उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 16 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 12.6 मिलियन यानी 1.26 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

March 5, 2024

बिहार (Bihar) में नवरात्रि की धूम, महिषासुर मर्दिनी के माध्यम से दिया ‘सत्यमेव जयते तथा बुराई पर अच्छाई की जीत’ का संदेश

0

Bihar, Bihar News, Malmas, Purushottam Mas, Nalanda, Rajgir,

डॉ. सुनीता रंजीता @ नवीन समाचार, नालंदा, 18 अक्टूबर 2023। समस्त बिहार (Bihar) सूबे में नवरात्रि की धूम मची हुई है। विद्यालयों के मंचों पर माँ की झांकी प्रस्तुत की जा रही है। आज नालंदा की धरती पर डीएवी विद्यालय बिहार शरीफ, के जागरूक नौनिहालों ने फिर से महिषासुर मर्दिनी के माध्यम से ‘सत्यमेव जयते तथा बुराई पर अच्छाई की जीत’ का संदेश दिया।

Bihar
यह भी निहित संदेश दिया कि जहाँ नारियों की पूजा होगी वहीं देवताओं का वास होता है। इस दौरान शक्ति समूह ने बच्चों के साथ मिल कर असुरों की शक्ति को क्षीण करके, देवताओं का हक दिलाने वाली देवी चंद्रघंटा शक्ति के प्रतीकात्मक दिव्य रूप को प्रस्तुत किया। नन्हे-मुन्ने बच्चों ने डांडिया की धुन पर माँ शेरा वाली के फेरे भी लगाए। इस गरिमा पूर्ण झांकी का संचालन शक्ति समूह कर रहीं थीं।

बताया गया कि शास्त्रों के ज्ञान से परिपूर्ण, मेधा शक्ति धारण करने वाली देवी चंद्रघंटा संपूर्ण जगत की पीड़ा को मिटाने वाली हैं। अपने मस्तक पर घंटे के आकार के अर्धचन्द्र को धारण करने के कारण वह माँ चंद्रघंटा नाम से पुकारी जाती हैं। भयंकर दानवों को मारने वाली देवी का मुख मंद मुस्कान से कान्तिवान, निर्मल, अलौकिक तथा चंद्रमा-सा उज्ज्वल है। महिषासुर ने देवी के ऐसे दिव्य, अलौकिक स्वरूप पर प्रहार किया।

तब उनके प्रेम, स्नेह का रूप भयंकर ज्वालामुखी की भांति लाल होने लगा, यह क्षण आश्चर्य से भरा हुआ था। उनके इस रूप का दर्शन करते ही महिषासुर भय से कांप उठा। दानव महिषासुर माता के सामने टिक नहीं सका, उसके प्राण निकल गये। आखिर यमराज के समान विकराल स्वरूप वाली माता को देखकर भला कौन जीवित रह सकता है ? देवी चंद्रघंटा अद्भुत शक्ति स्वरूपा हैं।

परमात्मस्वरूपा देवी चंद्रघंटा के प्रसन्न होने पर जगत का अभ्युदय होता है। जगत का समस्त क्षेत्र हरा-भरा, पावन हो जाता है, परंतु देवी चंद्रघंटा के क्रोध में आ जाने पर तत्काल ही असंख्य कुलों का सर्वनाश हो जाता है। माता चंद्रघंटा की उपासना साधक को आध्यात्मिक एवं आत्मिक शक्ति प्रदान करती है। भक्तवत्सल मां चंद्रघंटा सबकी रक्षा करने वाली है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Bihar : राजगीर में मलमास-पुरुषोत्तम मास में 19 जुलाई से चल रहा राजकीय मेला, मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ, बच्चों-सांस्कृतिक कलाकारों ने बिखेरे संस्कृति के रंग

डॉ. सुनीता रंजीता @ नवीन समाचार, राजगीर, 1 अगस्त 2023। बिहार (Bihar) राज्य के नालंदा जनपद स्थित विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी राजगीर में जिला प्रशासन नालंदा के द्वारा राजकीय मलमास मेला आयोजित किया जा रहा है। मेले का उद्घाटन 19 जुलाई को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया। इस दौरान मुख्यमंत्री सरस्वती कुंड में होने वाली गंगा आरती में भी शामिल हुए। 

Bihar News Nitish Kumar Malmas Mela(Bihar) इस अवसर पर राज्य के नालन्दा जनपद स्थित विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी राजगीर में मल मास मेले के विधिवत संगीतमय उद्घाटन की आगाज के लिए जिले स्थित डीएवी सहित अन्य सरकारी विद्यालयों के बच्चों ने समूह नृत्य, संस्कृत शास्त्रीय गायन, एकल नृत्य, एकल गायन, तबला वादन आदि विभिन्न प्रकार की कलाओं की प्रस्तुति दी। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के कलाकारों तथा राज्य के कला सांस्कृतिक विभाग के चयनित कलाकारों के द्वारा दिनांक 19, 23, 24 तथा 29 जुलाई को अपनी कला का सराहनीय प्रदर्शन किया गया।

(Bihar) इसी कड़ी में 30 जुलाई को राजगीर स्थित सभागार में स्थानीय बिहार शरीफ, डीएवी पावरग्रिड कैंपस के बच्चों ने समूह गायन एवं समूह लोक नृत्य का प्रदर्शन किया। इसमें दिव्यांशी, वर्षा, एकता, मान्या, अनामिका तथा दिव्यांक की प्रस्तुति श्लाघनीय रही जिसे उपस्थित जनों ने मुक्त कंठ से सराहा। इसके अलावा ओंकार कुमार तथा विजय कुमार सिंह आदि स्थानीय कलाकारों ने भजन तथा लोक गीत की प्रस्तुति दी।

(Bihar) राजगीर में मलमास का पौराणिक महत्व

(Bihar) गौरतलब है कि सनातन धर्म में मलमास या अधिक मास का बहुत महत्व माना गया है। भारतीय ज्योतिष के अनुसार हर तीन साल पर अधिकमास यानी मलमास आते हैं। इस साल मलमास 18 जुलाई से 16 अगस्त तक रहेगा। मलमास को ही पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है। मान्यताओं के अनुसार इस महीने कोई भी शुभ कार्य करना वर्जित होता है।

(Bihar) लोकोक्ति है कि मलमास के पवित्र महीने में हिंदू धर्म के 33 कोटि यानी 33 करोड़ देवी देवताओं का राजगीर में वास होता है। इसलिए कुंड तथा सप्त धारा में स्नान अत्यंत शुभकारी समझा जाता है। ज्ञात रहे कुंभ की तर्ज पर राजगीर के मन मास मेला को वैश्विक पहचान दिलाने की प्रयास में बिहार सरकार के उच्चाधिकारी और मंत्री लगे हुए हैं।

(डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला नैनीताल : दिल के सबसे करीब, सचमुच धरती पर प्रकृति का स्वर्ग