News

आपदा के बीच, आपदा के दृष्टिगत इस बार नैनीताल जिले में दो दिन-दो जगह मनाया जाएगा राज्य स्थापना दिवस

समाचार को यहाँ क्लिक करके सुन भी सकते हैं

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 2 नवंबर 2021। इस बार उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस नैनीताल जनपद में मुख्यालय के अतिरिक्त जनपद के हल्द्वानी में भी मनाया गाएगा। अलबत्ता हल्द्वानी में राज्य स्थापना दिवस के कार्यक्रम अगले दिन यानी 10 नवम्बर को होंगे।

मंडलायुक्त सुशील कुमार ने मंगलवार को इस संबंध में जिला विकास प्राधिकरण सभागार में विशेष राज्य स्थापना दिवस की रूपरेखा तय करते हुए कहा कि आपदा आने से नैनीताल व मंडल में काफी क्षति हुई है साथ ही पर्यटको का आमद कम हुई है। इससे पर्यटन रोजगार को भी काफी नुकसान हुआ है। पर्यटन को बढावा देने के उद्देश्य से स्थापना दिवस को भव्य रूप से मनाया जायेगा।

इसलिए हल्द्वानी के मिनी स्टेडियम में विशेष राज्य स्थापना दिवस समारोह आयोजित होगा। इस दौरान मंडल के सांस्कृतिक दलों के साथ ही विभिन्न स्कूलों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे साथ ही विभिन्न जनपदों के विभागों एवं स्वयं सहायता समूहों द्वारा आर्कषक प्रदर्शनी लगायी जायेगी।

स्टार कलाकारों के द्वारा सांस्कृतिक संध्या का आयोजन भी किया जायेगा। उन्होंने इससे पूर्व हल्द्वानी व नैनीताल शहरों में सफाई अभियान चलाये जाने के साथ ही मुख्य सड़क मार्गो की सफाई एंव रंगरोगन कराने के निर्देश सचिव जिला विकास प्राधिकरण एवं सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : डीएम गर्ब्याल की पहल: राज्य स्थापना दिवस पर नैनीताल के पटरी से उतरे पर्यटन को पटरी पर लाने के लिए होंगे कई आयोजन

-आयोजित होगा हिमालयन फूड फेस्टिवल, नौका दौड़ प्रतियोगिताएं व हॉट एयर बैलून
डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 1 नवंबर 2021। उत्तराखंड राज्य की स्थापना की 21वीं वर्षगांठ आगामी 9 नवम्बर को भव्य तरीके से मनाई जायेगे। इस अवसर पर डीएम धीराज गर्ब्याल की पहल पर राज्य की पर्यटन राजधानी नैनीताल के गत दिनों आई दैवीय आपदा के बाद पटरी से उतरे पर्यटन को पटरी पर लाने के लिए ‘पर्यटन’ की थीम पर मनाया जाएगा।

सोमवार को डीएम धीराज सिह गर्ब्याल की अध्यक्षता में जिला कार्यालय सभागार मे आयोजित हुई बैठक में तय हुआ कि राज्य स्थापना दिवस पर पर्यटन को बढावा देने हेतु हिमालयन फू्रड फेस्टिवल, नैनी झील में नौका रेस, सेलिंग रिंगाटा यानी पाल नौकायन प्रतियोगिता व कयाकिंग के कार्यक्रम आयोजित होंगे। साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम व स्कूली बच्चो के बैंड के साथ मार्च पास्ट तथा विभिन्न विभागों व स्वयं सहायता समूहों द्वारा स्टॉल लगाये जायेंगे। फ्लैटस मैदान मे हॉट एअर बैलून कार्यक्रम भी आयोजित होगा।

जिलाधिकारी श्री गर्ब्याल ने बताया कि इस दौरान शासन से निर्देशानुसार जनपद मे सभी शासकीय, अर्द्धशासकीय भवनों को 8 व 9 नवम्बर को एलईडी लाईट से प्रकाशमान किया जायेगा तथा 9 नवम्बर को प्रातः मैराथन रेस का आयोजन भी किया जायेग। इस दौरान कारगिल शहीद मेजर राजेश अधिकारी तथा चिड़ियाघर रोड स्थित शहीद स्मारक एवं पंडित गोविंद बल्लभ पंत की मूर्तियों पर माल्यापर्ण कर श्रद्वासुमन अर्पित किये जायेंगे तथा सफाई अभियान भी चलाया जायेगा एवं स्कूली बच्चों, एनसीसी, स्काउट गाइड के बैंड के साथ मार्च पास्ट होगा।

मुख्य कार्यक्रम मल्लीताल फ्लैटस मैदान मे आयोजित होंगे। फ्लैटस मे विभागीय स्टॉल लगाये जायेंगे। आपदा के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वाले 14 डोगरा रेजीमेंट, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, पुलिस तथा कोविड वैक्सीनेशन मे अच्छा कार्य करने वाले एमओआईसी व स्वास्थ्य कार्मिकों को सम्मानित किया जायेगा। दोपहर 12 बजे से नैनी झील मे कार्यक्रम होंगे।

इस दौरान स्थापना दिवस पर पर्यटन पर्यटन को बढावा देने हेतु नैनीताल के पर्यटक स्थलों व मंदिरों को दर्शाया जायेगा तथा फ्लैटस मे स्वीप कार्यक्रम भी आयोजित होंगे। बैठक में सीडीओ डा. संदीप तिवारी, एडीएम अशोक जोशी, संयुक्त मजिस्टेट प्रतीक जैन, एसडीएम योगेश सिह, रेखा कोहली, दिनेश कुमार, डा. भागीरथी जोशी, रमा गोस्वामी, मनोज बर्मन, अरविंद गौड, अनुलेखा बिष्ट सहित अनेक अधिकारी मौजूद रहे।आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 2025 तक उत्तराखंड को देश का सबसे समृद्ध राज्य बनाने का संकल्प..

-उत्तराखंड राज्य के 21वें स्थापना दिवस पर जनपद के प्रभारी मंत्री मदन कौशिक ने केंद्र सरकार की हालिया रिपोर्ट के आधार पर बताया लक्ष्य

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 नवम्बर 2020। जनपद मुख्यालय में 21वां राज्य स्थापना दिवस सादगी से मनाया गया। मुख्य कार्यक्रम नैनीताल क्लब के शैले हॉल में आयोजित हुआ। कार्यक्रम में उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों को शहरी विकास एवं जनपद के प्रभारी मंत्री मदन कौशिक ने अंगवस्त्र भेंट कर एवं चिकित्सा विभाग के कोरोना योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग द्वारा प्रकाशित पुस्तिका ‘विकसित होता उत्तराखण्ड-बातें कम काम ज्यादा’ का मुख्य अतिथि ने विमोचन किया। इससे पूर्व प्रभारी मंत्री ने राज्य स्थापना दिवस के कार्यक्रमों की शुरुआत चिड़ियाघर रोड स्थित शहीद स्मारक पर उच्चाधिकारियों के साथ पुष्पांजलि अर्पित कर की। साथ ही गांधी एवं अम्बेडकर की मूर्तियों पर भी माल्यार्पण किया।

आज भी कांप जाती है 3 अक्टूबर को याद कर नैनीताल वासियों की रूह, दी गई शहीद को श्रद्धांजलि

इस अवसर पर अपने संबोधन में प्रभारी मंत्री कौशिक ने कहा कि उत्तराखंड केंद्र सरकार के ‘डबल इंजन’ की मदद से निरंतर प्रगति के पथ पर अग्रसर है। राज्य में एक वर्ष में तीन मेडिकल कॉलेज बने हैं। गैरसेंण को डबल लेन रोड एवं रेल लाइन से जोड़ने की योजना पर कार्य किया जा रहा है। स्थानीय लोगों को 5 करोड़ तक के काम, 25 किलोवाट तक की जल विद्युत परियोजनाएं एवं पिरूल की इकाइयां लगाने के कार्य दिए जा रहे हैं।

उन्होंने केंद्र सरकार की एक हालिया रिपोर्ट में जताई गई संभावना के आधार पर उत्तराखंड को 2025 तक देश का सबसे समृद्ध राज्य बनाने का संकल्प भी जताया। उन्होने कहा कि नीति आयोग द्वारा जारी भारत नवाचार सूचकांक में पूर्वोत्तर एवं पहाडी राज्यों की श्रेणी मे उत्तराखंड देश के तीन सर्वश्रेष्ठ राज्यो मे शामिल है। वहीं राज्य को खादयान उत्पादन मे उत्कृष्ठ प्रदर्शन के लिए दूसरी बार कृषि कर्मण प्रशंसा पुरस्कार मिला है। कार्यक्रम में पूर्व विधायक एवं राज्य आन्दोलनकारी डा. नारायण सिह जंतवाल ने राज्य को गुणवत्तायुक्त शिक्षा का हब बनाने एवं विकास में तेजी लाने की आवश्यकता जताई।

कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया, पूर्व विधायक सरिता आर्य, मंडलायुक्त अरविंद सिंह ह्यांकी, आईजी अजय रौतेला, डीएम सविन बंसल, एसएसपी सुनील कुमार मीणा, सीडीओ नरेंद्र सिह भंडारी, केएमवीएम के एमडी रोहित मीणा, एडीएम केएस टोलिया, एसएस जंगपांगी, डा. भागीरथी जोशी, रमा गोस्वामी, एलएम जोशी, विनोद कुमार, अनुराग आर्य, भाजपा नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, अरविंद पडियार, संतोष साह, कुंदन बिष्ट, राहुल, राजीव साह, तारा दत्त पांडे सहित बड़ी संख्या में गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

यह आंदोलनकारी एवं कोरोना योद्धा हुए सम्मानित
नैनीताल। राज्य स्थापना दिवस कार्यक्रम मे राज्य आन्दोलनकारी डा. नारायण सिह जंतवाल, मनोज जोशी, लीला बोरा, रघुवर नेगी, लक्ष्मीनारायण लोहनी, कंचन चंदोला, हरीश भट्ट, दिनेश मेहता, शाकिर अली, चन्द्रशेखर जोशी, नन्दाबल्लभ, पानसिह, ललित मोहन जोशी, महेश जोशी, इंदर नेगी, प्रकाश आर्य, मुन्नी तिवारी, मुनीर आलम सिद्दीकी व नवीन जोशी को शॉल भेंटकर सम्मानित किया गया। साथ ही कोविड संकमण के दौर मे चिकित्सा क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए डा. एमएस दुग्ताल, डा. अनिरूद्व गंगोला, डा. ममता पंागती, डा. पल्लवी किशोर गहतोडी, डा. मोनिका कांडपाल, डा. प्रिंयाशु श्रीवास्तव, मैट्रन शशिकला पांडे व वार्डबॉय रोहित को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

मास्क पहनकर किये लोक सांस्कृतिक कार्यक्रमों से कोरोना से बचाव का दिया संदेश
नैनीताल। राज्य स्थापना दिवस के दौरान महिला-पुरुष लोक कलाकारों के द्वारा मास्क पहनकर किए गए लोकनृत्य दर्शनीय एवं अनुकरणीय रहे। इस दौरान विशेष रूप से तैयार लोकगीतों के जरिये भी कोरोना से बचाव के संदेश दिए गए।

निकायों के अधिकारों में कटौती की कोई योजना नहीं: कौशिक
नवीन समाचार, नैनीताल, 9 नवम्बर 2020। उत्तराखंड के शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने साफ किया कि राज्य सरकार की राज्य के निकायों की शक्तियां कम करने की कोई योजना नहीं है। वह सोमवार को नैनीताल क्लब के शैले हॉल के पास राज्य स्थापना दिवस के कार्यक्रम के उपरांत पत्रकारांे के सवालों के जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि निकाय अपने कार्य करने व निर्णय लेने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का फोकस ठोस कूड़े के निस्तारण पर है। राज्य सरकार ने इस हेतु राज्य के 92 में से 70-75 निकायों को इस हेतु धनराशि जारी कर दी है, और शेष निकायों को भी धनराशि जारी की जा रही है। वर्तमान में घर-घर से कूड़ा एकत्र किये जाने का कार्य चल रहा है, आगे इसे गीले व सूखे में विभक्त करने पर जोर रहेगा। वहीं जिला विकास प्राधिकरणों के भविष्य के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस पर आज ही निर्णय हो जाएगा।

‘रूल आफ लॉ सोसाइटी’ ने की राज्य की उपलब्धियों व कठिनाइयों पर चर्चा
नैनीताल। उत्तराखंड राज्य के स्थापना दिवस के अवसर पर ‘रूल आफ लॉ सोसाइटी’ की उत्तराखंड यूनिट के तत्वावधान में नगर के गार्डन हाउस में एक विचार गोष्ठी आयोजित की गई। गोष्ठी में उत्तराखंड उच्च न्यायालय के कई अधिवक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किए तथा विगत 20 वर्षों की उत्तराखंड में उपलब्धियों व कठिनाइयों पर चर्चा की। साथ ही प्रदेश के भावी विकास के प्रयासों को भी समझने का प्रयास किया। कुछ अधिवक्ताओं ने अपने विचार आनलाइन भी रखे। इस गोष्ठी में अनुराग बिसारिया, एनएस पुंडीर, तेज सिंह बिष्ट, बीएन मौलेखी, बीरेंद्र अधिकारी, योगेश शर्मा, सिद्धार्थ भाटिया, अक्षय लटवाल, प्रिया मेवाड़ी, आदर्श तिवारी, गिरीश आर्या, शिव पांडे, आदि अधिवक्ताओं ने अपनी सहभागिता की।

यह भी पढ़ें : सेंट जोसेफ व आल सेंट के पूर्व छात्र-छात्रा हस्तियों ने साझा किया ‘रोमांस ऑफ स्कूल डेज’

-हिमालयन ईकोज कुमाऊँ साहित्य एवं कला उत्सव का दूसरा दिन: “नैनीताल ने मुझको बालक से आदमी बनाया एवं मेरे विद्यालय ने मुझको उड़ने की शक्ति प्रदान की…”

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अक्टूबर 2020। हिमालयन ईकोज कुमाऊँ साहित्य एवं कला उत्सव के दूसरे दिन की शुरुआत कुमाऊँनी लोक गीत से हुई। आगे प्रथम सत्र में प्रसिद्ध एवं पुरस्कृत लेखिका अनुराधा रॉय ने ‘ड्राउनिंग इन रिवर्स क्लाइमेट चेंज इन द हिमालयाज’ का पाठ किया। इस सत्र में अनुराधा ने उपन्यासकार के रूप में हिमालय में तकनीकी विकास के मानव जीवन पर दुष्प्रभावों को मार्मिकता से प्रस्तुत किया।

द्वितीय सत्र में ‘टूवर्ड्ज फ्रीडम: द शिमला कनेक्ट’ के द्वितीय भाग में इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ ऐडवाँस्ड स्टडीज के निदेशक मकरंद परांजपे एवं लेखक राजा भसीन ने पहले दिवस के वार्तालाप को जारी रखते हुए स्वतंत्रता संग्राम, ब्रितानिया शासन, शिमला की भूमिका, वाइस रीगल पैलेस की वास्तुकला एवं उसके जीर्णोद्धार से सम्बंधित प्रयासों पर चर्चा की।

तृतीय सत्र में ‘रोमांस ऑफ स्कूल डेज’ अर्थात् ‘विद्यार्थी जीवन के रूमानी दिन’ विषय पर नगर के सेंट जोसेफ कॉलेज के पूर्व विद्यार्थी मशहूर विज्ञापन गुरु एवं प्रखर वक्ता सुहेल सेठ और ऑल सेंट्स कॉलेज की पूर्व छात्रा गायिका शैरन प्रभाकर ने अपने छात्र जीवन की खूबसूरत यादों को ताजा किया। सुहेल ने कहा- “नैनीताल ने मुझको बालक से आदमी बनाया एवं मेरे विद्यालय ने मुझको उड़ने की शक्ति प्रदान की।”

चतुर्थ सत्र में वेलनेस एक्स्पर्ट शगुन खन्ना ने स्वस्थ एवं भरपूर जीवन व्यापन के लिए आयुर्वेद, योग एवं पारम्परिक विधियों के महत्व को बताया। पांचवे एवं आखरी सत्र में फिल्मकार रूडी सिंह ने अपनी कलात्मक कृति ‘साइट्स एंड साउंड्स ऑफ नैनीताल’ के माध्यम से नैनीताल के प्राकृतिक सौंदर्य को प्रदर्शित किया। इसके साथ ही हिमालयन ईकोज के पाँचवे एवं पहले डिजिटल संस्करण का समापन हो गया।

यह भी पढ़ें : दो दिवसीय ‘हिमालयन ईकोज कुमाऊं साहित्य एवं कला उत्सव’ हुआ प्रारंभ

-पहाड़ की संस्कृति, प्रथाओं, मान्यताओं और चीज उत्पादन पर हुई चर्चा
नवीन समाचार, नैनीताल, 10 अक्टूबर 2020। बीते वर्षों की तरह पांचवां दो दिवसीय ‘हिमालयन ईकोज कुमाऊँ साहित्य एवं कला उत्सव’ शनिवार को प्रारंभ हुआ। ‘माउंटेन पाथ्स’ अर्थात् पहाड़ी पथ विषय पर इस वर्ष के आयोजन का कोविद-19 की महामारी के दृष्टिगत सोशल मीडिया के कई प्रचलित माध्यमों पर शुभारम्भ नैना देवी मंदिर की ओर से हिमलायन ईकोज उत्सव की निदेशक जान्हवी प्रसाद के स्वागत सम्बोधन से हुआ। इस अवसर पर वक्ताओं ने अपने पहाड़ से जुड़े अनुभवों को साझा किया।

पहले दिन पहाड़ के सांस्कृतिक पहलू, शिमला के वाइस रीगल लॉज के माध्यम से भारतीय इतिहास को आकार देने वाले नेता, उत्तराखंड के पहाड़ों में स्थायी चीज व्यवसाय का निर्माण एवं हिमालय के किस्सों पर रोचक चर्चाएं हुईं। इस दौरान सत्रों की शुरुआत में जया भट्ट एवं आशीष राणा द्वारा गाये गए कुमाउनी लोक गीतों का प्रस्तुतीकरण भी किया गया। पहले सत्र में कला इतिहासकार अल्का पांडेय एवं जान्हवी प्रसाद के बीच हुई चर्चा में पहाड़ी संस्कृति एवं मान्यताओं के विभिन्न पहलुओं को छूते हुए परंपराओं एवं प्रथाओं की विस्तृत जानकारी दी गई।

दूसरे सत्र इंडियन इन्स्टिटूट ऑफ एडवांस्ड स्टडीज के निदेशक मकरंद परांजपे एवं लेखक राजा भसीन के बीच हुई चर्चा में वाइस रीगल लॉज के निर्माण, आर्किटेक्चर तथा स्वतंत्रता संग्राम से संबंधित विभिन्न आयामों पर चर्चा हुई। तीसरे सत्र में जान्हवी प्रसाद एवं प्रीतम भट्टी ने मुक्तेश्वर स्थित दारीमा चीज कारखाने की सैर कराते हुए यहां चीज बनाने की प्रक्रिया, दूध की शुद्धता, निकटवर्ती ग्रामवासियों के प्रतिभाग से लगाए महिलाओं के योगदान एवं पहाड़ों में चीज के स्थायी उत्पादन के वर्तमान एवं भविष्य पर चर्चा की गई। दिन के अंतिम एवं चौथे सत्र में लेखिका प्रियंका प्रधान की पुस्तक ‘टेल्ज ऑफ हिमालयाज’ पर कणिका सिसोदिया के साथ चर्चा हुई।

यह भी पढ़ें : कल्पनाओं में रंग भरकर जीते पुरस्कार…

-आर्ट मेला संस्था के तत्वावधान में बिसरिया शिक्षा एवं सेवा समिति के सहयोग से पांच वर्गों में चित्रकला प्रतियोगिता का हुआ आयोजन
नवीन समाचार, नैनीताल, 12 नवंबर 2019। नगर के बास्केटबॉल कोर्ट में मंगलवार को आर्ट मेला संस्था के तत्वावधान में बिसरिया शिक्षा एवं सेवा समिति के सहयोग से पांच वर्गों में चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। सर्दियों की खिली-चटख धूप में नगर के 200 से अधिक बच्चों ने प्रतियोगिता के तहत अपने वर्गों के लिए तय विषयों के अनुरुप कार्टून, वधु, नैनीताल उनकी नजर में एवं रूहों की दुनिया पर आकर्षक चित्र बनाये।

प्रतियोगिता के नर्सरी से दूसरी कक्षा के वर्ग में अरहान अब्दुल्ला, अवंतिका जोशी, हादिया अंसारी व रचना सनवाल, कक्षा 3 से 5 के वर्ग में निकिता बिष्ट, मिजवा परवीन, नैना, दिया व जन्नत अली, कक्षा 6 से 8 के वर्ग में तनीषा कुमारी, इकरा सिराज, हार्दिक चेतवाल, कशिश व चित्रा तथा 9 से 12 के वर्ग में हर्षिता आर्या, रासित रॉय, नाजिया परवीन व इकरा तथा बसंत पांडे, शानु शर्मा, करिश्मा, जिया उमर व आयुष बेलवाल को क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय तथा सांत्वना पुरस्कार दिये गये।

इसके अलावा रिजा अली को विशेष पुरस्कार तथा स्कूल चैंपियनशिप में लर्निंग ट्री चिल्ड्रन एकेडमी को प्रथम, इस्लामिया स्कूल को द्वितीय व नैनी पब्लिक स्कूल को तृतीय पुरस्कार दिये गये। आयोजन में आर्ट मेला के अनस खान, बिसरिया शिक्षा एवं सेवा समिति के अनुराग बिसरिया, श्रीमती बिसरिया, जिला बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष ज्योति प्रकाश व ओंकार गोस्वामी, सभासद गजाला कमाल, राजू टांक, सागर आर्या व सुरेश चंद्र आदि भी मौजूद रहे, जबकि मो. खुर्शीद हुसैन, शबाना खान, शिव पांडे, अनीस अहमद, खालिद भारती, तलत खान आदि ने सहयोग प्रदान किया।

यह भी पढ़ें : लेक सिटी के कार्यक्रम में दिखी ‘हमारी संस्कृति-हमारी पहचान’

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 नवंबर 2019। लेक वेलफेयर क्लब के तत्वावधान में रविवार को नैनीताल क्लब के शैले हॉल में ’हमारी संस्कृति हमारी पहचान’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ नव निर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया, विधायक संजीव आर्य व डीएम सविन बंसल ने संयुक्त रूप से किया। कार्यक्रम में छोलिया कलाकारों ने विशिष्ट जनों का स्वागत किया, वहीं क्लब की महिला सदस्यों ने परंपरागत कुमाउनी परिधानों में सजकर शगुन आखर गाकर अतिथियों का स्वागत किया और कुमाउनी संस्कृति से लोगो को रूबरू कराया।

इस मौके पर श्रीमती तोलिया ने कहा कि हमारी कुमाउनी संस्कृति हमें सीधे ईश्वर से जोड़ती है। यहां के तीज-त्यौहारों, गीत व संगीत में समाहित यहां की लोक संस्कृति ‘पेडू पाको बारो मासा जैसे गीतों के जरिये देश-विदेशों में भी सुप्रसिद्ध है। डीएम श्री बंसल ने कहा कि पर्वतीय विशेषकर कुमाउनी संस्कृति के तहत बनाये जाने वाले ऐपण काफी सुंदर एवं आकर्षक होते हैं। कुमाऊं के छोलिया, वाद्य यंत्र, गीत-संगीत को देश विदेश में सुना एवं सराहा जाता है।

इनको देखने-सुनने से सुख एवं आनंद की अनुभूति होती है। कार्यक्रम में लेक सिटी क्लब की अध्यक्षा आशा पांडे, महासचिव आभा शाह, मंजू बिष्ट, मीनू बुधलाकोटी, पल्लवी, पूर्व विधायक सरिता आर्या, पूर्व सांसद डॉ. महेंद्र पाल, कूर्मांचल बैंक के चेयरमेन विनय साह, रंगकर्मी मिथिलेश पांडे, मुन्नी तिवारी, बृजमोहन, ईशा शाह, रेखा जोशी, ज्योति ढौढियाल के अलावा बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक संस्कृति प्रमी आदि मौजूद रहे। संचालन मीता उपाध्याय ने किया।

यह भी पढ़ें : राज्य स्थापना दिवस पर अनेक हुए सम्मानित, राज्य के शहीदों को किया गया याद व प्रगति का किया गया आंकलन

-हर्षोल्लास से मनाया गया राज्य स्थापना दिवस
नवीन समाचार, नैनीताल, 9 नवंबर 2019। उत्तराखण्ड राज्य का 20वां स्थापना दिवस जनपद में पूरे हर्ष उल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर राज्य आंदोलन के शहीदों को याद किया गया। राज्य की संस्कृति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये तथा राज्य द्वारा पिछले 19 वर्षों में राज्य द्वारा अर्जित की गई प्रगति का आंकलन किया गया।
इस मौके पर मुख्यालय में आयोजित मुख्य कार्यक्रम आयोजित किये गये। कार्यक्रमों की शुरुआत प्रातः 9 बजे चिडि़याघर रोड स्थित शहीद राज्य आंदोलनकारी स्मारक पर डीएम सविन बंसल, एसएसपी सुनील कुमार मीणा व अन्य गणमान्य नागरिकों ने श्रद्धासुमन अर्पित कर की गई। इसके उपरान्त डीएसए मैदान में आयोजित विकास मेले एवं प्रर्दशनी का मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री के सचिव एवं आयुक्त कुमाऊं मंडल राजीव रौतेला ने फीता काट कर शुभारंभ किया, तथा प्रदर्शनी में लगे स्टॉलों का निरीक्षण भी किया व बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के कार्यक्रम के अन्तर्गत फ्लैट्स व रिक्शा स्टैंड में बनाई जा रही वॉल पेंटिंग का भी निरीक्षण किया।
इस मौके पर श्री रौतेला ने 20वे राज्य स्थापना दिवस की सभी को बधाई देते हुए राज्य निर्माण के सभी ज्ञात-अज्ञात अमर शहीदों एवं शहीद आंदोलनकारियों को श्रद्धापूर्वक नमन किया। कहा कि विगत 19 वर्षों में उत्तराखण्ड ने देश के अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है। आगे उन्होंने विकास की रोशनी को दूर-दराज के इलाको में रह रहे गरीबों के घरों तक पहुंचाने का लक्ष्य बताया। क्षेत्रीय विधायक संजीव आर्य ने अमर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि प्रदेश और देश के समग्र विकास और खुशहाली के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देना ही शहीद राज्य आन्दोलनकारियों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इस दौरान सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग के कलाकारों के द्वारा प्रदेश की कुमाउनी व गढ़वाली लोक लोक संस्कृति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। नन्ही बालिका अवर्णिका जोशी के कुमाउनी लोक नृत्य पर डीएम एवं कमिश्नर ने अपनी ओर से नगद पुरस्कार भेंट किये। कार्यक्रम में राज्य आन्दोलनकारी राजीव लोचन शाह, पान सिंह रौतेला, डीडी रुबाली ने भी विचार रखे। कार्यक्रम में निर्वाचन, पर्यटन, उरेडा, बाल विकास, चिकित्सा, पशुपालन, कृषि, उद्यान, मत्स्य, रेशम, उद्योग, शिक्षा, ग्राम्य विकास, दुग्ध विकास, चाय, राजस्व विभाग, सहित स्वयं सहायता समुहो द्वारा स्टॉल लगाए गए। कार्यक्रम में डीएम सविन बंसल, सीडीओ विनीत कुमार, एडीएम एसएस जंगपांगी, कैलाश सिंह टोलिया, एसडीएम विनोद कुमार, के अलावा पूर्व सांसद डा. महेंद्र पाल, डा. रमेश पांडे, राज्य आंदोलनकारी मनोज जोशी, रईस भाई, पूरन मेहरा, कुंदन नेगी, चंद्रशेखर जोशी ‘पप्पन’, मुन्नी तिवारी, गिरीश जोशी, ललित जोशी व खष्टी बिष्ट सहित अनेक राज्य आंदोलनकारी एवं क्षेत्रीय जनता व गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

स्वीप प्रतियोगिता के विजेता सहित अनेक हुए पुरस्कृत

नैनीताल। राज्य स्थापना दिवस के मौके पर लोक सभा चुनाव के दौरान मतदाता जागरूकता कार्यक्रम स्वीप के तहत लघु फिल्म प्रतियोगिता में स्थान प्राप्त करने वाले आकाश नेगी, मदन मेहरा व वैभव जोशी एवं लघु गीत प्रतियोगिता में नितेश बिष्ट, सुरेन्द्र कुमार, डॉ.मनोज बिष्ट को 10, 7.5 व 5 हजार रुपए के चेक व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा अपने क्षेत्रों में बेहतर कार्य करने पर एसीएमओ डा. रश्मि पंत, डा. अरुण जोशी, डा. .बलवीर सिंह, एपीडी संगीता आर्या, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, प्रोवेशन अधिकारी व्योमा जैन, शिक्षक ताहिर हुसैन, कमला भट्ट, राजेंद्र पांडे, स्वच्छ भारत अभियान में देश में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय की एनएसएस टीम, दौड़ के बालिका वर्ग में ज्योति फर्त्याल, ज्योति बिष्ट, हेमा बिष्ट, बालक वर्ग में तुषार नेगी, विवेक कुमार, अंकेश राज, महिला वर्ग में नमित राणा, हीरा राणा, सुमन राणा, पुरुष वर्ग में जितेन्द्र, ललित मोहन पंत को प्रशस्ति पत्र व प्रतीक चिंह देकर सम्मानित किया गया।

राज्य आंदोलनकारियों ने सम्मान न मिलने पर जताई नाराजगी

नैनीताल। कार्यक्रम के दौरान कुछ राज्य आंदोलनकारियों ने निजी तौर पर सम्मान न मिलने का आरोप लगाते हुए नाराजगी भी जताई। उल्लेखनीय है कि पिछले एक दशक में हर वर्ष पर राज्य आंदोलनकारियों की नाराजगी राज्य आंदोलन के कार्यक्रम में इस कारण से नजर आती है कि उन्हें कार्यक्रम हेतु सम्मानपूर्वक आमंत्रित नहीं किया जाता और विचार रखने का अवसर नहीं दिया जाता। कार्यक्रम हेतु जनपद के राज्य आंदोलनकारियों के नाम जिला कलक्ट्रेट में उपलब्ध होते हैं, परंतु उनकी सूची नहीं ली जाती है।

यह भी पढ़ें : अंग्रेजी में आयोजित हुए कुमाऊं साहित्य मेला ‘हिमालयन ईको’ज’ में नेपाली बाला मनीषा कोइराला सहित कई विदेशी मेहमान पहुंचे…

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 अक्टूबर 2019। पिछले कुछ वर्षों से नगर में आयोजित हो रहे कुमाऊं फेस्टिवल ‘हिमालयन ईको’ज’ की शनिवार को शुरुआत हो गई। नगर के ओक पार्क क्षेत्र में स्थित पूर्व केंद्रीय मंत्री जीतेंद्र प्रसाद के प्रसादा भवन में कमोबेश अंग्रेजी माध्यम में आयोजित होने वाले इस कुमाऊं व हिमालय के नाम पर होने वाले आयोजन में भाग लेने के लिए बॉलीवुड की नेपाली मूल की अभिनेत्री रहीं मनीषा कोइराला भी पहुंची हैं। साथ ही डा. पुष्पेश पंत, अनीश दयाल, स्फीफन अल्टर व सैफ मोहम्मद सरीखी सहित साहित्य एवं पत्रकारिता से जुड़ी कई हस्तियां पहुंची हैं। आयोजन में पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद, जान्हवी प्रसाद आदि भी योदगान दे रहे हैं। अभिनेत्री मनीषा कोइराला आयोजन में पहुंचने के बाद सीधे अपने कक्ष में चली गईं। उनके रविवार के सत्र में शामिल होने की संभावना है। उल्लेखनीय है कि मनीषा नगर के ही मोहन लाल साह बालिका विद्या मंदिर से पढ़ी हैं।
पहले दिन जान्हवी प्रसाद का स्वागत उद्बोधन, केथी मैकुलॉ का बीज संबोधन, स्टीफन अल्टर व दलीप अकोई के बीच वाइल्ड हिमालया, रोजमैरी जैनकिंसन व नमिता गोखले के बीच रीडिंग आयरलेंड, चारमाइन ओ ब्रायन व स्वपन सेठ के बीच रूट्स ऑफ कनेक्शन-जर्नी इन कंटम्परेरी इंडियन फूड, नौला मकीवर व कैथी मैकुलॉ के बीच द आर्ट ऑफ लाफ्टर एवं अजॉय सोदानी व सत्यानंद निरुपम के बीच डरा डरा हिमालय विषय पर बातचीत हुई। वहीं दूसरे दिन कैथलीन न्यूमैन व अनिल बिष्ट के बीच नर्शिंग नॉलेज, वाणी प्रकाशन से प्रकाशित पुस्तक हरी भरी उम्मीद पर शेखर पाठक व दीपा अग्रवाल, एवरेस्ट के सोलूखंबू में पड़ने वाली परछाई पर लीसा चोइग्याल व स्वपन सेठ, मनीषा कोइराला व पुष्पेश पंत, मरयम रेशी व तराना खान एवं सचिन पायलट व सैफ महमूद के बीच ‘युवा भारत क्या चाहता है’ विषय पर चर्चा के कार्यक्रम तय हैं।

यह भी पढ़ें : भव्य शोभायात्रा के साथ मनाया गया महर्षि वाल्मीकि का प्रकटोत्सव, आरएसएस ने भी किया विशेष आयोजन

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 अक्टूबर 2019। सरोवर नगरी में रामायण के रचयिता महर्षि वाल्मीकि का प्रकट दिवस बेहद हर्षोल्लास एवं भव्य शोभायात्रा के साथ मनाया गया। इस अवसर पर तल्लीताल वाल्मीकि मंदिर समिति से वाल्मीकि महाराज का डोला माल रोड होते हुए वाल्मीकि मंदिर सदर लाइन मल्लीताल पहुंचा। जहां आरती के उपरांत प्रसाद वितरण एवं भंडारा आयोजित हुआ। इस दौरान हाईकोर्ट के कर्मचारियों की ओर से नगर पालिका नर्सरी विद्यालय में तथा जहारबीर पोगाजी महाराज सेवा दल की ओर से मल्लीताल एसबीआई के सामने एवं वी-स्टार ग्रुप के द्वारा मल्लीताल सदर में भंडारों एवं प्रसाद वितरण आयोजित किया गया।
इससे पूर्व शोभायात्रा का उद्घाटन स्थानीय विधायक संजीव आर्य ने किया। शोभायात्रा में महर्षि वाल्मीकि के साथ भगवान श्रीराम एवं रामभक्त हनुमान आदि की झांकियां शामिल रहीं। साथ ही रामनगर के अखाड़ों के कलाकारों ने नृत्य व करतबों का प्रदर्शन किया। आयोजन में गत दिनों आयोजन के लिए 50 हजार रुपए देने वाले नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी, अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा, भाजपा नेता गोपाल रावत, अरविंद पडियार के साथ सभी पालिका सभासद, वाल्मीकि समाज के सरपंच मनोज पवार, उपाध्यक्ष कमल कटियार, महासचिव दिनेश कटियार, उप सचिव रवि सौदा, तल्लीताल मंदिर समिति के अध्यक्ष राजन, महासचिव धीरज कटियार, आश्रम समिति के मुकेश कुमार भोलू, महासचिव विकास मरदान, देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष धर्मेश प्रसाद, महासचिव सोनू सहदेव, उपाध्यक्ष संजय भगत, व पंचायत सभा के अध्यक्ष मुन्ना लाल व महासचिव प्रदीप सहदेव के साथ विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी, समाज के सरदार व महिलाएं-बच्चे आदि बढ़चढ़ कर जोश के साथ शामिल रहे।

आरएसएस ने भी किया विशेष कार्यक्रम

नैनीताल। महर्षि वाल्मीकि प्रकटोत्सव पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की नैनीताल नगर की शिवाजी शाखा सूखाताल द्वारा चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें 113 बाल स्वयं सेवकों ने हनुमान जी के चित्र बनाए। साथ ही संघ के जिला सह प्रचार प्रमुख अंचल पंत द्वारा नीब करोरी महाराज की अनन्य भक्त राम रानी के नाम से पहचानी जाने वाली अमेरिका के टेक्सास यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर रहीं युवत्त रोस्सेर द्वारा प्रकाशित रामायण में वर्णित हनुमान जी की कथा पर केंद्रित रंगीन कहानी की पुस्तिका का वितरण किया गया। संजीव मंडल ने महर्षि वाल्मीकि के जीवन पर प्रकाश डाला। बुजुर्ग केसी पंत व नगरपालिका के पूर्व सभासद प्रेम सागर ने भी विचार रखे। संचालन नगर कार्यवाह सुयश पंत तथा विश्वकेतु वैद्य ने किया। कार्यक्रम में नगर व्यवस्था प्रमुख धर्मेंद्र, भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोपाल रावत ने उल्लेखनीय योगदान दिया। पुरस्कार वितरण बाल दिवस 14 नवम्बर को प्रश्नोत्तरी एवं खेलकूद प्रतियोगिता के साथ किया जाएगा।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply