News

चुनाव में वोट के लिए नोट-शराब बांटने वालों पर नैनीताल पुलिस की बड़ी चोट: करीब 3 लाख की नगदी व सैकड़ों लीटर अवैध कच्ची, देशी व विदेशी शराब बरामद

समाचार को यहाँ क्लिक करके सुन भी सकते हैं

In last one year many were arrested for human trafficking ...नवीन समाचार, हल्द्वानी, 21 जनवरी, 2021। नैनीताल पुलिस ने आज आचार संहिता का उल्लंघन कर ले जाई जा रही दो लाख 93 हजार 500 रुपए की धनराशि बरामद की। इसमें से दो लाख रुपए एक वीआईपी नंबर की कार से काठगोदाम थानाध्यक्ष प्रमोद पाठक के नेतृत्व में चौकी मल्ला काठगोदाम के बैरियर चेकिंग पर एक इनोवा कार से बरामद की गई है। यह रुपए कार के डैशबोर्ड के अन्दर एक पॉलीथिन में 500 के 240 नोट, 200 के 100 नोट व 100 रुपये के 600 नोट के रूप में रखे गए थे।

वाहन मालिक लोहरियासाल मल्ला मुखानी निवासी राजेश रावत इन रुपयों के बारे में कुछ नहीं बता सके। इसके बाद पुलिस ने रुपयों को सील कर दिया और इसकी सूचना इनकम टैक्स विभाग को दी। पुलिस टीम में एसआई लता खत्री, एसआई विरेन्द्र चन्दर तथा आरक्षी चेतना मटियाल, रमेश काला, रवि कुमार, एसएसटी टीम मल्ला काठगोदाम प्रभारी शिव सिंह डांगी, डिप्टी रेंजर तराई पूर्वी, वन दरोगा दीप चन्द्र पाण्डेय आदि शामिल रहे।

इसके अलावा बेलबाबा मंदिर रामपुर रोड के पास क्रेटा कार संख्या पीबी47ई-0076 से चालक जगजोत सिंह निवासी बिलासपुर उत्तर प्रदेश के कब्जे से 93 हजार 500 रुपए की धनराशि जब्त की गई। बताया गया कि 50 हजार रुपए से अधिक की नगदी ले जाना चुनाव आचार संहिता के अंतर्गत गैरकानूनी है।

इसके अलावा हल्द्वानी पुलिस ने गोरापड़ाव में मोहन सिंह उर्फ पप्पू के कब्जे से देशी शराब के 240 पव्वे व अंग्रेजी शराब के 144 पव्वे बरामद किए गए हैं। इसके अलावा कैलाखेड़ा से यूके18ब-3930 से रेशम सिंह पुत्र स्वर्गीय बहादुर सिंह के कब्जे से 130 पाउच अवैध कच्ची शराब बरामद की गई है। इसी तरह हल्द्वानी में मुखानी चौराहे के पास से एक व्यक्ति के कब्जे से लगभग 40 मीटर अवैध कच्ची शराब पकड़ी गई है।

उधर देवेंद्र नैनवाल नाम के व्यक्ति को मोटाहल्दू गौला गेट के पास 105 पाउच कच्ची शराब के साथ पकड़ा गया है। इसी तरह अनूप कुमार टम्टा निवासी जागनाथ कॉलोनी दमुवाढूंगा को 6 पेटी अवैध शराब के साथ और लालकुआं कोतवाली के अंतर्गत 5 लोगों को 5 मोटरसाइकिलों के साथ 300 लीटर अवैध कच्ची शराब के साथ पकड़ा गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: सीएम धामी पर हल्द्वानी में आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, नोटिस जारी

उत्तराखंड में बीजेपी विधायक पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, चुनाव आयोग  ने मांगा जवाब - up and uttarakhand Election 2022 allegation of violating  code of conduct on bjp MLA chandanनवीन समाचार, हल्द्वानी, 16 जनवरी 2022। हल्द्वानी के रिटर्निंग ऑफीसर ने रविवार को भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट को आचार संहिता के उल्लंघन नोटिस भेजा है। बिष्ट ने तीन दिन के भीतर नोटिस का जवाब देने को कहा गया है। उल्लेखनीय है कि नोटिस मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के गत 15 जनवरी को हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल के दौरे को लेकर दिया गया है।

नोटिस में बताया गया है कि हल्द्वानी आनंदपुरी तल्ली बमौरी निवासी सामाजिक कार्यकर्ता बी चंद ने ईमेल से आयोग को शिकायत भेजी है कि मुख्यमंत्री धामी ने 15 जनवरी को भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के साथ सुशीला तिवारी अस्पताल का दौरा कर आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया है। इसी आरोप पर यह नोटिस भेजा गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : चुुनाव के बीच दहलाने की साजिश नाकाम ! 10 तमंचों व 22 कारतूसों के साथ एक महिला सहित तीन लोग गिरफ्तार

प्रतीकात्मक चित्र

नवीन समाचार, किच्छा, 14 जनवरी 2022। जनपद ऊधमसिह नगर पुलिस ने थानाध्यक्ष पुलभट्टा के नेतृत्व में थाना पुलभट्टा से लगती हुई पड़ासी राज्य यूपी के जनपद बरेली की सीमा पर कार्रवाई करते हुये शुक्रवार को 10 तमंचों व 22 कारतूसों के साथ एक महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। माना जा रहा है कि इस तरह आगामी विधानसभा चुुनाव के बीच दहलाने की साजिश नाकाम कर दी गई है।

बताया गया है कि आज पुलिस ने जांच के दौरान एक स्लेटी रंग की ईको कार यूपी25सीवाई-3696 को वैरियर लगाकर रोकने का प्रयास किया तो कार चालक द्वारा कार को पीछे मोड़ कर वापस भागने लगा। किन्तु पुलिस टीम ने कार को सीमा पर ही पकड लिया। कार में कार चालक के अतिरिक्त एक महिला व एक पुरुष कुल तीन व्यक्ति सवार थे। उनसे तलाशी में कुल 10 तंमचे व 22 कारतूस बरामद हुये, जिसे विधान सभा चुनाव को देखते हुये किच्छा क्षेत्र में ऊंचे दामो पर बेचने के लिए ले जाना बताया गया।

तीनों के खिलाफ आर्म्स एक्ट की धारा 3/25 के तहत कार्रवाई की गई है। आरोपितों 37 वर्षीय मतलूब खान पुत्र बुन्दन खान निवासी वार्ड नंबर 6 मौहल्ला कागर थाना शेरगढ जिला बरेली, 24 वर्षीय राकेश कुमार पुत्र जागन लाल निवासी कस्वा शेरगढ वार्ड नंबर 1 थाना शेरगढ जिला बरेली व 24 वर्षीय गीता देवी पत्नी राकेश कुमार निवासी वार्ड नंबर 1 कस्बा शेरगढ जिला बरेली (उत्तर प्रदेश) को गिरफ्तार किया गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा व कांग्रेस के दावेदारों सहित कई राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर चुनाव आयोग का चाबुक…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 14 जनवरी 2022। आगामी विधानसभा चुनाव की आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद प्रशासन सक्रिय हो गया है। आचार संहिता के उल्लंघन में एक के बाद एक कार्रवाइयां की जा रही हैं।

इसी कड़ी में ऊधमसिंह नगर जनपद में किच्छा विधानसभा से भाजपा से टिकट के दावेदार भाजयुमो जिलाध्यक्ष श्रीकांत राठौर को एडीएम ने जिला बदर कर दिया। पुलिस ने जिला बदर का आदेश उसके नई सुनहरी स्थित घर पर चस्पा कर दिया है। बताया गया है कि उसके खिलाफ वर्ष, 2017 में गुंडा एक्ट की कार्रवाई की गई थी। इसके अलावा भी जनपद पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ भी गुंडा एक्ट की धारा 110 जी के तहत कार्रवाई की गई है।

इसके अलावा डीडीहाट विधानसभा से कांग्रेस के दावेदार प्रदीप पाल तथा प्रदेश सचिव प्रशांत भंडारी, पूर्व दर्जा राज्यमंत्री हरीश उपाध्याय, खीमराज जोशी, हिमांशु ओझा के खिलाफ स्थानीय प्रशासन ने आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। सभी पर आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा धारा 188 और 51बी के तहत भी मुकदमा दर्ज किया गया है। यह कार्रवाई गत 11 जनवरी को इन कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा जिला मुख्यालय स्थित लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में बैठक करने को लेकर की गई है।

इस मामले में अन्य 10 से 15 लोगों के विरुद्ध भी कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। यह भी पता लगाया जा रहा है कि गेस्ट हाउस में बैठक करने की अनुमति किसने दी। बताया गया है कि इस बैठक में पूर्व सीएम हरीश रावत को डीडीहाट से प्रत्याशी घोषित करने के लिए मंत्रणा हुई थी। निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुसार सरकारी भवनों में राजनीतिक दल बैठक नहीं कर सकते हैं, खासकर तब जब कोविड गाइडलाइन भी लागू है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस नेता ने विधायक की पिछले वर्ष के कृत्य को लेकर की आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत !

CG ब्रेकिंग: कर्मचारी सहित शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी, ड्यूटी से थे  नदारद | CG Breaking: Show cause notice issued to teachers including  employees, were absent from duty | CG ...सुमित हृदयेश सहित भाजपा, कांग्रेस, आप के कई नेताओं को भी आयोग का नोटिस

नवीन समाचार, बागेश्वर/हल्द्वानी, 11 जनवरी 2022। कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री बालकृष्ण ने भाजपा विधायक चंदन राम दास पर 9 जनवरी 2021 को अणां गांव में एक सार्वजनिक समारोह में ग्रामीणों को तबला-हारमोनियम आदि वाद्य यंत्र बांटकर चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग को शिकायत भेजी है। इस पर आयोग ने विधायक दास को नोटिस भेजकर 24 घंटे के भीतर जवाब देने को कहा है।

इस मामले में विधायक दास ने कहा कि नोटिस का जवाब दिया जाएगा। कहा कि यह शिकायत वर्ष 2021 की है तब हो सकता है कि वे उस दिन अणां गांव में होंगे। लेकिन तब आचार संहिता नहीं थी। पता नहीं कांग्रेस नेता कैसी शिकायत कर रहे हैं। जबकि रिटर्निंग आफीसर हरगिरी ने बताया कि चुनाव आचार संहिता के मामले में विधायक की शिकायत आई थी। उन्हें नोटिस भेजा गया है। 24 घंटे के भीतर जवाब मांगा है। यदि जवाब नहीं आया तो अग्रिम कार्रवाई होगी।

बताया जा रहा है कि वास्तव में कांग्रेस नेता 9 जनवरी 2022 की शिकायत करना चाह रहे थे, परंतु उन्होंने जल्दबाजी में 2022 की जगह गलतीसे 2021 लिख दिया। विधायक ने इस गलती को पकड़ कर उनहें घेर लिया।

इधर हल्द्वानी में नैनीताल जनपद में भी आयोग की ओर से मंगल पड़ाव स्थित आंचल के सहायक निदेशक को सोमवार को आयोजित कार्यक्रम में सामाजिक दूरी का पालन न करने पर, भाजपा के कमलेश चंदोला को जग्गीबंगर हल्दूचौड़ में 5 से अधिक लोगों के साथ जनसंपर्क करने पर, काबीना मंत्री बंशीधर भगत के जनसंपर्क अधिकारी अमन वर्मा व आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष संतोष कबडवाल को बेल-बसानी गांवों में जनसंपर्क अभियान चलाने पर तथा कांग्रेस नेता सुमित हृदयेश को सोमवार को बाजार क्षेत्र में इंदिरा विकास संकल्प यात्रा के दौरान आचार संहिता व धारा 144 का उल्लंघन करने पर 24 घंटे के भीतर जवाब देने का नोटिस भेजा है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उच्च न्यायालय कर्मी से अभद्रता, घर में काम करने वाले पति-पत्नी गिरफ्तार कर जेल भेजे

गुजरात से भागे जहरखुरान पति-पत्नी हल्द्वानी में पकड़े, सूरत पुलिस को सौंपेडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 5 जनवरी 2022। उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थित महाधिवक्ता कार्यालय के एक कर्मी से अभद्रता करने के आरोप में पुलिस ने पति-पत्नी को गिरफ्तार किया है। बाद में उन्हें न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार उच्च न्यायालय के वरिष्ठ वाद अधीक्षक राकेश चंद्र की शिकायत पर हाईकोर्ट परिसर निवासी पति पत्नी विनोद व ममता के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 332, 504 व 427 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। कोतवाल धर्मवीर सोलंकी ने बताया कि आरोपित पूर्व में शिकायत कर्ता के घर में कार्य करते थे। बीच में उन्होंने काम छोड़ दिया था तो शिकायतकर्ता ने दूसरों को काम पर रख लिया।

लेकिन वह वापस घर में आकर काम करने लगे। मना करने पर उन्होंने अभद्रता कर दी और फाइलें भी क्षतिग्रस्त कर दीं। मुकदमा दर्ज होने के बाद भी दोनों आरोपितों ने कार्यालय में जाकर अभद्रता की। इस पर दोनों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया, न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 6 माह के लिए जिला बदर गुंडा-‘हड्डी’ 4 माह बाद ही अपने घर पर मिला, गिरफ्तार…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 3 जनवरी 2022। गत अगस्त माह में में जिलाधिकारी नैनीताल के आदेशों पर छह माह की अवधि के लिए गुंडा अधिनियम की धारा 3(3) के तहत गुंडा घोषित कर जिला बदर किया गया आरोपित चार माह बाद ही क्षेत्र में घूमता मिला। मामला 26 अगस्त 2021 को जिला बदर किए गए 40 वषी्रय पृथ्वीराज सिंह उर्फ पप्पू हड्डी पुत्र महेंद्र सिंह निवासी सद्भावना कॉलोनी पीली कोठी मुखानी हल्द्वानी का है।

मुखानी थाने की पुलिस टीम को की जा रही निगरानी के तहत सोमवार को वह अपने घर पर मौजूद मिला। जिलाधिकारी के आदेश की अवहेलना किए जाने पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया और थाना मुखानी में गुंडा अधिनियम की धारा 3/10 के तहत उसके विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किया गया। उसे गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में उप निरीक्षक संजय कुमार तथा आरक्षी नरेंद्र राणा व नरेंद्र ढोकती शामिल रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : एनआई एक्ट के मामले में व्यवसायी सहित दो गिरफ्तार

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 18 दिसंबर 2021। नगर की मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने शनिवार को चेक बाउंस के मामले में वांछित 50 वर्षीय आरोपित व्यवसायी हरीश लूथरा पुत्र अमृतलाल लूथरा निवासी गार्डन हाउस मल्लीताल नैनीताल को गिरफ्तार किया। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपित पर एनआई एक्ट की धारा 138 के अंतर्गत कोतवाली मल्लीताल में मुकदमा दर्ज था।

इस मामले में आरोपित न्यायालय में उपस्थित नहीं हो रहा था, इसलिए उसके विरुद्ध न्यायालय से गैर जमानती वारंट जारी हुआ था। इस पर कोतवाली के उपनिरीक्षक हरीश सिंह व चीता मोबाइल में नियुक्त आरक्षी संजय कुमार ने उसे शनिवार को मोहन को चौराहे पर स्थित उसकी दुकान से गिरफ्तार किया तथा न्यायालय के समक्ष पेश किया।

उधर भीमताल में भी पुलिस ने गैर जमानती वारंट के आधार पर 2019 के एनआई एक्ट के मामले में ही 50 वर्षीय आरोपित अरुण टम्टा पुत्र मनोहर लाल टम्टा निवासी गोरखपुर चौराहा भीमताल को एसआई शंकर नयाल व आरक्षी धीर सिंह ने उसके घर से गिरफ्तार किया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस ने तीन वारंटी किए गिरफ्तार, कुर्की के बाद और तीन-चार वर्षों से थी तलाश

रिंगनोद - दो स्थानों पर दबिश देकर पुलिस ने जुआ खेलने वालों को किया गिरफ्तार,  नगदी सहित 10 दुपहिया वाहन किए जप्त - ChetakTimes.comडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 15 दिसंबर 2021। नैनीताल पुलिस ने जनपद की एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी द्वारा चलाए जा रहे ‘ऑपरेशन सर्च’ के तहत तीन वारंटियों को गिरफ्तार कर जेल भेजने में सफलता पाई है। इनमें एक वारंटी सैकड़ों किलोमीटर दूर कानपुर उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसा आरोपित प्रमोद कुमार पुत्र केदार राम निवासी अम्बेडकर नगर थाना चकेरी जिला कानपुर के खिलाफ न्यायालय से गैर जमानती वारंट एवं कुर्की के आदेश पारित हुए थे। उसे कानपुर उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा 23 वर्षीय राहुल वाल्मीकि पुत्र स्वर्गीय काली चरण निवासी गाँधी नगर खिचड़ी मौहल्ला थाना बनभूलपुरा नैनीताल वर्ष 2018 में एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/20 के तहत आरोपित था। उसे गाँधीनगर पार्क से गिरफ्तार किया गया। साथ ही 28 वर्षीय मखमूर आलम उर्फ शिंकू पुत्र स्वर्गीय तनवीर आलम निवासी क्रबिस्तान गेट के पास थाना बनभूलपुरा जिला नैनीताल को वर्ष 2017 के एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/18/21 के तहत चोरगलिया रोड रेलवे फाटक के पास से गिरफ्तार किया गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पहाड़ की युवती को जबरन शादी के लिए आपत्तिजनक वीडियो सोशल मीडिया में डालने वाला आरोपित यूपी से गिरफ्तार

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 13 दिसंबर 2021। शहर की एक युवती की आपत्तिजनक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल कर उस पर जबरन शादी का दबाव डालते हुए बदनाम करने की धमकी देने वाला युवक उत्त्तर प्रदेश के औरैय्या से गिरफ्तार कर लिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गत अगस्त माह में एक युवती ने पिथौरागढ़ कोतवाली में तहरीर देकर खुद का नाम मोनू बताने वाले युवक द्वारा उसकी आपत्त्तिजनक वीडियो व्हाट्सएप के गु्रप में डालने और उसे अश्लील मैसेज भेजने तथा जबरन शादी के लिए बदनाम करने की धमकी देने की शिकायत की थी। युवती की तहरीर पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 354 डी 506 तथा 67ए आइटी एक्ट के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर लिया था।

इधर एसआई प्रदीप कुमार के नेतृत्व में पुलिस व साइबर टीम ने 20 वर्षीय आरोपित असित चौहान उर्फ मोनू पुत्र राजीव चौहान निवासी सुरैधा थाना ऐरवा कटरा जनपद औरैय्या को उसके गांव सुरैधा से गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : पुलिस ने गिरफ्तार किए 10 फरार आरोपित

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 12 दिसंबर 2021। नैनीताल पुलिस ने जनपद में एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी के निर्देशों पर ‘ऑर्पेरशन सर्च’ के तहत काफी समय से फरार चल रहे 10 वारंटियों को गिरफ्तार किया है।

अभियान के तहत महेश नैनवाल पुत्र जगदीश नैनवाल निवासी बजुनिया हल्दु कोटाबाग कालाढूंगी, रसपाल पुत्र मनजीत सिंह निवासी उदयपुरी बैलपड़ाव कालाढूंगी, विकास बिष्ट पुत्र आनंद सिंह निवासी चांदनी चौक कालाढूंगी, डल्लम दास उर्फ डल्लू पुत्र भोज राम दास निवासी मालानी कॉलोनी कोयला भट्टी रामपुर लामाचौड़ थाना मुखानी, हरीश मिश्रा पुत्र जयप्रकाश मिश्रा निवासी आरटीओ रोड सैनिक कॉलोनी, मनोज उपाध्याय पुत्र स्वर्गीय कमलापति उपाध्याय निवासी किराएदार सत्य विहार, अमित कुमार पुत्र पूरन चंद्र निवासी देवाल जनपद चमोली, नवीन भट्ट पुत्र हरीश चंद्र निवासी दुम्का बंगर उमापति हल्दूचौड, राजू पुत्र मोहम्मद शरीफ निवासी नगीना कॉलोनी लालकुआ, प्रकाश चंद्र पुत्र मथुरा दत्त भट्ट निवासी खोला बाजार लाखन मंडी थाना चोरगलिया नैनीताल शामिल हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पुलिस ने चलाया अभियान, नशा करने वालों व नाविकों के हुए चालान

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 नवंबर 2021। नैनीताल पुलिस द्वारा मनाये जा रहे 10 दिवसीय नशा मुक्ति अभियान के तहत थाना तल्लीताल पुलिस द्वारा रविवार को थानाध्यक्ष रोहताश सागर के निर्देशन में एसआई दीपक बिष्ट व त्रिवेणी जोशी तथा आरक्षी शिवराज राणा, राजेश व सुरेंद्र धामी ने थाना क्षेत्रांतर्गत नशा करने के संभावित स्थानों पर छापेमारी की। इस दौरान हनुमानगढ़ी मंदिर के पास, चील चक्कर मोड़, ठंडी सड़क, भवाली रोड व हल्द्वानी रोड तथा शराब पिलाए जाने के लिए बदनाम ढाबों-रेस्टोरेंटों में चेकिंग अभियान चलाया और यहां नशा कर रहे 2 लोगों का 81 पुलिस एक्ट में चालान किया।

इसके अतिरिक्त ऑपरेशन रेड व ऑपरेशन गोल्ड के तहत थाना क्षेत्रांतर्गत ज्वेलरी शाप व कबाड़ियों की दुकानें भी चेक की गईं तथा कबाड़ियों को अपनी दुकान में एक रजिस्टर बनाने व खरीदे गए कबाड़ का सम्पूर्ण विवरण दर्ज करने की हिदायत दी गई। इसके अतिरिक्त पूर्व से मिल रही शिकायतों के क्रम में तल्लीताल, टॉल, पम्प हाउस, अल्का व लाइब्रेरी आदि बोट स्टेंडों पर नौका चालकों की जांच की गई, और सैलानियों को बिना लाइफ जैकेट के नौकायन करा रहे 5 नाव चालको का 81 पुलिस एक्ट में चालान किया गया। साथ ही नाव चालकों को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी देते हुए जागरूक किया गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भारी पड़ा पुलिस को 112 पर झूठी सूचना देना, 10 हजार रुपए के चालान के साथ 107-116 में भी हुई कार्रवाई

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 25 नवंबर 2021। पुलिस के 108, 112 जैसे आपातकालीन सेवााओं के नंबर सुविधाओं के लिए होते हैं, दुरुपयोग के लिए नहीं। इनके दुरुपयोग के कारण जरूरत के समय इन सेवाओं का लाभ नहीं मिल पाता है।

इधर नैनीताल पुलिस ने पहली बार 112 पर झूठी सूचना देने पर 50 वर्षीय गोविंद पंत पुत्र मोहन पंत निवासी 15 मेविला कंपाउंड तल्लीताल का 10 हजार रुपए के चालान के साथ ही शांति भंग की आशंका में भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 107-116 के तहत भी कार्रवाई कर दी है। इस कार्रवाई के बाद संबंधित व्यक्ति ने जीवन भर ऐसी हरकत करने से तौबा कर ली है। आरोपित अच्छे परिवार से बताया गया है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार पहले बुधवार शाम और फिर बृहस्पतिवार सुबह 8 बजे 112 पर किसी व्यक्ति ने सूचना दी कि उसका भाई उससे मारपीट कर रहा है। इस सूचना पर चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा मौके पर पहुंचे तो सूचना देने वाला व्यक्ति शराब के नशे में धुत मिला। जबकि उसके छोटे भाई आदित्य पंत ने बताया कि दो माह पूर्व माता की मृत्यु के बाद वह ही इस शराबी भाई की देखभाल, उसे भोजन उपलब्ध कराने का काम कर रहा है।

इधर उसने मां का मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने के लिए उसे रुपए दिये, उन रुपयों को भी उसने शराब में उड़ा दिया। वह दुबारा रुपए मांग रहा था। रुपए न देने पर उसने पुलिस को झूठी सूचना दे दी। इस पर पुलिस उसे थाने लाई और थाना प्रभारी रोहताश सागर के निर्देशों पर 83 पुलिस एक्ट एवं सीआरपीसी की धारा 107-116 के तहत कार्रवाई करने के बाद छोड़ा गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : यूपी से बड़ी तस्करी का खुलासा, एसओजी की बड़ी कार्रवाई, 190 कछुओं के साथ दो तस्कर गिरफ्तार..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 22 नवंबर 2021। उत्तराखंड के सीमावर्ती ऊधमसिंह नगर जनपद में पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश से हो रही प्रतिबंधित कछुओं की तस्करी का बड़ा खुलासा हुआ है। जनपद की एसओजी ने पुलभट्टा पुलिस के सहयोग से 190 कछुओं के साथ दो तस्करों को पकड़कर उनकी कार को सीज कर दिया है। बरामद कछुओं को वन विभाग के सुपुर्द कर दिया गया है। तस्करों के खिलाफ आगे की कार्रवाई की जा रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मुखबिर की कछुओं की तस्करी की बड़ी खेप उत्तर प्रदेश बरेली के रास्ते उत्तराखंड में आने की सूचना पर एसओजी प्रभारी कमलेश भट्ट, एसआई देवेन्द्र सिंह मेहता, आरक्षी भूपेन्द्र सिंह, प्रभात चौधरी, राजेन्द्र कश्यप, नीरज शुक्ला व ललित कुमार ने सोमवार मध्य रात्रि के बाद करीब डेढ़ बजे डॉली रेंज के अन्तरराज्यीय सीमा चौकी बन विभाग पुलभट्टा के पास नाका लगाकर बहेड़ी की ओर से आने वाले वाहनों की चेकिंग शुरू की।

इसी दौरान कार संख्या यूके06डब्ल्यू-5777 के चालक ने पुलिस की चेकिंग देखकर वाहन को पीछे मोड़ कर वापस जाने का प्रयास किया। पुलिसकर्मी पहले से ही सतर्क थे, लिहाजा उन्होंने घेराबंदी कर कार सवार दो लोगों को दबोच लिया। पकड़े गए तस्करों ने अपना नाम प्रहलाद मण्डल पुत्र स्व. प्रताप मण्डल निवासी मोतीपुर नंबर एक दिनेशपुर व विष्णु डे पुत्र निमाई डे निवासी सी ब्लाक थाना ट्रांजिट कैंप बताया। कार की तालाशी में एक इलेक्ट्रानिक कांटे के साथ तीन बोरों में भरे 190 कछुए बरामद किये गये। पूछताछ में प्रहलाद मण्डल द्वारा उक्त कछुओं को एक लाख रुपये में करहैल इटावा से खरीद कर लाने की बात कही। पुलिस मामले की आगे की पड़ताल में भी जुटी हुई है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: कोतवाली पुलिस ने मल्लीताल से गिरफ्तार कर आरोपित को जेल भेजा

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 नवंबर 2021। शनिवार को कोतवाली पुलिस ने चेक बाउंस होने के मामले में वांछित आरोपित नरेंद्र सिंह करायत पुत्र केसर सिंह निवासी बड़ा बाजार मल्लीताल को गिरफ्तार किया।

नगर कोतवाल प्रीतम सिंह ने बताया कि आरोपित के विरुद्ध न्यायालय से गैर जमानती वारंट जारी हुआ था। उसे उप निरीक्षक हरीश सिंह तथा आरक्षी संजीव कुमार ने मोहन को चौराहे के पास से धारा 138 एनआई एक्ट के अंतर्गत गिरफ्तार किया और न्यायालय के समक्ष पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जीवित व्यक्ति को मृत दिखाकर 125 एकड़ जमीन हड़पने का ईनामी बदमाश भीमताल से गिरफ्तार

नवीन समाचार, खटीमा, 2 नवंबर 2021। खटीमा पुलिस ने ‘आपरेशन कै्रक डाउन’ के तहत धोखाधड़ी के आरोप में लंबे समय से फरार चल रहे आरोपित को सर्विलांस की मदद से भीमताल से गिरफ्तार कर लिया। आरोपित पर 1500 रुपये का इनाम घोषित था। उस पर आरोप है कि उसनेे बगुलिया गांव में जीवित व्यक्ति को मृत दिखाकर एवं फर्जी दस्तावेजों के सहारे 125 एकड़ भूमि हड़पी थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस ने 7 नवंबर 2020 को उच्च न्यायालय के आदेश पर बगुलिया निवासी कश्मीर सिंह की शिकायत पर गांव के ही किरन तलवार, जार्निया तलवार, राम आनंद, सतीश सक्सेना, निर्मल सिंह, सोहन सिंह, सुरेंद्र कौर, चरन कौर, प्रिंस सिंह, मीरा देवी, सहाना प्रसाद व जागीर कौर, अशोक फार्म निवासी युवराज सिंह तथा प्रतापपुर निवासी बलविंदर कौर व दिलबाग सिंह के विरुद्घ धारा 420, 467, 468, 471 के तहत मुकदमा दर्ज किया था।

उन पर आरोप था कि उन्होंने जीवित व्यक्तियों के जाली मृत्यु प्रमाण पत्र बनाकर वसीयत अपने नाम कर जमीन पर अवैध कब्जा कर लिया है। जिस भूमि को धोखाधड़ी कर अपने नाम किया गया है वह भूमि आठ लोगों के नाम दर्ज है। जिसमें से दो लोग आज भी जिंदा हैं। इस मामले में अशोक फार्म निवासी युवराज सिंह लंबे समय से फरार चल रहा था। पुलिस ने उसके घर से चल संपत्ति की कुर्की भी कर ली थी। उसके बाद भी वह न्यायालय में पेश नहीं हुआ। इस पर एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर ने उस पर 1500 रुपये का इनाम घोषित किया था।

इधर झनकईया थानाध्यक्ष दिनेश फर्त्याल बताया कि उपमहानिरीक्षक डॉ. नीलेश आनंद भरणे द्वारा चलाए जा रहे ‘आपरेशन क्रैक डाउन’ के तहत आरोपित युवराज सिंह को सर्विलांस की मदद से मचान रेस्टोरेंट भीमताल से गिरफ्तार कर लिया गया। टीम में एसओ फर्त्याल के अलावा एसएसआइ देवेंद्र गौरव, सुरेंद्र प्रताप बिष्टड्ढ, प्रमोद कुमार, विनोद कन्याल आदि शामिल रहे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दीपावाली से पहले हाईप्रोफाइल जुवारियों का भंडाफोड़, 10 लाख से अधिक की नगदी व मोबाइल बरामद

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 31 अक्टूबर 2021। हल्द्वानी में पुलिस ने दीपावली पर अभिशाप माने जाने वाला जुआ खेलते हुए एक हाईप्रोफाइल बड़े मामले का खुलासा करने का दावा किया है। पुलिस ने मिलन बार में चल रहे बड़ा जुवा खेलते हुए देहरादून, ऊधमसिंह नगर और नैनीताल जिले के नौ हाईप्रोफाइल लोग गिरफ्तार किये हैं। इनके पास से नौ लाख 91 हजार रुपये नकद बरामद हुए हैं। आरोपितों को कोर्ट में पेश करने की तैयारी की जा रही है।

jua ke fad se 4 laakh bramadप्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस को शनिवार की देर रात मुखबिर ने मंडी क्षेत्र में जुआ चलने की सूचना दी। इस पर प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षक हर्षवर्द्धनी सुमन व विमल रावत के नेतृत्व में टीम ने घेराबंदी कर मिलन बार में पुलिस ने छापा मारकर नौ लोगों को जुआ खेलने पर गिरफ्तार किया। जुए में पकड़े गए सभी आरोपित हाइप्रोफाइल हैं।

कोतवाल अरुण कुमार सैनी ने बताया कि आरोपित दीवाली पर जुआ खेल रहे थे। उनके कब्जे से डेढ़ लाख रुपये के नौ मोबाइल व नौ लाख 91 हजार 600 रुपये नकद मिले हैं। पुलिस मिलन बार के संचालक पर भी कार्रवाई की तैयारी कर रही है। टीम में मंडी पुलिस चौकी प्रभारी दिनेश जोशी, एसआई दिलवर भंडारी, कांस्टेबल इसरार अहमद, वीरेंद्र चौहान, कुंदन कठायत, इसरार नबी, अरूण राठौर, लक्ष्मण सिंह शामिल रहे।

गिरफ्तार हुए जुवारियों में सिविल लाइन रुद्रपुर निवासी हरीश कुमार, एलायंस कालोनी रुद्रपुर निवासी चरन सिंधवाली, फाजलपुर महरौला रुद्रपुर निवासी संजय कुमार, गोरापड़ाव हल्द्वानी निवासी महेंद्र सिंह, श्यामपुर ऋषिकेश देहरादून निवासी महेश चंद्र, तल्ली हल्द्वानी निवासी नवीन चंद्र, बाजपुर निवासी अंकुर अग्रवाल, गौलापार निवासी नंदन सिंह व पीरूमदारा रामनगर निवासी संजय कुमार शामिल हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अधिक किराया मांगने पर दो टैक्सियां सीज

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 21 अक्टूबर 2021। भीड़भाड़ बढ़ने या वाहनों की किल्लत होने पर टैक्सी वाले मनमांगा किराया वसूलते हैं। बृहस्पतिवार को सैलानियों से हल्द्वानी का 250 रुपए किराया मांगने पर पुलिस ने स्थानीय टैक्सी यूनियन के साथ दो वाहनों को सीज कर दिया।
तल्लीताल थाना पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार अनीस अहमद पुत्र रईस अहमद निवासी बड़ी मुखानी की स्विफ्ट टैक्सी संख्या यूके04टीवी-2120 तथा शहनवाज पुत्र दिलशाद निवासी आजाद नगर हल्द्वानी की अल्टो टैक्सी संख्या यूके04टीवी-1996 को जब्त कर सीज करने की कार्रवाई की गयी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : शराब पिलाते मिले के ढाबे-रेस्टोरेंट, 24 के हुए चालान

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अक्टूबर 2021। थाना तल्लीताल पुलिस ने सोमवार को थाना प्रभारी रोहताश सागर के निर्देशन में क्षेत्र के कई ढाबों और रेस्टोरेंटों में शराब परोसे जाने को लेकर ताबड़तोड़ छापेमारी की गई। इस दौरान 24 लोगों के 81 पुलिस एक्ट के तहत चालान किए गए। इनमें कई नामी रेस्टोरेंट भी शामिल बताए गए हैं। उन्हें आगे के लिए भी हिदायत दी गई है।

उल्लेखनीय है कि नगर के मल्लीताल क्षेत्र के कई ढाबे-रेस्टोरेंट भी शराब पिलाने के लिए बदनाम हैं, लेकिन यहां पिछले कुछ वर्षों में ऐसी कोई कार्रवाई नहीं प्रकाश में आई है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हो गई तल्लीताल क्षेत्र में गाइडों की छंटनी, केवल 30 लोग की कर सकेंगे टूरिस्ट गाइडिंग

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 5 अक्टूबर 2021। पिछले कुछ समय से उठ रही बाहरी लोगों के सत्यापन की मांग के दृष्टिगत नगर के तल्लीताल क्षेत्र में पुलिस ने बुधवार को पर्यटन गाइडों का सत्यापन करने के लिए अभियान चलाया। इस दौरान चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा व अन्य पुलिस कर्मियों ने तल्लीताल क्षेत्र में गाइडिंग कर रहे लोगों की उनके द्वारा नगर पालिका से लिए गए लाइसेंसों की जांच की। राणा ने बताया कि इस आधार पर केवल 30 गाइडों का सत्यापन किया गया। अगले दो-तीन दिनों में इन सत्यापित गाइडों के लिए ड्रेस कोड भी तैयार कर लिया जाएगा। इसके बाद तल्लीताल क्षेत्र में केवल 30 लोग ही गाइडिंग कर सकेंगे।

पुलिस से सत्यापन करवाते टूरिस्ट गाइड।

बताया गया है कि इससे पहले 100 से 150 तक लोग भी गाइड कर रहे थे। इनमें बाहरी लोगों के अलावा सरकारी नौकरी करते लोग भी गाइडिंग करते देखे गए थे। उम्मीद की जा रही है कि इसके बाद अवैध रूप से गाइडिंग करने वाले लोगों पर लगाम लगेगी, और पात्र लोगों को ही गाइडिंग का रोजगार मिल सकेगा। साथ ही उम्मीद करनी होगी कि ऐसी ही जांच नगर में अन्य कार्य अवैध तरीके से कर रहे लोगों की भी होगी।

थाना प्रभारी रोहिताश सिह सागर ने बताया कि तल्लीताल क्षेत्र में 30 गाइडों का सत्यापन किया गया है। यदि इनके अतिरिक्त कोई अन्य गाइड पर्यटकों से संपर्क करते हुए व बिना सत्यापन के गाइडिंग करते हुए पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : एसएसपी की बैठक में आई शिकायतों पर सक्रिय हुई नैनीताल पुलिस, 36 लोगों के चालान

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 20 सितंबर 2021। तल्लीताल थाना पुलिस ने गत 18 सितंबर को जनपद की एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी को नगर वासियों के साथ हुई बैठक में मिले सुझावों पर अमल कर दिया है। इस कड़ी में सोमवार को तल्लीताल थाना पुलिस के एसआई दीपक बिष्ट व चीता मोबाइल प्रभारी शिवराज राणा ने थाना प्रभारी विजय मेहता के निर्देशन अभियान चलाकर निर्धारित से दूसरे रूट में चल रहे वाहनों, बिना लाइसेंस के सैलानियों को गाइड करने वालों, सार्वजनिक स्थान पर शराब पीने वालों एवं बाहर से आये बिना सत्यापन के फेरी करने वालों के खिलाफ अभियान चलाया।

एसआई दीपक बिष्ट ने बताया कि अभियान के तहत बिना पंजीकरण के पर्यटकों को घुमाने वाले 7 पर्यटन गाइडों व 6 वाहन चालकों पर पुलिस एक्ट कार्रवाई की गई। इस दौरान पुलिस एक्ट में 7, एमवी एक्ट में 6 व मास्क न पहनने पर 23 सहित कुल 36 लोगों के चालान किये गए और साढ़े 11 हजार संयोजन शुल्क वसूला गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जुआ खेलने के मामले में दो वर्ष बाद गिरफ्तार हुआ वारंटी

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 10 सितंबर 2021। मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने शुक्रवार को वर्ष 2019 में जुआ खेलते हुए पकड़े जाने पर जुआ अधिनियम की धारा 13 के अंतर्गत दर्ज मुकदमे में वांछित ललित कुमार पुत्र गोपाल राम निवासी 7 नंबर मल्लीताल को गिरफ्तार कर लिया। उसकी गिरफ्तारी उप निरीक्षक हरीश सिंह व आरक्षी गिरीश प्रसाद द्वारा इंडिया होटल माल रोड के पास से न्यायालय से जारी वारंट के आधार पर की गई। गिरफ्तारी के उपरांत उसे न्यायालय में पेश किया गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : शराब के नशे में वाहन चला रहे चालक का लाइसेंस निरस्त करने की सिफारिश, वाहन सीज

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 9 सितंबर 2021। नैनीताल कोतवाली पुलिस ने बृहस्पतिवार को नशे में वाहन चलाने पर वाहन को सीज कर दिया, जबकि वाहन चालक का लाइसेंस निरस्त करने की आरटीओ हल्द्वानी से सिफारिश की जा रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 30 वर्षीय अनिल शर्मा पुत्र राजीव शर्मा निवासी 1975/बी गीता नगरी थाना बलदेव नगर अंबाला हरियाणा शराब के नशे में अपनी कार संख्या एचआर01एआर-0998 टाटा जेस्ट चलाते हुए नारायणगढ़ से नैनीताल की तरफ आ रहा था। बारापत्थर पर वाहन चेकिंग करते हुए उप निरीक्षक हरीश सिंह तथा आरक्षी गणेश ने उसे रोक कर वाहन को सीज कर दिया और अनिल के ड्राइविंग लाइसेंस को निरस्त करने हेतु आरटीओ हल्द्वानी को अलग से रिपोर्ट प्रेषित की गई। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कोतवाली पुलिस ने चलाया कबाड़ियों का सत्यापन अभियान, किया 10 हजार का चालान

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 2 सितंबर 2021। नगर की कोतवाली पुलिस ने बृहस्पतिवार को नगर में गत दिनों हुई चोरी की घटनाओं के दृष्टिगत कबाड़ियों के खिलाफ अभियान चलाया। मल्लीताल चीना बाबा चौराहा, आवागढ़ कंपाउंड आदि क्षेत्रों में चलाए गए अभियान के दौरान मोबीन अहमद नाम के कबाड़ी का 10 हजार रुपए का चालान किया गया। बताया गया कि कबाड़ का सामान खरीदने वाले कबाड़ियों के लिए कूड़े की खरीद का रजिस्टर रखना अनिवार्य है, जिसमें कबाड़ी की खरीद व बिक्री की पूरी जानकारी रखनी आवश्यक है।

ताकि किसी तरह की चोरी जैसी अवांछित गतिविधि का सामान बेचे जाने की जानकारी मिल सके। लेकिन मोबीन ऐसा कोई रजिस्टर पुलिस टीम को नहीं दिखा पाया। पुलिस की टीम में नगर कोतवाल अशोक कुमार सिंह के साथ आरक्षी शाहिद अली, वीरेंद्र मेहता, छाया सिंह, किशोर गिरि, राम सिंह राणा व चंदन सिंह आदि शामिल रहे। कोतवाल सिंह ने कहा कि जल्द पुलिस नगर में रह रहे बाहरी लोगों का सत्यापन अभियान भी चलाएगी। उन्होंने भवन स्वामियों से किरायेदारों का सत्यापन करने की अपील भी की है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पिछले वर्ष हुई चोरी के मामले में एक गिरफ्तार

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 अगस्त 2021। कोतवाली पुलिस ने शनिवार को वर्ष 2020 में हुई चोरी के मामले में फरार चल रहे पूर्णिया बिहार निवासी एक वारंटी को डीएसबी रोड से गिरफ्तार करने का दावा किया। बताया गया कि आरोपित परवेज पुत्र तस्लीम निवासी थाना अमोर जिला पूर्णिया बिहार वर्तमान में चार्टन लॉज मल्लीताल में रहता है।

उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 379/411 के अंतर्गत दर्ज मामले में न्यायालय से गैर जमानती वारंट प्राप्त हुआ था। वह पिछले काफी समय से फरार चल रहा था। शनिवार को उसे डीएसबी रोड के पास से उप निरीक्षक हरीश सिंह व चीता मोबाइल प्रभारी ललित कांडपाल द्वारा गिरफ्तार किया गया। इसके बाद उसे न्यायालय के समक्ष पेश कर जेल भेज दिया गया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : आम आदमी पार्टी के विवादित होर्डिंगों पर मुकदमा दर्ज, 3 गिरफ्तार, दिल्ली से विवादित होर्डिंग के आने सहित कई खुलासे

नवीन समाचार, देहरादून, 23 अगस्त 2021। राजधानी देहरादून में एक विवादित फ्लैक्सी होर्डिंग को लेकर हुए राजनीतिक बवाब के बाद अब होर्डिंग लगाने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया है, और तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले में यह खुलासा भी हुआ है कि आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी कर्नल अजय कोठियाल को देशभक्त और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को नेता दर्शाने वाले होर्डिंग दिल्ली से बन कर आए थे। देहरादून व हरिद्वार में कुल 800 होर्डिंग 250 रुपए प्रति होर्डिंग की दर से लगाने का ठेका देहरादून निवासी फर्म को दिया था, लेकिन 800 की जगह 600 होर्डिंग ही आए थे, और इनमें से 570 होर्डिंग ही लगे थे कि बवाल हो गया।

इस मामले में पकड़े गए घोसी गली में राज प्रिंटर के नाम से दुकान चलाने वाले मुकेश कुमार, उसके साथी राजेंद्र पुत्र रतन सिंह व कमल बिष्ट को फव्वारा चौक नेहरु कॉलोनी से गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने खुलासा किया कि उन्हें दिल्ली से किसी उमेश वर्मा व नरेश ने टेलीफोन के माध्यम से संपर्क कर होर्डिंग लगाने का ठेका दिया था। पुलिस अब उन्हें न्यायालय में पेश करने की तैयारी कर रही है।

उल्लेखनीय है कि विवादित होर्डिंग लगने के तुरंत बाद ही हुए विवाद के बाद जनपद देहरादून के थाना रायपुर, नेहरु कॉलोनी, रायवाला व मसूरी में विद्युत विभाग और नगरपालिका के अधिकारियों ने तहरीर दी है। जिसमें कहा गया है कि अज्ञात लोगों ने किना नगरपालिका व विद्युत विभाग की संपत्ति (विद्युत पोल) पर होर्डिंग लगाने की अनुमति लिए आम आदमी पार्टी से संबंधित होर्डिंग लगाए हैं। इससे विद्युत आपूर्ति को सुचारु रखने में कठिनाई उत्पन्न हो रही है व विद्युत दुर्घटना होने की प्रबल संभावना है। बिना विभाग की अनुमति के होर्डिंग लगाने से लोक सम्पत्ति को क्षति भी हुई है। इन तहरीरों पर जनपद देहरादून के एसएसपी ने तत्काल अभियोग पंजीकृत करने व आवश्यक वैधानिक कार्यवाही किए जाने के आदेश संबंधित थानाध्यक्षों को दिए। इस पर थाना मसूरी से सार्वजनिक सम्पत्ति नुकसान निवारण अधिनियम 1984 की धारा 2/3 के तहत मुकदमे पंजीकृत किए गए। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हरियाणा से ‘सीएसडी कैंटीन’ का लेबल चढ़ाकर लाई जा रही 300 बोतल अंग्रेजी शराब पकड़ी

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 अगस्त 2021। तल्लीताल थाना पुलिस ने सेंट्रो कार से हरियाणा ब्रांड की 300 बोतल अंग्रेजी शराब की तस्करी करते हुए दो व्यक्तियो को गिरफ्तार करने की सफलता प्राप्त की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार एसएसपी नैनीताल के निर्देशन में शराब की अवैध तस्करी के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान’ के तहत नगर क्षेत्राधिकारी संदीप नेगी के पर्यवेक्षण व तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता के नेतृत्व में थाना तल्लीताल की पुलिस ने शनिवार की रात्रि चेकिंग के दौरान दिल्ली नंबर की सेंट्रो कार से हरियाणा ब्रांड की 300 बोतल अंग्रेजी अवैध शराब की तस्करी करते हुए विष्णु गार्डन दिल्ली व रोहतक हरियाणा निवासी दो लोगों को रूसी बाईपास मोड़ पर गिरफ्तार किया है। देखें विडियो :

गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान विष्णु गार्डन दिल्ली एवं 2 निवासी रोहतक हरियाणा को तल्लीताल क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया’। आरोपितों ने पुलिस को चकमा देने के लिए शराब की बोतलों में ‘सीएसडी कैंटीन’ का लेवल लगा रखा था। उनके विरुद्ध थाना तल्लीताल में आबकारी अधिनियम की धारा 60/72 के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत कर दिया गया है। आगे उन्हें न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजा जायगा। पुलिस टीम में उप निरीक्षक दीपक बिष्ट, आरक्षी राजन, विनोद यादव व एडीटीएफ सेल के सोनू शामिल रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पुलिस को 4 हजार रुपए लूट की झूठी सूचना देने वाले का 10 हजार का चालान

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 14 अगस्त 2021। दो दिन के अंदर में हल्द्वानी पुलिस को युवकों द्वारा झूठी सूचनाएं देकर भ्रमित करने का दूसरा मामला आया है। पहले मामले में पुलिस ने ऑनलाइन गेम में 25 हजार रुपए हारने पर लूट की घटना गढ़ने वाले आरोपित युवक पर पांच हजार रुपए का जुर्माना लगाया था। जबकि अब नई 4 हजार रुपए लूट की झूठी कहानी गढ़ने पर युवक पर 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार देर शाम करीब 7.20 बजे नवीन चंद्र जौशी पुत्र हरीश चंद्र जौशी निवासी हिम्मतपुर बैजनाथ थाना मुखानी ने ’डायल 112’ पर सेंट्रल अस्पताल के पास चार-पहिया सवार तीन युवकों द्वारा उससे चार हजार रुपए लूटने की सूचना दी। इस सूचना पर उप निरीक्षक निर्मल लटवाल मौके पर पहुंचे तथा शिकायतकर्ता से मिली गाड़ी संख्या यूके04टी-1846 से युवकों के भागने की सूचना को जनपद में वाहन-चेकिंग हेतु प्रसारित करवाया। लगभग 15 मिनट बाद ही इस वाहन को उप निरीक्षक संजीत राठॉड़ ने गन्ना सेंटर रामपुर रोड़ पर पकड़ लिया।

लेकिन पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता और आरोपित युवक आपस में दोस्त हैं। आपस में 200 रुपए के लेन-देन के विवाद में शिकायतकर्ता ने उनके खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज कराई। इस पर वाहन में सवार तीनों युवकों भूपेंद्र सिंह नेगी निवासी किशनपुर-घुडदौडा हल्द्वानी, योगेश नेगी निवासी मानपुर हल्द्वानी व मनोज सिंह निवासी प्रेमपुर-लोश्यानी मुखानी को सख्त हिदायत दी गई तथा उनके वाहन के कागज न होने पर वाहन को सीज कर दिया गया, जबकि शिकायतकर्ता नवीन चंद्र जौशी का पुलिस को झूठी सूचना देने पर 10 हजार रुपए का चालान किया’ गया तथा उसके परिजनों को बुलाकर उसकी काउंसिलिंग कर सुपुर्द किया गया। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ऑनलाइन गेम में 25 हजार हारा तो गढ़ी लूट की कहानी, नैनीताल पुलिस ने ठोका पांच हजार का चालान

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 11 अगस्त 2021। 25 हजार रुपए ऑनलाइन तीन पत्ती में हारने के बाद युवक ने पुलिस को फोन कर दिया कि तीन लड़के उसे मारपीट कर उससे 25 हजार रुपए छीन ले गए। इस मामले में पुलिस ने तत्काल हरकत में आकर अपनी ओर से भागे युवकों की घेराबंदी की, लेकिन गहन पूछताछ में शिकायतकर्ता युवक ने ही सच्चाई उगल ली। ऐसे में पुलिस ने गलत सूचना देने के आरोप में शिकायतकर्ता युवक पर ही 5000 रुपए का चालान ठोक दिया और उसके परिजनों को बुलाकर उसकी काउंसिलिंग की।

मामला बुधवार का है। शशि बिहार काशीपुर निवासी व्यक्ति ने दोपहर लगभग 12 बजे हल्द्वानी की कोतवाली पुलिस को सूचना दी कि उसका पुत्र सौरभ टम्टा मुक्त विश्वविद्यालय की स्कूल फीस जमा करने तीन पानी हल्द्वानी जा रहा था.तो मुक्त विश्वविद्यालय के पास उसके साथ तीन लड़कांे ने मारपीट करते हुये उससे 25 हजार रुपए की धनराशि लूट ली और भाग गये हैं। इस घटना की सूचना पर तुरंत चौकी मंडी से पुलिस मौके पर पहुची और घटना की जानकारी उच्च अधिकारियो को दी गयी। मौके पर अपर पुलिस अधीक्षक हल्द्वानी डॉ. जगदीश चंद्र व निरीक्षक कोतवाली कैलाश नेगी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुॅचे और घटना की जॉच करते हुये घटना की सूचना पूरे जनपद पुलिस को देकर कथित आरोपितों के लिए घेराबंदी की गई।

लेकिन इस बीच घटना के बारे में सौरभ से गहनता से पूछताछ की गयी तो सौरभ ने बताया कि वह अपने मोबाइल से ऑनलाइन तीन पत्ती गेम खेलते हुए 25000 रुपए हार गया तथा घरवालों के डर से उसने लूट की झूठी सूचना दी। इस बीच उसके परिजन भी मौके पर पहुंच गए थे। इस पर पुलिस को ’झूठी सूचना देने पर सौरभ टम्टा का पुलिस ने तत्काल पांच हजार रुपए का पुलिस अधिनियम के अंतर्गत चालान किया गया व परिजनों के सम्मुख समझाया। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : शव को घर पहुंचाने के एंबुलेंस चालक ने मांगे ढाइ गुना रुपए, स्टिंग ऑपरेशन के बाद गिरफ्तार…

नवीन समाचार, नैनीताल, 16 मई 2021। कोरोना काल में जब लोगों ने रुपयों को निष्प्रभावी देखा, इसके बावजूद लोग कालाबाजारी, सेवाओं की अधिक कीमत वसूलने से बाज नहीं आ रहे। हल्द्वानी में एक एंबुलेंस यूके04पीए-0651 के चालक ने अस्पताल से मृत व्यक्ति के शव को घर तक ले जाने के लिए निर्धारित 800 रुपए की जगह 2000 रुपए यानी ढाई गुने वसूलने की कोशिश की। गनीमत रही कि मृतक के परिजनों ने इसकी शिकायत जनपद पुलिस को कर दी। इस पर तत्काल हरकत में आई जनपद की एसओजी टीम ने स्टिंग ऑपरेशन चलाकर आरोपी एंबुलेंस चालक को गिरफ्तार कर लिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार हल्द्वानी के बनभूलपुरा निवासी एंबुलेंस निवासी चालक की शिकायत मिलने पर एसओजी की टीम ने मरीज के तीमारदार बनकर उससे सेंट्रल अस्पताल मुखानी से गौलापार शव ले जाने के लिए किराया पूछा तो उसने निर्धारित किराया 800 के बजाय 2000 रुपए वसूलने की कोशिश की। इस पर उसे गिरफ्तार कर उसके विरुद्ध थाना मुखानी में कालाबाजारी अधिनियम की धारा 3(क) व 51 आपदा प्रबंधन अधिनियम के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत कर लिया गया। एसओजी प्रभारी ने बताया कि कालाबाजारी के खिलाफ भविष्य में भी इस प्रकार के स्टिंग ऑपरेशन जारी रहेंगे।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में पकड़ी गई रेमडेसिविर की नक़ली फैक्ट्री, 25 हज़ार में बेच रहे थे एक इंजेक्शन…

नवीन समाचार, कोटद्वार, 30 अप्रैल 2021। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने नकली रेमेडेसिविर इंजेक्शन बनाने और उन्हें बेचने वाले गैंग के 5 लोगों को कोटद्वार उत्तराखंड से गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता अर्जित की है। क्राइम ब्रांच डीसीपी मोनिका भारद्वाज की टीम ने एक जानकारी के बाद कोटद्वार की इस फैक्ट्री में छापा मारकर यहां से रेमडेसिविर के 196 नकली इंजेक्शन और इंजेक्शन पैक करने के लिए काम आने वाले 3000 वायल्स बरामद किए गए हैं। इन नकली इंजेक्शन को 25 हजार रुपये में जरूरतमंदों को बेचा जा रहा था। क्राइम ब्रांच की टीम को जानकारी मिली थी कि यह गैंग नकली इंजेक्शन बनाकर लोगो की परेशानी का फायदा उठा रहा है। बता दें कि इस समय देश के कई राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर ने कहर मचाया हुआ है। कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन का इस्तेमाल किया जा रहा है। यही वजह है कि अधिकांश जगहों पर इंजेक्शन की भारी किल्लत देखने को मिल रही है और इसे ऊंचे दामों पर बेचा जा रहा है। कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते उत्तराखंड भी रेमडेसिविर की कमी से जूझ रहा है। उत्तराखंड को बीते मंगलवार को 7500 रेमडेसिविर इंजेक्शन की एक खेप मिल चुकी है। इस खेप से 1500 से 3000 मरीजों को फायदा होगा। कोटे के तहत इंजेक्शन का वितरण किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : तल्लीताल की घटना में एक महिला सहित पांच लोगों के खिलाफ हत्या सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 अप्रैल 2021। बुधवार को तल्लीताल में हुई मारपीट और एक व्यक्ति की मौत की घटना में अब पुलिस की ओर से औपचारिक जानकारी सामने आई है। मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति की मौत के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
देखें पूर्व समाचार: नैनीताल में अभी-अभी 200 रुपये के लिए रमजान के दिन नमाज के बाद दो पक्षों में खूनी संघर्ष, एक की मौत
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार हरिनगर थाना तल्लीताल नैनीताल निवासी दो पक्षों में मारपीट हो गई थी। जिसमें एक पक्ष के 24 वर्षीय आरिफ उर्फ आशु पुत्र सबाबुद्दीन निवासी हरी नगर, साहिल उर्फ मोजम पुत्र सबाबबुद्दीन व शहाबुद्दीन पुत्र निसारउद्दीन को अधिक और अन्य दो को मामूली चोटें आईं। इनमें से सहाबुद्दीन को सुशीला तिवारी रेफर किया गया। वहीं दूसरे पक्ष के 30 वर्षीय शामिन पुत्र मोहम्मद यासीन निवासी हरिनगर व उसके 19 वर्षीय भाई नवाब उर्फ वेवी पुत्र यासीन को भी चाकू लगने से चोटें आईं। इनमें से शामिन पुत्र मोहम्मद यासीन को सुशीला तिवारी अस्पताल रेफर किया गया था। उसकी रास्ते में ही मृत्यु हो गई।
इस मामले में मृतक के अन्य भाई जीशान पुत्र मोहम्मद यासीन निवासी हरि नगर तल्लीताल की तहरीर के आधार पर साहिल पुत्र शहाबुद्दीन, आरिफ पुत्र शहाबुद्दीन, शहाबुद्दीन पुत्र निसारउद्दीन, बबली व इमरान के खिलाफ थाना तल्लीताल में भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 148, 302, 307 व 34 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। इधर इस घटना में मृतक के परिजनों की ओर दूसरे पक्ष के एक युवक के साथ बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में मारपीट का एक वीडियो भी सामने आया है।

देखें वीडियो: जिला अस्पताल में युवक के साथ मारपीट

इधर बताया गया है कि  बुधवार दोपहर बूचड़खाना तल्लीताल निवासी युवक किसी व्यक्ति से दो सौ रुपये लेने हरिनगर गया हुआ था। जहां उसका किसी व्यक्ति से विवाद हो गया इस पर उसने एक युवक की पिटाई कर दी। युवक ने वापस लौट कर अपने भाइयों को ये बात बताई। इस पर आवेश में आकर युवक के भाई और अन्य लोग उक्त व्यक्ति के पास पहुँचे और झगड़ने लगे। इतने में उक्त व्यक्ति ने भी अन्य लोगों को बुला लिया। जिसके बाद दोनों पक्षों में घमासान हो गया।

यह भी पढ़ें : सैलून में तोड़फोड़ के मामले में होटल मैनेजर गिरफ्तार

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 फरवरी 2021। शहर के मल्लीताल क्षेत्र में नैनीताल क्लब के पास स्थित कोरोनेशन होटल स्थित सलून में तोड़फोड़ के बहुचर्चित मामले में पुलिस ने बुधवार को एक होटल मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया है। मैनेजर को बृहस्पतिवार को कोर्ट में पेश किया जा सकता है। मामले में अन्य आरोपित-होटल संचालक महिला के फरार होने की चर्चाएं हैं। पुलिस उसकी खोजबीन कर रही है।
नगर के मल्लीताल निवासी दीपेश कुमार ने कोतवाली में पूर्व में तहरीर दी थी कि लंबे समय से वह मल्लीताल क्षेत्र में सलून का संचालन कर रहे हैं। लॉकडाउन के दौरान काम ठप होने के बावजूद भवन स्वामी की ओर से उस पर किराए के लिए अनावश्यक दबाव बनाया गया। इतना ही नहीं जब उसका सलून बंद था तो होटल संचालक की ओर से बगैर अनुमति दुकान के भीतर निर्माण कार्य शुरू कर एक अतिरिक्त दीवार खड़ी कर दी गई। इससे उसके सलून में रखा महंगा सामान खराब हो गया है। पुलिस ने भवन स्वामी इमरोज खान, खुशबू खान व होटल मैनेजर रईस अहमद के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 380, 341 और 427 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। बुधवार को एसआई हरीश सिंह ने होटल मैनेजर रईस अहमद को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार को आरोपित को कोर्ट में पेश किया जाएगा ओर अन्य आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : किशोरी के सेनिटाइजर पीने के मामले में तीन महिलाओं सहित आठ के खिलाफ दर्ज हुआ नामजद मुकदमा…

नवीन समाचार, नैनीताल, 01 जनवरी 2020। गैरसेंण चमोली से नगर के तल्लीताल काठबांश में अपनी नानी के घर आई एक 17-18 वर्षीय नाबालिग किशोरी ने बीती शाम संदिग्ध परिस्थितियों में सेनिटाइजर पी लिया था। इससे उसकी हालत बिगड़ गई। किशोरी को बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में प्राथमिक उपचार के उपरांत उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए एसटीएच हल्द्वानी रेफर कर दिया गया, जहां उसका उपचार चल रहा है। इधर किशोरी की मां की तहरीर पर एक परिवार के तीन महिलाओं सहित आठ लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : नाबालिग ने पी लिया सेनिटाइजर, गंभीर, नाबालिग शराब पीकर दे रहा था भगा ले जाने की धमकी..
तल्लीताल थाने से प्राप्त जानकारी के अनुसार पीड़िता की मां सीमा देवी निवासी काठबांश तल्लीताल की शिकायत पर पड़ोस के ही रहने वाले संतोष कुमार, इंदु, अमन, आलोक, आकांक्षा, अंजली, सनी, कपिल व लक्की के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 323 व 504 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है, तथा किशोरी की गंभीर दशा के दृष्टिगत मामले के विवेचक एसआई दीपक बिष्ट उसके बयान लेने हल्द्वानी रवाना हो गए। तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने कहा कि विवेचक यदि चाहेंगे तो पीड़िता की स्थिति को देखते हुए उसके मजिस्ट्रेट के समक्ष भी बयान दर्ज कराए जा सकते हैं।
उल्लेखनीय है कि इस मामले में यह तथ्य प्रकाश में आया था कि आरोपित परिवार के एक नाबालिग सदस्य ने घटना के दौरान शराब पी रखी थी और वह नाबालिग को भगा ले जाने की धमकी दे रहा था। इस पर ही लड़का व लड़की के पक्ष के लोगों के बीच विवाद हो गया था, जिस कारण लड़की ने घर में रखा सेनिटाइजर पी लिया था।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग नैनीताल : प्रतिष्ठित विद्यालय के प्रधानाचार्य सहित करीब 60 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, नैनीताल, 12 दिसम्बर 2020। तल्लीताल थाना पुलिस ने शुक्रवार को नगर के प्रतिष्ठित विद्यालय के गेट पर हुए हाई प्रोफाइल मामले में विद्यालय के प्रधानाचार्य अमनदीप संधू तथा अभिषेक त्रिपाठी, हिमांशु जोशी एवं विकास जोशी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने बताया कि मुकदमा रास्ता रोकना, बलवा, गाली गलौच व धमकी देने के आरोप में भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 341, 504 व 506 के तहत दर्ज हुआ है। उन्होंने बताया कि रात्रि करीब 10 बजे के करीब तहरीर प्राप्त हुई, जिसके बाद मुकदमा दर्ज हुआ है। उन्होंने साफ किया कि आरोपितों पर शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने का आरोप नहीं है।
पूर्व समाचार: महत्वपूर्ण : 15 से सबके लिए नहीं खुलेंगे उच्च शिक्षण संस्थान, शासन से कॉलेजों में पढ़ाई शुरू करने के लिए जारी हुए दिशा-निर्देश..

यह भी पढ़ें : ‘पति, पत्नी और वो’ की कहानी में आज दो भाई गिरफ्तार, कहानी में कई कहानियां…

नवीन समाचार, नैनीताल, 04 दिसम्बर 2020। नगर के कृष्णापुर क्षेत्र में गत दिवस दो वर्ष बाद अपने घर लौटी रूठी पत्नी को पति दूसरी महिला के मिलने पर पत्नी द्वारा किये गए हो हल्ले का समाचार स्थानीय मीडिया की सुर्खिया बना था। अब इस मामले में नया मोड़ महिला के पति शेखर आर्या व देवर पुत्र स्वर्गीय दीवान आर्या के तल्लीताल थाना पुलिस द्वारा गिरफ्तार होने का नया मोड़ आया है। साथ ही संबंधित परिवार की कुछ और कहानियां भी प्रकाश में आई हैं।
यह भी पढ़ें : नैनीताल : दो वर्ष बाद घर लौटी रूठी पत्नी तो पति मिला दूसरी के साथ…

तल्लीताल थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार संबंधित परिवार में पत्नी के लौटने के बाद से विवाद बना हुआ है। दरअसल शेखर आर्या कुमाऊं विश्वविद्यालय द्वारा अपने पिता को दिए गए आवास में रहता है। उसकी पत्नी कुछ विवाद की वजह से दो वर्ष पूर्व अपने बच्चों व पति को छोड़कर चली गई थी। इस बीच शेखर की दीदी भी कहीं चली गई थी। शेखर ने इस बीच अपनी दीदी वाले कुमाऊं विश्वविद्यालय के आवासों की ही एक बेहद जीर्ण-शीर्ण कोठरी को एक महिला को दे दिया, जो विवाहिता है और उसे उसके पति ने छोड़ा हुआ है। लिहाजा दो वर्ष से वह महिला इस कोठरी में रहती है। पहले इस कोठरी में शेखर की दीदी रहती है। अब दीदी महिला से अपना घर छोड़ने को कह रही है, जबकि शेखर और उस महिला का कहना है कि यह बेहद जीर्ण-शीर्ण कोठरी कुमाऊं विश्वविद्यालय की है। मूलतः इसी आवास को लेकर शेखर तथा वह महिला एक ओर तथा दूसरी ओर शेष का भाइ, दीदी व पत्नी हैं, और आपस में लगातार लड़ रहे हैं। शुक्रवार को उनके लगातार लड़ने पर तल्लीताल थाना पुलिस ने शेखर व प्रकाश को धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर लिया और न्यायालय में पेश किया, जहां से दोनों जमानक लेकर बाहर आए। पुलिस का कहना है कि पहले दोनों पक्षों का शांति भंग की आशंका में 107-116 के तहत चालान किया गया था, किंतु वे लड़ने से बाज नहीं आये। वहीं दोनों पक्षों से अपना विवाद निपटाने के लिए संबंधित न्यायालय की शरण में जाने की सलाह भी दी गई है।

यह भी पढ़ें : भारी पड़ा नैनी झील में प्री-वैडिंग शूट करना

-कोतवाली पुलिस ने किया ड्रोन संचालक का पांच हजार रुपए का चालान
नवीन समाचार, नैनीताल, 8 नवम्बर 2020। विवाह से पूर्व नव युगल का लाखों रुपए खर्च करके भी ‘प्री-वीडियो शूट’ किये जाने का नया चलन चल पड़ा है। इसके लिए दृश्यों को अधिक आकर्षक बनाने के लिए ड्रोन बिना नियमों की जानकारी के उड़ाए जाते हैं। लेकिन रविवार को ऐसे ही नैनी झील के ऊपर ड्रोन उड़ा कर प्री-वेडिंग शूट करना संबंधितों को महंगा पड़ गया। हुआ यह कि रविवार को नैनी झील के बीच ड्रोन संचालक एक युवक व युवती को बिना लाइफ जैकेट पहनाए डगमगाती नौका पर खड़े होकर ड्रोन उड़ाकर वीडियो बनाने लगा। पुलिस व स्थानीय लोगों के मना करने पर भी वह नहीं माने और शूटिंग की।
इस पर पुलिस ने वीडियो शूट के लिए नैनी झील के ऊपर ड्रोन उड़ा रहे संचालक राहुल मंगला पुत्र आरके मंगला निवासी हाउस नंबर 591, सेक्टर 16 फरीदाबाद का पांच हजार रुपए का चालान कर दिया है। चालान की कार्रवाई 83 पुलिस एक्ट के तहत आरक्षित घोषित क्षेत्र में बिना अनुमति के प्रवेश के आरोप में धारा 51(1) व 63 के तहत की गई है। साथ ही लाइफ जैकेट न पहनने पर भी संबंधितों का नसीहत दी।
नगर कोतवाल अशोक कुमार सिंह ने बताया कि ड्रोन उड़ाने के प्राविधान लिए क्षेत्रों को रेड, येलो व ग्रीन जोन में बांटा गया है। येलो व रेड क्षेत्रों में ड्रोन उड़ाने के लिए संबंधित पुलिस क्षेत्र से अनुमति लेने का प्राविधान है। नैनी झील भी प्रतिबंधित क्षेत्र के अंतर्गत है। इसलिए कार्रवाई की गई है। उन्होंने बताया कि केवल ग्रीन जोन में 200 ग्राम तक के भार के ड्रोन संबंधित थाने को सूचना देकर उड़ाए जा सकते हैं।

यह हैं ड्रोन के इस्तेमाल के नियम
ड्रोन के इस्तेमाल के संबंध में अभिसूचना एवं सुरक्षा मुख्यालय उत्तराखंड द्वारा सितंबर 2019 में जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार ड्रोन को खरीदने से पहले केंद्र सरकार की निर्धारित प्रक्रियाओं का पालन करना अनिवार्य है। वहीं ड्रोन के संचालन से पहले नियमानुसार डीजीसीए से यूनिक आईडेंटिफिकेशन नंबर (यूआईएन) और स्वचालित एयरक्राफ्ट ऑपरेटर परमिट (यूएओपी) लेना अनिवार्य है। इसके अलावा ड्रोन ऑपरेटर करने वाला पायलट केंद्र के अधिकृत संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्त होना चाहिए। ड्रोन उड़ाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा चिन्हित रेड जोन में ड्रोन को नहीं उड़ाया जा सकता है। इन चिन्हित स्थानों के अलावा डीजीसीए की गाइडलाइन के अनुसार एयरपोर्ट, सचिवालय सहित अन्य सुरक्षा के लिहाज से महत्वपूर्ण स्थानों के आसपास ड्रोन को नहीं उड़ाया जा सकता है। वहीं ड्रोन की प्रत्येक उड़ान से पहले डिजिटल स्काई प्लेटफार्म के माध्यम से अनुमति लेना आवश्यक है। डीजीसीए से ड्रोन उड़ाने की अनुमति लेने के बाद संबंधित पुलिस थाने को 24 घंटे पहले सूचना देना जरूरी है। सिविल एविएशन रिक्वायरमेंट (सीएआर) का गहनता से अध्ययन कर निर्देशों का पालन न करने पर कार्रवाई का प्रावधान है। प्रतिबंधित क्षेत्र में ड्रोन उड़ाने पर आईपीसी की विभिन्न धारों व एएआई एक्ट मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : शाम ढले खाली पड़े क्वार्टरों में शराब के नशे में चूर मिले नगर के पांच लड़के और एक लड़की

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अगस्त 2020। नगर की युवा पीढ़ी भी लगातार गलत मार्ग पर जाती दिख रही है। मंगलवार देर शाम करीब सात बजे शाम ढलने के बाद तल्लीताल थाना पुलिस ने नगर के भवाली रोड पर कैंट के फैमिली क्वार्र्ट्स में पांच लड़कों और एक लड़की को शराब के नशे में चूर और शराब पीते हुए पकड़ा है। पुलिस के अनुसार इनमें से सभी पांच लड़ने नगर के जू रोड के और लड़की हल्द्वानी रोड पर जीआईसी गेट के पास की बताई गई है। सभी लड़के-लड़कियों की उम्र 21-22 वर्ष बताई गई है। चीता मोबाइल टीम के वरिष्ठ आरक्षी शिवराज राणा और आरक्षी राजा राम उन्हें पकड़कर तल्लीताल पुलिस चौकी लेकर आए, यहां तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने सभी छः का 81 पुलिस एक्ट में चालान किया और आगे से ऐसा न करने की हिदायत देकर छोड़ दिया है।
चीता मोबाइल टीम के वरिष्ठ आरक्षी शिवराज राणा ने बताया कि उन्हें पिछले कई दिनों से जीर्ण-शीर्ण होने के कारण खाली पड़े सरकारी क्वार्टरों में लड़के-लड़कियों के शराब पीकर उत्पात मचाने की शिकायतें व सूचनाएं आ रही थीं। आज भी ऐसी ही सूचना आने पर यह कार्रवाई की तो सभी शराब पीते हुए और नशे में चूर मिले। उन्होंने बताया कि सभी बालिग हैं।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में न खाना, न बाल कटाना ही सुरक्षित, पुलिस ने किया चालान

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 जुलाई 2020। देश-प्रदेश सहित जिला व मंडल मुख्यालय में कोरोना के मामलों में भारी बढ़ोत्तरी के बावजूद लोग एहतियात नहीं बरत रहे हैं। बल्कि अनलॉक 2.0 में मिली छूट का लोग नाजायज इस्तेमाल कर कोरोना का खतरा और बढ़ा रहे हैं। थोड़ी-बहुत सख्ती जो है भी वह, निचले व मध्यम वर्ग के लोगों में पुलिस के चालान के भय से दिख रही है। पुलिस का भय न हो तो लोग शायद मास्क गले में भी न टांगें। वहीं समर्थ व उच्च वर्ग के लोगों में पुलिस का भय भी नजर नहीं आ रहा है। वे पुलिस से भी बहस करने व उन्हें ही नियम-कानून समझाने से भी गुरेज नहीं कर रहे।
ऐसा ही नजारा शुक्रवार को तल्लीताल बाजार में दिखा। जहां पुलिस ने तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता के निर्देशन में बाल काटने वालों व रेस्टोरेंटों की जांच की तो भारी अनियमितताएं दिखीं। नाइयों के पास अपने यहां आये लोगों का कोई ब्यौरा नहीं था। वहीं रेस्टोरेंट में भी यही हाल था। बल्कि रेस्टोरेंट में स्वयं ग्राहकों से पता करके उनकी जानकारी भरने के बजाय उन्हीं से झूठी-सच्ची जानकारी भरवाई जा रही थी। उल्टा रेस्टोरेंट स्वामी पुलिस को ही नियम-कानून समझाने का भी प्रयास कर रहे थे। इस पर पुलिस ने तल्लीताल स्थित एक प्रसिद्ध रेस्टोरेंट के स्वामी मोहन सिंह नेगी, डांठ के पास स्थित प्रतिष्ठान के स्वामी राजेंद्र सिंह पुत्र मुंशी लाल निवासी दुर्गा पुर एवं पिछाड़ी बाजार स्थित बार्बर शॉप के स्वामी अकरम पुत्र नन्हे मियां का 81 पुलिस एक्ट मंे चालान किया। उल्लेखनीय है कि गत दिनों नगर के रिजर्व पुलिस लाइन के बार्बर की वजह से स्वयं उसे व उसके परिवार के सदस्यों के साथ ही कई पुलिस कर्मियों में कोरोना का संक्रमण हो चुका है। अभियान में वरिष्ठ आरक्षी शिवराज राणा सहित अन्य पुलिस कर्मी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : दिल्ली से बिना पास, बिना मेडिकल पहुंचे तीन युवक, ‘कोरोना फिदायीन बम’ कहे जा रहे ऐसे लोग

नवीन समाचार, नैनीताल, 16 जुलाई 2020। देश में कोरोना के सर्वाधिक संक्रमितों के लिहाज से नंबर 3 दिल्ली के लोग खुद के जरिये कोरोना संक्रमण की सर्वाधिक संभावना के बावजूद पहाड़ों पर आने से बाज नहीं आ रहे हैं। लोगों का कहना है कि यह एक तरह के ‘कोरोना फिदायीन बम’ हैं, जो खुद के साथ ही अन्य लोगों को कोरोना संक्रमित होकर सबकी जान जोखिम में डालने के लिए आ रहे हैं। उल्लेखनीय है कि ऐसे ही एक दर्जन से अधिक दिल्ली निवासी कल भीमताल पुलिस द्वारा वहां के एक रिजॉर्ट में पकड़े हैं।

बृहस्पतिवार को तल्लीताल थाना क्षेत्र में डांठ के पास दिल्ली के तीन युवकों-24 वर्षीय दीपक यादव पुत्र रमेश यादव रोहिणी, 32 वर्षीय दीपक यादव पुत्र उत्तम चंद्र यादव पदम विहार मथुरा व गौरव यादव पुत्र राजकुमार निवासी रोहिणी दिल्ली को थाने के मुख्य वरिष्ठ आरक्षी शिवराज सिंह राणा ने पकड़ा है। ये लोग दिल्ली नंबर की काले रंग की स्कॉर्पियों गाड़ी संख्या डीएल8सीएजेड-5616 से यहां पहुंचे थे। उनकी गाड़ी पर काली फिल्म भी चढ़ी थी। जांच में उनके पास कोई ई-पास या मेडिकल सर्टिफिकेट आदि कुछ भी नहीं मिला है। सीओ विजय थापा के आदेश पर उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 269/270 तथा महामारी अधिनियम की धारा 3 व आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 51 बी के तहत मुकदमा पंजीकृत कर दिया। उनकी गाड़ी को भी सीज किया जा रहा है। इस कार्रवाई के बाद उन्होंने सीधे दिल्ली लौटने का फैसला किया है। जमानती अपराध होने के कारण उन्हें नोटिस देकर वापस भेजा जा रहा है।

यह भी पढ़ें : लॉक डाउन में छूट क्या मिली, चढ़ आये पहाड़ पर शराब की महफिलें सजाने, पुलिस ने निकाली हेकड़ी

-सामाजिक दूरी का पालन किये बिना शराब पीने पर 14 लोगों के खिलाफ दो मुकदमे दर्ज
नवीन समाचार, नैनीताल, 13 जुलाई 2020। लॉक डाउन में छूट मिलते ही लोग आपे से बाहर हो, नियम कानूनों को ताक पर रखकर, पहाड़ों पर शराब पीने, चेहरे पर मास्क की जगह मुंह छुपाकर जोड़ों में मस्ती-मजा करने भी आने लगे हैं। यहां तक कि वे सड़क पर कई गैरकानूनी, इज्जतदार लोगों के लिए खुद मुंह दूसरी ओर करने जैसी हरकतें करने से भी बाज नहीं आ रहे हैं। ज्योलीकोट पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त भी नजर आ रही है।
इसी कड़ी में ज्योलीकोट चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक दिलीप कुमार ने आरक्षी सुरेंद्र राणा के साथ ही चेकिंग करते हुए ज्योलीकोट के नलेना गधेरे के पास सड़क पर सरेआम शराब पीते हुए आवास विकास कॉलोनी रुद्रपुर जनपद ऊधमसिंह नगर निवासी तीन युवकों को पकड़ा। एसआई कुमार के अनुसार ये लोग सामाजिक दूरी के नियमों का पालन भी नहीं कर रहे थे और जगह-जगह थूक भी रहे थे। इसलिए तीनों युवकों-24 वर्षीय विशाल सिंह कोरंगा पुत्र उम्मेद सिंह कोरंगा, सौरभ कोश्यारी पुत्र लक्ष्मण सिंह कोश्यारी व पीयूष शुक्ला पुत्र सुरेश शुक्ला के खिलाफ महामारी अधिनियम की धारा 3 आपदा प्रबंधन एक्ट 2005 की धारा 51 बी व 269 व 270 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया।
इसके अलावा भुजियाघाट स्थित होटल हिमालय वैली रेस्टोरेंट को चेक करने पर लामाचौड़ हल्द्वानी निवासी 31 वर्षीय मनोज बोरा पुत्र रविंद्र बोरा, 25 वर्षीय हेमंत सामंत पुत्र जगत सिंह, 25 वर्षीय धीरज जोशी पुत्र शेखर जोशी, 22 वर्षीय कमल जोशी पुत्र कृष्ण जोशी, 26 वर्षीय हीरा सिंह सामंत पुत्र तेज सिंह सामंत, 24 वर्षीय गौरव रावत पुत्र कृष्ण सिंह रावत, 24 वर्षीय
सौरभ जोशी पुत्र महेंद्र जोशी, मूल निवासी देवीधुरा धरौज, लोहरियासाल निवासी 29 वर्षीय पवन आर्या पुत्र बिशनलाल, जवाहर ज्योति निवासी 25 वर्षीय महेंद्र मेहरा पुत्र तारा सिंह मेहरा सामाजिक दूरी का पालन किये बिना शराब-तंबाकू का सेवन कर जगह-जगह थूकते हुए मिले। बताया गया है कि होटल में थर्मल स्कैनिंग, सैनिटाइजर आदि का भी कोई प्रबंध नहीं था। इसलिए होटल मालिक पुष्पेंद्र राणा पुत्र रघुवीर सिंह राणा निवासी जवाहर ज्योति दमुआ ढुंगा सहित सभी लोगों के खिलाफ महामारी अधिनियम की धारा 3, आपदा प्रबंधन एक्ट 2005 की धारा 51 बी व भारतीय दंड संहिता की धारा 269 व 270 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर दिया गया।

यह भी पढ़ें : जेब में मास्क और ताक पर सोशल डिस्टेंसिंग, पुलिस ने पढ़ाया सबक, कोरोना पॉजिटिवों के संपर्क भी खंगाले

नवीन समाचार, नैनीताल, 12 जुलाई 2020। थोड़ी छूट मिली नहीं कि लोग नियमों को ताक पर रखकर बेकाबू हो जाते हैं। आने-जाने, पर्यटन में मिली छूट के कारण इन दिनों लोग नियम-कानूनों को ताक पर रखकर घूमने निकल रहे हैं। यहां कि कि मास्क चेहरे की जगह जेब में रखा जा रहा है, सामाजिक दूरी तो पहले से ही ताक पर रखी हुई है। नगर वासी भी यही कर रहे हैं और शहर में जनपद के ही मैदानी क्षेत्रों से पहंुच रहे सैलानी भी। मल्लीताल बैंड स्टेंड के पास ऐसे ही कई युवा सैलानी नियमों को ताक पर रखते नजर आये। सूचना मिलने पर पहुंचे मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने ऐसे सैलानियों को अच्छा सबक सिखाया। कोतवाल अशोक कुमार सिंह ने बताया कि करीब एक दर्जन लोगों का मास्क न पहनने पर चालान किया गया है।

यह भी पढ़ें : भवाली के प्रभारी चिकित्साधिकारी को अनेक आरोपों पर हटाया..

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 जून 2020। संयुक्त चिकित्सालय भवाली के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. जगदीश जोशी को तत्काल भवाली से हटाकर मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय नैनीताल से सम्बद्ध कर दिया गया है। उनकी जिम्मेदारी डॉ. हिमांशु कांडपाल को दे दी गई है। डा. जोशी पर यह कार्रवाई मुख्य चिकित्साधिकारी डा. भारती राणा ने डीएम सविन बंसल के अनुमोदन पर शासकीय कार्यों में उदासीनता, लापरवाही, आवंटित बजट का सदुपयोग न करने, अधीनस्थ स्टाफ पर प्रभावी नियंत्रण न रख पाने, चिकित्सालय में जैव चिकित्सा अपशिष्ट के निस्तारण की अनुचित व्यवस्था, इमर्जेन्सी ड्यूटी में चिकित्सकों एवं पैरा मेडिकल स्टाफ के नदारद रहने व इमर्जेन्सी ड्यूटी के अभिलेखों के उपलब्ध न होने तथा लचर कार्यप्रणाली के आरोप में की है। साथ ही सीएमओ डॉ. राणा ने कुमाऊं मंडल के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य निदेशक से डा. जोशी के खिलाफ विभागीय जॉच कराने की संस्तुति भी की है।
बताया गया है कि डा. जोशी खिलाफ मिली शिकायतों को डीएम बंसल ने सीडीओ विनीत कुमार, एसडीएम विनोद कुमार, एडीएम डॉ.टीके टम्टा तथा तहसीलदार धारी से जांच करायी थी। सभी जॉच अधिकारियों ने पीएचसी भवाली के कार्यों को लेकर सवाल उठाये थे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : लॉक डाउन में दुकान खोले हार्डवेयर विक्रेता का 5000 का चालान

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 अप्रैल 2020। लॉक डाउन के दौरान भी कई लोग अपनी दबंगई दिखाने से बाज नहीं आ रहे हैं। बिना किसी संकोच के बाजार में लोग गैर जरूरी वस्तुओं की दुकानें भी खोल रहे हैं। मल्लीताल कोतवाली पुलिस को सोमवार को एक शिकायत पर नगर की सबसे संकरी बर्तन गली में आमने-सामने दोनों ओर हार्डवेयर की दुकान चलती हुई मिली। इससे संकरी गली में सामाजिक दूरी के सिद्धांत को भी पलीता लग रहा था। नगर कोतवाल अशोक कुमार सिंह ने बताया कि राजेंद्र कुमार सज्जन लाल नाम के इस प्रतिष्ठान के बारे में पहले से शिकायत और कई वीडियो मिल रहे थे। इस पर कार्रवाई करते हुए दुकान स्वामी का 5000 रुपए का चालान कर दिया गया है। आगे भी एक समोसा विक्रेता द्वारा भी लॉक डाउन में लगातार समोसे बेचे जाने की शिकायतें हैं। उस पर भी कार्रवाई की जा रही है।

 यह भी पढ़ें : 5000 का महंगा पड़ा ‘रूप श्रृंगार’, पुलिस से गैर जरूरी मदद भी पड़ी महंगी

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 अप्रैल 2020। मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने शनिवार को मल्लीताल बाजार स्थित ‘रूप श्रृंगार’ नाम के एक प्रतिष्ठान का लॉक डाउन के दौरान नियम विरुद्ध खुलने पर 5000 रुपए का और एक बिहारी मजदूर का अनावश्यक तरीके से पुलिस से मदद मांगने पर 81 पुलिस एक्ट के तहत 250 रुपए का चालान किया है।
नगर कोतवाल अशोक कुमार सिंह ने बताया कि मल्लीताल बाजार से ही उन्हें शिकायत मिली थी कि एक प्रतिष्ठान लॉक डाउन के दौरान नियमविरुद्ध खुला हुआ है। जांच में शिकायत सही पाये जाने पर प्रतिष्ठान का 5000 रुपए का चालान किया गया। बताया गया है कि यह कॉस्मैटिक्स का प्रतिष्ठान है। इसके अलावा कोतवाली पुलिस ने नगर के अयारपाटा क्षेत्र में शेरवुड कॉलेज के पास रहने वाले बिहारी मजदूर अली अकबर पुत्र केशर मियां निवासी ग्राम बेलुवा थाना तारी जिला बेतिया बिहार का 250 रुपए का चालान किया है। बताया गया है कि उसने पुलिस को 112 नंबर पर फोन करके राशन सामग्री मांगी थी, जबकि उसके घर में भरपूर मात्रा में राशन, सब्जी व रुपए भी थे। बताया गया कि किसी के बहकावे में आकर उसने फोन कर दिया था।

यह भी पढ़ें : भूखे-प्यासे ही 50 किमी दूर के लिए पैदल निकले थे मजदूर, पकड़े गये..

-प्रशासन ने भोजन व स्वास्थ्य जांच कराकर गन्तव्य को भेजा
नवीन समाचार, नैनीताल, 14 अप्रैल 2020। लॉक डाउन ने वाकई मजदूरों-निर्बल वर्ग की समस्याएं काफी बढ़ा दी हैं। लॉक डाउन से बेरोजगार हुए भवाली के कुछ मजदूरों से जब भूख बर्दास्त नहीं हुई तो वे मंगलवार को भूखे-प्यासे ही करीब 50 किमी दूर कालाढुंगी में रहने वाले अपने परिचितों के पास जाने के लिए पैदल ही निकल पड़े। यहां वे तल्लीताल थाना पुलिस की नजर में आ गये। तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने उन्हें कोरोना की संभावना के दृष्टिगत स्वास्थ्य जांच के लिए बीडी पांडे जिला चिकित्सालय पहुंचाया। यहां चिकित्सकों ने उनकी जांच की। पीएमएस डा. केएस धामी ने बताया कि वे जांच में स्वस्थ पाये गये। अलबत्ता वे भूखे थे। इसलिए उन्हें भोजन कराया गया। उन्होंने बताया कि कालाढुंगी में उनके कुछ रिस्तेदार हैं। इस पर उन्हें कालाढुंगी भेज दिया गया एवं उन्हें स्थानीय अस्पताल के संपर्क में रहने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें : गाजियाबाद से दो दिन में पैदल नैनीताल पहुंचे बागेश्वर के युवक, पकड़े गए…

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 मार्च 2020। गाजियाबाद से पैदल बागेश्वर जा रहे तीन युवकों को नैनीताल पुलिस ने पकड़ लिया। तीनों को जांच के लिए बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लाया गया। यहां प्राथमिक उपचार के उपरांत तीनों को 14 दिन के एकांतवास के लिए टीआरएच सूखाताल स्थित संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया है। इसके साथ यहां एकांतवास में रखे गए लोगों की संख्या 55 हो गई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बागेश्वर के तीन युवक सोमवार को कालाढुंगी की ओर से पैदल नैनीताल आ रहे थे। रास्ते में वे मंगेाली से पशुओं का चारा लाने वाले वाहन में लिफ्ट लेकर आ रहे थे, तभी वे नगर से ठीक पहले बारापत्थर चौकी पर तैनात पुलिस कर्मियों की नजर में आ गये। पुलिस कर्मी उन्हें वाहन सहित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ले आये। यहां स्वास्थ्य जांच के बाद उन्हें क्वारन्टाइन में भेज दिया गया। उन्होंने बताया कि वे बागेश्वर के निवासी हैं। गाजियाबाद में नौकरी करते हैं। दो दिन पहले गाजियाबाद से अपने घर के लिए बागेश्वर के लिए चले थे। यहां आकर पकड़ गए।

यह भी पढ़ें : दो जमातियों के खिलाफ दफा 307 के तहत मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, देहरादून, 8 अप्रैल 2020। उत्तराखंड में डीजीपी अनिल रतूरी द्वारा दी गई 6 अप्रैल तक स्वयं सामने आने की डेडलाइन के बाद तबलीगी जमात के दो जमातियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज हुआ है। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक-कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने बताया कि तबलीगी जमात के दो सदस्यों के खिलाफ हरिद्वार में ट्रैवल हिस्ट्री छिपाने, अधिकारियों को गुमराह करने और दूसरों के जीवन को खतरे में डालने के आरोप में हत्या के प्रयास के आरोप में भारतीय दंड संहिता की धारा 307 के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है। दोनों जमातियों में से एक हरिद्वार और एक रुड़की केे है। ये दोनों मार्च महीने में राजस्थान के अलवर में एक धार्मिक आयोजन में भाग लेने गए थे।
श्री कुमार ने बताया कि दोनों को क्वारंटीन कर दिया गया है। उनके कॉल रिकॉर्ड के आधार पर पुलिस को पता चला कि तबलीगी जमात में शामिल होने के लिए अलवर गए थे और मार्च में लौटे थे। बताया गया है कि इससे पहले डीजीपी की चेतावनी पर हरिद्वार, देहरादून, पौड़ी और नैनीताल जिले से 180 लोगों ने अधिकारियों के सामने सरेंडर किया। इनके अलावा 1 अप्रैल से 5 अप्रैल के बीच आईपीसी और आपदा प्रबंधन अधिनियम की अलग-अलग धाराओं के तहत 41 लोगों तथा लक्सर में जमातियों को शरण देने वाले 4 लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किये गये हैं।

यह भी पढ़ें : सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान का अनुबंध निलंबित

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 अप्रैल 2020। नगर के वार्ड नम्बर 7 स्थित रेखा जोशी द्वारा संचालित सरकारी सस्ता गल्ले की दुकान का अनुबंध तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन ने बताया कि उनके खिलाफ शिकायत मिली थी कि उनके द्वारा उपभोक्ताओ को खाद्यान नियमानुसार वितरण नहीं किया जा रहा है। शिकायत को संज्ञान मे लेते हुये पूर्ति निरीक्षक से जांच कराई गई। जांच में कई अनियमिततायें प्रकाश मे आई है जिस पर कार्यवाही करते हुये उनकी दुकान का अनुबंध निलंबित कर दिया गया है। इस दुकान से संबंधित सभी उपभोक्ताओं एवं राशन कार्ड धारकों को विक्रेता त्रिलोक सिह नेगी सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेता वार्ड-7 से सम्बद्ध कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें : मास्क-सेनिटाइजर पर खुद प्रशासन की छापेमारी में खुली सरकारी व्यवस्थाओं-तैयारियों की पोल

-पूरे शहर की 21 दुकानों में मिले सिर्फ 8 मास्क, 15 सेनिटाइजर, प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र में भी नहीं मिले मास्क व सेनिटाइजर
नवीन समाचार, नैनीताल, 19 मार्च 2020। राज्य सरकार के कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए किये जा रहे प्रयासों की बृहस्पतिवार को प्रशासन द्वारा की गई छापेमारी में एक तरह से खुल पोल खुल गई। प्रशासनिक टीम ने नगर के 21 प्रतिष्ठानों एवं मेडिकल स्टोरों में छापेमारी तो मास्क और सेनिटाइजर की कालाबाजारी को जानने के लिए की, लेकिन जिला व मंडल मुख्यालय, प्रदेश के उच्च न्यायालय एवं देश-विदेश के सैलानियों की मौजूदगी वाली पर्यटन नगरी में इन 21 प्रतिष्ठानों में से केवल दो प्रतिष्ठानों में केवल 8 मास्क और 15 सेनिटाइजर ही मिले। यहां तक कि प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र में भी एक भी फेस मास्क और सेनिटाइजर टीम को छापेमारी में नहीं मिला। ऐसे में सवाल उठता है कि लोग कोरोना संक्रमण के लिए और आगे आपातकालीन परिस्थिति होने पर कहां से मास्क और सेनिटाइजर लाकर स्वयं का बचाव करें।
इधर प्रशासन का कहना था कि उन्हें कोरोना को लेकर लोगो में व्याप्त भय का फायदा उठाकर मास्क एवं सेनिटाईजर की कालाबाजारी की विभिन्न माध्यमों से जानकारी मिल रही थी। इस पर डीएम सविन बंसल के निर्देशों पर बृहस्पतिवार को जिला पूर्ति अधिकारी मनोज कुमार बर्मन, औषधि निरीक्षक मीनाक्षी बिष्ट, तहसीलदार भगवान सिंह चौहान व पूर्ति निरीक्षक राहुल डांगी ने सरोवर नगरी में 21 प्रतिष्ठानों एवं मेडीकल स्टोर पर छापेमारी की। अधिकारियों ने इंद्रा फार्मेसी, कैलाश आयुर्वेदिक, गंगाोला कैमिस्ट, राजू किराना स्टोर, गुरुवचन सिंह एंड ब्रदर्स होल सेलर, गुप्ता गिफ्ट इम्पोरियम, फॉर सीजन्स शॉप, पॉपुलर फार्मेसी, मधुर मिलन गिफ्ट सेंटर, कृष्णा स्टोर, हिमानी मेडिकोज, गुलाटी गिफ्ट हाउस, एसके साह एंड ब्रदर्स, दीप कन्फेक्शनरी, संजीवनी मेडिकल स्टोर, जनता मेडिकल स्टोर, प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र, मोहन-को केमिस्ट, दि केमिस्ट, मेडिकल कॉर्नर तथा राम सिंह संत सिंह मेडिकल स्टोर में सेनिटाईजर एवं मास्क स्टॉक की गहनता से चेकिंग की। इनमें से केवल इंद्रा फार्मेसी पर मात्र 8 और राजू किराना स्टोर पर सेनिटाईजर के 15 पीस मिले। इस दौरान प्रतिष्ठान स्वामियों को मास्क व सेनिटाइजर की कालाबाजारी न करने की हिदायत दी गई, और ऐसा करने पर आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 विभिन्न धाराओं के अंतर्गत कार्यवाही की चेतावनी दी गई।

यह भी पढ़ें : होली के दृष्टिगत छापेमारी, चार नमूने जांच को भेजे, एक प्रतिष्ठान का चालान

होटलों में प्रयोग से जहरीले हो रहे तेल की जांच करते खाद्य सुरक्षा अधिकारी अश्विनी कुमार सिंह (फाइल फोटो)।

नवीन समाचार, भवाली (नैनीताल), 4 मार्च 2020। बुधवार को खाद्य सुरक्षा विभाग ने होली के त्योहार पर आम जनता को दूषित खाद्य पदार्थों से बचाने के दृष्टिगत जनपद के भवाली व भीमताल कस्बों में छापेमारी की। इस दौरान चार दुकानों से संदिग्ध खाद्य सामग्री के नमूने लेकर प्रयोगशाला को भेजे गए और एक प्रतिष्ठान का गंदगी पाए जाने पर चालान कर दिया।
खाद्य अधिकारी अश्विनी कुमार सिंह ने बताया कि इस दौरान करीब डेढ़ दर्जन दुकानों में छापेमारी की गई और भवाली के मधु स्वीट्स से खोया, विपुल स्वीट्स से दूध, तारा एंड सन्स से माउथ फ्रेशनर व भीमताल के प्रतिष्ठान सुयाल जनरल स्टोर से नीरज नाम के नए ब्रांड के सरसों के तेल के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। वहीँ विपुल स्वीट्स का बिना लाइसेंस के खाद्य वस्तुएं बेचने पर धारा 51 के तहत चालान कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें : नियम-कानूनों की अवहेलना पर प्रशासन ने क्लीनिक को किया सील

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 फरवरी 2020। जनपद के जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी के आदेशों पर शुक्रवार को जनपद के कालाढुंगी स्थित ओमकारा क्लीनिक को जिला निरीक्षण एवं मूल्यांकन समिति ने सील कर दिया। क्लीनिक के प्रसव कराने वाले लेबर रूम, अल्ट्रासाउंड मशीन आदि को भी सील कर दिया गया है।
जिला निरीक्षण एवं मूल्यांकन समिति की ओर से प्रशासन द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि इस क्लीनिक को पीसीपीएनडीटी, एमटीपी व बायो-मेडिकल कूडे़ एवं क्लीनिकल इस्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत सील किया गया है। क्लीनिक में पीसीपीएनडीटी एक्ट के अंतर्गत फार्म एक अपूर्ण पाया गया। साथ ही क्लीनिक में मानकों को पूरा नहीं किया जा रहा था। एमटीपी एक्ट के तहत अभिलेखों का रखरखाव नहीं किया जा रहा था तथा क्लीनिक के बायो मेडिकल वेस्ट के निस्तारण के मानकों का पालन भी नहीं किया जा रहा था। समिति में राजस्व निरीक्षक प्रवीण शर्मा, एसीएमओ डा. रश्मि पंत, डा. अजय शर्मा, अनूप बमोला, दीपक कांडपाल, सचिन श्रीवास्तव व ललित आदि मौजूद रहे।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply