Court News News

बड़ा समाचार : आज लालकुआं रेलवे स्टेशन पर सीबीआई की छापेमारी से मचा रहा हड़कंप, रेलवे का अधिकारी 7 हजार की रिश्वत लेते धरा गया…

नवीन समाचार, लालकुआं 8 दिसंबर 2022। उत्तराखंड के लालकुआं रेलवे स्टेशन में गुरुवार को सीबीआई यानी केंद्रीय जांच ब्यूरो ने वणिज्य विभाग के अधीक्षक को एक्सप्रेस ट्रेन में माल बुकिंग के ऐवज में सात हजार रुपये की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपित को सीबीआई देहरादून लेकर चली गई है। बताया गया है कि शुक्रवार को उसे सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। सीबीआई की इस छापेमार कारवाई से क्षेत्र में हडकंप मचा रहा। यह भी पढ़ें : काबीना मंत्री के निजी सचिव व विभागाध्यक्ष के खिलाफ मुकदमा दर्ज…

सीबीआई से मिली जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता राजेश पासवान निवासी बरेली ने बुधवार 7 दिसंबर को ने सीबीआई के मेल पर शिकायत भेजी थी कि आरोपित वाणिज्य अधीक्षक राजेंद्र तोमर अक्सर रिश्वत की मांग करता है। इधर हावड़ा ट्रेन में माल बुकिंग की एवज में वाणिज्य अधीक्षक ने 7000 की रिश्वत की मांग की है। शिकायतकर्ता ने रिश्वत मांगने की रिकॉर्डिंग भी अपने पास रखी थी। यह भी पढ़ें : दिल्ली चुनाव में उत्तराखंड भाजपा कितनी पास-कितनी फेल, उत्तराखंडियों ने किसे दिया वोट

इस शिकायत पर सीबीआई ने तत्काल ही आज यानी शिकायत के अगले दिन ही सीबीआई इस्पेक्टर देहरादून सुनील कुमार लखेड़ा के नेतृत्व में योजना के तहत वणिज्य विभाग के वाणिज्य अधीक्षक तोमर को शिकायतकर्ता से सात हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा। उसके कार्यालय में तलाशी के दौरान 7 हजार रुपये नगद तथा कागजात बरामद हुऐ जिन्हें सीबीआई की टीम अपने साथ ले गई। शाम तक चली इस कार्रवाई में आधा दर्जन से अधिक सीबीआई के लोग शामिल रहे। आरोपित के विरुद्ध मुकदमा भी दर्ज कर लिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने अपने ही रजिस्ट्री कार्यालय के खिलाफ सीबीआई से जांच कराने के दिए आदेश

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 नवंबर 2022। उत्तराखंड उच्च न्यायालय के एक फर्जी आदेश के जरिये दिल्ली की अदालत में लाभ लेने की कोशिश किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले को बेहद गंभीरता से लेते हुए उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने अपने ही रजिस्ट्री कार्यालय के खिलाफ सीबीआई से जांच कराने के आदेश दिए हैं। यह भी पढ़ें : नैनीताल Breaking : देर शाम महिला पर गुलदार ने किया हमला, सिर से दबोचा, गंभीर अवस्था में रेफर, सांसद ने दिए डीएम को निर्देश

मामला दिल्ली की अंगेलिया हाऊसिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के देहरादून में स्थित करोड़ों मूल्य की भूमि से जुड़ा हुआ है। बताया गया है कि उच्च न्यायालय में अंगेलिया कंपनी की इस जमीन के प्रकरण को लेकर साल 2004 में एक मामला विचाराधीन था। वर्ष 2013 में प्रकाश में आया कि मामले को लेकर उत्तराखंड उच्च न्यायालय के एक फर्जी आदेश के जरिये कुछ लोगों ने दिल्ली की अदालत में लाभ लेने की कोशिश की। यह भी पढ़ें : शिक्षा विभाग के आधिकारिक उद्घोषक नियुक्त

कंपनी के निदेशक संतोष बागला को जब इसका पता चला तो उन्होंने इस मामले की जानकारी एक पत्र के माध्यम से 2013 में न्यायालय के रजिस्ट्रार कार्यालय के माध्यम से उत्तराखंड उच्च न्यायालय को दी। तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश वारिन घोष ने इस मामले में आंतरिक जांच के साथ ही तत्कालीन रजिस्ट्रार को पुलिस में अभियोग पंजीकृत करने के निर्देश दिए। नैनीताल के मल्लीताल स्थित कोतवाली में अभियोग पंजीकृत कर लिया गया। चूंकि मामला दिल्ली से जुड़ा था इसलिए पूरे प्रकरण को दिल्ली पुलिस को भेज दिया गया। यह भी पढ़ें : सबक लेने को तैयार नहीं लड़कियां, मेरठ के लड़के से शादी के लिए हल्द्वानी पहुंची बागेश्वर की लड़की, मानने को तैयार नहीं…

लेकिन, दिल्ली पुलिस तब तक इस मामले में अंतिम रिपोर्ट लगा चुकी थी, लेकिन मुख्य न्यायाधीश ने मामले का संज्ञान लेते हुए इसको आपराधिक वाद में तब्दील कर दिया और 2013 में उच्च न्यायालय में इस मामले में आपराधिक याचिका दायर कर ली। मामले की सुनवाई न्यायमूर्ति शरद कुमार शर्मा की पीठ में हुई। यह भी पढ़ें : नैनीताल के 70 वर्षीय बुजुर्ग ने 1600 फिट की ऊंचाई कूदने का किया कारनामा….

इसी बीच अंगेलिया हाऊसिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के निदेशक संतोष बागला ने प्रार्थना पत्र देकर अदालत से इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की। अदालत ने मामले में इसी साल अप्रैल माह में फैसला सुरक्षित रख लिया था। अंगेलिया कंपनी के अधिवक्ता आरपी नौटियाल और प्रशांत खन्ना ने बताया कि अदालत ने फैसला देतेे हुए अपनी ही रजिस्ट्री के खिलाफ सीबीआई जांच के निर्देश दिये हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply