Developement

14 वर्ष बाद पूर्व विधायक का स्वप्न साकार करेंगे विधायक संजीव…

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

-पूर्व विधायक के पैतृक गांव को 2006 से लंबित सड़क के निर्माण के लिए राज्य सरकार से मिले 1.75 करोड़
नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मार्च 2021। नैनीताल विधायक संजीव आर्य के प्रयासों से नैनीताल विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत विडारी-पोखराधार मोटर मार्ग के तीन किमी मोटर मार्ग के निर्माण के लिए शासन से 1 करोड़ 75 लाख रुपए की वित्तीय स्वीकृति प्राप्त हो गई है। विधायक आर्य ने कहा कि इस मार्ग का निर्माण कर वह पूर्व विधायक खड़क सिंह बोहरा का सपना पूरा करेंगे। क्योंकि स्वर्गीय बोहरा ने इस मार्ग का स्वप्न देखा था। उन्होंने बताया कि इस मार्ग के बन जाने से जनपद के दूरस्थ बेतालघाट विकासखंड के ग्रामीण नैनीताल मुख्यालय से विनायक के रास्ते से सीधे जुड जाएंगे।
अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा ने बताया कि वर्ष 2006 में तत्कालीन विधानसभाध्यक्ष यशपाल आर्य के द्वारा तल्लीपाली-मल्लीपाली विडारी-पोखराधार मोटर मार्ग की पांच किमी की स्वीकृति प्रदान की थी। लेकिन वन भूमि हस्तांतरण की प्रक्रिया के कारण यह सड़क निर्माण रुका था। निरंतर प्रयास के बाद भारत सरकार के वन मंत्रालय से मोटर मार्ग की स्वीकृति प्राप्त हुई। लेकिन वन विभाग की स्वीकृति में देर होने के कारण स्वीकृत 90 लाख रुपए से पांच किमी के स्थान पर केवल दो किमी भाग ही मोटरमार्ग का निर्माण हो पाया। अब शासन ने सड़क निर्माण हेतु 1 करोड़ 75 लाख रुपए की वित्तीय स्वीकृति प्रदान कर दी है, जिससे नैनीताल मुख्यालय से करीब बीस किमी की दूरी पर बसे नोनियाँ विनायक, रिखोली, दनखोरी, विडारी व चुलिया गांव सीधे मुख्यालय से जुड़ जाएंगे। उल्लेखनीय है कि इस मोटर मार्ग के बनने से पूर्व स्वर्गीय विधायक खड़क सिह बोहरा का पैतृक गाँव चुलिया भी सड़क मार्ग से जुड़ जाएगा।

यह भी पढ़ें : विधायक ने परखीं जिला महिला चिकित्सालय की व्यवस्थाएं, बताया क्यों रुका है ओपन एयर थियेटर का निर्माण

-वार्डों का निर्माण जल्द पूर्ण करने के दिए निर्देश
नवीन समाचार, नैनीताल, 21 मार्च 2021। क्षेत्रीय विधायक संजीव आर्य ने रविवार को मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला महिला चिकित्सालय का दौरा किया और यहां निर्माणाधीन प्राइवेट वार्डों का निरीक्षण कर कार्यदाई संस्था व ठेकेदार को जल्द निर्माण कार्य जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए। साथ ही अस्पताल में भर्ती रोगियों का हालचाल भी जाना तथा उन्हें चिकित्सालय में मिल रही सुविधाओं व हो रही असुविधाओं की जानकारी भी ली।
इस मौके पर श्री आर्य ने बताया कि वर्ष 2005 में पुराने प्राइवेट क्षतिग्रस्त वार्डों की जगह नया भवन निर्माण के प्रयास किये जा रहे थे, किंतु तब से उच्च न्यायालय से निर्माण कार्य करने पर रोक का कारण बताते हुए कुछ कॉलम बनने के बाद से निर्माण अवरुद्ध पड़ा था और तब स्वीकृत धनराशि भी कालातीत हो गई थी। अब जिला योजना के अंतर्गत 42 लाख रुपए से चरणबद्ध तरीके से इसका निर्माण प्रारंभ कर दिया गया है। पहले चरण में भूतल में हर कक्ष में शौचालयों युक्त सात वार्डों का निर्माण किया जा रहा है। आगे पहले तल में भी वार्डों का निर्माण किये जाने की योजना है। इस हेतु बीते वर्ष नए सिरे से निर्माण करने को लेकर टेंडर जारी किए गए। जिसके बाद निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। निर्माणाधीन भवन में सात प्राइवेट वार्ड बनाए जाने हैं। जल्द कार्य पूरा कर मरीजों को इसका लाभ दिया जाएगा। इस मौके पर डॉ. एमएस दुग्ताल, अरविंद पडियार, भाजपा नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, मोहित साह सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

ओपन एयर थियेटर में कुछ बदलावों की वजह से काम रुका
नैनीताल। विधायक संजीव आर्य के प्रयासों से नगर के मल्लीताल स्थित बीएम शाह पार्क में ओपन एयर थियेटर के निर्माण का कार्य प्रारंभ होने के बाद रुक गया है। इस बारे में पूछे जाने पर विधायक आर्य ने बताया कि कार्य शुरू होने के बाद आये सुझावों के आधार पर कार्यदायी संस्था पेयजल निर्माण निगम से इसमें स्थान बढ़ाते हुए तथा छत व बाउंडरी वाल में बदलाव करते हुए नई ड्रॉइंग बनाने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि अब इसे कुमाउनी संस्कृति के अनुरूप बनाया जाएगा। नई ड्रॉइंग चार-पांच दिन में बनने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें : विधायक ने किया क्षेत्र में विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण

-बसगांव के देवी मंदिर का सौंदर्यीकरण विधायक निधि से कराने की घोषणा, सोमवारी महाराज मंदिर में चल रहे सौंदर्यीकरण कार्य भी देखे
नवीन समाचार, नैनीताल, 19 मार्च 2021। नैनीताल विधायक संजीव आर्य शुक्रवार को विधानसभा के विकासखंड बेतालघाट के क्षेत्र भ्रमण पर रहे। इस दौरान उन्होंने वहां बसगांव स्थित देवी मंदिर चल रहे श्रीमद् देवीभागवत कथा का श्रवण भी किया और मंदिर का सौंदर्यीकरण विधायक निधि से कराने की घोषणा की। साथ ही उन्होंने ग्राम सौनगांव में 20 लाख रुपए की लागत से स्वीकृत पंचायत घर का शिलान्यास भी किया। इस दौरान उन्होंने कीलाखेत में पार्टी कार्यकर्ताओं से संवाद भी किया तथा भतरौजखान में पार्टी कार्यकर्ता प्रदीप पंत के निवास पर उनकी माता व हल्दियानी मे नंद किशोर के घर जाकर उनके पिता के निधन पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने सोमवारी महाराज शिव मंदिर में चल रहे सौंदर्यीकरण कार्य का भी स्थलीय निरीक्षण भी किया।
साथ ही उन्होंने लोक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस में विकास खंड बेतालघाट के प्रधानों के साथ समीक्षा बैठक भी की। इस दौरान जहां पर माँग रखी गयी जिसका विधायक ने तत्काल निस्तारण किया। इस दौरान विधायक के साथ अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा, ज्येष्ठ प्रमुख गिरधर सिह, प्रताप सिंह बोहरा, खुशाल सिह हाल्सी, कुलवंत सिंह जलाल, यशपाल टंम्टा, कैलाश पंत, किशोर कुमार, विक्रम सिंह, आनंद बोहरा, गणेश जोशी, एलडी पंत, खीम सिह, दिनेश सिंह, नवीन पंत व शेखर फुलारा आदि साथ रहे।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड को आज मिले करोड़ों रुपए से बने राष्ट्रीय राज मार्ग और नई रेलगाड़ी का तोहफा

नवीन समाचार, देहरादून, 26 फरवरी 2021। उत्तराखंड को शुक्रवार को 5000 करोड़ से अधिक के तोहफे मिले। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 5400 करोड़ की लागत से 250 किलोमीटर लंबे सात राष्ट्रीय राजमार्गों का वर्चुअल माध्यम से उद्घाटन किया। इनमें देहरादून-मुजफ्फरनगर-हरिद्वार तथा हरिद्वार से देहरादून व रुड़की से वाया भगवानपुर होते हुए देहरादून राष्ट्रीय मार्ग परियोजना भी शामिल हैं, जिनका उद्घाटन किया गया। इसके अलावा आज ही केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने राज्य में टनकपुर से संचालित टनकपुर-नई दिल्ली पूर्णागिरि जनशताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन को नई दिल्ली में हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उम्मीद की जा रही है कि यह रेल सेवा उत्तराखण्ड के विकास में मील का पत्थर साबित होगी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार आज हरिद्वार में 49.50 करोड़ रुपए की लागत से एलिवेटेड संरचना के तहत बनाए गए मायापुरी स्कैप चैनल और हरिद्वार-देहरादून के मध्य 989.32 करोड़ की लागत से तैयार 37.62 किलोमीटर फोरलेन हाईवे का भी लोकार्पण किया गया है। इसके अलावा यह भी बताया गया है कि केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय राज्य में 2000 वर्गफुट के क्षेत्र में पारम्परिक कला का पैवेलियन भी बनाएगा। जिसमें ऐपण, हस्तशिल्प उत्पाद, जड़ी बूटी, शहद आदि उत्पादों को बेचा जा सकेगा। उम्मीद की जा रही है कि इससे राज्य के हजारों-लाखों लोगों को रोजगार उपलब्ध हो सकेगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उम्मीद जताई है कि प्रदेश में सड़कों का जाल बिछने से लोगों को बहुत सुविधा होगी। चारधाम यात्रा रूट पर डबल लेन सड़क होने से श्रद्धालु बिना किसी परेशानी के आसानी से धामों के दर्शन कर सकेंगे। साथ ही कुंभ नगरी हरिद्वार समेत रुद्रप्रयाग, केदारनाथ एवं बद्रीनाथ जाने वाले यात्रियों को सुविधा होगी और यातायात सुगम होगा। औद्योगिक क्षेत्र में व्यवसायिक वाहनों को बेहतर कनेक्टिविटी मिलेगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि कुंभ से पहले सभी राजमार्ग का काम पूरा कर लिया जाएगा ताकि तीर्थ यात्रियों को किसी परेशानी का सामना न करना पड़े।

यह भी पढ़ें : 60 नाली भूमि पर बनेगा बहुउद्देश्यीय उपवन

नवीन समाचार, नैनीताल, 17 फरवरी 2021। जनपद के भीमताल विकास खंड के अंतर्गत ग्राम हैड़ियागांव में 60 नाली भूमि पर विशाल बहुउद्देश्यीय उपवन की स्थापना की जाएगी। ब्लॉक प्रमुख डा. हरीश बिष्ट ने बुधवार को विकास खंड मुख्यालय में आयोजित जन संवाद कार्यक्रम में यह जानकारी देते हुए बताया कि यह बहुउद्देश्यीय उपवन राज्य में अपनी तरह का अनूठा और मिसाल स्वरूप होगा। इससे भीमताल विकास खंड को एक नई पहचान मिलेगी एवं यह स्थानीय लोगों को आत्म निर्भर बनाने में भी बड़ी भूमिका निभाएगा। इस दौरान डा. बिष्ट ने मनरेगा योजना के तहत विकास खंड में हो रहे कार्यों की अधिकारियों के साथ समीक्षा भी की और योजनाओं के माध्यम से विकास योजनाओं को दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंचाने की बात कही। उन्होंने अधिकारियों से कार्यों को आम जनमानस तक पहुंचाने और धरातल पर जाकर कार्यों का भौतिक सत्यापन करने के निर्देश भी दिए। इस मौके पर खंड विकास अधिकारी दिनेश दिगारी, डा. दीपा लालवानी, डा. ममता जोशी, कमल जोशी, मुकेश पलड़िया, कृष्ण राघव, नवीन क्वीरा सहित अन्य अनेक लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल डीएम की बड़ी-नई पहल : दो गांवों के ग्रामीण सैलानियों को दिखाएंगे तारे, स्कूल-आंगनबाड़ी केंद्र बनेंगे ‘न्यूट्री गार्डन’

-नवनियुक्त डीएम धीराज गर्ब्याल ने जिला योजना की बैठक लेते हुए खींचा जनपद के विकास का खाका

जिला योजना की समीक्षा बैठक लेते डीएम धीराज गर्ब्याल।

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 फरवरी 2021। जनपद के नवनियुक्त डीएम धीराज गर्ब्याल ने जिला योजना की बैठक लेते हुए अपनी सोच को अधिकारियों के समक्ष रखते जनपद के भावी विकास का खाका खींच दिया है। उन्होंने जनपद मुख्यालय स्थित एरीज यानी आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान के निकट स्थित ताकुला एवं एशिया की सबसे बड़ी 3.6 मीटर व्यास की दूरबीन के पास के गांव देवस्थल को ‘एस्ट्रो टूरिज्म’ के नये विचार के साथ मॉडल गांव के रूप में विकसित करने का इरादा जताया है। इसके लिए गांव में पर्वतीय शैली के भवन बनाए जाएंगे और ग्रामीणों को दूरबीन उपलब्ध कराई जाएंगी, जिनसे ग्रामीण यहां आने वाले सैलानियों को खुले, साफ, धूल एवं रोशनियों के प्रदूषण मुक्त आसमान में नजर आने वाले सितारों का दीदार कराएंगे। इस हेतु जिला पर्यटन विकास अधिकारी को प्रस्ताव तैयार करने को कहा गया है।
विकास भवन सभागार में जिला योजना की समीक्षा बैठक लेते हुऐ डीएम श्री गर्ब्याल ने इसके अतिरिक्त जनपद में सेब उद्यान विकसित करने पर विशेष ध्यान देने की बात कही। इस हेतु मुख्य उद्यान अधिकारी को सेब की नर्सरी तैयार करने को निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि इच्छुक किसानों को प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंने जनपद में युवाओं को वुडस्टॉक संस्थान से पैराग्लाइडिंग का प्रशिक्षण दिलाकर स्वरोजगार से जोड़ने की बात भी कही। इसके अलावा उन्होंने जनपद के विकासखण्ड धारी व ओखलकांडा क्षेत्र में पशुओं के लिए कृ़ित्रम गर्भाधान की व्यवस्था कर पशुओं की नस्ल सुधार कर आजीविका बढ़ाने, हर विकासखंड के दस प्राथमिक विद्यालयों व आंगनबाड़ी केंद्रों को ‘न्यूट्री गार्डन’ के रूप में रूपांतरित करने, बेतालघाट क्षेत्र में मसालों की प्रोसेसिंग यूनिट बनाने, मैदानी क्षेत्रों में मछली उत्पादन हेतु तालाब बनाने हेतु काश्तकारों को प्रेरित एवं प्रोत्साहित करने के निर्देश भी दिये। इसके अलावा उन्होंने लघु उद्योगों को बढ़ावा देने के निर्देश देते हुए सभी विभागीय कार्यालयों में ऐपण के डिजाइन युक्त नाम पट्टिकाएं लगाने के निर्देश भी दिये। बैठक मेे सीडीओ नरेंद्र सिंह भंडारी, डीएफओ टीआर बिजूलाल, सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी, परियोजना निदेशक अजय सिंह, डीडीओ रमा गोस्वामी, एपीडी संगीता आर्य, सीईओ केके गुप्ता, सीवीओ डी कुमार, भारती जोशी, डॉ पीएस भण्डारी, विपिन कुमार व अरविन्द गौड़ सहित संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

विकास की खुली पोल, 11 माह में सिर्फ 67 फीसदी कार्य ही हुए
नैनीताल। समीक्षा के दौरान जनपद में हुए विकास की पोल भी खुली। जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी एलएम जोशी ने बताया कि जिला योजना के अन्तर्गत जनपद को अवमुक्त हुए 42 करोड़, 32 लाख, 76 हजार रुपयों में से विभागों के द्वारा 28 करोड़, 60 लाख रुपये यानी मात्र 67.58 फीसद ही व्यय किये गये हैं। इस पर डीएम ने सभी विभागीय अधिकारियों को कार्यो में तेजी लाकर निर्धारित समय अवधि में व्यय करने के निर्देश दिये। साथ ही साफ किया कि कार्यों का वित्तीय ही नहीं, भौतिक सत्यापन भी किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : आजादी के बाद पहली बार 5 किमी पैदल चलकर पहुंचे जनप्रतिनिधि, ग्रामीणों में समस्याओं के समाधान का विश्वास

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 जनवरी 2021। जनपद के विकास खण्ड बेतालघाट के सुदूरवर्ती गावों के ग्रामीणों की वर्षो पुरानी मांगो को गम्भीरता से लेकर विधायक संजीव आर्या के सुझाव पर सोमवार को राज्य मंत्री पीसी गोरखा व विधायक प्रतिनिधि खुशाल हाल्सी ने कार्यकर्ताओं के साथ पाँच किमी पैदल चलकर चौडा, हमकोट, तिमिला डिक्की, तिमिल खोला, सेमलखेत, चड्यूला आदि गावों में घर-घर जाकर ग्रामीणों से भैंट की तथा उनकी समस्यायें सुनी। इस अवसर पर ग्रामीणों क्षेत्र की महिलाओं ने आजादी के बाद पहली बार अपने क्षेत्र में जनप्रतिनिधियों का काफिला देखकर हर्ष व्यक्त किया और विश्वास जताया कि अब उनकी समस्याओं का समाधान हो पायेगा। इस दौरान सेमलखेत व हमकोट के ग्रामीणों ने एक सुर में मोटर मार्ग की माँग रखी, वहीं चौडा व हमकोट के ग्रामीणों ने पेयजल की व्यवस्था का प्राथमिकता से समाधान करने का अनुरोध किया। इस पर श्री गोरखा ने शीघ्र उचित समाधान का आश्वासन दिया। इस अवसर पर यशपाल आर्या, डॉ. कुलवंत सिंह जलाल, धीरज सिह, मोहित बिष्ट, प्रधान कुंदन नेगी व रोहित तिवारी, कैलाश पंत, जगदीश नाथ, महेंद्र कुमार, कुलदीप, ठाकुर सिंह, फकीर सिंह, दीपक गोस्वामी, राम सिंह, हीरा सिह, सोनू सिंह, बालम सिह, बची सिह, संजय कुमार, पूरन सिंह व कुलदीप कुमार आदि गणमान्यजन उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें : राज्य में विकास कार्यों के लिए खुला पिटारा: 198 सड़कों और 45 पुलों के निर्माण के लिए 90 करोड़ रुपये की किस्त जारी

नवीन समाचार, नैनीताल, 07 जनवरी 2021। उत्तराखंड शासन ने राज्य में 198 सड़कों और 45 पुलों के निर्माण के लिए नाबार्ड वित्त पोषित योजना के तहत 90 करोड़ रुपये की एक और किस्त जारी कर दी है। सचिव लोनिवि आरके सुधांशु ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।
आदेश के मुताबिक इस योजना के तहत चालू वित्तीय वर्ष में अब तक कुल 241.64 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं। इस धनराशि के जारी होने से ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों और पुलों के निर्माण में तेजी आएगी। राज्य में नाबार्ड योजना के तहत फेज 20 से फेज 26 तक की कुल 660 योजनाओं के लिए 2090.85 करोड़ का ऋण मंजूर है। इसके सापेक्ष अब तक 430 योजनाओं का कार्य पूरा हो गया है। चालू वित्तीय वर्ष के प्रारंभ में कुल 28 स्लो मूविंग प्रोजेक्ट थे, जिनमें तेजी लाई गई। वर्तमान में केवल 10 स्लो मूविंग प्रोजेक्ट शेष रह गए हैं, जिन्हें तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं।
बताया गया है कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के निर्देश पर कई विधानसभा क्षेत्रों में नई सड़कों के निर्माण और पुरानी सड़कों की मरम्मत कार्यों के लिए धनराशि जारी हुई। राज्य योजना के तहत विधानसभा क्षेत्र लैंसडौन के नैनीडांडा ब्लाक की ग्राम मोरगढ़ से कफलटंडा मोटर मार्ग के निर्माण कार्य की स्वीकृति दी गई। इस सड़क के लिए पहले 22.24 लाख की स्वीकृति दी गई है। लैंसडौन विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री की घोषणाओं सहित 31.62 करोड़ के कार्यों को स्वीकृति दी जा चुकी है। वहीं ग्राम मोरगढ़-कफलटंडा मोटर मार्ग के लिए 22.24 लाख की स्वीकृति के बाद विधानसभा क्षेत्र के तहत 31.85 करोड़ की मंजूरियां दी जा चुकी हैं। खटीमा विस क्षेत्र में दूसरे चरण के एक और टीएसपी के तहत दूसरे चरण के दो कार्यों के लिए 1.42 करोड़ की स्वीकृतियां दी गई हैं। कालापुल से झनकईया तक मार्ग के डामरीकरण कार्य की स्वीकृति दी है। इस निर्माण के दूसरे चरण के लिए 85.10 लाख की स्वीकृति के साथ ही धनराशि की स्वीकृति दी गई है। इसी तरह विधानसभा क्षेत्र नानकमत्ता के तहत ग्राम देवीपुरा से ज्ञानपुर गोढ़ी मोटरमार्ग व 60 मीटर स्पान आरसीसी पीएससी गार्डर पुल के लिए दूसरे चरण के निर्माण कार्य के लिए 5.81 करोड़ मंजूर हुए। नानकमत्ता विधानसभा क्षेत्र में सीएम की घोषणाओं सहित अब तक कुल 50.97 करोड़ की स्वीकृतियां हुईं हैं। पुरोला विधानसभा क्षेत्र के तहत गढ़ अंबेडकर हल्का वाहन मार्ग का पक्की सड़क बनाने के लिए, देहरादून के कैंट विधानसभा क्षेत्र के तहत अनुराग चौक से सीमाद्वार व अनुराग चौक से शहीद विवेक गुप्ता चौक तक अन्य आंतरिक मार्गों के सुधारीकरण के लिए धनराशि जारी की गई। इसके अलावा राज्य योजना के तहत राजभवन में विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए भी धनराशि जारी हुई। इसके तहत राजभवन में इलेक्ट्रो मैकेनिकल रोड बैरियर पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने हैं। केंद्रीय सड़क निधि योजना के तहत पिरान कलियर से रामपुर चुंगी मंडी से ग्राम नागल होते हुए बाईपास सड़क व 300 मीटर स्पान पुल का निर्माण कार्य के लिए 5.21 करोड़ जारी करने का प्रस्ताव मंजूर किया गया है। ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के लिए दो निर्माण कार्यों के लिए धनराशि जारी की गई।

यह भी पढ़ें : ऐतिहासिक रैमजे रोड का होगा 98.72 लाख से जीर्णोद्धार, सौंदर्यीकरण…

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 दिसम्बर 2020। डीएम सविन बंसल ने जिला मुख्यालय में तल्लीताल बाजार से जिला कलक्ट्रेट, जिला जजी, पुलिस लाईन एवं एसएसपी कार्यालय को जाने वाले पैदल मार्ग-ऐतिहासिक रैमजे रोड को दुरुस्त एवं सुंदर बनाने के लिए इसके निर्माण एवं सौंदर्यीकरण हेतु 98.72 लाख की धनराशि जिला स्तर से जारी कर दी है। मंगलवार की सुबह डीएम बंसल ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ इस क्षेत्र का मौका मुआयना किया और संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
उन्होंने ने बताया कि इस पैदल मार्ग का जीर्णोद्धार कुमाउनी शैली में किया जायेगा। पूरे मार्ग में उच्च क्वालिटी की टाइल लगाई जाएंगी एवं सड़क के दोनों ओर दीवारों की मरम्मत करा कर उन पर पेंटिंग तथा कुमाउनी संस्कृति पर आधारित म्यूरल्स भी लगाये जायेंगे। इसके साथ ही पूरे रास्ते को स्ट्रीट लाइटों के जरिये प्रकाशमान भी किया जायेगा। साथ ही खयाल रखा जाएगा कि इस तीक्ष्ण ढलान वाले मार्ग में पाले एवं बर्फ में लोग फिसलने न पाएं। निरीक्षण के दौरान एसडीएम विनोद कुमार, एएसपी राजीव मोहन, पुलिस उपाधीक्षक विजय थापा, जिला पर्यटन विकास अधिकारी अरविंद गौड़, अधिशासी अभियंता जल संस्थान संतोष उपाध्याय एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : विधायक संजीव ने कहा, लोग पानी के बड़े बिल न चुकाएं, बिलों का होगा सुधार, खींचा नैनीताल के विकास का खाका…

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 दिसम्बर 2020। विधायक संजीव आर्य ने बृहस्पतिवार को तल्लीताल व्यापार मंडल के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान नगर के लिए अपनी योजनाओं का खाका पेश किया। उन्होंने स्वीकारा कि 80 करोड़ की लागत से नगर में पेयजल निगम द्वारा बनाई गई पेयजल लाइनें त्रुटिपूर्ण हैं। साथ ही इनके बारे में इन्हें संचालित कर रहे जल संस्थान को कोई जानकारी नहीं है। निगम द्वारा घरों में लगाए पेयजल मीटर पंप के चलने के साथ ही चलने लगते हैं, इसलिए मीटरों की रीडिंग अधिक आ रही है। उन्होंने नगर वासियों से कहा कि वे सामान्य तौर पर आने वाले बिलों का ही भुगतान करें। अधिक आ रहे बिलों की गलतियों का शीघ्र सुधार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस हेतु कुमाऊं मंडलायुक्त के स्तर से एक समिति भी बनी है।
वहीं नगर के कृष्णापुर के लिए सड़क के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि एरीज-ऑब्जरवेटरी से ग्राम चड़ता होते हुए सड़क को प्रथम चरण की स्वीकृति मिल गई है। आगे वनाच्छादित क्षेत्र में सड़क निर्माण हेतु स्वीकृति अपेक्षित है। पार्किंग के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि सूखाताल में 68 लाख से 200 वाहनों और नारायण नगर में 24 बीघा भूमि पर करीब 400-500 गाड़ियां खड़ी करने का अगले सीजन यानी मार्च-अप्रैल 2020 तक प्रबंध कर लिया जाएगा। वहां बिजली व शौचालयों का प्रबंध किया जा रहा है। बताया कि फांसी गधेरा में प्राधिकरण के जरिए पार्किंग विकसित की जा रही है। इसके अलावा उन्होंने तल्लीताल में पार्किंग के लिए नगर पालिका से स्वीकृति लेने का प्रयास किए जाने की बात कही। इसके अलावा उन्होंने एसटीपी यानी सीवर ट्रीटमेंट प्लांट को नगर की सबसे बड़ी समस्या बताया। उन्होंने नए वर्ष में नगर में 110 करोड़ रुपए की लागत से सीवर की समस्या का समाधान कर लेने का भरोसा भी जताया। उन्हांेने बिन मांगे तल्लीताल बाजार स्थित नव ज्योति क्लब में छोटे सार्वजनिक कार्यों के लिए टिनशेड बनाने के लिए आवश्यक धनराशि देने की घोषणा भी की।

यह भी पढ़ें : खुशखबरी नैनीताल: राज्य के इकलौते आश्रम पद्धति विद्यालय को छात्रावास के लिए 1.71 करोड़ स्वीकृत

-समाज कल्याण विभाग से संचालित इस विद्यालय में राज्य भर के बच्चे पढ़ते हैं
-छात्रावास न होने से अभी छात्रों को कक्षा कक्षों में ही सोना पड़ता है
नवीन समाचार, नैनीताल, 28 नवम्बर 2020। समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय बेतालघाट के छात्रावास व सड़क निर्माण के लिए शासन से 1 करोड़ 71 लाख रुपए की प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति प्राप्त हो गयी है। शनिवार को समाज कल्याण सचिव एल फनई के हस्ताक्षर से जारी शासनादेश के अनुसार इसमें से 69 लाख की धनराशि अवमुक्त भी कर दी गयी है।
जानकारी देते हुए अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा ने बताया कि समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य को विधायक संजीव आर्य द्वारा बेतालघाट आगमन के दौरान राजकीय आश्रम विद्यालय बेतालघाट का दौरा कराया था। इस दौरान विद्यालय में बच्चे कक्षा कक्षों में सोते हुए पाये गये थे। इस पर विधायक संजीव आर्य के अनुरोध पर समाज कल्याण मंत्री ने मंडी समिति के अधिकारियों को मौके से ही आगणन गठित करने के निर्देश दिये थे। इस पर अधिकारियों ने तत्परता दिखाते हुए मौके का निरीक्षण कर सभी औपचारिकताएं पूर्ण करते हुए आंगणन शासन को प्रेषित कर दिया था। विधायक संजीव आर्य ने बताया कि समाज कल्याण विभाग से संचालित यह पूरे प्रदेश का एक मात्र विद्यालय है। यहां गरीब तबके के पूरे प्रदेश से बच्चे आवासीय परिसर में रह कर हाईस्कूल तक अध्ययन करते हैं। समाज कल्याण विभाग यहां बच्चों को भोजन, किताबें, कपडे़, दवाएं आदि समस्त संसाधन उपलब्ध कराता है। अब तक रहने के लिए कोई संसाधन नही होने के कारण बच्चों को कक्षा कक्षों में ही रहना-सोना पडता था। धनराशि स्वीकृत व अवमुक्त होने पर विद्यालय के प्रधानाचार्य बीआर कालाकोटी सहित पीसी गोरखा, खुशाल हाल्सी, शेखर चंद्र, दलीप सिंह, प्रताप सिंह, मंजू पंत, एलडी पंत, कीर्ति बल्लभ, संजय कुमार, माया बोहरा, सीमा तिवारी, राजेंद्र सिह प्रदीप पंत, नंदकिशोर, प्रमोद जोशी, आशा आर्य, मंजू, दीवानी राम, डा. कुलवंत सिंह व महेंद्र कुमार आदि क्षेत्रीय लोगों ने समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य का आभार व्यक्त किया है।

यह भी पढ़ें : जब ग्रामीण महिला ने मंत्री के उपकारों के लिए कुमाउनी में गाया गीत, दी दुवाएं…

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 नवम्बर 2020। देना उसे चाहिए जिसे आपके दिए हुए की सर्वाधिक जरूरत हो। इसी सिद्धांत पर सरकारें अंतिम पायदान के व्यक्ति को योजनाओं को लाभ पहुंचाने का दावा करती हैं, परंतु लाभ पहुंचा पाती हैं या नहीं, इसका कभी भी सही मूल्यांकन नहीं हो पाता। क्योंकि जो वास्तविक जरूरतमंद होते हैं वे ना ही अपनी जरूरत सही से बता पाते हैं, और ना ही मिल जाने पर अपनी खुशी के ही ऐसे उजागर कर पाते हैं कि देने वाले को उसका पता चले। लेकिन शनिवार को बेतालघाट में प्रदेश के परिवहन मंत्री यशपाल आर्य व उनके पुत्र विधायक संजीव आर्य ने जब आठ करोड़ रुपए की योजनाएं क्षेत्र वासियों को दीं तो उस कार्यक्रम में क्षेत्र के गांव हल्दयानी की एक ग्रामीण महिला की मूक जबान कुमाउनी गीत के रूप में अनायास ही फूट पड़ी। उसे भीड़ के बीच किसी ने गुनगुनाते सुना तो उसे मंच पर ले आया गया, और माइक उसके हाथ में दे दिया गया। इस दौरान उसने बताया कि कैसे जनप्रतिनिधि चाहें तो जनता के दिल में हमेशा के लिए जगह बना सकते हैं। इस दौरान मंत्री यशपाल आर्य भी भावुक हुए बिना नहीं रह पाए। उन्होंने कहा, वह कहीं भी रहते हैं लेकिन बेतालघाट हमेशा उनके दिल में रहता है। आज वह जो कुछ भी हैं, बेतालघाट वासियों के प्रेम, स्नेह की वजह से ही हैं।
देखें ग्रामीण महिला की अभिव्यक्ति:

यह भी पढ़ें : नौकुचियाताल व नल दमयंती ताल में सौंदर्यीकरण कार्यों के लिए स्वीकृत हुए 76.98 लाख रुपए

नवीन समाचार, नैनीताल, 30 अक्टूबर 2020। नैनीताल विधानसभा के विकासखंड भीमताल के पौराणिक नल दमयंती ताल के संरक्षण एवं सौंदर्यकरण हेतु 37 लाख 50 हजार की धनराशि स्वीकृति प्रदान की गयी है। स्थानीय विधायक संजीव आर्य ने बताया कि इन कार्यों के लिए निविदाएँ आमंत्रित कर ली गयी हैं। इस पर जल्द कार्य शुरू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस कार्य के तहत नल दमयंती ताल के पास आउटडोर जिम के उपकरण भी लगाए जाएंगे। उन्होंने इन कार्यों की स्वीकृति के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का आभार जताया है।
उल्लेखनीय है कि इसके अलावा नगर पंचायत भीमताल के वार्ड संख्या 4 नौकुचियाताल में शिव मंदिर पार्क के सौंदर्यीकरण तथा आउटडोर जिम उपकरण लगाने के कार्यों को भी स्वीकृति मिली है। और दोनों कार्यों के लिए कुल मिलाकर 76.98 लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं, एवं इन कार्यों के लिए निविदा भी जारी हो गई है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल एडीबी द्वारा किये जा रहे कार्यों का ‘थर्ड पार्टी ऑडिट’ होगा

-डीएम सविन बंसल ने किया एडीबी पर्यटन एवं लोनिवि द्वारा मुख्यालय में किये जा रहे कार्यों का स्थलीय निरीक्षण

नगर में निर्माण कार्यों का निरीक्षण करने के लिए अधिकारियों के साथ निकले डीएम सविन बंसल।

नवीन समाचार, नैनीताल, 05 अक्टूबर 2020। जनपद के जिलाधिकारी सविन बंसल ने सोमवार को नैनीताल शहर में एडीबी पर्यटन द्वारा लगभग 10.50 करोड़ रुपए की लागत से नैनी झील के चारों ओर की जा रही सुंदर फैन्सी लाईटिंग व्यवस्था, कैनेडी पार्क में टाईलिंग व रैलिंग के सौन्दर्यीकरण, दुर्गा साह पुस्तकालय के पुर्ननिर्माण एवं सौन्दर्यकरण तथा झील की क्षतिग्रस्त दीवारों की मरम्मत तथा चर्च आदि हैरीटेज भवनों के सौन्दर्यकरण कार्यों के साथ ही लोनिवि द्वारा क्षतिग्रस्त लोवर माल रोड के सुदृढीकरण कार्य का स्थलीय निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने एडीबी पर्यटन के अभियंता एचसी शर्मा को लगभग 3.50 करोड़ के कार्यों को अक्टूबर माह के अंत तक पूर्ण कर नगरपालिका को हस्तगत करने तथा उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों का ‘थर्ड पार्टी ऑडिट’ कराने के उपरान्त ही भुगतान कराने के निर्देश दिये। उन्होंने क्षतिग्रस्त लोवर मालरोड के स्वयं उनके द्वारा स्वीकृत 82 लाख रुपए से किये जा रहे कार्य को अतिमहत्वपूर्ण बताते हुए इसकी गुणवत्ता व समयबद्धता पर विशेष ध्यान देने को भी कहा। उन्होंने बताया कि पर्यटन विभाग द्वारा मुख्यालय स्थित ओपन एअर थैटर का सौन्दर्यीकरण का कार्य भी शीघ्र किया जायेगा। साथ ही शहर में सुन्दर म्यूरल पेंटिंग एवं सूचना वाले सुंदर साईनेज भी लगाये जायेंगे। निरीक्षण के दौरान एसडीएम विनोद कुमार, अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि रणजीत रावत, अधिशासी अभियंता दीपक गुप्ता, पुलिस क्षेत्राधिकारी विजय थापा, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका अशोक कुमार वर्मा, जिला पर्यटन विकास अधिकारी अरविंद गौड़ आदि अधिकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : सुखद समाचार : सांसद ने किया मल्टी स्पेशलिटी बस सहित सड़क 479 लाख की सड़क का शिलान्यास

-भवाली, रामगढ़, प्यूड़ा, नथुवाखान व मौना में जनता व कार्यकर्ताओं से की मुलाकात

स्पेशियलटी वैन व 769 से निर्माणाधीन सड़क डामरीकरण कार्य का शुभारंभ करते सांसद अजय भट्ट।

नवीन समाचार, नैनीताल, 02 अक्टूबर 2020। सांसद अजय भट्ट ने शनिवार को जनपद के रामगढ़ ब्लॉक में विकास योजनाओं सहित सड़क व मल्टी स्पेशलिटी वैन एवं 4 करोड़ 79.17 लाख से रामगढ़ ब्लॉक में ओड़ाखान-दाड़िमा-पश्यापानी-कशियालेख-भटेलिया से धारी ब्लॉक को जोड़ने वाली सड़क में डामरीकरण कार्य का शुभारंभ किया। सांसद अजय भट्ट ने बताया कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत बनी इस 12 किमी लंबी सड़क में डामरीकरण करने की मांग लंबे समय से चल रही थी। वही रामगढ़ ब्लॉक के ही प्यूड़ा में सांसद भट्ट ने आरोही संस्था की मल्टी स्पेशलिटी बस का शुभारंभ किया जिसमें गर्भवती महिलाओं की सहित सभी प्रकार की अन्य जांचें बेहद कम दरों पर की जायेंगी। बताया गया कि बस में अल्ट्रासाउंड, एक्स-रे, ईसीजी लैब सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध हैं। सांसद ने मल्टी स्पेशियलिटी बस को क्षेत्र के लिए वरदान बताया व आरोही संस्था की प्रशंसा कर हर संभव सहायता का आश्वासन संस्था को दिया।
इस दौरान सांसद ने विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले होनहार छात्रों को सांसद ने मेडल देकर सम्मानित भी किया। इस दौरान विधायक संजीव आर्य ने आरोही संस्था के कार्यो की सराहना की। विधायक राम सिंह कैड़ा ने सांसद भट्ट से मानकों का सरलीकरण करते हुवे स्वास्थ्य केंद्र खोलने की मांग की। कार्यक्रम में भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, मंडी समिति के अध्यक्ष मनोज साह, कुंदन चिलवाल, प्रकाश आर्य, शिवांशु जोशी, पीसी गोरखा, आरोही संस्था के अध्यक्ष डॉ. कर्नल चंद्रशेखर पंत, डॉ. पंकज तिवारी, ब्लॉक प्रमुख डॉ. हरीश बिष्ट, आशा रानी, पूरन मेहरा, गोपाल रावत, राकेश नैनवाल, रमेश सुयाल, दुग्ध संघ अध्यक्ष मुकेश बोरा, वीरेंद्र आर्य व भुवन आर्य सहित ग्रामीण क्षेत्रों से आये प्रधान व भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : विधायक आर्य ने किया साढे़ तीन करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास

नवीन समाचार, नैनीताल, 31 अगस्त 2020। स्थानीय विधायक संजीव आर्य ने सोमवार को नैनीताल विधानसभा के बेतालघाट विकासखंड में दो करोड़ 80 लाख की लागत से प्रस्तावित नोनिया विनायक रिखोली मोटर मार्ग एवं 80 लाख रुपए से ओड़ाबासोट में प्रस्तावित पेयजल लाइन का शिलान्यास किया। इसके साथ ही उन्होंने जूनियर हाईस्कूल ओड़ावास्कोट में 2.80 लाख रुपए से निर्मित सुरक्षा दीवार व मुख्य द्वार का लोकार्पण भी किया। इस अवसर पर श्री आर्य ने विधानसभा की जनता की समस्याओं का हर संभव समाधान करने की बात भी कही।
इस अवसर पर दर्जा राज्य मं़त्री अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा, भाजपा के मंडल अध्यक्ष प्रताप बोहरा, उपाध्यक्ष सीमा तिवारी व विजय कुमार, जिला पंचायत सदस्य आशा देवी व अंकित शाह, प्रधान सीमा आर्या, क्षेत्र पंचायत सदस्य पुष्कर जलाल, प्रधान मल्लागाव अर्जुन जलाल, विधायक प्रतिनिधि खुशाल हाल्सी, मंडल मंत्री कैलाश आर्या, दीप रेखाडी, नवीन कश्मीरा व भूमि दानदाता वीर राम आदि कई लोग मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ें : सड़क कटान से पहले ही डामरीकरण के लिए भी 7 करोड़ रुपए स्वीकृत

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 अगस्त 2020। विधायक संजीव आर्य के प्रयासों से नैनीताल विधानसभा के विकासखंड बेतालघाट में लोहाली से थुवा ब्लॉक तक कट रही 12.89 किलोमीटर मोटर मार्ग के डामरीकरण के लिए 6 करोड़ 97 लाख रुपए की वित्तीय एवं स्वीकृत प्राप्त हो गई है। विधायक आर्य ने बताया कि जल्द पहले चरण में रोड कटान का कार्य पूरा होने पर इस सड़क पर दूसरे चरण के कार्य शुरू कर दिये जाएंगे।

यह भी पढ़ें : डीएम के प्रयासों से 10 वर्ष बाद फिर जगी गांव को सड़क निर्माण की उम्मीद, विधायक के प्रयासों से पानी को मिले 50 लाख

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 मार्च 2020। जनसमस्याआंे के प्रति संवेदनशील जनपद के युवा जिलाधिकारी सविन बंसल के प्रयासों से जनपद के दूरस्थ बिरसिंग्या गांव के लिए एक दशक बाद सड़क बनने की आस फिर जग गई है। डीएम बंसल ने गत दिनों इस गांव के भ्रमण एवं रात्रि चौपाल लगाने के दौरान ग्रामीण वृद्धजनों द्वारा रखी गई सड़क की समस्या को समझते हुए अपने अधिकारों का प्रयोग करते हुये इस सड़क के लिए राज्य सेक्टर से निर्माण की स्वीकृति प्रदान कर दी है तथा मोटर मार्ग के सर्वे तथा डीपीआर के लिए 70 लाख की धनराशि भी स्वीकृत कर दी है।
बताया गया है कि बगडवार बैंड से दूनी-बिरसिंग्या मोटर मार्ग के लिए वर्ष 2010-11 की जिला योजना के अंतर्गत इस सड़क के लिए प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति प्राप्त हुई थी। लेकिन जिला योजना मे धनराशि उपलब्ध ना होने के कारण इसे जिला योजना से निरस्त कर दिया गया था। लिहाजा 10 वर्ष से इस सड़क का निर्माण लंबित था।

ज्योलीकोट की पेयजल समस्या के समाधान को स्वीकृत हुए 50 लाख
नैनीताल। नैनीताल विधानसभा के ज्योलीकोट क्षेत्र की पेयजल समस्या के समाधान के लिए अल्पसंख्यक कल्याण विभाग से 50 लाख रुपए की वित्तीय एवं प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त हो गई हैं। विधायक संजीव आर्य ने बताया कि इस धनराशि से क्षेत्र के लिए कार्यदायी संस्था जल संस्थान के द्वारा नई पेयजल लाइन एवं 100 किलो लीटर क्षमता के आरसीसी टैंक का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने इस हेतु काबीना मंत्री यशपाल आर्य का आभार जताया है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल की पेयजल व सीवर व्यवस्था के लिए एचपीसी से स्वीकृत हुए डेढ़ सौ करोड़ रुपए

-एडीबी के ऋणों से होगा निर्माण, पूरे शहर के सभी वार्डाें में बिछेगी सीवर लाइन, हर घर जुड़ेगा सीवर लाइन से

संजीव आर्य

नवीन समाचार, नैनीताल, 2 मार्च 2020। स्थानीय विधायक संजीव आर्य के प्रयासों से नैनीताल शहर की पेयजल आपूर्ति व्यवस्था एवं सीवर संबंधी कार्यों के लिए एचपीसी यानी मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली हाईपावर कमेटी से 21.12 मिलियन डॉलर यानी 147.85 करोड़ रुपए की योजना स्वीकृत हुई है। विधायक संजीव आर्य ने बताया कि एडीबी के ऋणों से यूयूएसडीए के द्वारा नैनीताल शहर की पेयजल आपूर्ति व्यवस्था के लिए 52.79 करोड़ एवं एवं सीवर संबंधी कार्यों के लिए 110.21 करोड़ रुपए यानी कुल 163 करोड़ रुपए की कार्ययोजना को बीते वर्ष 21 जून को टीएससी से स्वीकृति मिल गई थी।
इधर नैनीताल शहर की पेयजल आपूर्ति व्यवस्था के लिए एचपीसी से 46.29 करोड़ एवं सीवर संबंधी कार्यों के लिए 101.56 यानी कुल 147.85 करोड़ रुपए स्वीकृत हो गए हैं। इसके बाद इन योजनाओं की पूर्ण रूप से स्वीकृति महज औपचारिकता ही होगी। योजना के तहत नगर की पेयजल व्यवस्था में अगले पांच वर्ष की जरूरतों के लिए स्काडा आधारित ऑटोमेशन सिस्टम लगाया जाएगा, जबकि सीवर व्यवस्था में सुधार के लिए नगर पालिका क्षेत्र में सीवर ट्रीटमेंट प्लांट और नई लाइनें बनाने सहित अन्य कार्य किए जाएंगे। विधायक संजीव आर्य ने बताया कि योजना के तहत पूरे शहर के सभी वार्डाें में सीवर लाइनें बिछेंगी और हर घर इन सीवर लाइनों से जुड़ेगा और पूरे शहर का सीवररूसी बाइपास पर बनने वाले सीवर ट्रीटमेंट प्लांट में जाएगा, जहां सीवर को ट्रीटमेंट कर साफ पानी के रूप में नीचे नदी में छोड़ दिया जाएगा। उन्होंने साथ ही विश्वास दिलाया कि इस योजना के बाद नैनी झील में सीवर बिल्कुल भी नहीं जा पाएगी, जैसा कि वर्तमान में अक्सर बारिश के दौरान सीवर लाइनों के उफनने से होता है। साथ ही नगर के होटल व्यवसायियों के सिर से अपना एसटीपी बनाने अन्यथा होटल बंद करने की लटकी हुई तलवार भी हट जाएगी।

यह भी पढ़ें : विधायक ने किया सवा करोड़ से बनने वाली सड़क के कटान का शुभारंभ, राज्य मंत्री ने उठाई नई रेल लाइन की मांग

-विधायक ने कहा हर गांव को सड़क से जोड़ने व पानी पहुंचाने की है योजना

बेतालघाट में गड़खेत-पागकटारा सड़क कटान कार्य का शुभारंभ करते विधायक संजीव आर्य।

क्षेत्रीय विधायक संजीव आर्य ने दर्जा राज्य मंत्री अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा के साथ 1.25 करोड़ की लागत से बनने वाली सडक का विधिवत शुभारंभ किया। इस मौके पर श्री आर्य ने कहा कि उनकी कोशिश अपनी विधानसभा के हर गांव को सड़क से जोड़ने और पानी पानी पहुंचाने की है।
उन्होंने कहा कि वह खलाड गांव के साथ ही सकदीना, तड़ी, जिनोली व फड़िका गांवों को भी सड़क से जोडने के लिए प्रयास कर रहे हैं। उनकी विधानसभा के हर गाँव तक पानी पहुंचाने के लिए भी वे कार्य कर रहे हैं। इसके लिए पर्याप्त धनराशि की व्यवस्था कर ली गयी हैं। वहीं अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा ने कहा कि संजीव अपनी विधानसभा में जहाँ भी जाते है वहां अपना वादा पूरा करते हैं। उनके प्रयासों से बेतालघाट का चहुमुखी विकास हो रहा है। इस अवसर पर ब्लाक प्रमुख आनंदी देवी, दोनों मंडलों के मंडल अध्यक्ष प्रताप बोहरा व रमेश सुयाल, नीरज बिष्ट, जिला पंचायत सदस्य आशा देवी, अंकित साह, ग्राम प्रधान नीरू बधान, त्रिभुवन सिंह, कन्नू गोस्वामी, क्षेत्र पंचायत सदस्य पुष्कर सिंह जलाल, केशव आर्य, पंकज बिष्ट, खुशाल हालशी, विक्रम बोहरा, आनन्द बोहरा, सुरेश जोशी, नीतीश बिष्ट, नीरज रैकुनी, विनोद पांडे, प्रमोद पन्त, संदीप बधानी, गोधन बर्गली, धन सिंह बिष्ट, यशपाल आर्य, कुलदीप कुमार व शेखर आर्य आदि लोग मौजूद रहे।

दर्जा राज्य मंत्री ने उठाई रामनगर-बेतालघाट-अल्मोड़ा रेल लाइन की मांग

नैनीताल। उत्तराखंड अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा ने रामनगर-बेतालघाट-अल्मोड़ा रेल लाइन की मांग उठाई है। उन्होंने कहा कि रामनगर-बेतालघाट-अल्मोड़ा रेल लाइन उनकी प्राथमिकता है। इस रेल लाइन के बनने से जहां विकास के नये आयाम स्थापित होंगे वहीं स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

यह भी पढ़ें : नैनीताल विधायक के प्रयासों से एक और सड़क को मिली केंद्रीय वन मंत्रालय से स्वीकृति

नवीन समाचार, नैनीताल, 12 फरवरी 2020। नैनीताल विधानसभा के विकासखंड बेतालघाट व रामगढ़ के अंतर्गत चमड़ियाँ-लोहाली-जौरासी-गौणा सड़क मार्ग को भारत सरकार के वन मंत्रालय से वन भूमि हस्तांतरण की विधिवत स्वीकृति मिल गई है। क्षेत्रीय विधायक संजीव आर्य ने बताया कि इस 7.30 किलोमीटर सड़क मार्ग के निर्माण में प्रति किमी 65.85 लाख यानी कुल 4 करोड़ 80 लाख 71 हजार रुपए का खर्च आएगा। जल्द ही इस मोटर मार्ग का शुभारम्भ किया जाएगा। इस मार्ग के बीच में आने वाली वन भूमि के ऐवज में 9.87 हैक्टेयर सिविल-सोयम की भूमि ग्राम गूम में देनी होगी। मार्ग का निर्माण पीएमजीएसवाई की काठगोदाम यूनिट के द्वारा उत्तराखंड ग्रामीण सड़क विकास एजेंसी के माध्यम से किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में कई विकास कार्यों से हटा वन भूमि का अड़ंगा

-उत्तरकाशी, बागेश्वर, पौड़ी, अल्मोड़ा और नैनीताल में तेज होंगे कई विकास कार्य
-अपर सचिव वन सुभाष चंद्र ने वन भूमि लीज व हस्तांतरण के शासनादेश जारी किए
नवीन समाचार  17 फरवरी 2019। केंद्रीय पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने कई विकास योजनाओं के लिए वन भूमि लीज पर देने व प्रत्यावर्तित करने को मंजूरी दे दी है। केंद्र से मंजूरी के बाद अपर सचिव वन सुभाष चंद्र ने वन भूमि लीज पर देने और हस्तांतरण के शासनादेश जारी कर दिए हैं। अब तक वन भूमि के कारण अटके ये सभी कार्य तेजी से आगे बढ़ सकेंगे।उत्तरकाशी के पुरोला विकासखंड के ग्राम पौंटी गोल में दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत विद्युतीकरण के लिए 9.94 हेक्टेयर वन भूमि उत्तराखंड पावर कॉरपोरेशन लिमिटिेड (यूपीसीएल) को 30 साल के लीज पर देने को मंजूरी मिल गई है। बागेश्वर के 33/11 केवी विद्युत सब स्टेशन से 33/11 सब स्टेशन कपकोट तक 33 केवी की विद्युत पारेषण लाइन के निर्माण के लिए 0.90 हेक्टेयर वन भूमि यूपीसीएल को 30 साल के लिए लीज पर देने को मंजूरी मिल गई है। पौड़ी जिले में मणखोली पेयजल योजना के निर्माण के लिए 0.6066 हेक्टेयर वन भूमि उत्तराखंड पेयजल संसाधन विकास एवं निर्माण निगम यानी जल निगम को 15 साल के लीज पर देने को मंजूरी मिल गई है। नैनीताल जिले में रामनगर कोसी नदी में प्रदूषण नियंतण्रके लिए 0.9488 हेक्टेयर वन भूमि जल निगम को 30 साल के लीज पर देने को मंजूरी मिल गई है। इसी तरह बागेश्वर जिले में राजकीय महाविद्याल गरुड़ के भवनों के निर्माण के लिए 0.90 हेक्टेयर वन भूमि उत्तराखंड उच्च शिक्षा विभाग को प्रत्यावर्तित करने को मंजूरी मिल गई है। अल्मोड़ा जिले में रानीखेत के तितालीखेत इको टूरिज्म संबंधी निर्माण के लिए 0.95 हेक्टेयर वन भूमि, उत्तराखंड वन संसाधन प्रबंधन परियोजना को प्रत्यावर्तित करने को मंजूरी मिल गई है। अल्मोड़ा जिले में ही ऐड़ी गधेरे में जलाशय के निर्माण के लिए 0.90 हेक्टेयर वन भूमि सिंचाई विभाग को प्रत्यावर्तित करने को मंजूरी मिल गई है। इन सभी योजनाओं से संबंधित विभागों को वन विभाग द्वारा तय भूमि में क्षतिपूरक वृक्षारोपण कर 10 साल उनकी देखरेख करनी होगी।

यह भी पढ़ें : अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ की 3-3 व नैनीताल की 2 सहित उत्तराखंड में डेढ़ दर्जन सड़कों को वन भूमि हस्तांतरण की मंजूरी

वीन समाचार, 4 फरवरी 2019। वन विभाग ने बर्षों से लटकी प्रदेश की सड़कों को वन भूमि हस्तांतरण की मंजूरी मिल गई है। इससे संबंधित क्षेत्रों में विकास को नई गति मिलने की उम्मीद की जा सकती है। लोनिवि को वन भूमि हस्तांतरण के बदले निर्दिष्ट स्थलों पर सिविल सोयम की दोगुनी भूमि पर प्रतिपूरक वृक्षारोपण एवं साथ ही अगले 10 वर्षों तक पौधों की देखभाल भी करनी होगी।

  1. नैनीताल जिले में नाई चौड़ा से सूखा मोटरमार्ग के लिए 1.6625 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में ग्राम अघौड़ा में 3.33 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में करना होगा क्षतिपूरक वृक्षारोपण।
  2. कैंची मोटर मार्ग से तितोली तक के निर्माण लिए 3.33 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में ग्राम जुवा में 6.66 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में करना होगा क्षतिपूरक वृक्षारोपण्
  3. अल्मोड़ा जिले के भतरौजखान-भिक्यासैंण-चौखुटिया मोटर मार्ग के सिंगल लेन से डेढ़ लेन में बदलने के लिए 0.975 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में सड़क के आस-पास रिक्त भूमि में करना होगा क्षतिपूरक वृक्षारोपण।
  4. नवगठित तहसील चौखुटिया के तहसील भवन तक संपर्क मार्ग के निर्माण के लिए 1.239 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में ग्राम धुलधुलिया में 2.478 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में करना होगा क्षतिपूरक वृक्षारोपण।
  5. ज्योली-बसर-खूंट-बसगांव-दरमाण मोटरमार्ग के निर्माण के लिए 0.972 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में सड़क के आस-पास रिक्त भूमि में करना होगा क्षतिपूरक वृक्षारोपण।
  6. चंपावत जिले में पूर्णागिरि मंदिर के लिए टनकपुर से सड़क के सुरक्षात्मक निर्माण कार्यांे के लिए 0.91 हेक्टेयर वन भू्मि लोनिवि को हस्तांतरित।
  7. पिथौरागढ़ जिले के कुठेरा से सिमलकोट मोटरमार्ग के निर्माण के लिए 4.977 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित बदले में ग्राम सिमलकोट में 9.954 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में करना होगा क्षतिपूरक पौधरोपण व देख।
  8. बेरीनाग-पुरानाथल-मुवानी रोड के किमी 13 से मुंडोली मोटर मार्ग के निर्माण लिए 2.45 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में ग्राम कमडोली में 4.90 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में करना होगा क्षतिपूरक पौधरोपण।
  9. बांसगढ़-पोर्थी मोटर मार्ग के निर्माण लिए 4.089 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में इसी गांव में 8.178 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में करना होगा क्षतिपूरक पौधरोपण।
  10. देहरादून जिले में सारनी मोटरमार्ग के निर्माण लिए 2.70 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में ग्राम सारनी में 5.4 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में करना होगा क्षतिपूरक वृक्षारोपण।
  11. रुद्रप्रयाग जिले में गुप्तकाशी-जखोली मोटर मार्ग के किमी 17 में सड़क के सुरक्षात्मक निर्माण कार्यों के लिए 0.405 हेक्टेयर वन भू्मि लोनिवि को हस्तांतरित।
  12. उत्तरकाशी के पुरोला ब्लॉक के हुडोली-विनगदेरा मोटर मार्ग के लिए 1.034 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को हस्तांतरित, बदले में हुडोली-सिरेटी तोक में करना होगा 2.068 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में क्षतिपूरक पौधरोपण।
  13. झाला व हर्षिल के बीच सियागाढ़ पर 105 मीटर स्पान का झूला पुल बनाने के लिए 0.44 हेक्टेयर वनभूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में 100 वृक्षो का रोपण कर 10 साल तक करनी होगी देखभाल।
  14. पौड़ी गढ़वाल के पाणीसैंण-डबराड-बूथानगर मोटरमार्ग के निर्माण के लिए 6.930 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में ग्राम छड़ियाणी-लगा डबराड़ व छड़ियाणी लगा अंदरगांव में 13.860 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में करना होगा क्षतिपूरक पौधरोपण।
  15. भंडारीगांव-गढ़सेरा मोटरमार्ग के किमी 14 से देहरचौरी मोटरमार्ग के लिए 1.485 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में ग्राम टिपरी में 3.420 हेक्टेयर सिविल सोयम भूमि में करना होगा क्षतिपूरक पौधरोपण।
  16. कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र में पहले से निर्मित लालढांग-चिल्लरखाल के सिगड्डीस्रेत से चिल्लरखाल मोटरमार्ग के लिए ब्लैक टॉपिंग के लिए 0.99 हेक्टेयर वन भूमि लोनिवि को प्रत्यावर्तित, बदले में सड़क के आस-पास रिक्त भूमि में करना होगा क्षतिपूरक वृक्षारोपण।

Leave a Reply

loading...