढ़ें : नाबालिगों द्वारा अपहरण-दुष्कर्म की गई 14 वर्ष की नाबालिग का रात्रि में किया गया मेडिकल, मुकदमा दर्ज होने पर अभी पेंच…

-बेतालघाट के दूरस्थ ग्राम दाड़िमा का मामला
नवीन समाचार, नैनीताल, 04 दिसम्बर 2020। नैनीताल जिले के बेतालघाट ब्लॉक के दूरस्थ दाडिमा गांव में 14 वर्षीय नाबालिग छात्रा का गांव के ही नाबालिग प्रवासी किशोरों के द्वारा अपहरण कर उसे सड़क पर फेंक दिए जाने के मामले में पीड़िता का रात्रि 2:00 बजे मेडिकल कराया गया है। साथ ही पीड़िता के पिता से उसके आयु संबंधी प्रपत्र मांगे गए हैं ताकि मामले को पोक्सो के अंतर्गत दर्ज किया जा सके।

इससे पूर्व डीएम के निर्देश पर क्षेत्रीय राजस्व उपनिरीक्षक प्रवीण सिंह ह्यांकी रात्रि में ही जिला मुख्यालय पहुंचे और पीड़िता के पिता से तहरीर प्राप्त की तथा स्थानीय राजस्व अधिकारियों के साथ बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में पीड़िता का मेडिकल परीक्षण करवाया। बताया जा रहा है कि पीड़िता की आयु संबंधी प्रमाण पत्र मिलने के उपरांत राजस्व पुलिस तय करेगी कि मामले को पोक्सो के अंतर्गत दर्ज किया जाए अथवा सामान्य के। साथ ही आरोपितों के नाबालिक होने अथवा न होने को लेकर भी राजस्व पुलिस स्थिति साफ करेगी। मामला पोक्सो में दर्ज होने पर रिपोर्ट हल्द्वानी के न्यायालय में पेश की जाएगी, जबकि सामान्य होने पर नैनीताल जिला न्यायालय में मामले के प्रपत्र पेश किए जाएंगे।

पूर्व समाचार : 14 वर्ष की नाबालिग का नाबालिगों ने रात्रि में घर से किया अपहरण, दुष्कर्म की आशंका

नवीन समाचार, नैनीताल, 03 दिसम्बर 2020। नैनीताल जिले के बेतालघाट ब्लॉक के दूरस्थ दाडिमा गांव में 8वीं कक्षा की 14 वर्षीय नाबालिग छात्रा का अपहरण कर उसे सड़क पर फेंक दिए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बालिका के साथ सामूहिक दुराचार किए जाने की भी आशंका जताई जा रही है। सड़क पर बेहोशी की हालत में मिली में नाबालिक को 108 आपातकालीन एंबुलेंस सेवा से बेतालघाट स्थित सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर रेफर करने पर जिला मुख्यालय लाया गया है। यहां पीड़िता का मेडिकल नहीं हो पाया है, अलबत्ता उपचार किया जा रहा है। पीड़िता के पिता गांव के ही चार लड़कों के नाम शिकायत दर्ज कराई है। बताया जा रहा है कि बालिका ने इनसे से दो लड़कों की पहचान की है। इस पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपित भी नाबालिग बताए जा रहे हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार देर शाम निकटवर्ती गांव-तल्ला गांव के तीन युवक पीड़िता को उसके घर से उठाकर ले गए। परिजनों को जब इस बात का पता चला तो उन्होंने ग्रामीणों को सूचना देकर बालिका की तलाश की। रात भर खोजबीन करने के बाद भी उसका पूरा रात पता नहीं चल सका। इधर बृहस्पतिवार सुबह समीपवर्ती ओडाबास्कोट गांव से बेतालघाट को जा रहे कुछ लोगों ने एक बालिका को सड़क किनारे जंगल की ओर पड़ा देखा। इसकी जानकारी लगने पर दाडिमा गांव के लोगांे को लगने पर बालिका के परिजन और ग्रामीण मौके पर पहंुचे और आपातकालीन 108 सेवा के माध्यम से उसे सीएचसी बेतालघाट ले जाया गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। नाबालिग बालिका के पिता के अनुसार बदहवास हालत में मिली बेटी ने कुछ होश में आने पर बताया कि तल्ला गांव के पंकज व कमलेश तथा एक और अन्य युवक उसे रात को घर से उठा ले गए थे। कुछ भी बताने पर उसे व उसके पिता को जान से मारने की धमकी दी गई। पिता के अनुसार बालिका अभी कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं है। वह काफी डरी हुई है। घटना को अंजाम देने वाले युवक प्रवासी हैं। लॉकडाउन के दौरान बाहरी क्षेत्रों से घर पहुंचे हैं।
घटना से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। 112 नंबर से सूचना मिलने थाना बेतालघाट के थानाध्यक्ष प्रेम विश्वकर्मा और राजस्व उपनिरीक्षक प्रवीण ह्यांकी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे तथा परिजनों के बयान दर्ज किए। राजस्व उपनिरीक्षक के अनुसार मामले की जांच कर आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। कहा कि घटना में लिप्त किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। राजस्व उप निरीक्षक प्रवीण ह्यांकी ने बताया कि पीड़ितों की ओर से लिखित सूचना नहीं दी गई, इसलिए पीड़िता का आज मेडिकल भी नहीं हो पाया। शुक्रवार सुबह पीड़ितों से शिकायत लेकर मामला दर्ज कर लिया जाएगा और पीड़िता का मेडिकल भी करा लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : नाबालिग से निकाह करने का झांसा देकर अवैध संबंध बनाता रहा बहन का जेठ, हुई गर्भवती…

नवीन समाचार, रामनगर, 18 नवम्बर 2020। शहर के एक युवक पर अपनी भाभी (बहु) की नाबालिग बहन से निकाह का झांसा देकर जबरन शारीरिक संबंध बनाने का आरोप लगा है। आरोप है कि इस कारण नाबालिग एक माह की गर्भवती हो गई। इसका पता चलने पर उसके परिजनों में हड़कंप मच गया। अब परिजनों की ओर से युवक के खिलाफ कोतवाली में तहरीर देने की कार्रवाई की जा रही है।
बुधवार को मोहल्ला ऊंटपड़ाव निवासी महिला एक किशोरी को लेकर महिला आयोग की पूर्व उपाध्यक्ष अमिता लोहनी के घर पहुंची। महिला ने बताया कि बिहार के गांव बंगवारा थाना जंक्शन कटियार की रहने वाली उसकी 15 वर्षीय भतीजी पढ़ने के लिए उसके घर रामनगर आकर अपनी बड़ी बहन के घर रह रही है। इस दौरान बहन के जेठ ने उसकी भतीजी को अपने प्रेमजाल में फंसाकर उसे निकाह करने का भरोसा दिलाया। इसके बाद घर में अकेला होने पर वह उसकी भतीजी के साथ शारीरिक संबंध बनाता रहा। उसकी भतीजी ने उसे घर आकर युवक की हरकतों के बारे में बताया तो उसने चिकित्सालय में उसकी जांच कराई। जांच में उसकी भतीजी एक माह की गर्भवती निकली है। महिला ने आरोपित युवक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने बताया कि आरोपित के खिलाफ किशोरी की ओर से तहरीर दी जा रही है।

यह भी पढ़ें : युवती का कुरान शरीफ पढ़ाने के दौरान लगातार बलात्कार करने के दो आरोपित कारी व मौलाना 48 घंटे के भीतर गिरफ्तार

-महिला को अश्लील मैसेज भेजने वाले तीसरे अभियुक्त अदनान की पुलिस कर रही है सरगर्मी से तलाश।
नवीन समाचार, कोटद्वार, 7 नवम्बर 2020। इंसान के वेष में दरिंदे हर कहीं छिपे हुए हैं।
उत्तराखंड के पौड़ी जनपद अंतर्गत कोटद्वार के ग्रास्टनगंज निवासी एक युवती द्वारा पुलिस क्षेत्राधिकारी अनिल जोशी को एक शिकायती पत्र दिया गया था। पत्र में युवती ने कहा था कि वह ईदगाह ग्रास्टनगंज कोटद्वार स्थित मदरसे में करीब पांच वर्ष पूर्व कुरान शरीफ का अभ्यास करने गई थी। तभी से इस मदरसे के कारी (शिक्षक) तसब्बुर व उसके साथी लैंसडाउन में कारी, मौलाना युनुस द्वारा उसे डरा धमकाकर मदरसे में ही लगातार उससे बलात्कार किया जाता रहा और अपने मोबाईल में उसकी अश्लील फोटो खींचकर उसे और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी देकर लगातर उसका शारीरिक शोषण किया जाता रहा है। वहीं उनके द्वारा जानकारी देने पर अदनान नाम का एक तीसरा व्यक्ति भी उसे अश्लील मैसेज भेजकर परेशान करता था। शिकायती पत्र के आधार पर कोतवाली पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की एक टीम उत्तर प्रदेश रवाना की गई थी। इधर जनपद की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी रेणुका देवी द्वारा इस मामले में महिला सम्बधी अपराध के दृष्टिगत शीघ्र सफल निस्तारण करने हेतु कोटद्वार पुलिस को निर्देशित किया गया था पुलिस उपाधीक्षक कोटद्वार अनिल कुमार जोशी के पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र सिंह बिष्ट के नेतृत्व में गठित उप निरीक्षक दीपक तिवाड़ी, मेजर सिंह, कुलदीप सिंह, गजेंद्र कुमार, फिरोज खान के साथ पुलिस टीम द्वारा बीती देर शाम मुख्य अभियुक्त तसब्बुर पुत्र हारूण को जनपद हरिद्वार से और अभियुक्त यूनुस पुत्र हबीबुर रहमान को कुण्डाखुर्द जनपद बिजनौर उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया गया है। दोनों आरोपितों को आज कोटद्वार में न्यायालय के समक्ष पेश किया गया, जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। पुलिस द्वारा आरोपितों के और भी आपराधिक इतिहास की जानकारी ली जा रही है। इस मामले में युवती को अश्लील मैसेज भेजने वाले तीसरे अभियुक्त अदनान की भी गिरफ्तारी के प्रयास पुलिस द्वारा किए जा रहे हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी रेणुका देवी द्वारा पुलिस टीम के उत्साहवर्धन हेतु डेढ़ हजार रुपये का ईनाम देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें : उफ ऐसी वारदात ! भीमताल में 14 साल के नाबालिग ने किया आधी से कम उम्र की बच्ची के साथ दुष्कर्म

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 सितंबर 2020। नगर से लगे ग्रामीण क्षेत्र में लगभग साढ़े छह साल की बच्ची के साथ दोगुनी से भी अधिक परंतु नाबालिग, 14 वर्षीय बालक द्वारा दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामले में आरोपी नाबालिग पर पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर उसे संरक्षण में लेकर न्यायालय में पेश कर दिया है।
भीमताल थाना प्रभारी एसओ प्रदीप कुमार ने बताया कि पीड़िता व आरोपित दोनों के परिवार मूलतः नेपाली मूल के हैं। अलबत्ता लड़का यहां निकट के चौड़्या गांव व लड़की निसौला गांव की रहने वाली है। दोनों के परिवार पूर्व में निसौला गांव में रहते थे। लेकिन कुछ समय से लड़के का परिवार चौड़या गांव में रहने चला गया था। इधर पहले करीब छह माह पहले व 8-10 दिन पहले दो बार लड़के ने बच्ची के साथ लड़की के गांव निसौला में आकर उसके साथ दो बार दुष्कर्म किया।

यह भी पढ़ें : प्रेमी ने नाबालिग प्रेमिका से जबर्दस्ती शारीरिक संबंध बनाए, तीन अन्य ने भी प्रेमी के सामने ही किया गैंगरेप

नवीन समाचार, कोटद्वार, अगस्त 2020। उत्तराखंड व उत्तरप्रदेश की सीमा पर बीते शनिवार को कोटद्वार की एक नाबलिग किशोरी से गैंगरैप की घटना का मामला प्रकाश में आया है। दिल को दहलाने वाली बात यह भी है कि गैंगरेप के समय युवती का प्रेमी भी घटनास्थल पर मौजूद था। उसने भी जबरन किशोरी से शारीरिक संबंध बनाए। मामले में किशोरी के पिता की तहरीर पर उसके प्रेमी व तीन अन्य युवकों के खिलाफ पुलिस ने विभिन्न धाराओ में मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही आरोपियों को पकडने के लिए पुलिस दबिश दे रही है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र के एक व्यक्ति ने कोतवाली में तहरीर दर्ज कराते हुए बताया कि उनकी 17 वर्षीया नाबालिग बेटी को शनिवार पूर्वाह्न करीब 11 बजे ग्राम समस्तीपुर थाना नगीना देहात बिजनौर उत्तर प्रदेश निवासी गुड्डू सिंह पुत्र राम अवतार ने बहला फुसलाकर उत्तर प्रदेश स्थित एक गाँव में मिलने बुलाया। वह उससे मिलने चली गई। जब वह घर वापस लौटी तो उसने बताया कि उसके साथ पहले यूपी के परिचित गुड्डू सिंह ने जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाये। इसी दौरान वहां तीन युवक आये और उन्होंने बारी-बारी से जबरन बलात्कार किया। पुलिस द्वारा पिता की तहरीर के आधार पर प्रेमी सहित तीन अज्ञात युवकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 363, 506, 376डी, 5/6 पोक्सो अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें : शर्मनाक ! गौलापार के चालक द्वारा बागेश्वर में नाबालिग लड़की के साथ ट्रक के केबिन में बलात्कार

नवीन समाचार, बागेश्वर, 26 जून 2020। बागेश्वर जनपद के झिरौली पुलिस क्षेत्र के तहत एक 15 वर्षीया नाबालिग लड़की से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। मामले में हल्द्वानी के गौलापार स्थित ग्राम लछमपुर निवासी ट्रक चालक कमल चंद्र रूबाली पुत्र चंद्रशेखर के खिलाफ लड़की के मामा की तहरीर पर पोक्सो समेत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर पुलिस ने आज उसे अदालत में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है। वहीं नाबालिग का मेडिकल परीक्षण किया जा रहा है। घटना के बाद क्षेत्र में भारी आक्रोश है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार अल्मोड़ा जिले के सीमावर्ती काफलीगैर तहसील क्षेत्र में गुरुवार मध्य रात्रि करीब साढ़े 12 बजे पुलिस गश्त के दौरान एक लड़की भागती हुई पुलिस की गाड़ी के पास आई। उसने रोते हुए बताया कि वह अपने मामा के घर में रहती है। ट्रक ड्राइवर ने उससे खाना मंगाया था और उसने भोजन किया। वह घर लौटने लगी तो उसे पकड़ लिया और केबिन में उसके साथ दुराचार किया। पुलिस ने उसके मामा से संपर्क किया और उसकी तहरीर पर आरोपित ट्रक चालक को गिरफ्तार किया। उसके खिलाफ धारा 376 आइपीसी और पोक्सो अधिनियम में मामला दर्ज कर, शुक्रवार को अदालत में पेशी के बाद जेल भेज दिया है। थानाध्यक्ष मदन लाल के अनुसार लड़की करीब 15 साल की और नाबालिग है। ट्रक चालक हल्द्वानी से सब्जी लेकर आ रहा था। अक्सर यहां ट्रक चालक रात होने पर रुकते हैं। मामले की सभी बिंदुओं से जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें : कैंची धाम के निकट 13 वर्षीया बच्ची से अधेड़ ने किया दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 14 जून 2020। जनपद के विश्वप्रसिद्ध कैंची धाम में इस वर्ष पहली बार 15 जून को वार्षिक मेला आयोजित नहीं हो रहा है, वहीं आज एक दिन पहले इस क्षेत्र को शर्मसार करने वाली घटना का खुलासा हुआ है। अल्मोड़ा पुलिस में एक 13 वर्षीया नाबालिग पीड़िता ने वहीं के एक हार्डवेयर सामग्री के विक्रेता हिस्ट्रीशीटर, अधेड़ पड़ोसी पर कैंची के पास एक रिजॉर्ट में उसके साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। मामले में पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपित अल्मोड़ा के एनटीडी बाजार क्षेत्र निवासी चंदन बिष्ट के खिलाफ पॉक्सो सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटनास्थल नैनीताल जनपद में होने के कारण मामला नैनीताल पुलिस को हस्तांतरित हो सकता है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पीड़िता आरोपित चंदन बिष्ट के पड़ोस में ही रहती है। गत दिवस आरोपित अपने कुत्ते को दिखाने के लिए हल्द्वानी-काठगोदाम जा रहा था। पीड़िता को भी इसी दौरान हल्द्वानी जाना था। दोनों परिवारों में पहले से पहचान थी। इसलिए परिजनों ने पीड़िता को उसके साथ हल्द्वानी भेज दिया। आरोप है कि लौटते हुए आरोपित पीड़िता को कैंची धाम के पास एक रिजॉर्ट में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया तथा किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी। पीड़िता ने अपनी मां को आपबीती बताई और देर रात एनटीडी चौकी में तहरीर दी गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर और पीड़िता का मेडिकल करा कर जांच शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ें : कथित पत्रकार के खिलाफ नाबालिग से अश्लील वीडियो दिखाने के भय से बार-बार दुष्कर्म करने के मामले में मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, दिनेशपुर (ऊधमसिंह नगर), 8 मई 2020। जनपद के दिनेशपुर में स्वयं को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का कथित तौर पर पत्रकार कहने वाले व्यक्ति पर नगर के निकटवर्ती ग्राम निवासी एक नाबालिग लड़की के साथ जबरन दुष्कर्म करने, इसका अश्लील वीडियो बना कर कई बार दुष्कर्म के आरोप में शुक्रवार को नाबालिग के भाई ंकी तहरीर पर भारतीय दंड संहिता की धारा 376 एवं पॉक्सो सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया गया है कि दो दिन पूर्व गुरुवार को इस कथित पत्रकार अजय कुमार को ट्यूबवेल में नाबालिग के साथ पकड़ा गया था। इसके साथ ही इसी संबंध में मारपीट का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। पुलिस ने जांच प्रारम्भ करने के साथ ही नाबालिग का जिला चिकित्सालय में मेडिकल करा दिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार की दोपहर कथित पत्रकार नाबालिग लड़की के साथ सुनसान इलाके में एक ट्यूबवेल के पास आपत्तिजनक स्थिति में देखा गया था। मौके पर पहुंची दो युवतियां मौके पर पहुंचीं तो नाबालिग के साथ की जा रही मारपीट का वीडियो बना लिया, जो कि सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ। इधर शुक्रवार को नाबालिग लड़की के भाई ने महिला कल्याण संस्था की अध्यक्ष हीरा जंगपांगी के साथ थाने पहुंचकर इसी कथित पत्रकार पर सात माह पूर्व नाबालिग बहन के साथ जबरन दुष्कर्म कर अश्लील वीडियो बना कर बार-बार दुष्कर्म करने व गुरुवार को मारपीट करने का आरोप लगाते हुए तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। इस पर पुलिस ने तहरीर के आधार पर आरोपित पत्रकार के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर विवेचना प्रारम्भ कर नाबालिग का जिला चिकित्सालय में मेडिकल परीक्षण करवाया।
बताया गया है कि इसी आरोपित पत्रकार का पूर्व में भी नगर के निकटवर्ती जंगल का एक वीडियो वायरल हुआ था। गांव वालों ने जब इन्हें वीडियो बनाते पकड़ा तो पत्रकार ने थाने में अपनी पहचान के बल पर मामले को रफा-दफा कर दिया था। लेकिन इस बार नये वीडियो के बाद पत्रकार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। उसकी पुलिस कर्मियों से नजदीकी को लेकर भी चर्चाएं हो रही हैं। लोगों का कहना है कि पुलिस कर्मी कई बार इस पत्रकार के वाहन से दबिश देने भी जाती रही है। इस मामले की खबर करने गये एक पत्रकार ने भी इस कथित पत्रकार से जान का खतरा होने की पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

यह भी पढ़ें : वैलेंटाइन डे को घर से गायब हुई थी नाबालिग, हुआ दुराचार, आरोपित गिरफ्तार..

नवीन समाचार, बागेश्वर, 23 फरवरी 2020। बागेश्वर जिले के कपकोट थाना क्षेत्र से गत 14 फरवरी यानी वैलेंटाइन डे को एक नाबालिग बिना घर में बताए कहीं चली गई थी। अब उसने एक युवक पर उसके साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने शिकायत के 24 घंटे के भीतर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार को पुलिस आरोपित को अदालत में पेश कर सकती है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद के कपकोट थाना क्षेत्र में गत 14 फरवरी यानी वैलेंटाइन डे को एक नाबालिग बिना घर में बताए कहीं चली गई थी। परेशान परिजनों के बारे में जब उसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली तो उन्होंने तहरीर दी। पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर गुमशुदा की तलाश शुरू की। कोतवाल टीआर वर्मा द्वारा गठित टीम ने शनिवार 22 फरवरी की देर शाम बागेश्वर के अल्मोड़ा टैक्सी स्टैंड से उसे बरामद किया। नाबालिग ने एक युवक पर उसका अपहरण करने के साथ ही दुष्कर्म करने का आरोप लगाया। उसके बयानों के आधार पर पुलिस ने अभियोग में पॉक्सो अधिनियम की बढ़ोतरी कर उसका अपहरण और दुष्कर्म करने के आरोप में संजय कुमार पुत्र जोगा राम, निवासी अनर्सा कपकोट को रविवार को अनर्सा तिराहे से गिरफ्तार कर लिया। कोतवाल वर्मा ने पत्रकारों को बताया कि आरोपित की उम्र 18 साल है, जबकि नाबालिग का मेडिकल परीक्षण कराया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : सनसनीखेज मामला : फिल्म ‘हसीन दिलरुबा’ के कथित निर्देशक ने अभिनेत्री तापसी पन्नू से मिलवाकर 12वीं की छात्रा से किया दुष्कर्म

नवीन समाचार, हरिद्वार, 3 फरवरी 2020। हम आरोपों की पुष्टि नहीं कर रहे, पर ऐसा मामला प्रकाश में आया है। फिल्म अभिनेत्री तापसी पन्नू की गत दिनों उत्तराखंड में फिल्माई गई फिल्म ‘हसीन दिलरुबा’ में रोल दिलवाने के नाम पर कनखल की एक 12वीं की छात्रा से ज्वालापुर के एक युवक पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज से आरोपी युवक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। छात्रा का आरोप है कि युवक ने खुद को फिल्म का डायरेक्टर बताया था, और फिल्म की शूटिंग के दौरान उसने अभिनेत्री तापसी पन्नू से भी मुलाकात करवाई थी।
पीड़िता का कहना है कि दो माह पूर्व पेंटागन मॉल में आयोजित एक टेलेंट शो में उसकी मुलाकात ज्वालापुर के एक युवक से हुई थी। इसके बाद 26 जनवरी को भी एक टेलेंट शो का आयोजन किया गया था, जहां युवक उसे फिर मिला था। युवक ने उसे भरोसा दिलाया कि वह कलाकारों को फिल्मों में रोल दिलवाता है। उसने बताया कि आजकल ‘हसीन दिलरुबा’ की शूटिंग चल रही है और वह उसे उसमें रोल दिलवा देगा। आरोप है कि 27 जनवरी को युवक ने उसके मोबाइल पर संपर्क कर मोदी भवन आने को कहा, जहां फिल्म की शूटिंग चल रही थी। मोदी भवन पहुंचने पर युवक ने खुद को फिल्म का डायरेक्टर बताते हुए उसकी मुलाकात अभिनेत्री तापसी तन्नू से भी करवाई। उसने वहां भी भरोसा दिलाया कि इस फिल्म में छोटे रोल के बाद अगली फिल्म में मुख्य रोल दिलवा देगा। आरोप है कि युवक उसे रोल समझाने की बात कहकर एक कमरे में ले गया। जहां उसने काफी में नशीला पदार्थ मिलाकर उसे पिला दिया और उसके साथ दुष्कर्म किया। होश में आने पर जब उसने विरोध किया तो युवक ने कहा कि फिल्म लाइन में यह बात सामान्य है। एसएसपी ने हरिद्वार कोतवाली प्रभारी को कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें : ‘राम’नगर के पिता-पुत्र दोनों निकले कुकर्मी, बिन बाप की नाबालिग बेटी के साथ किया मुंह काला

नवीन समाचार, रामनगर, 19 जनवरी 2020। रामनगर में कलयुगी पिता-पुत्र की मानवता को शर्मनाक करने वाली करतूत सामने आयी है। पिता-पुत्र पर मां के साथ किराए पर रहने वाली बिन बाप की, सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। पुलिस ने आरोपित पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है, जबकि उसके फरार हो गये बेटे की सरगर्मी से तलाश कर रही है। घटना को लेकर क्षेत्र के लोगों में खास आक्रोश है।
शहर के ग्रामीण क्षेत्र में 14 वर्षीय छात्रा अपनी मां के साथ किराए के मकान में रहती है। उसी घर में आरोपित कुंदन पटवाल व उसका पुत्र दीपक पटवाल भी किराये पर रहते हैं। बताया जा रहा है कि छात्रा के पिता की कुछ साल पूर्व मृत्यु हो चुकी है, जबकि मां प्राइवेट नौकरी करती है। मां के ड्यूटी पर जाने के बाद नाबालिग छात्रा के अकेले होने का फायदा उठाकर कुछ दिन पूर्व उसके पड़ोस में रहने वाला कुंदन पटवाल कमरे में घुस गया। आरोप है कि उसने छात्रा से छेड़छाड़ करते हुए उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया। पिता की हरकत देखने के बाद उसके बेटे दीपक पटवाल ने भी मौका मिलते ही छात्रा से दुष्कर्म किया। किसी को बताने पर उसे जान से मारने की धमकी भी दी गई। इधर शुक्रवार को छात्रा ने अपनी मां को जब घटना के बारे में बताया तो वह स्‍तब्‍ध रह गई। छात्रा की मां ने रामनगर कोतवाली पहुंचकर आरोपितों के खिलाफ तहरीर दी। पीरूमदारा चौकी इंचार्ज कवींद्र शर्मा ने बताया कि इस मामले में आरोपित पिता-पुत्र के खिलाफ दुष्कर्म व पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। एक आरोपित कुंदन पटवाल को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है जबकि उसके बेटे की तलाश की जा रही है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड की एक ‘निर्भया’ के बलात्कारी-हत्यारोपी की फांसी की सजा बरकरार

नवीन समाचार, नैनीताल, 7 जनवरी 2020। उधर दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने देश के बहुचर्चित निर्भया मामले में 4 आरोपियों की फांसी की सजा बरकरार रखी है, वहीं उत्तराखंड के नैनीताल उच्च न्यायालय ने भी राज्य की राजधानी देहरादून के सहसपुर थाने के अंतर्गत एक दस साल की बच्ची के साथ बलात्कार व उसके बाद उसकी हत्या करने के मामले में निचली कोर्ट से फांसी की सजा पाए हुए अभियुक्त की अपील पर सुनवाई करते हुए निचली अदालत के फांसी की सजा को बरकरार रखा है और अभियुक्त की अपील की खारिज कर दिया है । मामले की सुनवाई न्यायमूर्ति आलोक सिंह व न्यायमूर्ति रविन्द्र मैठाणी की खंडपीठ में हुई। मामले के अनुसार 28 जुलाई 2018 को लड़की के पिता ने देहरादून के सहसपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी कि वे और अभियुक्त जय प्रकाश शिवालिक इंजीनियरिंग कालेज के निर्माणाधीन कालेज में मजदूरी का कार्य करते हैं। 28 जुलाई 2018 को वे काम पर गए थे। उनके झोपड़ी में उस दिन उनकी तीन लडकियां ही थीं और अभियुक्त उस दिन काम पर नही गया। अभियुक्त जयप्रकाश उस दिन उनकी तीनों लड़कियों को अपनी झोपडी में चीज खिलाने के बहाने बुला के ले गया। दो छोटी लड़कियों को उसने दस-दस रुपये देकर चीज खाने के लिए भेज दिया और बड़ी लडक़ी को दस रुपए देकर उसके साथ बलात्कार करके उसकी हत्या कर दी और उसकी लाश कमरे में गड्ढा बनाकर शव को उसमें सीमेंट की बोरियो से दबा दिया। पाक्सो कोर्ट में इस मामले में अभियुक्त को भारतीय दंड संहिता की धारा 302, 376 व 377 के अन्तगर्त 28 अगस्त 2019 को फांसी की सजा सुनाई थी। इस आदेश को रिफरेंस के लिए 29 अगस्त 2019 को हाई कोर्ट भेजा गया था। इसी बीच अभियुक्त ने भी फांसी की सजा से बचने के लिए हाई कोर्ट में अपील दायर की। कोर्ट ने निचली अदालत के फांसी के आदेश को सही पाते हुए फांसी की सजा को बरकरार रखा है और अभियुक्त की अपील को खारीज दिया है।

यह भी पढ़ें : युवक ने खुद से तीन गुनी उम्र की बुजुर्ग महिला से किया दुष्कर्म

नवीन समाचार, रुड़की, 31 दिसंबर 2019। रुड़की में एक युवक ने खुद से करीब तीन गुनी उम्र की महिला के घर में जबरन घुसकर उससे डरा-धमकाकर दुष्कर्म कर दिया और शोर मचाने पर जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गया। महिला ने घटना की जानकारी अपनी बेटी को दी। बेटी ने आरोपी युवक के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर बुजुर्ग महिला का मेडिकल कराया है, और आरोपित युवक की तलाश शुरू कर दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सिविल लाइंस कोतवाली क्षेत्र स्थित एक गांव में एक युवक की 25 दिसंबर को सगाई थी। सगाई में उसका रिश्तेदार ज्वालापुर निवासी एक युवक भी आया था। उसी ने रात में पड़ोस में अकेली रहने वाली बुजुर्ग महिला से इस हैवानियत भरी वारदात को अंजाम दिया।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी में बहु से दुष्कर्म के आरोप में ससुर हिरासत में, मुकदमा भी दर्ज…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 25 दिसंबर 2019। शहर के बनभूलपुरा क्षेत्र में एक बुजुर्ग पर बहू से दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। आरोप है कि मूलतः बरेली के रहने वाले ससुर ने मुंह खोलने पर बहू को जान से मारने की धमकी भी दी। लोक लाज के चलते वह कुछ दिनों तक चुप रही लेकिन दोबारा हरकत करने पर वह बनभूलपुरा पुलिस के पास पहुंच गई। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर ससुर को हिरासत में ले लिया है।
पुलिस के अनुसार महिला की शादी एक साल पहले गौला में ट्रक चलाने वाले व्यक्ति से हुई थी। इधर छह दिसंबर की सुबह दस बजे वह अपने घर पर अकेली थी। ससुर ने चाय बनाने के लिए कहा था। रसोईघर में जाने पर ससुर भी चला आया। शोर मचाने पर बहू का मुंह बंद कर कमरे में ले गया। महिला का आरोप है कि ससुर ने उसके साथ दुष्कर्म किया। मुंह खोलने पर जान से मारने की धमकी दी। भयभीत महिला काफी दिनों तक परेशान रही। दोबारा दुष्कर्म करने पर उसने पति को इस बारे में बताया और बनभूलपुरा थाने पहुंची। थानाध्यक्ष सुशील कुमार ने मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए। पुलिस ने इस मामले में ससुर के खिलाफ धारा 376 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया।

यह भी पढ़ें : 12 साल के बच्चे पर सात साल की परिचित बच्ची से जबर्दस्ती दुष्कर्म करने का आरोप

नवीन समाचार, दिनेशपुर (ऊधमसिंह नगर), 24 दिसंबर 2019। क्षेत्र के एक 15 वर्षीय बच्चे पर 7 साल की मासूम से दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। आरोप है कि बच्चे ने अपनी परिचित बच्ची को मां की बीमारी की झूठी कहानी बनाकर अपने घर ले गया और वहां उससे जबर्दस्ती दुष्कर्म किया। उसके साथ क्या हुआ, इस बात से अनभिज्ञ बच्ची ने अत्यधिक दर्द होने पर अपनी मां को आपबीती बताई। इस पर बच्ची की मां ने पुलिस को तहरीर सोंपकर आरोपित के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की। पुलिस ने तहरीर के आधार पर आरोपित के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 366ए व 376 तथा 3/4 पॉस्को अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत कर आरोपित की तलाश कर दी है। बच्ची का मेडिकल कराया गया है। वहींघटना के बाद से फरार आरोपित की तलाश शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ें : पीसीएस की तैयारी कर रही युवती से दुष्कर्म, आरोपी, उसके पिता अन्य युवती के खिलाफ राज्यमंत्री के हस्तक्षेप के बाद मुकदमा दर्ज

-पीड़िता को आरोपित ने करीब डेढ़ साल अपनी पत्नी के रूप में रखा, अब किसी और से शादी कर रहा
नवीन समाचार, उत्तरकाशी, 23 दिसंबर 2019। राज्यमंत्री रेखा आर्य के हस्तक्षेप के बाद पीसीएस की तैयारी कर रही युवती से दुष्कर्म का मुकदमा उत्तरकाशी पुलिस ने दर्ज कर लिया है। आरोपी ने शादी करने का झांसा देकर कई साल तक उसका यौन शोषण किया। बाद में दूसरी शादी रचाकर पीड़िता को छोड़ दिया। आरोप है कि लखनऊ के इस युवक ने पीड़िता को डेढ़ साल तक गाजीपुर में पत्नी के रूप में रखा।

उत्तरकाशी जिले की पीड़िता ने राज्यमंत्री रेखा आर्य से मिलकर आपबीती बताई थी। पीड़िता ने बताया कि उत्तरकाशी में एनबीसीसी कंपनी में काम करने वाला अभिषेक चौहान निवासी गोमतीनगर, लखनऊ 2013 में उसके संपर्क में आया था। चौहान ने घर आकर कई बार प्रेम प्रस्ताव दिया, लेकिन वह टालती रही। 21 नवंबर 2014 को आरोपी अपने परिवार के साथ उसे जन्मदिन के बहाने एक होटल में ले गया और कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। विरोध करने पर आरोपी ने उसे शादी करने का झांसा दिया। इसी बीच 2015 में गर्भ ठहरा तो आरोपी ने दवा खिलाकर गर्भपात करा दिया। इधर, सितंबर 2017 में शादी का झांसा देकर फिर कई होटलों में उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। वह विरोध करती तो अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसके मुंह को बंद करा दिया जाता। इसके बाद आरोपी एक कंपनी में नौकरी लगने की बात कहकर उसे गाजीपुर ले गया, जहां किराए पर कमरा लेकर अपने साथ रखा। पीड़िता ने आरोप लगाया कि सितंबर 2019 में अभिषेक के पिता शादी कराने की बहाने उसे उत्तरकाशी छोड़ गए। धोखे का पता चलने पर विरोध किया तो आरोपी पक्ष ने जान से मारने की धमकी दी। इसी बीच 22 नवंबर को अभिषेक के मोबाइल से एक युवती का फोन आया, जिसने अभिषेक से शादी करने की बात कही। धमकी दी कि यदि शादी में अड़ंगा लगाया तो वह उसे मरवा देगी। राज्यमंत्री रेखा आर्य ने मामले को गंभीरता से लेते हुए उत्तरकाशी के पुलिस अधीक्षक से बात की। एसपी के निर्देश पर उत्तरकाशी में पीड़ित की तहरीर पर आरोपी अभिषेक चौहान, उसके पिता और धमकी देने वाली युवती के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस का कहना है कि विवेचना में आने वाले तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : 68 साल के कुकर्मी बुड्ढे की हवस का शिकार हुई 13 साल की बच्ची ने दिया बच्चे को जन्म..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 19 दिसंबर 2019। हल्द्वानी के सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में एक 13 साल की बच्ची द्वारा बच्चे को जन्म देने का मामला प्रकाश में आया है। किंतु इससे भी अधिक बड़ी बात यह है कि बच्ची खुद से पांच गुने से भी अधिक उम्र के एक 68 साल के कुकर्मी बुड्ढे की हवस का शिकार होकर गर्भवती हुई थी। गनीमत रही कि बच्ची को सामान्य प्रसव से ही बच्चा पैदा हो गया और जच्चा-बच्चा दोनों की जान भी बच गई है। बच्ची की मां ने नवजात बच्चे को स्वयं पालने की बात कही है। बच्ची से दुष्कर्म के आरोप में बुड्ढा पहले से ही जेल में है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गत सितंबर माह में दिनेशपुर के कालीनगर क्षेत्र में 65 साल के वृद्ध दुकानदार द्वारा 13 वर्ष की बच्ची को हवस का शिकार बनाकर गर्भवती बनाने का मामला प्रकाश में आया था। पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया था कि पांच माह पहले उनके घर के सामने रहने वाले 68 वर्षीय नरेंद्र सिंह नेगी पुत्र चंदन सिंह नेगी की दुकान में लकड़ी का बुरादा लेने गई बच्ची को बिस्कुट-चॉकलेट देने के बहाने दुष्कर्म कर दिया तथा किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी। जिस कारण बच्ची चुप रही लेकिन 28 सितंबर को पेट दर्द की शिकायत होने पर परिजनों को बच्ची के गर्भवती होने का पता चला।

यह भी पढ़ें : भेड़ों के बीच भेड़िया: हिंदू जागरण मंच के नेता पर महिला से तीन वर्ष से दुष्कर्म करने का आरोप..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 10 दिसंबर 2019। भेड़ों के बीच भेड़िये हर कहीं छुपे बैठे हैं। स्वयं को हिंदू जागरण मंच की युवा वाहिनी का प्रदेश उपाध्यक्ष बताने वाले मुकेश भट्ट नाम के युवक के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। युवक पर एक महिला से उसकी पारिवारिक परेशानियों का फायदा उठाकर नजदीकियां बढ़ाने और शारीरिक संबंध बनाने और इसके बाद अश्लील वीडियो व फोटो वायरल करने की धमकियां देकर तीन साल तक महिला से दुष्कर्म करने तथा परिवार को मारने की धमकी देने का आरोप है। महिला की शिकायत पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपों की जांच शुरू कर दी है।

राज्य के सभी प्रमुख समाचार पोर्टलों में प्रकाशित आज-अभी तक के समाचार पढ़ने के लिए क्लिक करें इस लाइन को…

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

महिला ने बताया कि वर्ष 2017 में उसका पारिवारिक जीवन सही नहीं चल रहा था। इसी का फायदा उठाकर भोटिया पड़ाव में रहने वाले हिंजामं की युवा वाहिनी के प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश भट्ट ने उससे नजदीकियां बढ़ाईं। इसके बाद मुकेश वॉट्सएप व फेसबुक के माध्यम से उससे बातें करने लगा। आरोप है कि अपनी बातों में फंसाकर मुकेश ने उसका शारीरिक शोषण करना शुरू कर दिया। महिला की अश्लील वीडियो व फोटो भी बना दी गई। आरोप है कि वीडियो, फोटो को वायरल करने और पति को भेजने की धमकी देकर मुकेश ने लगातार कमलुवागांजा स्थित किराये के कमरे में ले जाकर शारीरिक शोषण शुरू कर दिया। इस साल 27 नवंबर को भी मुकेश ने फोन कर महिला को कमलुवागांजा स्थित कमरे में बुलाया और नहीं आने पर पति को फोटो व वीडियो भेजने की धमकी देने लगा। परेशान महिला ने खुद पति को आपबीती बता दी। आरोप है कि इसके बाद मुकेश ने पति व बच्चों को मारने की धमकी दी। इससे घबराकर महिला के कमलुवागांजा जाने पर मुकेश से शारीरिक शोषण किया। पीड़िता ने मुकेश से खुद व परिवार को जान का खतरा बताकर मदद की गुहार लगाई है। कोतवाल विक्रम राठौर ने बताया कि आरोपित के विरुद्ध दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मुकेश ने अपनी फेसबुक प्रोफाइल पर हिंदू जागरण मंच की युवा वाहिनी प्रदेश उपाध्यक्ष लिखा है। वहीं, उसकी भाजपा व उसके आनुषांगिक संगठन के कई नेताओं से नजदीकियां भी हैं। फेसबुक पर अपलोड कई फोटो में वह मंच पर नेताओं के साथ खड़ा व बैठा दिख रहा है। वहीं, हिंजामं नेता पर दुष्कर्म का मुकदमा होने की खबर सोमवार शाम से लोगों में चर्चा का विषय रही। सोशल मीडिया में भी यह खबर तेजी से वायरल हो गई।

यह भी पढ़ें : खतरनाक आंकड़े: देश की जेलों में बंद एक लाख कैदियों में से 10,892 बलात्कारी, 15 से 49 आयु वर्ग की 30 फीसदी महिलाओं को 15 साल की आयु से ही झेलनी पड़ी शारीरिक हिंसा

नवीन समाचार, नई दिल्ली, 8 दिसंबर 2019। देश में हैदराबाद व उन्नाव की घटनाओं की चल रही बहस के बीच यह समाचार भी देश में बलात्कार के मामलों पर ध्यान आकृष्ट करने वाली है। देश की जेलों में सजा काट रहे एक लाख से ज्यादा कैदियों में से 10,892 बलात्कारी हैं। वहीं नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) का वर्ष 2017 तक के महिलाओं के प्रति अपराधों का आंकड़ा साढ़े 3 लाख पार की संख्या पार कर चुका है। वहीं 2015-16 में कराए गए राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-4 में इस बात का उल्लेख किया गया है कि भारत में 15 से 49 आयु वर्ग की 30 फीसदी महिलाओं को 15 साल की आयु से ही शारीरिक हिंसा का सामना करना पड़ता है।

एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक 2017 तक भारतीय दंड संहिता के तहत 1 लाख 21 हजार 997 कैदी जेलों में सजा काट रहे हैं। इनमें सबसे ज्यादा 84 फीसदी (102535) मामले मानव शरीर को नुक्सान पहुंचाने और कत्ल के हैं। ऐसे मामलों में सिर्फ कत्ल के मामलों की संख्या 68.4 फीसदी यानि 70,170 है। अब रेप के मामलों की बात की जाए तो 10.6 फीसदी (10,892) बलात्कारी जेलों में सजा काट रहे हैं। ये आंकड़े 31 दिसम्बर 2017 तक के हैं। यहां सिर्फ उन मामलों की बात हो रही है, जिनमें अपराधियों को सजा हो चुकी है।
बीते माह एनसीआरबी की पब्लिक डोमेन पर डाली गई रिपोर्ट के मुताबिक भी देश की महिलाओं की स्थिति कुछ अच्छी नहीं है। महिलाओं के प्रति अपराध कम नहीं हो रहे हैं, बल्कि बढ़ते जा रहे हैं। एनसीआरबी की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक साल 2017 में 50 लाख 7 हजार 44 मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें से 3 लाख 59 हजार 849 मामले महिलाओं के खिलाफ अपराध संबंधी हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2015 में महिलाओं के प्रति अपराध के 3 लाख 29 हजार 243 मामले दर्ज किए गए। 2016 में यह आंकड़ा में 3 लाख 38 हजार 954 तक पहुंच गया था।
वहीं, थॉमसन रायटर्स फाऊंडेशन केे 2018 में किऐ गए एक जनमत सर्वेक्षण में कहा गया था कि भारत महिलाओं के लिए सबसे खतरनाक देश है। रायटर्स के अनुसार ये व्यक्ति महिला संबंधी मामलों के विशेषज्ञ हैं।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply

loading...