April 23, 2024

(Chunav) नैनीताल जनपद में 14634 मतदाताओं की वृद्धि, पुरुषों से महिला मतदाता अधिक बढ़े..

0

Chunav

Chunav

नवीन समाचार, नैनीताल, 23 जनवरी 2024 (Chunav) । नैनीताल जनपद की 6 विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाताओं की संख्या में 14634 की वृद्धि हुई है, और इस तरह जनपद में मतदाताओं की कुल संख्या 80,4174 हो गई है। खास बात यह भी है कि पुरुषों से अधिक महिला मतदाताओं की संख्या बढ़ी है। बढ़े मतदाताओं में पुरुष 7294 और महिलाएं 7340 हैं।

अपर जिला अधिकारी-उप जिला निर्वाचन अधिकारी शिवचरण द्विवेदी ने बताया कि 2023 में मतदाताओं की संख्या के आलेख्य प्रकाशन के समय जनपद में 410376 पुरुषों, 379156 महिलाओं और 8 अन्य सहित कुल मतदाताओं की संख्या 7,90,140 थी।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से, कू से, कुटुंब एप से, डेलीहंट से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। 

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : नगर निकाय कर्मचारी महासंघ की नैनीताल शाखा की कार्यकारिणी भंग-मतदान (Chunav) 18 को, लोस चुनाव की बैठक 12 को..

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जनवरी 2024 (Chunav)। नगर निकाय कर्मचारी महासंघ की नगर पालिका परिषद नैनीताल शाखा की वर्तमान कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। मंगलवार को हुई बैठक में इसके साथ ही शाखा के चुनाव (Chunav) का कार्यक्रम तय कर दिया गया है। चुनाव (Chunav) के लिये सुनील कुमार खोलिया को मुख्य चुनाव (Chunav) अधिकारी एवं शिवराज नेगी, दीपराज कुमार व ईश्वरी दत्त बहुगुणा चुनाव अधिकारी बनाया गया है।

चुनाव (Chunav) हेतु नामांकन पत्र प्रस्तुत करने के लिये 11 जनवरी की अपराह्न 3 बजे, नामांकन वापस करने के लिये 12 जनवरी की पूर्वाह्न 11 बजे तक का समय दिया गया है। 12 को अपराह्न 2 से 4 बजे तक चुनाव (Chunav) चिन्ह आवंटित किये जायेंगे और मतदान 18 जनवरी को पूर्वाह्न 11 से अपराह्न 3 बजे तक होगा।

आगामी लोक सभा चुनाव (Chunav) के लिये अधिकारियों की बैठक 12 को

नैनीताल। नैनीताल जनपद में आगामी लोक सभा चुनाव (Chunav) के सुचारु, सुव्यवस्थित, शांतिपूर्ण एवं समयान्तर्गत संपादित करने के लिए जनपद के अधिकारियों को नोडल, प्रभारी, सह नोडल अधिकारी नामित किए जाने के लिये आगामी 12 जनवरी को सुबह 11 बजे से नगर निगम हल्द्वानी सभागार में बैठक का आयोजन किया जाएगा।

जनपद के उप जिला निर्वाचन अधिकारी-अपर जिला अधिकारी शिव चरण द्विवेदी ने जिलाधिकारी-जिला निर्वाचन अधिकारी के निर्देशों पर सभी अधिकारियों से बैठक में अनिवार्य रूप से प्रतिभाग करने को कहा है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से, कू से, कुटुंब एप से, डेलीहंट से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

यह भी पढ़ें : Chunav : नैनीताल में एक और भीमताल में 4 मतदेय स्थल बढ़े

नवीन समाचार, नैनीताल, 20 अक्टूबर 2023 (Chunav)। नैनीताल जनपद की भीमताल विधानसभा में 4 तथा नैनीताल विधानसभा में 1 नये मतदेय स्थल बनाये गये हैं।

डीएम वंदना ने बतौर जिला निर्वाचन अधिकारी बताया कि लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा-25 के उपबन्धों के अंतर्गत भीमताल विधानसभा में राजकीय प्राथमिक विद्यालय कालागढ़ी, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पतलिया (दानी), राजकीय प्राथमिक विद्यालय चौखुटा तथा राजकीय प्राथमिक विद्यालय पनिया मेहता के साथ नैनीताल विधानसभा में राजकीय प्राथमिक विद्यालय गोरियादेव को नया मतदेय स्थल बनाया गया है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पंचायत उप चुनाव (Chunav) हेतु आचार संहिता लागू, चुनाव (Chunav) कार्यक्रम के साथ चुनाव अधिकारी नियुक्त

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 सितंबर 2023 (Chunav)। जनपद के विभिन्न विकास खंडों में सदस्य ग्राम पंचायत, प्रधान ग्राम पंचायत तथा सदस्य क्षेत्र पंचायत के रिक्त पदों के लिए राज्य निर्वाचन आयोग उत्तराखण्ड ने उप निर्वाचन के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। जिला निर्वाचन अधिकारी-जिला मजिस्ट्रेट वंदना ने आदेश दिये हैं कि इस उप चुनाव (Chunav) के लिए जनपद के संबंधित क्षेत्रों में तत्काल प्रभाव आदर्श आचार संहिता लागू कर दी गयी है, जो मतगणना की समाप्ति तक प्रभावी रहेगी।

सुश्री वंदना ने बताया कि उप चुनाव (Chunav) हेतु नाम निर्देशन पत्र 20 व 21 सितम्बर की प्रातः 10 बजे से 5 बजे के मध्य जमा किये जायेंगे, जबकि निर्देशन पत्रों की जांच 22 सितम्बर को, नाम वापसी 23 सितम्बर 2023 को, निर्वाचन प्रतीक आवंटन 24 सितम्बर को प्रातः 10 बजे से कार्य समाप्ति तक तथा मतदान 5 अक्टूबर को प्रातः 8 बजे से सायं 5 बजे तक होगा। मतगणना 7 अक्टूबर 2023 प्रातः 8 बजे से प्रारम्भ की जायेगी और इसके बाद चुनाव (Chunav) परिणाम घोषित किये जायेंगे।

उन्होंने बताया कि उप चुनाव (Chunav) की पूरी प्रक्रिया संबंधित विकास खंड परिसरों में की जायेगी। स्वतंत्र, निष्पक्ष व शान्तिपूर्वक सम्पन्न कराये जाने हेतु निर्वाचन अधिकारी, सहायक निर्वाचन अधिकारी की तैनाती कर दी है।

विकास खण्ड ओखलकांडा हेतु तनवीर असगर व प्रदीप पंत, धारी हेतु जगदीश पंत व संजय गांधी, रामगढ़ हेतु कमल किशोर पांडे व अनूप सिंह चौकड़ायत, बेतालघाट हेतु महेश गंगवार व विनोद आर्य, रामनगर हेतु उमाकांत पंत व श्याम सिंह नेगी, कोटाबाग हेतु रमेश भटट व दयाकिशन सुयाल, भीमताल हेतु खिलानंद शर्मा व महेश्वर अधिकारी तथा हल्द्वानी हेतु दीवान कन्याल व रमेश जोशी को निर्वाचन अधिकारी तथा सहायक निर्वाचन अधिकारी नामित किया गया है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Chunav : बागेश्वर उप चुनाव (Chunav) के लिए भाजपा ने भी घोषित किया प्रत्याशी, जानें क्या हैं निहितार्थ

नवीन समाचार, बागेश्वर, 14 अगस्त 2023 (Chunav)। कांग्रेस के साथ भाजपा ने भी बागेश्वर के लिए अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। पार्टी के नई दिल्ली स्थित केंद्रीय कार्यालय ने पूर्व दिवंगत काबीना मंत्री स्वर्गीय चंदन राम दास की विधवा पार्वती दास को टिकट घोषित होने का पत्र जारी किया है।

Chunavइस तरह कह सकते हैं कि भाजपा ने प्रत्याशित तौर पर सहानुभूति का दांव चला है। हालांकि इस बात के भी निहितार्थ निकाले जा रहे हैं कि स्वर्गीय दास की अगली पीढ़ी में आने वाले उनके पुत्र पुत्र गौरव या भाष्कर की उनकी पत्नी को उनका राजनीतिक उत्तराधिकारी माना गया है। क्योंकि यदि पुत्रों को टिकट दिया जाता तो वह लंबी रेस के लिए तैयार हो सकते थे। गौरतलब है कि पार्टी ने दो दिन पूर्व ही कांग्रेस के संभावित प्रत्याशी व एक अन्य पूर्व काबीना मंत्री के पुत्र रंजीत दास को पार्टी में शामिल किया है। ऐसे में यह भी निहितार्थ निकाले जा रहे हैं कि भाजपा उनके लिए भी भविष्य में स्थान बनाकर चल रही है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Chunav : कॉंग्रेस ने की बागेश्वर उप चुनाव (Chunav) के लिए प्रत्याशी की घोषणा

नवीन समाचार, देहरादून, 13 अगस्त 2023 (Chunav)। कांग्रेस ने अपने कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज कर यानी एक तरह से झटका देते हुए एक दिन पूर्व आप से कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व बसपा नेता बसंत कुमार को विधानसभा उपचुनाव (Chunav) के लिए पार्टी का प्रत्याशी घोषित कर दिया है। प्रदेश अध्यक्ष करन महरा और नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने बागेश्वर उपचुनाव (Chunav) के लिए उनके उम्मीदवार बनाए जाने की घोषणा की। इससे पूर्व बसंत 2022 में आम आदमी पार्टी और 2017 में बहुजन समाज पार्टी से चुनाव (Chunav) लड़ चुके हैं। कुमार रविवार को कांग्रेस में शामिल हुए थे।

Chunavसोमवार को प्रेस वार्ता में प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष ने बागेश्वर विधानसभा के उपचुनाव (Chunav) आम आदमी पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक प्रत्याशी बागेश्वर को बागेश्वर विधानसभा का कांग्रेस प्रत्याशी घोषित करते हुए कहा कि उपचुनाव (Chunav) में कांग्रेस शानदार जीत हासिल करेगी।

बता दें कि इससे पहले कांग्रेस के पूर्व विधानसभा विधायक प्रत्याशी रंजीत दास भाजपा में शामिल हो गए थे। इसके बाद से कांग्रेस में मंथन का दौर चला। रविवार को आम आदमी पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष बसंत कुमार को पार्टी की सदस्यता दिलाई गई और आज उन्हें बागेश्वर विधानसभा का विधायक प्रत्याशी घोषित किया गया। अब देखना है भाजपा उनके मुकाबले किसे मैदान में उतारती है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बागेश्वर Up Chunav में ‘डाल-डाल पात-पात’ की स्पर्धा कहीं वॉकओवर तो नहीं ?

दिनेश शास्त्री @ नवीन समाचार, देहरादून, 13 अगस्त 2023 (Chunav)। बागेश्वर विधानसभा उपचुनाव (Chunav) बेशक अभी प्रीमेच्योर स्थिति में है, लेकिन नामांकन से पूर्व की स्थिति दिलचस्प तो है ही। कांग्रेस यहां अपनों की कीमत पर दूसरे दल से आयातित प्रत्याशी पर दांव खेलने जा रही है। एक बार बसपा और एक बार आम आदमी पार्टी के टिकट पर चुनाव (Chunav) लड़ चुके बसंत से पार्टी में हरियाली लाने की कोशिश कितनी सफल होगी,

इसका पता तो आठ सितंबर को मतगणना के बाद चलेगा लेकिन कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी रहे रंजीत दास के भाजपा में शामिल होने के बाद परसेप्शन की लड़ाई कांग्रेस हार चुकी है। अभी तक के संकेतों के अनुसार कांग्रेस जिस कारोबारी पर दांव खेलने जा रही है, पिछले दो चुनावों में उसकी निजी उपस्थिति बहुत ज्यादा उत्साहजनक नहीं दिखी है।
(Chunav)भाजपा का इस उपचुनाव को लेकर गणित क्या है, यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है लेकिन कुमाऊं की राजनीतिक हलचलों पर पैनी नजर रखने वाले पत्रकार डॉ. नवीन जोशी मानते हैं कि कांग्रेस गोत्र के पूर्व पराजित प्रत्याशी पर भाजपा शायद ही दांव खेले। जोशी के अनुसार रंजीत दास को अगले चुनाव अथवा आगामी निकाय चुनाव के लिए रिजर्व रखा गया है लेकिन उसका लाभ प्रतिष्ठा के इस चुनाव में उठाया जाएगा।

(Chunav) जाहिर है टिकट दिवंगत चंदन राम दास के परिवार से ही किसी को मिल सकता है। सूत्रों की मानें तो भाजपा ने आलाकमान के पास जिन तीन नामों का पैनल भेजा है, उसमे चंदन राम दास के परिवार को ही पहले स्थान पर रखा है। आखिर भाजपा दिवंगत नेता के प्रति सहानुभूति को क्यों नहीं भुनाना चाहेगी।

भरोसेमंद सूत्रों की मानें तो पिछले चुनाव (Chunav) में कांग्रेस के पराजित प्रत्याशी रंजीत दास को जब यह भरोसा हो गया कि पार्टी इस बार उन्हें टिकट नहीं दे रही है तो उन्होंने भाजपा का दामन थामने में ही भलाई समझी, ताकि भविष्य को सुनिश्चित किया जा सके। पार्टी के रुख को भांपने के बाद ही उन्होंने कांग्रेस को अलविदा कहने का निर्णय लिया। इसके साथ ही बागेश्वर उपचुनाव का परिदृश्य भी बदल सा गया है।

अब एक नजर बागेश्वर विधानसभा क्षेत्र के पिछले साल हुए विधान सभा निर्वाचन पर डालें। बागेश्वर के लोगों ने 14 फरवरी 2022 को उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Chunav) के लिए मतदान किया था और परिणाम 10 मार्च को घोषित हुए थे। चंदन राम दास ने इस सीट पर बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी।

उससे पहले 2017 में भी पांच उम्मीदवार मैदान में थे। उस समय भी भाजपा के चंदन राम दास ने ही यहां से जीत दर्ज की। उस समय एकतरफा मुकाबला था जिसमें भारतीय जनता पार्टी के चंदन राम दास ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के बालकृष्ण भारी अंतर से हराकर आसानी से चुनाव (Chunav) जीत लिया था।

2012 में भी भाजपा के चंदन राम दास ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राम प्रसाद टम्टा को हराया था। उससे पहले के चुनाव (Chunav) में भी चंदन राम दास ही जीते थे। यानी 2007 के बाद से यह सीट भाजपा का अभेद्य किला बनी हुई है।

आगामी 17 अगस्त तक इस सीट के लिए नामांकन होना है, 5 सितंबर को वोटिंग और 8 सितंबर को नतीजे घोषित होंगे। ऐसे में अब इस सीट पर भाजपा और कांग्रेस के बीच एक बार फिर से टक्कर देखने को मिल सकती है।

भूगोल की दृष्टि से देखें तो करीब 665 वर्ग किलोमीटर में फैला ये निर्वाचन क्षेत्र अनुसूचित जाति के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित है। यहां करीब सवा लाख मतदाता हैं। बरसात के मौसम में कितना मतदान होगा, उसका अनुमान फिलहाल लगा पाना मुश्किल है लेकिन उम्मीद की जा सकती है कि तब तक मौसम सुधरेगा।

बहरहाल भाजपा और कांग्रेस में दूसरे दलों के नेता अपने पाले में करने का प्रयास चल रहा है। इससे चुनाव (Chunav) परिणाम पर जो भी असर पड़े, किंतु परसेप्शन तो बन ही रहा है और परसेप्शन के युद्ध में अभी तक कांग्रेस पिछड़ी हुई है। जिस नेता पर कांग्रेस दांव लगाने जा रही है, सर्व समाज में उसकी स्वीकार्यता होगी, इसमें सदेह तो है ही।

(Chunav) बाकी फैसला तो मतदाताओं के हाथ में है। वैसे कांग्रेस के पास इस उपचुनाव (Chunav) के रूप में बेहतरीन मौका था और उसके पास सर्व स्वीकार्य नेता भी थे। ऐसे में सवाल वॉक ओवर का भी उभरने की आशंका से कैसे इनकार कर सकते हैं।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बागेश्वर Chunav : आज भाजपा के बाद कल कांग्रेस भी कर सकती है धमाका, दो दल बदल चुके पूर्व प्रत्याशी हो सकते हैं कांग्रेस में शामिल

नवीन समाचार, बागेश्वर, 12 अगस्त 2023 (Chunav)। शनिवार को कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी एवं पूर्व मंत्री गोपाल राम दास के पुत्र रंजीत दास को भाजपा में शामिल कर कांग्रेस ने ‘परसेप्सन’ के मैदान में कांग्रेस से बढ़त ले ली है, लेकिन अब कांग्रेस पार्टी भी रविवार को कुछ इसी तर्ज पर दूसरे दल के दो बार विधायक का चुनाव (Chunav) लड़ चुके पूर्व प्रत्याशी को कांग्रेस में शामिल कर सकती है, और ऐसी भी प्रबल संभावना है कि इन्हीं गैर कांग्रेसी प्रत्याशी को टिकट भी देकर अपने दल के कार्यकर्ताओं की नाराजगी मोल ले ले।

हालांकि यह भी बताया जा रहा है कि रंजीत के भाजपा में जाने के पीछे कारण भी कांग्रेस की यही कोशिश है। रंजीत को पहले से इसकी जानकारी लग गई थी, इसलिए उन्होंने अपना टिकट कटता देख भाजपा में जाना उचित समझा। हालांकि उन्हें भाजपा से फिलहाल विधानसभा का टिकट मिलता तो नजर नहीं आ रहा है, परंतु बताया जा रहा है कि आगामी निकाय चुनाव (Chunav) में वह भाजपा से बागेश्वर नगर पालिका अध्यक्ष पद का अथवा 2027 में विधानसभा का टिकट हासिल कर सकते हैं।

उधर, कांग्रेस के मोर्चे पर राजनीतिक विश्लेषकों के हवाले से बात करें तो यदि वह नए आ रहे पूर्व प्रत्याशी को टिकट देती है तो यह पार्टी के लिए न केवल भविष्य वरन वर्तमान के लिए भी आत्मघाती कदम साबित हो सकता है। इससे न केवल पार्टी अपने कार्यकर्ताओं की नाराजगी मोल ले लेगी, वहीं पूर्व प्रत्याशी का खासकर सवर्णों के विरुद्ध एक हत्याकांड में किया गया विरोध-प्रदर्शन भी सतह पर आ सकता है, और कांग्रेस को सवर्णों की नाराजगी भी झेलनी पड़ सकती है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग: बागेश्वर उपचुनाव (Chunav) की हुई घोषणा

नवीन समाचार, देहरादून, 8 अगस्त 2023 (Chunav)भारत निर्वाचन आयोग ने उत्तराखंड की बागेश्वर विधानसभा में उपचुनाव (Chunav) के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। अधिसूचना के अनुसार 5 सितंबर को मतदान होगा। जबकि 8 सितंबर को मतगणना की जाएगी। इससे पहले प्रत्याशी 17 अगस्त को नामांकन दाखिल करेंगे। 18 अगस्त को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 21 अगस्त की तिथि नाम वापसी के लिए रखी गई है।

उल्लेखनीय है कि बागेश्वर विधानसभा की सीट उत्तराखंड भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व काबीना मंत्री चंदन राम दास के 26 अप्रैल को हृदय गति रुकने से हुए निधन के बाद खाली हुई है। 

इस बारे में जानकारी देते हुए उत्तराखंड मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. वी षणमुगम ने बताया कि बागेश्वर विधानसभा क्षेत्र में 60,048 पुरुष और 58,177 महिलाओं सहित कुल 1,18,225 मतदाता है। मतदाताओं में 2206 सर्विस वोटर और 1356 पीडब्ल्यूडी यानी दिव्यांग तथा 2556 मतदाता 80 साल से अधिक के उम्र के हैं। उपचुनाव (Chunav) के लिए 177 मतदाता केंद्रों में 188 मतदान बूथ बनाए जाएंगे।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Chunav) : नैनीताल : शिल्पकार सभा की नई कार्यकारिणी गठित, अध्यक्ष पद के चुनाव (Chunav) में पूर्व विधायक व सभा अध्यक्ष की मौजूदगी से बनी दिलचस्प स्थिति

Ajay Bhatt (@AjaybhattBJP4UK) / Twitterनवीन समाचार, नैनीताल, 5 मार्च 2023। शिल्पकार सभा नैनीताल की नई कार्यकारिणी का गठन कर लिया गया है। नई कार्यकारिणी में रमेश चंद्र आर्य निर्वाचित हुए हैं। जबकि उपाध्यक्ष पद पर राजेन्द्र प्रसाद, महामंत्री पद पर देवेंद्र प्रकाश, मंत्री पद पर बंटू आर्य व कोषाध्यक्ष पद पर संजय कुमार निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए। यह भी पढ़ें : बड़ी दुर्घटना: कार के परखच्चे उड़े, 3 लोगों की मौत, 2 गंभीर…

पूर्व नगर पालिकाध्यक्ष श्याम नारायण, केएल आर्य व पूर्व विधायक डॉ. जीत राम की देखरेख में आयोजित हुए चुनाव (Chunav) में अध्यक्ष पद पर इंदर लाल आर्य व रमेश चंद्र आर्य ने नामांकन किया था। चुनाव (Chunav) में सभा के 42 सदस्यों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इनमें से रमेश चंद्र आर्य को 22 व इंदर लाल आर्य को 20 मत मिले। बैठक का संचालन पूर्व महामंत्री रमेश चंद्रा ने किया। यह भी पढ़ें : युवती से यौन उत्पीड़न की हद, तन तो लूटा ही अब धन लूटने की ओर…

सभा से जुड़े सूत्रों ने बताया है कि अध्यक्ष पद के चुनाव (Chunav) में काफी दिलचस्प स्थिति रही। नव निर्वाधिक अध्यक्ष रमेश चंद्र आर्य शिक्षक हैं, जबकि पराजित प्रत्याशी इंद्र लाल आर्य ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता हैं, तथा पूर्व विधायक डॉ. जीत राम एवं शिल्पकार सभा के पूर्व अध्यक्ष भागवत प्रसाद के साढ़ू भाई हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : छावनी परिषद चुनाव (Chunav) की अधिसूचना जारी

Gallery – NAINITAL CANTONMENT BOARDनवीन समाचार, नैनीताल, 20 फरवरी 2023। नगर में इस वर्ष के अंत तक संभावित नगर पालिका चुनाव (Chunav) से पहले एक और चुनाव (Chunav) की अधिसूचना जारी हो गई है। केंद्रीय रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार देश के अन्य छावनी परिषदों के साथ नगर के छावनी परिषद क्षेत्र में आगामी 30 अप्रैल को मतदान होगा। इसकी प्रक्रिया शुरू हो गई है। यह भी पढ़ें : नैनीताल: यूट्यूब की महिला संचालक पर धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में अभियोग दर्ज

छावनी परिषद कार्यालय के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नगर के भवाली रोड क्षेत्र में लगे छावनी परिषद में लगभग 1200 मतदाता इस चुनाव में हिस्सा लेंगे। इनमें करीब 250 सैन्य परिवारों के अलावा अन्य मतदाता नैनीताल नगर के आम लोग हैं। इस चुनाव में भी नगर पालिका की तरह 5 वर्ष के लिए सदस्य चुने जाते हैं, अलबत्ता इस बार सदस्यों को कोरोना की स्थितियों में तीन बार 6-6 माह का सेवा विस्तार मिला हुआ है और यह सेवा विस्तार भी गत 10 फरवरी को समाप्त हो गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 6 पदों के लिए निर्विरोध नामांकन तय, दो-दो पदों पर सीधे व त्रिकोणीय संघर्ष की संभावना

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 दिसंबर 2022। डीएसबी परिसर छात्र संघ चुनाव (Chunav) के लिए बुधवार को नामांकन प्रक्रिया आयोजित हुई। नामांकन की प्रक्रिया के बाद अध्यक्ष एवं संयुक्त सचिव पद के लिए त्रिकोणीय एवं सचिव विश्वविद्यालय प्रतिनिधि पद के लिए सीधा मुकाबला होने की संभवना लग रही है, हालांकि इस बारे में सही स्थिति गुरुवार को प्रस्तावित नामांकन पत्रों की जांच तथा नाम वापसी के तय कार्यक्रम के बाद ही सामने आएगी।

(Chunav) अलबत्ता, छात्र व छात्रा उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष, सांस्कृतिक सचिव तथा कला व विज्ञान संकाय प्रतिनिधि के पद हेतु एक-एक ही नामांकन किए जाने से इन 6 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन तय माना जा सकता है। यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड: शराब के नशे में गले लगाने वाले ग्राहक ने खोली पुलकित व वनंतरा रिजॉर्ट की कलई

इस दौरान अध्यक्ष पद हेतु मोहित पंत, शुभम बिष्ट व शुभम कुमार, छात्रा उपाध्यक्ष पद हेतु एकमात्र प्रत्याशी कंचन भट्ट, छात्र उपाध्यक्ष पद हेतु एकमात्र प्रत्याशी निशांत कुमार वाल्मीकि, सचिव पद हेतु प्रिंस गड़िया व राहुल नेगी, सांस्कृतिक सचिव पद हेतु एकमात्र प्रत्याशी सिमरन पांडे, संयुक्त सचिव पद हेतु देवराज सिंह, गौरव जोशी व कुनाल कुमार आर्या, कोषाध्यक्ष पद हेतु एकमात्र प्रत्याशी सन्तोष कुमार आर्या, विश्वविद्यालय प्रतिनिधि पद हेतु दीपक दास व स्वाति जोशी, कला संकाय प्रतिनिधि पद हेतु कार्तिक सिंह रावत व विज्ञान संकाय प्रतिनिधि पद हेतु सुमित मौर्या ने नामांकन कराया। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ब्रेकिंग : 13 आईएएस अधिकारियों को नए वर्ष से पहले मिला पदोन्नति का तोहफा…

नामांकन प्रक्रिया में प्रो.सतपाल बिष्ट, प्रो.अर्चना श्रीवास्तव, प्रो.अमित जोशी, डॉ.प्रियंका रुवाली, डॉ. आशीष तिवारी, डॉ.आशीष मेहता, डॉ.अनिल बिष्ट, डॉ.मनोज आर्या, डॉ.सुनील चनियाल, डॉ.मनोज धुनी, डॉ.जितेंद्र लोहनी, डॉ.ममता जोशी, डॉ.तेज प्रकाश इत्यादि शामिल रहे। इनके अलावा परिसर प्रशासन की ओर से प्रो. एलएस लोधियाल, प्रो.नीता बोरा, मुख्य चुनाव अधिकारी प्रो.एचसीएस बिष्ट, प्रो. आरसी जोशी, प्रो.ललित तिवारी, प्रो.रमेश चंद्र, डॉ.नीलू लोधियाल, डॉ.सुषमा टम्टा, डॉ.अनिल बिष्ट, डॉ.गीता तिवारी, डॉ.विजय कुमार, डॉ.रीना सिंह, डॉ.नंदन बिष्ट, डॉ.शिवांगी चनियाल, डॉ.बिजेंद्र लाल, डॉ.नंदन सिंह इत्यादि ने भी योगदान दिया। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कूटा के चुनाव (Chunav) की प्रक्रिया शुरू, चुनाव (Chunav) महज ऑपचारिकता

नवीन समाचार, नैनीताल, 8 दिसंबर 2022। कूटा यानी कुमाऊं विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के तीन वर्षों के लिए चुनाव (Chunav) हेतु गुरुवार को नामांकन किए गए। इसके साथ ही यह साफ हो गया कि कल शुक्रवार यानी एक दिन बाद होने वाली चुनाव (Chunav) परिणामों की घोषणा केवल औपरिकता भर है, क्योंकि सभी पदों के लिए एक-एक ही नामांकन हुए हैं, और सभी पदों पर निर्विरोध नामांकन तय हो गया है। यह भी पढ़ें : मॉल में चल रहे स्पा सेंटर में सेक्स रैकेट का खुला

यह भी पढ़ें : श्रीराम सेवक सभा में अध्यक्ष व महासचिव पद पर लगातार दूसरी बार मनोज साह व जगदीश बवाड़ी को जिम्मेदारी

नवीन समाचार, नैनीताल, 7 नवंबर 2022। नगर की प्रतिष्ठित धार्मिक संस्था श्रीराम सेवक सभा की 15 सदस्यीय कार्यकारिणी की प्रथम बैठक सोमवार को सभा भवन में देवेंद्र लाल साह की अध्यक्षता एवं जगदीश चंद्र बवाड़ी के संचालन में हुई। बैठक में सर्वसम्मति से आगामी तीन वर्ष के लिए पदाधिकारी चुने गए एवं नई टीम का गठन किया गया। कई अन्य पदाधिकारियों को फिर से जिम्मेदारियां मिली हैं। यह भी पढ़ें : महज इतने के लिए की गई पुलिस कर्मी की पत्नी की हत्या ! इससे ज्यादा के तो पुलिस टीम को मिल गए ईनाम !

नई कार्यकारिणी में मनोज साह लगातार तीसरी बार अध्यक्ष व जगदीश बवाड़ी दोबारा महासचिव बने हैं। वह पूर्व में 9-9 बार उपसचिव व कार्यकारिणी सदस्य रहे हैं। विमल चौधरी दो बार पूर्व में भी प्रबंधक रहे हैं। जबकि पूर्व अध्यक्ष गिरीश जोशी ‘मक्खन’ को संरक्षक, राजेंद्र सिंह बिष्ट को उपसचिव व बिमल कुमार साह को कोषाध्यक्ष चुना गया है।

(Chunav) नवनिर्वाचित पदाधिकारियों ने श्रीराम सेवक सभा द्वारा समय-समय पर किए जाने वाले धार्मिक आयोजनो को भव्य बनाने हेतु प्रतिबद्धता व्यक्त की। यह भी पढ़ें : भाजपा ने की जिलाध्यक्षों की घोषणा, जानें किसे मिली आपके जिले की कमान, और किस वर्ग को मिला कितना प्रतिनिधित्व…?

बैठक की समाप्ति से पहले पूर्व प्रबंधक नवीन लाल साह ‘नफशा’ एवं सभा के सक्रिय सहयोगी पुस्कर लाल साह के निधन पर शोक श्रद्धांजलि अर्पित की गई। बैठक में राजेंद्र लाल साह, राजेंद्र बजेठा, ललित मोहन साह, आलोक चौधरी, भीम सिंह कार्की एवं चंद्र प्रकाश साह सहित सभी कार्यकारिणी सदस्य उपस्थित रहे। यह भी पढ़ें : सुबह का सुखद समाचार : नैनीताल की एक सहित उत्तराखंड की 5 हस्तियों को सरकार देगी उत्तराखंड गौरव सम्मान

ज्ञात हो कि श्री राम सेवक सभा शहर की सबसे पुरानी धार्मिक संस्थाओं में अपनी एक विशेष पहचान रखती है, जो कि प्रसिद्ध श्री नंदा देवी महोत्सव के साथ-साथ भव्य दशहरे एवं आतिशबाजी के साथ रामलीला मंचन, बसंत पंचमी पर उपनयन संस्कार, होली के त्यौहार में फागोत्सव एवं हिंदू नववर्ष पर भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों को भी आयोजित करती है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जिला पंचायत सदस्य पद के चुनाव (Chunav) में जग्गी बंगर सीट पर भाजपा विधायक की अग्नि परीक्षा, इधर भाई-उधर 3 समर्थक…

लालकुआं विधानसभा क्षेत्र) डॉ मोहन सिंह बिष्ट ने ठोकी ताल,बिगड़ेंगे  समीकरण,क्या कहा डॉक्टर मोहन सिंह बिष्ट ने, जाने एक क्लिक में - Uttarakhand  City Newsडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 15 जून 2022। जिला पंचायत उपचुनाव (Chunav) को लेकर नैनीताल जिपं कार्यालय में मंगलवार को चुनाव (Chunav) प्रक्रिया शुरू हो गई। लालकुआं जग्गी बंगर व कालाढूंगी गुलजारपुर बंकी जिपं सदस्य के लिए नामांकन पत्र भरे गये।

खासकर जग्गी बंगर सीट की बात करें तो यह सीट इस सीट के जिला पंचायत सदस्य मोहन सिंह बिष्ट के हरीश रावत को हराकर लालकुआं का विधायक चुने जाने के कारण रिक्त हुई है। इस सीट पर नामांकन करने वालों में पूर्व में मोहन बिष्ट के खिलाफ कांग्रेस के टिकट पर चुनाव (Chunav) लड़कर दूसरे स्थान पर रहे हिमांशु कबडवाल व मोहित गोस्वामी के अलावा अन्य चार प्रत्याशी भाजपा से जुड़े हैं।

इनमें निर्दलीय चुनाव (Chunav) लड़कर जीते मोहन बिष्ट के खिलाफ भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी के तौर पर चुनाव (Chunav) लड़े और तीसरे स्थान पर रहे उनके सगे भाई इंदर बिष्ट, गत विस चुनाव (Chunav) में विधायक पद के दावेदार रहे कमलेश चंदोला के अलावा संदीप कुकसाल व संजय सुनाल भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें : चंपावत उपचुनाव (Chunav) में सीएम धामी के बरक्स कांग्रेस प्रत्याशी ने एक दिन पहले ही बता दिया चुनाव (Chunav) परिणाम !

जानें कौन हैं सीएम पुष्कर धामी को उपचुनाव में टक्कर देने वाली निर्मला  गहतोड़ी, कैसा है उनका राजनीतिक सफर - nirmala gehtodi of congress will give  competition to cm ...नवीन समाचार, चंपावत, 2 जून 2022। चंपावत उप चुनाव (Chunav) की मतगणना शुरू होने से एक दिन पहले ही कांग्रेस की प्रत्याशी निर्मला गहतोड़ी ने एक तरह से हार मान ली है, लेकिन साथ ही अपनी व्यथा भी प्रकट की है। कहा है कि उन्हें अपने परिवार तक से साथ नहीं मिला। बोलीं, इन स्थितियों में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी तक पहुंचाएंगी।

कांग्रेस प्रत्याशी निर्मला गहतोड़ी ने कहा, चुनाव (Chunav) के नतीजे पर उन्हें कोई संशय नहीं है। लेकिन हार पर भी वे संघर्ष से डिगेंगी नहीं। उनका मुकाबला सीएम से था। गहतोड़ी ने कहा, राजनीति में हार क्या होती है, ये तो सीएम को भी पता है। हार ही नहीं, जमानत जब्त होने से भी वे भयभीत नहीं होंगी। उन्हें सबसे बड़ी खुशी पार्टी के वजूद को बचाने की है। उन्होंने कहा, अगर 2021 में सल्ट में हुए उपचुनाव (Chunav) की तरह स्थानीय संगठन ने साथ दिया होता तो ये मुकाबला एकतरफा नहीं होता।

यह भी पढ़ें : भाजपा ने डॉ. कल्पना सैनी को घोषित किया राज्यसभा प्रत्याशी, जानें क्या रहे उन्हें टिकट देने के कारण ?

Rajya Sabha Election: बीजेपी ने उत्तराखंड से डॉ. कल्‍पना सैनी को बनाया  प्रत्‍याशी, जानें उनके बारे में सबकुछ - rajya sabha election bjp fields dr  kalpana saini from uttarakhand nodark ...नवीन समाचार, देहरादून, 29 मई 2022। भाजपा ने राज्यसभा प्रत्याशी के पद पर बनी संशय की स्थित समाप्त हो गई है। पार्टी ने उत्तराखंड से पार्टी की, विरासत में पार्टी की विचारधारा से जुड़ीं एक महिला नेत्री डॉ. कल्पना सैनी के नाम का राज्यसभा सांसद के पद के लिए ऐलान कर दिया है।

सुषमा स्वराज के बाद उत्तराखंड से राज्यसभा जाने वाली वह दूसरी महिला होंगी। कल्पना उत्तराखंड से अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग की अध्यक्ष रही हैं। माना जा रहा है कि भाजपा ने उन्हें प्रत्याशी बनाकर महिला वर्ग के साथ ही हरिद्वार जनपद व लोकसभा के प्रतिनिधित्व को बढ़ाने का संदेश दिया है।

क्योंकि पिछले दिनों केंद्रीय मंत्रिमंडल से हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल से हटने तथा हरिद्वार लोकसभा में विधानसभा चुनाव (Chunav) में पार्टी को अपेक्षित परिणाम नहीं मिले थे, और राज्य मंत्रिमंडल में भी हरिद्वार को प्रतिनिधिमंडल नहीं मिल पाया था।

उन्हें टिकट की घोषणा को चंपावत उप चुनाव (Chunav) से ठीक एक दिन पहले किए जाने के पीछे भी माना जा रहा है कि चंूकि कांग्रेस से चंपावत से एक महिला प्रत्याशी को उम्मीदवार बनाया है, इसलिए भाजपा भी महिलाओं के पक्ष में संदेश देना चाहती है, ताकि चुनाव (Chunav) के दिन भी कांग्रेस खुद को महिला हितैषी बताकर लाभ न ले सके।

डॉ. कल्पना सैनी की बात करें तो वह मूल रूप से हरिद्वार जिले के ग्राम शिवदासपुर-तेलीवाला (रुड़की) की रहने वाली हैं। उनके पिता पृथ्वी सिंह विकसित वर्ष 1991 में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव (Chunav) लड़े और जीते और उनको उत्तर प्रदेश सरकार में सिंचाई राज्यमंत्री बनाया गया था।

इसके बाद 1993 के विधानसभा चुनाव (Chunav) में उन्होंने फिर से जीत हासिल की थी हालांकि उत्तराखंड बनने के बाद वह बहादराबाद सीट से दो बार भाजपा के टिकट पर चुनाव (Chunav) लड़कर हार गए थे। जबकि डॉ. सैनी ने संस्कृत से पीएचडी की डिग्री हासिल की है।

यह भी पढ़ें : जानें विधानसभा चुनाव में सबसे अधिक व सबसे कम अंतर से जीतने वाले 10-10 विधायकों के बारे में…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 11 मार्च 2022। चुनाव में जीत-हार एक वोट के अंतर से भी हो सकती है। और यह लोकतंत्र की खूबसूरती है कि यहां एक वोट से हारने वाला प्रत्याशी भी अपनी हार स्वीकार कर लेता है और कई बार एक वोट से तख्ता पलट भी हो जाता है। बहरहाल विधानसभा चुनाव में 10 सबसे कम अंतर से चुनाव जीते विधायकों की बात करें तो इनमें 5 कांग्रेस, चार भाजपा व एक बसपा के, जबकि सर्वाधिक अंतर से जीते विधायकों की बात करें तो इनमें 9 भाजपा के व एक कांग्रेस के हैं। इस तरह अंतर साफ है।

jagranसबसे पहले कम अंतर से जीते प्रत्याशियों में अल्मोड़ा से कांग्रेस के मनोज तिवारी सबसे कम मात्र 141 व द्वाराहाट से कांग्रेस के मदन बिष्ट 182 वोटों से जीते हैं। वहीं प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत श्रीनगर से 587, बसपा के सरवत करीम अंसारी मंगलौर से 598, टिहरी से भाजपा के किशोर उपाध्याय 951 से, बाजपुर से कांग्रेस के यशपाल आर्य 1611 से, नरेंद्र नगर से भाजपा के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल 1798, बदरीनाथ से कांग्रेस के राजेंद्र भंडारी 2066 से, रुड़की से भाजपा के प्रदीप बत्रा 2277 व प्रतापनगर से कांग्रेस के विक्रम नेगी 2341 वोटों से जीते हैं।

वहीं सर्वाधिक वोटों से जीतने वालों की बात करें तो रायपुर से उमेश शर्मा काऊ 30052, डोईवाला से बृजभूषण गैरोला 29021, कालाढुंगी से बंशीधर भगत 23931, देहरादून कैंट से सविता कपूर 20938, रुद्रपुर से शिव अरोड़ा 19750, ऋशिकेश से प्रेम चंद्र अग्रवाल 19057, लालकुआं से डॉ. मोहन बिष्ट 17527, काशीपुर से त्रिलोक चीमा 15743, पिरानकलियर से कांग्रेस के फुरकान अहमद 15743 व मसूरी से भाजपा के गणेश जोशी 15325 से जीते हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सरिता की जीत पर होली मनाई, पार्टी के झंडे के साथ लहराये भगवे, मिर्च भी उड़ाई…

उत्तराखंड में कांग्रेस की सूची जारी होने से पहले ही बगावत, सरिता आर्य  बोलीं- भाजपा टिकट देगी तो जाऊंगी | Rebellion even before the release of the  list of candidates of ...डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 10 मार्च 2022। नैनीताल सीट पर भाजपा प्रत्याशी सरिता आर्य की जीत पर नगर में भाजपाइयों में जर्बदस्त उत्साह देखा गया। यहां पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रत्याशी की जीत से पहले ही होली मनानी शुरू कर दी थी। इस दौरान खास बात यह भी रही कि पार्टी के झंडे के साथ भगवा ध्वज भी लहराया गया और सरिता की जीत को हिंदुत्व की जीत के रूप में भी प्रदर्शित किया गया।

इसके अलावा तल्लीताल में रंगों के साथ मिर्च का पाउडर भी उड़ाया गया। पूछने पर बताया गया कि कुछ लोग सरिता आर्य के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने को उनकी बेवकूफी बता रहे थे, और उनकी जीत की एक फीसद भी संभावना न होने की बात कह रहे थे, उन्हें संदेश देने के लिए ही मिर्च उड़ाई गई।

इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने जमकर नृत्य भी किया और मिष्ठान्न वितरण भी किया। नगर में तल्लीताल व मल्लीताल में पार्टी कार्यकर्ता जुलूस के रूप में भी निकले। वहीं शाम ढले सरिता आर्य के जीत के बाद नगर में पहुंचने पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने तल्लीताल में उनका स्वागत किया और फिर आर्शीवाद-आभार जुलूस निकाला। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

भाजपा ने सिद्ध किया ‘लड़की व लड़ सकती हूं’ का नारा: सरिता
नैनीताल। अपनी जीत के बाद भाजपा की नवनिर्वाचित विधायक सरिता आर्य ने कहा, ‘कांग्रेस के ‘लड़की व लड़ सकती हूं’ के नारे को भाजपा ने सिद्ध किया। अपनी जीत के लिए वह नैनीताल की देवतुल्य जनता के साथ कार्यकर्ताओं, नैना देवी, ग्वेल देवता व नकुवा बूबू का आर्शीवाद मानती हैं। आगे कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर आगे की योजना बनाएंगी और नैनीताल के विकास को आगे बढ़ाएंगी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

चुुनाव से संबंधित नवीन समाचार पर प्रकाशित पूर्व समाचारों के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Reply

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

गर्मियों में करना हो सर्दियों का अहसास तो.. ये वादियाँ ये फिजायें बुला रही हैं तुम्हें… नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला