उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 16 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 12.6 मिलियन यानी 1.26 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

March 2, 2024

हल्द्वानी के कारोबारी से 27 लाख रुपये की धोखाधड़ी (Dhokhadhadi), बोले रुपये वापस न मिले तो कर लेंगे आत्महत्या…

0

Dhokhadhadi

Dhokhadhadi

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 3 जनवरी 2024। हल्द्वानी मंडी के एक आढ़ती ने महाराष्ट्र के दो कारोबारियों पर टमाटर खरीद के नाम पर 27 लाख रुपये का चूना लगाने (Dhokhadhadi) का आरोप लगाया है। कहा है कि आरोपित कारोबारी अब न तो आरोपी टमाटर भेज रहे है और न ही पैसा लौटा रहे हैं। पीड़ित ने आरोपितों के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी, जिस पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को दी तहरीर में तरूण तेजवानी दुकान नंम्बर बी-49, नवीन सब्जी मण्डी बरेली रोड ने कहा है कि वह सब्जी व फल के थोक कारोबारी हैं। उन्होंने वर्ष 2019 में महाराष्ट्र के राजलक्ष्मी ट्रेडिंग कंपनी एवं आदित्य ट्रेडिंग कंपनी को टमाटर मंगाने के लिए 27 लाख 30 हजार रुपये एडवांस दिए थे।

तब से दोनों फर्मों द्वारा ना ही उन्हें टमाटर दिये गये ना ही रुपये वापस भेजे। बल्कि अपनी फर्म का फर्जी बिल दिखाकर धोखाधड़ी की है। अब आरोपित पैसे मांगने पर जान से मारने और अपहरण करने की धमकी दे रहे हैं। इस कारण उन पर बैंक का काफी कर्ज हो गया है, और वह इस कारण मानसिक रूप से परेशान हो गये हैं।

कहा कि अगर उन्हें उनके रुपये वापस नही मिले तो उनके सामने आत्महत्या करने के अलावा कोई और रास्ता नही बचेगा। कोतवाल उमेश कुमार मलिक ने बताया कि आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से, कू से, कुटुंब एप से, डेलीहंट से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : फेसबुक फ्रेंड लड़की ने एक लाख डॉलर का झांसा देकर (Dhokhadhadi) ठग लिये 64 लाख रुपये

नवीन समाचार, कोटद्वार, 8 नवंबर 2023 (Dhokhadhadi)। फेसबुक पर दोस्त बनी एक युवती ने कोटद्वार के कारोबारी से 64 लाख रुपये ठग लिए। युवती ने कारोबारी को शेयर मार्केट में क्षति की भरपाई का भरोसा दिलाया और उससे दो ऐप डाउनलोड करवाए। अमेरिकन डॉलर की खरीद-फरोख्त कराई। इस ऐप पर कारोबारी को हर सौदे में लाभ दिखाते हुये उसके खाते में एक लाख डॉलर दर्शाए गये।

लेकिन जब कारोबारी ने डॉलर निकालने का प्रयास किया तो कभी टैक्स के बहाने तो कभी मनी लॉन्ड्रिंग से बचाने के नाम पर 64 लाख देने पर एक रुपया तक नहीं मिला। इस मामले में साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में अभियोग दर्ज कर लिया है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार गत आठ अगस्त को अलकनंदा कॉलोनी कोटद्वार निवासी कारोबारी अवधेश कुमार अग्रवाल की फेसबुक पर रिया शर्मा नाम की युवती से दोस्ती हुई थी। इस बीच अग्रवाल ने रिया से कहा कि उनको शेयर मार्केट में नुकसान हुआ है। रिया ने अवधेश से कहा कि उसे भी नुकसान हुआ था, मगर इसकी भरपाई उसने चाचा की मदद से कर ली।

रिया ने कहा कि उसके चाचा फॉरेक्स ट्रेडिंग (करेंसी बाजार) के विशेषज्ञ हैं और वह अमेरिकन डॉलर खरीदते एवं बेचते हैं। यह बातें सुनकर अग्रवाल को आस जगी। मगर वे ठगी का शिकार हो गए। क्योंकि इसके बाद रिया ने अवधेश से दो मोबाइल ऐप डाउनलोड कराकर इस ऐप के जरिये एक लाख डॉलर की कमाई दिखाई और इसे निकालने में झांसा देकर 64 लाख रुपये ठग लिये। एसएसपी एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने बताया कि केस दर्ज कर लिया गया है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Dhokhadhadi : इंसानों को ऑनलाइन हर्बल-शक्तिवर्धक दवाओं के नाम पर मुर्गी दाना भिड़ाकर जान से खिलवाड़ करने वाले गिरोह का भंडाफोड़…

नवीन समाचार, सितारगंज, 26 अक्टूबर 2023 (Dhokhadhadi)। उत्तराखंड एसटीएफ यानी विशेष कार्यबल ने इंसानों को ऑनलाइन माध्यम से हर्बल-शक्तिवर्धक दवाओं के नाम पर मुर्गी दाना भिड़ाकर जान से खिलवाड़ करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। यहां दो लोग मुर्गी दाने को कैप्सूल आदि में भरकर मोटी कीमत वसूलकर पार्सल के माध्यम से ऑनलाइन भेजते थे। मामले में मकान मालिक का 10 हजार रुपये का चालान किया गया है और सामान को सील कर दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार एसटीएफ ने स्थानीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ ग्राम थारू गौरीखेड़ा के एक घर में छापा मारा। टीम को यहां हर्बल दवा के नाम पर बिना किसी ब्रांड नाम के भारी मात्रा में चूर्ण, कैप्सूल व पाउडर तथा कुछ मशीनें बरामद की हैं। बताया गया कि दो लोग यहां चार माह से दवाइयों की पैकिंग कर यह दवाइयां ऑनलाइन माध्यम से ताकत बढ़ाने और बीमारियों के इलाज के नाम पर बेच रहे थे। पूछताछ में दोनों लोग इसे विभिन्न प्रकार की बीमारियों की हर्बल दवा बता रहे थे।

एक डिब्बे की कीमत 1575 रुपये लिखी गयी थी। कहा जा रहा है कि ताकत, कमजोरी के इलाज व शक्तिवर्धक दवाइयों के नाम पर सभी बीमारियों के इलाज को एक ही प्रकार की दवाइयां भेजी जाती थीं।

जबकि वहां मिले कट्टों में मुर्गों को खिलाये जाने वाला दाना मौजूद था। इन लोगों के द्वारा प्लास्टिक के कैप्सूलों में यही चूर्ण भरा हुआ प्रतीत हो रहा था। मौके पर पहुंची सीएमएस डॉ अभिलाषा पांडे ने दवाओं के सेंपल लिये हैं। उन्होंने बताया कि सेंपल जांच के लिए ड्रग इंस्पेक्टर को भेजे जाएंगे। जांच रिपोर्ट के बाद ही वास्तविकता सामने आएगी। तहसीलदार जगमोहन त्रिपाठी ने बताया कि मौके पर मिले सामान को सील किया गया है।

साथ ही मकान मालिक अकील पुत्र हनीफ का इन कथित हर्बल दवाओं को बनाने का कारोबार कर रहे लोगों को मकान किराए में देने के बावजूद चार माह से उनका सत्यापन न कराने पर 10 हजार रुपये का चालान किया है। कार्रवाई में वरिष्ठ ड्रग इंसपेक्टर नीरज कुमार, एसडीएम तुषार सैनी, तहसीलदार जगमोहन त्रिपाठी आदि अधिकारी मौजूद रहे।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Dhokhadhadi : रुपये 8 गुना करने का लालच दे रहे हजार-डेढ़ हजार रुपयों के साथ गिरफ्तार

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 6 अक्टूबर 2023 (Dhokhadhadi)। लोगों का पैसा 8 गुना करने का लालच देकर अवैध रूप से सट्टा लगवा रहे दो सट्टेबाजो को नैनीताल जनपद की बनभूलपुरा थाना पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता पायी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद में एसएसपी के निर्देशों पर अवैध जुआ व सट्टा के विरुद्ध चल रहे अभियान के तहत बनभूलपुरा के थानाध्यक्ष नीरज भाकुनी के नेतृत्व में बनभूलपुरा थाना पुलिस की टीम ने क्षेत्र के दो अलग-अलग सार्वजनिक स्थानों पर छापामारी के दौरान अवैध रूप से सट्टा लगवा रहे दो सट्टेबाजों को पेन, गत्ता एवम सट्टा पर्ची के साथ गिरफ्तार किया है।

खास बात यह रही कि दूसरों के रुपयों को चार से आठ गुना करने का लालच देकर सट्टा लगवाने वाले सट्टेबाजों की जेब में पुलिस को मात्र 1470 एवं 1040 रुपए ही मिले। अलबत्ता इस आधार पर सट्टेबाजों के विरुद्ध थाना बनभूलपुरा में जुआ अधिनियम की धारा 13 के अंतर्गत दो अलग-अलग अभियोग पंजीकृत कराए गए हैं।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल Dhokhadhadi: पकौड़ों की ठेली लगाने वाला दंपति लगा गया एक दर्जन लोगों को 15 लाख से अधिक का चूना

नवीन समाचार, लालकुआं, 1 अक्टूबर 2023 (Dhokhadhadi)। नैनीताल जनपद के लालकुआं कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां रेलवे स्टेशन के सामने पकौड़ों की ठेली लगाने वाले दंपति लोगों को अपने झांसे में लेकर लाखों रुपए का चूना लगाकर फरार हो गये। धोखाधड़ी के शिकार लोगों के पास हाथ मलने के अलावा कुछ भी नहीं बचा है। क्योंकि उनके पास कोई कागज नहीं हैं। इसलिये मामला पुलिस तक भी नहीं पहुंचा है।

Dhokhadhadi, एम्यूजमेंट कंपनी पर धोखाधड़ी के मामले में एक साथ 22 केस | 22 cases together  in the case of fraud on the amusement company - Dainik Bhaskarप्राप्त जानकारी के अनुसार लालकुआं रेलवे स्टेशन परिसर के सामने एक दंपति पिछले कुछ महीनों से ठेला लगाकर पकौड़ी बेचा करते थे। उनके पकौड़े मशहूर हो गये थी। बताया जा रहा है कि यह दंपति मूल रूप से यूपी के रहने वाला है और लालकुआं वार्ड नंबर 6 में किराए में रहता था।

दंपति का आसपास के लोगों के साथ अच्छा संपर्क हो गया। जिसके बाद दंपति ने करीब एक दर्जन से अधिक लोगों से ब्याज पर पैसे लिये। लोगों ने ब्याज के लालच में आकर करीब एक दर्जन लोगों ने उन्हें 10 से 15 लाख रुपये दिये थे। जिन्हें लेकर वह रातों-रात फरार हो गये हैं।

यहां तक की दंपति ने हल्द्वानी मंडी से फल-सब्जी का काम भी शुरू कर दिया था। बताया जा रहा कि दंपति ने फल-सब्जी कारोबारियों से भी करीब 3 लाख से अधिक का उधार भी लिया था। इधर कई दिनों तक पकौड़ों की ठेली नहीं खुलने के बाद लोग जब तलाश करते हुए उनकी दुकान पर पहुंचे तो पता चला कि दंपति ने दुकान बंद कर दी है।

दंपति को ब्याज पर रुपये देने का किसी के पास कोई लिखित कागजात नहीं हैं, साथ ही ब्याज पर रुपये देना भी अवैध है, इस कारण अब वह लोग पुलिस के पास भी नहीं जा रहे हैं। दंपति द्वारा लोगों के साथ धोखाधड़ी कर फरार होने की चर्चा पूरे शहर में चल रहा है। धोखाधड़ी के शिकार हुए कुछ लोगों ने दंपति के पकौड़ों की ठेली में अपना ताला भी लगा दिया है। लोगों के मुताबिक धोखाधड़ी करने वाला दंपति अपना आधार कार्ड सहित अन्य कागजात भी लोगों को फर्जी थमा गया है।

मामले में पुलिस का कहना है कि अभी तक उनके पास किसी तरह की कोई लिखित शिकायत नहीं प्राप्त हुई है। लिखित शिकायत प्राप्त होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Dhokhadhadi : व्यवसायी ने एक करोड़ से अधिक की धोखाधड़ी…

नवीन समाचार, देहरादून, 6 सितंबर 2023 (Dhokhadhadi)। राजधानी देहरादून के एक व्यक्ति से उसके कारोबारी पार्टनर द्वारा 1.16 करोड़ की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। पीड़ित ने आरोपित पर पैसा हड़पने के बाद धमकी देने का भी आरोप लगाया है। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत नहीं सुनी तो उसने न्यायालय में न्याय की गुहार लगाई। अब न्यायालय के आदेश के बाद नगर कोतवाली पुलिस ने अभियोग दर्ज कर लिया है। 

नगर कोतवाली पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार राजेश वाजपेई निवासी दून विहार जाखन देहरादून ने शिकायत की थी कि गौरव पाठक नाम के व्यक्ति से उसकी मुलाकात वर्ष 2008 में हुई थी। दोनों के बीच बीटीपीएल व्यवसाय (स्टडी-मोड) में चलाने के लिए 50-50 प्रतिशत की यानी बराबर की हिस्सेदारी तय हुई थी। लगभग आठ महीने तक दोनों ने साथ मिलकर काम किया।

आरोप है कि गौरव ने जानबूझकर उसे कंपनी के निदेशक के रूप में बोर्ड में शामिल नहीं किया। जिससे बीटीपीएल व्यापार और वित्तीय मामलों में अर्जित लाभ से उसे बाहर रख सके। इस संबंध में पूछा तो झूठा आश्वासन दे दिया। कहा था कि 50 फीसदी भुगतान हर भुगतान पर किया जाएगा।

बताया कि जानकारी के अनुसार एक अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2022 तक प्रभावी रूप से 3.41 करोड़ म्पए और एक अप्रैल 2022 से 22 नवंबर 2022 तक 1.46 करोड़ रुपए की आय हुई। इसमें से उसके हिस्से के 50 फीसदी में से रुपए 1.16 करोड़ भुगतान करने से गौरव ने इंकार कर दिया और गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी भी दी। इस प्रकार साठ-गांठ कर झूठा, कूटरचित, फर्जी, जाली दस्तखत का फर्जी कंसल्टेंसी एग्रीमेंट का हवाला देते हुए 1.16 करोड़ रुपयों को अपने निजी फायदे के लिए हड़प लिया।

इस मामले में पुलिस ने राजेश वाजपेई निवासी दून विहार जाखन देहरादून की शिकायत पर गौरव कुमार पाठक उनकी पत्नी अर्चना पाठक, बेटे प्रखर पाठक के अलावा अनुथाम ट्रेनर्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी रेसकोर्स वैली के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें Dhokhadhadi: महिला को इंश्योरेंस पॉलिसी के नाम पर लगाया एक करोड़ 30 लाख रुपए का चूना…

नवीन समाचार, देहरादून, 4 मार्च 2023 (Dhokhadhadi)। मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी की पॉलिसी में समस्या बताकर उसका समाधान करवाने के नाम पर साइबर ठग द्वारा एक महिला से एक करोड़ 30 लाख रुपये की ठगी करने का बड़ा व सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। महिला की शिकायत पर ठग को उत्तराखंड पुलिस की एसटीएफ यानी विशेष जांच दल ने दिल्ली स्थित उसके घर से गिरफ्तार कर लिया है। यह भी पढ़ें : बड़ा मामला: जिले के 16 एटीएम से पौने दो करोड़ रुपए गायब… नगदी डालने वाली कंपनी के 3 कर्मचारियों ने लगाया चूना…

आरोपित की पहचान राहुल पांडे निवासी निहाल विहार, पश्चिमी दिल्ली के रूप में हुई है। आरोपित के पास से एक मोबाइल फोन, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और एटीएम कार्ड बरामद किए गए हैं। इसी मामले में एसटीएफ ने बीती चार फरवरी को भी एक अन्य आरोपित को दिल्ली से ही गिरफ्तार किया था। यह भी पढ़ें : बड़ा समाचारः उत्तराखंड आंदोलन के चर्चित रामपुर तिराहा कांड के 5 आरोपित पुलिस कर्मियो की संपत्ति कुर्क करने के वारंट जारी…

एसटीएफ के एसएसपी आयुष अग्रवाल ने बताया कि देहरादून निवासी विनोद कुमारी बंसल ने साइबर थाना पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी कि उन्होंने वर्ष 2017 में मैक्स लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी 10 वर्षों के लिए ली थी। पॉलिसी वर्ष 2027 में पूरी होनी थी। जुलाई 2022 में उन्हें एक अज्ञात व्यक्ति ने फोन किया और खुद को मैक्स लाइफ इंश्योरेंस का अधिकारी बताकर कहा कि आपकी पॉलिसी में कुछ समस्या है, जिसके कारण इसे रद्द किया जा रहा है। यह भी पढ़ें : नशे में कलयुगी पुत्र ने अपरे पिता के सीने में घोंप दिया चाकू….

वह बीमा कंपनी के वरिष्ठ अधिकारियों से अपनी अच्छी जान पहचान के जरिये इस समस्या को हल करने में मदद कर सकता है। महिला की हामी के बाद ठग इसके बदले अलग-अलग फीस के नाम पर रुपये अपने खाते में डलवाने लगा,और नए-नए फोन नंबरों से फोन करके महिला के एक करोड़ 30 लाख रुपये हड़प लिए। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें Dhokhadhadi : नैनीताल: गैस एजेंसी के नाम पर 11.15 लाख की ठगी, आरोपित को नहीं मिली जमानत

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 मार्च 2023 (Dhokhadhadi)। जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुजाता सिंह की अदालत ने गैस एजेन्सी दिलाने के नाम पर 11 लाख 15 हजार रुपये की ऑनलाईन ठगी करने के आरोपित आरजू पुत्र मौ. वसीरूददीन निवासी ग्राम अयापुर थाना साहिबगंज, विहार हाल सुरहील सेक्टर-18 जिला गुडगाँव हरियाणा का जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया है। यह भी पढ़ें : युवती को लड़कों के साथ जाना पड़ा भारी, कर दिया सामूहिक दुष्कर्म

जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने अभियोजन की ओर से जमानत प्रार्थना पत्र का विरोध करते हुए अदालत को बताया कि 4 जुलाई 2021 को थाना मुक्तेश्वर में नीरज सिंह पुत्र गोपाल सिंह निवासी ग्राम परवड़ा पोस्ट भटेलिया जिला नैनीताल की शिकायत पर आरोपित के विरुद्ध भारतीय दंड विधान संहिता की धारा 420 व आईटी एक्ट की धारा 66 डी के अन्तर्गत अभियोग दर्ज किया गया था। यह भी पढ़ें : अब कोचिंग इंस्टिट्यूट संचालक शिक्षक ने 11वीं कक्षा की नाबालिग छात्रा का किया यौन उत्पीड़न…

हुआ यह था कि नीरज के मित्र प्रीतम बिष्ट पुत्र गोपाल बिष्ट मूल निवासी ग्राम परवड़ा, भटेलिया ने गैस एजेंसी खोलने के लिए गूगल के माध्यम से एक बेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन किया। इसके बाद 9 मार्च 2021 को उसे इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के महाप्रबंधक के नाम से फोन कर एजेंसी प्राप्त करने के लिए कंपनी के साथ 6 लाख रुपए निवेश करने को कहा गया।

(Dhokhadhadi) आगे उसके साथ छल-कपट कर शिक्षा संबंधी एवं आधार कार्ड, पैन कार्ड, फोटो, बैंक की जानकारी, खाता खतौनी, हस्ताक्षर आदि कागजातों के साथ विभिन्न तिथियों में 11 लाख 15 हजार रुपए जमा करा लिए गए। यह भी पढ़ें : दारोगा के बेटे ने दिखाई पुलिस की धोंस, पुलिस ने भी दिखाई मेहरबानी…

बाद में कहा गया कि आरोपित आरजू एवं सह आरोपित बिट्टू राज शीघ्र ही लोकेशन देखने आयेंगे। लेकिन आए नहीं। बल्कि और रुपए भी झांसा देकर मांगने लगे। ठगी का अहसास होने पर पीड़ित की ओर से साईबर क्राईम की वेबसाईट में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी। इस मामले में पहले बिट्टू राज गिरफ्तार किया गया, जिसने कहा कि आरजू के कहने पर यह सब कुछ किया गया। यह भी पढ़ें : सप्ताह भर का रिस्क लेकर करें रुपये दोगुने, अब बिना यूएसडीटी में बदले-सीधे मात्र 2000 रुपए से भी जुड़ सकते हैं डोकोडेमो में

इसके बाद आरजू को 9 जनवरी 2023 को खोडा गाजियाबाद से गैर जमानती वारंट के आधार पर मुक्तेश्वर के थाना प्रभारी ने गिरफ्तार किया। जांच के दौरान यह तथ्य भी प्रकाश में आया कि आरजू के विरूद्ध छल कपट से संबंधित 2 अन्य मामले थाना मधुविहार नई दिल्ली में भी दर्ज हैं। इस आधार पर न्यायालय ने उसका जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi): बड़े शातिर निकले पति-पत्नी, घोषित हुआ 20-20 हजार का ईनाम…

-90 से अधिक लोगों से 40 करोड़ की धोखाधड़ी के आरोप, गैंगस्टर सहित 7 मुकदमे हैं दर्ज
(Dhokhadhadi) पति से झगड़कर निकली पत्नी 30 करोड़ रुपये लेकर घर लौटी! - wife Returned as  mistress of 30 crores rs Went after quarreling with husband tstf - AajTakनवीन समाचार, देहरादून, 17 फरवरी 2023 (Dhokhadhadi)। देहरादून में एक शातिर दंपति यानी पति-पत्नी युगल दीपक मित्तल और राखी मित्तल पर डीआईजी दलीप सिंह कुंवर ने 20-20 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया है।

(Dhokhadhadi) दंपति पर 90 से अधिक निवेशकों से 40 करोड़ रुपये से ज्यादा की ठगी करने के आरोप में राजपुर और डालनवाला थाने में गैंगस्टर सहित सात मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं। दोनों विदेश तक भाग चुके हैं। वहां से वापस लौटने पर उन्होंने अपनी गिरफ्तारी पर स्टे ले लिया था। यह भी पढ़ें : अवैध संबंधों में आढ़े आ रहा था पति, इसलिए कर दी हत्या, फिर बाइक सहित खाई में गिराकर बनाई दुर्घटना…

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार दीपक मित्तल ने देहरादून के आर्किड पार्क और एमीनेंट हाइट्स में फ्लैट दिलाने के नाम पर 90 से अधिक निवेशकों से 40 करोड़ रुपये से ज्यादा की ठगी की। इनमें से कई निवेशक ऐसे भी हैं जिन्होंने लोन लेकर फ्लैट के पैसे जमा किये थे। उन्हें 2017-2020 के बीच फ्लैट तैयार करके देने का वादा किया था। लेकिन, तय समय पर फ्लैट तैयार नहीं होने के बाद निवेशकों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। यह भी पढ़ें : धर्म परिवर्तन की एक अलग कहानी, उत्पीड़न की हदें हुईं पार तो अल्मोड़ा की ‘रोशन बानू’ बन गई ‘रोशनी’….

मामला दर्ज होने पर आरोपित पत्नी संग दुबई चला गया। जब दुबई से लौटकर आया तो पुलिस जांच में सहयोग करने का आश्वासन देकर गिरफ्तारी पर स्टे ले लिया। लेकिन पुलिस को कोई सहयोग नहीं किया और पत्नी सहित गायब हो गया। ऐसे में अब डीआईजी ने दोनों पति-पत्नी पर पूर्व में दर्ज 7 मामलों के साथ पिछले दिनों गैंगस्टर लगाने के बाद अब 20-20 हजार रुपए का ईनाम घोषित कर दिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कूपनों के जरिए पहाड़ पर नकली सामान बेचने के बड़े गिरोह का नैनीताल पुलिस ने किया भंडाफोड़, सरगना सहित 5 दबोचे…

-एक हजार का सामान 6 हजार में बेचकर कर रहे थे धोखाधड़ी
नवीन समाचार, नैनीताल, 14 फरवरी 2023। पहाड़ों पर अक्सर धोखाधड़ी से नकली सामान ही अधिक बिकता है। नैनीताल जनपद की बेतालघाट पुलिस ने कूपन के नाम पर दिल्ली से नकली सामान लाकर पहाड़ में बेचने के बड़े फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ किया है। इस मामले में यूपी के जिला कानपुर देहात निवासी पांच लोगों को उनके सरगना सहित काफी मात्रा में नकली सामान के साथ गिरफ्तार किया गया है। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड की महिला अधिकारी को पति व ससुरालियों ने मारपीट कर घर से निकाला, अभियोग दर्ज

बेतालघाट पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार सतीश कुमार पुत्र दिनेश चंद्र निवासी ग्राम घिरौली ने थाना बेतालघाट में सूचना दी कि कुछ लोग उनके गांव में आकर 200 रुपए के कूपन से सामान बेच रहे है। कूपन से 6000 रुपए की कीमत का एलईडी टीवी जबर्दस्ती लेने का दबाव बना रहे हैं। सामान का बिल भी नहीं दिया जा रहा है।

(Dhokhadhadi) इस सूचना पर थाना बेतालघाट पुलिस तत्काल घटनास्थल पर पहुंची और सभी संदिग्धों से थाना बेतालघाट लाकर कडाई से पूछताछ की तो पता चला कि वह ग्रामीणों को ’साईं कृपा मार्केटिंग सेल एंड डिस्काउंट ऑफर कूपन’ के नाम से गुमराह कर धोखाधड़ी से नकली सामान बेचते है। यह भी पता चला कि वह दिल्ली से 1000 रुपए तक के सामान लाकर ग्रामीणों को 5999 रुपए में बेचते है। यह भी पढ़ें : नैनीताल: कार फिसलकर करीब ढाई सौ फिट गहराई में गिरी

उन्होंने यह भी कबूला कि वह पिछले दो वर्षों से कूपनों से 10 सामान एलईडी, टावर कूलर, लैपटाप, मार्बल चुल्हा, फ्रिज, टावर होम थियेटर, मोबाईल फोन, इंडेक्शन चूल्हा, होम थियेटर व सिलाई मशीन निकलने का दावा करते हैं, पर कूपनों से केवल एलईडी, टावर कूलर, मार्बल चूल्हा व टावर होम थियेटर ही निकलते हैं। किस कूपन से क्या निकलेगा, इसका भी उन्हें गुप्त निसान से पता होता है। यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग उत्तराखंड: कई आईएएस, पीसीएस व सचिवालय सेवा के अधिकारियों के तबादले

(Dhokhadhadi) पुलिस की तहकीकात में यह भी पता चला कि वह लोग कूपन से सामान बेचने के लिये उत्तरकाशी, पौडी, चम्बा, टिहरी आदि जगह भी गये है और जहां के लोग उन पर शक करने लग जाते है तो वह उन जगहों को तुरंत छोड़ देते हैं। नैनीताल जनपद में वह लगभग 2 सप्ताह से श्यामखेत भवाली में कमरा लेकर रह रहे थे और अपने चार पहिया वाहनों से अलग-अलग गांवों में जाकर यह फर्जीधंधा चला रहे हैं।

(Dhokhadhadi) पुलिस ने उसे भी देकर देवगन पिरोली पुल बेतालघाट से दबोच लिया। पुलिस ने शिकायतकर्ता की तहरीर पर उनके विरुद्ध भारतीय दंड विधान संहिता की धारा 420 व 34 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड पुलिस के एक चौकी प्रभारी पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का आरोप, विजीलेंस जांच के आदेशों के बावजूद पद पर कार्यरत….

पकड़े गए आरोपितों की पहचान जिला कानपुर देहात उत्तर प्रदेश निवासी गिरोह के सरगना अवधेश सिह पुत्र मान सिंह निवासी कलेना थाना डेरापुर, दीपू सिंह पुत्र मलखान सिंह निवासी कलेनापुर रसाधन, भगवान सिंह पुत्र मलखान सिंह निवासी धन कानपुर देहात व लोकेश पुत्र प्रीतम निवासी पदमपुर कुदौली डेरापुर तथा विनीत सिंह पुत्र वीर सिंह निवासी 89 मीरा कुन्ज निलोठी ग्राम निलोठी पश्चिम दिल्ली के रूप में हुई है।

(Dhokhadhadi) उनकी गिरफ्तारी करने वाली टीम में बेतालघाट के थानाध्यक्ष मनोज नयाल, उप निरीक्षक गौरव जोशी, आरक्षी रामकृपाल, दीपक सामन्त, भूपेन्द्र सिंह तथा होमगार्ड विनोद कुमार व कुन्दन शामिल हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : फर्जी नौकरी का झांसा देकर एक करोड़ से अधिक की धोखाधड़ी के आरोप में कांग्रेस नेत्री व उसके भाई सहित 4 गिरफ्तार…

पुलिस ने किया फर्जी भर्ती सेंटर का भंडाफोड, गैंग के चार सदस्य गिरफ्तार |  Janpaksh Aajkalनवीन समाचार, हरिद्वार, 29 दिसंबर 2022। पुलिस ने फर्जी भर्ती सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए लैपटॉप, फर्जी प्रमाण समेत काफी सामान के साथ गैंग के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है जबकि एक फरार हो गया है। पकड़े गए आरोपितों में कांग्रेस नेत्री और उसका भाई भी शामिल है।

(Dhokhadhadi) आरोपितों के द्वारा सौ से अधिक बेरोजगार युवकों को फंसाने के लिए बड़े होटलों में इंटरव्यू के जरिए सरकारी नौकरी का झांसा देकर फर्जी नियुक्ति प्रमाण पत्र भी बांटे जा रहे थे और इस तरह वह 1 करोड़ रुपये से अधिक की रकम डकार चुके थे। यह भी पढ़ें : महिला से दहेज न मिलने पर पति ने की दरिंदगी, अप्राकृतिक संबंध बनाकर और एक साथ दे दिया तीन तलाक….

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद हरिद्वार के लक्सर के ग्राम टीकमपुर में फर्जी भर्ती सेंटर चलाया जा रहा था। गिरोह के सदस्य विभिन्न विभागों में 10 प्रतिशत विभागीय कोटा बताकर बेरोजगारों को नौकरी का झूठा लालच देते थे और फिर प्रत्येक से पांच से दस लाख रुपये लेकर नौकरी दिलाने के नाम पर फर्जीवाड़ा करते थे।

(Dhokhadhadi) कोई शक न करे इसलिए पहले नामी होटलों में बेरोजगारों को इंटरव्यू के नाम पर बुलाकर लाखों रुपयों की डिमांड की जाती थी। रकम मिलने पर लोक सेवा आयोग उत्तराखण्ड और अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के तहत अन्य विभागों से सम्बन्धित नौकरियों के फर्जी नियुक्ति पत्र जारी किए जाते थे। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड के स्कूलों में कोरोना को लेकर शिक्षा महानिदेशक ने दिए नए निर्देश, जरूरी होगा नियमों का पालन…

जब इनके फर्जी नियुक्ति पत्र देने पर बेरोजगारों ने संबंधित विभाग में जाकर जानकारी की तो वहां ऐसी कोई नौकरी न होने की बात कही जाती थी, तब इनका कहना होता था कि इन 10 प्रतिशत विभागीय कोटे की कोई परीक्षा नहीं होती। यह पद विभाग द्वारा अलग से भरे जाते हैं। इस कारण बेरोजगारों में भ्रम की स्थिति बनी रहती थी और लोग आसानी से इनकी धोखाधड़ी का शिकार हो जाते थे।

(Dhokhadhadi) इसके साथ ही गिरोह ने अपना रौब दिखाने के लिये दो गार्ड रखे थे, जिन्हें वह आर्मी की वर्दी पहनाकर अपने साथ जगह-जगह ले जाते थे ताकि किसी को कोई शक न हो। यह भी पढ़ें : नैनीताल : सैलानियों ने टैक्सी चालकों से मारपीट, महिलाओं ने लगाए छेड़छाड़ के आरोप

जगह-जगह चल रहे इस बड़े खेल पर फोकस करते हुए एसएसपी हरिद्वार अजय सिंह ने एक रणनीति बनाकर अधीनस्थों को निर्देशित किया गया। कोतवाली लक्सर समेत संयुक्त स्तर पर गठित पुलिस टीम ने लगातार एक्टिव रहकर सटीक सूचना के आधार पर एक महिला सहित कुल 04 अभियुक्तों को भारी मात्रा में अभ्यर्थियों के फर्जी नियुक्ति प्रमाण पत्र, फर्जी शैक्षिक अंक तालिकायें,

(Dhokhadhadi) इलेक्ट्रॉनिक सामान, नकदी, विभिन्न विभागों के पदनाम की मोहरों, घटना में इस्तेमाल किए जाने वाले कई मोबाइल फोन, 1 दर्जन से अधिक पासबुक, चेक बुक, रौब गालिब करने के लिए गार्ड द्वारा पहनी गई फर्जी आर्मी एवं पुलिस की वर्दी इत्यादि के साथ दबोच लिया जबकि अन्य लोग फरार हो गए। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी में शुरू हुआ रेलवे व प्रशासन का अतिक्रमण हटाओ अभियान, क्षेत्रवासियों के विरोध के बीच पीलर हदबंदी की कोशिश

पुलिस पूछताछ में पकड़े गए आरोपितों ने अपने नाम रेणू, विजय नौटियाल, नितिन निवासी टिक्कमपुर लक्सर और सिद्धार्थ निवासी धारीवाला, पथरी हरिद्वार बताए हैं जबकि अजय नौटियाल निवासी टिक्कमपुर कोतवाली लक्सर फरार बताया जा रहा है। रेणू महिला कांग्रेस नेत्री है जबकि उसका एक भाई विजय नौटियाल है और दूसरा भाई अजय नौटियाल फरार है। पुलिस ने सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोपितों का चालान कर दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पिता को भारी पड़ा दुष्कर्म के आरोपित बेटे को नाबालिग दर्शाने के लिए प्रपत्रों में हेरफेर करना

नवीन समाचार, हरिद्वार, 14 दिसंबर 2022। एक पिता को दुष्कर्म के आरोपित बेटे को नाबालिग दर्शाने के लिए उसके प्रपत्रों में हेरफेर करना भारी पड़ गया। न्यायालय के आदेश के बाद जांच अधिकारी की शिकायत पर आरोपित पिता और अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। यह भी पढ़ें : अब अंकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपित पुलकित आर्य के पिता पर लगा घिनौना आरोप…

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार हरिद्वार में नाबालिग को बहला फुसलाकर ले जाने के बाद दुष्कर्म करने के मामले में लक्सर निवासी राहुल पुत्र सुभाष को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। इधर आरोपित राहुल के पिता सुभाष ने राहुल को किशोर घोषित कराने के लिए न्यायालय में उसकी विद्यालय की टीसी और परिवार रजिस्टर की नकल पेश की, जिसमें उसकी जन्मतिथि 5 नवंबर 2004 की जगह 14 मार्च 2006 दर्ज थी। यह भी पढ़ें : भवाली के गांव में ‘लव व लेंड जिहाद’ की मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री को भेजी गई शिकायत..

जबकि जिस विद्यालय की टीसी प्रस्तुत की गई थी, उसके प्रधानाचार्य ने न्यायालय में बयान दिया कि स्कूल से आरोपित राहुल ने शिक्षा ग्रहण नहीं की है। इस प्रकार फर्जी दस्तावेज बनाकर युवक को किशोर घोषित करने के मामले को न्यायालय ने गंभीरता से लिया, न्यायालय ने जांच अधिकारी संदीपा भंडारी को आरोपित पिता और अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी तथा न्यायालय को गुमराह करने का मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए। ज्वालापुर कोतवाली के प्रभारी आरके सकलानी ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री के नाम से ठेके दिलाने का झांसा देकर ऐंठे लाखों रुपए, 1 वर्ष बाद भी नहीं मिली जमानत

नवीन समाचार, नैनीताल, 23 नवंबर 2022। जिला एवं सत्र न्यायाधीश नैनीताल राजेन्द्र जोशी की अदालत ने मुख्यमंत्री के नाम से रोजगार दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले एक आरोपित राजेन्द्र कुमार उर्फ राजेन्द्र सेन पुत्र हरप्रसाद सेन निवासी ए-103 विनायक परिसर, ई-8 एरिया कालोनी, भोपाल का जमानत प्रार्थना पत्र भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 504 व 506 के अंतर्गत मामले की गंभीरता को देखते हुए एक वर्ष बाद भी खारिज कर दिया है। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ब्रेकिंग: कल की छुट्टी पर आया बड़ा अपडेट

जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने जमानत का विरोध करते हुए तर्क रखा कि एक मई 2021 को थाना रामनगर में शादाब आलम पुत्र अब्दुल वाहिद निवासी उदयपुर चोपड़ा रामनगर ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि वह इंडिया लाईव-24 के राज्य प्रमुख हल्द्वानी निवासी विजय जोशी के द्वारा भोपाल निवासी आरोपित राजेन्द्र कुमार से हरिद्वार में मिला था। यह भी पढ़ें : पति को बांधकर विवाहिता के साथ चार युवकों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, नाबालिग भतीजी के साथ भी की छेड़छाड़

राजेन्द्र कुमार ने खुद को इंडिया लाईव-24 का मालिक व उत्तराखण्ड व मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री का खास मित्र बताया, तथा उसे झूठा आश्वासन दिया कि वह शादाब को वन विभाग में पेड़ लगाने का रजिस्टर्ड ठेका दिला देगा। इसके ऐवज में शादाब से बहन की शादी के लिए रखे हुए 3,35,100 रुपए अपने केनरा बैंक बवादिया कला के खाते में डलवाये। लेकिन ठेका नहीं मिला, बल्कि बड़े नेताओं का नाम लेकर शादाब को गालियों के साथ जान से मारने की धमकी दी और बाद में अपना मोबाइल बंद कर दिया। यह भी पढ़ें : डॉ. साह के असामयिक निधन से चिकित्साजगत में शोक की लहर….

पुलिस में शिकायत दर्ज होने पर यह बैंक खाता उसी का निकला। 30 नवंबर 2021 को उसे अपर मुख्य न्यायिक मजिस्टेट रामनगर ने अपने न्यायालय में तलब कर 14 दिन का न्यायिक हिरासत में जेल भेजा। मामले की गंभीरता को देखते हुए न्यायालय ने आरोपित का जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दो बच्चों के पिता ने किया धोखे में रखकर निकाह, अप्राकृतिक संबंध बनाए, ननदोई ने भी किया दुष्कर्म

नवीन समाचार, हरिद्वार, 20 नवंबर 2022। महिलाओं को न जाने क्यों कुछ लोग किसी भी हद तक पीड़ित करने से बाज नहीं आते। जनपद के कलियर निवासी एक महिला ने अपने पति पर खुद को अविवाहित बताकर उससे निकाह करने और अपने ननदोई पर दुष्कर्म करने तथा ससुरालियों पर पिटाई और धमकी देने के सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। महिला की शिकायत पर पुलिस ने पति सहित चार लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है। यह भी पढ़ें : अब पता चला, नैनीताल में कोहली को क्या सबसे अधिक पसंद आया.. सूर्य?

प्राप्त जानकारी के अनुसार कलियर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी महिला ने कलियर थाना पलिस को तहरीर देकर बताया है कि करीब एक साल हैथल थाना पथरी निवासी तौफीक ने खुद को अविवाहित बताते हुए उससे निकाह किया था। जबकि ससुराल जाने के बाद उसे पता चला कि वह पहले से ही न केवल शादीशुदा था, बल्कि उसके पहली पत्नी से दो बच्चे भी थे। यह भी पढ़ें : विचारणीय समाचार : शिक्षक के विरुद्ध बच्चे को सजा के तौर पर दंड बैठक व मैदान के चक्कर लगवाने पर मुकदमा दर्ज

महिला ने आरोप लगाया कि ससुराल में पति उससे अप्राकृतिक तरीके से शारीरिक संबंध बनाता था, जबकि उसके ननदोई वसीम ने उसके साथ दुष्कर्म किया। जब उसने इसकी शिकायत अपने जेठ तौकीर और ससुर नसीर से की तो उन्होंने उसकी पिटाई कर चुप रहने को और ऐसा नहीं करने पर उसे जान से मारने की धमकी दी। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी : अभी-अभी पटरी पर दो टुकड़ों में कटी मिली 27 वर्षीय युवक कि लाश, प्रेम प्रसंग कि सम्भावना…

कलियर थाना प्रभारी मनोहर भंडारी ने बताया कि पुलिस ने मामले में पति तौफीक, ननदोई वसीम, जेठ तौकीर और ससुर नसीर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की छानबीन शुरू कर दी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अधिवक्ता ने मुव्वकिल पर लगाया 68 हजार रुपए उड़ाने का आरोप…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 26 सितंबर 2022। उत्तराखंड उच्च न्यायालय के एक अधिवक्ता से अपने मुवक्किल पर उसके डेबिट व क्रेडिट कार्ड चुराकर तथा पिन नंबर देखकर 68 हजार रुपये उड़ाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने अभियोग दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। यह भी पढ़ें : जीजा ने नाबालिग साली का नहाते हुए वीडिओ बनाया, और….

प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर के मल्लीताल मेलरोज कंपाउंड में सैनिक स्कूल के पास रहने वाले अधिवक्ता आनंद पांडे पुत्र कृष्णा दत्त पांडे ने पुलिस को दी गई शिकायत में कहा है कि वह अपने एक मुव्वकिल का करीब दस वर्षों से उच्च न्यायालय में केस लड़ रहे हैं। इधर, बीते माह 8 जुलाई को वह मुवक्किल व उसकी बेटे के बेटे यानी पोते के साथ देहरादून गए। रास्ते में उन्होंने अपने कार्ड से पेट्रोल भराया, और खाना खाया, इस दौरान पोते ने कार्ड का पिन देख लिया। यह भी पढ़ें : दुष्कर्म के मामले में लापरवाही पर महिला दरोगा सस्पेंड, इंस्पेक्टर के खिलाफ भी जांच…

आरोप है, कि मुवक्किल के पोते ने उनका एटीएम और क्रेडिट कार्ड गाडी से निकाल कर एटीएम से 20 हजार व क्रेडिट कार्ड से 48 हजार रुपए नैनीताल पहुंचने से पहले ही निकाल लिए। मामले में मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने शिकायत के आधार पर पुलिस ने मिक्का सिंह पता अज्ञात के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 के तहत अभियोग दर्ज कर लिया है। मामले की विवेचना धाम सिह पांगती को सोंपी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : रुपयों के लिए कुछ भी करेंगे ? किन्नर बनने से भी गुरेज नहीं…

नवीन समाचार, काशीपुर, 31 अगस्त 2022। शायद किन्नर बनने में अच्छी कमाई हो, शायद इसी लिए आज के सब कुछ पैंसा के दौर में लोगों को किन्नर बनने से भी परहेज नहीं। गत दिवस एक किन्नर द्वारा 51 हजार रुपए की मांग पर एक महिला के पेट पर किन्नर द्वारा लात मारने की घटना की ही कड़ी में यह घटना भी है, जिसमें नकली किन्नर बनकर अवैध उगाही कर रहे एक किन्नर को असली किन्नर ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया जबकि उसके दो साथी भागने में कामयाब हो गये।

इस मामले में किन्नर परवीन बुआ ने पैगा पुलिस को तहरीर देकर बताया कि बीती शुक्रवार की शाम करीब 5 बजे तीन नकली किन्नर काशीपुर क्षेत्र में अवैध रूप से, गलत तरीके से बधाई मांग रहे हैं। पता चला कि वह बधाई न मिलने पर लोगों को गाली गलौच करते हैं और मारपीट पर उतारू हो जाते हैं। ऐसे लोगों की वजह से असली किन्नरों की बदनामी होती है।

लिहाजा उन्होंने तीनों किन्नरों का पीछा कर इनमें से एक को दबोच लिया जबकि दो नकली किन्नर भाग गये। परवीन बुआ ने बताया कि असली किन्नर समाज से कोई अवैध बधाई नहीं लेते हैं। जो भी व्यक्ति श्रद्धा से जो बधाई देता है, वह ही ले लेते हैं। किसी से अनुचित जोर-जबर्दस्ती नहीं करते। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बैंक में चाय पिलाने वाला निकला शातिर, ग्राहकों के लाखों रुपए लेकर हुआ फरार…

बैंक अधिकारी ने चेस्ट से उड़ाए 4 करोड़, पैसा ब्याज पर उठाकर कर रहा था ऐश |  fir against bank officer for 4 crore rupees fraud in prayagraj - Hindi  Oneindiaनवीन समाचार, हरिद्वार, 4 अगस्त 2022। ज्वालापुर के सराय गांव स्थित बैंक आफ इंडिया की शाखा में चाय-पानी पिलाने का काम करने वाला एक दैनिक कर्मचारी खाता धारकों के लाखों रुपये लेकर फरार हो गया। यह रुपए उसे खाताधारकों ने अपने बैंक खातों में जमा कराने के लिए दिए थे। इसके बदले कर्मचारी ने उन्हें रसीद भी दी, पर रुपए जमा नहीं किए। अब बैंक मैनेजर ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बैंक आफ इंडिया की सराय शाखा के मैनेजर अरविंद चौहान ने पुलिस को तहरीर देकर बताया है कि बैंक शाखा में अर्जुन सिंह निवासी जगधान, लोहारी चकराता, देहरादून दैनिक मजदूरी पर कार्यरत था। बैंक में उसका काम केवल, चाय, पानी पिलाना व शाखा की सफाई करना था। बीते पांच मार्च से वह शाखा में नहीं आया। पूछने पर उसने अपनी दादी का देहांत होने की जानकारी दी थी। इधर मेहुरुन्निशा नाम की एक महिला ने शिकायती पत्र देकर बैंक को बताया कि उसने अर्जुन को 33 हजार 500 रुपये जमा कराने के लिए दिए थे।

जिसकी एक रसीद भी अर्जुन ने दी थी, लेकिन पैसा खाते में जमा नहीं हुआ। इसी तरह सराय निवासी जमशीदा के 50 हजार रुपये भी अर्जुन ने रसीद देने के बावजूद खाते में जमा नहीं हुए। धोखाधड़ी का पता चलने पर बैंक ने अर्जुन से संपर्क साधने का प्रयास किया, पर उसका कुछ पता नहीं चल पाया। इस मामले में मैनेजर ने पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। ज्वालापुर कोतवाल आरके सकलानी ने बताया कि आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अजब मामला : पहले कार बेची, फिर दूसरी चाबी से ले उड़ा

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 23 अप्रैल 2022। कार खरीदने वाले एक व्यक्ति ने आरोप लगाया है कि उसने जिस व्यक्ति से कार खरीदी थी वही दूसरी चाबी से उसकी कार चुराकर ले गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है कि मामला यही है कुछ और ? कहीं ऐसा तो नहीं कि मामला खरीद-फरोख्त में हुए विवाद के बाद कार के मूल स्वामी द्वारा कार वापस ले जाने का है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार पीयूष बत्रा की भोटिया पड़ाव चौकी क्षेत्र के दुर्गा सिटी सेंटर में नैनीताल कार बाजार नाम से दुकान है। कार बाजार के माध्यम से 8 नवंबर 2021 को गगनदीप सिंह निवासी एमबी कॉलेज हल्द्वानी ने अपनी कार प्रवीण कुमार लक्ष्मी विहार बल्यूटिया फार्म बिठौरिया को 2 लाख 77 हजार 500 रुपये में बेच दी।

उन्होंने गगनदीप को कार के 1 लाख 80 हजार रुपये नगद व 20 हजार ऑनलाइन यानी 77 हजार कम दिए। इसी बीच गगनदीप कार की डुप्लीकेट चाबी लेकर कार वापस ले गया। पीयूष ने धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की कोतवाल हरेंद्र चौधरी ने बताया केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस नेता के खिलाफ महिला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 5 दिसंबर 2021। कांग्रेस सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष व अल्मोड़ा जिला सहकारी बैंक के पूर्व अध्यक्ष प्रशांत भैंसोड़ा पर एक महिला ने धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है। भैसोड़ा पर आरोप है कि उन्होंने बैंक में पहले से बंधक रखी संपत्ति उन्हें बेच दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार इंदिरा नगर देहरादून निवासी गीता पंत ने पुलिस को तहरीर देकर कहा है कि 13 मई 2010 को उसने अल्मोड़ा के ग्राम चमतोला निवासी प्रशांत भैंसोड़ा से हल्द्वानी भोटिया पड़ाव स्थित दुर्गा सिटी सेंटर में दो कार्यालय हॉल खरीदे थे। इसी रजिस्ट्री भी इसी दिन उप निबंधक कार्यालय हल्द्वानी में हुई थी। प्रशांत ने उसे हॉल संख्या ए-19 के मूल दस्तावेज दिए थे, लेकिन हॉल संख्या बी-19 के मूल दस्तावेज बाद में देने को कहा था।

आगे 30 नवंबर 2021 को नैनीताल बैंक रेलवे बाजार हल्द्वानी के मैनेजर उसकी संपत्ति पर कब्जा लेने पहुंच गए। मैनेजर ने बताया कि हाल संख्या बी-19 के मूल दस्तावेज बैंक में बंधक हैं। महिला का आरोप है कि भैंसोड़ा ने उनसे जान-बूझकर धोखाधड़ी की। कोतवाल अरुण कुमार सैनी ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है।

वहीं इस मामले में भैंसोड़ा का कहना है कि सालों पहले महिला के पति ने उनसे किराए पर दुकान ली थी। बाद में दुकान उन्हें बेच दी। उन्होंने कहा कि उन्हें दुकान के बैंक में बंधक होने का खयाल नहीं रहा। महिला को वह दूसरी दुकान देने को तैयार हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : मकान पर लिया करोड़ों का लोन, फिर धोखाधड़ी कर बेच दिया, निबंधक कार्यालय की भूमिका भी संदिग्ध !

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 28 नवंबर 2021 (Dhokhadhadi) रुद्रपुर में करोड़ों के बैंक ऋण के बदले बंधक रखा गया मकान धोखाधड़ी कर दुबारा बेचने का मामला प्रकाश में आया है। हद तो यह भी हो गई कि करोड़ों के लोन में बंधक मकान की निबंधक कार्यालय से पुनः रजिस्ट्री हो गई है। इस तरह मामले में पुनः निबंधक कार्यालय की लापरवाही भी उजागर हुई है।

(Dhokhadhadi) कोतवाली में दर्ज एफआईआर के अनुसार आइडिया कॉलोनी निवासी राकेश कुमार गर्ग पुत्र यशोदा नंदन गर्ग और उसके पुत्र मनीष कुमार गर्ग ने मलसा स्थित अपनी फैक्ट्री बाल-गोपाल मेटल्स के लिए 2010 में पंजाब नेशनल बैंक से ऋण लिया। करोड़ों के इस ऋण व सीसी के बदले पिता-पुत्र ने पांच निजी संपत्तियां बंधक बनाईं।

(Dhokhadhadi) इन्हीं में से एक संपत्ति डी-12, भूरारानी, स्वागत इन्कलेव को 2012 में जालसाजी कर सतीश चंद्र सिंह को बेच दी गई। राकेश ने बैंक ऑफ बड़ौदा के तत्कालीन मैनेजर और फील्ड ऑफीसर के साथ मिलीभगत कर पहले ही पीएनबी में बंधक रखे गए अपने मकान पर सतीश के लिए दुबारा होम लोन भी करा दिया। आश्चर्यजनक रूप से फैक्ट्री के इतने बड़े ऋण में बंधक भूमि की सूचना से अनभिज्ञ निबंधक कार्यालय ने भी 2012 में मकान की रजिस्ट्री कर दी। जबकि 11 वर्ष में पीएनबी ने भी संपत्ति की कभी जाँच नहीं की

(Dhokhadhadi) इधर 30 अक्टूबर को एक समाचार पत्र में पंजाब नेशनल बैंक द्वारा प्रकाशित एनपीए लोन रिकवरी सूचना में अपने भवन का विवरण पढ़ सतीश चौंक पड़े। बैंक एवं अन्य स्रोतों से छानबीन करने पर वह इस धोखाधड़ी से अवगत हुए। स्वागत इन्क्लेव निवासी सतीश चंद्र सिंह की शिकायत पर जाँच के बाद कोतवाली पुलिस ने राकेश एवं मनीष गर्ग के विरुद्ध आईपीसी की धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : हल्द्वानी के व्यवसायियों से 6 लाख से अधिक का सामान उधार लेकर भागा व्यवसायी नोएडा से गिरफ्तार

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 4 अक्टूबर 2021 (Dhokhadhadi) नैनीताल की हल्द्वानी पुलिस ने गत पांच सितंबर को एक व्यवसायी के प्रतिष्ठान से 6.12 लाख रुपए के माल को लेकर फरार होने वाले आरोपित को नोएडा से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। पकड़ा गया आरोपित माल को बेच चुका था, अलबत्ता उसके पास से पुलिस ने 5.51 लाख रुपए की नगदी बरामद कर ली है।

पुलिस ने 6.12 लाख रुपये में से 5.51 लाख रुपये बरामद कर आरोपित को कोर्ट में पेश किया।(Dhokhadhadi) हल्द्वानी पुलिस ने सोमवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि गत पांच सितंबर को व्यवसायी अंकुर गुप्ता पुत्र गजानंद गुप्ता निवासी भोलानाथ गार्डन हल्द्वानी ने पुलिस में प्रार्थना पत्र दिया था कि सचिन कुमार पुत्र मुकेश कुमार निवासी कृष्णा नॉवल्टीज नवाबी रोड

(Dhokhadhadi) हल्द्वानी ने उससे व अन्य लोगों से करीब 6 लाख 12 हजार रुपए का माल उधार लिया और फरार हो गया। इस मामले में पुलिस ने आरोपित के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 420 के तहत मामला पंजीकृत किया और मामले की विवेचना उप निरीक्षक प्रकाश पोखरियाल के सुपुर्द की।

(Dhokhadhadi) इस मामले में एसएसपी द्वारा गठित पुलिस टीम ने आरोपित सचिन अग्रवाल को सोमवार को मुखबिर की सूचना पर नोएडा सेक्टर 106 के एमकेएम अपार्टमेन्ट से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपित सचिन अग्रवाल ने बताया कि वह गिफ्ट एवं खिलौनों का व्यापार करता है। कुछ समय पहले उसकी नवाबी रोड हल्द्वानी में कृष्णा नॉवल्टीज के नाम से फर्म थी।

(Dhokhadhadi) उस व्यापार में उसको बहुत कर्जा हो गया था। इस कारण उसने अंकुर गुप्ता व अन्य व्यापारियों से लगभग 6 लाख 12 हजार रुपये की स्टेशनरी व गिफ्ट का सामान उधार लिया और जयपुर भाग गया। वहाँ पर उसने यह माल सस्ते रेटों पर बेच दिया।

(Dhokhadhadi) पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हल्द्वानी अरुण कुमार सैनी, उप निरीक्षक प्रकाश पोखरियाल तथा आरक्षी ललित कुमार व संजय नेगी शामिल रहे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : महिला से 74 लाख की धोखाधड़ी के मामले में असिस्टेंट प्रोफेसर को जेल भेजा

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 18 जुलाई 2021 (Dhokhadhadi) हल्द्वानी के मुखानी थाना क्षेत्र में दर्ज 74 लाख रुपये की धोखाधड़ी के मामले में फरार चल रहे एमबी पीजी डिग्री कॉलेज के एक प्रोफेसर ने न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया है। इसके बाद उसे न्यायालय के आदेशों पर जेल भेज दिया गया।

(Dhokhadhadi) मुखानी एसओ सुशील कुमार की ओर से बताया गया है कि मूल रूप से बिहार और वर्तमान में अमरावती कॉलोनी, फेज-1, मल्ली बमौरी, हरिनगर बस्ती, हल्द्वानी निवासी समाजशास्त्र विभाग के असिस्टेंट अशोक कुमार ने 10 मई से 23 अगस्त 2019 तक अलग-अलग समय में शिवपुरी भवानीगंज निवासी पल्लवी गोयल से पहले विभिन्न कामों के लिए 63 लाख और बाद में एक भवन बेचने के नाम पर 11 लाख और इस तरह कुल 74 लाख रुपये लेकर धोखाधड़ी की थी।

(Dhokhadhadi) इस पर पल्लवी गोयल ने 2019 में उसके खिलाफ पुलिस को तहरीर सौंपी थी। इस पर उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। तब से फरार चल रहे आरोपित ने अब पुलिस की ओर से गिरफ्तारी का दबाव बढ़ने के बाद न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : वृद्ध-दिव्यांग अकेली महिला से करीब एक करोड़ की ठगी, बैंक खाता ही खाली कर गया शातिर किराएदार..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 9 जनवरी 2021 (Dhokhadhadi) शहर के एक दिव्यांग वृद्धा से करीब 1 करोड़ रुपये की ठगी कर वृद्धा का पूरा बैंक खाता ही खाली करने का मामला प्रकाश में आया है। वृद्ध महिला के घर में किराएदार के रूप में रहने वाले व्यक्ति ने इस ठगी को अंजाम दिया है। पहले उसने महिला से ₹8 लाख उधार मांगे, और उसके बाद यह रुपए वापस करने तो दूर, वृद्ध महिला को एक मकान दिलाने का भरोसा दिलाकर पहले करीब 75 रुपये ले लिए और उसके बाद ब्लैंक चेक में हस्ताक्षर करवा कर उसका पूरा बैंक खाता ही खाली करवा दिया।

(Dhokhadhadi) मामले का खुलासा तब हुआ जब शातिर किराएदार महिला की एक रिश्तेदार के पास भी रुपए लेने के लिए चला गया। शक होने पर महिला रिश्तेदार ने बुजुर्ग महिला के खातों की जांच की तो खाते खाली मिले। इसके बाद वृद्ध महिला ने हल्द्वानी कोतवाली पुलिस से आरोपित के खिलाफ गुहार लगाई। कोतवाली पुलिस ने वृद्ध महिला की शिकायत पर किराएदार के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है।

(Dhokhadhadi) प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर की निशांत विहार गली नंबर 2 मुखानी में अकेले रहने वाली ऊषा रानी पुत्री स्व. उमराव सिंह ने तहरीर में बताया कि वह चलने फिरने में असमर्थ हैं। उसके पिता की जनवरी 2018 में मौत हो गई थी।

(Dhokhadhadi) बुजुर्ग महिला के मकान में दुर्गापालपुर परमा बेरीपड़ाव निवासी किराएदार विक्रम सिंह भाकुनी उर्फ विक्की रहने आया, और उसने बुजुर्ग महिला से नजदीकियां स्थापित करने के बाद अपनी मजबूरियां बताकर आठ मार्च 2018 को चार लाख रुपये लिखित में 24 मार्च 2018 तक लौटाने का वादा करके ले लिए। लेकिन रकम नहीं लौटाई।

(Dhokhadhadi) बल्कि उसने नया पैतरा चलते हुए बुजुर्ग महिला को नया मकान खरीदने के लिए तैयार कर अपने पिता का पुराना मकान 50 लाख दिलाने की बात कही। इस मकान की एवज में उसने वृद्धा से 12 लाख रुपये नकद तत्काल रख लिए और 38 लाख रुपये का ड्राफ्ट बनवाकर बैंक मेें जमा करा लिए। इसके बाद भी नए मकान खरीदने के नाम पर 25 लाख रुपये बुजुर्ग से और ले लिए। यही नहीं , इसके अलावा भी उसने रिक्त चेकों पर दस्तखत कराकर रख लिए।

(Dhokhadhadi) मामला तब खुला जब विक्रम सिंह भाकुनी बुजुर्ग महिला की बहन आशा पंत के पास ढाई लाख रुपये मांगने के लिए अल्मोड़ा पहुंचा। बताया कि उसकी किडनी खराब है। पैसे की जरूरत है। शक होने पर बहन और उसके पति ने हल्द्वानी आकर ऊषा रानी के बैंक खाते के बारे में जानकारी जुटाई। पता चला कि किराएदार ने पूरे पैसे निकाल लिए।

(Dhokhadhadi) इस मामले में बुजुर्ग महिला ने विक्रम से पूछताछ की तो उसने एक करोड़ रुपये देने का भरोसा दिया। आरोप है कि बाद में किराएदार ने जुबान बंद नहीं करने पर बुजुर्ग को मारने की धमकी भी दी। एसएसआई मंगल सिंह ने बताया कि बुजुर्ग की तहरीर पर किराएदार विक्रम सिंह भाकुनी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : फेसबुक पर विदेशी महिला बनकर विदेश से गिफ्ट भेजने के नाम पर एक करोड़ 12 लाख से अधिक की ठगी

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 दिसम्बर 2020 (Dhokhadhadi) राजधानी देहरादून के निवासी एक व्यक्ति से एक कथित विदेशी महिला के द्वारा फेसबुक पर दोस्ती करके उपहार भेजने के नाम पर झांसा देकर एक करोड़ 12 लाख 63 हजार 945 रुपये ठगने का मामला प्रकाश में आया है।

(Dhokhadhadi) अलबत्ता उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) एवं साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन की टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए इस मामले में विदेशी महिला बनकर दोस्ती कर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। ये तीनों नाइजीरियन विदेशी मूल के व्यक्ति हैं, जो दिल्ली-एनसीआर से सोशल मीडिया पर महिला बनकर लोगों को फंसाते थे। आरोपियों से चार मोबाइल व आठ सिम कार्ड आदि सामान बरामद किया गया है।

(Dhokhadhadi) सीओ अंकुश मिश्रा ने बताया कि वारदात में शामिल लोग नाइजीरियन विदेशी मूल के व्यक्ति हैं। वह फेसबुक पर विदेशी महिला बनकर विभिन्न लोगों को दोस्ती का प्रस्ताव भेजकर विदेश से पैसे या गिफ्ट आदि भेजने के नाम पर धोखाधड़ी करते हैं। वे फर्जी सिमकार्ड, वॉलेट, पेटीएम मर्चेंट और बैंक खाते उपलब्ध कराए। आरोपी फर्जी आईडी पर प्रीएक्टीवेडेट सिम का प्रयोग करते हैं।

(Dhokhadhadi) वहीं एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि देहरादून निवासी एक व्यक्ति ने शिकायती पत्र देकर बताया कि कुछ समय पहले फेसबुक पर उनकी दोस्ती एक कथित विदेशी महिला से हुई। महिला ने विदेश से उपहार के रूप में 17 लाख रुपये भेजने की बात कही। इसके बाद साइबर अपराधियों ने शिकायतकर्ता को पार्सल ओवरवेट होने के बदले पहले 15 हजार 560 रुपये भेजे और इसके बाद भी रकम मांगते रहे।

(Dhokhadhadi) झांसे में आकर शिकायतकर्ता ने अलग-अलग अवधि में एक करोड़ 12 लाख 63 हजार 945 रुपये की धनराशि विभिन्न बैंक खातों में जमा कराई। मामले में मुकदमा दर्ज कर विवेचना इंस्पेक्टर मनोहर सिंह दसौनी ने की। बताया गया है कि पुलिस टीम पहले भी इस मामले में एक विदेशी नागरिक (नाइजीरियन मूल) सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। प्रकरण में 16 बैंक खातों को फ्रीज कराया गया।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : सनसनीखेज मामला: ओटीपी भी नहीं मांगा, लिंक पर क्लिक करने को नहीं कहा, फिर भी खाते से उड़ा लिये पौने 28 लाख रुपए

नवीन समाचार, काशीपुर (ऊधमसिंह नगर), 16 दिसंबर 2020(Dhokhadhadi) काशीपुर में साइबर ठगी का बेहद ही सनसनीखेज एवं चिंताजनक मामला प्रकाश में आया है। यहां ठगों ने ओटीपी नहीं मांगा, किसी लिंक पर क्लिक करने को नहीं कहा, फिर भी खाते से पौने 28 लाख रुपए उड़ा लिये।

(Dhokhadhadi) मामला आयोनेक्स केमिकल फर्म से जुड़ा है। कुंडेश्वरी स्थित आयोनेक्स कैमिकल एंड इंजीनीयरिंग फर्म के प्रोपराइटर अनूप सिंह के द्वारा पुलिस को दी गई तहरीर के अनुसार उनका चालू खाता बाजपुर रोड स्थित आईसीआईसीआई बैंक में है। इसमें उसका मोबाइल नंबर दर्ज है। गत 20 नवंबर 2020 की शाम करीब चार बजे उनके मोबाइल के सिग्नल गायब हो गये।

(Dhokhadhadi) 21 नवंबर की सुबह करीब चार बजे उसने नेट से अपने एकाउंट की डिटेल चेक की तो खाते से 20 नवंबर को पांच लाख रुपये रूमा नाम की एक महिला के खाते में, 11.50 लाख रुपये दिनेश और 11.25 लाख रुपये सुखदेव के खाते में डाले गए मिले। इस तरह साइबर ठगों ने उसके खाते से 27.75 लाख रुपये उड़ा लिये।

(Dhokhadhadi) अब जांच में पता चला है कि यह सभी खाते पश्चिमी बंगाल के हैं। जब उनके मोबाइल पर सिग्नल नहीं आ रहे थे, तब ठगों ने उनका बैंक खाते से जुड़ा मोबाइल नंबर बंद कराकर उसकी जगह नया सिम ले लिया था और ओटीपी खुद प्राप्त कर लिया था। इस मामले में कुंडेश्वरी चौकी पुलिस ने मामला साइबर सेल रुद्रपुर को ट्रांसफर किया था।

(Dhokhadhadi) साइबर सेल को जांच में पता चला कि ठगों ने रूमा नाम की महिला, दिनेश और सुखदेव के खातों में पैसा ट्रांसफर किया है। यह सभी खाते पश्चिम बंगाल के लोगों के नाम पर हैं। इधर, स्थानीय पुलिस आरोपितों तक पहुंचने का प्रयास कर रही थी कि इसी बीच आइसीआइसीआइ बैंक ने पुलिस को सूचना दी पश्चिम बंगाल के जिला चौबीस परगना के गांव वशीरहाट में श्यामूलीदास नाम की महिला ने एक स्थानीय निवासी के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

(Dhokhadhadi) इस पर वहां की पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। श्यामूलीदास नाम की महिला के खाते में केमिकल फर्म के खाते से उड़ाया गया पैसा भी ट्रांसफर हुआ है। इसलिए पुलिस को यकीन है कि पश्चिम बंगाल में गिरफ्तार आरोपित केमिकल फर्म के खाते से पैसा उड़ाने में शामिल है। जल्द ही पुलिस आरोपित से पूछताछ करने के लिए पश्चिम बंगाल के लिए रवाना होगी। साथ ही उसे बी वारंट पर कोतवाली लाने का प्रयास किया जाएगा।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : विदेश भेजने और व्यवसाय के लिए दूसरे देशों की नागरिकता दिलाने के नाम पर लाखों रुपये की धोखाधड़ी..

नवीन समाचार, बाजपुर (ऊधमसिंह नगर), 15 दिसंबर 2020 (Dhokhadhadi) विदेश भेजने और व्यवसाय के लिए दूसरे देशों की नागरिकता दिलाने के नाम पर लाखों रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर एनआरआई सहित सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

(Dhokhadhadi) प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती रामपुर जिले की स्वार तहसील के अंतर्गत ग्राम शेखूपुरा निवासी जगतार सिंह ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि ग्राम कनौरा बाजपुर स्थित उसकी जमीन पर शेखूपुरा निवासी तहेरा भाई बलकार सिंह खेती और खेती का हिसाब-किताब करता था।

(Dhokhadhadi) चेक पर वह उनके व मां के हस्ताक्षर करवा लेता था और फसल की आय बैंक के खातों में जमा करवाता था। बलकार सिंह ने खातों की गतिविधि की जानकारी रखने के लिए अपने पिता गुरदेव सिंह का मोबाइल नंबर बैंक में रजिस्टर्ड करवा दिया था। साथ ही उसे यानी जगतार को विश्वास में लेकर दो बैंकों की चेक बुक से बलकार सिंह समय-समय पर जरूरत के अनुसार उनके हस्ताक्षर करवाकर पैसा निकाल लेता था।

(Dhokhadhadi) वहीं इस बीच बलकार ने जगतार को व्यावसायिक गतिविधि के लिए इंग्लैंड भेजने और वहीं की नागरिकता दिलवाने का झांसा देकर कनौरा स्थित भूमि को कागजातों में बिना पैसा दिए कई लोगों को बेच दिया। बलकार जमीन की बिक्री से मिली इस रकम को इंग्लैंड में दिखाकर बिजनेस में लगवाने का दावा करता था।

(Dhokhadhadi) धोखाधड़ी का अहसास होने पर जगतार ने बलकार सिंह, बलकार की पत्नी रजविंदर कौर, दलजीत सिंह पुत्र संतोष सिंह निवासी शेखूपुरा स्वार रामपुर (उप्र), करमजीत सिंह उर्फ पाल यूके निवासी बाजपुर, बलवीर राय व उसकी पत्नी किरनदीप, गुरप्रीत सिंह, निवासीगण ग्राम इकघरा बाजपुर आदि के खिलाफ शिकायत करते हुए कोर्ट में इश्तगासा दायर किया था। इसमें धोखाधड़ी से जमीन की खरीद-फरोख्त करने और खातों से पैसों की निकासी करने का आरोप लगाया गया।

(Dhokhadhadi) पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर आईपीसी की धारा 420, 406, 467, 468, 471, 504, 506 के तहत मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : बागेश्वर की दो लड़कियां जयपुर से करती थीं नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी, मलेशिया-सिंगापुर जाकर करती थीं ऐश… पकड़ी गईं….

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 13 दिसम्बर 2020 (Dhokhadhadi) बागेश्वर जिले की दो लड़कियां दीपा और किरन जयपुर राजस्थान में रहकर ठग गिरोह के साथ काम करती थी। गिरोह के सदस्यों के अनुसार वह अब तक युवाओं को नौकरी दिलाने का झांसा देकर 60-70 लाख रुपए ठग चुके हैं। इतने अधिक रुपए ठगने के बाद आरोपी इन रुपयों से विदेश घूमते थे और ऐश करते थे।

(Dhokhadhadi) फंसाने के लिए किरन फेसबुक पर लोगों से चैट करते हुए पहले पता करती थी कि बात करने वाले के घर में कोई बेरोजगार तो नहीं है। फिर बेरोजगार को नौकरी दिलाने के नाम पर झांसा देती थी। बाद में जयपुर निवासी रजत भुटानी और उसकी पत्नी दीपा ग्राहकों से डील करते थे और रुपए ले लेते थे। ठगी करने के बाद तीनों दुबई और मलेशिया भाग जाते थे।

(Dhokhadhadi) अभी तीनों ने सिंगापुर जाने की योजना बनाई थी, लेकिन वह तीनों इससे पहले ही शुक्रवार को जयपुर से पकड़े गए। उनका एक साथ अंशु मौर्या पहले ही पकड़ा जा चुका था। नैनीताल पुलिस ने दोनों लड़कियों दीपा व किरन तथा रजत को पकड़ने के लिए इनाम भी घोषित किया था। पुलिस ने उनके पास से एक-एक पासपोर्ट, यूएई की नागरिकता के कागज, तीन मोबाइल बरामद किए हैं।

(Dhokhadhadi) उल्लेखनीय है कि पुरानी हल्द्वानी के आईटीआई रोड निवासी करन सिंह ने ठग गिरोह के खिलाफ पांच जनवरी 2020 को मुकदमा दर्ज कराया था कि उसके भाई को कस्टम विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर नौ लाख रुपये ठग लिए गए थे। गिरोह ने नियुक्ति पत्र भी दिया था लेकिन कस्टम विभाग से पता चला कि नियुक्ति पत्र फर्जी है।

(Dhokhadhadi) इस मुकदमे की विवेचना उपनिरीक्षक संजीत सिंह राठौर को सौंपी गई। जांच के दौरान पुलिस ने एक आरोपी अंशु मौर्या को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो पता चला कि गिरोह का मास्टर माइंड राजस्थान के प्रतापनगर जयपुर निवासी रजत भुटानी है। उसने बागेश्वर की दीपा से प्रेम विवाह किया था।

(Dhokhadhadi) साथ ही बागेश्वर के जाड़ापानी कौसानी निवासी किरन आर्या को अपने साथ सहयोगी के रूप में काम पर रखा था। दीपा अपने पति रजत भुटानी के साथ हल्दूचौड़ आती जाती थी। दीपा ने किरन को बचपन से पाला है। इसलिए वह उनके लिए काम करती थी। एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने तीनों को गिरफ्तार करने के लिए रजत पर ढाई हजार, दीपा और किरन पर 1500-1500 रुपये का इनाम घोषित किया था।

(Dhokhadhadi) सीओ का कहना है कि कुमाऊं में भी कई लोगों से तीनों ठगी कर चुके हैं लेकिन किसी ने मुकदमा दर्ज नहीं कराया। हो सकता है कि अब पीड़ित लोग सामने आए। कोतवाल संजय कुमार ने कहा कि तीनों आरोपी दिल्ली मेें भी कई लोगों को ठग चुके हैं। तीनों का आपराधिक इतिहास पता करने के लिए दिल्ली और राजस्थान पुलिस को पत्र भेजा जाएगा।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : छात्र-छात्राओं से ठगे 9.34 लाख, रिपोर्ट दर्ज हुई तो लगाई अग्रिम जमानत की अर्जी, कोर्ट ने नहीं दिखाई मुरौबत

-जोधपुर इंस्टीट्यूट से बीएड-पीएचडी कराने के नाम पर वसूली थी धनराशि
नवीन समाचार, नैनीताल, 24 नवम्बर 2020(Dhokhadhadi) जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे की अदालत ने छात्र-छात्राओं को बीएड व पीएचडी कराने का झांसा देकर 9.35 लाख रुपए से अधिक हड़पने के आरोपित की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी है।

(Dhokhadhadi) मंगलवार को मामले में आरोपित मोहाली पंजाब निवासी संजय कुमार शर्मा पुत्र मीर चंद्र की अग्रिम अमानत अर्जी का विरोध करते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता-फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने बताया कि आरोपित के खिलाफ गत 31 अगस्त 2020 को मुकेश सिंह फर्त्याल पुत्र खड़क सिंह फर्त्याल निवासी ग्लोबल करियर सर्विस, दुर्गा सिटी सेंटर हल्द्वानी की तहरीर पर भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 504 व 506 के तहत मुकदमा दर्ज है।

(Dhokhadhadi) उस पर आरोप है कि उसने हल्द्वानी से प्रकाशित एक समाचार पत्र में जोधपुर इस्टीट्यूट में प्रवेश दिलाकर बीएड व पीएचडी कराने का विज्ञापन दिया था, और 24 छात्र-छात्राओं से 60 हजार प्रति छात्र की दर से 16.55 लाख रुपए एकत्र किए और इनमें से 12 छात्र-छात्राओं को प्रवेश नहीं दिलाया और उनकी 9.35 लाख की फीस वापस देने को भी डालता रहा।

(Dhokhadhadi) वास्तव में उसका जोधपुर इंस्टीट्यूट से कोई संबंध नहीं था, बल्कि उसने धनराशि अपने खाते में जमा करवाई थी। इस आधार पर न्यायालय ने उसे अग्रिम जमानत देने से इंकार कर दिया।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : 78 वर्षीय वृद्धा से धर्म के नाम पर लाखों के जेवहरात ठगे, कोर्ट ने दिखाया कड़ा रुख..

-पुलिस बड़ी मुश्किल से करीब डेढ़ माह से भी अधिक समय बाद पहुंच पाई आरोपितों तक, दिन के भीतर ही लगाई जमानत अर्जी
नैनीताल (Dhokhadhadi) विगत माह 14 सितंबर को थाना रामनगर क्षेत्र अंतर्गत रानीखेत रोड रामनगर निवासी 78 वर्षीय वृद्धा को दो व्यक्तियों ने धर्म के नाम पर झांसा देकर उसे नशीला पदार्थ सुंघाकर उसके गले का हार, कान के कुंडल व रुपए ठग लिए थे।

(Dhokhadhadi) इस मामले में पुलिस की एक माह से भी अधिक समय तक चली कड़ी छानबीन के बाद आरोपी 23 अक्टूबर को पकड़े गए। इधर एक माह से पहले ही आरोपी ने जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे की अदालत में जमानत अर्जी लगा दी। अभियोजन पक्ष की कड़ी पैरवी के बाद अदालत ने आरोपित की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

(Dhokhadhadi) जिला शासकीय अधिवक्ता-फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने आरोपित दिलशाद पुत्र अब्दुल सलाम निवासी मौ. अहमदनगर जिला अमरोहा यूपी की जमानत अर्जी का विरोध करते हुए अदालत को बताया कि पीड़िता के पुत्र की शिकायत पर रामनगर पुलिस ने कई सीसीटीवी फुटेज खंगालकर पहले आरोपितों द्वारा प्रयुक्त वाहन संख्या डीएल3एफएबी-0034 की पहचान की। यह वाहन कई लोगों को एक के बाद एक बेचा गया था। उन सभी तक पहुंचते हुए किसी तरह पुलिस ने आरोपितों को दबोचा।

यह भी पढ़ें (Dhokhadhadi) : विदेश भेजने के नाम पर मां-बेटे से सवा दो लाख रुपए ठगने के आरोपित से 8 माह बाद भी Court ने नहीं दिखाई कोई मुरौबत..

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 नवम्बर 2020 (Dhokhadhadi) प्रथम अपर जिला न्यायाधीश एवं प्रभारी जिला न्यायाधीश विनोद कुमार की अदालत ने विदेश भेजने के नाम पर मां-बेटे से सवा दो लाख रुपए की ठगी करने के आरोपित की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। आरोपित 18 मार्च को गिरफ्तार होने के बाद से जेल में बंद है। इस प्रकार आरोपित को 8 माह जेल में रहने के बाद भी जमानत नहीं मिल पाई है।

(Dhokhadhadi) जिला शासकीय अधिवक्ता-फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने आरोपित का विरोध करते हुए न्यायालय को बताया कि आरोपित मो. सरफराज पुत्र मुमताज हुसैन उर्फ मुन्ने खां निवासी निवासी भोजपुरा मुरादाबाद, हाल न्यू फ्रेंडस कॉलोनी नई दिल्ली ने अपने साथी आबिद पुत्र अनोखे निवासी मिस्रीनगर तहसील सदर रामपुर यूपी शिकायतकर्ता ललित मोहन पांडे पुत्र चंद्रशेखर पांडे निवासी इंदार कॉलोनी रामनगर के घर एक जुलाई 2020 को आए और बेटे को दुबई में नौकरी के लिए भेजने के फर्जी कागजात बनाकर सवा दो लाख रुपए ठग लिए।

(Dhokhadhadi) वह बेरोजगारों के साथ छलकपट करते हैं। इसलिए वह जमानत प्राप्त करने के अधिकारी नहीं हैं। इस पर न्यायालय ने आरोपित सरफराज की जमानत अर्जी खारिज कर दी। उल्लेखनीय है कि इस मामले में सह आरोपित आबिद की अग्रिम जमानत अर्जी न्यायालय पूर्व में 16 अक्टूबर को खारिज कर चुकी है।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी (Dhokhadhadi) : 27 लड़कियों को लूट ले गया ‘बिग ड्रीम’…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 15 अक्टूबर 2020 (Dhokhadhadi) युवतियों को मॉडलिंग के सपने दिखाकर हजारों की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। हल्द्वानी कोतवाली पुलिस ने इस मामले में एक व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। उस पर आरोप है कि उसने फोटो शूट और जॉब दिलाने के नाम पर 27 से अधिक युवतियों से हजारों रुपये लिए और भाग गया।

(Dhokhadhadi) सीओ शांतनु पाराशर के पास शिकायत लेकर पहुंची युवतियों का कहना है कि भोटिया पड़ाव स्थित बिग ड्रीम सर्विस का संचालक अंकित उर्फ कपिल ने सब्जबाग दिखाए कि वह युवतियों को मॉडलिंग सिखाने का काम करता है। यहां से युवतियों को तत्काल नौकरी मिल जाएगी।

(Dhokhadhadi) आरोप है कि झांसा देकर उसने 27 युवतियों से 1500-1500 रुपये फीस लेकर फार्म भरवाया और कार्यालय में जॉब देने के लिए 500-500 रुपए अतिरिक्त लिये। एक सप्ताह तक उसकी गतिविधियां संदेहास्पद देखकर युवतियों ने पैसा लौटाने के लिए दबाव बनाया लेकिन वह टालमटोल करता रहा।

(Dhokhadhadi) आरोप है कि अब वह भाग गया है। पुरानी आईटीआई की रहने वाली युुवती ने कोतवाली पुलिस को तहरीर दी। शिकायत के आधार पर पुलिस ने अंकित उर्फ कपिल के खिलाफ धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस अंकित उर्फ कपिल की तलाश कर रही है। पता चला है कि अंकित ऊधमसिंह नगर जिले का रहने वाला है।

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला नैनीताल : दिल के सबसे करीब, सचमुच धरती पर प्रकृति का स्वर्ग