Crime

गायत्री तीर्थ के प्रमुख पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला निकली झूठी, लगाए थे झूठे आरोप, खुद हुई गिरफ्तार…

अपराध: देहरादून के इस पॉश इलाके से देह व्यापार के आरोप में महिला गिरफ्तार,  पति फरार -नवीन समाचार, हरिद्वार, 15 सितंबर 2022। हरिद्वार में गायत्री तीर्थ शांतिकुंज हरिद्वार के प्रबंधक प्रणव पंड्या और उनकी पत्नी शैल बाला पंड्या के विरुद्ध दो वर्ष पूर्व एक महिला की तहरीर पर दुष्कर्म करने के आरोप में मुकदमा दर्ज हुआ था। अब इस मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने उनके खिलाफ गलत मुकदमा दर्ज कराने के आरोप में फरार चल रही महिला को देहरादून से गिरफ्तार कर लिया है। गुरुवार को उसे न्यायालय में पेश किया गया।

नगर कोतवाल राकेंद्र कठैत ने बताया कि मई 2021 के जुलाई माह में चंद्रकला साहू निवासी बी-885 एनटीपीसी थाना दरी जिला कोरबा छत्तीसगढ वर्तमान निवासी यूनीसन वर्ल्ड स्कूल मक्कावाला गांव मसूरी डायवर्जन रोड थाना राजपुर देहरादून ने शांतिकुंज प्रबंधक प्रणव पंड्या और शैल बाला पंड्या के खिलाफ दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए दिल्ली के विवेक विहार थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें युवती ने आरोप लगाया था कि वर्ष 2010 में शांतिकुंज में रहने के दौरान प्रणव पंड्या ने उसके साथ दुष्कर्म किया और उनकी पत्नी शैल बाला ने धमकी देकर उसे जुबान बंद रखने को कहा.

मामले की एफआईआर हरिद्वार स्थानांतरित होने पर पुलिस ने इस मामले की छानबीन की तो प्रणव पंड्या पर लगाए गए सभी आरोप गलत निकले। इस पर पुलिस ने अपनी फाइनल रिपोर्ट भी लगा दी। इसके बाद न्यायालय ने दोबारा इस मामले की छानबीन के आदेश दिए। इस पर पुलिस ने पीड़िता से पूछताछ की तो उसने बताया कि शांतिकुंज के पूर्व सेवादार मनमोहन आदि ने उस पर दबाव बनाते हुए झूठे आरोप लगवाए थे। तब पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर आरोपित मनमोहन को गिरफ्तार किया था।

कोतवाल राकेंद्र कठैत ने बताया कि जांच में मनमोहन, हरगोविंद, तोषण साहू, चंद्रकला साहू, सुनीता शर्मा आदि के नाम फर्जी मुकदमा दर्ज कराने में सामने आए थे। इसमें से मनमोहन, हरगोविंद एवं तोषण साहू को पूर्व में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। बताया कि एसआई अशोक कश्यप की टीम ने आरोपी फरार चल रही महिला चंद्रकला साहू को गांव मक्कावाला मसूरी डायवर्जन रोड थाना राजपुर जिला देहरादून से गिरफ्तार किया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : रुपयों के लेन-देन के लिए अपने भाई को पीटने वाली महिला व उसकी बेटी पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार…

हल्द्वानी में पति ने पत्नी पर मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया है।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 6 सितंबर 2022। जनपद की प्रभारी जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रीतू शर्मा की अदालत ने रुपयों के लेन-देन के कारण मारपीट करने वाली आरोपित बहन परवीन जहाँ पत्नी लियाकत अली व भतीजी इकरा रहमान पुत्री अब्दुल रसीद निवासी मोहल्ला खताड़ी रामनगर का अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र मेडिकल रिपोर्ट, गवाहों के बयान व आरोपितों के विरुद्ध नामजद रिपोर्ट पर उनके अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र में कोई आधार ना पाते हुए खारिज कर दिया। इसके बाद आरोपित मां-बेटी पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है।

जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने जमानत का विरोध करते हुए तर्क रखा कि गत 20 फरवरी को आरोपित बहन परवीन जहां ने अपने भाई अब्दुल वहीद पुत्र अब्दुल हमीद के सर में भारी भरकम लोहे की चीज मारी जिससे वह गिर गया। साथ ही भतीजी इकरा द्वारा किए प्रहार से उसका एक दाँत जड़ से टूट गया। इसके अलावा भी परवीन ने उसके पेट और कमर पर डंडों व लातों से प्रहार किये। चीख पुकार सुनकर आए मोहल्ले के लोगों ने उसे बचाया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पति उत्पीड़न के तीन मामले एक साथ, पत्नी ने पुलिस के सामने मारा पति को थप्पड़, गुंडों से मरवाने की धमकी देती है पत्नी, लोग मिलने आते हैं तो पति के पास भेज देती है बच्चों को

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 4 सितंबर 2022। सामान्यतया पतियों के द्वारा पत्नियों के उत्पीड़न के मामले ही सुनाई देते हैं, लेकिन हल्द्वानी शहर में पत्नियों द्वारा पतियों के उत्पीड़न के तीन मामले आए हैं। इन तीनों मामलों में पतियों ने अपनी पत्नियों से खुद को बचाने की गुहार लगाई है।

पहला मामला कोतवाली क्षेत्र का है। इंद्रानगर बड़ी मस्जिद बनभूलपुरा निवासी अंजुम सदफ पुत्र मो. फुरकान ने अपनी पत्नी के खिलाफ केस दर्ज कराते हुए पुलिस को बताया कि शादी के तीन माह बाद से ही पत्नी परिवार से अलग रहने की जिद करने लगी थी। जिद मनवाने के लिए दहेज व तीन तलाक में फसाने और आत्महत्या करने की धमकी देती रही। मामला महिला समाधान केंद्र पहुंचा तो यहां काउंसिलिगं के दौरान पत्नी ने पुलिस के सामने ही पति को दो-तीन थप्पड़ जड़ दिए।

दूसरा मामला भी बनभूलपुरा थाने का है। यहां चौधरी कालोनी बरेली रोड निवासी रमन कनौजिया का कहना है कि उनका 10 वर्षीय बेटा हार्दिक तीन सितंबर की शाम से लापता हैं। बेटे के गायब होने के पीछे पति ने अपनी पत्नी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। कहा है कि पत्नी के मिलने वाले लोग आते है तो वह पुत्र को पति के पास भेज देती है। ऐसा क्या है कि लोगों के मिलने आने पर उसे अपने बेटे को अलग भेज देती है, और अब बेटा गायब है। पति ने इसके लिए पत्नी को ही जिम्मेदार ठहराया हैं

वहीं तीसरा मामला मुखानी थाना क्षेत्र का है। यहां ग्राम धूनी, जय पंच केदार गली नंबर एक कठघरिया निवासी नवीन सनवाल अपनी दो बेटियों के साथ रहते हैं। नवीन का कहना है कि पत्नी केशवी पिछले 5-6 वर्षों से कहाँ रहती है, नही पता। पर वह उनकी प्रॉपर्टी को हथियाना चाहती है। जब भी वह घर आती है तो कृष्णा व बच्चों के साथ मारपीट करती है, व जान से मारने की धमकी देती है। पत्नी सारी प्रौपर्टी अपने नाम कराने को भी कहती है, और ऐसा न करने पर गुंडो से मरवाने की धमकी देती है। नवीन का कहना है कि जब भी पत्नी आती है तो उसे अपने बच्चों के साथ अन्य जगह शरण लेनी पड़ती है। पुलिस ने उसकी शिकायत पर पत्नी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हद हो गई, बेटी की मदद से जीवित पति को कागजों में मारकर 9 वर्षों से विधवा पेंशन प्राप्त कर रही है महिला….

UP Widow Pension what is UP Widow Pension Scheme - UP Vidhwa Pension Yojana  2022: बेसहारा जीवन का सहारा बन रही यूपी विधवा पेंशन योजना, पढ़ें कैसे प्राप्त  कर सकते हैं लाभनवीन समाचार, काशीपुर, 28 अगस्त 2022। एक व्यक्ति ने एक सधवा महिला पर अपने जिंदा पति को मृत दिखाकर, कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर विधवा पेंशन हासिल करने का आरोप लगाया है। पहले पुलिस ने इस मामले को नहीं सुना, लेकिन अब न्यायालय के आदेश पर आरोपित महिला व उसकी बेटी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। बताया गया है कि पिछले 9 वर्षों से महिला के द्वारा गलत तरीके से विधवा पेंशन हासिल की जा रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के मोहल्ला काजीबाग निवासी उबेदुर्रहमान अंसारी पुत्र स्व. शमशाद हुसैन ने अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट को प्रार्थना पत्र देकर बताया है कि खैरुलनिशा पत्नी मोहम्मद इकबाल निवासी मोहल्ला कटोराताल ने नाजायज तरीके से सरकारी लाभ प्राप्त करने के लिए स्वयं को विधवा दिखाकर अपने पति मोहम्मद इकबाल को जीते जी मरा दिखाकर विधवा पेंशन का फार्म भरा, जो विभाग कर्मचारियो की मिली भगत से एक षडयन्त्र के तहत स्वीकार भी हो गया। आरोप है खैरुलनिशा की पुत्री अंजुम इकबाल कम्प्यूटर की अच्छी जानकार है।

उसने ही अपनी मां के फर्जी दस्तावेज तैयार किये और विधवा पेंशन स्वीकृत करायी है। जबकि खैरुलनिशा का पति मौहम्मद इकबाल आज भी जीवित है। खैरुलनिशा वर्ष 2013 से विधवा पेंशन ले रही है। इधर 17 जुलाई को उसकी विधवा पेंशन का पुनः सत्यापन भी किया गया है। यह कृत्य एक अपराधिक कृत्य है और जानबूझकर करके पात्र लोगो का हक मारा है। शिकायतकर्ता ने कहा कि उसने इसकी शिकायत कटोराताल पुलिस चौकी, थानाध्यक्ष काशीपुर तथा एसएसपी ऊधमसिंह नगर से भी की थी, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उम्र में बड़ी लड़की ने नाबालिग लड़के को प्रेमजाल में फंसकर जबरन शादी की, सुहागरात की रात ही दुल्हन नगदी-जेवर लेकर फरार..

नवीन समाचार, हरिद्वार, 8 अगस्त 2022। सामान्यतया नाबालिग लड़कियों का जबरन विवाह कराने की खबरें आती हैं, लेकिन इस मामले में कुछ लोगों ने एक नाबालिग लड़के से उससे बड़ी उम्र की लड़की से जबरन निकाह करा दिया। हद तो तब हो गई जब निकाह के बाद दुल्हन घर से नकदी और जेवर लेकर भाग गई। शिकायत करने पर आरोपितों ने ग्रामीणों के साथ मारपीट भी की। पुलिस ने भी पीड़ितों की नहीं सुनी। इस पर पीड़ित को न्यायालय की शरण लेनी पड़ी। आखिर न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने युवती सहित आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद के लक्सर निवासी दिलशाद की ओर से एसीजेएम कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर बताया गया कि भारापुर भौरी निवासी 19 वर्षीय युवती ने उसके नाबालिग बेटे को अपने परिजनों के साथ योजना बनाकर अपने प्रेमजाल में फंसाया। इसके बाद उन्हें अपने गांव बुलाया। वहां युवती के परिजन उसे बाइक पर लक्सर के बहादरपुर गांव में छोड़ देने की बात कहकर ले गए। इस बीच कुछ लोगों ने उसके बेटे को पकड़ लिया और मारपीट करते हुए डरा-धमकाकर मौके पर ही उसका लड़की के साथ जबरन निकाह करा दिया।
ग्रामीण का आरोप है कि निकाह के बाद उसके बेटे ने घर पहुंचकर जबरन निकाह कराए जाने की जानकारी दी। उसने आरोपितों से शिकायत की तो उन्होंने उसके साथ भी मारपीट की। आरोप है कि निकाह की रात को ही युवती उनके घर से 95 हजार रुपये की नकदी और जेवरात लेकर गायब हो गई। पुलिस को शिकायत करने पर कार्रवाई ना होने पर न्यायालय का सहारा लिया। पुलिस के अनुसार कोर्ट के आदेश पर मुकदमा पंजीकृत किया गया है और जांच की जा रही है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : कभी इस-कभी उस के साथ रहने वाली युवती तीन माह के बच्चे को लेकर फरार

नवीन समाचार, किच्छा, 3 अगस्त 2022। कभी इस-कभी उस के साथ लिव इन में रह रही महिला के अपने लिव-इन साथी के छोटे भाई के तीन माह के बच्चे को लेकर फरार होने का मामला प्रकाश में आया है। गई। सूचना मिलने पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर बच्चे की तलाश में तीन टीमें लगा दी हैं। पुलिस की टीमें महिला के संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही हैं।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार ऊधमसिंह नगर जिले के पुलभट्टा थाना सतुइया निवासी उमेश पुत्र वीरेंद्र पाल ने कलकत्ता निवासी ज्योति उर्फ नैना के साथ पिछले करीब दो माह से अपने घर पर लिव-इन में रखा था। उमेश का भाई प्रेमचंद्र भी उसके साथ ही रहता था। इस दौरान प्रेम चंद्र का तीन माह का एक बेटा प्रतीक भी नैना से घुल मिल गया था। मंगलवार दोपहर नैना प्रतीक को कुछ खिलाने के बहाने अपने साथ लेकर गई, तब से दोनों का कुछ भी पता नहीं चला। इस पर परिजनों ने पुलिस में दोनों की गुमशुदगी की सूचना दी।

एसओ पुलभट्टा विद्यादत्त जोशी तुरंत ही हरकत में आ गए और उन्होंने तत्काल मुकदमा दर्ज कर दो टीमें गठित कर बच्चे की तालाश शुरू कर दी। पुलिस ने उसके मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया तो वह स्विच ऑफ मिला। पुलिस ने क्षेत्र के सीसीटीवी कैमरे खंगाल नैना की तालाश में दबिश शुरु कर दी है। श्री जोशी ने कहा कि पुलिस टीमें लगातार दबिश दे रही है। जल्द ही बच्चे का पता लगा लिया जाएगा।

इधर, पता चला है कि नैना पिछले 15 वर्षों से क्षेत्र के कई लोगों के साथ लिव इन में ही रह कर अपना गुजारा कर रही है। इससे पहले उसने ग्राम भंगा निवासी एक व्यक्ति से शादी भी की थी। बाद में यह शादी टूट गई थी। इसके बाद दो माह पूर्व उमेश उसे अपने साथ लेकर आ गया। वह खुद को बंडिया किच्छा का निवासी बताती थी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सुहागरात की रात ही सुहाग के जेवहरात लेकर ‘पिंकी’ फरार, शादी कराने वाला पंडित भी गायब…

नवीन समाचार, देहरादून, 2 जुलाई 2022। पिछले दिनों उत्तराखंड के पिथौरागढ़ व हल्द्वानी में शूट हुई एक बॉलीवुड फिल्म आई थी, ‘संदीप और पिंकी फरार’। लेकिन यहां सुहागरात की रात ही आकाश नाम के दूल्हे की पिंकी नाम की दुल्हन सुहाग के जेवहरातों के साथ फरार होने का मामला प्रकाश में आया है। राजधानी देहरादून के इस मामले में शादी कराने वाला पंडित भी गायब बताया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार झाझरा क्षेत्र के मजदूरी करने वाले आकाश कुमार ने अपनी बहन पूनम के कहने पर एक पंडित के माध्यम से पिंकी नाम की लडकी से रिश्ता करवाया था। इधर बीते सोमवार को पिंकी और उसके कथित बहन व जीजा आदि उनके घर आए। इस दौरान आकाश ने पिंकी और पिंकी ने आकाश को पसंद कर लिया।

इसके अगले दिन ही यानी मंगलवार को सुद्धोवाला स्थित शिव मंदिर में दोनों की परिवारों की मौजूदगी में दोनों की शादी हो गई और शाम को पार्टी भी हुई। आकाश के परिवार ने बहू पिंकी को चांदी का गले का सेट, पायल, कान के झुमके आदि भेंट किए। रात में सब खाना खाकर सो गए। सुबह जब आंख खुली तो दुल्हन कहीं नहीं मिली। उसके साथ ही घर का सारा सामाना भी गायब था।

इस पर आकाश की बहन पूनम ने झाझरा चौकी में घटना की शिकायत की। इस पर चौकी प्रभारी ने पंडित को ढूंढने और उस पर सामान लौटाने का दबाव बनाने की सलाह दी, लेकिन अब पंडित का भी पता नहीं चल रहा है। अब पुलिस लुटेरी दुल्हन और पंडित की तलाश करते हुए मामले की जांच में जुटी है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अजीब मामला: 6 माह पूर्व शादी कर आई देवरानी 10 वर्षीय भतीजे का नहलाते हुए करती है उत्पीड़न

प्रतीकात्मक चित्रनवीन समाचार, देहरादून, 8 जून 2022। एक मां ने अपने 10 वर्षीय बेटे के साथ नवविवाहिता देवरानी द्वारा बाथरूम में नहाते वक्त अश्लील हरकतें का आरोप लगाया है। शिकायत पर पुलिस ने मां की शिकायत पर मासूम बच्चे की चाची के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर लिया है।

महिला ने राजपुर थाने में शिकायती पत्र देकर आरोप लगाया है कि उसकी देवरानी उसके 10 वर्षीय बेटे यानी अपने भतीजे के साथ अश्लील हरकतें करती है। थानाध्यक्ष मोहन सिंह ने बताया कि मसूरी रोड स्थित एक लग्जरी अपार्टमेंट में रहने वाले परिवार में बड़े भाई का दस साल का बेटा है। जबकि छोटे भाई की करीब छह महीने पहले शादी हुई है। आरोप है शादी के कुछ समय बाद से चाची बाथरूम में भतीजे को नहलाने के नाम पर उसके साथ अश्लील हरकतें करती है।

एक दिन जब बच्चे के दादा-दादी घर पर नहीं थे। तब मां ने बच्चे से परेशान होने का कारण पूछा तो बच्चे ने बताया कि चाची परेशान करती है। किसी को बताने पर बहन को जान से मारने की धमकी देती है। इस पर बच्चे की मां ने अपनी देवरानी के खिलाफ शारीरिक-मानसिक शोषण करने का आरोप लगाते हुए राजपुर थाने में शिकायत की। इस पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उफ इतनी शातिर महिलाएं ! तीन साल के बच्चे को भी शामिल कर लिया स्मैक की तस्करी में

नवीन समाचार, चंपावत, 15 मई 2022। शातिर कानून की आंखों में धूल झोंकने के लिए कैसे-कैसे तरीके निकाल लेते हैं। उत्तराखंड की चंपावत पुलिस ने स्मैक की तस्करी के आरोप में उत्तर प्रदेश की दो महिलाओं को गिरफ्तार किया है। उनके साथ तीन साल का एक मासूम बच्चा भी साथ था। सामान्यतया ऐसी महिलाओं पर कोई शक नहीं करता, लेकिन पुलिस ने उनकी जांच की तो उनके पास से करीब सात लाख रुपये की जानलेवा स्मैक बरामद की गयी।

चंपावत के पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र पींचा के अनुसार चंपावत में उप चुनाव के दृष्टिगत मादक द्रव्य निरोधक बल (एडीटीएफ), पुलिस, विशेष अभियान समूह (एसओजी) व अन्य एंजेसियों को तस्करों पर सख्त नजर रखने के निर्देश दिए गए थे। इसी के तहत पुलिस व एसओजी ने बनबसा के स्ट्रांग फार्म क्षेत्र में संदिग्ध लगने वाली दो महिलाओं की तलाशी ली तो उनके पास से सात लाख रुपये कीमत की 352 ग्राम स्मैक बरामद हुई। इस पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

उनकी पहचान मिथिलेश शर्मा व शबाना के रूप में हई है। पुलिस के अनुसार वह लंबे समय से स्मैक की तस्करी में लिप्त थीं, इसीलिए पुलिस की इन पर लंबे समय से नजर थी। पुलिस को उन पर शक न हो, इस कोशिश में पुलिस की नजरों में धूल झोंकने के लिए वह तीन साल के बच्चे को भी साथ लेकर चल रही थीं। अब चंपावत पुलिस उत्तर प्रदेश पुलिस से मिल कर दोनों के आपराधिक इतिहास की जानकारी जुटा रही है।

पुलिस का दावा कि आरोपित महिलाओं ने बरामद स्मैक को उत्तर प्रदेश के मीरगंज से खरीद कर लाने और और बनबसा, टनकपुर व पहाड़ी इलाकों में बेचने के लिए ले जाने की बात स्वीकारी है। पुलिस ने उनके खिलाफ बनबसा थाने में मादक द्रव्य अधिनियम के तहत अभियोग पंजीकृत कर लिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बुजुर्ग मां ने साथ रहने वाली बेटी पर लगाया बेहोश कर सोने के जेवहरात चोरी करने का आरोप

तलाकशुदा महिला के साथ रेप, युवक ने प्रेमजाल में फंसाकर किया दैहिक शोषणनवीन समाचार, हल्द्वानी, 7 मई 2022। शहर के वनभूलपुरा थाना क्षेत्र की एक महिला ने अपनी ही बेटी पर घर में रखे जेवरात चोरी करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने महिला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार लाइन नम्बर 15 आजाद नगर निवासी 75 वर्षीय बुजुर्ग महिला मुन्नी बेगम में अपनी तलाकशुदा बेटी रुमा नाज के साथ रहती हैं। आरोप है कि गत 3 मई की रात बेटी ने मां को शुगर आदि बिमारियों की ओवरडोज दवा दी, जिसके बाद वह सो गई। सुबह देर से नींद खुली तो उसने बेटी से दवा के बारे में पूछा, क्योंकि कभी दवा खाकर ऐसी बेहोशी वाली नींद नहीं आई। बेटी मामले में सही जवाब नहीं दे पाई।

दोपहर में उन्होंने देखा कि घर में रखा एक बक्सा खुला हुआ था। उसमें रखे एक जोड़ी कुंडल व अंगूठी आदि सोने के जेवरात और जरुरी कागजात गायब थे। इस पर महिला ने बेटी के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है, इसके आधार पर पुलिस ने बेटी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उफ ऐसी महिलाएं ! पति द्वारा बनाई गई प्रेमिका की अश्लील वीडियो को ब्लैकमेल करने के लिए वायरल किया

Women Constable Beaten Up In Rudrapur. उत्तराखंड में खाकी पर हमला..महिला  पुलिसकर्मी के बाल पकड़कर घसीटा, वर्दी भी फाड़ी. Udham Singh Nagar News.  Udham Singh Nagar Police- राज्य ...-जांच कर रही महिला पुलिस कर्मी से भी मारपीट की-वर्दी फाड़ी…

नवीन समाचार, सितारगंज, 15 अप्रैल 2022। उत्तराखंड के ऊधम सिंह नगर जिले के सितारगंज में एक महिला की अश्लील वीडियो वायरल करने की आरोपित महिला और उसकी दो बहनों द्वारा कोतवाली में महिला पुलिस कर्मी से हाथापाई करने व उसकी वर्दी फाड़ने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। महिला पुलिस कर्मी को गुम चोटें भी आई हैं। जबकि आरोपित महिलाएं कोतवाली से फरार भी हो गई हैं। महिला पुलिस कर्मी की तहरीर पर कोतवाली में तीनों महिलाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

कोतवाली की महिला दरोगा सोनिका जोशी ने बताया कि नगर में किराये पर रहने वाली युवती का एक शादीशुदा व्यक्ति से प्रेम प्रसंग था। इसी दौरान प्रेमी ने वीडियो कॉल के दौरान उसका अश्लील वीडियो बना लिया। उसकी पत्नी ने यह अश्लील वीडियो देख लिया और अपनी बहनों के साथ मिलकर अश्लील वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर पति की प्रेमिका को ब्लैकमेल करने लगीं। उसके कुछ परिजनों को भेजकर बदनाम भी किया गया।

युवती ने बुधवार को इसकी शिकायत पुलिस में की। इस पर आरोपित महिला को कोतवाली बुलाया गया। महिला दरोगा सोनिका जोशी ने दोनों पक्षों को सुना। इस दौरान आरोपित महिला से मोबाइल दिखाने को कहा तो महिला, और उसकी दो बहनें उत्तेजित होकर उनसे मोबाइल लेने का प्रयास कर रही महिला पुलिस कर्मी ज्योति से मारपीट पर उतारू हो गईं। उन्होंने हंगामा कर ज्योति शर्मा से हाथापाई कर दी।

हाथापाई के दौरान ज्योति की वर्दी फट गई और उसे गुम चोटें भी आईं। घटना के बाद आरोपित महिला सहित तीनों बहनें कोतवाली से भाग गईं। पुलिस कर्मी ज्योति की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने तीनों महिलाओं के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 186, 332, 353, 504 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही अश्लील वीडियो वायरल करने के आरोप में भी तीनों बहनों और वीडियो बनाने के आरोपित, इन्हीं में से एक महिला के पति के खिलाफ अभियोग पंजीकृत किया गया है। महिला के पति को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: साहब मुझे मेरी पत्नी से बचाओ, पुराने पति से पिटवाने की धमकी दे रही…

प्रतीकात्मक चित्रडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 8 अप्रैल 2022। मल्लीताल कोतवाली पुलिस में बृहस्पतिवार रात्रि अजब मामला आया है। यहां नगर के मल्लीताल पॉपुलर कंपाउंड निवासी एक व्यक्ति ने पुलिस से अपनी पत्नी से बचाने की गुहार लगाई है। मोहम्मद सईम नाम के व्यक्ति ने पुलिस को तहरीर देकर कहा है कि उसकी पत्नी शाजिया उससे आए दिन मारपीट करती है। उसे अपने पिछले पति से पिटवाने की धमकी भी देती है।

यह भी बताया है कि कुछ दिन पूर्व पत्नी ने हल्द्वानी में भी उससे मारपीट की थी। इस पर उसने बनभूलपुरा थाने में शिकायत की थी। तब पुलिस ने दोनों को बुलाया था और पत्नी को समझाया था। लेकिन वह फिर से अपनी पुरानी हरकतों पर लौट आई है। मल्लीताल कोतवाली के उप निरीक्षक हरीश सिंह ने कहा कि मामले में जांच की जा रही है। जांच में आरोपों पर तथ्य व साक्ष्य प्रकाश में आने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल महिला को समझाकर भेजा गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 15 वर्षीय नाबालिग भतीजे से शारीरिक संबंध बनाने वाली एचआईवी संक्रमित विधवा महिला गिरफ्तार, जेल भेजी

प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 5 अप्रैल 2022। ऊधमसिंह नगर जनपद के रुद्रपुर में 15 वर्षीय नाबालिग भतीजे के साथ बहला फुसलाकर दुष्कर्म करने वाली एचआइवी संक्रमित आरोपित महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके विरुद्ध पॉक्सो अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है। साथ ही उसे न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है। दूसरी ओर पीड़ित किशोर की एचआइवी जांच की प्रक्रिया चल रही है। यह भी पढ़ें : सनसनीखेज मामला: एड्स पीड़ित महिला ने खुद से 15 साल छोटे नाबालिग से बनाए शारीरिक संबंध

घृणित वारदात : नाबालिग बच्चे ने दूसरे नाबालिग के साथ किया कुकर्म

मामले के अनुसार रुद्रपुर ट्रांजिट कैंप निवासी महिला स्वयं एचआईवी संक्रमित है, जबकि उसके पति का एचआईवी की वजह से निधन हो चुका है। इधर वह अपने गांव पीलीभीत, पूरनपुर गई थी। जहां उसने अपने 15 वर्षीय भतीजे को अपने झांसे में लेकर उसके साथ शारीरिक संबंध बना लिए। इसके जब कुछ दिन बाद भी जब किशोर परिजनों के साथ ट्रांजिट कैंप आया तो महिला ने फिर उसके साथ संबंध बनाए। बाद में किशोर को जब चाची के एचआइवी संक्रमित होने का पता चला तो उसने परिजनों से पूरी बात बताई। इस पर परिवार में हड़कंप मच गया।

इधर, थानाध्यक्ष ट्रांजिट कैंप सुंदरम शर्मा ने बताया कि एचआइवी पीड़ित महिला के खिलाफ पॉक्सो अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया है। साथ ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। दूसरी ओर पीड़ित किशोर की एचआइवी जांच की प्रक्रिया चल रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : महिला ने व्यापारी को लगायार ढाई करोड़ का चूना

प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 3 अप्रैल 2022। मुंबई की महिला ने जालसाजी कर देहरादून के व्यापारी और एक अन्य महिला से 2.50 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की। रायपुर पुलिस ने आरोपी महिला के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। व्यापारी का आरोप है कि महिला ने सरकार भूमि और पूर्व में बेची भूमि का फर्जी अनुभव पत्र तैयार कर धोखाधड़ी की है।

एसओ अमरजीत रावत के मुताबिक लाडपुर रायपुर निवासी संजय नेगी पुत्र डीएस नेगी ने शिकायत कर बताया कि वह पेशे से व्यापारी है। कुछ सालों पहले उनकी मुलाकात कुमुद डी वैध पत्नी दीपक वैध निवासी आरबी लक्ष्मी रोड देहरादून वर्तमान निवासी सूरज बाल केश्वर रोड मुंबई से हुई। आरोप है कि महिला कुमुद ने संजय नेगी और उनकी पार्टनर मनु मित्तल से संपर्क किया और लाड़पर रायपुर की 36 बीघा जमीन खरीदने का प्रस्ताव रखा। जिसे संजय नेगी और मनु ने स्वीकार किया। 21 सितंबर वर्ष 2017 को कुमुद डी वैध को एक करोड़ रुपये दिए। 4 सितंबर और 9 सितंबर को भी एक करोड़ से अधिक रुपये दिए। दोनों के बीच अनुबंध हुआ और मुंबई निवासी महिला ने बताया कि जमीन पूर्णता वाद विवाद से मुक्त है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग में युवती ने दोस्त के साथ मिलकर कर दी युवक की हत्या

प्रतीकात्मक चित्र एक बिना बच्चे की मां की कहानी - BBC News हिंदी
प्रतीकात्मक चित्र

नवीन समाचार, देहरादून, 27 मार्च 2022। राजधानी में एक युवती द्वारा प्रेम प्रसंग में अपने साथी के साथ मिलकर एक युवक की हत्या करने का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने युवती की निशानदेही पर युवक का शव तपोवन के जंगल से बरामद कर लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नरेंद्र नाम का एक युवक गत 20 मार्च से लापता था। इस पर उसके परिजनों ने पुलिस में उसकी गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। इसी दिन डालनवाला कोतवाली में रायपुर क्षेत्र निवासी शीतल नाम की एक युवती की गुमशुदगी भी दर्ज हुई थी। लेकिन वह दूसरे दिन ही अपने घर पहुंच गई थी।

अलबत्ता, रायपुर पुलिस की जांच में पता चला कि युवती के साथ नरेंद्र का संपर्क था। इसलिए पुलिस ने जब शीतल से सख्ती से पूछताछ की, तो उसने पुलिस के समक्ष स्वीकार कर लिया कि उसने अपने दोस्त आकाश के साथ मिलकर उसने नरेंद्र की हत्या की और शव तपोवन के जंगल में छिपा दिया है। रविवार को पुलिस ने शीतल की निशानदेही पर नरेंद्र का शव बरामद कर लिया है। अब पुलिस शीतल व आकाश से पूछताछ कर रही है। मामला त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग से जुड़ा बताया जा रहा है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : एक बच्चे की मां का 80 हजार में कर दिया था सौदा, तस्करों के साथ शादी के लिए आए लोग लपेटे में

नवीन समाचार, बाजपुर, 17 मार्च 2022। शहर में एक शादीशुदा एवं एक बच्चे की मां को 80 हजार रुपए में बेचने का मामला प्रकाश में आया है। उल्लेखनीय है कि ‘नवीन समाचार’ में हमने 15 मार्च को बाजपुर में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल के द्वारा चार महिलाओं सहित 7 लोगों को पकड़े जाने का समाचार प्रकाशित किया था।

नवनियुक्त अध्यक्ष का बड़ा बयान, सेक्स रैकेट का अड्डा बन गया है उत्तराखंड का छठा धाम…

इस मामले में ही अब खुलासा हुआ है कि हरियाणा में पुरुषों के अनुपात में लड़कियों की जनसंख्या कम होने की वजह से अपना वंश बढ़ाने के लिए हरियाणा के युवक के साथ शादी के लिए बाजपुर से एक बच्चे की मां को 80 हजार रुपए में खरीदकर ले जाया जा रहा था। लेकिन महिला अपनी सूझ-बूझ से व पुलिस को सूचना देकर खुद को बचा लिया है।

एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल की प्रभारी बसंती आर्य ने बताया कि सोनम नाम की पीड़िता को लक्ष्मी नाम की महिला ने फोन पर बताया कि हरियाणा से लड़के वाले उसकी शादी के लिए आ रहे हैं। यदि मना किया तो बच्चे सहित जान से मार देंगे। उसे यह भी बताया गया कि उन लोगों ने उसे 80 हजार रुपये में खरीदा-बेचा है। वे उसे जबरदस्ती हरियाणा लेकर जा रहे थे। पुलिस ने उसे उनके चंगुल से बचा लिया है। अलबत्ता अभी भी पीड़िता ने अपनी जान माल का खतरा बताया है। इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

उधर, हरियाणा से बाजपुर अपने भाई का घर बसाने आए दिनेश ने बताया कि उसके भाई नरेश की शादी हरियाणा में लड़कियां नहीं मिल पाने के कारण नहीं हो पा रही थी। इधर उन्हें पता चला कि कुंवर पाल नाम के व्यक्ति की उत्तराखंड में अच्छी पकड़ है। वह उत्तराखंड से लड़कियां दिलाता है। बात करने पर वह आज उन्हें 80 हजार रुपये में लड़की दिलाने लाया था जिसका पैसा भी दे दिया गया है।

कुंवरपाल ने बताया कि लड़कियों का सौदा वह राजबाला, राजीव चौहान, बिजेंद्र सिंह व गुरवचन के साथ मिलकर करता है। उनके साथ जमुना उर्फ सुनीता, लक्ष्मी व राजा सिंह भी है। उनका गिरोह कई ऐसी शादियां करा चुका है। वह लोग अंधेरे में शाम के समय या रात में ही लड़कियों का सौदा कर हरियाणा ले जाते हैं। इधर, पुलिस के अनुसार पकड़ी गई महिलाओं में लक्ष्मी पर पहले से रुद्रपुर थाने में भारतीय दंड संहिता की 279, 337, 353 व 370 के तहत भी मामला चल रहा है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : नैनीताल विजीलेंस ने न्यायाधीश के खिलाफ आपराधिक शडयंत्र रचने के आरोप में किया एक महिला को गिरफ्तार

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 24 फरवरी 2022। विजिलेंस की टीम ने अपने मामले की सुनवाई कर रहे एक न्यायाधीश के खिलाफ आपराधिक षडयंत्र रचने के मामले में वांछित एक महिला कुसुम यादव पत्नी पारस नाथ यादव निवासी 748 गली नंबर 25 मेन मार्केट, संतनगर बुराड़ी, उत्तरी दिल्ली को हल्द्वानी से गिरफ्तार किया है। बाद में उसे मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में पेश कर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

प्रतीकात्मक चित्र

इस मामले में दो अन्य आरोपितों दिल्ली सचिवालय में ज्वाइंट सचिव के पद पर तैनात व बग्वालीपोखर रोड पर डांडा कांडा नामक स्थान पर अपनी पत्नी आशा यादव प्रेमनाथ के माध्यम से ‘प्लीजेंट वैली फाउंडेशन’ के जरिए स्कूल चलाने वाले एबी प्रेमनाथ को गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट से स्थगनादेश मिल गया है। उसके खिलाफ दिल्ली एंटी करप्शन विभाग में पहले से ही मामला दर्ज है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्ष 2013 में अल्मोड़ा कोतवाली में धोखाधड़ी के एक मामले में आशा यादव के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 467, 468, 471 के तहत मुकदमा पंजीकृत हुआ था। इस मामले की सुनवाई सिविल जज सीनियर डिवीजन अभिषेक कुमार श्रीवास्तव की अदालत में चली। 15 जनवरी 2021 को एक सह आरोपित चंद्र मोहन सेठी के कनाडा जाने के कारण उनका नाम पत्रावली से अलग करने के आदेश दिए गए और आरोपित आशा यादव के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया।

गिरफ्तारी से बचने के लिए आरोपित आशा यादव ने अपने पति एबी प्रेमनाथ व कुसुम यादव के साथ मिलकर सिविल जज सीनियर डिविजन अभिषेक कुमार श्रीवास्वत के खिलाफ नैनीताल उच्च न्यायालय में शपथ पत्र दाखिल कर कहा कि न्यायाधीश श्रीवास्तव व उनके परिजनों को आरोपित चंद्र मोहन सेठी दिल्ली आदि स्थानों में ले गए। इस कारण उनका नाम फाइल से हटा दिया गया और उनके यानी आशा यादव के खिलाफ वारंट जारी किया गया।

उच्च न्यायालय ने पूरे मामले का संज्ञान लेते हुए सिविल जज सीनियर डिविजन अभिषेक कुमार श्रीवास्तव को अल्मोड़ा से निलंबित कर देहरादून संबद्ध कर दिया और मामले की पूरी जांच विजिलेंस को सौंप दी। इधर विजीलेंस के जांच अधिकारी मनोहर सिंह दसौनी ने जांच में पाया कि आशा यादव ने न्यायिक अधिकारी पर पूरी तरह से झूठे पाए गए। आशा यादव, एबी प्रेमनाथ व कुसुम चौधरी ने मिलकर षडयंत्र रचा और उच्च न्यायालय में झूठी शिकायत की। इसके बाद उच्च न्यायालय ने विजिलेंस को आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश दिए।

इस पर विजिलेंस ने आरोपितों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 468, 469, 471, 120बी तथा आइटी एक्ट की धारा 66सी व डी के तहत मुकदमा पंजीकृत किया। इस पर आरोपित आशा यादव व एबी प्रेमनाथ को हाईकोर्ट से गिरफ्तारी पर स्थगनादेश मिल गया, जबकि कुसुम यादव उर्फ चौधरी को स्थगनादेश नहीं मिला। इस पर विजिलेंस की टीम ने कुसुम यादव को बुधवार 23 फरवरी को हल्द्वानी से गिरफ्तार कर लिया। विजिलेंस नैनीताल के जांच अधिकारी मनोहर सिंह दसौनी ने पत्रकारों को बताया कि आरोपित को सीजेएम की अदालत में पेश करने के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उफ ! ऐसी पत्नी किसी को न मिले, 7 जन्म तक साथ निभाने का वादा था, आठ साल बाद ही दूसरे पुरुष से 5 वर्ष से अवैध संबंधों के लिए कर दी हत्या

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 19 फरवरी 2022। जिस पत्नी ने सात जन्म तक साथ निभाने की कसम खाई थी उसने आठ वर्ष के विवाहित जीवन में पांच वर्ष से दूसरे पुरुष से अवैध संबंध बनाते हुए अपने पति की हत्या कर दी। यही नहीं पति की हत्या के बाद उसे अधमरे ही नाले के किनारे एक खेत में दफन कर दिया। घटना के सात दिन बाद मृतक के भाई ने नाले किनारे मिले फावड़े और ताजा खुदे गड्ढे को देखकर पुलिस को सूचना दी। तब जाकर कलयुगी पत्नी द्वारा किए गए मानवता को शर्मसार करने वाले इस हत्याकांड का खुलासा हुआ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कुंआखेड़ा निवासी 30 वर्षीय भागीरथ राणा पुत्र रमेश सिंह राणा का विवाह अमाऊं निवासी राजनंदनी से 2013 में हुआ था। इधर 13 फरवरी से भगीरथ घर से लापता था। भगीरथ के परिजन 13 फरवरी से उसकी तलाश कर रहे थे। हरतरफ से निराशा मिलने पर 17 फरवरी को भगीरथ की मां रामश्री की तहरीर पर पुलिस ने कोतवाली में भगीरथ की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। इधर शनिवार को भगीरथ का भाई शुभम राणा नाले की ओर गया था। यहां उसे एक फावड़ा नजर आया और सुग्रीव सिंह के खेत में एक ताजा खुदा हुआ गड्ढा मिला। शक होने पर शुभम ने इसकी सूचना पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने गड्ढा खोदकर शव बाहर निकाला। घटनास्थल से फावड़ा, जिस ईंट से हत्या की गई वह ईंट पुलिस ने बरामद कर ली। इसके बाद शुभम ने पुलिस को तहरीर सौंपकर अपनी भाभी राजनंदनी पर उसके प्रेमी संकेत सिंह निवासी कुंवाखेड़ा से अवैध संबंधों के चलते उसके भाई की हत्या करने का आरोप लगाया। इस पर पुलिस ने दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस मुकदमा दर्ज कर हत्यारोपियों को जेल भेजने की तैयारी कर रही है।

पांच साल से चल रहा था दोनों हत्यारोपियों के बीच अवैध संबंध

घटना का खुलासा करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक ममता बोहरा ने बताया कि आरोपित संकेत और राजनंदनी के बीच बीते पांच वर्षों से अवैध संबंध थे। राजनंदनी अपने प्रेमी संकेत पर पति भगीरथ को रास्ते से हटाने के बाद उसके साथ रहने के लिए दबाव बना रही थी। मौका पाकर 13 फरवरी की शाम साढ़े आठ बजे राजनंदनी अपने पति भगीरथ को अपने घर के पीछे लेकर गई।

यहां दोनों आरोपितों ने भगीरथ को दबोच लिया और उसका गला दबा दिया। आरोपित संकेत ने अधमरे भगीरथ को कंधे पर लादा और नाले के किनारे सुग्रीव के खेत में दफन कर दिया। इससे पहले आरोपित ने राजनंदनी से फावड़ा मंगाकर गड्ढा खोदा और यहां रखी ईंट से भगीरथ के सिर पर वार कर उसकी जान ले ली। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : प्रॉपर्टी डीलर की अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने की आरोपित महिला साथियों सहित गिरफ्तार

नवीन समाचार, हरिद्वार, 3 फरवरी 2022। प्रॉपर्टी डीलर को नशीला पदार्थ पिलाकर उसके साथ अश्लील हरकत करने का वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने के मामले में पुलिस ने आरोपित महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। उनके कब्जे से डेढ़ लाख रुपये तथा मोबाइल फोन आदि भी बरामद किए गए हैं।

विदित हो कि तीन दिन पूर्व मुंडलाना क्षेत्र के प्रॉपर्टी डीलर ने पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि एक महिला ने प्लॉट दिखाने के नाम पर मंगलौर के एक मकान में बुलाया और उसे कोल्ड ड्रिंक पीने को दी। कोल्ड ड्रिंक में संभवतया नशीला पदार्थ था। इसे पिलाकर वह उसके साथ अश्लील हरकतें करने लगी और उसके कुछ साथियों ने उसकी महिला के साथ अश्लील वीडियो क्लिप बना ली।

बाद में महिला ने फोन कर उससे 16 लाख रुपये मांगे और नहीं देने पर उसकी वीडियो वायरल करने की धमकी दी। इस मामले में उसके तीन साथी भी शामिल थे। उन्होंने भी उसे जान से मारने और झूठे मामले में जेल भिजवाने की धमकी दी। इंस्पेक्टर अमरचंद शर्मा ने बताया कि शिकायत पर बबीता उर्फ बृजेश निवासी इंदिरा कॉलोनी पेपर मिल सहारनपुर तथा रुड़की निवासी अमित, विजेंद्र चौहान तथा यशपाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था।

पीड़ित ने बताया कि लाखों रुपये वह अपनी इज्जत की खातिर दे चुका था। उसके बाद भी वह लगातार उससे रुपयों की मांग कर रहे थे। जब उसने रुपये देने से इनकार कर दिया तो उसे जान से मारने की धमकी भी दी गई। इस पर सीओ पंकज गैरोला ने एक टीम का गठन किया। इस बीच पुलिस को पता चला कि देवबंद क्षेत्र में भी गिरोह इसी प्रकार की कई घटनाएं अंजाम दे चुका है। गिरोह के लोग देवबंद में ही मौजूद हैं। इसके बाद पुलिस ने घेराबंदी कर आरोपियों को धर दबोचा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अधिकारी पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ ब्लैकमेलिंग का मुकदमा दर्ज

Blackmailing case filed against the woman who accused misdeedनवीन समाचार, देहरादून, 26 जनवरी 2022। गत दिवस जनपद के एक आबकारी अधिकारी पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला के खिलाफ अब आरोपित अधिकारी ने भी डालनवाला कोतवाली में ब्लैकमेल करने का मुकदमा दर्ज कराया है।

शिकायतकर्ता कालीदास रोड देहरादून निवासी सहायक आबकारी आयुक्त के मनोज कुमार उपाध्याय ने शिकायत में कहा है कि 2016-17 में इंटरनेट मीडिया के माध्यम से उसकी खुद को मूल रूप से बनारस और शादी के बाद गुरुग्राम में रहने वाली बताने वाली आरोपित महिला के साथ बातचीत हुई थी। महिला ने कहा कि वह बेसहारा व तलाकशुदा है। उसके दो बच्चे हैं, जो कि देहरादून स्थित एक बोर्डिंग स्कूल में पढ़ते हैं।

महिला ने खुद को एक इंश्योरेंस कंपनी की एजेंट बताकर उससे कुछ इंश्योरेंस पालिसी करवाने का अनुरोध किया, इस पर उसने महिला से कुछ पालिसियां करवा दीं। पीड़ित के अनुसार धीरे-धीरे महिला का लालच बढ़ने लगा और वह और पालिसियां कराने का दबाव बनाने लगी। महिला ने धमकी दी कि यदि उसका टारगेट पूरा नहीं हुआ तो वह उसे फंसा देगी। ऐसे में उन्होंने महिला से बातचीत करनी बंद कर दी। साजिश के तहत महिला ने गुरुग्राम में उनके खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज करवा उनके खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवा दिया।

आबकारी अधिकारी ने कहा कि वह अपना ब्रेन मेपिंग व पॉलीग्राफ टेस्ट करवाने को भी तैयार हैं। उधर पुलिस ने आबकारी अधिकारी पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला के बयान दर्ज करवा दिए हैं। इंस्पेक्टर एनके भट्ट ने बताया कि महिला का मेडिकल करवाया जाएगा। इसके अलावा महिला की ओर से जिस जगह दुष्कर्म के आरोप लगाए हैं, वहां के दस्तावेज भी जुटाए जाएंगे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : मुस्लिम समुदाय की महिलाओं की बोली लगाने वाले ‘बुल्ली बाई’ ऐप के मामले में उत्तराखंड से एक और युवक गिरफ्तार…

Mumbai Police arrested one youth from Kotdwar in Bully Bai app caseनवीन समाचार, कोटद्वार, 5 जनवरी 2022। देश में मुस्लिम महिलाओं की कथित तौर पर बोली लगाकर ‘नीलामी’ करने वाल ‘बुल्ली बाई’ ऐप मामले में मुंबई से उत्तराखंड पहुंची पुलिस टीम ने एक युवती के बाद अब एक और युवक को गिरफ्तार कर लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस मामले में कोटद्वार नगर निगम के अंतर्गत नींबूचौर निवासी मयंक रावत को गिरफ्तार किया गया है।

वरिष्ठ पुलिस उप निरीक्षक जगमोहन रमोला ने बताया कि मयंक 2019 से दिल्ली विश्वविद्यालय में बीएससी आनर्स की पढ़ाई कर रहा है। इधर लॉकडाउन के कारण वह पिछले लंबे समय से घर पर ही है। पूछताछ में मयंक ने बताया कि वह बुल्ली बाई एप संचालित करने वाले लोगों से वर्चुअली जुड़ा हुआ था। आज तक उसकी उनसे मुलाकात नहीं हुई है। रमोला ने बताया कि मुंबई की टीम देहरादून की एसटीएफ के साथ मध्य रात्रि के बाद कोटद्वार पहुंची और मयंक को उसके घर से गिरफ्तार किया।

उल्लेखनीय है कि बुली बाई ऐप गिटहब नाम के प्लेटफॉर्म पर मुस्लिम समुदाय की इंटरनेट मीडिया पर काफी सक्रिय रहने वाले महिलाओं को उनकी अनुमति के बिना उनके चेहरे का फोटो दिखा कर उस पर कीमत का टैग लगाकर बोली लगवाता था। लोग इन फोओ को एक-दूसरे को साझा करते थे। केंद्र सरकार के कहने पर इस एप को हटा दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : देश का सबसे बड़ा सनसनीखेज खुलासा: देश भर की नामचीन मुस्लिम महिलाओं के चित्र और विवरण वाले ऐप की सरगना उत्तराखंड की महिला ! हिरासत में…

नवीन समाचार, मुंबई, 4 जनवरी 2022। बीते कुछ दिनों से ‘बुली बाई’ नामक मोबाइल ऐप पर देश की सैकड़ों नामचीन मुस्लिम महिलाओं के छेड़छाड़ किये हुए चित्र और विवरण डालकर नीलामी करने का मामला देश भर की मीडिया की सुर्खियों में है। इससे पहले पिछले साल ‘सुल्ली डील्स’ नामक ऐप पर इसी प्रकार की सामग्री डाली गई थी। अब इस मामले का जो खुलासा हुआ है वह उत्तराखंड के लिए शर्मसार करने वाला हो सकता है। बताया गया है कि इस मामले में रुद्रपुर के आदर्श कॉलोनी से एक 18 वर्षीय युवती को गिरफ्तार किया गया है। युवती से रुद्रपुर कोतवाली में मुम्बई पुलिस पूछताछ की जा रही है।

समाचार एजेंसी भाषा के हवाले से मुंबई साइबर पुलिस ने मंगलवार को ‘बुली बाई’ ऐप मामले में उत्तराखंड से एक महिला को हिरासत में लिया है और बेंगलुरु से इंजीनियरिंग के एक छात्र को गिरफ्तार किया है। उसी की निसानदेही पर आदर्श कॉलोनी रुद्रपुर निवासी श्वेता सिंह पुत्री अनंतपाल को गिरफ्तार किया गया है। बताया गया है कि श्वेता ने पुलिस को बुल्ली एप में संलिप्तता की बात कबूल कर ली है।  पुलिस ने उससे दो मोबाइल भी बरामद किए हैं। बाद में पुलिस उसे जिला कोर्ट में पेश किया। जहां पर कोर्ट ने रिमांड दे दी है। बताया जा रहा है कि युवती बुली बाई एप में मुख्य आरोपित है। सीओ सिटी अभय सिंह ने बताया कि युवती से पूछताछ कर कुछ अन्य जानकारी जुटाई जा रही है।

इससे पहले पुलिस ने अमेरिका के सेंस फ्रांसिसको के गिट हब प्लेटफार्म के जरिये मुस्लिम महिलाओं को नीलामी की पेशकश करने वाले ‘बुली बाई’ ऐप पर मुस्लिम महिलाओं के चित्र डाले जाने की शिकायत प्राप्त होने के बाद अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की थी। एक अधिकारी ने बताया कि इस संबंध में मुंबई साइबर पुलिस के एक दल ने उत्तराखंड से एक महिला को हिरासत में लिया है जो मुख्य आरोपित है। अधिकारी ने इससे अधिक जानकारी देने से इनकार कर दिया।

बताया गया है कि मामले के संबंध में साइबर पुलिस ने बेंगलुरु से इंजीनियरिंग के 21 वर्षीय एक छात्र को भी गिरफ्तार किया है जिसकी पहचान विशाल कुमार के रूप में की गई है। उन्होंने कहा कि दोनों आरोपी एक दूसरे को जानते हैं और इस मामले में आगे की जांच जारी है। मुंबई साइबर पुलिस थाने ने ऐप के डेवलपर और उसका प्रचार-प्रसार करने वाले ट्विटर हैंडल के विरुद्ध भी एक मामला दर्ज किया है। बताया गया है कि श्वेता के पिता अनंतराम, सिडकुल की एक कंपनी में कार्यरत थे, उनकी मौत 22 मई, 2021 को कोविड के चलते हो गई थी। जबकि मां की मौत पहले ही हो चुकी है। उसने बारहवीं की परीक्षा वर्ष 2021 में पास करने के बाद बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से बीए आनर्स की प्रवेश परीक्षा भी पास कर ली थी, लेकिन प्रवेश नहीं लिया था। उसके द्वारा जट खालसा 7 (ZATTkhalsa7) नाम से ट्विटर हैंडलर चला रही थी। इसी अकाउंट के जरिए बुली बाई के माध्यम से मुस्लिम महिलाओं की बोली की कार्रवाई की गई। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : महिला ने दो बेटियों के बाद पति को छोड़ा, दूसरी शादी की, दूसरे से हुई बेटी उसी को सोंपी और रच दी ऐसी झूठी कहानी कि अब खुद ही कार्रवाई की जद में…

दुनिया के वो देश, जहां दूसरे धर्म में शादियां प्रतिबंधित हैं which nations  prohibit inter faith marriage in arab world – News18 हिंदीनवीन समाचार, गदरपुर, 20 दिसंबर 2021। पुलिस ने गत दिवस एक महिला की गोद से अज्ञात व्यक्ति के उसकी ढाई माह की बच्ची को छीनकर फरार हो जाने का रोचक खुलासा किया है। पुलिस का महिला के ही हवाले से कहना है कि उसने अपने पति को उसके बीमार पड़ने पर छोड़कर दूसरी शादी कर ली थी। अपहृत की गई बच्ची उसके दूसरे पति से पैदा हुई थी और वह ही अपनी बच्ची को ले गया था। इस प्रकार यह कहानी न केवल झूठी निकली वरन आज के दौर की महिला का एक अलग चरित्र भी उजागर कर गई। बहरहाल पुलिस ने 48 घंटे के भीतर मामले का खुलासा करने के साथ ही अपहृत बच्ची को राजस्थान से सकुशल बराबद कर लिया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिलीप सिंह कुंवर ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि सरनजीत कौर नाम की महिला, जिसने अपनी ढाई माह की बच्ची परी को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा छीनकर अपने साथ ले जाने की सूचना दी थी, का विवाह ड्राईवरी का कार्य करने वाले ग्राम मुबारिकपुर थाना नौगांव, जिला अलवर, राजस्थान निवासी सतविन्दर सिंह के साथ वर्ष 2015 में हुआ था तथा दोनों की दो पुत्रियां 5 वर्षीय पुशप्रीत कौर व 3 वर्षीय जसप्रीत कौर हैं। वर्ष 2017-18 में सतविन्दर सिंह की बीमारी के बाद सरनजीत पति को छोड़ अपनी दोनों बेटियों के साथ अपने मायके में ही रहने लगी। जबकि सतविन्दर सिंह रजपुरा नं. एक थाना गदरपुर में आकर रहने लगा।

इसी दौरान सरनजीत का अपने गांव में ही रहने वाले टीटू पुत्र फकीर चन्द्र के साथ प्रेम प्रसंग चलने लगा तथा उसने मंदिर में टीटू से शादी कर ली ओर वह टीटू के साथ गणेश बिहार थाना शिवजी पार्क जिला अलवर में रहने लगी। दोनों की ढाई माह की बेटी परी भी है। इधर पारिवारिक सदस्यों की मध्यस्थता व बच्चों के भविष्य की बातों को लेकर इधर नवम्बर 2021 में सरनजीत अपनी तीनों पुत्रियों के साथ अपने पति सतविंदर के साथ गदरपुर आकर रहने लगी। इस दौरान टीटू सरनजीत पर अपनी पुत्री परी को वापस लेने का दबाव बनाने लगा।

इसी कारण 17 दिसंबर को टीटू अपनी पुत्री परी को लेने गदरपुर आया। सरनजीत कौर अपनी पुत्री परी के साथ टीटू से गदरपुर में मिली तथा सहमति से परी को लालन पालन हेतु टीटू के सुपुर्द कर दिया ओर टीटू परी को लेकर अपने घर गणेश बिहार, थाना शिवाजी पार्क, अलवर राजस्थान चला गया। लेकिन सरनजीत ने लोक-लाज के भय व पारिवार के सदस्यों को सच न बता पाने की मजबूरी के चलते किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा बच्ची को छीनकर ले जाने की झूठी कहानी गढ़ दी।

हालांकि अब उसने खुद मान लिया है कि उसने अपनी मर्जी से लालन पालन हेतु बच्ची अपने दूसरे पति टीटू को दी थी। अलबत्ता पुलिस उसके द्वारा झूठी सूचना देने के कारण सरनजीत के खिलाफ आवश्यक विधिक कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है। एसएसपी ने मामले का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को ढाई हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सौंदर्य प्रसाधन की ऐसी शौकीन महिलाएं ! गोदाम से चोरी कर ली 45 हजार की सौंदर्य प्रसाधन सामग्री

नवीन समाचार, देहरादून, 17 दिसंबर 2021। सौंदर्य प्रसाधन का सामान महिलाओं की कमजोरी माना जाता है। पर कोई महिलाएं सौंदर्य प्रसाधन के लिए 45 हजार का सामान चोरी कर लें, शायद ऐसी घटना अनूठी ही होगी। शहर कोतवाली पुलिस ने ब्यूटी पार्लर के पास स्थित गोदाम से कास्मेटिक का सामान चोरी करने वाली दो युवतियों को पुलिस ने चोरी किये गए 45 हजार रुपये के सामान के साथ गिरफ्तार किया है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार नई बस्ती पटेलनगर निवासी काशीराम ठाकुर ने शिकायत कर बताया कि उनकी खुडबुडा चौकी के झंडा बाजार में स्थित स्वाति ब्यूटी पार्लर के पास स्थित गोदाम से गत 11 दिसंबर की रात तीन महिलाओं ने ताला तोड़कर कॉस्मेटिक का सामान चोरी कर लिया है। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और मुखबिर की सूचना पर दो युवतियों को गिरफ्तार कर लिया है। महिलाओं ने पूछताछ में अपना नाम-पता मूल रूप से दरभंगा बिहार की रहने वाली खुडबुडा मोहल्ला निवासी आरती और पूनम बताया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सोशल मीडिया पर युवकों को फंसाती थी युवती, संबंध बनाने को भी कहती थी, फिर करती थी ब्लैकमेल, गिरफ्तार

नवीन समाचार, रामनगर, 3 दिसंबर 2021। नैनीताल की रामनगर पुलिस ने एक युवती को गिरफ्तार किया है। उस पर आरोप है कि वह काफी समय से सोशल मीडिया पर लोगों से दोस्ती कर उन्हें ब्लैकमेल कर रही थी। इधर वह दो युवकों को ब्लैकमेल कर वह उनमें से एक युवक से सात लाख और दूसरे से 20 हजार रुपये मांग रही थी। इस युवक से वह 90 हजार रुपए पहले ले चुकी थी। पीड़ित युवकों की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर उस गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

एसएसआई मुनव्वर हुसैन ने बताया कि ग्राम गर्जिया क्षेत्र निवासी 30 वर्षीय युवती लंबे समय से सोशल मीडिया पर युवकों से दोस्ती कर उन्हें ब्लैकमेल कर रही थी। इनमें से एक युवक ने बताया कि युवती ने पहले उससे सोशल मीडिया पर दोस्ती की और बाद में उसके घर आकर सात लाख रुपये मांगे। मना करने पर उसने हंगामा किया और मारने की धमकी भी दी।

इसके अलावा क्षेत्र के ही एक अन्य गांव निवासी युवक ने भी बताया कि उसने उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की। मना करने पर उसने उसे झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी और उससे 90 हजार रुपये ले लिए। इसके बाद 20 हजार रुपये की मांग की। दोनों युवक ने कोतवाली में युवती के खिलाफ तहरीर दी। इस पर मामले की विवेचक एसआई प्रीति ने आरोपित युवती को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया।

एसआई प्रीति ने बताया कि युवती पिछले चार-पांच साल से यहीं काम कर रही थी। अब तक वह भवानीगंज, गूलरघट्टी, कानिया, चोरपानी, लखनपुर और पीरूमदारा क्षेत्र के कई युवकों को अपना निशाना बना चुकी है। अधिकतर युवक बदनामी के डर से खुलकर सामने नहीं आए। जिन दो युवकों ने तहरीर दी वह इससे काफी परेशान हो चुके थेे। आरोपित युवती ने कई युवकों को फंसाने की बात कबूल की है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : शादीशुदा लुटेरी दुल्हन, शादी किए बिना ही लाखों का माल लेकर चंपत, पुलिस ने भी नहीं सुनी

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 26 नवंबर 2021। मेहनत-मजदूरी करने वाले युवक ने बमुश्किल शादी करने की ठानी तो ठग शादीशुदा महिला को कुंवारी दिखाकर युवक से 51 हजार की नकदी, दो तोला सोने की चेन, 200 ग्राम चांदी के पायल ठग ले गए। शादी भी नहीं की गई। युवक ने शिकायत की तो पुलिस ने भी नहीं सुनी। मजबूर होकर पीड़ित ने न्यायालय की शरण ली। अब न्यायालय के आदेशों पर पुलिस ने शादी के लिए दिखाई गई महिला सहित चार आरोपित के खिलाफ अभियोग दर्ज कर लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ट्रांजिट कैंप, आजादनगर निवासी वेदप्रकाश ने न्यायालय को सौंपे शिकायती पत्र में कहा था कि वह मेहनत मजदूरी करता है। मूलरूप से वह बरेली, शीशगढ़ का रहने वाला है और अविवाहित है। 23 जून 2021 को ग्राम सैजना, मीरगंज, बरेली निवासी बेचेलाल, ग्राम कोहनी, विशारतगंज, बरेली निवासी गंगादीन, ग्राम बल्ली, शीशगढ़, बरेली निवासी मोतीराम और एक महिला कृष्णा देवी उसके घर आए और उसकी शादी कृष्णा देवी से अगले सप्ताह कराना तय कर चढ़ावे के नाम पर उससे 51 हजार की नकदी, दो तोला सोने की चेन, 200 ग्राम चांदी के पायल लेकर कृष्णा देवी को दे दिए।

लेकिन समय बीतने के बाद जब उसने चारों से संपर्क किया तो वह नहीं मिले। अलबत्ता यह पता चला कि कृष्णा देवी ट्रांजिट कैंप, आजादनगर निवासी छत्रपाल की पत्नी है। बेचेलाल, गंगादीन, मोतीराम और कृष्णा देवी गैंग बनाकर ठगी करते हैं। उसनी तहरीर पर पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर चारों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उफ, देवभूमि के शांत पहाड़ों में भी ऐसी वारदात, पत्नी ने पति को चाकू से मार डाला, फिर अपराध छुपाने को दीवार से नीचे फेंका

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 12 नवंबर 2021। देवभूमि कहे जाने वाले उत्तराखंड के अपराधमुक्त माने जाने वाले पर्वतीय क्षेत्र में भी एक महिला द्वारा अपने पति की चाकू मारकर हत्या किए जाने का खुलासा हुआ है। पुलिस ने महिला को पति की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।

मामला कोतवाली डीडीहाट क्षेत्र का है। यहां गत 17 अक्टूबर को पुलिस को फोन के माध्यम से सूचना मिली थी कि कुंदन सिंह धामी पुत्र दीवान सिंह धामी निवासी ग्राम छनपट्टा डीडीहाट की दीवार से गिरने के कारण मृत्यु हो गई है। इस सूचना पर पुलिस ने मौके पर जाकर मृतक कुंदन के शव का पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम की कार्यवाही हेतु जिला चिकित्सालय पिथौरागढ़ भेजा।

इधर बृहस्पतिवार को मृतक के भाई धन सिंह धामी ने कोतवाली डीडीहाट में तहरीर दी कि मृतक कुंदन का अपनी पत्नी के साथ अकसर लड़ाई-झगड़ा होते रहता था। उसे संदेह है कि शायद उसके भाई कुंदन की हत्या उसकी पत्नी नीमा देवी के द्वारा की गई है। तहरीर के आधार पर थाना डीडीहाट में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया।

इसकी विवेचना करते हुए प्रभारी निरीक्षक हिमांशु पंत ने गवाहों के बयान लिये और मृतक की पत्नी से पूछताछ की तो उसने स्वीकार कर लिया कि आपसी लड़ाई-झगड़े में ही उसने अपने पति पर चाकू से वार किया था, जिससे गले में चोट लगने से उसकी मृत्यु हो गई। इसके बाद पत्नी ने डर के मारे अपने पति को घर के पास की दीवार से नीचे फेंक दिया था।

पूछताछ के बाद आरोपित की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त चाकू और खून साफ किये हुए कपड़े, बोरा आदि भी बरामद कर लिये गये और आरोपित पत्नी नीमा को भी गिरफ्तार कर लिया गया। आगे उसे न्यायालय के समक्ष पेश कर वैधानिक कार्यवाही की जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : धनतेरस पर आभूषण देखते दुकान से चांदी की चार पायलें चुराती पकड़ी गयीं महिलाएं…

नवीन समाचार, देहरादून, 3 नवंबर 2021। राजधानी में एक ज्वेलर की दुकान में गहने देखने आई दो महिलाओं ने मौका पाकर चार जोड़ी चांदी की पायल चोरी कर लीं और फरार हो गईं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच के बाद आरोपित महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है।

एसओ कुलदीप पंत ने बताया कि सोमवार को दो महिलाएं प्रेमनगर स्थित गायत्री ज्वेलर्स में गहने देखने के लिए आई थीं। काफी देर तक वह गहने देखती रहीं, और भीड़ का फायदा उठाकर चार जोड़ी पायल चोरी कर चुपके से वहां से निकल गईं। दुकान स्वामी चंदन कुमार ने जब गहनों का मिलान किया तो चार जोड़ी चांदी की पायल कम मिलीं। उन्होंने इस मामले की शिकायत प्रेमनगर थाना पुलिस की।

पुलिस मौके पर पहुंची और सीसीटीवी की फुटेज जांची। जिसमें दोनों महिलाओं की ओर से पायल चोरी किए जाने की पुष्टि हुई। आसपास के अन्य सीसीटीवी की फुटेज में महिलाएं टी इस्टेट की ओर जाती दिखाई दी। पुलिस ने उन्हें टी-इस्टेट से गिरफ्तार कर लिया। महिलाओं की पहचान चंपा देवी और कमला निवासी दुर्गेश नगर, कटघर, मुरादाबाद उत्तर प्रदेश के रूप में हुई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : लुटेरी दुल्हन कई दूल्हों को लगा चुकी है लाखों का चूना, एक साथी गिरफ्तार

नवीन समाचार, विकासनगर देहरादून, 2 अक्टूबर 2021। विकासनगर की प्रीति नाम की एक महिला पर कई शादियां करके दूल्हों को लूटने का आरोप लगा है। इस बार हरियाणा के यमुनानगर स्थित छछरौली में एक व्यक्ति से इस लुटेरी दुल्हन प्रीति तथा उसके साथियों के खिलाफ हरियाणा पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। इस पर शनिवार को उसके एक साथी इलियास को हरियाणा पुलिस ने विकासनगर के नवाबगढ़ से गिरफ्तार कर लिया और अपने साथ ले गई। विकासनगर कोतवाली के इंस्पेक्टर प्रदीप बिष्ट ने इसकी पुष्टि की है।

बताया गया है कि छछरौली के गांव शाहजहांपुर पिपली माजरा निवासी मंगा राम ने यमुनानगर थाने में अपनी दूसरी पत्नी प्रीति सहित 10 आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज करवाया है। आरोप लगाया कि प्रीति ने बिना तलाक लिए कई व्यक्तियों से शादी कर रखी है। उसने कुछ व्यक्तियों के साथ मिलकर गिरोह बना रखा है, जो भोले-भाले व्यक्तियों से उसकी शादी करवाता है। कुछ दिन के बाद वह घर से रुपये व गहने लेकर फरार हो जाती है।

मंगा राम के अनुसार उसकी पहली पत्नी की मौत वर्ष 2019 में हो गई थी। पिछले माह सितंबर में उसका संपर्क प्रेमनगर की अफसाना उर्फ रुकसाना से हुआ। अफसाना ने डेढ़ लाख रुपये लेकर उसकी शादी विकासनगर की प्रीति से 19 सितंबर को गुरुद्वारा निर्मल कुटिया गांव कुन्जा कुलाल विकासनगर में करवाई थी। शादी के चार-पांच दिन बाद उसने प्रीति के मोबाइल में कई कांटेक्ट नंबर और शादी की फोटो देखी। उन्हें देख पता चला कि प्रीति की शादी उससे पहले कई व्यक्तियों से हो चुकी है।

इस काम में प्रीति के साथ प्रियंका, सहसपुर निवासी प्रदीप व उसकी पत्नी दीपा, अंबाला के गांव तेपला निवासी अमरजीत सिंह, गांव कोड़वा खुर्द का शेरा गुर्जर, विकासनगर नवाबगढ़ निवासी इलियास, पांवटा साहिब का सरफराज, विकास नगर निवासी हाजी गुलशेर, अफसाना भी मिले हुए हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सुहागरात के बाद ही ससुराल से नगदी-जेवर ले फरार हुई तलाकशुदा दुल्हन…

नवीन समाचार, हरिद्वार, 24 सितंबर 2021। मुजफ्फरनगर यूपी निवासी एक युवक को उत्तराखंड के हरिद्वार निवासीय युवती से शादी करना भारी पड़ गया। नई-नवेली दुल्हन शादी की अगले दिन ही लाखों रुपये के जेवर और नकदी लेकर फरार हो गई।

लुटेरी दुल्हन का शिकार बने मुजफ्फरनगर के परिवार वालों ने ज्वालापुर कोतवाली में शिकायत दर्ज की है और शादी करवाने वाली महिला को भी पकड़कर पुलिस के हवाले किया है। पुलिस ने शादी करवाने वाली महिला से पूछताछ शुरू कर दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मुजफ्फरनगर यूपी निवासी पीड़ित परिवार वालों का कहना है कि वह अपने बेटे की अधिक उम्र तक शादी न होने के कारण काफी परेशान चल रहे थे। इधर कुछ दिन पहले ज्वालापुर निवासी एक महिला ने एक पहले से ही तलाकशुदा महिला के साथ उनके बेटे की शादी तय की, और गत 13 सितंबर को महिला से उनके बेटे की शादी हो गई।

लेकिन सुहागरात के बाद अगली ही दिन महिला उनके घर से जेवरात और नगदी लेकर फरार हो गई। इसके बाद परिजन हरिद्वार पहुंचे और शादी कराने वाली बिचौलिया महिला को पकड़ लिया, और उसे पुलिस के पास ले आए। महिला ने दुल्हन को पकड़वाने का आश्वासन दिया है। कोतवाली प्रभारी सीसी नैथानी ने बताया कि रिश्ता तय कराने वाली महिला से पूछताछ की जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : मुझे मेरी पत्नी से बचाओ, आए दिन उत्पीड़न व मारपीट करती है…

प्रतीकात्मक चित्र

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 6 सितंबर 2021। महिला उत्पीड़न की घटनाएं तो आम रहती हैं, पर पुरुष या पति उत्पीड़न की घटनाएं उजागर नहीं हो पाती हैं। सोमवार को नगर के मल्लीताल क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी पर मारपीट का आरोप लगाया है, और उनसे जान का खतरा बताते हुए न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।

नगर के मार्शल कॉटेज निवासी प्रेम प्रकाश का कहना है कि उसकी पत्नी आए दिन उससे अभद्रता और मारपीट करती हैं। इससे वह मानसिक रूप से परेशान है। उसका कहना है कि पत्नी द्वारा की जाने वाली मारपीट के वीडियो भी उसके पास मौजूद हैं। एसआई कश्मीर सिंह ने कहा कि शिकायत मिली है। शिकायत के आधार पर मामले की जांच की जा रही है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : व्यापारी पर छेड़छाड़ का आरोप लगाने वाली राजनीतिक नेत्री सहित चार लोगों पर रंगदारी का मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 8 अगस्त 2021। शहर के एक व्यापारी पर पूर्व में छेड़छाड़ का आरोप लगाने वाली एक राजनीतिक दल से जुड़ी महिला सहित दो अन्य महिलाओं व एक पुरुष पर ब्लैकमेल कर अब व्यापारी की तहरीर पर रंगदारी मांगने का मामला दर्ज किया गया है। मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। आरोप है कि पुराने मामले में समझौता कराने के नाम पर रंगदारी मांगी जा रही है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार रामपुर रोड गली नंबर 2 निवासी व्यापारी जसविंदर सिंह पुत्र चरनजीत सिंह ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि आरोपित महिलाओं ने खुद अपने कुछ वीडियो बनाकर बीती 3 मई को उनके मित्र राजीव और सुजीत को व्हाट्सएप पर भेजे और उन वीडियो को वायरल कर जसविंदर को बदमाश करने की धमकी दी थी। ऐसा नहीं करने की एवज में उनसे आठ लाख रुपये मांगे गए थे।

व्यापारी के अनुसार आरोपित उनके खिलाफ कई बार कोतवाली पुलिस में झूठी शिकायत कर चुके हैं और कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराने के बाद ब्लैकमेल करने की नीयत से एसएमएस भेजते थे ओर फेसबुक पर भी गलत पोस्ट कर उन्हें बदनाम करने की कोशिश करते थे। सीओ शांतनु पाराशर ने बताया कि जांच के बाद व्यापारी के खिलाफ पूर्व में छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला तथा तीन अन्य महिलाओं के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : कोरोना से पति को खोने वाली विधवा ने अपनी ननद के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 जुलाई 2021। नगर के मल्लीताल रुकुट कंपाउंड निवासी एक विधवा महिला रीना ठाकुर ने अपनी ननद उमा ठाकुर के खिलाफ पुलिस में मारपीट व गालीगलौज जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। इस पर पुलिस ने आरोपित ननद के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार रुकुट कंपाउंड निवासी रीना ठाकुर ने तहरीर में कहा है कि उसकी ननद अपने पति से तलाक के बाद मायके में ही रह रही है। इधर रीना के पति की कोविड की वजह से हुई मौत के बाद वह उसकी संपत्ति व जीवन बीमा की धनराशि पर कब्जा करना चाहती है, इसलिए उसे घर से बेदखल करना चाहती है। इस कारण आए दिन उससे गालीगलौज तथा मारपीट करती है। कोतवाल अशोक कुमार ने बताया कि महिला की तहरीर के आधार पर आरोपित उमा ठाकुर के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : पति-पत्नी ने साथ पी शराब, विवाद में पत्नी ने नशे में पति को मार दिया बल्ला, मौत

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 13 जुलाई 2021। नशा जब चढ़ जाए तो मनुष्य, मनुष्य नहीं रहता, हैवान हो जाता है। पिथौरागढ़ में एक महिला पर शराब का ऐसा नशा चढ़ा कि उसने अपने पति पर बल्ले से वार कर दिया। पति बल्ले की चोट से गर्म पानी के भगोने में गिरा और कुछ देर में तड़प कर मर गया। पुलिस ने पत्नी को गिरफ्तार कर दिया है। उसके खिलाफ मुरौबत बरतते हुए हत्या की जगह गैर इरादतन हत्या करने के अभियोग में मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मामला 10 दिन पूर्व तीन जुलाई का है। नगर के नया बाजार स्थित धर्मशाला के पास रहने वाली महिला ने 9 जुलाई को कोतवाली में तहरीर देकर कहा है कि उसका पुत्र अजय उर्फ बबलू नया बाजार में अपनी पत्नी अनीता उर्फ सपना के साथ रहता था। बहू अनीता ने अजय की हत्या कर दी है। तहरीर में कहा गया था कि दोनों के बीच मारपीट होती रहती है। जिसके चलते उनके दोनों बच्चे उसके साथ रहते हैं। इस तहरीर पर पुलिस ने अनीता उर्फ सपना के खिलाफ भादवि धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी सुखवीर सिंह ने प्रभारी निरीक्षक कोतवाली प्रभात कुमार को इस प्रकरण की जांच सौंपी।

जांच के दौरान पुलिस ने अनीता से जब पूछताछ की तो उसने बताया कि यह सब शराब के नशे में हुआ। अनीता के अनुसार वह और उसका पति अजय शराब के आदी थे। शराब पीकर एक दूसरे को मारते-पीटते थे। पत्नी अनीता ने बताया कि तीन जु्रलाई को दस से ग्यारह बजे के बीच उसकी और पति बब्लू के बीच कहासुनी के बाद मारपीट हो गई। इस दौरान उसके हाथ में बल्ला आ गया और उसने किचन में अपने पति पर बल्ला मारा। बल्ले के धक्केे से अत्यधिक नशे में होने के कारण अजय उर्फ बबलू किचन में रखे गरम पानी के भगौने पर औधे मुंह छाती के बल गिर गया और गरम पानी से जल गया। इस पर वह कराहते हुए वहीं लेट गया और उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने विवेचना में कहा है कि नामजद आरोपी अनीता उर्फ सपना ने अपने पति बबलू को जान से मारने की नीयत से बल्ला नहीं मारा। बल्ले के धक्के और गरम पानी के भगौने में गिरने से उसकी मौत हो गई। इसलिए उसके खिलाफ हत्या नहीं बल्कि गैरइरादतन हत्या का मामलाा बनता है। इसलिए उसके खिलाफ अभियोग भारतीय दंड संहिता की धारा 302 की जगह 304 में तरमीम कर दिया गया है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : युवती द्वारा शादी की वेबसाइट पर उम्र कम बताई, पति की शिकायत पर मुकदमा हुआ दर्ज

नवीन समाचार, देहरादून, 11 जुलाई 2021। जीवनसाथी डॉट कॉम पर एक युवती को अपनी उम्र कम बताना भारी पड़ गया। डालनवाला कोतवाली पुलिस ने पति की शिकायत पर युवती सहित उसके माता-पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सर्वे आफ इंडिया में तैनात सोनू शर्मा ने शिकायत दर्ज करवाई कि निधि पांडे निवासी बिजनौर ने जीवनसाथी डॉट कॉम पर अपनी आइडी बनाई थी, जिसमें उसने अपनी उम्र 28 वर्ष बताई थी, जबकि असल में उसकी उम्र 38 साल थी। शादी से पहले सोनू शर्मा ने निधि से जन्म संबंधी दस्तावेज मांगे, लेकिन उन्होंने नहीं दिखाए। शादी के बाद जब सोनू शर्मा ने निधि के दस्तावेज चेक किए तो पता चला कि उसकी उम्र 38 साल है। इससे वह ठगा सा महसूस कर रहा है। उसकी शिकायत पर पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप मंे पीड़ित की पत्नी निधि और उसके माता-पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी में 22 साल की ऐसी लुटेरी दुल्हन, जो कर चुकी है पांच शादियां और लगा चुकी है लाखों का चूना…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 16 जून 2021। हल्द्वानी में एक ऐसी 22 साल की लुटेरी दुल्हन का खुलासा हुआ है जिसने इतनी छोटी उम्र में पांच शादियां कर डाली हैं। सभी जगहों से वह रुपए और नकदी लेकर फरार हो जाती है। पांचवीं शादी के बाद पीड़ित युवक ने हल्द्वानी कोतवाली में तहरीर देकर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार हल्द्वानी के गोरा पड़ाव के निकट ग्राम हैड़ागज्जर अर्जुनपुर निवासी मजदूरी और ट्रक चालक का काम करने वाले वेद प्रकाश पुत्र उग्रसेन ने पुलिस को दी गई तहरीर में कहा है कि उसकी शादी गत 7 मार्च को रुद्रपुर निवासी 22 वर्षीय मुस्कान नाम की युवती से क्षेत्र के कालिका मंदिर में हुआ था। लड़की का कन्यादान उसकी मुंहबोली मां शीला निवासी भदईपुरा रुद्रपुर ने किया था। इधर गत छह जून को दोपहर लगभग ढाई बजे उसकी कथित सास शीला मौर्य उसके घर आई और कहने लगी कि मुस्कान को टीबी का इलाज कराने के लिए ले जाना है। आरोप है कि इस दौरान मुस्कान व शीला उसके घर में रखे करीब एक लाख रुपये कीमत के सोने-चांदी के जेवर, 48000 रुपए नगद व मोबाइल फोन ले गए। घर से सामान गायब देखकर जब युवक ने अपनी पत्नी को फोन किया तो उसने कहा कि अब वह नहीं आएगी। अगर वह ज्यादा पीछे पड़ेगा तो उसे झूठे केस में जेल भिजवा देगी।

पत्नी के मुंह से ऐसी बात सुनकर युवक भौंचक रह गया। बाद में घरवालों व रिश्तेदारों की मदद से उसने दोनों का बारे में छानबीन की ता पता चला कि मां-बेटी दोनों मिलकर इसी तरह से और लोगों को भी बेवकूफ बना चुकी हैं। इससे पहले भी उन्होंने चार शादियां की हैं। जहां से जेवर व पैसे लेकर फरार हो चुकी हैं। युवक ने पुलिस से गुहार लगाते हुए कहा है कि लुटेरी दुल्हन से उसे जान माल का भी खतरा है। लिहाजा उसे सुरक्षा भी प्रदान की जाए। पीड़ित ने बताया लंबे समय से शादी नहीं होने के कारण उसके मामा रूपचंद ने उसके लिए यह रिश्ता अपने साढ़ू की भाभी व मुस्कान की मुहबोली मां के जरिये करवाया था। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : संबंधों का खुलासा होने पर पत्नी ने जिम ट्रेनर प्रेमी के साथ मिलकर अपने प्रॉपर्टी डीलर पति को सुला दिया मौत की नींद…

नवीन समाचार, देहरादूऩ, 30 मई 2021। देहरादून के रायपुर थाना क्षेत्र में एक महिला ने अपने जिम ट्रेनर प्रेमी के साथ मिलकर अपने प्रॉपर्टी डीलर पति को नींद की गोलियां खिलाकर मौत की नींद सुला दिया। पुलिस ने घटना के बाद आरोपी पत्नी व उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार दो दिन पूर्व 28 मई को 43 वर्षीय प्रॉपर्टी डीलर पंकज भट्ट निवासी राज राजेश्वरी एन्क्लेव नथुवाला को मृत अवस्था में अस्पताल लाया गया था। उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण संदिग्ध आया। इसके बाद पंकज की मां पुष्पा भट्ट ने रायपुर थाने में उसकी हत्या के संबंध में मुकदमा दर्ज कराया। शुरूआत में पुष्पा ने शक जताया कि विजयलक्ष्मी और उसके प्रेमी ने ही पंकज को कुछ जहरीला पदार्थ दिया है। पुष्पा भट्ट ने बताया कि उसका बड़ा बेटा पंकज पत्नी विजयलक्ष्मी और आठ साल की बेटी के साथ निचले तल पर रहते थे। जबकि छोटा बेटा परिवार संग ऊपर की मंजिल पर रहते थे। पंकज और विजयलक्ष्मी की शादी 2006 में हुई थी, लेकिन शादी के बाद से ही दोनों में झगड़े रहते थे। इसके बाद पता चला कि विजयलक्ष्मी उर्फ विजया का किसी दीपक नाम के जिम ट्रेनर लड़के से प्रेम प्रसंग चल रहा था। बीते दिनों पंकज ने विजयलक्ष्मी के पास दो मोबाइल देख लिए थे, जिसमें दीपक और विजयलक्ष्मी की तस्वीरें भी थीं। इस पर विजयलक्ष्मी से पूछताछ की गई तो उसने इन आरोपों से इनकार किया। उसने बताया कि उसने घटना की रात यानी 27 व 28 मई की रात एक बजे पंकज को बेहोश अवस्था में देखा था। उसने यह बात घरवालों को बताई और उसे अस्पताल ले गए, लेकिन उसकी वहां मौत हो गई। उसकी बातों में कई तरह के विरोधाभास नजर आए। इस पर पुलिस ने उसकी कॉल डिटेल खंगाली और दीपक को थाने बुलाया। दीपक ने थाने में पुलिस के सामने सारा राज उगल दिया। उसने बताया कि वह घटना की रात विजयलक्ष्मी के बुलाने पर उसके घर गया था। इससे पहले ही उसने अपने एक दोस्त के माध्यम से नींद की गोलियां मंगा ली थी। इसके बाद उसने रात के खाने में मिलाकर गोलियां दे दी। वह बेहोश हुआ तो उसने अपनी सास को यह बात बताई। इस पर उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। दोनों के जुर्म कबूल करने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। बताया गया है कि दोनों के बीच 2018 से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों की मुलाकात एक जिम में हुई थी। वहां पर दीपक ट्रेनर के रूप में काम करता था। बीते दिनों विजया ने दीपक को बताया कि उसके पति को उनके अफेयर के बारे में पता चल गया है। विजया बार-बार दीपक से मिलना चाहती थी। उसने कहा कि वह उसके बिना नहीं रह सकती। पुलिस को जांच में यह भी पता चला है कि दीपक काफी आशिक मिजाज है। केवल 25 वर्ष की उम्र में उसकी कई महिला मित्र हैं। (डॉ.नवीन जोशी)

यह भी पढ़ें : पति को संपत्ति अपने नाम कराने की धमकी देकर पत्नी ने करा दिया गर्भपात, पत्नी सहित 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, देहरादून, 14 अप्रैल 2021। पति की संपत्ति को अपने नाम कराने को लेकर एक महिला ने धमकी देते हुए गर्भपात कराने का मामला प्रकाश में आया है। मामले में पति की शिकायत पर दून पुलिस ने पत्नी सहित छह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी एवं आरोपों के अनुसार राजधानी के प्रगति नगर डालनवाला निवासी जितेंद्र सिंह की शादी अक्षी बिष्ट के साथ आठ मार्च 2020 को हुई थी। शादी के बाद से ही अक्षी अपने पति जितेंद्र सिंह पर दबाव बना रही थी कि वह जमीन उसके नाम पर करवा दे। शादी के कुछ समय बाद जब वह गर्भवती हो गई, तब से वह और उसके मायके वाले पति जितेंद्र सिंह को धमकाने लगे कि जब तक वह संपत्ति अक्षी के नाम नहीं करेगा, वह बच्चे को जन्म नहीं देगी। इसी कड़ी में 5 जुलाई 2020 को अक्षी अपना सामान व गहने लेकर मायके चली गई और फोन पर धमकी दी कि 10 दिन में संपत्ति उसके नाम नहीं की तो वह बच्चे को जन्म नहीं देगी। इसी बीच अक्षी ने महिला हेल्प लाइन में पति के खिलाफ शिकायत भी दर्ज करवा दी। 8 अगस्त को जितेंद्र सिंह को महिला हेल्प लाइन से काउंसलिंग के लिए सूचित किया गया। 1 सितंबर को पहली काउंसलिंग थी, जिसमें पता चला कि अक्षी ने गर्भपात करवा लिया है। लेकिन वह झूठ बोलती रही है कि 30 जुलाई 2020 को वह सीढ़ी से गिर गई। इसके बाद काउंसिलिंग से बाहर आकर अक्षी व उसके स्वजनों ने धमकी दी कि यदि अब भी प्रापर्टी उनके नाम नहीं की तो वह उसके वंश का नाश कर देगी। डालनवाला के इंस्पेक्टर मणिभूषण श्रीवास्तव ने बताया कि जितेंद्र सिंह की पत्नी अक्षी, मौसी मीना, अमित, शीला, मौसा प्रवीण व मामा मंजीत के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें : पति को दो सालियों संग छोड़ विवाहिता प्रेमी संग फरार…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 19 फरवरी 2021। शहर के भोटिया पड़ाव पुलिस चौकी क्षेत्र से एक विवाहिता के घर से एक लाख की नकदी और छह तोला सोने के जेवर समेत प्रेमी के साथ फरार होने का समाचार है। बताया गया है कि वह अपने पीछे पांच साल के बच्चे को भी रोता-बिलखता छोड़ गई है। उसके पीड़ित पति ने पुलिस से पत्नी की बरामदगी और आरोपी प्रेमी के खिलाफ कार्रवाई करने की गुहार लगाई है। पीड़ित युवक के अनुसार वह आवास विकास में किराए पर रहता है। साथ में दो सालियां भी रहती हैं। उसकी पत्नी का किच्छा निवासी एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा है। 15 फरवरी को आरोपी युवक बहाने से उसके घर आया और 17 फरवरी की तड़के उसकी पत्नी को बहला-फुसला कर भगा ले गया। उनकी खोजबीन शुरू की तो दोनों रोडवेज बस अड्डे के पास मिले। विवाहिता की छोटी बहनों के दबाव में आरोपी युवक ऑटो से विवाहिता को घर छोड़ने पहुंचा। लेकिन नैनीताल रोड के पास पहुंचने के बाद दोबारा भाग गया। साली ने पीछा करने की कोशिश की तो उसने ऑटो से टक्कर मारकर गिरा दिया। इससे साली चोटिल हो गई। चौकी पुलिस ने बताया कि विवाहिता के साथ ही आरोपी ऑटो चालक की तलाश भी की जा रही है।

यह भी पढ़ें : लड़की निकली चोर, उसने ही चुराया था लड़के का सामान…

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 फरवरी 2021। मल्लीताल चार्टन लॉज क्षेत्र में किराये के कमरे से एक युवती युवक का सामान लेकर फरार हो गई। युवक के कोतवाली में शिकायत करने के बाद पुलिस ने युवती से सामान बरामद कर लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार खटीमा निवासी मेडिकल छात्र ने नैनीताल में किराये पर कमरा लेने के लिए कुछ दिन पहले एक परिचित युवती से संपर्क किया। युवती ने कहा कि वह अपने कमरे को छोड़ रही है। वह उसे किराये पर ले सकता है। इस पर युवक अपना सामान लेकर नैनीताल पहुंच गया। युवती ने कमरा खाली करने के लिए दो दिन का समय मांगा। युवती की बात मानते हुए युवक ने अपना सामान उसी के कमरे में रख दिया और हल्द्वानी चला गया। इधरयुवती ने दो दिनों में अपना सारा सामान शिफ्ट कर दिया। लेकिन, दो दिन बाद युवक जब कमरे में पहुंचा तो वहां रखा हुआ इंडक्शन, बर्तन और एक बैग नहीं था। युवक ने इस बाबत फोन कर जानकारी मांगी तो युवती अनजान बन गई। इसके बाद युवक ने कोतवाली में शिकायत दर्ज करा दी। बृहस्पतिवार को शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने युवती को बुलाकर पूछताछ की तो युवती ने चोरी से इनकार कर दिया। लेकिन, जब पुलिस ने सख्ती दिखाई तो उसने चोरी की बात कबूल ली। वहीं उसके एक परिचित युवक के पास चोरी का सामान भी बरामद हो गया। एसएसआई कश्मीर सिंह ने बताया कि सामान युवक के सुपुर्द कर दिया है। युवक के कार्रवाई से मना करने पर युवती को छोड़ दिया।

यह भी पढ़ें : उफ ऐसी महिला ! मायके में रह रही विवाहिता ने अपनी मां को चाकू मारकर किया लहूलुहान, पुलिस कर्मियों को भी दांत काट डाले, मायके में आग लगा दी…

नवीन समाचार, काशीपुर, 03 फरवरी 2021। शहर की एक महिला ने बीती रात्रि पुराने विवाद में आपा खोते हुए अपनी मां को चाकू मारकर लहूलुहान कर दिया। साथ ही सूचना मिलने पर पहुंचे तीन पुलिस कर्मियों व दो होमगार्डों को दांत से काट लिया। यही नहीं अपने घर में आग भी लगा दी। पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर केस दर्ज कर लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर की सैनिक कालोनी में ललिता बघेल नाम की महिला अपने पति से अलग होकर कुछ दिनों से मायके में रह रही है। उसका अपने भाइयों से भी संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा है। इसी मामले में मंगलवार की देर रात विवाद इतना बढ़ा कि उसके भाइयों को रात्रि लगभग तीन बजे 112 पर सूचना देनी पड़ी कि उसने अपनी मां को चाकू मार दिया है और टीवी सहित काफी सामान तोड़ डाला है। पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि महिला की मां को इलाज के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने का प्रयास किया तो वह पुलिस कर्मियों से ही उलझ गई। इस दौरान उसने एसआइ राकेश कठायत, चालक प्रदीप और एसआइ नीलम के साथ ही दो होमगार्ड प्रदीप व मोहम्मद हसन को दांत से काट लिया। किसी तरह महिला पुलिस ने उस पर काबू पाया। महिला के खिलाफ मां पर चाकुओं से हमला करने व पुलिस से अभद्रता करने का केस दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें : उफ ऐसी महिलाएं ! 70 वर्षीय बुजुर्ग से झगड़ रही थीं, रोकने पहुंची पुलिस को ही देने लगीं फंसाने की धमकी, मोबाइल भी छीना…

नवीन समाचार, काशीपुर (ऊधमसिंह नगर), 06 जनवरी 2020। अब पुरुष तो पुरुष महिलाओं की दबंगई के समाचार भी आने लगे हैं। 70 वर्षीय बुजुर्ग के साथ झगड़ रही महिलाओं को रोकने पहुंचे पुलिस कर्मियों से भी महिलाओं द्वारा अभद्रता और हाथापाई करने का मामला प्रकाश में आया है। यहां झगड़ रही महिलाएं उल्टा पुलिस को ही अपनी ऊंची पहुंच बता कर झूठे केस में फंसाने की धमकी देने लगीं, और गाली-गलौज व मारपीट करने लगीं। एक महिला स्वयं को वकील बता कर पुलिसकर्मियों को रौब में लेने की कोशिश करने लगी। एक पुलिस कर्मी इसका वीडियो बनाने लगा तो महिलाओं ने उसका मोबाइल छीन लिया। इसके बाद महिला पुलिस को मौके पर बुलाया गया और पुलिस ने महिलाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर एक महिला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वीडियो में महिलाएं गाली-गलौज करते हुए साफ दिखाई दे रही हैं। पुलिस ने कार्रवाई की चेतावनी दी जिसके बाद मोबाइल वापस किया गया।
पुलिस ने मोनी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। जागरण

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार शाम आइटीआइ थाना पुलिस को सूचना मिली कि मल्टीवाल फैक्ट्री के पास रहने वाले लोकेश के 70 वर्षीय पिता अतर सिंह के साथ कुछ महिलाएं मारपीट कर रही हैं। सूचना पाकर थानाध्यक्ष विद्यादत्त जोशी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। झगड़ा रोकने का प्रयास किया तो महिलाएं पुलिस से ही उलझ गईं। पुलिस के साथ भी गाली-गलौज और मारपीट शुरू कर दी। एक पुलिसकर्मी का मोबाइल भी महिलाओं ने छीन लिया। इसके बाद महिला पुलिस को बुला करके एक नाबालिग सहित दो महिलाओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। उन्हें थाने लाया गया। थानाध्यक्ष विद्यादत्त जोशी ने स्थानीय पत्रकारों को बताया कि मामले में मल्टीवाल फैक्ट्री के पास रहने वाली मोनी उर्फ माही व राजेश्वरी तथा एक अन्य नाबालिग के खिलाफ मारपीट गाली-गलौज और सरकारी कार्य में बाधा डालने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले में मोनी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। घटना में शामिल नाबालिग व एक अन्य महिला की तलाश की जा रही है। एसओ ने बताया कि महिलाओं ने अतर सिंह के साथ भी मारपीट व गाली-गलौज की थी। उस मामले में भी लोकेश की तहरीर पर तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। मोनी को दोनों केसों में जेल भेजा गया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि तीनों महिलाएं बहुत ही झगड़ालू किस्म की हैं। इससे पहले भी वह कई लोगों को धमकी दे चुकी हैं।

यह भी पढ़ें : शादी के तीसरे दिन ससुरालियों को जहर पिला लाखों लूट भागी दुल्हन, पुलिस तलाश में दौड़ रही

नवीन समाचार, काशीपुर (ऊधमसिंह नगर), 26 दिसम्बर 2020। गत दिवस हमने ‘नवीन समाचार’ में हरियाणा के पानीपत जनपद के नौल्था गांव का एक मामला प्रकाशित किया था। जिसमें पीड़ित पक्ष का आरोप था कि शादी के तीन दिन बाद ही उत्तराखंड से आई नई नवेली दुल्हन ने पत्नी, बुजुर्ग सास व ससुर को जहरीला दूध पिला दिया। इसके बाद वह 80 हजार रुपये और करीब सवा दो लाख रुपये के जेवर, कपड़े और अन्य सामान लेकर फरार हो गई। इस मामले में इसराना थाना पुलिस ने आरोपित दुल्हन, उसकी बहन और चार बिचौलियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। इधर शनिवार को हरियाणा के थाना इशराना के एएसआइ सचिन कुमार पुलिस टीम के साथ काशीपुर पहुंचे और दिन भर युवती की तलाश करते रहे। उनका कहना था कि दुल्हन ने अपना पता लड़की ने अपना पता अल्मोड़ा निकट काशीपुर बताया था। उसे काशीपुर से ही ले गए थे। इसलिए वह काशीपुर पहुंचे हैं। आज उन्होंने काशीपुर में कई जगह छापे मारे, लेकिन युवती का कुछ पता नहीं चला। शाम तक पुलिस आरोपित की तलाश में जुटी रही।

यह भी पढ़ें : शादी की तीसरी रात ही पति, सास-ससुर को जहर पिलाकर जेवरात-नगदी सहित भाग गई उत्तराखंडी दुल्हन…

बताया गया है कि नौल्था गांव के अशिक्षित 26 वर्षीय किसान दिनेश पुत्र रामभज की हरियाणा से शादी नहीं हो पा रही थी। इसलिए गुहांड के पलड़ी गांव के कृष्ण पंडित ने दो महीने पहले पिता को बताया था कि जालपहाड़ गांव की कृष्णा नामक महिला उसकी उत्तराखंड के जिला अल्मोड़ा के पावा गांव की सुनीता से शादी करा देगी। सुनीता के स्वजन गरीब है। शादी का खर्च उन्हें ही वहन करना होगा। एक दिसंबर को वह, पिता, कृष्ण, कृष्णा का बेटा दिनेश और दिनेश की पत्नी पावा गांव पहुंचे। 2 दिसंबर को काशीपुर तहसील में उसकी व सुनीता की शादी हो गई। इस मौके पर सुनीता की बहन बिमलेश भी थी। उन्होंने सुनीता के स्वजनों से कोई दान नहीं लिया था। बल्कि सुनीता को उन्होंने सोने का मंगलसूत्र, दो सोने की अंगूठी, एक जोड़ी सोने के टॉप्स, एक चांदी का हथफूल, चांदी की चुटकी और चांदी का टिक्का सोने का पानी चढ़ा हुआ, चार चांदी की चूड़ी, दो जोड़ी पाजेब और 20 हजार रुपये के कपड़े और अन्य सामान दिलाया था। 80 हजार रुपये खान-पान पर भी उन्होंने ही खर्च किए थे। 4 दिसंबर की रात को वह सुनीता को साथ ले कर घर लौट आया। 4 दिसंबर की रात साढे़ आठ बजे सुनीता ने पहले उनके पिता रामभज और फिर मां को जहरीला दूध पिला दिया। इसके बाद उसे भी दूध पिलाया। 5 दिसंबर की सुबह चचेरे भाई की बहू व बुआ उनके घर आई वे तीनों बेसुध थे। स्वजनों ने उन्हें सामान्य अस्पताल में दाखिल कराया। उन्हें सात दिसंबर की शाम को होश आया। डाक्टर ने उन्हें बताया कि मारने की नीयत से तीनों को दूध में जहर मिलाकर पिलाया गया था। उसकी पत्नी सुनीता घर से 80 हजार रुपये की नकदी, जेवरात और अन्य सामान चुराकर भाग गई। इस साजिश में सुनीता व उक्त पांच लोग भी शामिल हैं।
ऋषिकेश में मिली महिला हो सकती है गिरोह की सदस्य
धोखाधड़ी का शिकार हुए दूल्हे के स्वजनों ने बताया कि दिनेश के रिश्ते के भाई से उन्हें इस लड़की के बारे में पता चला था। दिनेश का भाई ऋषिकेश की एक धर्मशाला में महिला से मिला था। यह बात उसने दिनेश के स्वजनों को बताई तो वह भी दिनेश की शादी के लिए काशीपुर आ गए। यहां आने पर दिनेश को लड़की पसंद आ गई, जिसके बाद शादी हुई। काशीपुर में भी एक युवती लड़की के साथ थी, लेकिन किसी ने अपना सही पता नहीं बताया। जबकि दूसरी लड़की ने स्वयं को काशीपुर का ही बताया। इस पूरे मामले में पांच संदिग्ध लोग सामने आए, लेकिन अब उनके पास न तो किसी का फोटो है और न ही कोई अन्य दस्तावेज, जिस कारण आरोपितों तक पहुंचने में परेशानी आ रही है।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply